विज्ञापन
विज्ञापन
MyCity App MyCity App
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

थल सेना में लेफ्टिनेंट बनीं देवभूमि की बेटी, पुणे में हुई पासिंग आउट परेड

पुणे में गुरुवार को पासिंग आउट परेड के बाद उत्तराखंड में हल्द्वानी की बेटी डॉ. दृष्टि राजपाल थल सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं। गणपति बिहार फेज-1 निवास...

19 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

देहरादून

मंगलवार, 31 मार्च 2020

Lockdown Uttarakhand: मिलेगी राहत, अब खुली रहेंगी प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम की ओपीडी

उत्तराखंड में प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम भी अब अपने यहां ओपीडी संचालित करेंगे। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए प्राइवेट अस्पतालों में ओपीडी संचालित नहीं हो रही थी। इससे सरकारी अस्पतालों पर दबाव बढ़ गया था। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पदाधिकारियों के साथ सोमवार को हुई बैठक में यह सहमति बनी है।

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए प्राइवेट अस्पतालों को आगे आने को कहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। इसमें प्राइवेट चिकित्सा संस्थानों का सहयोग बहुत जरूरी है। वर्तमान में दून अस्पताल, महंत इंद्रेश अस्पताल, एम्स ऋषिकेश व हिमालयन अस्पताल में कोविड-19 के मरीजों के लिए बेड आरक्षित किए गए हैं। इससे निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम की जिम्मेदारी और बढ़ जाती है।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown: प्रदेश के पांच बड़े अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 1400 बेड का इंतजाम

कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने के लिए उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश के पांच बड़े अस्पतालों में 1400 बेड का इंतजाम कर लिया है। सरकार का कहना है कि जरूरत पड़ने पर अस्पतालों में बेडों की संख्या बढ़ाई जाएगी। सरकार ने अस्पतालों के साथ समन्वय बनाने के लिए दो आईपीएस अफसरों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।

सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने आवास पर कोरोना महामारी से निपटने के लिए एम्स ऋषिकेश, हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट, दून अस्पताल, श्री महंत इंद्रेश हास्पिटल के प्रबंधकों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। लोगों को संक्रमण से बचाने और संक्रमित मरीज का इलाज करने में प्राइवेट अस्पतालों का सहयोग बहुत जरूरी है।

सीएम ने कहा कि सरकारी अस्पतालों के साथ प्राइवेट अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अलग से व्यवस्था की जा रही है। आवश्यकता के अनुसार अस्पतालों में मेडिकल उपकरणों का प्रबंध किया जा रहा है। सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में आईसोलेशन, वेंटीलेटरों और एंबुलेंस की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

बैठक में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, महंत देवेंद्र दास, सब एरिया के जीओसी मेजर जनरल राजेंद्र सिंह ठाकुर, सचिव स्वास्थ्य नितेश कुमार झा, एनएचएम के मिशन निदेशक युगल किशोर पंत, हिमालयन अस्पताल के विजय धस्माना, एम्स ऋषिकेश के निदेशक प्रो. रविकांत आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जरूरतमन्दों और मददगारों के बीच पुल बना अमर उजाला

जरूरतमन्दों और मददगारों के बीच पुल बना अमर उजाला -अमर उजाला की हेल्पलाइन पर आते रहे मदद के लिए फोन, सामाजिक संगठनों की मदद से पहुंचाई गई मदद माई सिटी रिपोर्टर देहरादून। कहीं कोई भी जरूरत से वंचित न रहे, अमर उजाला ऐसे लोगों तक मदद पहुंचाने में जुट हुआ है। जरूरतमंद लोगों और मददगार संगठन के बीच सेतु का काम कर रहा है। अगर मदद उच्च स्तर पर है तो प्रशासन के अधिकारियों तक भी आवाज पहुंचा रहा है। सोमवार को बहिनअमर उजाला की हेल्पलाइन में सुबह से फोन आते रहे। छात्रों ने खाना पहुंचाने को मदद मांगी तो श्रमिक वर्ग के लोगों ने घर पर राशन भिजवाने का आग्रह किया। इसके तुरंत बाद अमर उजाला से जरूरतमन्दों के क्षेत्र के नजदीकी संस्था से संपर्क साधा और उन तक मदद पहुंचाने को कहा। जल्द ही लोगों तक मदद पहुंचती रही। कुछ शिकायतें लोगों के भुगतान संबधी रही, जिसे पुलिस तक पहुंचाया गया। अगर आप भी कोरोना संक्रमण के खिलाफ जंग में जरूरतमन्द लोगों की मदद करना चाहते हैं या आपको कोई मदद की जरूरत है तो 8392922180 हेल्पलाइन पर सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक संपर्क कर सकते हैं। ये हैं मददगारों के नम्बर: आरएसएस महानगर - 9410770763 श्री टपकेश्वर महादेव सेवादल - 9412050175, 9412979059 उत्कर्ष फाउंडेशन - 7060497165 जैन बंधु - 9897433373 सर्राफा मंडल, दून उद्योग व्यापार मंडल - 9997799003, 9410334400, 8272882281, 9897889928 श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसायटी प्रेमनगर - 9808841313, 8218069599 युवती एम्पावरिंग - 6395372783 अपने सपने - 9411715345 आदित्य चौहान - 9837222849 रईस अहमद - 8126922588 शनि देव सेवा समिति - 9997333937 अनामिका जिंदल - 9358428060 सीमा जैन - 9897142770 विनीत कुमार गुप्ता - 800604099 आंचल सिंघल - 8279802208 डॉ. अमन दमीर - 9368334231 चंद्रमोहन बिजल्वाण - 8979131111 शाहनजर (आईएसबीटी, टर्नर रोड, कारगी, रायपुर) - 7983762283 दिनेश रावत (वसंत विहार, इंदिरा नगर, कांवली) - 8077030608 हेल्प मी वेलफेयर सोसायटी - 9411165488 सोनू फ्रांसिस - 7599441394 अमित जैन - 7017324391 संदीप जैन - 9897903840 अमित जैन - 7906511975 गोपाल सिंघल - 9897018681 स्वदेशी जागरण मंच उत्तरांचल - 7060121003 बिल्डिंग ड्रीम फाउंडेशन - 6399463996 ... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand: बुखार से किशोरी की मौत, परिजन समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को किया क्वारंटीन

कोरोना वायरस के खौफ के बीच हरिद्वार में बुखार से एक किशोरी की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने किशोरी के परिजनों समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के लिए कहा है।

जानकारी के अनुसार, ज्वालापुर में एक किशोरी पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी। उसे बुखार के साथ ही गले में भी कुछ समस्या बताई गई थी। रविवार शाम को तबीयत बिगड़ने पर पहले किशोरी को एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां से उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। वहीं इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

सोमवार की दोपहर बाद लड़की का अंतिम संस्कार किया गया। अंत्येष्टि में परिजनों के अलावा कई रिश्तेदार भी शामिल हुए। अंतिम संस्कार में शामिल हुए लोगों ने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। अधिकारियों ने तुरंत वहां पहुंचकर परिजनों से बात की और ब्लड सैंपल भी लिए गए।

इसके साथ ही जो रिश्तेदार अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे उनसे भी घरों में जाकर पूछताछ की। वहीं सभी को क्वारंटीन में रहने की सलाह दी। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि इस मामले में जांच पड़ताल की जा रही है। अस्पताल को भी नोटिस देकर जवाब तलब किया जाएगा कि समय से इस मामले में समुचित जानकारी विभाग को क्यों नहीं दी गई।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown: 68 हजार कर्मचारियों का चार-चार लाख रुपये का बीमा, मीडियाकर्मियों के लिए व्यवस्था जल्द

उत्तराखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण से बचाव कार्यों में फ्रंटलाइन पर कार्यरत 68 हजार कार्मिकों को चार-चार लाख रुपये का बीमा लाभ दिया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को इस प्रस्ताव को मंजूरी दी है। प्रदेश सरकार ने कोरोना वारियर्स को जीवन बीमा का लाभ देने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से व्यवस्था की है। एक वर्ष के जीवन बीमा के लिए 17 करोड़ रुपये की धनराशि जारी की गई है।

स्वास्थ्य विभाग के कार्मिकों का बीमा केंद्र सरकार के स्तर से किया जा चुका है। ऐेसे में प्रदेश सरकार ने 22523 पुलिस कर्मियों, 7988 अन्य सफाई कर्मियों, 14379 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, 4924 मिनी आंगनबाड़ी सहायिका, 464 सुपरवाइजर, 78 हजार डीपीओ, जीएमवीएन और केएमवीएन के तीन हजार कार्मिक, एसईओसी के पांच सौ कार्मिकों को बीमा कवर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने मीडिया कर्मियों के लिए अलग से व्यवस्था करने के निर्देश दिये हैं। जिसके आदेश जल्द जारी कर दिए जाएंगे।
 
... और पढ़ें

Lockdown: 112 वाहन जब्त, होम क्वारंटीन का उल्लंघन करने पर छह और शोभायात्रा निकालने पर 20 महिलाओं पर मुकदमा दर्ज

गृह मंत्रालय के आदेश के बाद पुलिस ने सोमवार से लॉक डाउन में सख्ती बढ़ा दी हैं। पुलिस ने बिना कारण के सड़क पर उतरे 112 वाहनों को जब्त कर थाने खड़ा कर लिया। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर पुलिस को लॉक डाउन का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए गए थे।

सोमवार को एसपी सिटी स्वीता चौबे, सीओ सिटी शेखर सुयाल, सीओ अनुज कुमार, विवेक कुमार और पल्लवी त्यागी ने अपने अपने इलाकों को बिना मतलब घूम रहे वाहन चालकों पर शिकंजा कस दिया।

पहले से ही चुपहिया वाहनों के संचालन पर रोक हैं। एसपी चौबे ने बताया कि पुलिस ने 190 वाहनों का चालान करने के साथ 112 वाहनों को सीज किया गया। शांति भंग में आठ लोगों की गिरफ्तारी के साथ 27 के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन में मुकदमा दर्ज किया गया हैं।
... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand: बुखार के बाद युवक को अस्पताल में किया क्वारंटीन, सऊदी अरब से लौटा था दस दिन पहले

Uttarakhand Weather: फिर बदलेगा मौसम, कई इलाकों में तीन दिन भारी बारिश और बर्फबारी का अलर्ट

उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में आज से अगले तीन दिन बारिश और बर्फबारी हो सकती है। निचले इलाकों में जहां गरज और चमक के साथ बारिश होने का अनुमान है। वहीं, अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी भी हो सकती है।

मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में आज बादल छाये रहने का अनुमान है। कुछ पहाड़ी जिलों में गरज और चमक के साथ तेज बारिश भी हो सकती है। वहीं चार हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिरने का भी अनुमान जताया गया है। मौसम विभाग ने कुछ पहाड़ी क्षेत्रों में तेज ओलावृष्टि और आकाशीय बिजली गिरने का अनुमान भी जताया है।

मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले तीन दिन इसी तरह का मौसम बना रहेगा। इस दौरान ज्यादातर क्षेत्रों में बादल छाए रहेंगे और कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी होगी। उन्होंने बताया कि तीन अप्रैल के बाद मौसम में बदलाव होगा।
... और पढ़ें

Coronavirus: कोरोना को हराने के लिए अपनाया सलमान की 'जय हो' का तरीका, ऐसे कर रहे लोगों को जागरुक

Uttarakhand Lockdown : झूला पुल बंद होने पर चार नेपाली युवकों ने नदी में लगाई छलांग, तीन तैरकर पहुंचे नेपाल, एक लौटा

धारचूला में अंतरराष्ट्रीय झूला पुल बंद होने से नेपाली नागरिकों का सब्र टूट गया। चार युवक नेपाल जाने के लिए काली नदी में कूद गए। इनमें से तीन नेपाली तैरकर नेपाल पहुंच गए, जबकि एक नेपाल पुलिस के डर से लौट आया। तैरकर नेपाल पहुंचे तीनों नागरिकों को नेपाल पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया है।

कोरोना के कारण भारत के विभिन्न शहरों में काम करने वाले नेपाली लोग अपने वतन लौट रहे हैं। नेपाल में भी लॉकडाउन होने के कारण झूला पुल के गेट नहीं खोले जा रहे हैं। पिछले दो दिन से सैकड़ों नेपाली धारचूला के झूलापुल के पास जमा हैं। सोमवार को इनकी संख्या लगभग 800 पहुंच गई। दिन में भीड़ में शामिल चार युवकों ने तैरकर नेपाल जाने के लिए काली नदी में छलांग लगा दी। इनमें से तीन नेपाली सुरक्षित नेपाल पहुंच गए, जबकि एक युवक तैर नहीं सका और वापस आ गया। तैरकर नेपाल पहुंचे तीनों युवकों को नेपाल पुलिस ने हिरासत में ले लिया और जांच के लिए अपने साथ ले गई।
 
नेपाली नागरिकों में नेपाल सरकार के खिलाफ गुस्सा दिखा। भीड़ में शामिल कई लोगों ने नेपाल की ओर पत्थर भी उछाले। एक युवक राजेंद्र सिंह ने कहा कि वह चार दिन से फंसा है। नेपाल सरकार को शीघ्र गेट खोलने चाहिए। कई महिलाएं भी शामिल हैं। ओखलढुंगा से 50 किमी पैदल चलकर धारचूला पहुंची गीता और पार्वती ने बताया रविवार रात उन्होंने किसी के घर में शरण ली।

इधर, नेपाल में लॉकडाउन के कारण गेट खुलने की कोई उम्मीद नहीं है। भीड़ से भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हैं। पुलिस और एसएसबी नेपाली लोगों की भीड़ की गतिविधियों पर नजर रखे हैं। प्रशासन ने व्यापार संघ सहित अन्य संगठनों की मदद से फंसे हुए नेपालियों के लिए भोजन की व्यवस्था की। रं म्यूजियम पहाड़ी जायका और नपल्च्यू महिला समूह की महिलाओं ने नेपाली नागरिकों के लिए राशन की व्यवस्था की। इनमें उर्मिता सनवाल, शीला ह्यांकी, लक्ष्मी नपलच्याल, गंगू, निहारिका गर्ब्याल, मोती आदि महिलाएं शामिल थीं।

नेपाल में भी लॉकडाउन चल रहा है। वहां के प्रशासन से बातचीत की जा रही है। यदि नेपाल की ओर से गेट नहीं खोला गया तो जो नेपाली यहां फंसे हैं, उनके रहने और खाने की यहीं व्यवस्था की जाएगी। अभी भी सभी फंसे नेपालियों को भोजन कराया जा रहा है।
- डॉ.विजय कुमार, डीएम पिथौरागढ़।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown: पारस के बाद अब परम ने भी घटाए दूध के दाम, पनीर के साथ दही फ्री

लॉकडाउन के चलते खपत कम होने और लोगों की परेशानियों को देखते हुए पारस दूध कंपनी के बाद अब परम दूध कंपनी ने भी दूध के दाम कम किए हैं। कंपनी ने अपनी प्रत्येक वैरायटी में चार रुपये की कमी की है। इसके अलावा 200 ग्राम पनीर खरीदने पर कंपनी की ओर से 10 रुपये का दही फ्री दिया जाएगा।

देहरादून में परम दूध कंपनी के रीजिनल सेल्स मैनेजर अजय शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से गढ़वाल और दून में दूध की डिमांड में कमी आई है। कंपनी गढ़वाल में प्रतिदिन 36000 लीटर दूध की सप्लाई करती है। दून में परम दूध की खपत 12000 लीटर प्रतिदिन है। अब दूध की खपत कम हुई है। ऐसे में कंपनी की ओर से प्रत्येक वैरायटी में चार रुपये तक की कमी की गई है।
... और पढ़ें

#Ladengecoronase: बाबा रामदेव ने केंद्र सरकार को दिए 25 करोड़ रुपए, पूर्व फौजी समेत कई दिग्गजों ने भी बढ़ाया मदद का हाथ

स्वामी रामदेव ने पतंजलि योगपीठ की ओर से केंद्र सरकार को कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए 25 करोड़ रुपए दिए हैं। शाम को प्रेस कांफ्रेंस कर वह इस बारे में विस्तार से बताएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो क्रांफ्रेंसिंग से की डॉ. पण्ड्या से की बात 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज दोपहर में वीडियो क्रांफ्रेंसिंग से गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या से चर्चा की। करीब दस मिनट चली इस चर्चा के दौरान डॉ. पण्ड्या ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हरसंभव सहयोग करने का अपना वादा दोहराया।

प्रधानमंत्री मोदी ने डॉ. पण्ड्या से आग्रह करते हुए कहा कि एक वैज्ञानिक होने के नाते वह इस बीमारी से बचने के लिए वैज्ञानिक तरीके से जनमानस को अवगत कराये। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या ने अपने मनोचिकित्सा एवं आध्यात्मिक चिकित्सा के प्रयोगों पर द्वारा लोगों के मन में संचारित उत्साह की जानकारी भी दी।
... और पढ़ें

Lockdown in Uttarakhand: आखिरी बार पत्नी से बात तक न कर पाया बुजुर्ग पति, मौत के बाद पुलिस ने दी घर जाने की अनुमति

लॉकडाउन के आगे बेबस बुजुर्ग पति करीब 90 किलोमीटर दूर अपनी बीमार पत्नी से आखिरी बार बात नहीं कर सका। सोमवार दोपहर पत्नी की मौत के बाद एसडीएम से अनुमति मिलने पर बुजुर्ग को परिवार के साथ रानीखेत जाने दिया गया। व्यक्ति की आंखें हमसफर का साथ छूटने का दर्द बयां कर रही थीं। देर शाम परिवार गांव पहुंच गया।

ग्राम गेरा पोस्ट ऑफिस शिशवा रिची रानीखेत जिला अल्मोड़ा निवासी देवीदत्त बुधानी (85) दस दिन पहले ही अपने पोते शेखर बुधानी के पास मोहाली पंजाब गए थे। देवीदत्तमोहाली तो पहुंच गए, लेकिन दो दिन बाद ही 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और फिर पूरे देश में लॉकडाउन हो गया।

शेखर बुधानी ने बताया कि 28 मार्च को गांव से फोन आया कि 82 वर्षीय दादी देवकी देवी की तबीयत काफी खराब हो गई है। बताया गया कि दादी अंतिम सांसे गिन रहीं हैं। सूचना पर दादा भावुक हो गए और घर जाने को कहने लगे। उसके बाद परिवार सहित सभी मोहाली से गांव के लिए कार में निकले गए। 29 मार्च की रात करीब 11 बजे पीरूमदारा क्षेत्र के हल्दुआ बैरियर में पहुंचे तो पुलिस ने रोक दिया।

पुलिस ने सभी की मौके पर ही डॉक्टरों से जांच कराई और हल्दुआ बैरियर पर ही एक कमरे में सभी को रखा गया। शेखर ने बताया कि उनके साथ पत्नी कविता बुधानी, भाई नवीन बुधानी, बेटी रीता, कोमल, खुशी और बेटा रूमाल बुधानी भी थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us