महिला IPL में नहीं खेलेंगी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई और सीए में हुआ विवाद

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 26 Apr 2019 09:01 PM IST
विज्ञापन
महिला आईपीएल
महिला आईपीएल - फोटो : social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

सार

  • जनवरी 2020 के एफटीपी कार्यक्रम से चिंतित है क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया
  • इस दौरान AUS को भारत में खेलनी है वनडे सीरीज, CA चाहता है टालना
  • जनवरी में AUS में चरम पर होता है क्रिकेट, तो सीरीज नहीं चाहते कंगारू
  • IPL में तीन महिला खिलाड़ियों को लेना था हिस्सा, लेकिन CA ने उन्हें रोका

विस्तार

ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेटरों को उसके बोर्ड ने बीसीसीआई के साथ पुरुष द्विपक्षीय सीरीज को लेकर चल रहे विवाद के कारण अगले महीने होने वाले महिलाओं के टी20 चैलेंज में भाग लेने से रोक दिया है। भारतीय बोर्ड का कहना है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया 'ब्लैकमेल' कर रहा था। ऑस्ट्रेलिया की तीन खिलाड़ियों मेग लैनिंग, एलिसी पैरी और एलिसा हीली को महिला आईपीएल में हिस्सा लेना था लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें रोक दिया।
विज्ञापन

इस टूर्नामेंट के मैच 6 से 11 मई के बीच जयपुर में खेले जाएंगे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की शीर्ष अधिकारी बेलिंडा क्लार्क (पूर्व कप्तान) के ईमेल से जाहिर होता है कि इन तीनों को रोकना पुरुष वनडे सीरीज टालने के लिए दबाव की रणनीति है। भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) के अनुसार ऑस्ट्रेलिया को जनवरी 2020 में तीन वनडे खेलने हैं, जबकि इस दौरान ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट सत्र अपने चरम पर होता है। 
क्लार्क ने आईपीएल संचालन दल को पत्र में लिखा है, 'हम अनुरोध पर तभी विचार करने की स्थिति में रहेंगे जब जनवरी 2020 के आखिर में एफटीपी के अनुसार होने वाली पुरुष वनडे सीरीज के जुड़े वर्तमान मामले को राहुल (बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी) और केविन (सीए सीईओ केविन रॉबर्ट्स) सुलझा नहीं देते। मुझे लगता है कि अभी इस पर काम चल रहा है।' 
बीसीसीआई ने महिला खिलाड़ियों को अनुमति देने के लिए शर्तें रखने पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की आलोचना की। बोर्ड के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, 'अगर आप बेलिंडा के पत्र की विषय वस्तु को देखें तो स्पष्ट है कि वे ब्लैकमेल की रणनीति अपना रहे हैं। महिला खिलाड़ियों को अनुमति देने को कैसे पुरुष सीरीज से जोड़ा जा सकता है। यह एफटीपी में स्वीकार किया गया है और अब वे उससे पीछे हट रहे हैं।' 

बीसीसीआई की आईपीएल संचालन टीम ने सीए को तीन खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति देने के लिए चार अप्रैल को पत्र लिखा था और क्लार्क का ईमेल उसके एक दिन बाद पांच अप्रैल को आया। अधिकारी ने कहा, 'पांच अप्रैल के बाद सीए की तरफ से कोई संवाद नहीं हुआ और ऐसे में हमारे पास टीम घोषित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। पुरुष क्रिकेट से जुड़े मसले को निबटाने के लिए महिला खिलाड़ियों को मोहरा बनाना गलत है।' 
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us