विज्ञापन

26 January Republic Day 2020: विकास की राह पर चलता दुनिया का सबसे बड़ा गणतंत्र

Shankar Suwan Singhशंकर सुवन सिंह Updated Sun, 26 Jan 2020 10:26 AM IST
विज्ञापन
26 जनवरी 1950 से पहले भारत संवैधानिक तौर पर गणराज्य नहीं बल्कि राजतंत्र ही था।
26 जनवरी 1950 से पहले भारत संवैधानिक तौर पर गणराज्य नहीं बल्कि राजतंत्र ही था। - फोटो : PTI
ख़बर सुनें
भारत में गणतंत्र दिवस को बहुत अहम दिन माना जाता है। इस दिन हमारे देश का संविधान लिखा गया था। गणतंत्र दिवस से सभी भारतीयों की भावनाएं जुडी हुई हैं। गणतंत्र के 70 वर्ष पूरे हो गए हैं। आजादी के बाद देश को चलाने के लिए डॉ भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्व में हमारे देश का संविधान लिखा गया, जिसे लिखने में पूरे 2  साल 11 महीने और 18 दिन लगे। 26 जनवरी 1950 को सुबह 10:18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया था और इसी उपलक्ष्य में हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने लगे।
विज्ञापन
26 जनवरी 1950 से पहले भारत संवैधानिक तौर पर गणराज्य नहीं बल्कि राजतंत्र ही था। 26 जनवरी 1950 से पहले गर्वनमेंट ऑफ इंडिया एक्ट 1935 के तहत भारत में शासन चलाया जाता था। दिल्ली में 26 जनवरी, 1950 को पहली गणतंत्र दिवस परेड, राजपथ पर न होकर इर्विन स्टेडियम (आज का नेशनल स्टेडियम) में हुई थी। 1955 को दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस की पहली परेड हुई थी।

गणतंत्र दिवस के मौके  पर राजपथ पर परेड आयोजित की जाती है और इस परेड की सलामी देश के राष्ट्रपति लेते हैं। हर साल 21 तोपों की सलामी दी जाती है। 1950 से हम गणतंत्र दिवस को हर वर्ष ढ़ेर सारे हर्ष और खुशी के साथ मनाते हैं। 1950 से ही भारत दूसरे देश के राष्ट्रप्रमुखों को गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर आमंतित्र करता आ रहा है। ब्राजील  के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो गणतंत्र दिवस समारोह 2020 के मुख्य अतिथि हैं। गणतंत्र दिवस की संध्या पर भारत के राष्ट्रपति पद्म पुरस्कार देते हैं।

गणतंत्र दिवस समारोह का समापन 'बीटिंग रिट्रीट' सेरेमनी से 29 जनवरी को किया जाता है, जबकि स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त ) के जश्न का समापन उसी दिन ही किया जाता है। गणतंत्र दिवस की परेड में गीत अबाईड विथ मी (मेरा साथ दो ) बजाकर समारोह का समापन किया जाता था। इस बार से (26 जनवरी 2020) गीत अबाईड विथ मी की जगह वन्देमातरम के साथ गणतंत्र दिवस कार्यक्रम का समापन होगा। जब इस धुन को बजाया जाता है तो इसे बीटिंग रिट्रीट कहते हैं।

बीटिंग रिट्रीट समारोह सदियों पुराने उस सैन्य परंपरा को दर्शाती है जिसमें इन सैन्य धुनों के बजने पर सेना लड़ना बंद कर देती है और अपने हथियार रख देती है। बाइबिल से लिया गया अबाईड विथ मी गीत महात्मा गांधी का पसंदीदा गीत माना जाता था। गणतंत्र दिवस के समापन पर सैन्य बैंड के 45 मिनट लम्बे कार्यक्रम का समापन इसी गीत से किया जाता है। 2020 में 71 वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। कैप्टन तान्या शेरगिल गणतंत्र दिवस 2020 परेड का नेतृत्व करेंगी। 

 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us