ये जीत विराट कोहली के जोखिम की जीत है

Shivendra Kumar Singhशिवेंद्र कुमार सिंह Updated Mon, 07 Oct 2019 12:25 PM IST
विज्ञापन
विराट कोहली
विराट कोहली - फोटो : ट्विटर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
विशाखापत्तनम टेस्ट मैच में मिली जीत में विराट कोहली का बड़ा जोखिम छुपा हुआ है। जिस अंदाज में उन्होंने दूसरी पारी में 'डिक्लेयर' किया वो 'रिस्की' हो सकता था। लेकिन विराट कोहली ने अपने गेंदबाजों पर भरोसा किया और गेंदबाजों ने उन्हें नतीजा दिया। इस कहानी को समझने के लिए आंकड़ों के विस्तार में जाना होगा।
विज्ञापन

विराट कोहली ने दूसरी पारी में 323 के स्कोर पर 'डिक्लेयर' किया। उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के सामने 395 रनों का लक्ष्य था। विराट कोहली ने चौथे दिन भी अफ्रीकी टीम को 9 ओवर बल्लेबाजी करने का मौका दिया। यानी दक्षिण अफ्रीका के पास बल्लेबाजी के लिए करीब 100 ओवर थे। ये सच है कि चौथी पारी में 395 रन का लक्ष्य किसी पहाड़ से कम नहीं। लेकिन सच ये भी है कि पहली पारी में जिस तरह दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने प्रदर्शन किया था उसके बाद ये लक्ष्य नामुमकिन भी नहीं था।
टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से ये लक्ष्य नामुमकिन तब माना जाता जब विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के सामने साढ़े चार सौ रनों के आस पास का लक्ष्य रखते। लेकिन विराट ने यहीं चाल चली उन्होंने 395 रनों का 'ट्रिकी' लक्ष्य अफ्रीकी टीम के सामने रखा और इसी लक्ष्य में मेहमानों को फंसा लिया। ऐसा भी नहीं कि मैच के आखिरी दिन की पिच बल्लेबाजी के लिए बहुत खराब रही हो लेकिन रनों का दबाव और गेंदबाजों की लाइन लेंथ ने टीम इंडिया को जीत दिलाई।  
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

पहली पारी में अफ्रीकी बल्लेबाजों का शानदार प्रदर्शन    

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us