विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन माह में कराएं बाबा बैद्यनाथ का रुद्राभिषेक , होगी मनवांछित फल की प्राप्ति
SAWAN Special

सावन माह में कराएं बाबा बैद्यनाथ का रुद्राभिषेक , होगी मनवांछित फल की प्राप्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गोरखपुर में मिले 18 नए कोरोना पॉजिटिव, एक संक्रमित की लखनऊ में हुई मौत

गोरखपुर जिले में लगातार कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को शहर में चार नए मरीज मिले हैं। इसके अलावा 14 मरीज ग्रामीण क्षेत्रों में मिले हैं। वहीं, लखनऊ में भर्ती एक कोरोना पीड़ित महिला की मौत भी हो गई है।

मौजूद समय में जिले में 485 पॉजिटिव केस हैं। इसकी पुष्टि सीएमओ डॉ श्रीकांत तिवारी ने की है। उन्होंने बताया कि सदर में लालडिग्गी में एक, मिर्जापुर में एक, बसंतपुर में और मौर्या टोला में एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में बड़हलगंज में नौ मरीज मिले हैं। इनमें काली चौराहा एक, शुकुलपुरी में एक, महादेवा में एक, महुलिया पोयल में एक, तिवारीपुर में दो, बेलिया में दो और चिल्लूपार में एक। पाली के बड़गो में एक, कौड़ीराम के सुखना बेलीपार में दो, खजनी में एक, चरगांवा के चिलुआताल में एक केस मिला है।

सीएमओ ने बताया कि कोरोना मृत मरीजों की संख्या 13 से बढ़कर 14 हो गई है। लखनऊ में भर्ती एक महिला की मौत मंगलवार को हुई है।
... और पढ़ें
कोरोना वायरस। कोरोना वायरस।

Corona Alert: गोरखपुर में कोरोना चेन तोड़ने के लिए 14 जुलाई तक बंद रहेगी किराना मंडी

गोरखपुर किराना कमेटी के पदाधिकारियों ने मंगलवार को किराना कमेटी के संरक्षक व महापौर सीताराम जायसवाल की अध्यक्षता में एक आपात बैठक की। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए पूर्वांचल के सबसे बड़ी किराना मंडी साहबगंज को 9 जुलाई से 14 जुलाई तक बंद रखेंगे।

महापौर सीताराम जायसवाल ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस प्रतिदिन अपना प्रभाव बढ़ाता जा रहा है। किराना मंडी में पूर्वांचल के व्यापारी आते हैं, आज मंडी का अधिकांश हिस्सा कोरोना के चपेट में आ गया है। इसे रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ही सबसे प्रभावकारी उपाय है।

ऐसे में हम सभी ने निर्णय लिया कि कोरोना के बढ़ते श्रृंखला को तोड़ने के लिए किराना मंडी एक सप्ताह के लिए बंद रखेंगे। कमेटी के अध्यक्ष उमेश चंद्र मद्धेशिया ने कहा कि सभी दुकानदार अपनी अपनी दुकानें 9 जुलाई से 14 जुलाई तक बंद रखेंगे। कोरोना महामारी के चेन को तोड़ने के लिए दुकानों को बंद रखेंगे।

इस दौरान सिर्फ माल की अनलोडिंग होगी जबकि माल की कोई भी लोडिंग नहीं होगी। किराना कमेटी के उपाध्यक्ष अनिल जायसवाल व महामंत्री गोपाल जायसवाल ने किराना व्यापारियों से अपील करते हुए कहा कि कमेटी द्वारा घोषित बंदी के दौरान अपने प्रतिष्ठान को बंद रखते हुए महामारी को समाप्त करने में सहयोग करें। आप घर पर रहे, सुरक्षित रहें, आपका परिवार सुरक्षित रहें, यही गोरखपुर किराना कमेटी का आग्रह है।

बैठक में दिनेश गुप्ता, निरंजन गुप्ता, जयकुमार आल्हा, श्यामू अग्रहरि, गुड्डू, मनोज बंसल, पंकज जायसवाल, अंकित मद्धेशिया, इरफान, विष्णु जायसवाल, अशोक मलानी, अतुल अग्रवाल, दीपक छापोलिया, कौशल अग्रहरि, सतीश गुप्ता, रामनिवास मद्धेशिया, नरेश बजाज, दिनेश गुप्ता, रवि जायसवाल, अनिल जैन, अरविंद जायसवाल, सनी निगम, कुणाल मद्धेशिया, मनीष मद्धेशिया, विजय कुमार गुप्ता समेत अन्य व्यापारी उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

चार दशक तक गंडक नदी के किनारे चलती थी 'जंगल पार्टी' की सरकार, खेत बोता था किसान, फसल काटते थे डकैत

UP Police station
बिहार बार्डर से सटे जिले के उत्तरी छोर पर गंडक नदी के दियारा में चार दशक तक जंगल पार्टी के डकैतों की हुकूमत चलती थी। बंदूक के बल पर दिनदहाड़े अपहरण, फिरौती और हत्या जैसी घटनाओं को अंजाम देकर ये अपराधी नेपाल देश में छिप जाते थे।

खैरा व बेंत की तस्करी और बालू घाटों से अवैध वसूली के चलते जंगल डकैतों के पास रुपये और हथियारों की कमी नहीं होती थी। हालात इतने खराब हो गए कि पुलिस भी इनसे सीधे मुठभेड़ से बचने लगी थी। वर्ष 1970 के आसपास शुरू हुआ यह तांडव वर्ष 2010 तक चलता रहा।

इसे भी पढ़ेंः
गोरखपुर के लाल को लगी गोली, मां बोली- 'देश के लिए सब कुर्बान'

गंडक नदी के दोनों तरफ की जमीन बेहद उपजाऊ है। आजादी के काफी पहले से इस क्षेत्र में धान व गन्ने की खेती होती रही है। बाद में वाल्मीकिनगर के जंगल से खैरा की लकड़ी व बेंत काटकर देश के बड़े शहरों में भेजा जाने लगा। इस धंधे से जब कई प्रभावशाली लोग जुड़े तो लकड़ी व बेंत का यह कारोबार अवैध रूप से भी चलने लगा।
... और पढ़ें

गोरखपुर में भी हैं विकास दुबे जैसे बदमाश, मुकदमों की है लंबी लिस्ट, जानिए किस पर कितने केस

अपराध के रास्ते राजनीति में आए लोगों पर नजर रखने के लिए गोरखपुर जिले के टॉप टेन बदमाशों की पुरानी सूची खंगाली जा रही है। कानपुर की घटना से पहले ही जिले में बनी ऐसी ही एक टॉप टेन की सूची में पिपरौली ब्लॉक प्रमुख सुधीर सिंह का नाम तीसरे नंबर पर दर्ज है।

सुधीर के अलावा सूची में माफिया प्रदीप सिंह, विनोद उपाध्याय और अयोध्या जायसवाल का नाम शामिल है। सूची में एक मृत बदमाश का नाम भी शामिल है। पुलिस अब बदमाशों के आपराधिक इतिहास व उनकी गतिविधि की जानकारी नए सिरे से तलाश रही है।
 
जानकारी के मुताबिक, कानपुर मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद से ही पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। अफसर किसी भी बदमाश को राजनीतिक हो या दूसरा संरक्षण, छोड़ने के मूड में नहीं है। इसी क्रम में जिले के टॉप टेन की सूची निकाली गई है जिसे अब अपडेट भी किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें
विकास दुबे की तरह इस बदमाश के नाम भी दर्ज हैं 60 आपराधिक मुकदमें, अब जेल में लिख रहा 'किताब'

आपको बताएं, यूपी में अपराध पर लगाम लगाने के लिए पूर्व पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने सभी जिलों से टॉप टेन बदमाशों की एक सूची तैयार कराई थी। इस सूची में उन लोगों के नाम भेजे गए थे, जिनके खिलाफ सख्ती से पूरे जिले में शांति कायम रह सके। इसी क्रम में गोरखपुर पुलिस ने 10 लोगों का नाम शासन को भेजा था। लिस्ट में शामिल बदमाशों में ज्यादातर जमानत पर बाहर हैं।
... और पढ़ें

आम आदमी की थाली से सब्जियां गायब, एक सप्ताह में तीन गुने हो गए इसके भाव

कुशीनगर में मिले 11 और कोरोना पॉजिटिव, कुल संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 186

कुशीनगर जिले में सोमवार की देर रात बीआरडी मेडिकल कालेज से आई 261 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट में 11 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि 250 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव रही है। इन्हें लेकर अब तक 186 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से पांच की मौत हो गई है जबकि 67 लोग पॉजिटिव हैं।

अब तक 114 लोग बीमारी से जंग जीतकर घर लौट चुके हैं। सोमवार की रात में आई रिपोर्ट में पांच मरीज तमकुहीराज तहसील क्षेत्र के रहने वाले हैं, जबकि अन्य मरीज मोतीचक, खड्डा, कसया और नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के निवासी हैं।

सीएमओ डॉ. एनपी गुप्ता ने बताया कि जिन 11 लोगों की सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आई, उनमें तमकुहीराज तहसील क्षेत्र के दुदही ब्लॉक के धोकरहा शुक्ल पट्टी, देवीपुर व चाफ, तमकुही क्षेत्र के बभनौली और फाजिलनगर क्षेत्र के मधुरिया के लोग हैं। इनके अलावा कसया क्षेत्र के कुड़वा धन्नीपट्टी, नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के पड़रही, खड्डा क्षेत्र के छितौनी और मोतीचक ब्लॉक के लक्ष्मीपुर धूस के एक-एक व्यक्ति हैं।

इन सभी मरीजों को लक्ष्मीपुर के अटैच एल-1 हास्पिटल में भर्ती करा दिया गया है। इन गांवों में स्वास्थ्य टीम भेजकर संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है। मंगलवार को 297 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया जबकि 386 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट अभी प्रतीक्षारत है।
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us