पीयूः एसएफएस का आंदोलन आया काम, रीडिंग हॉल और लाइब्रेरी का फर्स्ट फ्लोर छात्रों के लिए खुला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 26 Apr 2019 01:21 PM IST
विज्ञापन
पुलिस के साथ छात्रों की धक्कामुक्की
पुलिस के साथ छात्रों की धक्कामुक्की

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में अलग-अलग मांगों को लेकर चल रहा एसएफएस और एबीवीपी का आंदोलन रंग लगाया। पीयू प्रशासन पर पड़े दबाव के बाद एसएफएस की मांग पर गुरु तेग बहादुर रीडिंग हॉल को विद्यार्थियों के लिए शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक खोल दिया गया। वहीं, एबीवीपी की मांग पर भी पीयू प्रशासन ने मुहर लगाते हुए मुख्य लाइब्रेरी के प्रथम तल को 24 घंटे के लिए खोल दिया गया।
विज्ञापन

दोनों ही संगठनों ने विजय जुलूस निकाला और खुशी का इजहार किया। गुरु तेग बहादुर रीडिंग हॉल का उद्घाटन पीयू प्रशासन ने पांच माह पहले कर दिया, लेकिन उसके ताले विद्यार्थियों के लिए नहीं खोले गए। इसके लिए एसएफएस की ओर से समय-समय पर मांग पत्र दिया गया। लगातार मांगों की अनदेखी की गई। आखिर में छात्रों ने पीयूसीएससी अध्यक्ष कनुप्रिया के नेतृत्व में मंगलवार से वीसी कार्यालय के बाहर प्रोटेस्ट शुरू कर दिया।
छात्रों ने अधिकारियों को चेतावनी दी कि वे छात्रों की बातें मान लें, लेकिन पीयू प्रशासन ने इसे फिर हलके में ले गया। वीरवार को प्रोटेस्ट वीसी कार्यालय से रीडिंग हॉल के बाहर पहुंच गया। भारी संख्या में यहां पुलिस बल व सुरक्षा गार्ड पहुंच गए। छात्रों ने कहा रीडिंग हॉल खुलवाया जाए। हॉल के संचालक, डीन व कई वार्डन भी पहुंच गए। छात्रों ने मांग रख दी कि रीडिंग हॉल खुलवा दिया जाए, लेकिन किसी ने इस मांग की पूर्ति के लिए जहमत नहीं उठाई।
छात्रों ने कहा कि जब रीडिंग हॉल छात्रों के लिए बनाया गया है तो फिर इसमें ताले क्यों लगे हैं? कई सवाल छात्रों ने अधिकारियों के सामने खड़े किए तो वे जवाब नहीं दे पाए। आखिर में छात्रों ने रीडिंग हॉल का ताला तोड़ना शुरू किया तो सुरक्षा गार्डों व पुलिस ने रोकने की कोशिश की। इस बीच हाथापाई शुरू हो गई। धक्का-मुक्की हुई। इससे यहां लगे शीशे टूट गए। इसमें छात्र अंतरप्रीत घायल हो गया। छात्रों का गुस्सा सुरक्षा बल पर भारी पड़ गया और छात्र रीडिंग हॉल में चले गए।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us