विज्ञापन
विज्ञापन

गेहूं में पुरानी किस्म के बीजों की वजह से होता है पीला रतुआ रोग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, धर्मशाला Updated Sun, 17 Nov 2019 05:38 PM IST
डॉ दीपिका सूद
डॉ दीपिका सूद - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
गेहूं हिमाचल की मुख्य अन्न की फसल है। पिछले कुछ वर्षों से लगातार पुरानी किस्म के बीजों का प्रयोग करने की वजह से पीला रतुआ रोग का प्रकोप इस फसल में काफी बढ़ गया है। रोग में फफूंदी के फफोले पत्तियों पर पड़ जाते हैं, जो बाद में बिखरकर अन्य पत्तियों को ग्रसित कर देते हैं। पीला रतुअ तीन प्रकार का होता है। इनमें काला रतुआ, भूरा रतुआ और पीला रतुआ शामिल हैं।
विज्ञापन
हिमाचल में केवल पीला रतुआ (येलोरस्ट) का प्रकोप इस फसल में अधिक देखा गया है, बाकी क्षेत्रों की अपेक्षा हिमाचल के निचले एवं गर्म क्षेत्रों में यह अधिक पाया जाता है। जनवरी और फरवरी में गेहूं की फसल में पीला रतुआ (येलोरस्ट) रोग लगने की संभावना रहती है। तापमान में वृद्धि के साथ गेहूं में यह रोग बढ़ जाता है। हाथ से छूने पर धारियों से फंफूद के पीले रंग के बीजाणु हाथ में लगते हैं।

फसल के इस रोग की चपेट में आने से कोई पैदावार नहीं होती है। किसानों को फसल से हाथ धोना पड़ता है। इस बीमारी के लक्षण ठंडे व नमी वाले क्षेत्रों में ज्यादा देखने को मिलते हैं। साथ ही पापुलर व सफेदे के पेड़ों के आसपास उगाई गई फसलों में यह बीमारी सबसे पहले आती है। पत्तों का पीला होना ही पीला रतुआ नहीं है, पीला पत्ता होने के कारण फसल में पोषक तत्वों की कमी, जमीन में नमक की मात्रा ज्यादा होना व पानी का ठहराव भी हो सकता है।

पीला रतुआ बीमारी में गेहूं के पत्तों पर पीले रंग का पाउडर बनता है, जिसे हाथ से छूने पर हाथ पीला हो जाता है। ऐसे खेतों में जाने से कपड़े भी पीले हो जाते हैं। रोग नियंत्रण के लिए सही समय पर रोग प्रतिरोधी किस्मों के बीज का उपयोग कर रोग पर नियंत्रण पाया जा सकता है। किसी भी दवाई की अपेक्षा रोग प्रतिरोधी किस्मों के बीजों का उपयोग इस रोग के निदान का सरल उपाय है।

रोग प्रतिरोधी किस्मों का बीज लगाने पर पीला रतुआ रोग नहीं आएगा, किंतु यदि रोग के लक्षण दिखाई दें तो उसका निदान रासायनिक अथवा जैविक किसी भी उपचार से किया जा सकता है। रासायनिक उपचार में किसान जहां दवाई का छिड़काव कर सकता है, वहीं जैविक उपचार में किसान एक किलोग्राम तंबाकू की पत्तियों का पाउडर 20 किग्रा लकड़ी की राख के साथ मिला कर बीज बुआई या पौध रोपण से पहले खेत में छिड़काव कर सकते हैं। इसके अलावा गोमूत्र नीम का तेल मिलाकर अच्छी तरह मिश्रण तैयार कर भी इसका छिड़काव किया जा सकता है।

विशेषज्ञ का प्रोफाइल: 
डॉ दीपिका सूद हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय में सेवाएं दे रही हैं। वह विषयवाद विशेषज्ञ के रूप में कांगड़ा और बरठीं में भी सेवाएं दे चुकी हैं। डा. दीपिका 2009 से कृषि विवि के साथ जुड़ी हैं, जबकि इससे पहले भी उन्होंने कई प्रोजेक्टों पर कार्य किया है।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur Fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति
Astrology Services

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Agriculture

प्याज लगाने से पहले तीन-चार बार करें खेतों की जुताई

प्याज दैनिक भोजन में उपयोग की एक प्रमुख सब्जी है। इसका प्रयोग कई व्यंजन बनाने में होता है। इसके औषधीय गुणों के कारण यह पीलिया, कब्ज, बबासीर और यकृत संबंधी रोगों में बहुत लाभकारी पाया गया है।

1 दिसंबर 2019

विज्ञापन

क्रिसमस से पहले कोयंबतूर में सजावटी सामान से भरा बाजार

क्रिसमस से पहले तमिलनाडु के कोयंबतूर के बाज़ारों में विभिन्न प्रकार के रंग-बिरंगे सजावटी सामान दिखाई दे रहे हैं। देखिए वीडियो

14 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Safalta

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us