विज्ञापन
विज्ञापन
MyCity App MyCity App
विज्ञापन
सावन में कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगा कर्ज की समस्या  से छुटकारा
SAWAN Special

सावन में कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगा कर्ज की समस्या से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

एक घर में अचानक निकल आया दुर्लभ दो रंग का कोबरा सांप, अटक गईं सांसें, तस्वीरें...

cobra cobra

Coronavirus in Uttarakhand :  अब महज आधे घंटे में पता चल जाएगा, किसी मरीज को कोरोना है या नहीं

किसी मरीज को कोरोना है या नहीं, अब यह महज आधे घंटे में पता चल जाएगा। यह मुमकिन होगा रैपिड एंटीजन टेस्ट किट की मदद से। स्वास्थ्य महानिदेशालय ने जिला स्वास्थ्य विभाग को दो हजार किट मुहैया करा दी हैं।

एम्स के निदेशक की सलाह, कोरोना काल में इस रोग से ग्रसित रोगी रखें अपना खास ख्याल

रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के पहुंचने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और विशेषज्ञों ने भी राहत की सांस ली है। इससे पहले कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच के लिए रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट के जरिए इस बात का पता लगाया जाता था कि मरीज में कोरोना संक्रमण है या नहीं।

रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट में मरीजों का इलाज कर रहे चिकित्सा विशेषज्ञों को इंतजार करना होता था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि फिलहाल इस समस्या समस्या का समाधान हो गया है। स्वास्थ निदेशालय की ओर से जिले को दो हजार एंटीजन टेस्ट किट मुहैया कराई करा दी गई है।

इसमें से 100 एंटीजेन टेस्ट किट सेना अस्पताल को भेज दी गई हैं। क्योंकि वहां बड़ी संख्या में सेना के जवानों में कोरोना संक्रमित होने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इसके अलावा बाकी किट दून अस्पताल समेत अन्य अस्पतालों को मुहैया कराई जा रही हैं। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि कोरोन संक्रमित मरीजों का समय रहते इलाज किया जा सके इसके लिए स्वास्थ विभाग की ओर से हर संभव कदम उठाए गए हैं। विभागीय अधिकारियों की टीमें गठित कर उन तमाम इलाकों पर कड़ी निगरानी की जा रही है, जहां कोरोना संक्रमित मरीज ज्यादा पाए गए हैं। वैसे तो कोरोना के सबसे अधिक मरीज देहरादून जिले में पाए गए हैं। लेकिन राहत की बात यह है कि इनमें से ज्यादातर मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं।
... और पढ़ें

चारधाम यात्रा 2020: तेज बारिश से बदरीनाथ एनएच पर कई जगह आया मलबा, यमुनोत्री हाईवे बंद

बीती रात उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल के पहाड़ी इलाकों में मूसलाधार बारिश होने से बदरीनाथ हाईवे पर कई जगह मलबा आ गया। जेसीबी मशीनों द्वारा मंगलवार की सुबह मलबा हटाया दिया गया।

उत्तराखंड: मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आठ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार

जिससे वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। वहीं यमुनोत्री हाईवे अभी भी हनुमान चट्टी के पास बंद पड़ा है। राजधानी देहरादून में कल देर रात बारिश के बाद आज सुबह से बादल लगे हैं। यहां बारिश होने की संभावना है।

रुद्रप्रयाग क्षेत्र में बीती रात को तेज बारिश हुई। ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सिरोहबगड़, नारकोटा में देर रात मलबा आने से बंद हो गया था। जिसे आज सुबह करीब सात बजे खोल दिया गया। वहीं यमुनोत्रीघाटी में रात भर झमाझम बारिश होने के बाद आज सुबह मौसम साफ हो गया है। यमुनोत्री हाईवे हनुमानचट्टी में अभी भी अवरुद्ध चल रहा है।
... और पढ़ें

जौरासी के पास कोसी नदी में बहीं थी तीन महिलाएं, 46 घंटे बाद लापता महिला का मिला शव

जौरासी के पास रविवार को कोसी नदी पार करते समय बही तीन महिलाओं में से लापता एक महिला का शव 46 घंटे बाद 400 मीटर दूर नदी किनारे से एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन के सहारे बाहर निकाल लिया।

उत्तराखंड: मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आठ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार

जबकि दो महिलाओं के शव रविवार को निकालने के बाद सोमवार को गमगीन माहौल में अंत्येष्टि कर दी गई थी। वहीं चमड़िया गांव की लापता ललिता देवी (30) का शव मंगलवार की सुबह 08 बजे एसडीआरएफ ने बरामद कर लिया।

मृतक का शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए नैनीताल भेजा जा रहा है। इस दौरान एसडीआरएफ के साथ कौश्याकटौली प्रशासन की टीम मौजूद रही। वहीं मृतक ललिता देवी के शव मिलने की सूचना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आठ जिलों में भारी बारिश के आसार

प्रतीकात्मक तस्वीर
देहरादून समेत प्रदेश के आठ जिलों में कई स्थानों पर मंगलवार को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसको देखते हुए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं, प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है।

मौसम केंद्र के अनुसार मंगलवार को राजधानी देहरादून, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली, नैनीताल, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। साथ ही कई स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने का भी अनुमान है। इसके अलावा इसके अलावा अन्य स्थानों पर भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। 



मौसम के निर्देशक विक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश में फिलहाल इसी तरह का मौसम बना रहेगा, अगले एक हफ्ते तक ज्यादातर जगह भारी या बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।
... और पढ़ें

अमर उजाला एक्सक्लूसिव: केंद्रीय विद्यालयों में 9वीं और 11वीं के फेल छात्र बिना परीक्षा दिए होंगे पास

केंद्रीय विद्यालयों में 9वीं और 11वीं में पढ़ने वाले जो छात्र फेल हो गए हैं, उन्हें दोबारा परीक्षा देने की जरूरत नहीं है। केंद्रीय विद्यालय संगठन ने ऐसे छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट करने का फैसला लिया है। इसके तहत सभी केंद्रीय विद्यालयों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।



केंद्रीय विद्यालय संगठन देहरादून के उपायुक्त विनोद कुमार ने बताया कि केविएस ने कोरोना संक्रमण के प्रकोप के बीच छात्रों के लिए यह निर्देश जारी किए हैं। अभी तक के नियमों के हिसाब से 9वीं, 11वीं में अधिकतम दो विषयों में फेल होने वाले छात्रों को अगली कक्षा में जाने के लिए सप्लीमेंट्री परीक्षा देनी होती है। सप्लीमेंट्री में पास होने पर ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जाता है, लेकिन इस बार ये परीक्षा नहीं ली जाएगी। 

संगठन ने कोरोना महामारी के मद्देनजर ये फैसला सिर्फ इस साल के लिए लिया है। केविएस की ओर से जारी पत्र के मुताबिक, अगर कोई छात्र इन दो कक्षाओं में सभी पांच विषयों में भी फेल होता है तो उसे उसके स्कूल द्वारा प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर जांचा जाएगा और अंक दिए जाएंगे। फिर उसी अंक के आधार पर उस छात्र को अगली कक्षा में प्रमोट भी किया जाएगा। 
... और पढ़ें

Coronavirus: जांच के लिए लैब बढ़ने के बाद भी सैंपलिंग में नहीं आई तेजी, 6000 तक पहुंची वेटिंग

उत्तराखंड सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना सैंपलों की जांच में तेजी नहीं आई है। हालांकि प्रदेश सरकार ने सैंपलों की जांच के लिए लैबों की संख्या बढ़ाई है लेकिन प्रतिदिन हजार से 1200 सैंपलों की जांच हो रही है। ऐसे में सैंपलों की वेटिंग छह हजार से अधिक हो गई है। 

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 15 मार्च को मिला था। शुरूआत में कोरोना सैंपल की जांच के लिए कोई सुविधा नहीं थी। वर्तमान में पांच सरकारी और दो निजी लैब में कोविड सैंपलों की जांच हो रही है। वहीं एनसीडीसी दिल्ली और पीजीआई चंडीगढ़ भी सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 
Coronavirus in Uttarakhand : प्रदेश में सर्विलांस का पहला चरण पूरा, सरकार पूरी तरह से सतर्क

स्वास्थ्य विभाग की ओर रिपोर्ट के अनुसार 21 से 27 जून तक 10277 सैंपलों की जांच की गई है। वहीं 28 जून से चार जुलाई तक 10185 सैंपल की जांच की गई। सरकार का दावा है कि सभी जिलों को सैंपल जांच के लिए ट्रूू नेट मशीनें और तीन मेडिकल कॉलेजों में स्थापित लैब की क्षमता बढ़ाने के लिए आधुनिक मशीनों और उपकरणों की खरीद के लिए 11.25 करोड़ की राशि जारी की गई है। 
... और पढ़ें

महाकुंभ 2021: हरिद्वार समेत चार जिलों में 235 हेक्टेयर प्राइवेट भूमि अधिग्रहण करने की तैयारी

हरिद्वार में 2021 में प्रस्तावित महाकुंभ के लिए चार जिलों की 235 हेक्टेयर प्राइवेट भूमि को अधिग्रहण करने की कार्रवाई प्रशासन ने शुरू कर दी है। इन जिलों के प्रशासन ने संबंधित भूमि के अधिग्रहण की जरूरी औपचारिकताएं पूरी कर अपने प्रस्ताव शासन को भेज दिए हैं। अधिग्रहण करने वाली इस जमीन पर 80 पार्किंग स्थल बनाए जाएंगे, जहां पर करीब दो लाख वाहन पार्क करने की योजना है।

कोरोना संक्रमण के चलते कांवड़ यात्रा तो स्थगित हो गई है, जबकि प्रस्तावित महाकुंभ पर खतरा अभी बरकरार है। वैसे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जूना अखाड़ा और दूसरे संतों से बात कर निर्धारित समय पर महाकुंभ कराने पर सहमति जता चुके हैं। सीएम ने कोरोना संक्रमण की स्थिति का आंकलन कर फरवरी में महाकुंभ के स्वरूप को लेकर फैसला लेने की बात भी कही है।


इसी कड़ी में कुंभ मेला प्रशासन भी अपनी तैयारियों में जुट गया है। महाकुंभ क्षेत्र में शामिल हरिद्वार, देहरादून, पौड़ी और टिहरी में वाहनों की पार्किंग के लिए प्राइवेट भूमि को अधिग्रहित करने की तैयारी शुरू हो गई है। इन जिलों में करीब 650 हेक्टेयर भूमि तो सरकारी है, जबकि 235 हेक्टेयर प्राइवेट भूमि अधिग्रहित करनी पडे़गी। 
... और पढ़ें

Coronavirus: उत्तराखंड में सोमवार को 37 नए संक्रमित मिले, 3161 पहुंची मरीजों की संख्या

उत्तराखंड में सोमवार को 37 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही अब प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 3161 पार पहुंच गई है। आज 62 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा 20 (एक प्राईवेट लैब से ) मामले सामने आए हैं। वहीं, अल्मोड़ा में तीन, देहरादून में चार (दो प्राईवेट लैब से ), हरिद्वार में पांच, नैनीताल में चार और पौड़ी में एक संक्रमित मरीज सामने आया है।

यह भी पढ़ें: 
Coronavirus in Uttarakhand : प्रदेश में सर्विलांस का पहला चरण पूरा, सरकार पूरी तरह से सतर्क

बता दें कि अब तक प्रदेश में 2586 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अभी भी 505 एक्टिव केस हैं। जबकि अब तक 42 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us