विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली को खतरनाक वायु प्रदूषण को हराने के लिए सख्त कानूनों की जरूरत

Vivek singhडॉ. विवेक सिंह Updated Tue, 12 Nov 2019 09:44 AM IST
वास्तव में हवा से होने वाली बीमारियों की सूची धीरे-धीरे बढ़ रही हैं
वास्तव में हवा से होने वाली बीमारियों की सूची धीरे-धीरे बढ़ रही हैं - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
आज, यह तय करना कठिन है कि मानवता के लिए बड़ा खतरा कौन है- आतंकवाद या प्रदूषण। जाहिर तौर पर आतंकवाद थोड़ा अधिक भयानक लगता है, लेकिन आंकड़े बताते हैं कि प्रदूषण भारत जैसे देशों में अधिक तबाही मचा रहा है। यह दानव इतना खतरनाक हो रहा है कि लोग अपने चेहरे को ढके बिना बाहर नहीं जा सकते, और अब, यह घरों के अंदर भी लोगों का दम घोंट रहा है। यह क्रूड और बेवजह का प्रदूषण मानव जाति पर अंधाधुंध हमला कर रहा है।
विज्ञापन
 
हालांकि आजकल बहुत से पर्यावरण बचाओ अभियान चल रहे हैं, प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, न केवल महानगरों में, बल्कि छोटे शहरों और कस्बों में भी, हवा में ज़हर घुल रहा है। लगातार वायु की गुणवत्ता में गिरावट अस्थमा, कैंसर और फेफड़ों के संक्रमण जैसी कई गंभीर बीमारियों का प्रमुख कारण है।

वास्तव में हवा से होने वाली बीमारियों की सूची धीरे-धीरे बढ़ रही हैं, लेकिन समाधानों की वर्तमान सूची केवल कुछ विकल्पों तक ही सीमित है, जो यह दिखाती है कि प्रदूषण की समस्या के बारे में सरकार कितनी चिंतित है, जिसे कुछ गंभीर योजनाओं और उनके प्रभावी कार्यान्वयन से बहुत प्रभावी ढंग से निपटा जा सकता है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके
सब कुशल मंगल

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

हैदराबाद मामलाः इंटरनेट पर मिल रही अश्लील कंटेंट सामग्री के बारे में कब सोचेगी सरकार?

देश को झकझोर देने वाले दिल्ली के निर्भया कांड केे सख्त कानून बनाने की देश की मंशा को सरकार ने पूरा कर दिया और नाबालिग की परिभाषा भी बदल दी जा चुकी। इसके बावजूद निर्भया कांड की ही तरह बर्बर और जघन्यतम

6 दिसंबर 2019

विज्ञापन

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले, 'पॉक्सो एक्ट के तहत रेप के दोषियों को ना मिले दया अर्जी का अधिकार'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि पॉक्सो एक्ट में सजायाफ्ता को माफी नहीं मिलनी चाहिए और ऐसे मामलों में दया याचिका का प्रावधान खत्म हो।

6 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election