विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

दिल्ली

शनिवार, 22 फरवरी 2020

दिल्ली में राष्ट्रपति ट्रंप मिलेंगे 'ओबामा', 'क्लिंटन' और 'बुश' से, यादगार होगा पल

चलती ट्रेन में सेना के जवान की लाइसेंसी पिस्टल चोरी

चलती ट्रेन में एक सेना के जवान की लाइसेंसी पिस्टल चोरी हो गई। सेना का जवान अपने परिवार के साथ अलीगढ से अंबाला जा रहा था। पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर नींद खुलने पर उसने पिस्टल को गायब पाया।

इस दौरान ट्रेन स्टेशन से रवाना हो चुकी थी। अंबाला स्टेशन पहुंचकर उसने रेलवे थाने में इसकी शिकायत की। उसकी शिकायत पर जीरो एफआईआर दर्ज करने के बाद उसे पुरानी दिल्ली रेलवे थाने को भेज दिया गया। पुरानी दिल्ली रेलवे थाना पुलिस ने अब चोरी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

पुलिस के अनुसार मूलत: बुलंदशहर के सुल्तानपुर बिलौनी गांव का रहने वाला सत्यपाल सेना में नायक के पद पर कार्यरत है। पिछले एक साल से उसकी तैनाती अंबाला कैंट में है। पुलिस को दी शिकायत में उसने बताया कि सात जनवरी को वह छुट्टी पर अपने गांव आया था।

जहां से 22 जनवरी को वह अपने परिवार के साथ कालका हावड़ा मेल से अलीगढ़ से अंबाला जा रहा था। ट्रेन में सत्यपाल को नींद आ गयी। पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर नींद खुलने पर उसने अपना लाइसेंसी पिस्टल गायब पाया। किसी से सेफ्टी रस्सी को काटकर पिस्टल की चोरी कर ली थी। 
... और पढ़ें

सफदरजंग अस्पताल में अब रात तक होगी डायलिसिस

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में जल्द ही मरीजों को डायलिसिस की वेटिंग से छुटकारा मिल सकेगा। जल्द ही अस्पताल प्रबंधन इस सुविधा को रात तक करने जा रहा है।

अस्पताल के नेफ्रोलॉजी विभाग की ओर से डायलिसिस की सुविधा रात 8 बजे तक करने का विचार किया है। हालांकि इस पर अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है लेकिन प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि एम्स से रैफरल मरीजों की संख्या काफी बढने के चलते सफदरजंग अस्पताल लगातार अपनी स्वास्थ्य सेवाओं को विस्तार देने में जुटा हुआ है।

अभी तक डायलिसिस शाम 4 बजे तक होता है, लेकिन अब इसमें चार घंटे की वृद्घि और की जाएगी। ताकि अस्पताल आने वाले मरीज को डायलिसिस की सुविधा मिल सके। दरअसल क्रोनिक किडनी रोग के मरीजों की लगातार बढ़ती जा रही है।

एम्स में लंबे समय से डायलिसिस के लिए मरीजों को जूझना पड़ रहा है। इसके चलते कई बार मरीजों को निजी डायलिसिस सेंटरों की मदद लेनी पड़ रही है। जबकि वहां ज्यादा कीमतें होने के चलते मरीज सरकारी अस्पताल पहुंचते हैं।

दिल्ली में कई अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध है, लेकिन सफदरजंग अस्पताल में इनकी संख्या काफी है। बताया जा रहा है कि अगले महीने से समय सीमा को बढ़ाया जा सकता है।
... और पढ़ें

जामिया से 16 सीसीटीवी फुटेज बरामद, पुलिस जांच पर कई सवाल

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की लाइब्रेरी के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एसआईटी ने जांच जोर-शोर से शुरू कर दी है। एसआईटी ने लाइब्रेरी से कुल 16 सीसीटीवी कैमरों के वीडियो बरामद किए हैं। 

पुलिस ने लाइब्रेरी का डीवीआर भी कब्जे में लिया है। सवाल यह है कि हिंसा के दो महीने बाद पुलिस ने लाइब्रेरी से सीसीटीवी फुटेज क्यों बरामद की। पहले यह काम क्यों नहीं हुआ। उधर, छेड़छाड़ की आशंका के कारण एसआईटी डीवीआर को फोरेंसिक जांच के लिए भेजने की तैयारी कर रही है। 

अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वीडियो लाइब्रेरी की कई जगहों के हैं। ज्यादातर वीडियो में छात्र पत्थरबाजी करते हुए और पुलिसकर्मी लाठी भांजते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस अधिकारी ने बताया कि वीडियो से फोटो बनवाए जा रहे हैं। 

इनमें पत्थर फेंकने वाले छात्रों व लाठी भांजने वाले पुलिसकर्मियों की पहचान की जाएगी और उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। जो जवान लाठी भांज रहे हैं, वे सभी आरपीएफ के हैं। हालांकि वीडियो में दिख रहा है कि जवान पत्थरबाजों के पीछे भागते हुए लाइब्रेरी में घुस रहे हैं। इससे संबंधित 5 वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे।

एसआईटी ने जामिया मिल्लिया के छात्रों से पूछताछ शुरू कर दी है। अभी उन छात्रों से ही पूछताछ की जा रही है, जिनकी एमएलसी बनी है। पुलिस ने अब तक दो नेताओं आशु खान व आसिफ मोहम्मद खान समेत 12 छात्रों से पूछताछ की है। 

सभी छात्रों का कहना है कि वह दंगे में शामिल नहीं थे। उनके मुताबिक, दंगे के समय वह या तो यूनिवर्सिटी के गेट पर थे या फिर अंदर। पुलिस जिन छात्रों से पूछताछ कर रही है, उनसे उनके मोबाइल नंबर भी ले रही है, ताकि दंगे वाले दिन उनकी लोकेशन का पता लगाया जा सके।
... और पढ़ें
जामिया हिंसा जामिया हिंसा

दिल्ली एम्स ने बनाया कीर्तिमान, पहली बार एक साल में किए दो लाख से ज्यादा ऑपरेशन

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने एक बार फिर नया रिकॉर्ड कायम कर दिया है। एम्स ने पहली बार एक साल में 2 लाख से ज्यादा मरीजों के ऑपरेशन किए हैं। अभी तक देश ही नहीं, बल्कि अमेरिका, चीन और जापान तक के किसी भी अस्पताल में 2 लाख ऑपरेशन सालाना नहीं हुए हैं। शुक्रवार को आई एम्स की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार बीते एक साल में 2,01,792 ऑपरेशन हुए हैं। 

वहीं सालाना ओपीडी में मरीजों की संख्या 12.41 फीसदी कम हुई है। मुख्य ओपीडी में मरीजों की संख्या 20.68 फीसद तक कम हो गई है। एम्स की ओपीडी में कुल 38 लाख 14 हजार 726 मरीजों का इलाज हुआ।

जबकि वर्ष 2017-18 में यह आंकड़ा 43 लाख 55 हजार 338 थी। हालांकि एम्स के कैंसर, हार्ट, डेंटल, ट्रॉमा सेंटर और झज्जर में बने केंद्रों पर ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या में वृद्घि हुई है।

इसके अलावा पिछले वर्षों की तुलना में एम्स में संक्रमण की स्थिति पहले से सुधारी है। वर्ष 2017-18 में एम्स के मुख्य अस्पताल में संक्रमण 6 फीसदी की दर से था लेकिन वर्ष 2018-19 के दौरान ये घटकर 5.8 फीसदी हुआ है। जबकि अस्पताल में प्रति मरीज रुकने की अवधि में वृद्घि देखने को मिली है। एम्स में प्रति मरीज रुकने की अवधि 9.3 से बढ़कर 9.5 दिन हो चुकी है।

इसके अलावा हार्ट व न्यूरो सेंटर में औसत बिस्तर अधिभोग (ऑक्यूपेंसी) दर में कमी आई है। ये दर 87.9 से कम होकर 84.9 फीसदी हो चुकी है। एम्स ट्रॉमा सेंटर में पहले 68 से बढ़कर 80 फीसदी बिस्तर वर्ष भर भरे रहने की स्थिति देखने को मिली है।
... और पढ़ें

प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकारों से कहा- पुलिस दे लिखित भरोसा तो खुल सकता है एक ओर का रास्ता

शाहीन बाग का रास्ता खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकारों को तीसरे दिन भी प्रदर्शनकारियों से जद्दोजहद करनी पड़ी। पुरुषों को बाहर कर केवल महिला प्रदर्शनकारियों से वार्ता में उन्होंने कहा कि आप लोग यातायात सामान्य करने के लिए कम से कम एक तरफ का रास्ता खाली कर दें। 

किसी भी खतरे की स्थिति में पुलिस आपको पूरी सुरक्षा देगी। जवाब में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर भरोसा न होने की बात कही। उनके सामने शाहीन बाग के एसएचओ ने चाक-चौबंध सुरक्षा का आश्वासन दिया, पर वे पुलिस के दावों को खोखला बताते रहे। 

प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन के सामने पुलिस से सुरक्षा का लिखित भरोसा देने को कहा। उन्होंने इसके बाद ही आगे की रणनीति का खुलासा करने की बात कही है।

वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन शुक्रवार देर शाम शाहीन बाग के प्रदर्शन स्थल पहुंचे। यहां साधना ने सबसे पहले पुरुष प्रदर्शनकारियों को मंच से बाहर जाने को कहा। उन्होंने केवल महिलाओं से वार्ता की बात कही। पुरुषों के जाने के बाद महिलाएं दो पंक्तियां बनाकर बैठ गईं। इसके बाद दोनों वार्ताकार मंच से उतरकर प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंच गए। 

प्रदर्शनकारी रास्ता खाली न करने पर अड़े रहे। वार्ताकार साधना ने कहा कि यहां इतने चेहरे हैं और हर कोई नेता नजर आता है। प्रदर्शनकारियों से कहा गया कि वे दूसरों की परेशानी भी समझें और कम से कम एक तरफ का ही रास्ता चालू होने दें। एक तरफ का रास्ता खाली करने की बात पर प्रदर्शनकारियों ने जामिया का हवाला देते हुए खुद को खतरा होने की बात कही।

वार्ताकारों ने मौके पर मौजूद शाहीन बाग के एसएचओ विजय पाल से पूछा तो उन्होंने पूरी सुरक्षा देने का आश्वासन दिया। पुलिस के इन दावों पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस से सुरक्षा की बात लिखित में मांगी। एसएचओ ने आला अधिकारियों से बातचीत कर आगे का निर्णय लेने की बात कही। 
... और पढ़ें

दिल्लीः मार्च से मिलने लगेंगे प्रदूषण के रीयल टाइम आंकड़े, स्रोत की भी मिलेगी जानकारी

निर्भया के दोषी
दिल्ली के वायु प्रदूषण का रीयल टाइम आंकड़ा मार्च से मिलने लगेगा। साथ ही सरकार को यह भी पता चलेगा कि प्रदूषण के स्रोत क्या-क्या हैं। इससे सरकार हर पल दिल्ली की आबोहवा पर नजर रख सकेगी। इसके आधार पर ही सरकार प्रदूषण से निपटने की कार्य योजना तैयार करेगी।

दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने शुक्रवार को ध्यान चंद स्टेडियम में बनाए जा रहे रीयल टाइम एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग सेंटर का दौरा किया। मौके का मुआयना करने के बाद वह निर्माण कार्य की प्रगति से संतुष्ट नजर आए। गोपाल राय ने बताया कि वाशिंगटन विश्वविद्यालय के सहयोग से इस केंद्र को तैयार किया जा रहा है। 

अभी दिल्ली के वायु प्रदूषण को बताने वाली तीन रिपोर्ट हैं। पुरानी होने के साथ तीनों रिपोर्ट में एक खास समय का डाटा लिया जाता है और उसके अनुमान पर वायु गुणवत्ता का आकलन किया जाता है। लेकिन नए केंद्र रीयल टाइम बेसिस पर प्रदूषण के स्रोत व स्तर का पता चल सकेगा। मार्च से सेंटर काम करने लगेगा। इससे योजना तैयार करने में सहूलियत होगी। 

गोपाल राय ने कहा कि केंद्र से आंकड़े मिलने की प्रक्रिया शुरू होने के बाद सरकार बड़ा अभियान लांच करेगी। इसमें दो बातों पर फोकस किया जाएगा। पहले से जो प्रदूषण है, उसे कैसे कम किया जाए और प्रदूषण को बढ़ने से रोका कैसे जाए। इसके आधार पर तैयार कार्य योजना दिल्ली का प्रदूषण घटाने में मददगार होगी।

मॉनिटरिंग केंद्र से मिलने वाले आंकड़े
. हर मिनट दिल्ली के प्रदूषण स्तर की मिलेगी जानकारी।
. समय विशेष का पीएम-10 और पीएम-2.5 का स्तर व इसके बढ़ने की वजह।
. सल्फर डाईऑक्साइड और कार्बन मोनो आक्साइड का स्तर।
. प्रदूषण का स्रोत, कितना पराली जलने से और कितना धूल से।
. कचरा जलाने से कितना हुआ प्रदूषण और कूड़ा चलाने से कितना प्रदूषण।
. मार्च में इस सेंटर से प्राथमिक रिपोर्ट सरकार को मिलने लगेगी।
... और पढ़ें

10 मिनट के लिए खुला शाहीन बाग का रास्ता, भड़क उठे प्रदर्शनकारी, सुरक्षाकर्मियों ने संभाला माहौल

कालिंदी कुंज के पास से फरीदाबाद की ओर जाने वाले रास्ते को शुक्रवार को दस मिनट के लिए खोल दिया गया। यह रास्ता नोएडा के यमुना पुल से होता हुआ कालिंदी कुंज मेट्रो स्टेशन तक आता है। नोएडा ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि पुल के पास एक गाड़ी के खराब होने से रास्ते पर जाम लग गया था। इसे देखते हुए कुछ देर के लिए रास्ते को चार पहिया वाहनों के लिए खोल दिया गया था। इससे पहले बैराज पुल से दोपहिया वाहन लंबे वक्त से आ रहे हैं। इस संबंध में कालिंदी कुंज के पास तैनात सुरक्षाकर्मियों का कहना है कि शाहीन बाग की ओर जाने वाला रास्ता अब भी बंद है। मामला कोर्ट में है। इसलिए बगैर किसी निर्देश के रास्ते को दोबारा शुरू नहीं किया जा सकता।
 
... और पढ़ें

निर्भया का दोषी विनय हो रहा सामान्य

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों की काउंसलिंग कराकर उनके व्यवहार को सामान्य करने का प्रयास हो रहा है। जेल अधिकारियों का दावा है कि चारों दोषियों का व्यवहार सामान्य है। इससे पूर्व तीसरी बार फांसी की तारीख तय होने के बाद दोषी विनय का व्यवहार उग्र हो गया था। उसे काउंसलिंग कराकर सामान्य किया जा रहा है। विनय की मुलाकात उसकी मां से कराई गई है। इसके बाद से वह सामान्य है।
फांसी की तारीख 3 मार्च को तय होने के बाद से दोषी विनय का व्यवहार आक्रामक हो गया था। उसने अपना सिर दीवार पर पटककर खुद को चोट पहुंचाने की कोशिश की। इस घटना के बाद तिहाड़ जेल प्रशासन ने दोषियों की सुरक्षा के उपाय और कारगर किए हैं। दोषियों की सेल में सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ उनकी काउंसलिंग कराई जा रही है। जेल अधिकारियों का कहना है कि विनय अब सामान्य व्यवहार कर रहा है। तनाव कम करने के लिए विनय की मुलाकात उसकी मां से कराई गई थी।
जेल अधिकारियों का कहना है कि सप्ताह में दो बार दोषियों की मुलाकात उनके परिवारवालों से कराई जाती है। दोषियों की लगातार काउंसलिंग से उनमें नकारात्मक प्रवृतियों आने से रोका जाता है। हर बार की काउंसलिंग के नतीजे को एक रजिस्टर में दर्ज किया जा रहा है।
... और पढ़ें

महिला सुरक्षा को लेकर केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, हर मोहल्ले में चार मार्शल की होगी नियुक्ति

राजधानी में महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार मोहल्ला मार्शल नियुक्त करने जा रही है। बस मार्शल की तर्ज पर हर मोहल्ले में चार मार्शल की तैनाती होगी। मार्शल की जिम्मेदारी अपने मोहल्ले की सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखने की होगी। महिला एवं बाल विकास विभाग इसका रोड मैप तैयार कर रहा है। जल्द ही इसका प्रस्ताव कैबिनेट में पेश किया जाएगा। सरकार की कोशिश है कि 2020 में पूरी दिल्ली में मोहल्ला मार्शल नियुक्त कर दिए जाएं।

इससे पहले शुक्रवार को महिला व बाल विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने इस बारे में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के साथ बैठक की। इसमें दिल्ली महिला आयोग के कामों पर चर्चा हुई। बैठक के बाद राजेंद्र पाल गौतम ने बताया कि पूरी दिल्ली में 6,000-7,000 मोहल्ले हैं। हर मोहल्ले में चार मार्शल तैनात किए जाएंगे। इनकी शिफ्ट आठ-आठ घंटे की होगी। दिन की शिफ्ट में एक-एक मार्शल रहेगा, जबकि रात की शिफ्ट में दो की तैनाती होगी। इस काम में सिविल डिफेंस या होमगार्ड के जवानों को लगाया जाएगा। इससे महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो सकेगी।

राजेंद्र पाल गौतम ने बताया कि विभाग अभी पूरी दिल्ली में मोहल्ला मार्शल तैनात करने का रोड मैप तैयार कर रहा है। जल्द ही इसका प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट में मंजूरी के लिए पेश किया जाएगा। गौतम के मुताबिक, विभाग की कोशिश है कि इस बजट में इसके लिए प्रावधान किया जाए। वहीं, इसी साल पूरी दिल्ली में इसकी तैनाती भी कर देनी है।

बुराड़ी के पॉयलट प्रोजेक्ट का परिणाम रहा बेहतर

स्वाति मालीवाल ने कहा कि महिला आयोग ने बुराड़ी में मोहल्ला मार्शल पर एक पॉयलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की थी। इसमें सिविल डिफेंस के कर्मियों को लगाया था। मार्शलों की तैनाती उन जगहों पर की गई, जो सबसे ज्यादा असुरक्षित थी। इससे संबंधित इलाकों की सुरक्षा व्यवस्था बेहतर हुई है। अब इसे दिल्ली की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में लागू किया जाएगा।

दिल्ली महिला आयोग में एससी/एसटी प्रकोष्ठ बने

राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग में विशेष एससी/एसटी महिला कल्याण प्रकोष्ठ बनाया जाएगा। प्रकोष्ठ अनुसूचित जाति की महिलाओं और लड़कियों के कल्याण की दिशा में काम करेगा। इस सुझाव का स्वाति मालीवाल ने स्वागत करते हुए कहा कि इस दिशा में काम किया जाएगा।

ट्रांसजेंडर के लिए अलग से बोर्ड

राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि दिल्ली सरकार ट्रांसजेंडरों के लिए एक विशेष बोर्ड के गठन पर काम कर रही है। बोर्ड इस समुदाय के सदस्यों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए ओर काम करेगा।
... और पढ़ें

येलो लाइन : आज रात 9

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो की ट्रैक मेंटेनेंस के कारण विश्वविद्यालय और कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन के बीच शनिवार रात 9:30 बजे से रात्रि सेवा समाप्त होने तक और रविवार सुबह 7:30 बजे तक इस सेक्शन पर ट्रेनें सिंगल लाइन पर चलेंगी। वहीं, यात्रियों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय से समयपुर बादली व कश्मीरी गेट से हुडा सिटी सेंटर के बीच दो लूप में मेट्रो सेवा का संचालन होगा।
डीएमआरसी के मुताबिक विधानसभा और विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन के बीच अप लाइन (समयपुर बादली-हुडा सिटी सेंटर) पर ट्रैक मेंटेनेंस वर्क की वजह से मेट्रो संचालन में परिवर्तन किया गया है। डीएमआरसी का कहना है कि यात्रियों को ज्यादा परेशानी का सामना न करना पड़े इसलिए नॉन पीक ऑवर में मेंटेनेंस वर्क का समय तय किया गया है। इस दौरान यात्रियों को 15 मिनट की फ्रीक्वेंसी पर मेट्रो मिलेगी। जबकि विश्वविद्यालय - समयपुर बादली और कश्मीरी गेट-हुडा सिटी सेंटर के बीच बनाए गए लूप पर ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी सामान्य रहेगी। इसके साथ ही यात्रियों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय से कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन तक नि:शुल्क मेट्रो फीडर बस सेवा भी उपलब्ध रहेगी।
... और पढ़ें

सिसोदिया से महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री ने की मुलाकात

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से शुक्रवार को महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने दिल्ली सचिवालय में मुलाकात की। इस दौरान सिसोदिया ने हैपिनेस क्लास की सफलता समेत दिल्ली के शिक्षा मॉडल के अपने अनुभव को सामंत से साझा किया। सिसोदिया ने कहा कि दोनों राज्यों के अनुभवों से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। इससे बच्चों को गुणवत्ता परक शिक्षा देने में मदद मिलेगी।
उधर, दोनों मंत्रियों की मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि महाराष्ट्र के शैक्षणिक सुधारों की दिशा में दिल्ली सरकार हरसंभव मदद करेगी। यह सहयोगी संघवाद का बेहतर उदाहरण है। दोनों राज्य एक-दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं।
सिसोदिया से मुलाकात के बाद उदय सामंत ने कहा कि वह दिल्ली के शिक्षा मॉडल को समझने आए थे। इस मॉडल को महाराष्ट्र सरकार भी लागू करेगी। इसके साथ महाराष्ट्र सरकार की तरफ से किए जा रहे प्रयासों के बारे में भी बात हुई। हमें दोनो राज्यों के बीच आपसी समझौते के बारे में सोचना चाहिए। सामंत ने कहा कि वह अपनी टीम के साथ जल्द ही फिर से दिल्ली आएंगे और यहां शिक्षा के क्षेत्र में होने वाले नवाचारों की जानकारी लेंगे। जबकि मनीष सिसोदिया ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में कुछ नए कार्यक्रम शुरू किए हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन