विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

संकट का समयः गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने की राशन-सब्जी दान करने की अपील

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने कॉरपोरेट घरानों और गैरसरकारी संगठनों से राशन व सब्जियों के दान की अपील की है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

नोएडा

सोमवार, 30 मार्च 2020

नोएडा: बस के इंतजार में खड़ी थी गर्भवती महिला, जानकारी मिलते ही पुलिस ने किए घर भेजने के इंतजाम

कोरोना वायरस के कारण देश भर में लगए गए लॉकडाउन के बाद से कई लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। कई तबके के लोग ऐसे हैं जिनके सामने खाने के सामान और रहने की भी जगह नहीं है। ऐसे में सभी लोग जल्द से जल्द किसी भी तरह अपने घर पहुंचना चाह रहे हैं। 

तमाम समाज सेवी संस्थाएं, प्रशासन और सरकार सभी लोग मिलकर ऐसे असहाय लोगों की मदद करने में लगा हुआ है। इसी बीच एक दूसरे की सहायता का एक ऐसा वाकया सामने आया है जिसने संपन्न वर्ग के लोगों के बीच गरीबों की मदद करने की एक मिसाल पेश की है।

दरअसल शुक्रवार रात नोएडा में रहने वाले मजदूरों के बीच एक अफवाह फैली कि सिटी सेंटर से कुछ बसें बरेली जा रही हैं। खबर सुनकर भारी संख्या में कई लोग सिटी सेंटर पहुंच गए। इनमें उत्तर प्रदेश के भंगेल की रहने वाली एक गर्भवती महिला भी अपने परिवार के साथ बस लेने के लिए वहां पहुंच गई। 

भीड़ में गर्भवती महिला के अलावा एक अन्य युवती भी थी, जो बिल्कुल अकेली थी और भंगेल जाना चाहती थी। वहां पहुंचने पर पता चला कि बस मिलने की खबर महज एक अफवाह थी। असल में सिटी सेंटर से बरेली के लिए कोई भी बस नहीं जा रही थी।

रात हो जाने के कारण वहां पहुंचे सभी लोग फंस गए थे। वे वापस अपने आवास भी नहीं जा पा रहे थे। इसी बीच भाजपा नेता राजकुमार अपनी टीम सहित वहां पहुंचे। उन्होंने गर्भवती महिला और अकेली युवती को देखकर तुरंत विधायक पंकज सिंह के कार्यालय को जानकारी दी। 

इसके बाद विधायक कार्यालय से पुलिस को फोन किया गया। पुलिस ने तुरंत ही गर्भवती महिला व उसके परिवार के साथ ही युवती को वापस भंगेल पहुंचाया।
... और पढ़ें

नोएडा: लॉकडाउन में आप भी करना चाहते हैं गरीबों की मदद, तो इस नंबर पर करें पुलिस से संपर्क 

देश भर में लॉकडाउन के बाद दिहाड़ी मजदूरों व रोजमर्रा के काम में शामिल लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें खाने तक के लिए मोहताज होना पड़ रहा है। ऐसे समय में अगर आप गरीब लोगों की मदद करना चाहते हैं तो पुलिस आपका साथ देगी। 

कोई भी मदद का इच्छुक व्यक्ति डीसीपी महिला सुरक्षा से संपर्क कर सकता है और पुलिस की निगरानी में वह असहाय लोगों की मदद कर सकता है। इसके लिए आप मोबाइल नंबर 8595902510 पर संपर्क कर सकते हैं। 

लॉकडाउन के कारण गौतमबुद्धनगर में बड़ी संख्या में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले लोग व प्रवासी कामगार परेशान हैं। महीने का अंत होने के कारण उनके पास पैसे खत्म हो गए हैं, उनके पास खाना खरीदने का कोई भी साधन उपलब्ध नहीं है। ऐसे लोगों की थाना, चौकियों और उत्तर प्रदेश 112 के माध्यम से लगातार कॉल आ रही हैं कि उनके पास घर में खाने को कुछ नहीं है। 

पुलिस उनका सहयोग कर रही है और राशन भी उन तक पहुंचा रही है। इस काम में सहायता प्रदान करने के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं और आम लोग भागीदार बन रहे हैं। अगर कोई भी व्यक्ति, संस्था, एनजीओ इस काम में सहयोग करना चाहते हैं तो आप ड्राई राशन आनलाइन डिलीवरी के माध्यम से  खुद उपस्थित रहकर पुलिस को उपलब्ध करा सकते हैं, ताकि वह ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंद लोगों तक पहुंच सके।

इस काम में यदि आप भी भागीदार बनना चाहते हैं तो डीसीपी महिला सुरक्षा (मोबाइल नंबर 8595902510) से संपर्क करके अपना सहयोग प्रदान कर सकते हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: रोडवेज की बसों से सैकड़ों मजदूरों को पहुंचाया गया घर, अधिक किराया वसूलने वालों पर होगी कार्रवाई

नोएडाः लंदन से आए ऑडिटर ने पांच और को दी बीमारी, गौतमबुद्ध नगर में अब 32 कोरोना संक्रमित

नोएडा में रविवार को दो महिलाओं समेत छह और लोग संक्रमित पाए गए। इनमें से पांच प्रत्यक्ष या परोक्ष, सीजफायर कंपनी में लंदन से आए ऑडिटर के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। 

बुलंदशहर में मिला संक्रमित भी इसी कंपनी से जुड़ा है। इस ब्रिटिश नागरिक से अब तक 19 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसके साथ, गौतमबुद्ध नगर में 32 संक्रमित हो गए, जबकि राज्य का आंकड़ा 81 है। 

यूपी सरकार ने फैसला किया है कि पलायन कर लौटे कामगारों को घरों में ही क्वारंटीन किया जाएगा। रविवार रात तक गौतमबुद्ध नगर में 31, मेरठ 13, आगरा 10, लखनऊ 8, गाजियाबाद 7, वाराणसी व पीलीभीत में 2-2, लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, बरेली, कानपुर, जौनपुर, शामली, बागपत में एक-एक मरीज आ चुके हैं। गौतमबुद्ध नगर प्रशासन हर मरीज कोे इलाज के लिए 28 दिन का वेतन, छुट्टी  देगा। 

कनिका कपूर की चौथी रिपोर्ट भी पॉजिटिव
एसजीपीजीआई में भर्ती बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर की चौथी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। डॉक्टरों का कहना है कि जब तक रिपोर्ट निगेटिव नहीं आती उन्हें भर्ती रखा जाएगा। 

रामनवमी के दिन दो  घंटे खुले रहेंगे बैंक 
सरकार ने बैंकों को निर्देश दिए हैं कि रामनवमी के दिन दो अप्रैल को दो घंटे के लिए शाखाएं खुली रखें। बैंकों की वार्षिक लेखाबंदी के कारण एक अप्रैल व रामनवमी के कारण दो अप्रैल को अवकाश घोषित है। 

नोएडा-गाजियाबाद की सीमाएं सील  आनंद विहार बस अड्डा खाली
केंद्र के निर्देश पर यूपी में भी नोएडा-गाजियाबाद समेत सभी जिलों की सीमाएं सील कर दी गईं। आनंद विहार व कौशांबी बस अड्डे पर दो दिन से जमा भीड़ भी रोडवेज की 800 बसों से रविवार तड़्के तक रवाना कर दी गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  व्यवस्थाएं देखने खुद सड़क पर उतरे और आगरा एक्सप्रेसवे पर बाहर से आ रहे लोगों से बात कर मदद का भरोसा दिया। सरकार ने कामगारों व मजदूरों से एक महीने का किराया नहीं लेने के आदेश भी जारी कर दिए हैं। 
... और पढ़ें
demo pic demo pic

एक हजार खाद्य राशन पैकेट उपलब्ध कराए जाएंगे : एडीसी

तावडू। जरूरतमंद लोगों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए जिला अतिरिक्त उपायुक्त विक्रम सिंह ने रविवार को थोक व्यापारियों से सहयोग मांगा।
अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि तावडू में घरों तक सामान पहुंचाने और थोक विक्रेताओं से जरूरतमंद लोगों को राशन वितरित करने में सहयोग देने की मांग की गई है। पहले चरण में पांच-पांच किलों के एक हजार खाद्य राशन पैकेट उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे अधिक जरूरत पड़ने पर इसे बढ़ाया जाएगा।
खासकर नगर के बड़े थोक विक्रेता महेन्द्र गोयल व नीतीश ट्रेडिंग कंपनी के संचालक से इसमें सहयोग मांगा गया है।
उन्होंने बताया कि जिले में विभिन्न स्थानों पर कंपनी, गोदामों व नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरतमंद मजदूर परिवार रहते हैं, जिनके लिए इस मुश्किल दौर में खाद्य सामग्री पहुंचाना जरूरी है। व्यापारियों से एडीसी ने कहा कि किसी भी सामान की कालाबाजारी नहीं की जाए और न ही कोई सामान ज्यादा स्टॉक में रखा जाए। ऊंचे दामों पर सामग्री नहीं बेचने की भी हिदायत दी गई। अगर शिकायत मिली तो ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
... और पढ़ें

लॉकडाउनः नोएडा वासी खाद्य सामग्री की दिक्कत हो तो इन नंबरों पर करें फोन

लॉकडाउन के चलते बाजार बंद होने के कारण लोगों को खाने की सामग्री की दिक्कत नहीं हो इसके लिए आपूर्ति विभाग ने जनपद के अधिकारियों के फोन नंबर जारी किए हैं। शिकायत मिलने पर अधिकारी समस्या का हल करेंगे। खाद्य सामग्री के मिलने में परेशानी होने पर लोग इन अधिकारियों से कॉल करके जानकारी ले सकते हैं।

सुशील कुमार तिवारी                   क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी    7982051590
धर्मेंद्र कुमार वर्मा                            पूर्ति निरीक्षक            9452500632
अखिलेश  द्विवेदी                            पूर्ति निरीक्षक            7704881888
दिव्या जिंदल                                  पूर्ति निरीक्षक            8860369083
चतर सिंह                                      पूर्ति निरीक्षक            8368646289
शिव कुमार                                    पूर्ति निरीक्षक            8368459366
शुभी श्रीवास्तव                                पूर्ति निरीक्षक            8130901242
शैलेंद्र वर्मा                                     पूर्ति निरीक्षक            8802579608
आशिफ अली                                                              8287399248
सचिन कुमार शर्मा                                                       798281950
विपिन कुमार                                                              9871032736
अविनाश                                                                    7078535252
नेहा चंद्रा                                                                    9528222431
भुवन चंद्रा                                                                   9868363131
... और पढ़ें

नोएडा: कंपनी की लापरवाही के कारण संक्रमित हुए 13 लोग, महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज

कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद गौतमबुद्धनगर जिले में पहला मुकदमा दर्ज किया गया है। नोएडा की सीज फायर कंपनी के खिलाफ मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने एफआईआर दर्ज कराई है। आरोप है कि कंपनी के विदेश से आए ऑडिटर के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से 13 लोग कोरोना से संक्रमित हो गए। 

इसकी जानकारी होने के बाद भी कंपनी ने कर्मचारियों को होम क्वारंटीन नहीं किया और उन्हें आम दिनों की तरह ही काम कर बुलाना जारी रखा। गौतमबुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से डॉ. अनुराग भार्गव ने थाना एक्सप्रेसवे में महामारी अधिनियम 1897 के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। 

थाना एक्सप्रेसवे प्रभारी ने बताया कि आरोप है कि कंपनी का ऑडिटर विदेश से आया था। इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को नहीं दी गई थी। साथ ही कंपनी की ओर से कर्मचारियों के लिए वो जरूरी इंतजाम भी नहीं किए गए जो कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक थे। 

कंपनी ने कर्मचारियों को होम क्वारंटीन नहीं किया। उन्हें लगातार काम पर बुलाया गया। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक ऑडिटर के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से 13 लोग कोरोना वारस से संक्रमित हो चुके हैं।




 
... और पढ़ें

आप विधायक चड्ढा के खिलाफ FIR, सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप

एफआईआर
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वकील प्रशांत पटेल शिकायत के बाद राजेंद्र नगर विधानसभा से आप विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ नोएडा के सेक्टर 20 थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

बता दें कि राघव ने ट्वीट कर के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाया था कि वह दिल्ली से पलायन करके उत्तर प्रदेश जा रहे लोगों को पिटवा रहे हैं। नोएडा पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद यह मुकदमा दर्ज किया है। 

चड्ढा के खिलाफ धारा 66 आईटी एक्ट व भारतीय दंड विधेयक की धारा 500, 505(2) के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। मालूम हो कि राघव चड्ढा आम आदमी पार्टी से बहुचर्चित युवा नेताओं में से एक हैं। वो इस बार हुए विधानसभा चुनावों में दिल्ली की राजेंद्र नगर सीट से जीत हासिल कर विधायक बने। इसके अलावा राघव दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष भी हैं।
 
... और पढ़ें

कोरोनाः नोएडा में एक व्यक्ति ने दी 13 लोगों को बीमारी, नौ और लोगों में वायरस की पुष्टि

स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को गौतमबुद्धनगर में 9 और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि की है। इनमें से पांच लोग ब्रिटेन से आए ऑडिटर के संपर्क में आए थे। पांचों सीजफायर कंपनी में काम करते  हैं। ऑडिटर के संपर्क में आकर अब तक कर्मचारी समेत परिवार के 13 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 

इसमें से 4  लोगों को ग्रेटर नोएडा के जिम्स और दो को चाइल्ड पीजीआई के आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराया है। वहीं,  12 साल की एक बच्ची डेनमार्क से लौटे चाचा के संपर्क में आकर संक्रमित हुई है। इस बीच योगी सरकार ने जेल में बंद 11 हजार कैदियों को दो माह पैरोल देने का आदेश दिया है। 

प्रशासन ने कहा नोएडा-ग्रेनो में एक माह नहीं लें किराया
नोएडा-ग्रेटर नोएडा में मकान मालिक एक महीने तक किराया नहीं ले सकेंगे। गौतमबुद्धनगर के डीएम बीएन सिंह ने यह आदेश जारी किया है। इसका उल्लंघन पर दो साल तक की जेल या जुर्माना या दोनों सजाएं हो सकती हैं। प्रभावित व्यक्ति एकीकृत कंट्रोल रूम नंबर- 0120-2544700 पर शिकायत कर सकता है। 

दिल्ली में नौ और मरीज 
राजधानी में एक ही दिन में 9 मरीज मिले हैं। अब दिल्ली में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 49 हो गई है।

यूपी में 14 नए मरीज, अब 65
यूपी में 14 नए मरीजों के साथ अब 65 केस हो गए। संक्रमण से 13 जिले प्रभावित हैं। गौतमबुद्धनगर में सबसे अधिक 27 मरीज हैं। 

कम पड़ने लगे साधन
गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अस्पतालों भी में बेडों की संख्या कम पड़ने लगी है। राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) के सूत्रों ने बताया कि बृहस्पतिवार और शुक्रवार को अस्पताल में बेडों की संख्या कम पड़ने पर कई मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया गया। शनिवार को स्थिति बिगड़ती देख जिम्स प्रबंधन ने तत्काल 10 बेडों की व्यवस्था की है।
... और पढ़ें

जो जहां है, वहीं रहे, सरकार खिलाएगी खाना : केजरीवाल

नई दिल्ली। अगले महीने का राशन बांटना दिल्ली सरकार ने शुरू कर दिया है। शनिवार को एक हजार दुकानों पर राशन पहुंचा दिया गया है। अगले दो दिन में बाकी दुकानों से भी राशन मिलने लगेगा। सरकार करीब 71 लाख लोगों को 7.5 किलो राशन मुफ्त मुहैया कराएगी। इसके अलावा, दिल्ली के 568 स्कूलों और 238 रैन बसेरों में भी खाने की व्यवस्था की गई है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को मीडिया से वार्ता में कहा कि बहुत सारे लोग गांव जाना चाहते हैं। इन्हें रोकने में मंत्री और विधायक लगे हुए हैं। केजरीवाल ने अपील की कि भविष्य की चिंता में लोग गांव न जाएं। दिल्ली सरकार ने सारा इंतजाम कर रखा है। दुनिया के दूसरे देशों की सीख यही है कि शहर छोड़कर जाने पर कोरोना तेजी से फैलेगा। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स, प्रधानमंत्री बोरिस जानसन और स्वास्थ्य मंत्री को भी कोरोना पाया गया है। दुनिया के विकसित देशों में शामिल अमेरिका, इंग्लैंड, स्पेन, इटली, फ्रांस और जर्मनी में स्थिति भयावह हो गई है।
एक विकसित देश के नामी डॉक्टर कह रहे थे कि उनके देश में इतने ज्यादा लोग बीमार हो गए हैं कि अस्पतालों में वेंटिलेटर और बेड कम पड़ गए हैं। इसलिए उन्होेंने अपने बुजुर्गों के वेंटिलेटर हटाने शुरू कर दिए, ताकि जवान लोगों को बचाया जा सके। ऐसी स्थिति से बचने के लिए प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन किया है। इसे कामयाब बनाना सबकी जिम्मेदारी है। सभी को अपने-अपने घरों में रहना है। जो जहां है, वहीं पर रहे। लॉकडाउन की वजह से सभी को बहुत सारी परेशानियां हो रही हैं, लेकिन इनको भुगत लेंगे तो इस बीमारी से हम सभी बच जाएंगे।
... और पढ़ें

ग्रेटर नोएडा के अस्पताल से कोरोना संक्रमित मरीज पति-पत्नी को भगाया

एक तरफ कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लॉक डाउन किया है वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य महकमे के लोग ही संक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं। एक हैरान कर देने वाला मामला ग्रेटर नोएडा के जिम्स अस्पताल का  सामने आया है। कोरोना संक्रमित पति-पत्नी को अस्पताल में भर्ती करने के बाद मोहन नगर गाजियाबाद पता होने पर अस्पताल से भगा दिया और कहा कि जाकर गाजियाबाद के सरकारी असप्ताल में भर्ती हो। 

इसके बाद दंपति ग्रेटरनोएडा के अस्पताल से अपनी कार से जिला एमएमजी अस्पताल में रात 11 बजे पहुंचे। इसके बाद दोनों को भर्ती किया गया। अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. रविंद्र राणा ने बताया कि रात में फोन आया था कि दो मरीज अस्पताल में भर्ती होने जा रहे हैं, लेकिन यह नहीं बताया कि दोनों अपनी कार से जा रहे हैं। साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा ने सीएमएस को फोन कर मामले की जानकारी दी कि दो मरीज ग्रेटर नोएडा से आ रहे हैं। 

सीएमओ डा. एनके गुप्ता ने इस पर आपत्ति जताते हुए रात में ही शासन में शिकायत दर्ज कराई कि नोएडा व गाजियाबाद एक दूसरे से सटे हुए जिले हैं। अगर कोई मरीज जाकर भर्ती हो गया था तो इसकी सूचना सीएमओ गौतमबुद्धनगर द्वारा दी जानी चाहिए थी। अगर वह अपनी एंबुलेंस से नहीं भेज सकते थे तो हम अपने जिले से एंबुलेंस भेजकर मरीजों को लाते।

इसके बावजूद मरीजों को यह कहकर भगा दिया गया कि जाकर गाजियाबाद में भर्ती हो जाओ। दोनों पति-पत्नी स्वयं गाड़ी चलाकर पहुंचे। अब तो यह भी जांच करना मुश्किल है कि इन दोनों अस्पताल से निकलने के बाद कितने लोगों के संपर्क में आए होंगे। 

प्राइवेट लैब में हुई थी पुष्टि
सीएमओ ने बताया कि दोनों विदेश से हाल ही में लौटकर आए थे। कोरोना के लक्षण पाए जाने पर प्राइवेट लैब में जांच कराई थी। कोरोना की पुष्टि होने पर दोनों ग्रेटर नोएडा के अस्पताल में पहुंच गए थे। 

रात में कार कराई गई सैनिटाइज
सीएमओ डा. एनके गुप्ता ने बताया कि दंपती ने कार से अस्पताल पहुंच गए। जब स्टाफ ने उनसे पूछा कि कार का नंबर क्या है, कई गाड़िया खड़ी हैं। इस पर पति ने कहा कि हम दोनों से मतलब है कि या कार से। इस पर कर्मचारियों ने समझाया कि कार को भी सैनिटाइज किया जाएगा। रात में ही कार को डिस्ंक्रमित किया गया।
... और पढ़ें

जिम्स में बेड पड़े कम, कोरोना के मरीजों को भर्ती करने से इनकार

जिम्स में बेड पड़े कम, कोरोना के मरीजों को भर्ती करने से इनकार
ग्रेटर नोएडा। गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अस्पतालों भी में बेडों की संख्या कम पड़ने लगी है। राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) के सूत्रों ने बताया कि बृहस्पतिवार और शुक्रवार को अस्पताल में बेडों की संख्या कम पड़ने पर कई मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया गया। शनिवार को स्थिति बिगड़ती देख जिम्स प्रबंधन ने तत्काल 10 बेडों की व्यवस्था की है।
कोरोना के इलाज के लिए जिले में जिम्स को नोडल सेंटर बनाया गया है। यहां उपचार के लिए 10 बेड स्थापित किए गए हैं। जिम्स से 3 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। इसके बाद 2 संक्रमित भर्ती हुए तो मरीजों की संख्या बढ़कर फिर से 9 हो गई। जिम्स के सूत्रों ने बताया कि बृहस्पतिवार को कोरोना के दो से तीन मरीज होने की बात सामने आई। स्वास्थ्य विभाग ने जिम्स प्रबंधन से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि अस्पताल में बेड कम हैं। सभी मरीज भर्ती नहीं किए जा सकते हैं। शुक्रवार को भी ग्रेटर नोएडा में एक और नोएडा में 2 मरीज पॉजिटिव निकले। सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने जिम्स प्रशासन से संपर्क कर उन्हें भर्ती करने को कहा। जिम्स ने साफ कर दिया कि अस्पताल में गिने चुने बेड हैं। सभी को भर्ती नहीं किया जा सकता है। आननफानन में स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों को नोएडा के अस्पताल में भर्ती कराया।
स्वास्थ्य विभाग ने जताई नाराजगी
जिम्स अफसरों ने एक सप्ताह पहले अस्पताल में 15 बेड बढ़ाने का दावा किया था। इससे बेडों की संख्या 25 हो जाती। सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने जिम्स स्टाफ से पूछा कि 15 बेड बढ़ाने का दावा किया तो क्यों नहीं बढ़ाए गए और इस पर नाराजगी भी जाहिर की। शनिवार को जिम्स में 10 बेड बढ़ा दिए गए। अब कुल 20 बेड अस्पताल में हैं। शनिवार को कोरोना संक्रमित 3 मरीज जिम्स में भर्ती कराए गए। आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है।
अस्पताल में बेड कम थे। मरीज सीमित ही भर्ती किए जा सकते थे। शनिवार को बेडों की संख्या बढ़ा दी गई। कोई परेशानी वाली बात नहीं है।
- डॉ. राकेश गुप्ता, निदेशक, जिम्स
... और पढ़ें

एसडीएम ने निरीक्षण कर दुकानदारों को चेतावनी दी

फिरोजपुर झिरका। प्रदेश सरकार द्वारा दिए गए सख्त आदेशों के बाद एसडीएम प्रदीप कुमार ने निर्धारित मूल्यों से अधिक भाव पर घरेलू सामान बेचने वाले दुकानदारों पर शिकंजा कसने के लिए शहर के मुख्य बाजार का निरीक्षण किया।
एसडीएम ने लगभग एक दर्जन दुकानों की जांच पड़ताल की। उन्होंने दुकानों पर मौजूद ग्राहकों से भी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि जांच का मकसद लोगों को उचित रेट पर घरेलू सामान दिलाना है।
प्रदीप कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोई दुकानदार महंगे दामों पर समान बेचे, यह किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने दुकानदारों को चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसा करने पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us