विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020
Astrology Services

होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

नौकरी न कर शुरू की खुद की कंपनी, 26 साल की उम्र में बन गए बड़े उद्योगपति

गाजियाबाद के तुषार अग्रवाल, ये वो नाम है जिसने मात्र 26 साल की उम्र में उद्यम के क्षेत्र में अपना लोहा मनवा लिया है। आज तुषार दो इंडस्ट्री के मालिक है...

3 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली-एनसीआर

शुक्रवार, 28 फरवरी 2020

गलियों में वर्दीधारी, डरे-सहमे लोग घरों में बंद होकर खिड़कियों के सहारे देख रहे मंजर

साहब! ‘मजदूरी तो कभी भी हो जाएगी, पहले जान बचाएं’, दिल्ली छोड़कर जाने वालों ने बयां किया दर्द

दिल्ली हिंसा: नफरत की आंधी में बुझ गया घर का चिराग, मासूमों को पिता का इंतजार...

दिल्ली हिंसा: अमित शाह ने ली बैठक, एसआईटी का गठन, अबतक 38 की मौत

दिल्ली में हिंसा दिल्ली में हिंसा

दिल्ली हिंसाः आप पार्षद ताहिर हुसैन पर हत्या का केस दर्ज, पार्टी ने किया निलंबित

आम आदमी पार्टी के निगम पार्षद हाजी ताहिर हुसैन के खिलाफ बृहस्पतिवार को दयालपुर थाने में हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का मामला दर्ज कर लिया गया। आईबी के जवान अंकित शर्मा की हत्या के बाद उनके परिजनों ने ताहिर पर ही हत्या करने का आरोप लगाया था। 



अंकित के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने ताहिर हुसैन व अन्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया। पूरे हिंसा मामले की जांच अब अपराध शाखा की एसआईटी करेगी। इससे पूर्व पुलिस ने बृहस्पतिवार को ताहिर के मकान की तलाशी ली। यहां से पेट्रोल बम, गुलेल और तेजाब बरामद हुआ। 

उपद्रवियों ने ताहिर के मकान की छत से हमला किया। शुरुआत में ताहिर इससे इंकार करता रहा, लेकिन बवाल का वीडियो सामने आया तो ताहिर ने मान लिया कि वीडियो उनकी छत का ही है। ताहिर ने बताया था कुछ लोगों ने जबरन छत पर कब्जा कर वारदात को अंजाम दिया।

वहीं, पार्टी ने भी ताहिर को निलंबित कर दिया है। जब तक उन पर लगे आरोप की जांच नहीं हो जाती और वह पाक साफ निकल कर नहीं आते तब तक प्राथमिक सदस्यता से निलंबित रहेंगे।
... और पढ़ें

घर में पेट्रोल बम और अंकित शर्मा की हत्या पर आप पार्षद ताहिर ने किया ये दावा

लंगर बांटते गुरुद्वारा कमेटी के सदस्य
आप पार्षद ताहिर हुसैन ने दंगों में और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के स्टाफर की हत्या में अपनी संलिप्तता से गुरुवार को इनकार कर दिया। गौरतलब है कि आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा (26) के परिवार ने हत्या का आरोप हुसैन पर लगाया है।

अंकित शर्मा मंगलवार(25 फरवरी) से लापता थे और उनका शव बुधवार को चांद बाग इलाके के एक नाले से मिला था। शर्मा के परिजनों ने दावा किया कि उनकी हत्या के पीछे स्थानीय पार्षद ताहिर हुसैन और उसके साथियों का हाथ है। वह अंकित को ताहिर की बिल्डिंग में खींच ले गए थे और फिर उसे पीट-पीटकर मार डाला।



इस आरोप के सामने आने के बाद ताहिर ने पहले तो एक वीडियो डालकर अपनी सफाई दी। अब वह पत्रकारों से बातचीत कर अपनी सफाई दे रहे हैं। उनका कहना है कि, 'मुझे खबरों से पता चला कि एक व्यक्ति की हत्या का इल्जाम मुझ पर लगाया जा रहा है। ये झूठे और निराधार आरोप हैं। सुरक्षा की दृष्टि से मेरा परिवार और मैं पुलिस की मौजूदगी में सोमवार को ही अपने घर से चले गए थे।'
... और पढ़ें

दिल्ली हिंसाः 24 फरवरी को परीक्षा देने गई थी आठवीं की छात्रा, अब तक है लापता

रविवार से उत्तरपूर्वी दिल्ली में शुरू हुई हिंसा अब खत्म हो चुकी है और दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों में हालात सामान्य हो रहे हैं। इस बीच बीच खजूरी खास इलाके में तीन दिन पहले यानी सोमवार(24 फरवरी) को परीक्षा देने के लिए स्कूल गई 13 वर्षीय छात्रा का कोई पता नहीं है। वह आज तक घर नहीं लौटी है।

पुलिस ने इस मामले में बताया कि आठवीं कक्षा की छात्रा सोनिया विहार में अपने माता-पिता के साथ रहती है और वह सोमवार को सुबह अपने घर से करीब 4.5 किलोमीटर दूर स्थित अपने स्कूल परीक्षा देने गई थी लेकिन तब से लौटी नहीं है।



रेडीमेड कपड़ों का कारोबार करने वाले उसके पिता ने पीटीआई से कहा, ‘मुझे शाम पांच बजकर 20 मिनट पर उसे स्कूल से लेने जाना था। लेकिन मैं हमारे इलाके में चल रही हिंसा में फंस गया। तब से मेरी बेटी लापता है।’

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ‘गुमशुदगी’ की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और लड़की की तलाश चल रही है। मौजपुर के विजय पार्क निवासी एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि दो दिन से शिव विहार के एक घर में फंसे उनके परिवार के सदस्यों से मंगलवार रात से कोई संपर्क नहीं हो पाया है।
... और पढ़ें

आईबी कांस्टेबल अंकित की हत्याः आप पार्षद पर आरोप, जानिए कौन हैं ताहिर

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के करावल नगर इलाके में रहने वाले इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) के सुरक्षा सहायक 26 वर्षीय जांबाज अंकित शर्मा भी दंगाइयों के पागलपन का शिकार हो गए। अब उनकी मौत के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। ताहिर और उनके समर्थकों पर आईबी के स्टाफर अंकित की हत्या का आरोप लग रहा है।



हालांकि वह पुलिस से बचते फिर रहे हैं और अपने किसी रिश्तेदार के घर से ताहिर ने वीडियो जारी कर खुद पर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है। जानिए कौन हैं ताहिर हुसैन जिस पर अंकित के परिजन ये आरोप लगा रहे हैं कि दंगाइयों ने पत्थरबाजी करते हुए अंकित व उनके साथ तीन अन्य लोगों को भी भीड़ में खींच लिया। परिजनों के मुताबिक, कथित रूप से स्थानीय आप पार्षद ताहिर की बिल्डिंग में ले जाकर उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।



आप पार्षद ताहिर राजनीति में भले ही जाना माना नाम नहीं हैं लेकिन पूर्वोत्तर दिल्ली में शाहदरा, नेहरू नगर, चांदबाग के इलाके में उनका बहुत रसूख है। चुनाव के दौरान भरे गए हलफनामे के अनुसार ताहिर 2017 में निर्वाचन क्षेत्र 059-E-नेहरू विहार (पूर्वी दिल्ली) से आप के टिकट पर पार्षद बने।

वह करावल नगर के नेहरू विहार में रहते हैं। चुनावी हलफनामे के अनुसार वह व्यवसायी हैं और 18 करोड़ की घोषित संपत्ति है। उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। ताहिर आठवीं पास हैं और नेशनल ओपन स्कूल से दसवीं की पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि यह जानकारी उन्होंने 2017 में दी थी तो उसके अनुसार उनकी पढ़ाई पूरी हो गई होगी।
... और पढ़ें

सौतेली मां के व्यवहार से आहत होकर दिल्ली चला गया था आप का पार्षद ताहिर, अब गांव में हो रही चर्चा

दिल्ली हिंसा में चर्चा में आया आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन मूल रूप से अमरोहा जिले के गांव पौरारा का रहने वाला है। वह बीस साल पहले गरीबी और सौतेली मां के व्यवहार से आहत होकर दिल्ली चला गया था। जहां उन्होंने फर्नीचर तैयार करने का काम सीखा। राजनीति में सक्रिय ताहिर अब पार्षद है। दिल्ली की हिंसा में नाम आने के बाद गांव पौरारा में ताहिर की चर्चा हो रही है।

जिले के आदमपुर थाना क्षेत्र के गांव पौरारा में कल्लन उर्फ कल्लू का परिवार रहता है। उनके परिवार में पत्नी के अलावा एक बेटा ताहिर हुसैन और दो बेटियां थी। पहली पत्नी की मौत के बाद कल्लन ने दूसरी शादी कर ली। सौतेली मां ताहिर हुसैन को परेशान करती थी। इस दौरान परिवार गरीबी से जूझ रहा था। ग्रामीणों के मुताबिक सौतेली मां उसे खाना भी नहीं देती थी। जिससे आहत होकर ताहिर हुसैन करीब बीस साल पहले घर छोड़कर दिल्ली चला गया था। जहां फर्नीचर की दुकान पर काम सीखा। 

ताहिर की ससुराल भी क्षेत्र के गांव पतेई खादर की है। ग्रामीणों के मुताबिक दिल्ली जाने के कुछ दिनों बाद ताहिर हुसैन अच्छी खासी जिंदगी जीने लगा। दिल्ली के कई मोहल्लों में उसके मकान है। दिल्ली के चांदबाग में जहां हिंसा हुई यहां भी ताहिर हुसैन का चार मंजिल मकान है। अब पार्षद ताहिर हुसैन चांदबाग में हुई हिंसा का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है। 

पुलिस के आला अफसरों से लेकर राजनैतिक गलियों में ताहिर हुसैन की चर्चा है। पुलिस ने भी ताहिर हुसैन को आरोपी मानते हुए उसके खिलाफ संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है। वहीं, दिल्ली की हिंसा में नाम आने के बाद गांव पौरारा में ताहिर की चर्चा हो रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us