मंजिलें और भी हैं: लोगों के ताने और फुटबॉल के शौक ने बदल दी जिंदगी

नादिया निघात Updated Wed, 09 Oct 2019 02:20 AM IST
विज्ञापन
Nadia nighat, woman football coach in Jammu and Kashmir
Nadia nighat, woman football coach in Jammu and Kashmir - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
मैं तीन भाई-बहनों में सबसे छोटी थी। फुटबॉल खेलना मेरा बचपन का शौक था। मैं कश्मीर के श्रीनगर की रहने वाली हूं। फुटबॉल का खुमार जब मुझ पर चढ़ा, तब मैं यहां के एक सरकारी स्कूल में पढ़ रही थी। चूंकि यहां लड़कियों की कोई टीम नहीं होती थी, तो मैं घर के आंगन या फिर सड़क पर अपने आस-पास के लड़कों के बीच जाकर फुटबॉल खेलती थी।
विज्ञापन

मेरे साथ खेलने वाले लड़के, मुझसे अक्सर कहते थे कि तुम हमारे साथ फुटबॉल मत खेला करो, क्योंकि स्कूल के अन्य लड़के अक्सर उन्हें चिढ़ाते थे कि वे लड़की के साथ फुटबॉल खेलते हैं, जिससे मेरे साथ खेलने वाले लड़कों को शर्मिंदा होना पड़ता था। ऐसे में लड़कों जैसा दिखने के लिए मैंने अपने बाल काट लिए, लेकिन फुटबॉल खेलना जारी रखा। मैं ग्यारह वर्ष की उम्र से प्रोफेशनल स्तर पर फुटबॉल खेल रही हूं।
जिन लड़कों के साथ मैं फुटबॉल खेलती थी, उनको एक बार श्रीनगर के अमर सिंह कॉलेज एकेडमी के कोच मोहम्मद अब्दुल्ला के साथ फुटबॉल खेलने का मौका मिला, मैं भी उस टीम में शामिल थी। हालांकि कोच तुरंत पहचान गए कि मैं एक लड़की हूं, पर उन्होंने कोई आपत्ति नहीं जताई।
कोच के साथ फुटबॉल खेलने में मुझे इतना मजा आया कि मैंने अपने घर आकर मम्मी-पापा से फुटबॉल की कोचिंग लेने की जिद की। पापा तो तैयार हो गए, पर मम्मी इसके लिए बिल्कुल तैयार नहीं थी। तब कश्मीर के हालात को देखते हुए उन्हें लगता था कि एक लड़की होकर मैं फुटबॉल कैसे खेल सकती हूं। लेकिन जब मैंने एकेडमी जाना शुरू किया और धीरे-धीरे मेरे खेल की तारीफ शुरू हुई, तो मेरी मां ने भी मेरा साथ देना शुरू कर दिया। मैं एकेडमी में करीब 48 बच्चों की क्लास में अकेली लड़की थी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Education News in Hindi related to careers and job vacancy news, exam results, exams notifications in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Education and more Hindi News.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us