दुनिया की सबसे लंबी नदी पर बना वो बांध, जिसको लेकर भिड़े तीन देश

फीचर डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Mon, 29 Jun 2020 01:10 PM IST
विज्ञापन
नील नदी पर बना बांध
नील नदी पर बना बांध - फोटो : Social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
अफ्रीकी देश इथियोपिया ने शनिवार को कहा है कि वो नील नदी पर बने विशाल बांध में पानी भरने की शुरुआत जल्द ही करने जा रहा है। साथ ही इथियोपिया ने यह भी कहा है कि वो पड़ोसी देश मिस्र और सूडान के साथ नदी के पानी को लेकर विवाद को खत्म करने के लिए भी प्रतिबद्ध है। नील नदी इथियोपिया से होकर मिस्र और सूडान में आती है। एक दशक पहले इथियोपिया ने नील पर बांध बनाने की शुरुआत की थी। 
विज्ञापन

द ग्रैंड इथियोपियन रेनेसां डैम या जीईआरडी अफ्रीका का सबसे बड़ा हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट है और शुरुआत से ही ये नील बेसिन क्षेत्र में तनाव का कारण भी है। शुक्रवार को मिस्र और सूडान की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि इथियोपिया ने समझौता होने तक बांध न भरने पर सहमति जता दी है, लेकिन शनिवार को प्रधानमंत्री एबी अहमद के दफ्तर से जारी बयान में मिस्र और सूडान के बयान की अनदेखी कर दी गई। 
क्यों डर रहे हैं मिस्र और सूडान? 
एक ओर इथियोपिया का कहना है कि उसके विकास के लिए ये बांध जरूरी है। वहीं मिस्र और सूडान को डर है कि इससे उनके हिस्से का पानी इथियोपिया में ही रोक लिया जाएगा। अफ्रीकी यूनियन के मौजूदा अध्यक्ष सिरिल रामाफोसा के आह्वान पर तीनों देशों के नेताओं ने शुक्रवार को फोन पर वार्ता की थी। 

इस वार्ता के बाद सूडान और मिस्र दोनों ने अपने बयान में कहा कि इथियोपिया बांध में पानी भरने का समझौता होने तक रोकने के लिए तैयार हो गया है। इथियोपिया ने अपने बयान में ऐसी किसी बात का जिक्र नहीं किया। प्रधानमंत्री कार्याल की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'इथियोपिया अगले दो सप्ताह में जीईआरडी में पानी भरना शुरू करेगा, इस दौरान निर्माण कार्य चलता रहेगा। इस दौरान तीनों देश लंबित मामलों पर अंतिम समझौता करेंगे।' 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कौन-से दूसरे विवाद हैं?

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Bizarre News in Hindi related to Weird News - Bizarre, Strange Stories, Odd and funny stories in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Bizarre and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us