हिस्ट्रीशीटर नंगा निषाद व उसके बेटों ने पुलिस पर दो बार किया था हमला, अब खुलेआम घूम रहे

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Updated Sat, 04 Jul 2020 07:08 PM IST
विज्ञापन
सांकेतिक तस्वीर।
सांकेतिक तस्वीर। - फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

सार

  • हिस्ट्रीशीटर की पिटाई से खोराबार इंस्पेक्टर प्रदीप सिंह आठ महीने कोमा में थे, एक वर्ष बिस्तर पर पड़े रहे
  • अब सहारा इस्टेट में रहने वाले कारोबारी को धमकाया, सिक्टौर स्थित जमीन की बाउंड्रीवाल भी गिराई

 

विस्तार

हिस्ट्रीशीटर के घर दबिश देने के दौरान गोरखपुर में भी पुलिस पर कई बार हमले हो चुके हैं। खोराबार थाने के हिस्ट्रीशीटर नंगा निषाद व उसके बेटों ने इंस्पेक्टर सहित पुलिसकर्मियों पर दो बार हमला किया। जमकर मारापीटा और बंदूकें भी लूट ली थीं। इसी 19 जून 20 को ही नंगा निषाद के हिस्ट्रीशीटर बेटों दयाशंकर निषाद व दिलीप निषाद ने सहारा इस्टेट में रहने वाले एक बड़े कारोबारी से गालीगलौज की और जान से मारने की धमकी दी।
विज्ञापन

साथ ही कारोबारी के सिक्टौर स्थित 16 डिसमिल भूमि पर बनी बाउंड्रीवाल गिरा दी। यह मामला पुलिस के आला अफसरों तक पहुंचा। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब सहारा इस्टेट में रहने वाले कारोबारी डरे हैं। उनका कहना है कि हिस्ट्रीशीटर बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं।
कानपुर में हुई घटना के बाद शुक्रवार को कुछ व्यापारियों ने अमर उजाला संवाददाता से मिलकर अपनी तकलीफ दोबारा साझा की। कहा कि उन्हें भय है कि पुलिस की ढिलाई, उनकी जान पर न भारी पड़े।
इसे भी पढ़ें- कानपुर एनकाउंटर: घर के सबसे छोटे बेटे को लगी गोली तो फफक कर रो पड़ा पूरा परिवार, बोले- 'यकीन नहीं हो रहा'
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

दबिश देने र्गई पुलिस पर अचानक किया था हमला

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us