विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020
Astrology Services

होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

'व्हील चेयर' वाला एक शख्स, जिसने हाइवे किनारे कराई शराबबंदी, दिलचस्प है इनकी कहानी

सिस्टम से लड़ना कोई हरमन सिंह सिद्धू से सीखे। वर्ष 1996 में वह एक हादसे का शिकार हो गए थे और इसके बाद से व्हीलचेयर पर आ गए।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

शुक्रवार, 28 फरवरी 2020

तरनतारन: मंदिर के बाहर लगाया पोस्टर, शिवसेना नेता को दी गई जान से मारने की धमकी

सूबे में हिंदू संगठनों के नेता निशाने पर आ गए हैं। गुरुवार सुबह श्री ठाकुर द्वारा मदन मोहन मंदिर के बाहर खालिस्तान समर्थकों ने धमकी भरा पोस्टर लगाया है। इसमें शिवसेना नेता अश्वनी कुमार कुक्कू को जान से मारने की धमकी दी गई। 

शिवसेना (बाल ठाकरे) के प्रदेश उपाध्यक्ष अश्वनी कुमार कुक्कू आतंकवाद के खिलाफ मुखर रहे हैं। उन पर कई जानलेवा हमले भी हो चुके हैं। सुरक्षा के मद्देनजर कुक्कू को पुलिस की ओर से दो गनमैन मुहैया कराए थे। गुरुवार को सुबह श्री ठाकुर द्वारा मदन मोहन मंदिर के बाहर (चार खंभा चौक) पर खालिस्तानी समर्थकों का धमकी भरा पोस्टर लगा मिला। इसमें लिखा था कि अमृतसर और धारीवाल में शिवसेना नेताओं के साथ जो हुआ, ऐसा ही हाल कुक्कू का होगा। 

रोजाना माथा टेकने मंदिर पहुंचे अश्वनी कुमार कुक्कू ने खुद पोस्टर पढ़ा और डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल को जानकारी दी। कुछ देर बाद थाना सिटी के प्रभारी (आईपीएस) तुषार गुप्ता मौके पर पहुंचे और पोस्टर कब्जे में ले लिया। कुक्कू ने कहा कि उन्हें पहले भी कई बार आतंकी संगठन बब्बर खालसा की ओर से जान से मारने की धमकी मिल चुकी है। वह इन धमकियों की परवाह नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ देश और समाज विरोधी ताकतें प्रदेश का माहौल बिगाड़ना चाहती हैं। इस बाबत हम सभी को चौकस रहने की जरूरत है।

आतंकवाद का डटकर करेंगे मुकाबला
शिवसेना (बाल ठाकरे) के जिलाध्यक्ष हरजीत सिंह हीरा, शहरी अध्यक्ष अवनजीत सिंह बेदी, स्वतंत्र भनोट, राम गोपाल जोशी, तेजिंदपाल टींडा, महंत संजीव डिंपी, जतिंदर कुमार, गगन चौधरी, दलीप कुमार, माना अग्निहोत्री, दविंदर शर्मा ने बैठक की। उन्होंने कहा कि खालिस्तानी समर्थकों का शिवसेना डटकर विरोध करती रही है। 

उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर सूबे में आतंकवाद को पुनर्जीवित नहीं होने दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि बटाला में दो दिन पहले ही शिवसेना नेता के भाई की तेजधार हथियारों से गला काटकर हत्या कर दी गई थी। इससे पहले 11 फरवरी को शिवसेना हिंदुस्तान के नेता हनी महाजन पर भी जानलेवा हमला हुआ था। हमले में उनके साथ बैठे एक दुकानदार की मौत हो गई थी।
... और पढ़ें

कोरोना से जंग: कैसे जाए निपटा इसको लेकर मोहाली में मॉक ड्रिक, अस्पताल में दिखी मुस्तैदी

चीन समेत पूरी दुनिया के लिए मुसीबत बने कोरोना वायरस के केसों को देखते हुए मोहाली जिला अस्पताल में गुरुवार को मॉक ड्रिल की गई। ताकि कोरोना वायरस का मरीज आने की स्थिति में उसे फौरी तौर पर संभाला जा सके। विशेष तौर पर तैयार की गई मेडिकल टीम ने कोरोना वायरस के फर्जी मरीज को अस्पताल के नजदीक स्थित एक घर से एंबुलेंस के जरिए लाया गया। जहां पर डॉ. भूषण कुमार ने मरीज को प्राथमिक चिकित्सा दी। 

इसके बाद ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉ. संदीप कुमार ने मरीज के जरूरी सैंपल लिए। सिविल सर्जन डॉ मनजीत सिंह व नोडल अफसर डॉ हरमनदीप कौर खुद इस मॉक ड्रिल की देखरेख कर रहे थे। मौके पर ही अस्पताल में मौजूद स्टाफ नर्स को पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट पहने के तरीके व अन्य सावधानियों के बारे में बताया गया। इस दौरान सीनियर मेडिकल अफसर डॉ अरीत कौर, डॉ विजय भगत, जिला प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार मनदीप सिंह ढिल्लों मौजूद थे।

ड्रिल का यह महत्व है 
डॉ. मनजीत सिंह ने बताया कि इस ड्रिल का महत्व अस्पताल के मेडिकल स्टाफ को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार करना था। इस दौरान इमरजेंसी की तैयारी को पूरी तरह से परखा गया। जहां भी कमी आई उन्हें दूर किया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का कहर बढ़ रहा है। ऐसे में अस्पतालों को पूरी तरह से तैयार करना बड़ा जरूरी है।

अभी तक नहीं सामने आया कोई केस डॉ. मनजीत सिंह ने बताया कि अभी तक पंजाब में कोरोना वायरस का कोई भी मरीज सामने नहीं आया है। विभाग किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वायरस से बेवजह घबराने की जरूरत नहीं है। 

बचाव के लिए सावधानी की जरूरत है। स्वास्थ्य विभाग की टीम मोहाली एयरपोर्ट पर लगभग एक महीने से तैनात है। साथ ही आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है। जिला अस्पताल व सब डिवीजनल अस्पताल खरड़ और डेराबस्सी में आइसोलेशन वार्ड स्थापित किए गए है।
... और पढ़ें

मौत के गड्ढे: लुधियाना में जनवरी में हुई 40 की मौत, तीन साल में 1100 ने गंवाई जान

लुधियाना में सड़कों के गड्ढे लोगों के लिए काल बन गए हैं। साल 2020 के पहले माह जनवरी में हुए सड़क हादसों में 40 लोगों की मौत हो चुकी है। बीते तीन साल में 11 सौ लोगों हादसों के कारण जान गंवा चुके हैं। हर साल सड़कों पर पांच सौ से ज्यादा लोग मौत का शिकार हो रहे है। यह बातें राहत द सेफ कम्युनिटी फाउंडेशन अध्यक्ष डॉ. कमल सोई ने कहीं। वह गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में सड़क हादसों की हकीकत बता रहे थे।

पद्म भूषण डॉ. एसएस जौहल, लुधियाना सिटीजन कौंसिल चेयरमैन दर्शन अरोड़ा, सीए रविकांत गुप्ता की मौजूदगी में डॉ. सोई ने बताया कि उनकी संस्था मिशन सेफ का लक्ष्य सड़क हादसों में होने वाली मौतों में 25 फीसदी कमी लाने का है। सड़क के गड्ढों के कारण लोगों की जान जा रही है। संस्था की तरफ से पहले निगम को एक लीगल नोटिस भेजा जाएगा। निगम ने कोई काम शुरू नहीं किया तो वह राज्यपाल के पास गुहार लगाएंगे कि नगर निगम हाउस को बर्खास्त कर दोबारा से चुनाव करवाएं। 

उन्होंने कहा कि सरकार को हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट पर तेजी से काम करना होगा। सरकार को चाहिए कि वह नए और पुराने वाहनों पर इस प्लेट को तेजी से लगवाए, क्योंकि यह राष्ट्रीय सुरक्षा का एक मुद्दा है। राज्य परिवहन निगम ने नए पुराने वाहनों की हाई सिक्योरिटी प्लेट के बिना खरीद फरोख्त पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस प्लेट के लिए ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट शुरू कर दी है।  

12वीं में ड्राइविंग कोर्स शामिल करें सरकार: डॉ. जौहल
पद्म भूषण डॉक्टर एसएस जौहल ने कहा कि सड़क हादसों का मुख्य कारण सड़कों की खराब हालत है। नाबालिग बच्चे बिना लाइसेंस वाहन चला रहे है। पुलिस भी कानून को सही तरीके से लागू नहीं कर रही है। प्रशासन को इस तरफ सख्ती से ध्यान देना होगा। सबसे बड़ी बात है कि हम लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में जानकारी तक नहीं है। सरकार को चाहिए कि वह 12वीं के कोर्स में ड्राइविंग को शामिल करें।
... और पढ़ें

सीएम मनोहर लाल बोले- पता है जिस अफसर-कर्मचारी का दांव लग जाए, वो भ्रष्टाचार करता है

विधानसभा में राज्यपाल अभिभाषण पर चर्चा के बाद जब मुख्यमंत्री अपना जवाब सदन में दे रहे थे, तो उस वक्त भी माहौल हंगामेदार रहा। विपक्ष के विधायक कई बार सीएम का टोकते रहे, जिस वजह से उन्हें बीच में रुकना पड़ा। कई मुद्दों पर विधायकों ने सीएम से बहस भी की। इस पर स्पीकर ने उन विधायकों को फटकारा भी।

सीएम मनोहर लाल ने सदन में अपना जवाब देने से पहले विपक्ष को भी आइना दिखाने का पूरा प्रयास किया। सीएम ने इस दौरान एक कहानी सुनाते हुए विपक्ष पर करारी चोट की। सीएम ने कहा कि पूर्व की सरकारों का माहौल बदलने के लिए हमें जनता के बीच कई वर्ष और रहना होगा। मगर विपक्ष सत्ता पाने की ऐसी तड़प लिए बैठा है कि वे विभिन्न मुद्दों पर जनता को गुमराह कर सिर्फ वाहवाही बटोरना चाहता है।

सीएम ने कहा कि मैं हैरान हूं ऐसे मुद्दे जिन्हें सुप्रीम कोर्ट तक खारिज कर चुका है, उन मुद्दों को भी विधायक अपनी सस्ती राजनीति चमकाने के लिए सदन में उठा रहे हैं। ये बात यदि सदन से बाहर कही जाती तो कोई भी ऐसे विधायक को सुप्रीम कोर्ट की अवमानना केस में लपेटकर कोर्ट में खड़ा करवा देता। सीएम ने कहा कि अब जनता सयानी है और सब जान चुकी है। इसलिए ऐसे नेताओं के फेर में अब आने वाली नहीं है।
... और पढ़ें
सीएम मनोहर लाल सीएम मनोहर लाल

सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी से मिले नवजोत सिद्धू, बोले- पंजाब के ताजा हालात बताकर आया हूं

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से विवाद के बाद राजनीतिक वनवास काट रहे विधायक नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका वाड्रा गांधी से मुलाकात की। गुरुवार सुबह उन्होंने एक ईमेल जारी कर इसकी जानकारी दी। ईमेल में नवजोत सिद्धू ने बताया कि उनकी सोनिया गांधी के साथ 25 फरवरी को दस जनपथ स्थित आवास पर 40 मिनट बातचीत हुई। 

26 फरवरी को सोनिया गांधी व पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा गांधी के साथ भी एक घंटे से अधिक समय तक बातचीत हुई। सिद्धू के अनुसार बैठक के दौरान दोनों नेताओं के साथ पंजाब के उत्थान और पंजाबियों को आत्मनिर्भर बनाने के एक रोड मैप के बारे में भी चर्चा की। इस रोडमैप के आधार पर पंजाब की खोई प्रतिष्ठता को फिर से बहाल किया जा सकता है। 

सिद्धू ने दावा किया कि इस रोडमैप की चर्चा उन्होंने कैबिनेट की बैठक के दौरान भी की थी और यही रोडमैप उन्होंने अपने अब तक के सार्वजनिक जीवन के दौरान लोगों के सामने रखा है। बैठक में सिद्धू ने प्रदेश की वर्तमान राजनीतिक स्थिति और कैप्टन सरकार के अब तक के प्रदर्शन के बारे में भी चर्चा की। सिद्धू के अनुसार कांग्रेस आलाकमान ने उन्हें ‘तलब’ किया था। सियासी जानकारों के अनुसार सिद्धू ने तलब शब्द का प्रयोग कर कैप्टन और अपने राजनीतिक विरोधियों को इस बात के संकेत दिए हैं कि उनका सीधा संपर्क पार्टी आलाकमान के साथ है।
... और पढ़ें

शून्यकाल न रखने पर हंगामा, कांग्रेस का वाकआउट, एन्हांसमेंट की दूसरी गणना के लिए 20 मार्च डेडलाइन

हरियाणा विधानसभा में प्रश्नकाल के बाद जमकर हंगामा हुआ। शून्यकाल न रखने पर कांग्रेस विधायक भड़क गए। उन्होंने अपनी सीटों पर खड़े होकर शोरशराबा शुरू कर दिया। प्रश्नकाल के बाद 23 मिनट तक कोई कार्यवाही नहीं हुई, पूरा समय हंगामा होता रहा।

शून्यकाल न होने पर कांग्रेसी विधायक वाकआउट कर गए। हालांकि, वे एक मिनट बाद ही सदन में लौट आए। गन्ने का मूल्य बढ़ाने के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर पहले बोलने का मौका न देने पर इनेलो विधायक अभय चौटाला ने भी वाकआउट किया। कुछ ही देर में वह भी सदन में लौट आए।

प्रश्नकाल के खत्म होते ही कांग्रेस विधायक सदन में अपने मुद्दे उठाने के लिए खड़े हो गए। इस पर स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने जानकारी दी कि शून्यकाल नहीं होगा। समय के अभाव में शून्यकाल नहीं रखा गया है। गन्ने का मूल्य बढ़ाने के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा कराई जाएगी। इस पर नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्डा व किरण चौधरी सहित कांग्रेस विधायक ने अपना विरोध जताना शुरू कर दिया। सरकार की तरफ से गृह मंत्री अनिल विज व संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल मामले को शांत करने की कोशिश करते रहे लेकिन बात नहीं बनी। 

विज ने कहा कि कौन सी नियमावली में है कि शून्यकाल होगा ही। इसका कोई प्रावधान नहीं है। स्पीकर ने कहा कि शून्यकाल भाजपा सरकार ने शुरू किया। कांग्रेस सरकार में तो होता ही नहीं था। लगता है कांग्रेस ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर तैयारी करके नहीं आई है। इस पर हंगामा और बढ़ गया। इस पर स्पीकर ने सीट से उठकर सबको बैठाया। भाजपा विधायक शांति से पूरा नजारा देखते रहे। 
... और पढ़ें

दिल्ली हिंसा पर हरियाणा के मंत्री रणजीत चौटाला बोले- दंगे तो होते रहते हैं, जिंदगी का हिस्सा हैं

हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने एक और विवादित बयान दिया है। दिल्ली हिंसा पर उनका बयान हैरान करने वाला है। रणजीत सिंह ने विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने से पहले पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दंगे होते रहते हैं, यह जीवन का हिस्सा हैं। इंदिरा गांधी की हत्या के समय में भी दिल्ली में दंगे हुए थे। 

सरकार इस मामले को मुस्तैदी से नियंत्रित कर रही है। ये दिल्ली का मामला है। न्यायालय में भी यह विचाराधीन है। इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता। दिल्ली दंगों की सुनवाई कर रहे जज के ट्रांसफर पर उन्होंने अनभिज्ञता जताई। याद रहे कि रणजीत सिंह इससे पहले भी अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहे हैं।



बाद में बयान से पलटे मंत्री
बिजली व जेल मंत्री रणजीत सिंह चौटाला ने कहा कि जब वो विधानसभा जा रहे थे तो मीडिया ने उनसे दिल्ली घटना पर टिप्पणी मांगी तो उन्होंने कहा था कि यह घटना अचानक घटी है और इस तरह की घटना नहीं घटनी चाहिए। दिल्ली में पहले भी इस तरह की हिंसा हो चुकी है। इसने दिल्ली के जख्म फिर से हरे कर दिए हैं। 

रणजीत चौटाला के अनुसार लोकतंत्र में बात रखने का अधिकार सभी को है लेकिन इस तरह की हिंसा सही नहीं है। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों को शांति बहाल करनी चाहिए, ताकि सामाजिक भाईचारा खराब न हो। इस मामले में राजनीति बिल्कुल नहीं होनी चाहिए। बता दें कि रणजीत चौटाला रानियां विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक हैं। 

विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा को समर्थन की घोषणा करने वाले वह पहले निर्दलीय विधायक थे। इसका इनाम उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाकर भाजपा ने दिया। वह इनेलो प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के छोटे भाई हैं। रणजीत चौटाला पहले कांग्रेस में थे लेकिन विधानसभा चुनाव में कांग्रेस द्वारा टिकट नहीं दिए जाने पर उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा। वह पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के करीबी माने जाते हैं। हुड्डा के शासनकाल में वह हरियाणा राज्य योजना आयोग के चेयरमैन भी रहे।

एसवाईएल पर अमरिंदर-हुड्डा में मिलीभगत: विज
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने एसवाईएल के मुद्दे पर कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा आपस में मिले हुए हैं। पंजाब सरकार के एडवोकेट जनरल ने किताब लिखी है जिसमें उन्होंने बताया है, पंजाब सरकार हरियाणा को पानी कैसे नहीं दे सकती है। उस किताब का विमोचन हुड्डा ने ही किया था। इससे साफ साबित होता है ये दोनों मिले हुए हैं। विज ने आरोप लगाया कि कांग्रेस, हरियाणा में हो या पंजाब में, लोगों के साथ छल कर रही है।
... और पढ़ें

शराबी पिता था शादी की राह में रोड़ा, यूटयूब से सीखा मारने का तरीका, करंट लगा बेटे ने मार डाला

मंत्री रणजीत चौटाला
गांव जांडलीखुर्द में 14 फरवरी को किसान प्रेम पूनियां की हत्या के मामले में सीआईए फतेहाबाद की टीम ने बड़ा खुलासा किया है। प्रेम पूनियां की हत्या उसके अपने बेटे संदीप पूनियां ने की है। हत्या के पीछे का कारण भी चौंकाने वाला है। हत्यारे बेटे संदीप पूनियां ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि उसका पिता शराब का आदी था और इस आदत के चलते उसकी शादी नहीं हो पा रही थी।

इसके अलावा वो घर में सबसे पावरफुल बनना चाहता था, इसलिए उसे यूटयूब से मर्डर के कई प्लान देखे और उनसे सीखकर उसने अपने ही पिता को करंट देकर व करंट वाली तार गोदकर मार डाला । 

एक माह से बाप को मारने का ढूंढ रहा था यूट्यूब पर प्लान
सीआईए पुलिस की पूछताछ में युवक ने खुलासा किया है कि उसका पिता शराबी था। इस वजह से वह शादी न होने में सबसे बड़ा रोड़ा बना हुआ था। क्योंकि उसके रिश्ते के लिए उनके घर में कोई भी आता था तो वह उसके बाप के शराबी होने के कारण इंकार कर देता था। पिछले एक महीने से 21 वर्षीय संदीप कुमार ने यूट्यूब चैनल पर हत्या से संबंधित कई प्लान देखे। जिसके कारण संदीप ने अपने बाप को नशे के इंजेक्शन तथा कई गोलियां भी खिलाई थी। 

मगर प्रेम पूनिया को इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा। लेकिन 14 फरवरी की रात्रि को पड़ोस की मनीराम की ढाणी में विवाह समारोह की तैयारियां चल रही थी। जिसका संदीप कुमार ने फायदा उठाकर अपने बाप की हत्या करने की योजना तैयार कर डाली। क्योंकि परिवार के सभी सदस्य विवाह समारोह में शामिल होने चले गए थे।
... और पढ़ें

तरनतारन: सुखबीर बादल बोले- हमारी सरकार बनते ही 400 यूनिट बिजली मिलेगी मुफ्त

शिरोमणि अकाली दल के प्रधान व पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पंजाब का खजाना खाली नहीं है। मुख्यमंत्री की नीति खराब है। उन्होंने कहा कि शिअद की सरकार बनते ही गरीब परिवारों को 400 यूनिट मुफ्त बिजली मिलेगी, जबकि जनरल वर्ग को बिजली की दरों में से 50 फीसदी कटौती दी जाएगी। सुखबीर गुरुवार को तरनतारन में कैप्टन सरकार के खिलाफ आयोजित रोष रैली को संबोधित कर रहे थे। 

सुखबीर ने अकाली कार्यकर्ताओं पर झूठे केस दर्ज करने वाले अधिकारियों के नाम वाली डायरी दिखाई। उन्होंने कहा कि विरोधी पार्टियां श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी के मामले में झूठा प्रचार कर शिरोमणि अकाली दल को बदनाम कर रही है। उन्होंने मांझे के जरनैल कहे जाने वाले ब्रह्मपुरा को नकली बताया।

शिअद प्रधान सुखबीर बादल ने कहा कि लोगों को बिजली बिलों के जरिए झटके देने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह भूल गए हैं कि आने वाले समय में लोग शिअद की सरकार बनाएंगे। बादल ने कहा कि शिअद की सरकार बनते ही पंजाब में दोबारा वर्ल्ड कप कबड्डी मैच होंगे, जिसमें दो करोड़ रुपये के बजाय पांच करोड़ रुपये का इनाम होगा। 

रैली में पूर्व सीपीएस प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा, हरमीत सिंह संधू के अलावा एसजीपीसी के पूर्व कार्यवाहक अध्यक्ष अलविंदरपाल सिंह पखोके, इकबाल सिंह संधू, दलबीर सिंह जहांगीर, रमनदीप सिंह भरोवाल, कुलदीप सिंह औलख, भूपिंदर सिंह खेड़ा, मनोज कुमार टिम्मा और गौरवदीप सिंह वल्टोहा मौजूद थे।
... और पढ़ें

कपूरथला: इधर-उधर भाई को खोज रही थी बहन, तीन दिन बाद घर के बाथरूम में मिली लाश

भांजे के जन्म की खुशी में आयोजित पार्टी में बहन के घर आए भाई की तीन दिन बाद दूसरी मंजिल पर बने बाथरूम से लाश मिली है। मामले का पता उस समय लगा, जब बदबू आने के पर पुलिस ने बाथरूम का दरवाजा तोड़ा। अचानक भाई के गायब होने पर बहन-बहनोई उसे जगह-जगह तलाशते रहे और पुलिस को गुमशुदगी की शिकायत दी थी।

थाना सिटी की पुलिस ने युवक के पिता के बयान पर धारा 174 की कार्रवाई करते हुए पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। जांच में जुटी पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।  

गांव पाजिया निवासी 28 वर्षीय मृतक पलविंदर सिंह के पिता जागीर सिंह ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि कपूरथला के लक्ष्मी नगर निवासी उसकी बेटी बलजीत कौर व दामाद मनदीप सिंह के घर 15 फरवरी को बेटे ने जन्म लिया था। बेटे के जन्म की खुशी में 23 फरवरी को बेटी के घर पार्टी रखी गई थी। 
... और पढ़ें

चोरी की कार बता युवक को पुलिस ने उठाया, आरोप- हिरासत में मारपीट के बाद भेजा जेल, अस्पताल में मौत

थाना डिवीजन पांच की पुलिस की ओर से चोरी के आरोप में गिरफ्तार किए गए अहमदगढ़ के रहने वाले दीपक शुक्ला (26) की बुधवार देर रात सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने थाना प्रभारी रिचा रानी और चौकी कोचर मार्केट के एएसआई जसकरण पर दीपक से मारपीट करने का आरोप लगाया है।

परिजनों ने रिश्तेदारों के साथ पुलिस कमिश्नर दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। सूचना मिलने के बाद एसीपी सिविल लाइन जतिंदर कुमार और पुलिस पार्टी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने किसी तरह से प्रदर्शनकारियों को समझा कर वहां से भेज दिया। 

चाचा राजेश कुमार ने बताया कि वह लुधियाना में रहते हैं। दीपक अहमदगढ़ में रहता था। उसकी दो साल पहले प्रीति से शादी हुई थी। दीपक ने कुछ समय पहले ओलेक्स के जरिये 2002 माडल की मारुति 800 कार खरीदी थी। कार खरीदने के कुछ समय बाद ही दीपक के पास थाना डिवीजन पांच से फोन आने लगे कि उनके पास चोरी की मारुति कार है। 

वह जांच के लिए थाने पहुंचे। दीपक पुलिस का फोन आने के बाद अक्सर थाने आता रहा। राजेश ने बताया कि दीपक ने पुलिस को सारी जानकारी दे दी थी कि उसने कार किस व्यक्ति से कितने पैसे में खरीद की है। उसका फोन नंबर भी पुलिस को दे दिया था। 15 फरवरी को दीपक और उसकी पत्नी प्रीति को पुलिस वहां से उठा लाई।  
... और पढ़ें

पटियालाः नेशनल हॉकी खिलाड़ी और दोस्त की हत्या मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार, राइफल भी बरामद

नेशनल हॉकी खिलाड़ी अमरीक सिंह और उसके दोस्त सिमरनजीत सिंह के कत्ल केस में पुलिस ने गुरुवार को मुख्य आरोपी 20 साल के मनराज सिंह सराओ को गिरफ्तार कर लिया। उसके पिता की गिरफ्तारी बाकी है, जो वारदात में उसके साथ शामिल था। आरोपी से वारदात में इस्तेमाल 12 बोर की राइफल भी पुलिस ने बरामद कर ली है। 
  
एसपी (देहात) हरमीत सिंह हुंदल ने गुरुवार को पुलिस लाइन में बताया कि मुख्य आरोपी मनराज सिंह सराओ को पुलिस ने समाना-पटियाला रोड पर गांव ढैंठल से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने उससे वारदात में इस्तेमाल 12 बोर राइफल समेत 20 कारतूस, तीन खोल रोंद 12 बोर और एक असलाह लाइसेंस, जो मनराज सिंह सराओ के नाम पर 2018 में मोहाली से जारी हुआ है, बरामद कर लिया है।

एसपी (डी) ने बताया कि मनराज से पूछताछ में सामने आया है कि वह और उसका पिता अमनदीप सिंह आईटीआई रोड के पास बने एक पीजी में किराये पर वारदात से करीब एक हफ्ते पहले ही रहने आए थे। कभी-कभार वह दोनों नेपाली ढाबे पर खाना खाने जाते थे। जहां वारदात हुई थी, वह ढाबा उनके पीजी के नजदीक था। इससे पहले दोनों आरोपी मोहाली में रहते थे। 

पुलिस के मुताबिक अमनदीप सिंह के पास पटियाला के गांव दुगाल में जमीन है, जिसे उसने ठेके पर दे रखा है। वह कोई और काम नहीं करता था। पत्नी से झगड़े के कारण वह बेटे के साथ रहता था। मुख्य आरोपी मनराज लवली यूनिवर्सिटी जालंधर से बीए कर रहा था। साथ ही वह ट्रैप शूटिंग गेम भी खेलता था। जिसमें वह कई मेडल भी हासिल कर चुका था।
... और पढ़ें

बटाला: शिवसेना नेता के भाई की हत्या का एक आरोपी गिरफ्तार, दूसरा चल रहा फरार

पुलिस ने गुरुवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता की। इसमें उन्होंने ब्लांइड मर्डर की गुत्थी को 48 घंटों में सुलझाने का दावा किया है। प्रेसवर्ता में आईजी बार्डर रेंज एसपीएस परमार पहुंचे। उन्होंने बताया कि शिवसेना नेता के भाई मुकेश नैयर की हत्या केवल पैसों की लूट करने के उद्देश्य से की गई थी। 

उन्होंने बताया कि यह बात तब सामने आई है जब गुरुवार को हत्या करने वाले एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि इस वारदात में शामिल दूसरा आरोपी फरार हैं। उक्त दोनों आरोपी भी भंडारी मोहल्ला बटाला के रहने वाले हैं और मृतक मुकेश नैयर जो बटाला की मंडी में फल-सब्जी का आड़ती था। वो भी भंडारी मोहल्ला बटाला का ही रहने वाला था। पुलिस ने मृतक मुकेश की स्कूटी को भी धारीवाल की नहर से बरामद किया है जो वारदात वाले दिन से ही गायब थी।

परमार ने बताया कि 25 फरवरी को भंडारी मोहल्ला के रहने वाले मुकेश नैयर का कत्ल कर दिया गया था। उसका शव भंडारी मोहल्ला के पास ही मिला था। इस अंधे केस की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने एक विशेष टीम बनाई थी। उनकी टीम ने मुकेश नैयर की हत्या के आरोप में कर्ण उर्फ बिल्ला (20) निवासी भंडारी मोहल्ला को उसकी बुआ के घर अलीवाल रोड बटाला से गिरफ्तार किया है। 

आरोपी ने इस बात को माना है कि उसने ही मुकेश की हत्या की है। इस हत्या को अंजाम देने वाला उसका एक अन्य साथी मनी उर्फ मांऊ निवासी भंडारी मोहल्ला उसके साथ था। परमार ने बताया कि दोनों आरोपी युवकों ने मुकेश की हत्या केवल पैसों की लूट के लिए की थी।

मुकेश दोनों को पहचानता था क्योंकि दोनों आरोपी भी भंडारी मोहल्ला के रहने वाले है। इस लूट की वारदात के बारे में मुकेश किसी को बता न सके, इसलिए उन्होंने मुकेश की हत्या करना ही ठीक समझा। आईजी परमार ने बताया कि जल्द ही दूसरे आरोपी मनी को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us