बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत
Myjyotish

गुरुवार को इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, ग्रह-नक्षत्र दे रहे हैं संकेत

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

जनता दरबार: सीएम योगी ने सुनी लोगों की फरियाद, अधिकारियों को लगाई कड़ी फटकार, देखें तस्वीरें

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में दो दिवसीय दौरे पर हैं। दौरे के दूसरे दिन गुरुवार यानी आज मुख्यमंत्री गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित हिंदू सेवाश्रम में जनता दर्शन में आए। इस दौरान उन्होंने सभी फरियादियों की समस्याएं सुनी। इस मौके पर वहां मौजूद अधिकारियों को फटकार लगाते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि लोगों की समस्याओं का निस्तारण समयबद्ध तरीके से होना चाहिए। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

हर बार की तरह इस बार अधिकतर मामले कानून और जमीन से जुड़े हुए थे। फरियादी अपनी फरियाद लेकर सुबह से ही लाइन में लग गए थे। इसमें बुजुर्ग, युवा, महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। फरियादियों में कई लोगों की मुलाकात सीएम योगी से नहीं हो पाई इसलिए वे जरूर थोड़े निराश दिखे। हालांकि सभी लोगों के शिकायत पत्र ले लिए गए हैं। 
... और पढ़ें
जनता दरबार में लोगों की फरियाद सुनते सीएम योगी आदित्यनाथ। जनता दरबार में लोगों की फरियाद सुनते सीएम योगी आदित्यनाथ।

गोरखपुर: रोहिन ने पार किया खतरे का निशान, राप्ती नदी का भी जलस्तर बढ़ा

कई दिनों से लगातार हो रही बारिश से गोरखपुर मंडल में बहने वाली नदियां उफान पर हैं। रोहिन नदी खतरे के लाल निशान को पार कर गई है। वहीं राप्ती नदी का जलस्तर डेढ़ मीटर से अधिक बढ़ गया है। यही रफ्तार रही तो गुरुवार यानी आज राप्ती भी लाल निशान के करीब पहुंच जाएगी। इसी प्रकार घाघरा का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। यह भी जल्द खतरे के निशान के करीब पहुंच जाएगी। उधर, गंडक नदी में चार लाख क्यूसेक से अधिक पानी आने से स्थिति भयावह हो गई है।

इस साल मई महीने में लगातार बारिश होने की वजह से पहले ही नदियों में काफी पानी आ गया है। राप्ती नदी मई में जहां दो मीटर तक बढ़ गई थी, वहीं गोर्रा का जलस्तर चार मीटर ऊपर आ गया था। पूर्वांचल के मैदानी इलाकों के अलावा नेपाल में भी भारी बारिश हो रही है। इसका असर मंडल में बहने वाली नदियों के जलस्तर पर दिख रहा है। क्योंकि यहां की अधिकतर नदियां नेपाल की पहाड़ी से निकलकर पूर्वांचल के मैदानी इलाकों में बहती हैं।
... और पढ़ें

धर्म कर्म: जानिए गुरुवार को किन देवताओं की होती है आराधना, कैसे किया जाता है इनको प्रसन्न

हिंदू धर्म में हर दिन का अलग महत्व है। सभी देवी-देवताओं के आराधना के लिए अलग-अलग दिन बताए गए हैं। आज गुरुवार है और यह दिन जगत के पालनहार भगवान विष्णु और देवों के गुरु बृहस्पति देव का है। इस दिन विधि-विधान से भगवान विष्णु और बृहस्पति की पूजा-अर्चना का विशेष महत्व है।

पंडित शरद चंद्र मिश्र के अनुसार, पक्षियों में सबसे विशाल गरुड़ ने भगवान विष्णु को कठिन तपस्या करके प्रसन्न किया था, जिसके फलस्वरूप भगवान विष्णु ने उनको अपने वाहन के रूप में स्वीकार किया। गुरु का अर्थ भारी होता है और गरुड़ भी पक्षियों में सबसे भारी हैं।

गरुड़ की सफल तपस्या के कारण गुरुवार का दिन भगवान विष्णु की पूजा को समर्पित हो गया। बताया कि गुरुवार का दिन भगवान बृहस्पति की पूजा के लिए शुभ माना गया है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान बृहस्पति देवताओं के गुरू माने गए हैं और इसी तरह पीला रंग संपन्नता का प्रतीक भी है, यही वजह है कि पीला रंग इस दिन को समर्पित किया गया है।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर: न्यायालय के संचालन की नई गाइडलाइन जारी, हाईकोर्ट के आदेश पर जिला जज ने जारी किया आदेश

उच्च न्यायालय इलाहाबाद की ओर से जारी दिशानिर्देश के अनुपालन में गोरखपुर जनपद न्यायाधीश दुर्ग नरायन सिंह ने दीवानी न्यायालय स्थित समस्त न्यायालयों के संचालन के लिए पूर्व में जारी दिशा निर्देश में संशोधन किया है।

आदेश के अनुसार समस्त संचालित न्यायालयों में लंबित एवं नवीन जमानत/अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र, रिलीज प्रार्थना पत्र, धारा 164 का बयान, रिमांड कार्य अन्य आवश्यक प्रक्रीर्ण फौजदारी प्रार्थना पत्र, नामित/नियुक्त पीठासीन अधिकारियों के न्यायालयों से संबंधित लघु प्रकृति के आपराधिक वादों का निस्तारण, माननीय हाई पावर कमेटी द्वारा समय-समय पर निर्गत दिशा निर्देशों के अनुपालन व सिविल प्रकृति के आवश्यक एवं त्वरित प्रकृति के वाद, उपरोक्त सभी कार्य कुल 10 न्यायिक अधिकारियों द्वारा रोटेशन/टाइम स्लॉट के आधार पर किया जाएगा। 

यदि किसी मामले में किसी केस का निस्तारण अतिआवश्यक हो तो संबंधित न्यायालय के पीठासीन अधिकारी जनपद न्यायाधीश की पूर्व अनुमति प्राप्त कर उस मामले में साक्ष्य अभिलिखित कर उस मामले में विचारण कर सकते है। इस निमित्त उक्त मामले से संबंधित वादकारी/अधिवक्ता न्यायालय परिसर में अद्योहस्ताक्षरित की अनुमति से प्रवेश कर सकेंगे, जिन्हें किसी प्रकार की बीमारी न हो।
... और पढ़ें

गोरखपुर: आज सीएम योगी कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर करेंगे रवाना, वैक्सीनेशन का भी लेंगे जायजा

प्रतीकात्मक तस्वीर
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को करीब एक घंटे नगर निगम में रहेंगे। इस दौरान वह कूड़ा निस्तारण के लिए मंगाई गई 20 कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना करेंगे। साथ ही रेहड़ी-पटरी और दवा व्यापारियों के लिए लगे विशेष वैक्सीनेशन शिविर का भी निरीक्षण करेंगे। दोपहर बाद वह एनेक्सी भवन में एक घंटे तक मेयर और पार्षदों के साथ बैठक करेंगे।

मेयर सीताराम जायसवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री का कार्यक्रम मिल गया है। वह दिन में 11 बजे नगर निगम में पहुंच जाएंगे। सबसे पहले नगर निगम के गेस्ट हाउस में लगाए गए वैक्सीनेशन शिविर का जायजा लेंगे। वहां वैक्सिन लगवाने वाले रेहड़ी-पटरी वालों से बात भी करेंगे।

इसके बाद वह कूड़ा निस्तारण के लिए मंगाई कंपैक्टर मशीनों को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना करेंगे। इस मशीन से कूड़ा ठोस गोले में तब्दील कर दिया जाएगा। तीन से चार वार्डों के बीच एक कंपैक्टर गाड़ी को लगाया जाएगा।

मेयर ने बताया कि मुख्यमंत्री निर्माणाधीन सदन हाल का भी निरीक्षण कर सकते हैं। उनसे शहर के विकास को लेकर अलग से वार्ता का कार्यक्रम है। दोपहर बाद सर्किट हाउस के एनेक्सी भवन में पार्षदों के साथ मुख्यमंत्री विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। मेयर ने कहा कि मैं स्वयं भी मौजूद रहूंगा। कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारियों पर चर्चा की उम्मीद है।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर: सीएम योगी ने सीएचसी जंगल कौड़िया का किया निरीक्षण, बोले- सुनिश्चित हो चिकित्सकों का रात्रि प्रवास

गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी लहर को बेअसर करने के लिए सरकार संकल्पित भाव से कार्य कर रही है। प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करें कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) पर सभी आवश्यक चिकित्सकीय संसाधनों का इंतजाम रहे, नियमित ओपीडी चले और चिकित्सक नियमित रात्रि प्रवास करें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि टीकाकरण की व्यवस्था लोगों के घर या दफ्तर के नजदीक ही करें।

सीएम योगी बुधवार को सीएचसी जंगल कौड़िया का निरीक्षण कर रहे थे। इस सीएचसी को मुख्यमंत्री ने गोद लिया है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों से सीएचसी में तैनात चिकित्सकों, लेबर रूम, ओपीडी आदि के बारे में जानकारी ली। सीएम ने इस बात पर खास जोर दिया कि सीएचसी पर डॉक्टर रात में जरूर उपलब्ध रहें। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लेने के बाद कहा कि यहां आने वाले मरीजों का इलाज सेवा भावना से करें।

सीएम योगी ने कोविड वैक्सिनेशन का भी हाल जाना। टीका लगवा रहे लोगों के बीच पहुंचकर उन्होंने कुछ लोगों से बातचीत भी की। उनकी परेशानी के बारे में पूछा। लोगों ने टीकाकरण की अच्छी व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड से बचाव में टीका सुरक्षित और असरदार है। खुद टीका लगवाने के बाद और लोगों को भी प्रेरित करें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि टीकाकरण केंद्रों की ऐसी व्यवस्था करें जिससे शहर या देहात के लोगों को नजदीक ही सुविधा उपलब्ध हो जाए।


 
... और पढ़ें

गोरखपुर: सीएम योगी ने महंत अवेद्यनाथ महाविद्यालय के निमार्ण कार्य का किया निरीक्षण, बोले- गुणवत्ता से समझौता न हो

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय व स्टेडियम का निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरा करने को कहा, ताकि इस शैक्षिक सत्र से महाविद्यालय में पठन-पाठन शुरू हो सके। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में गुणवत्ता से समझौता नहीं होना चाहिए।

बुधवार दोपहर अचानक गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी गोरखनाथ मंदिर में पूजन-अर्चन के बाद रसूलपुर चकिया, जंगल कौड़िया में महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय व स्टेडियम का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने महाविद्यालय के सभी कमरों और छात्रावास का जायजा लिया।

यहां पर 90 की क्षमता का बालक और 60 की क्षमता का बालिका छात्रावास बनाया जा रहा है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि छात्रावास में हर प्रकार की जरूरी सुविधाएं होनी चाहिए। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि वे हर सप्ताह कार्यों का निरीक्षण करें और एक-एक कर सभी कार्यों को फाइनल करते रहें। गुणवत्ता का विशेष ध्यान रहे।

सीएम योगी ने कहा कि इस सत्र से महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय में पढ़ाई शुरू हो जानी चाहिए, ताकि क्षेत्र के युवाओं को उच्च शिक्षा का नया मंच मिल सके। करीब 30.34 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे राजकीय महाविद्यालय का निर्माण उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम द्वारा कराया जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि 80 प्रतिशत का काम पूरा हो चुका है। वहीं, मुख्य भवन का कार्य 93 प्रतिशत पूरा हो चुका है। बालक व बालिका छात्रावास का निर्माण भी क्रमश: 95 व 93 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। वहीं, 10.16 करोड़ रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) की लागत से बन रहे महंत अवेद्यनाथ जी महाराज स्टेडियम का निर्माण भी 70 प्रतिशत पूरा कर लिया गया है। स्टेडियम में 250 लोगों की क्षमता का पवेलियन भी बन रहा है। स्टेडियम में मिट्टी समतलीकरण का काम 95 फीसद हो चुका है।


 
... और पढ़ें

यूपी: टीकाकरण के लिए अगले माह से घर-घर पहुंचेगी 'बुलावा पर्ची', इन लोगों से ली जाएगी मदद

गोरखपुर में कोविड टीकाकरण की रफ्तार में तेजी लाने के लिए विभाग हर संभव कोशिश में जुटा हुआ है। इसके तहत अब अगले महीने से घर के करीब ही केंद्र बनाकर लोगों के टीकाकरण कराने की तैयारी है। इसके लिए लोगों को उसी तर्ज पर बाकायदा 'बुलावा पर्ची' भेजी जाएगी, जैसे लोकसभा-विधानसभा व अन्य चुनाव में मतदान के लिए भेजी जाती है। इसमें टीकाकरण की तिथि और स्थान का उल्लेख होगा। ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, पंचायत सेक्रेटरी और युवक मंगल दल/महिला मंगल दल का भी इसमें सहयोग लिया जाएगा।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव-स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने इसे लेकर कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। सीएमओ डॉ सुधाकर पांडेय ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए विकास खंड को तथा शहरी क्षेत्र में शहरी निकाय को इकाई के रूप में लेकर कार्ययोजना बनानी है। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पूरी खबर...


 
... और पढ़ें

गोरखपुर: लापता भाई-बहन का नहीं मिला सुराग, पोखरों में भी की गई तलाश

गोरखपुर के हरपुर बुदहट इलाके के कटसहरा गांव से मंगलवार को खेलने निकले भाई-बहन के लापता होने का सुराग नहीं लग पाया है। घटना की सूचना पर मंगलवार रात एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु खुद पहुंचे और जांच करवाई।

पुलिस भी बुधवार की सुबह आसपास के पोखरों में भी गोताखोर की मदद से खोजबीन करवाई, लेकिन पता नहीं चला। उधर, पति ने छह महीने पहले घर छोड़कर गई पत्नी पर बहका कर गायब कराने का संदेह जाहिर किया है। पुलिस ने इस बिंदु पर भी काम शुरू कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, कटसहरा के इंद्रकुमार के दो बच्चे दस साल की सुंदरी और पांच साल का लवकुश गांव में ही मंदिर के पास खेल रहे थे फिर बाजार की ओर चले गए। इसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला। दोपहर तक बच्चों के नहीं लौटने पर घरवालों ने तलाश की, फिर पुलिस को सूचना दी।

पुलिस ने तहरीर पर अपहरण का केस दर्ज कर जांच शुरू की। सूचना पर एसएसपी दिनेश कुमार, एसपी साउथ अरुण कुमार सिंह भी पहुंच गए और एक-एक घर में तलाशी अभियान चलाया गया। एसएसपी की ओर से सूचना देने वालों को 25 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा भी की गई है।

एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि पुलिस की कई टीमें लगाई गईं हैं। पति ने पत्नी पर संदेह जाहिर किया है, इसकी भी जांच की जा रही है। जल्द ही बच्चों को बरामद कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us