विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

बाल दिवस: उम्र का बंधन तोड़ छुआ बुलंदी का आसमान, अपने दम पर देश-दुनिया में बनाई अलग पहचान

उम्र बेशक कम हो, लेकिन दून के कई होनहार राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी मेधा की चमक बिखेर रहे हैं।

14 नवंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

देहरादून

शुक्रवार, 15 नवंबर 2019

उत्तराखंड: पूर्व मुख्यमंत्री खंडूड़ी को छोड़कर किसी ने नहीं किया बिजली बिल का बकाया भुगतान

फाइनेंस कर्मचारी ने ही खुद कराई थी कंपनी में लाखों की लूट, खुद की आंखों में डलवाई थी मिर्ची

देहरादून के हरबर्टपुर में फाइनेंस कर्मचारी साबिर से हुई दो लाख रुपये की लूट की पोल चंद घंटों में ही खोलकर रख दी। लूट की साजिश खुद साबिर ने ही रची थी और इसमें उसके दो और साथी शामिल थे। पुलिस ने साबिर और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर पूरा कैश बरामद कर लिया है। आरोपियों में एक नाबालिग है। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने बृहस्पतिवार को इस संबंध में मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हरबर्टपुर स्थित इंफ्रो माइक्रो क्रेडिट कॉआपरेटिव सोसायटी के क्षेत्रीय प्रबंधक नवीन शर्मा ने पुलिस को सूचना दी थी कि कंपनी के एजेंट साबिर अली निवासी कुतुब माजरा बडगांव की आंखों में धूल झोंककर बाइक सवार बदमाशों ने दो लाख रुपये लूट लिए हैं।

साबिर आफिस से नगदी लेकर आदूवाला और धर्मावाला की चार महिलाओं को भुगतान करने निकला था। एसएसपी ने बताया कि मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रमेन्द्र डोभाल के निर्देशन में चार टीमें बनाई गई थीं।
... और पढ़ें

अमर उजाला की खबर का असर, वार्डन के छात्रा से अभद्रता पर राज्यपाल ने दिए जांच के आदेश

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने जीबी पंत कृषि विवि में वार्डन द्वारा हॉस्टल की छात्रा को घर पर खाना बनाने के लिए बुलाने के प्रकरण में कुलपति को जांच के आदेश दिए हैं।

राज्यपाल ने ‘अमर उजाला’ में प्रकाशित खबर का संज्ञान लेते हुए कुलपति को फोन पर मामले की जांच कर कड़ी कार्रवाई करने और राजभवन को रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं।

हॉस्टल वार्डन की करतूत : 'पत्नी घर पर नहीं है, खाना कौन बनाएगा, तुम आ जाओ'

पंतनगर कृषि विवि में एक माह पहले कुछ छात्राओं ने कुलपति से मुलाकात कर हॉस्टल के वार्डन पर गंभीर आरोप लगाए थे। एक छात्रा का आरोप था कि वार्डन ने देर रात उसे फोन कर कहा कि ‘पत्नी घर पर नहीं है, खाना कौन बनाएगा, तुम आ जाओ’।

अन्य छात्राओं ने भी कई तरह की शिकायतें की। इस मामले में शिकायत के बावजूद विवि प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की। यह प्रकरण बृहस्पतिवार को ‘अमर उजाला’ में प्रकाशित होने के बाद राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के संज्ञान में आया।

पंतनगर विवि में रैगिंग के नाम पर जूनियर छात्रों के कपड़े उतरवाकर कराई परेड, मामला दबाने का आरोप

राज्यपाल ने मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए कुलपति को निर्देश दिए कि पूरे प्रकरण की जांच कर राजभवन को रिपोर्ट सौंपी जाए। उन्होंने कहा कि जांच में दोषी मिलने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

उन्होंने कुलपति से सभी गर्ल्स हॉस्टलों में प्रबंधन को लेकर एक रिपोर्ट भी तलब की है। राज्यपाल ने विवि की छात्राओं को हर प्रकार से सुरक्षित माहौल देने के निर्देश दिए हैं।
... और पढ़ें

आधी रात को बाइक पर हवा से बाते कर रहे थे युवक, हुआ हादसा, तीन की मौत, तीन घायल

उत्तराखंडः किसानों ने जैविक कृषि एक्ट को बताया जल्दबाजी, कहा - पहले बाजार दो

जैविक खेती न सिर्फ किसानों की आर्थिकी के लिए बल्कि देश के स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर है। लेकिन, यह सब तब होगा जब किसानों के पास बाजार हो। उसे सरकार की ओर से मार्गदर्शन दिया जाए। यह कहना है भारतीय किसान संघ से जुड़े पदाधिकारियों और किसानों का। 

किसानों का कहना है कि जैविक खेती तो ठीक है, लेकिन यदि एकदम से रासायनिक खाद बंद हो जाते हैं तो शुरूआत के दो साल बेहद ही कम पैदावार होती है। ऐसी स्थिति में किसान के सामने रोजी रोटी का भी संकट आ जाएगा। ऐसी दशा में सरकार को चाहिए कि वह इस निर्धारित समय में किसानों को कोई मदद करे। किसानों के अनुसार जैविक उत्पाद बेचने के लिए कोई निर्धारित बाजार नहीं है। यदि सरकार बाजार उपलब्ध कराए तो किसान इसे अपनाएंगे।

जबकि, अभी तक जो भी किसान जैविक खेती कर रहे हैं उन्हें खुद से ही मार्केटिंग कर अपने उत्पाद बेचने पड़ रहे हैं। इसके साथ ही किसानों का कहना है कि जो वर्तमान में बाजारों में जैविक खाद कहकर बेचे जा रहे हैं उन पर विश्वास नहीं किया जा सकता है कि वे असली हैं या नकली। दरअसल, प्रदेश में 10 ब्लॉकों को जैविक खेती के लिए चुना गया है, जिनमें रासायनिक खाद के प्रयोग पर प्रतिबंध और उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान किया गया है। 

सभी को साथ आना होगा। तभी देश की कृषि की हालत सुधर सकती है। जैविक खेती देश की आर्थिकी और जनता के स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। लेकिन, इससे पहले चाहिए कि किसानों को मार्केट मिले।
-डीएन मिश्रा, प्रदेश संरक्षक भारतीय किसान संघ 

जैविक खेती को बढ़ावा कानून से नहीं बल्कि समझ से मिलेगा। ऐसे में सरकार, जनता और किसानों को यह समझना होगा कि हम सिर्फ जैविक खेती को ही बढ़ावा दें। सबसे पहले किसानों के लिए एक निश्चित मार्केट की व्यवस्था होनी चाहिए।
-भगवान सिंह, किसान खाराखेत 

किसान खुद ही सबसे बड़ा वैज्ञानिक है। उसे पता है कि क्या इस्तेमाल करे और क्या नहीं। यह कानून से नहीं बल्कि उत्पाद के अच्छे दाम देने से होगा। सबसे पहले चाहिए कि किसान को प्रशिक्षित किया जाए और उसके बाद बाजार तैयार किया जाए। तब किसी कानून को लागू किया जाना चाहिए।
- सतपाल राणा, किसान व भारतीय किसान संघ के प्रचारक 
... और पढ़ें

उत्तराखंडः देहरादून पहुंचे जेपी नड्डा हुआ भव्य स्वागत, नई टीम की संभावनाएं टटोलेंगे

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा अपने एक दिवसीय दौरे में आज सुबह देहरादून पहुंच चुके हैं। अपने इस दौरे में वह प्रदेश संगठन की नई टीम की संभावनाएं टटोल सकते हैं।

जेपी नड्डा जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंचे। यहां पर उनकी अगवानी राज्य के प्रोटोकॉल मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, प्रदेश संगठन मंत्री नरेश बंसल ने की। इसके बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी एयरपोर्ट पहुंचे और उनका स्वागत किया। रिस्पना पुल पर नड्डा का भव्य स्वागत हुआ। नड्डा के साथ भाजपा महामंत्री संगठन शिव प्रकाश भी देहरादून पहुंचे हैं। 

अभी तक तय कार्यक्रम के अनुसार, वे प्रदेश संगठन के प्रमुख नेताओं के साथ बैठकें करेंगे, जिनमें वे सांगठनिक चुनावों की रिपोर्ट ले सकते हैं। प्रदेश महामंत्री संगठन के पद पर पार्टी अजय कुमार की तैनाती कर चुकी है।

अब पार्टी को प्रदेश अध्यक्ष के पद पर निर्णय लेना है। पार्टी के भीतर एक तबका सांसद अजय भट्ट को ही प्रदेश अध्यक्ष पद पर काबिज रखने के पक्ष में है, लेकिन बड़ा वर्ग यही मान रहा है कि संगठन की कमान नए चेहरे को सौंपी जाएगी। वे चेहरे कौन हो सकते हैं, इस बारे में संगठन का प्रांतीय नेतृत्व नड्डा को फीडबैक दे सकता है। 

टटोले जा रहे हैं सियासी निहितार्थ

सियासी हलकों में ये प्रश्न भी तैर रहा है कि नड्डा का अनायास उत्तराखंड दौरे के निहितार्थ क्या हैं? संगठन से जुड़े सूत्रों की मानें तो दिसंबर तक केंद्र में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का फैसला हो जाना है। इससे पहले प्रदेश में भी ब्लाक, जिला व प्रदेश इकाइयों का गठन हो जाना है। नवंबर आखिर तक पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष की ताजपोशी हो जाएगी। माना जा रहा है कि नड्डा अलग-अलग प्रदेशों में जाकर संगठनों की नब्ज टटोल रहे हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंडः कॉर्बेट पार्क का ढिकाला जोन और राजाजी पार्क की चीला रेंज पर्यटकों के लिए खुली

कॉर्बेट नेशनल पार्क का ढिकाला जोन और राजाजी पार्क की चिला रेंज आज से देश-विदेश के पर्यटकों के भ्रमण के लिए खुल गए हैं। इसके लिए कॉर्बेट प्रशासन की ओर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसके साथ ही ढिकाला जोन में हमलावर बाघ को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। जोन में पर्यटकों की सुरक्षा को वन कर्मी मुस्तैद रहेंगे।

मानसून सत्र को देखते हुए कॉर्बेट पार्क का ढिकाला जोन हर वर्ष बरसात के मौसम में 15 जून को बंद कर दिया जाता है। इसके साथ ही बिजरानी, दुर्गादेवी, ढेला और झिरना में भी रात में ठहरने की व्यवस्था पर रोक लगा दी जाती है, जबकि ढेला और झिरना जोन डे-विजिट के लिए पूरे साल खुले रहते हैं। हर साल की तरह इस बार भी 15 नवंबर को ढिकाला जोन रात्रि विश्राम के लिए खोल दिया गया है।
... और पढ़ें

हरीश रावत को रात को सपना होता, सुबह वो धरने पर बैठ जाते हैं: सीएम त्रिवेंद्र

देहरादूनः हर्रावाला स्टेशन पर खुला करंट बुकिंग काउंटर, ये है टाइमिंग

हर्रावाला रेलवे स्टेशन पर करंट बुकिंग का काउंटर खुल गया है। यह काउंटर सुबह 11 से रात 11 बजे तक खुला रहेगा। दून स्टेशन पर यार्ड रीमॉडलिंग कार्य के चलते तीन महीने के लिए ट्रेनों का संचालन बंद रखा गया है। इस दौरान 45 दिन तक नंदा देवी एक्सप्रेस और शताब्दी एक्सप्रेस का संचालन हर्रावाला स्टेशन से होगा।

इसे देखते हुए हर्रावाला में रिजर्वेशन काउंटर के बाद अब करंट बुकिंग का काउंटर भी खुल गया है। दरअसल, यात्री चार्ट बनने तक ट्रेन में खाली सीटों के लिए करंट बुकिंग की सुविधा रहती है। स्टेशन निदेशक गणेश चंद ने बताया कि हर्रावाला स्टेशन पर यह सुविधा बृहस्पतिवार से शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

ग्रेजुएशन पास युवाओं के लिए स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग का सुनहरा मौका, मिलेगी 50-60 हजार की फेलोशिप

स्नातक कर चुके उत्तराखंड के युवाओं के पास कौशल विकास में सुनहरा मौका है। आईआईएम बंगलुरु के माध्यम से दो वर्ष का प्रशिक्षण करने पर 50 से 60 हजार रुपये प्रति माह फेलोशिप दी जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान जिला स्तर पर रोजगार और आर्थिकी बढ़ाने के लिए शोध कर रिपोर्ट तैयार करनी होगी। 21 से 30 वर्ष की आयु के युवा 19 नवंबर तक इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

जिला स्तर पर कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय और आईआईएम बंगलुरु के माध्यम से महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप योजना शुरू की गई है। इस योजना के लिए किसी भी विषय से स्नातक कर चुके युवा आवेदन कर सकते हैं।

लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के बाद युवाओं का चयन किया जाएगा। उत्तराखंड के सभी 13 जिलों को शामिल किया गया। प्रशिक्षण के लिए चयनित युवा जिले में जिलाधिकारी के अधीन फील्ड स्तर पर रोजगार, आर्थिकी को बढ़ाने और समस्याओं पर रिपोर्ट तैयार करेंगे। पहले वर्ष में केंद्र की ओर से 50 हजार रुपये प्रति माह और दूसरे वर्ष में 60 हजार रुपये प्रति माह की फेलोशिप दी जाएगी। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: ऊर्जा निगमों के हजारों कर्मचारियों और पेंशनरों को लगेगा झटका, अब नहीं मिलेगी ये सुविधा

यूपीसीएल, यूजेवीएनएल और पिटकुल के उन हजारों कर्मचारियों और पेंशनरों को जोर का झटका लग सकता है, जिन्हें सस्ती दरों पर असीमित बिजली की खपत की सुविधा दी जा रही है। हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान यूपीसीएल ने शपथपत्र पेश कर कहा कि तीनों निगमों में दी जा रही बिजली को सीमित किया जा रहा है और अब सस्ती बिजली नहीं दी जाएगी। 

राज्य के ऊर्जा निगमों के अधिकारी और कर्मचारियों को सस्ती बिजली देने और आम जनता के लिए बिजली की दरों को बढ़ाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर बृहस्पतिवार को मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन एवं न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ के समक्ष सुनवाई हुई।

देहरादून के आरटीआई क्लब की इस जनहित याचिका पर कोर्ट ने सचिव ऊर्जा, पिटकुल और तीनों निगमों को आदेश दिए कि वे अफसर-कर्मी और पेंशनरों को दी जा रही बिजली का संपूर्ण ब्योरा 25 नवंबर तक पेश करें। याचिकाकर्ता के वकील बीपी नौटियाल के मुताबिक, यूपीसीएल ने कोर्ट में कहा है कि 18 नवंबर को निदेशक मंडल की बैठक में असीमित बिजली खपत की सुुविधा को सीमित करने के संबंध में फैसला ले लिया जाएगा।
... और पढ़ें

राज बब्बर के आदर्श गांव की बदहाली: शौचालय तो दूर, सिर ढकने को छत तक नहीं

राज्यसभा सदस्य राज बब्बर के सांसद प्रतिनिधि मोहन नेगी ने बृहस्पतिवार को प्रदेश में सांसद आदर्श गांवों की बदहाली का खुलासा किया। नेगी के मुताबिक कागजों में भले ही दावा रहा हो, लेकिन हकीकत यह है कि गैरसैंण में सांसद आदर्श गांव लामबगड़ में दो साल से कोई अधिकारी झांकने तक नहीं आया।

सचिवालय में मीडिया से मुखातिब मोहन नेगी ने कहा कि गांव में मानसिंह और बिछली देवी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो साल पहले प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवेदन किया था, लेकिन आज तक उनका आवेदन स्वीकृत नहीं हुआ। 18 दिसंबर 2014 को पूर्व राज्य सभा सदस्य मनोरमा डोबरियाल शर्मा ने यह गांव गोद लिया था।

मनोरमा शर्मा का निधन हुआ तो प्रदेश से राज्यसभा सदस्य बने राजबब्बर ने यह गांव 2015 में गोद ले लिया। 224 परिवारों के इस गांव में बिजली तो जरूर घर-घर पहुंची, लेकिन बाकी सारे काम अधूरे पड़े हैं। शौचालयों की मांग की गई थी, जो अब तक पूरी नहीं हुई।

उन्होंने पूरे मामले की शिकायत राज्य के मुख्य सचिव से लेकर पीएमओ तक से की है। वहीं, बृहस्पतिवार को सचिवालय में हुई बैठक में उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के सामने भी सारी बातें रखीं।
... और पढ़ें

राष्ट्रीय खेलों के लिए मास्टर प्लान तैयार, ओलंपिक संघ को भेजा 

उत्तराखंड में 38 वें राष्ट्रीय खेलों के लिए मास्टर प्लान तैयार कर भारतीय ओलंपिक संघ को भेज दिया है। खेल मंत्री अरविंद पांडेय की अध्यक्षता में सचिवालय में हुई बैठक में यह जानकारी दी गई।

खेल सचिव ब्रिजेश संत ने सभी आयोजन स्थलों के लिए प्रबंधक तैनात कर दिए हैं। साथ ही वित्तीय मदद के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से एक पत्र केंद्र सरकार को भेजा है। खेल मंत्री ने राष्ट्रीय खेलों के सफल आयोजन के लिए मिशन मोड पर काम करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सचिव खेल को निर्देश दिए कि केंद्रीय वित्त मंत्री से मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात करवाने का समय लिया जाए। उन्होंने कहा कि भारतीय ओलंपिक संघ के प्रतिनिधिमंडल को उत्तराखंड आमंत्रित किया जाए, जिससे उनका अधिक से अधिक सहयोग लिया जाए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election