विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली

शुक्रवार, 18 अक्टूबर 2019

आगराः विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ अध्यक्ष निलंबित, ये है बड़ा कारण

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अखिलेश चौधरी को निलंबित कर दिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इन पर दिल्ली में आपराधिक मामला दर्ज होने पर यह कार्रवाई की है। 

दिल्ली में आपराधिक मामला दर्ज होने पर पुलिस की हिरासत में हैं। कुलसचिव केएन सिंह ने बताया कि आपराधिक मामले में गिरफ्तारी होने पर कर्मचारी अध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। इनको स्पष्टीकरण भी आवास के पते पर जारी किया गया है। 

बच्चों को नहीं मिले जूते, उपलों में बना दिया एमडीएम
राज्य खाद्य आयोग के सदस्य ने फतेहपुर सीकरी के दो गांवों के प्राथमिक विद्यालयों का निरीक्षण किया। इनमें एक में बच्चों को जूते नहीं बांटे, तो दूसरे में उपलों पर मिड-डे-मील बनता मिला। बीएसए को कड़ी फटकार लगाते हुए रिपोर्ट तलब की।
 
... और पढ़ें

दिल्ली में अब 10 घंटे की पार्किंग के लिए लग सकते हैं 1000 रुपये, नई पार्किंग योजना में मिले संकेत

सरकार और नागरिक अधिकारियों की एक समिति ने एक नया फार्मूला पेश क्या है और अगर इसकी सिफारिशों को मान लिया जाएगा तो दिल्ली में कनॉट प्लेस (सीपी) जैसे लोकप्रिय इलाकों में कार पार्किंग के लिए 10 घंटे के लिए करीब 1000 रुपये हो सकती है।

यह योजना ऐसे समय में आई है जब प्रदूषण नियंत्रण में अपना योगदान देने के लिए निजी वाहन के इस्तेमाल को रोकने का आह्वान किया जा रहा है। दिल्ली में बुधवार को प्रदूषण 'बहुत खराब' श्रेणी में प्रवेश कर चुका है। राष्ट्रीय राजधानी में 33 लाख चार-पहिया और 73 लाख दोपहिया वाहन हैं। हर दिन लगभग 500 नई कारें दिल्ली की सड़कों पर उतरती हैं। 

पेश किए गए फार्मूले के तहत ऐसे "गुणक" शामिल किए गए हैं जिनका लक्ष्य सड़क पर पार्किंग को हतोत्साहित करना है, खासकर उन क्षेत्रों में जो भीड़भाड़ वाले हैं, और जहां लंबे समय तक गाड़ी पार्क की जाती है। 

शहर के परिवहन आयुक्त की अध्यक्षता में बेस पार्किंग फीस (बीपीएफ) समिति ने सुझाव दिया है कि चार पहिया वाहनों के लिए बेस फीस 10 रुपये प्रति घंटे और दोपहिया वाहनों के लिए 5 रुपये प्रति घंटा होना चाहिए। हालांकि प्रस्तावित न्यूनतम किराया दो श्रेणियों के लिए मौजूदा शुल्क 20 रुपये और 10 रुपये प्रति घंटे से कम हो सकता है। चार नागरिक एजेंसियों के अधिकारियों और सरकार ने कहा कि बेस फीस चार मापदंडों के आधार पर कारकों से गुणा किया जाएगा: पार्किंग स्थल, अवधि, स्थान और दिन का समय। 

कनॉट प्लेस, लाजपत नगर और करोल बाग जैसे इलाके, जहां भारी यातायात दर्ज होता है, उनकी सबसे महंगे वर्ग में शामिल होने की संभावना है।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत की अध्यक्षता वाली शीर्ष निगरानी समिति को रिपोर्ट सौंपी गई है, जिसे दिल्ली रखरखाव और प्रबंधन के लिए पार्किंग स्थल नियम, 2019 के तहत मंजूरी देने के लिए अधिकृत किया गया है। इस नियम के बारे में 25 सितंबर को एक अधिसूचना जारी की गई थी। 

गहलोत ने कहा, "शीर्ष समिति की पहली बैठक की कोई तारीख अभी तक निर्धारित नहीं की गई है। लेकिन, हम जल्द ही सिफारिशों की समीक्षा करेंगे।" 
... और पढ़ें

दिल्ली की हवा हुई बेहद खराब

नई दिल्ली। इस सीजन में पहली बार दिल्ली की हवा बेहद खराब रही। बुधवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 के आंकड़े को पार कर गया। पूरी दिल्ली में दिन भर स्मॉग छाया रहा। इससे लोगों ने आंखों में जलन महसूस की। साथ ही सांस लेने में भी दिक्कत रही। सफर का पूर्वानुमान है कि मौसम में बड़ा फेरबदल नहीं होने पर आने वाले दिनों में राजधानी के वायु प्रदूषण स्तर में और बढ़ोतरी दर्ज की जाएगी।
दिल्ली की आबोहवा पर नजर रखने वाली सरकारी एजेंसियों का कहना है कि मंगलवार देर रात से यह आंकड़ा 290 से ऊपर चल रहा था। बुधवार दोपहर तीन बजे यह 301 तक पहुंच गया। वहीं, बीते 24 घंटों का औसत 304 तक रहा। खास बात यह कि दिल्ली के 34 मॉनिटरिंग स्टेशन वाले इलाकों में से अधिकतर में सूचकांक 320 के आसपास रहा। सबसे ज्यादा खराब हवा द्वारका की रही। यहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 355 के पार रहा। सफर का आकलन है कि बुधवार को हवा की खराबी का सबसे नुकसानदेह हिस्सा धूल के महीन कणों पीएम 2.5 का रहा। इसकी बड़ी वजह सतह पर चलने वाली हवा की चाल का धीमा होना है। इससे प्रदूषक दिल्ली के वातावरण में ठहर गए हैं। इनका फैलाव दूर तक नहीं हो पा रहा है।
प्रदूषण में पराली के धुएं का हिस्सा पांच फीसदी
सफर का कहना है कि स्थानीय मौसम में बदलाव आने से हवा बेहद खराब हुई है। इसमें ज्यादा प्रभाव बाहरी से ज्यादा घरेलू प्रदूषकों का है। बीते 48 घंटों में हरियाणा, पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत बॉर्डर इलाके में पराली जलाने की घटनाएं ज्यादा दिख रही हैं। फिर भी, हवा की गति धीमी होने से इससे होने वाला प्रदूषण बड़ी मात्रा में दिल्ली नहीं पहुंचा है। बुधवार को सिर्फ पांच फीसदी हिस्सा पराली के धुएं का है। वहीं, पूर्वानुमान है कि बृहस्पतिवार व शुक्रवार को यह आंकड़ा पांच से आठ फीसदी तक रहने का अंदेशा है।
दिल्ली के अलग-अलग इलाकों को प्रदूषण सूचकांक
(पूरी दिल्ली का शाम 6 बजे औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक: 311)
द्वारका सेक्टर- 8: 358
बवाना: 354
मुंडका: 350
आनंद विहार: 343
नरेला: 339
वजीरपुर: 339
विवेक विहार: 338
सीरी फोर्ट: 333
अशोक विहार: 332
रोहिणी: 332
डीटीयू: 331
जनकपुरी: 330
नेहरू नगर: 326
आया नगर: 320
बुराड़ी: 318
पंजाबी बाग: 318
ओखला: 316
जेएनयू: 315
बुधवार को हवा पर असर डालने वाले कारक:
अच्छा असर
दिल्ली की धूल।
बाहर से आने वाली धूल।
हवा की दिशा।
वातावरण में नमी।
मिक्सिंग हाइट।
स्थानीय तापमान।
बुरा असर
बारिश न होना।
सतह पर चलने वाली धीमी हवा।
पराली का धुआं
... और पढ़ें

करवाचौथ पर गिफ्ट लेने गया पति, पत्नी करती रह गई इंतजार, घर आई मौत की खबर

करवा चौथ के दिन पति की हुई मौत करवा चौथ के दिन पति की हुई मौत

पूर्व क्रिकेटर मनोज प्रभाकर और उनकी पत्नी समेत पांच के खिलाफ ठगी और जालसाजी का मामला दर्ज

पूर्व क्रिकेटर मनोज प्रभाकर, उनकी पत्नी, बेटा व दो अन्य सहयोगियों के खिलाफ मालवीय नगर थाने में एनआरआई महिला की शिकायत पर जालसाजी, ठगी व आपराधिक षड्यंत्र रचने का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

दक्षिण जिला डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि लंदन में रहने वाली संध्या शर्मा पंडित ने शिकायत दी कि मालवीय नगर स्थित सर्वप्रिय विहार में दूसरी मंजिल पर उनका फ्लैट है। पहली मंजिल पर पूर्व क्रिकेटर अपने परिवार के साथ रहते हैं। 

आरोप है कि फर्जी कागजात बनवाकर उनके फ्लैट का ताला तोड़ा गया और पूरा सामान चोरी कर लिया गया। अभी प्रभाकर के दोस्त वहां अवैध रूप से रह रहे हैं। महिला ने जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है।

डीसीपी ने बताया कि पूर्व क्रिकेटर के एक सहयोगी का नाम संजीव गोयल है। पीड़िता ने पहले इसकी शिकायत दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक को दी थी। इसके बाद शिकायत को दक्षिण जिला पुलिस को भेजा गया था। 

महिला का कहना है कि उसके पति लक्ष्मी चंद पंडित ने 1995 में बिल्डर से फ्लैट खरीदा था। 2006 में वे लोग लंदन चले गए। तब से 2018 तक उनके रिश्तेदार वहां रहते थे। अभी फ्लैट में ताला लगा था। पड़ोसियों ने उन्हें सूचना दी कि कोई उनके फ्लैट में रह रहा है। 

इसके बाद सितंबर में वह दिल्ली आईं तब आरोपियों ने उसे अपने ही घर में घुसने नहीं दिया। प्रारंभिक जांच में पता चला कि मनोज गोयल नामक एक प्रॉपर्टी डीलर ने फर्जी कागजात बनाने में प्रभाकर की मदद की।
... और पढ़ें

विशेषज्ञों का दावा, पराली नहीं स्थानीय प्रदूषकों ने बिगाड़ी दिल्ली की हवा

हरियाणा-पंजाब में पराली के धुएं से गरमाई दिल्ली की सियासत के बीच विशेषज्ञ एजेसियों का दावा है कि दिल्ली की हवा स्थानीय प्रदूषकों की वजह से खराब हो रही है। हवा की दिशा उत्तर प्रदेश की तरफ से होने से हरियाणा व पंजाब से उठ रहा पराली का धुआं दिल्ली नहीं पहुंच रहा है। 

हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में बाहरी कारक प्रभावी होंगे। 19 अक्तूबर तक पराली के धुएं से हवा में प्रदूषण का हिस्सा 18 फीसदी तक पहुंचने का अंदेशा है।

दिलचस्प यह कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आंकड़े पर सवाल उठाने के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने अपना फॉर्मूला भी जारी कर दिया है। इसे वैश्विक मॉडल पर तैयार किया गया है। इसमें पराली के धुएं के उत्सर्जन से होने वाले प्रदूषण को निकाला जाता है, जबकि दिल्ली के प्रदूषण के स्थानीय स्रोत भी पता किए जाते हैं। 

प्रदूषण का बैक ग्राउंड पता करने के लिए केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने 2018 में एक स्टडी कराई थी। इसके आधार पर पता चलता है दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं का हिस्सा दिन-प्रतिदिन बदलता रहा है। इसमें अहम भूमिका हवा की दिशा और उसकी रफ्तार होती है। 

सफर का कहना है कि इस वक्त हवा की गुणवत्ता खराब होने की बड़ी वजह मौसमी बदलाव है। दिल्ली की सतह पर चलने वाली हवाएं धीमी हैं। वहीं, बाउंड्री लेयर हाइट (बीएलएच) नीचे है। तापमान भी इस दौरान कम है। 

इस बीच हालांकि, हरियाणा, पंजाब समेत सीमावर्ती इलाके में पराली जलाने से निकलने वाला धुआं औसत दर्जे का है। पश्चिम व उत्तर-पूर्व में कहीं-कहीं पर पराली जलाई जा रही है। दक्षिणी पूर्वी हवाओं से इसका धुआं दिल्ली पहुंच रहा है। दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं का हिस्सा 14 अक्तूबर के 4 फीसदी से बढ़कर बृहस्पतिवार को 8 फीसदी हो गया है। 

सफर का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ प्रभावी होने हवा की रफ्तार शुक्रवार को बढ़ने का अंदेशा है। इससे दिल्ली के वायु प्रदूषण में थोड़ा सुधार होगा, लेकिन शनिवार को इसमें एक बार फिर तेजी से गिरावट आएगी। इसकी वजह पराली का धुआं होगा। अनुमान है दिल्ली के प्रदूषण में इसका हिस्सा 18 फीसदी तक पहुंच जाएगा।
 
... और पढ़ें

अब दिल्ली की सड़कों पर नहीं दिखेंगे गड्ढे, 31 अक्तूबर तक 283 पैचेज को कर दिया जाएगा ठीक

शेर के बाड़े में कूदा शख्स
दिल्ली सरकार के अधीन आने वाली सड़कों पर बने गड्ढे अब परेशानी का सबब नहीं बनेंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार के अधीन आने वाली पीडब्ल्यूडी की 1260 किलोमीटर लंबी सड़कों के गड्ढे का मुआयना कर लिया गया है। इनमें 232 गड्ढे मिले हैं। इन गड्ढे की शुक्रवार तक मरम्मत हो जाएगी।

मुख्यमंत्री की पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक हुई थी। बैठक में सर्वे को आधार बनाकर बताया गया कि दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाली सड़कों पर 283 पैचेज मिले हैं। जिनका 31 अक्तूबर तक पूरी तरह ठीक कर लिया जाएगा। सर्वे के दौरान 272 उबड़खाबड़ सड़कें मिली है। जिन्हें 30 नवंबर तक ठीक करने का लक्ष्य रखा गया है। 

इसके साथ ही 392 जगहें ऐसी मिली हैं जहां विभिन्न एजेंसियों का काम चल रहा है। इसे ठीक करने के लिए मुख्यमंत्री 24 अक्तूबर को सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। निर्माण कार्य पूरा होने के बावजूद जहां की सड़के टूटी है उसे एनओसी लेकर जल्द से जल्द ठीक करने का संबंधित विभाग को निर्देश दिया जाएगा। साथ ही बचे काम की डेटलाइन ली जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि दिल्ली देश की राजधानी है। हम दिल्ली की सड़कें ऐसी बनाना चाहते हैं जिससे लोगों को गर्व महसूस हो। यहां की सड़के खराब होने से देश की बदनामी होती है। दिल्ली सरकार नहीं चाहती की दिल्ली आने वाले लोगों के मन में सड़क पर बने गड्ढे की वजह से देश की छवि खराब हो।
... और पढ़ें

एटीएम से छेड़छाड़ करते दिल्ली पुलिस का पूर्व हवलदार रंगे हाथ धरा, घटना सीसीटीवी में कैद 

जनकपुरी थाना पुलिस ने दिल्ली पुलिस के एक पूर्व हवलदार को एटीएम से छेड़छाड़ करते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की मुंबई स्थित मुख्यालय से पुलिस को इसकी सूचना मिली थी। जांच में यह बात सामने आई कि आरोपी क्लोन कार्ड से रुपये निकाल रहा था। उसके पास से दो लाख रुपये, 61 क्लोन एटीएम कार्ड, 14 मोबाइल फोन, अंगूठी के आकार का गुप्त कैमरा के अलावा एक लैपटॉप और 14 पासबुक बरामद की हैं। पुलिस फर्जीवाड़ा का मामला दर्ज कर आरोपी से पूछताछ कर रही है।

जिला पुलिस उपायुक्त दीपक पुरोहित ने बताया कि आरोपी की पहचान नांगलोई निवासी रवि कुमार मीणा के रूप में हुई है। मंगलवार देर रात पौने 12 बजे जनकपुरी थाने में स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक के मुंबई स्थित मुख्यालय से जनकपुरी थाना पुलिस को एक कॉल मिली। इसमें बताया गया कि जनकपुरी डिस्ट्रिक्ट सेंटर के पास स्थित एटीएम में लाल कुर्ता व पेंट पहने एक शख्स है जो मशीन के साथ छेड़छाड़ कर रहा है और बार बार कार्ड डालकर रुपये निकाल रहा है।

सूचना मिलते ही पुलिस टीम ने एटीएम पर दबिश दी। बताए हुलिए का शख्स एटीएम में मौजूद था, जिसे पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि रवि कुमार वर्ष 2004 से 2015 तक दिल्ली पुलिस में बतौर हवलदार कार्यरत रहा है। नौकरी से त्यागपत्र देने के बाद वह एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर लोगों के अकाउंट में सेंध लगाने लगा। पुलिस उससे पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उसने अब तक कितने रुपये निकाले हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी पर पहले से चार मामले दर्ज हैं।

यूट्यूब पर मौजूद वीडियो से क्लोन करने का तरीका सीखा  

जांच में पता चला कि रवि कुमार ऑनलाइन जुआ और सट्टा खेलने का आदी है। अपने भव्य जीवन शैली जीने के लिए नौकरी से इस्तीफा देकर वह आपराधिक वारदात को अंजाम देने लगा। वह अपने बैग में लगे गुप्त कैमरे से लोगों के एटीएम कार्ड की जानकारी हासिल करता था। साथ ही वह नोटबुक में मोबाइल लगाकर उससे वीडियो बनाता था। 

स्कीइंग मशीन के माध्यम से एटीएम बूथों पर जाने वाले ग्राहकों के एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर लेता था। क्लोन करने का तरीका उसने यूट्यूब पर मौजूद वीडियो से हासिल किया था। वह एटीएम कार्ड और उनकी वैद्यता की तारीख के जरिए कार्ड का सीवीवी जनरेट करता था। इसके बाद, वह एक कार्ड पर चुंबकीय टेप चिपकाकर एटीएम बूथ पर रुपये निकालने के लिए उपयोग करता था। 
... और पढ़ें

शेर के बाड़े में घुसा युवक, 15 मिनट बाद सुरक्षित निकाला

नई दिल्ली। दिल्ली के चिड़ियाघर में बृहस्पतिवार दोपहर एक युवक शेर के बाड़े में घुस गया और करीब 15 मिनट तक वहीं रहा। युवक कभी शेर के पास बैठता तो कभी लेट जाता। कई बार उसने शेर को उकसाने का प्रयास किया, लेकिन उसने हमला नहीं किया। बचाव दल ने शेर को ट्रेंक्यूलाइज (बेहोश) कर काफी मशक्कत के बाद युवक को बाड़े से सुरक्षित बाहर निकाला। प्रांरभिक जांच में युवक मानसिक रूप से बीमार बताया जा रहा है। फिलहाल उसके खिलाफ केस दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस ने देर शाम एम्स में उसकी मेडिकल जांच करवाई।
चिड़ियाघर के प्रवक्ता ने बताया कि पूर्वी चंपारन (बिहार) निवासी रेहान खान कुछ दिन पहले ही दिल्ली आया था और फिलहाल अपने मामा के घर गौतम विहार में रह रहा है। दोपहर करीब 12.30 बजे वह 10 वर्षीय सुंदरम नामक शेर के बाड़े में घुस गया। कभी वह शेेर के सामने बैठ जाता तो कभी लेट कर उसे उकसाने का प्रयास करने लगा। चिड़ियाघर घूमने आए लोगों में से कुछ इस घटना का वीडियो बनाने लगे तो कई लोगों ने उसे बचाने के लिए शोर मचाया। उसे बाड़े से बाहर आने के लिए भी कहा, लेकिन उसने कोई ध्यान नहीं दिया। इसी बीच मौके पर पहुंची क्यूआरटी टीम ने पहले शेर का ध्यान भटका कर बाड़े के दूसरे हिस्से में ले जाकर बेहोश किया। इसके बाद युवक को सीढ़ियों और रस्सी की मदद से बाहर निकाला।
मुझे मत बचाना, मैं मरने आया हूं
चिड़ियाघर में शेर के बाड़े में घुसे रेहान को पता चला कि सुरक्षाकर्मी उसे बचाने आ रहे है तो उसने कहा कि, मुझे मत बचाना मैं मरने आया हूं। बचाव दल ने उसे बाड़े से बाहर निकलने के लिए सीढ़ी भी दी, लेकिन वह किसी बात को मानने के लिए तैयार नहीं था। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने शेर का ध्यान भटकाकर बाड़े के दूसरे हिस्से में किया और फिर जाकर उसकी जान बचाई जा सकी।
... और पढ़ें

प्रदूषण पर कसा शिकंजा, एमसीडी ने 24 घंटे में किए 488 चालान, 17.74 लाख रुपये जुर्माना भी वसूला

राजधानी में बढ़ते प्रदूषण पर शिकंजा कसने के लिए ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान (ग्रैप) लागू होने के बाद तीनों एमसीडी की ओर से 24 घंटे में 488 चालान किए जा चुके हैं। इनमें कूड़ा जलाने, खुले में मलबा डालने, निर्माण कार्यों के अलावा सड़कों पर अधिक धूलकण होने पर भी चालान शामिल हैं।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम की ओर से 108 जगहों का टीम ने मुआयना किया। इस दौरान प्रदूषण मानकों की अनदेखी करने के 25 मामले में 3.45 लाख रुपये के चालान किए गए। उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने कार्रवाई करते हुए कुल 78 चालान किए। इनमें कूड़ा जलाने के 32, निर्माण कार्यों से उत्पन्न धूल के 35, खुले में मलबा डालने के 11 मामले में चालान करते हुए 10.81 लाख रुपये बतौर जुर्माना वसूला गया। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने प्रदूषण के 302 मामलों में चालान किए।  इस कार्रवाई के दौरान एक फैक्ट्री का चालान भी किया गया।

दक्षिणी क्षेत्र में कुल 42 चालान किए गए, जिनसे जुर्माने के तौर पर 1.48 लाख रुपये वसूले गए। निर्माण में अनदेखी के चार मामलों में सर्वाधिक 90 हजार रुपये का चालान किया गया है। नजफगढ़ क्षेत्र में कूड़ा जलाने के 12 जबकि फुटपाथ पर अतिक्रमण के चार चालान किए गए हैं।

दक्षिणी निगम के सेंट्रल जोन में सर्वाधिक 230 चालान किए गए, जिनमें जुर्माना के तौर पर दो लाख रुपये वसूले गए हैं। कूड़ा फेंकने के 121, निर्माण के तीन, मलबे के आठ जबकि सड़कों की सफाई न होने की वजह से पैदा होने वाले धूलकणों के लिए 104 सहित एक फैक्ट्री का चालान किया गया है।
... और पढ़ें

सम-विषम : दोपहिया और स्कूली बच्चों के वाहनों को छूट

नई दिल्ली। राजधानी में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 4 नवंबर से लागू होने वाली सम-विषम योजना के दायरे में दिल्ली के मुख्यमंत्री समेत कैबिनेट मंत्रियों के वाहन भी आएंगे। दिल्ली के अधिकारियों को भी इस दौरान छूट नहीं मिलेगी। दूसरे राज्यों के वाहन भी इसी फार्मूले पर चलेंगे और उल्लंघन करने पर 4000 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा। हालांकि, बाइक व आपातकालीन सेवाओं, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, दिल्ली के उपराज्यपाल समेत सांविधानिक पदों पर बैठे लोगों को लेकर चलने वाले वाहनों, दिव्यांगों, महिलाओं को सम-विषम योजना से छूट देने का फैसला लिया गया है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को प्रेसवार्ता कर बताया कि दिल्ली मे वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 4-15 नवंबर के बीच सम-विषम योजना लागू होगी। इसका पूरा खाका तैयार कर लिया गया है। सोमवार से शनिवार सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक योजना लागू होगी। रविवार को आम दिनों की तरह वाहन चलेंगे। स्टिकर का गलत इस्तेमाल होने की शिकायतों को देखते हुए इस बार सीएनजी वाहनों को भी योजना से छूट नहीं देने का फैसला लिया गया है।
योजना में मिलेगी इनके वाहनों को छूट
राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सभी राज्यों के राज्यपाल, सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश व न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, केंद्र सरकार के सभी मंत्री, लोकसभा और राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष, दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री, राज्यसभा के उपसभापति व लोकसभा के उपाध्यक्ष, उपराज्यपाल, दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश समेत सभी न्यायाधीश, लोकायुक्त, एंबुलेंस, दमकल, अस्पताल, जेल समेत दूसरे आपातकालीन वाहन, प्रवर्तन वाहन, रक्षा मंत्रालय के नंबर वाले वाहन, पॉयलट व एस्कार्ट, एसपीजी, सीडी नंबर वाले दूतावास वाहन। इसके अलावा 12 साल तक के बच्चे या महिलाओं के साथ अपना वाहन चला रही महिला, दिव्यांग द्वारा चलाए जाने वाहन या जिन वाहनों पर दिव्यांग बैठा हो, स्कूली बच्चों को ले जा रहे और मरीज लेकर जा रहे वाहन।
... और पढ़ें

पार्किंग विवाद में युवक पर गोली चलाने वाले दो धरे

नई दिल्ली। अलीपुर इलाके में पार्किंग के लिए हुए विवाद में युवक पर गोली चलाने वाले टिल्लू गैंग के दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बदमाशों की पहचान ताजपुर गांव निवासी जितेंद्र उर्फ काला और सुरेंद्र उर्फ बीटा के रूप में हुई है। इनके पास से पिस्टल और कारतूस पुलिस ने बरामद किए हैं। गिरफ्तार बदमाशों पर पहले से चार-चार आपराधिक मामले दर्ज हैं। साथ ही जिला पुलिस ने स्ट्रीट क्राइम को रोकने के लिए विशेष अभियान चलाकर तीन अन्य बदमाशों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया है।
बाहरी नॉर्थ जिला पुलिस उपायुक्त गौरव शर्मा ने बताया कि गत 15 अक्तूबर की रात दोनों बदमाश इलाके में घूम रहे थे। इसी दौरान स्कूटी पार्क करने को लेकर उनकी एक युवक से कहासुनी हो गई। खुद को बदमाश बताते हुए दोनों ने युवक पर गोली चला दी। लेकिन गोलीबारी में वह बाल-बाल बच गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया। जांच में पता चला कि गोली चलाने वाले बदमाश जितेंद्र और सुरेंद्र हैं और दोनों टिल्लू गैंग के सदस्य हैं।
उधर अलीपुर और स्वरूप नगर थाना पुलिस ने विशेष अभियान चलाकर तीन बदमाश को गिरफ्तार किया है। अलीपुर थाना पुलिस ने इलाके में वारदात करने के इरादे से घूम रहेे बदमाश विजय उर्फ लीला को पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर लिया। एक अन्य मामले में पुलिस ने नितेश नाम के बदमाश को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक पिस्टल बरामद किया है। वहीं स्वरूप नगर थाना पुलिस ने गश्त के दौरान अमित उर्फ गांजा को गिरफ्तार किया है। अमित पर लूटपाट व झपटमारी के एक दर्जन मामले दर्ज हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
विज्ञापन