बच्चों ने जी5 को बनाया कोरोना काल का किंग, किड्स व्यूअरशिप में 200 फीसदी का इजाफा

मुंबई ब्यूरो, अमर उजाला Updated Fri, 24 Apr 2020 10:17 AM IST
विज्ञापन
Zee5
Zee5 - फोटो : अमर उजाला, मुंबई

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कोरोना वायरस की वजह से भारत में चल रहे लॉकडाउन में भारतीय नागरिकों के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्मों को मनोरंजन के सबसे प्रमुख साधनों में से एक माना जा रहा है। इस दौरान वयस्क जहां नेटफ्लिक्स, अमेजॉन प्राइम वीडियो और हॉटस्टार की ओर अपना रुख कर रहे हैं, वहीं यहां के बच्चों की रुचि भारत के देसी प्लेटफॉर्म जी5 में बढ़ी है। एक सर्वे में पता चला है कि लॉकडाउन के दौरान उनके प्लेटफॉर्म पर बच्चों की सामग्री देखने वालों की संख्या में 200 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस बढ़ी हुई व्यूअरशिप को बरकरार रखने के लिए जी5 ने चार हजार घंटे से ज्यादा की बच्चों की सामग्री अपने प्लेटफॉर्म पर परोस दी है।
विज्ञापन

जी5 को भारत में शुरू हुए लगभग दो साल ही बीते हैं। हाल ही में रिलीज हुई 'स्टेट ऑफ सीज: 26/11' जैसी वेब सीरीजों के बाद लॉकडाउन में इस प्लेटफॉर्म को भारी दर्शक मिल रहे हैं। प्लेटफॉर्म की तरफ से किए गए विश्लेषण में कुछ और महत्वपूर्ण आंकड़े सामने आए हैं। बताया गया है कि जी5 पर रोजाना के सक्रिय उपभोक्ताओं की संख्या में 15 फीसदी और मासिक सक्रिय उपभोक्ताओं में 22 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। फिल्मों की व्यूअरशिप में 92 फीसदी और बाकी की सामग्री में 37 फीसदी तक ज्यादा उपभोक्ता सक्रिय हुए हैं। कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन की खबरें जानने के लिए भी विभिन्न भाषाओं के लोग जी5 पर भ्रमण कर रहे हैं। इनकी संख्या भी 78 फीसदी तक बढ़ी है।
लॉकडाउन के दौरान अगर पूरी डिजिटल व्यूअरशिप की बात करें तो नीलसन की रिपोर्ट के मुताबिक जहां लोग एक हफ्ते में 23.6 घंटे तक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते थे, वहां अब वे 25 घंटे तक करने लगे हैं। लॉकडाउन की वजह से टीवी पर कोई नया शो नहीं है और ना ही प्रिंट मीडिया कुछ नया दे पा रहा है। ऐसे में डिजिटल प्लेटफॉर्मों पर लोग रोजाना 87 प्रतिशत तक सक्रिय हो गए हैं। मनोरंजन की खोज में लोग ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर निर्भर हो गए हैं। इस वजह से ओटीटी के उपभोक्ताओं में 1.6 गुना की वृद्धि हुई है। लॉकडाउन अगर आगे बढ़ता है तो इसकी मात्रा में और ज्यादा वृद्धि होने के आसार हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us