विज्ञापन
विज्ञापन

क्या वाकई भारत में कारोबार करना और आसान हो गया है?

shashank dwivediशशांक द्विवेदी Updated Fri, 08 Nov 2019 10:06 AM IST
भारत इस सूची में लगातार तीसरे साल शीर्ष प्रदर्शन करने वाले देश में भी शामिल है।
भारत इस सूची में लगातार तीसरे साल शीर्ष प्रदर्शन करने वाले देश में भी शामिल है। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

देश में आर्थिक मंदी की सुगबुगाहट के बीच इकोनॉमी के मोर्चे पर भारत को एक अच्छी खबर मिली है।  भारत में कारोबार करना अब और आसान हो गया है। विश्व बैंक की 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' रैंकिंग (कारोबार सुगमता रैंकिंग)  में भारत ने लंबी छलांग लगाई है।  भारत अब 14 पायदान के सुधार के साथ 63वें स्थान पर पहुंच गया है। पिछले तीन सालों में भारत की रैकिंग में 68 पायदान का सुधार आया है।विशेषज्ञों के अनुसार इससे भारत को अधिक विदेशी निवेश आकर्षित करने में मदद मिलेगी।   

मोदी सरकार द्वारा इस दिशा में किए गए प्रयास को अब वर्ल्ड बैंक ने भी स्वीकार किया है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस यानी कारोबार करने में सुगमता की रैंकिंग उस समय आई है, जब देश आर्थिक सुस्ती का शिकार है। साल 2014 में जब पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार बनी थी, तब भारत की रैंकिंग 190 देशों में 142वें स्थान पर थी। पिछले साल भारत की रैंकिंग 77 पर पहुंच गई थी।

विज्ञापन
भारत इस सूची में लगातार तीसरे साल शीर्ष प्रदर्शन करने वाले देश में भी शामिल है। यह रैंकिंग ऐसे समय में आई है, जब भारतीय रिजर्व बैंक, वर्ल्ड बैंक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, मूडीज सहित कई एजेंसियों ने आर्थिक सुस्ती को देखते हुए जीडीपी में बढ़त के अनुमान को घटा दिया है।

देश में आर्थिक सुस्ती का माहौल है और अर्थव्यवस्था के लगभग सभी मोर्चों पर नकारात्मक खबरें आ रही थीं।  लेकिन आने वाले समय में कारोबारी सुगमता में सुधार की वजह से अर्थव्यवस्था को निश्चित रूप से मजबूती मिलेगी । 

किसी भी देश की आर्थिक वृद्धि के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस यानी कारोबार सुगमता बेहद महत्वपूर्ण होता है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में सबसे अधिक सुधार की सूची में भारत ने टॉप 20 में अपनी जगह बना ली है। चार क्षेत्रों में - नया बिजनेस शुरू करना, दिवालियेपन का समाधान करना, सीमा पार व्यापार और कंस्ट्रक्शन परमिट्स में भारत ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को आसान किया है, जिसके चलते विश्व बैंक की सूची में भारत टॉप 20 देशों में शामिल रहा।

रिपोर्ट के मुताबिक, इन-कॉर्पोरेशन फॉर्म और इलेक्ट्रॉनिक मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन को भरने में लगने वाली फीस को खत्म किए जाने के कारण अब नया बिजनेस शुरू करना आसान हो गया है। 

विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

महाराष्ट्र: गठबंधन सरकार बनने का रास्ता साफ, संजय राउत ने दिया बयान

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के बीच संजय राउत ने दिया बयान कहा कि उद्धव ठाकरे केवल पांच साल नहीं बल्कि आगामी 25 साल तक महाराष्ट्र में सरकार का नेतृत्व करेंगे।

15 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election