पेट्रोल पंप पर 500 के पुराने नोट खपाने उमड़ी भीड़ 

टीम डिजिटल/ अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 02 Dec 2016 10:32 PM IST
विज्ञापन
People throng to full petrol tank from 500 rupee note

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
पेट्रोल पंप पर पांच सौ रुपये के पुराने नोट के चलन के आखिरी दिन होने के कारण कार में टैंक फुल करने के साथ-साथ टैंपों में ड्रम रखकर भी पेट्रोल व डीजल खरीदने का काम जारी रहा। पेट्रोल पंप पर नोटबंदी के पांच सौ रुपये से पेट्रोल-डीजल व सीएनजी भरवाने का शुक्रवार आखिरी दिन था, इससे सभी पेट्रोल पंप पर टैंक फुल करवाने की मारामारी दिखी।
विज्ञापन

सभी छोटे और बड़े पेट्रोल पंप में गाड़ियों की लंबी कतार देखने को मिली। प्रगति मैदान पेट्रोल पंप पर लोग कार, टैंपो, बस, बाइक, स्कूटर का टैंक फुल करवाने के साथ-साथ फैक्ट्रियों वाले टैंपो में टंकियां रखकर भी पेट्रोल व डीजल भरवाते दिखे। पंप के बाहर गाड़ियों की लंबी कतार के चलते ट्रैफिक जाम की स्थिति भी बन गई थी।
दूसरी ओर हफ्ते के अंतिम वर्किंग डे पर शुक्रवार को अपने अकाउंट से कैश निकालने के लिए दिनभर मारामारी रही। बैंकों के बाहर सुबह आठ बजे से ही ज्यादा कैश के लिए टोकन लेने की होड़ लग गई तो एटीएम में सैलरी निकालने के लिए दिनभर लंबी लाइनें लगी रहीं। हालांकि कई बड़े बैंकों के एटीएम में पांच सौ रुपये के नोट मिलने से लोगों ने राहत की सांस ली।  
दिल्‍ली के मयूर विहार फेज थ्री में आंध्र बैंक के बाहर सुबह साढ़े 11 बजे करीब 25 से 30 लोगों की लाइन थी। हालांकि इस बैंक में एटीएम का शटर नौ नवंबर से कैश नहीं होने के कारण डाउन है। यहां पर सुबह साढ़े नौ बजे तक जिन्हें टोकन मिल गया था, कैश दिया जा रहा था। अकाउंट से कैश निकालने की लिमिट तो बढ़ा दी गई, लेकिन लोगों को पांच से दस हजार रुपये तक ही दिए जा रहे हैं। वहीं एचडीएफसी बैंक में दोपहर 12 बजे कई लोग नाराज होकर बैंक से निकल रहे थे।

लोगों का कहना था कि तीन दिन से कैश निकालने आ रहे हैं, लेकिन मिलता ही नहीं है। हालांकि बैंककर्मियों का कहना था कि कैश कम आ रहा है, ऐसे में जो लोग सुबह नौ बजे तक टोकन ले लेते हैं उन्हें कैश मिल जाता है। हालांकि लाइन में लगे सभी लोगों को टोकन नहीं दे पा रहे हैं। इसी तरह कैनरा बैंक में भी खाताधारक ग्राहक परेशान थे कि जब कैश ही नहीं मिल पा रहा है तो किराया, बच्चों की फीस, बस का किराया कहां से देंगे। 
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X