कोरोना संकट के बाद स्कूलों में होगा ये बड़ा बदलाव, जानिए एक साल तक कैसी रहेगी विद्यार्थियों की दिनचर्या

विवेक सिंह, अमर उजाला, गोरखपुर। Updated Sun, 10 May 2020 09:23 AM IST
विज्ञापन
स्कूल में प्रार्थना के दौरान बच्चे (फाइल फोटो)।
स्कूल में प्रार्थना के दौरान बच्चे (फाइल फोटो)। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
कोरोना संकट के बाद बेसिक और माध्यमिक शिक्षा में बड़ा बदलाव होगा। इस दिशा में काम चल रहा है। स्कूल संचालकों से जो फीडबैक लिया गया है, उसके मुताबिक स्कूलों में एक साल तक खेल, प्रार्थना सभा और सभी तरह के समारोहों पर रोक लगाई जा सकती है। इसका खाका मानव संसाधन विकास मंत्रालय तैयार कर रहा है। लैब, लाइब्रेरी भी बंद की जा सकती है। इंटरवल पीरियड को भी प्रतिबंधित करने की तैयारी है।
विज्ञापन

 
जिले के स्कूल मार्च से ही बंद हैं। संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर यह कहा जा सकता है कि जून से पहले स्कूलों के खुलने के कोई आसार नहीं हैं। इससे पहले ही पठन-पाठन के नियमों में बदलाव की कवायद शुरू कर दी गई है। हाल ही में मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से आयोजित वेबिनॉर में स्कूल संचालकों से इस सिलसिले में बात की गई थी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

शिफ्ट में स्कूल या क्लास चलाने की योजना

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us