विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विनायक चतुर्थी पर कराएं मुंबई के सिद्धि विनायक में पूजा विघ्नहर्ता हरेंगे सारे विघ्न : 27-फरवरी-2020
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर कराएं मुंबई के सिद्धि विनायक में पूजा विघ्नहर्ता हरेंगे सारे विघ्न : 27-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

गुरूवार, 27 फरवरी 2020

मोहालीः लाखों रुपये की ठगी मामले में भगोड़ा शिव सेना नेता गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में भेजा गया

साल-2015 में अपने ही एक रिश्तेदार के साथ लाखों रुपये की ठगी करने के मामले में कई महीनों से भगोड़े चल रहे शिव सेना के नेता अमित शर्मा को मटौर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को शुक्रवार को अदालत में पेश किया और यहां से उसे ज्यूडिशियल रिमांड पर भेज दिया गया है। मटौर थाने के एसएचओ राजीव कुमार ने बताया कि यह ठगी का केस 2015 में मटौर थाने में दर्ज किया गया था। अमित ने यह लाखों रुपये की ठगी अपने ही फेज-7 में रहने वाले एक रिश्तेदार रविंदर शर्मा से की थी।

शिकायतकर्ता रविंदर शर्मा ने बताया कि आरोपी काफी शातिर है और उसने उनके साथ 23 लाख रुपये की ठगी की है। उन्होंने बताया कि 2008 में उनका एक्सीडेंट हो गया था और इस दौरान उनके एक रिश्तेदार के साथ आरोपी अमित का भी उनके घर आना-जाना शुरू हुआ था। कभी वह फ्रूट तो कभी जूस लेकर पहुंच जाते थे और ऐसा करके उन्होंने मेरा दिल जीत लिया था। इसी बीच मैंने अपने बच्चों को विदेश भेजने की सोची थी और इस बारे में अमित शर्मा से बात की।

इस पर अमित ने उन्हें विश्वास दिलाया था कि उसे आसानी से बाहर भिजवा देंगे तो इसके लिए अमित को 11 लाख रुपये दे दिए थे। लेकिन आरोपी ने उन्हें बाहर नहीं भेजा और न ही उनके पैसे वापिस किए। जबकि उसके साथ ही एक रिश्तेदार ने मकान के नाम पर और अन्य काम के लिए उनसे 13 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है। उन्होंने बताया कि 2011 से वह शिकायत लेकर मोहाली पुलिस के पीछे घूमते रहे, लेकिन किसी ने उनकी सुनवाई नहीं की।

उन्होंने इसी मामले को लेकर डीजीपी से मुलाकात की। 2015 में जब अमित पर मुल्लांपुर और बलौंगी में केस दर्ज हुए तो वह दोबारा एसएसपी से मिले। इसके बाद उनकी शिकायत पर मटौर थाने में अमित शर्मा और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। लेकिन यह सभी आरोपी अदालत से भगोड़ा करार देने के बाद पुलिस की पकड़ से बाहर रहे। इसके बाद उन्होंने अदालत में एक और अर्जी लगाई तो कई बार उनके समन भी हुए, लेकिन आरोपी अदालत में पेश नहीं हुआ और इसके बाद अदालत ने उसे भगोड़ा घोषित कर दिया था।

एमएलए का चुनाव भी लड़ चुका आरोपी
मिली जानकारी के मुताबिक अमित शर्मा 2017 मेें मोहाली से एक पार्टी के टिकट पर विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है। भले ही इस चुनाव में उसे कामयाबी नहीं मिली है। पीड़ित ने बताया कि आरोपी अमित अपने आपको हिंदू नेताओं का बड़ा जिम्मेदार बताता है। यह जानकारी उसने चुनाव आयोग को दी थी। लेकिन असल में ऐसा कुछ नहीं है। वह कई लोगों को ठगी का शिकार बना चुका है। उसके खिलाफ कई केस दर्ज हैं।

खुद सीनियर अधिकारियों से भी मिला था
मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी अदालत से भगोड़ा घोषित हो चुका था, लेकिन इसके बाद भी वह लगातार खुलेआम घूम रहा था। और इस दौरान वह सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहता था। कुछ समय पहले पंजाब में हुई हिंदू नेताओं की हत्या के बाद पुलिस के उच्च अधिकारियों से मिला था। उनके दफ्तर के बाहर की फोटो तक उसने सोशल मीडिया पर शेयर की थी।
... और पढ़ें

सैलून में काम करने वाले युवक की गोली मारकर हत्या, लड़की का एंगल भी आया सामने

फिल्लौर के निकट सैलून में काम करने वाले युवक की गन्ना पिंड में गुरुवार देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान रामपाल (24) के रूप में हुई है। थाना फिल्लौर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है।

पुलिस ने फिल्लौर एसएचओ के बयान पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या का केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक जांच में किसी लड़की को लेकर हत्या किए जाने की बात पुलिस को पता चली है। 

पुलिस के अनुसार रामपाल फिल्लौर-तलवन रोड पर स्थित भोलेवाल मोड़ के नजदीक सैलून का काम करता था। गुरुवार देर शाम करीब 7.30 बजे बिजली कड़क रही थी। इस दौरान रामपाल फोन सुनने के लिए दुकान से बाहर गया। जब काफी देर तक रामपाल नहीं आया तो दुकान में काम करने वाला दूसरा लड़का उसको बुलाने गया।
... और पढ़ें

हरियाणाः नारनौल में कैदी ने जेल में ही फांसी लगाकर की खुदकुशी, जेब से मिला सुसाइड नोट

जिला जेल नसीबपुर के टॉयलेट में गुरुवार देर रात 2:15 बजे बंदी ने फंदा लगाकर जान दे दी। बंदी के पास प्रोफाइल टिकट पर लिखे मिले सुसाइड नोट में उसने अपने चाचा व गांव के अन्य लोगों पर मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया है। सिटी पुलिस ने इस मामले में परिजनों की शिकायत पर सात लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार गोद गांव निवासी सुरेंद्र (40) का पिछले साल अक्तूबर महीने में अपने चाचा राजेंद्र के साथ विवाद हुआ था। इस मामले में पुलिस ने सुरेंद्र, उसकी पत्नी और दो बच्चों पर मारपीट और अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। उपचार के दौरान नौ दिन बाद घायल राजेंद्र की मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में तब गैर इरादतन हत्या की धारा जोड़ दी थी और सुरेंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पिछले तीन माह से वह जेल में बंद था। 

गुरुवार रात करीब 2:00 बजे सुरेंद्र शौचालय गया था। जब काफी देर तक नहीं लौटा तो सुरक्षाकर्मी उसे देखने गया तो सुरेंद्र ने शौचालय की खिड़की से नीले रंग की रस्सी से फंदा लगा रखा था। उसने तुरंत जेल के अन्य स्टाफ को सूचना दी। मौके पर पहुंचे जेल अधीक्षक देवी दयाल ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। अधीक्षक ने बताया कि कपड़े से रस्सी बनाकर सुरेंद्र ने फंदा लगाया था। 

इसलिए था परेशान
सुरेंद्र के पिता लालाराम ने पुलिस को शिकायत दी है कि आरोपियों ने जमीन के लालच और साजिश में सुरेंद्र, उसकी पत्नी और बच्चों को फंसाया। आरोपी घर पर आकर झगड़ा करते थे और धमकाते थे कि उसे फांसी की सजा दिलाएंगे। दयानंद, उसके बेटे श्याम सुंदर व अजय, सुनील, सुभाष व उसके बेटे अनिल व मुन्नी ने सुरेंद्र को परेशान किया। सुरेंद्र की पत्नी और बच्चों की हाईकोर्ट से जमानत रद्द हो गई थी। इस कारण भी सुरेंद्र तनाव में था।

शव का डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है। पिता की शिकायत पर मृतक के चाचा, भतीजे समेत सात लोगों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है। बंदी के पास से भी सुसाइड नोट मिला है। - मित्रपाल, डीएसपी, सिटी
... और पढ़ें

फतेहाबादः दो किलो साबुन की उधारी को लेकर दो पक्षों में चले लाठी-डंडे और गंडासे, आठ घायल

हरियाणा के फतेहाबाद जिले में बीघड़ रोड पर बुधवार सुबह रुपयों के लेन-देन को लेकर दो पक्षों के लोग आपस में भिड़ गए। दोनों ही पक्षों ने एक-दूसरे पर डंडे व गंडासी से हमला करने के आरोप लगाए। जिसमें दोनों पक्षों के आठ लोग घायल हो गए। घायलों को फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।

एक पक्ष का आरोप है कि उसने दो किलो साबुन उधार देने से इन्कार कर दिया तो दूसरे पक्ष का कहना है कि छह हजार रुपये लेने है। हमले में एक पक्ष के गांव मताना निवासी करतार व उसके बेटे बंटी और आत्म घायल हुए हैं। दूसरे पक्ष के रामचंद्र व उसके बेटे सुरेश, नत्थूराम, बलवान तथा रिश्तेदार गुलाब सिंह घायल हुए हैं।

घायल करतार ने बताया कि उसकी बीघड़ रोड पर किरयाणा की दुकान है, सुबह नत्थूराम दो किलो साबुन लेने के लिए आया और उसने खाते में लिखने के लिए कहा, जब उसने मना किया तो परिवार के अन्य लोगों को बुलाकर हमला कर दिया। आरोपियों ने लोहे की राड, गंडासी के साथ हमला किया।

दूसरे पक्ष के नत्थूराम ने बताया कि उसने करतार के खेत में बिजाई की थी, उसके छह हजार रुपये लेने है। उसने करतार की किरयाणा की दुकान से दो किलो साबुन लिया और कहा रुपये खाते में लिख लें। उसने छह हजार रुपये लेने है। इसी बात को लेकर करतार व उसके बेटों ने हमला कर दिया।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

नारनौंद: बेरहमी से पत्नी का किया कत्ल फिर फांसी लगाकर पति ने दी जान, तीन मासूम बच्चे हुए अनाथ

थुराना गांव में मंगलवार को एक युवक ने खेत में अपनी पत्नी की कस्सी से वार कर हत्या कर दी। इसके बाद वह घर पहुंचा और फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर नारनौंद पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को नीचे उतारा और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए हांसी के सामान्य अस्पताल भिजवाया। परिजनों के अनुसार कृष्ण दिमागी रूप से परेशान था और उसका इलाज चल रहा था।

जींद के गांव सिंधवीखेड़ा निवासी जोनिस उर्फ बंटी ने बताया कि उसकी बहन सविता (30) की शादी 2002 में थुराना निवासी कृष्ण (35) के साथ हुई थी। कृष्ण पिछले काफी समय से दिमागी रूप से बीमार चल रहा था। उसका इलाज हिसार व रोहतक में चल रहा था। सोमवार को दोपहर करीब डेढ़ बजे कृष्ण और सविता बाइक पर पशुओं के लिए हरा चारा लेने गए थे। 

कुछ समय बाद कृष्ण अकेला चारा लेकर घर पहुंचा। घर वालों को शक हुआ तो उन्होंने खेत में जाकर देखा। वहां सविता का शव खेत में बने कमरे के आगे खून से लथपथ पड़ा था। सविता पर कस्सी से वार किए गए थे, जिससे अधिक खून बहने से उसकी मौत हो चुकी थी। परिजन उसके शव को लेकर घर आए तो कृष्ण भी छत पर बने कमरे में लगे पंखे के हुक पर लटका मिला। 
... और पढ़ें

पंजाबः तरनतारन के डेरे में खजांची को बंधक बनाकर एक करोड़ की लूट, सीसीटीवी में कैद वारदात

कार सेवा बाबा जगतार सिंह जी के डेरे से सोमवार रात एक करोड़ रुपये की नकदी लूटने का मामला सामने आया है। लुटेरों ने मरीज को बाबा जी के दर्शन करवाने के बहाने डेरे का दरवाजा खुलवाया था। लूट की घटना डेरे में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने फिलहाल अज्ञात लुटेरों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

जानकारी के अनुसार सोमवार रात करीब साढ़े 11 बजे कुछ युवकों ने डेरे का दरवाजा खुलवाया। पहरेदार बुजुर्ग बख्शीश सिंह ने दरवाजा खोला तो आरोपियों ने कहा कि मरीज को बाबा जी के दर्शन करवाने है। इसके बाद तीन युवक अंदर दाखिल हुए और डेरे के खजांची बाबा महिंदर सिंह के कमरे का दरवाजा खटखटाया। 

आरोपियों ने बाबा महिंदर सिंह से भी मरीज को बाबा जी के दर्शन करवाने की बात कही और उनके कमरे में प्रवेश किया। कमरे में घुसते ही एक आरोपी ने बाबा की कनपटी पर पिस्तौल लगा दी और उनके साथ मारपीट की। फिर उन्हें बांधकर कमरे के अंदर बने बाथरूम में बंद कर दिया। इसके बाद आरोपी वहां से एक करोड़ रुपये से अधिक की नकदी स्विफ्ट गाड़ी में डालकर फरार हो गए। 
... और पढ़ें

रोहतक: दिल्ली-हरियाणा का मोस्ट वांटेड विकास उर्फ मीता गिरफ्तार, 50 हजार रुपये था इनाम

एसटीएफ रोहतक की टीम ने सेक्टर-7 मोड़ दीवान फार्म के पास से शातिर बदमाश व 50 हजार रुपये के इनामी विकास उर्फ मीता उर्फ पहलवान को गिरफ्तार किया है। गांव भदाना का रहने वाला विकास शातिर बदमाश काला जठेड़ी को फरीदाबाद में पुलिस कस्टडी से भगाने में शामिल था। विकास पर हत्या, हत्या के प्रयास के आठ मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी हत्या की वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहा था। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश पांच दिन के दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि रविवार रात को एसटीएफ रोहतक की टीम इंस्पेक्टर संदीप धनखड़ के नेतृत्व में गश्त कर रही थी। टीम को पता लगा कि हत्या व कई अन्य मामलों में नामजद आरोपी विकास उर्फ मीता उर्फ पहलवान सेक्टर-7 मोड़ के पास आने वाला है। जिस पर संदीप धनखड़ के नेतृत्व में एएसआई हितेंद्र, सज्जन सिंह, सिपाही सुरेंद्र कुमार, तकदीर सिंह, प्रमोद व संदीप कुमार की टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोपी विकास को काबू कर लिया।

उन्होंने बताया कि विकास 1 फरवरी को फरीदाबाद में कैदी वैन पर हमला कर अपने साथी शातिर बदमाश संदीप उर्फ काला निवासी जठेड़ी को छुड़ा लिया था। पुलिस जांच में सामने आया था कि विकास संदीप को छुड़वाने में संलिप्त था। पुलिस विकास को तीन साल से तलाश कर रही थी। उसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम था। विकास हरियाणा के चार जिलों समेत दिल्ली पुलिस की भी हिट लिस्ट में था।

राकेश उर्फ राका हत्याकांड में किया गिरफ्तार
पुलिस ने विकास उर्फ मीता को 10 अक्तूबर, 2017 को गोहाना के गांव मदीना के खेत में हुई राकेश उर्फ राका की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है। मामले को लेकर मदीना के धनराज ने बताया था कि बाइक सवार तीन हमलावरों ने उसके बेटे राकेश की गोलियों से छलनी कर हत्या कर दी थी। जिसमें बाद में विकास उर्फ मीता का नाम सामने आया था। एसटीएफ ने राकेश हत्याकांड में ही उसे गिरफ्तार किया है। उसे अदालत में पेश कर पांच दिन के रिमांड पर लिया है।
... और पढ़ें

अमृतसरः घर में घुसकर युवक ने दोस्त को मारी गोलियां, दो छाती और एक सिर में लगी, मौत

एसटीएफ की गिरफ्त में आरोपी
अमृतसर के घनपुर काले में घर में घुसकर एक नौजवान की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान लाडी (22) के रूप में हुई है। लाडी को तीन गोलियां लगी हैं। दो गोलियां छाती पर और एक सिर पर लगी है। थाना छेहरटा की पुलिस ने लाडी के परिवार के सदस्यों की शिकायत पर उसके ही एक दोस्त ललित के विरुद्ध मामला दर्जकर तलाश शुरू कर दी है। 
  
जानकारी के अनुसार लाडी व ललित एक दूसरे को जानते थे। दोनों एक दूसरे के घर आते-जाते थे। सोमवार को सुबह लाडी अपने घर में अकेला था। इसी दौरान ललित (22) ने लाडी को आवाज दी। लाडी अभी घर से बाहर ही निकलने के लिए आया था, इसी दौरान ललित ने उसके घर में घुसकर उसे गोलियों से छलनी कर दिया। 

वारदात को अंजाम देकर ललित फरार हो गया। लाडी के भाई ने बताया की वह घर से थोड़ी ही दूरी पर था। उसने ललित को घर से बाहर भागते हुए देखा। जख्मी हालत में लाडी को निजी अस्पताल में दाखिल करवाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। एसीपी वेस्ट देव दत्त शर्मा ने बताया की कत्ल के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है, पुलिस ने मामला दर्जकर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

करनाल: डेढ़ एकड़ जमीन बेचकर इकलौते बेटे को भेजा अमेरिका, गोली मारकर कर दी गई हत्या

अमेरिका के कैलीफोर्निया में करनाल के गांव उपलाना स्थित डेरा साइयां निवासी युवक मनिंद्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मनिंद्र वहां पर एक स्टोर पर काम करता था, जहां नकाबपोश ने गोली मार दी। सूचना मिलने पर परिवार के साथ गांव में मातम छा गया। बता दें कि मनिंद्र इकलौता बेटा था, उसके पिता ने डेढ़ एकड़ जमीन बेचकर 23 लाख रुपये एजेंट को देकर उसे आठ महीने पहले ही अमेरिका भेजा था, जहां पुलिस ने सही कागजात नहीं होने पर उसे गिरफ्तार कर लिया था और करीब 13 लाख रुपये खर्च कर नवंबर में जमानत हुई थी।

दो महीने पहले ही स्टोर पर क्लर्क की नौकरी में लगा था। घर में बुजुर्ग मां-बाप के साथ पत्नी व दो बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है। विडंबना है कि कर्ज में डूबे मां बाप बेटे के शव को भारत लाने में असमर्थ हैं। इस कारण उन्होंने अमेरिका में ही उसका अंतिम संस्कार कराने का निर्णय लिया है।

विदेश में पैसे कमाकर, गरीबी दूर करना चाहता था
मृतक मनिंद्र के ममेरे भाई कंवलजीत सिंह जलमाना ने बताया कि मनिंद्र 2019 मई के अंत में अमेरिका गया था। वहां अमेरिका पुलिस ने उसे पकड़ लिया था। इसके बाद उसे जेल भी जाना पड़ा। नवंबर में ही उसकी जमानत हुई थी और इसके बाद वह एक डिपार्टमेंटल स्टोर पर क्लर्क लग गया। स्टोर पर 22 फरवरी अलसुबह एक नकाबपोश ने मनिंद्र को गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
... और पढ़ें

पठानकोटः कार ने एक्टिवा को मारी टक्कर, हादसे में पति की मौत और पत्नी को लगी गंभीर चोटें

पठानकोट के मामून टीसीपी गेट के पास कार ने एक्टिवा में टक्कर मार दी। हादसे में एक्टिवा सवार की मौत हो गई और उसकी पत्नी घायल हो गई। थाना मामून पुलिस ने कार चालक के खिलाफ केस दर्ज उसकी तलाश शुरू कर दी है।
मृतक की पहचान गांव भब्बर निवासी सुदर्शन शर्मा के तौर पर हुई है।

हादसे के बाद कार चालक वाहन छोड़कर फरार हो गया, कार में मिले दस्तावेजों के आधार पर चालक की पहचान गांव मंगनी निवासी नरिंद्र सिंह के तौर पर हुई है। मृतक के बेटे रोहित शर्मा ने बताया कि उसके पिता सुदर्शन शर्मा और माता सुदेश अपने पैतृक गांव भब्बर से मामनू वार्ड 19 जा रहे थे।

टीसीपी गेट के पास पकार ने उन्हें चपेट में ले लिया। कार एक्टिवा को काफी दूर तक घसीटते ले गई। हादसे में सुदर्शन शर्मा और उसकी पत्नी सुदेश घायल हो गए। दोनों को अमनदीप अस्पताल ले जाया गया। वह सुदर्शन शर्मा की कुछ देर बाद मौत हो गई। एएसआई केवल ने बताया कि कार नरिंद्र कुमार पर मामला दर्ज किया गया है। उसे जल्द पकड़ लिया जाएगा।
... और पढ़ें

पठानकोटः नौजवान को तेज रफ्तार वाहन ने कुचला, पिता की आंखों के सामने तोड़ गया दम

पठानकोट-अमृतसर नेशनल हाइवे पर बाइपास सारंगल पेट्रोल पंप के पास पिता के सामने बेटे को किसी वाहन ने कुचल दिया। इससे युवक की मौके पर मौत हो गई। अंधेरा होने की वजह से टक्कर मारने वाली गाड़ी का पता नहीं चल पाया।

मृतक की पहचान गांव वाड़ा दीनानगर निवासी राजन कुमार के तौर पर हुई है। मृतक के पिता दर्शन लाल ने बताया कि उसका बेटा कानंवा के ईएसआर ढाबे पर काम करता था। शनिवार की की रात पौने एक बजे वह दोनों साइकिल पर अपने गांव लौट रहे थे।

बाइपास पर सारंगल पेट्रोल पंप के पास वह शौच के लिए रुके। बेटा शौच के लिए सड़क पार कर डिवाइडर के पास पहुंचा ही था कि अमृतसर साइड से एक तेज रफ्तार वाहन ने उसे चपेट में ले लिया। चीख सुनकर वह पलटा तो वाहन चालक अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला।

जब तक वह घायल बेटे तक पहुंचता, राजन दम तोड़ चुका था। थाना तारागढ़ की पुलिस ने पिता के बयान पर अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सिविल अस्पताल से लाश का पोस्टमार्टम करवा वारिसों को सौंप दी गई है।
... और पढ़ें

पंजाब यूनिवर्सिटी में ठीक नहीं माहौल, तीन नकाबपोशों ने हॉस्टल के गार्ड को धुना, पार्किंग बनी वजह

पंजाब यूनिवर्सिटी में आजकल माहौल ठीक नहीं चल रहा है। कभी छात्र आपस में भिड़ रहे हैं तो कभी टीचर के खिलाफ अभद्रता की शिकायतें हो रही हैं। यहां तक की पीयू की सुरक्षा का जिम्मा संभाल रहे गार्ड भी सुरक्षित नहीं हैं। ताजा घटनाक्रम के अनुसार शुक्रवार सुबह 11.00 बजे कार पर स्कूटर के नंबर लगाकर आए तीन नकाबपोश छात्रों ने एक गार्ड की जमकर पिटाई की और फरार हो गए। सुरक्षा कर्मी ने पीयू के सुरक्षा अधिकारियों से शिकायत की है। पुलिस में भी शिकायत दर्ज कराई है।

जानकारी के अनुसार, 6 फरवरी को पीयू के पुलिस एडमिनिस्ट्रेशन विभाग के पीछे बनी पार्किंग में सुरक्षा कर्मी कमलेश कुमार की ड्यूटी थी। ह्ममन राइट विभाग के तीन छात्र गाड़ी लेकर पहुंचे। वह गाड़ी सड़क पर खड़ी कर रहे थे। इसके लिए मना किया तो वह विरोध करने लगे और मारपीट शुरू कर दी। सुरक्षा कर्मी की वर्दी तक फाड़ दी, लेकिन लोग बीचबचाव में आए और मामला रफा दफा हो गया। समझौता भी कराया गया, लेकिन उन्होंने गोली मारने की धमकी दी। इस प्रकरण को पीयू प्रशासन को गंभीरता से लेना चाहिए था, लेकिन इसे हवा में उड़ा दिया गया।

शुक्रवार को सुरक्षा कर्मी कमलेश की ड्यूटी ब्वॉयज हॉस्टल नंबर 8 में थी। उसी दौरान कमलेश के पास किसी अनजान नंबर से फोन आया और उन्हें पार्किंग में आने को कहा। कमलेश ने कहा कि वह ड्यूटी पर हैं, कहीं दूसरी जगह नहीं आ सकते। मना करने के दस मिनट बाद तीन नकाबपोश लोग दीवार कूदकर हॉस्टल में घुस गए और कमलेश पर हमला कर दिया। मारपीट के बाद फरार हो गए। सुरक्षा कर्मी को अंदरूनी चोटें आई हैं। मारपीट करने वाले छात्र अपनी कार पर स्कूटर का नंबर लगाकर आए थे। नंबर की प्लेट बहुत छोटी थी।

कमलेश ने कहा कि उन्हें जान का खतरा है। इस प्रकरण को कोई गंभीरता से नहीं ले रहा है। पुलिस में शिकायत दी है, लेकिन आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई है। नकाबपोश एक छात्र का नकाब चेहरे से हटा तो उन्होंने उसे पहचान लिया। वह ह्यूूमन राइट विभाग का ही है जो पहले मारपीट कर चुके हैं।

ऐसे घटनाओं में तुरंत एक्शन ले पीयू प्रशासन
पीयू में इस समय माहौल खराब है। वीरवार आधी रात को एबीवीपी और एसएफएस के कार्यकर्ता आपस में भिड़े और इसमें दो छात्र घायल हो गए। इस प्रकरण में दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाए। बेशक बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया। लेकिन अभी भी इस घटना से तनातनी बनी हुई है। पीयू प्रशासन को चाहिए कि ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए तुरंत एक्शन ले।

सुरक्षा कर्मी कमलेश के साथ तीन छात्रों ने मारपीट की है। सुरक्षा कर्मी ही यहां सुरक्षित नहीं हैं। इस संबंध में उच्चाधिकारियों को चिट्ठी लिखी गई है। साथ ही आरोपी छात्रों पर कार्रवाई के लिए लिखा गया है।
- डॉ. विशाल शर्मा, वार्डन, ब्वॉयज हॉस्टल नंबर आठ
... और पढ़ें

14 साल से एक पैर पर खड़े होकर तप कर रहा था 50 वर्षीय साधु, बदमाशों ने बेरहमी से की हत्या

गांव सोहला की पहाड़ी पर 14 साल से एक पैर पर खड़े होकर तपस्या कर रहे 50 वर्षीय साधु की अज्ञात बदमाशों ने हत्या कर दी। शव को मंदिर के पास एक कमरे में छोड़ गए और कमरे को बाहर से ताला लगा दिया। साधु इस कमरे (कुटिया) में रहता था। शनिवार को जब ग्रामीणों को इसका पता चला तो सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची सतनाली पुलिस ने शव कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

जानकारी के अनुसार ढाणी बोहरा वाली (ग्राम पंचायत सोहला) निवासी करतार नाथ साधु बनकर गांव की पहाड़ी पर मंदिर के साथ एक कमरे में रहता था। उससे क्षेत्र के बहुत से लोग जुड़े थे। सुबह शाम कई लोग मंदिर में आते जाते रहते थे वह उससे मिलकर जाते थे। शनिवार की सुबह जब उससे जुड़े लोग मिलने के लिए पहुंचे तो बाबा बाहर नहीं मिले जबकि कुटिया में ताला लगा था। इस दौरान उन्होंने इधर-उधर देखा । जब कुटिया की तरफ गए तो उनको बदबू आने लगी।

इस दौरान उन्होंने कुटिया में झांकर देखा तो बाबा खून से लथपथ कुटिया के अंदर पड़ा था। बाहर से कुटिया को ताला लगा था। इसकी जानकारी सरपंच को दी गई। मौके पर पहुंचे सरपंच ने फोन कर सतनाली पुलिस को सूचित किया। सतनाली पुलिस ने ताला तुड़वाकर मुआयना किया। साधु के दाएं कान के पीछे चोट लगी थी जबकि कान और मुंह से खून निकल रहे थे और खून जमीन पर भी फैला था।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन