विज्ञापन
विज्ञापन

देश की सबसे बड़ी पक्षी त्रासदी, सांभर झील बनी क़ब्रिस्तान

Devendra Sutharदेवेंद्र सुथार Updated Thu, 21 Nov 2019 12:57 PM IST
राजस्थान के सांभर लेकर में रहस्यमयी कारण से मर रहे पंछी
राजस्थान के सांभर लेकर में रहस्यमयी कारण से मर रहे पंछी - फोटो : PTI
ख़बर सुनें
पक्षियों का स्वर्ग कही जाने वाली व देश की सबसे बड़ी नमक झील सांभर झील में अज्ञात बीमारी से पक्षियों के मरने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को राजस्थान के नागौर जिले में झील के नावां एरिया से 5309 मृत पक्षी निकाले गए और 67 पक्षी रेस्क्यू किये गए। वहीं, जयपुर जिले की सीमा से 386 पक्षी मृत मिले हैं। यहां 33 पक्षियों को जिंदा निकाला गया, जिनका इलाज जारी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि झील क्षेत्र में मृत पक्षियों की संख्या और बढ़ सकती है।
विज्ञापन
जहां भी वन विभाग की टीम पहुंच रही है, वहां जगह-जगह मरे पक्षी मिल रहे हैं। अब तक सांभर झील में 17, 270 पक्षी मारे जा चुके हैं। मारे गये पक्षियों में करीब 25 प्रजातियों के प्रवासी पक्षी शामिल है। इनमें सबसे ज्यादा करीब 40 प्रतिशत नॉरहन शॉवलर और 20 प्रतिशत नॉरहन पिटेंल हैं। इसके अलावा कॉमन हील, गोडवेल, ब्लैक ब्राउनहैडेड गल, पलास गल, गल बीनर्टन, पायड एवोसेड, रफ, कॉमन रेड सैक, मार्स सेड पाइपर, बुडसेड पाइपर, कॉमन सेड पाइपर, लेसर सेड प्लाओर, कॉमन कुट, ब्लैक विड स्टील, रूडी सेल डक, लेसर विसलिग डक, टमनिक स्टीट, क्रीक, सिल्वर बील, मलार्ड और नोबिल डक भी शामिल है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके
सब कुशल मंगल

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

बदले की राजनीति में उलझते जगन

आंध्र प्रदेश की सत्ता में आने के बाद से जगन मोहन रेड्डी ने जितने भी फैसले किए हैं, उन सबमें चंद्रबाबू नायडु के प्रति उनका विरोध दिखता है। जबकि राज्य की बेहतरी के लिए जगन को दूरदर्शी होना पड़ेगा।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन

हैदराबाद के दरिंदों की गिरफ्तारी से लेकर उनकी मौत तक की कहानी

हैदराबाद रेप एनकाउंटर की पूरी कहानी देखिए यहां। जानिए आखिर कैसे पुलिस ने आरोपियों को उतारा मौत के घाट।

7 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election