कोरोना संकट: रियल्टी क्षेत्र को 76 लाख करोड़ की चपत

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 20 May 2020 06:46 AM IST
विज्ञापन
रियल एस्टेट हाउस
रियल एस्टेट हाउस

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
कोविड-19 संकट के कारण भारतीय रियल एस्टेट क्षेत्र को चालू वित्त वर्ष में करीब 76 लाख करोड़ रुपये (एक ट्रिलियन डॉलर) का नुकसान हो सकता है। 2019-20 के मुकाबले चालू वित्त वर्ष में मकानों की बिक्री भी प्रभावित होगी। केपीएमजी ने मंगलवार को अपनी नई रिपोर्ट ‘कोविड-19: रिएक्ट, एडॉप्ट एंड रिकवर-द न्यू रियल्टी’ में कहा, 250 से अधिक उद्योगों के जरिए भारतीय अर्थव्यवस्था में योगदान करने वाले रियल एस्टेट क्षेत्र कोरोना महामारी से अस्थायी और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होगा।
विज्ञापन

आने वाले 6 से 12 महीनों में अल्पकालिक प्रभाव देखने मिलेगा, जिससे यह पूरे रियल एस्टेट क्षेत्र में सुधार की संभावनाएं, कंपनियों का अनुबंध संचालन, नियोजित विकास, विस्तार और निवेश प्रभावित हो सकता है। इस प्रभाव को कम करने के लिए नई रणनीतियां बनानी होंगी। लागत, तरलता में सुधार, डिजाइन-लेआउट दक्षता बढ़ाने आदि पर ध्यान देना होगा।

 बिक्री में आएगी गिरावट

केपीएमजी इंडिया के पार्टनर एवं प्रमुख (बिल्डिंग, कंस्ट्रक्शन और रियल एस्टेट) चिंतन पटेल ने कहा, मौजूदा वित्तीय संकट ने निवेश माहौल को अस्थिर कर दिया है। हालांकि, लॉकडाउन में ढील से आने वाले 18 से 24 महीनों में रियल एस्टेट क्षेत्र का दीर्घकालिक दृष्टिकोण सकारात्मक दिखने लगेगा।

क्षेत्र के कुछ खास सेगमेंट में नए अवसर आएंगे। हालांकि, कर्ज संकट के कारण मकानों की बिक्री में घटेगी। देश के सात प्रमुख शहरों में यह बिक्री 2019-20 के 4 लाख इकाई से घटकर 2020-21 में 2.8-3 लाख इकाई रह जाएगी।

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us