विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Haryana: फरीदाबाद में एक और केस, अब कुल 22 मरीज, छह ठीक होकर घर पहुंचे

हरियाणा में सोमवार को नया केस सामने आया। फरीदाबाद में एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की खबर है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अंबाला

मंगलवार, 31 मार्च 2020

गोदाम में काम कर रहे थे आठ मजदूर, सभी को लगा करंट, दो की मौके पर मौत, चार चंडीगढ़ पीजीआई भेजे

अंबाला सिटी। सद्दोपुर रेलवे फाटक के पास निर्माणाधीन गोदाम में काम रहे 8 मजदूर करंट की चपेट में आ गए। इनमें से दो मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 6 को आनन-फानन में शहर नागरिक अस्पताल पहुंचाया गया। इनमें से 4 को प्राथमिक उपचार के बाद पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। हादसे में मारे जाने वालों के नाम सुनील और रामकरण हैं, यह दोनों भी यूपी के निवासी बताए गए हैं।
जानकारी के अनुसार सद्दोपुर मेें रेलवे फाटक के पास एक गोदाम का निर्माण कार्य चल रहा था। सुबह करीब 10 बजे जब यह मजदूर मिक्सर को धक्का लगाने लगे तो मिक्सर ऊपर से जा रही बिजली की तार से टकरा गया। हाईवोल्टेज तारों के संपर्क में आते ही धक्का मार रहे सभी 8 मजदूर इससे झुलस गए। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
हादसे में यह झुलसे
हादसे में 20 वर्षीय गौरव निवासी यूपी बिजनौर, 35 वर्षीय बजरंग उत्तर प्रदेश गौंडा निवासी, 40 वर्षीय बेकारू, 35 वर्षीय रामजनक बस्ती उत्तर प्रदेश निवासी, 18 वर्षीय कर्ण व एक अन्य मजबूर झुलस गया। यह सभी अचेत अवस्था में लाए गए थे।
accident
accident- फोटो : Ambala
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: हरियाणा सरकार दिहाड़ी मजदूर-गरीबों को देंगी हर माह 4500 रुपये, 10 बड़ी घोषणाएं

हरियाणा सरकार ने कोरोना से जंग के बीच आमजन को राहत के लिए बड़ी घोषणाएं की हैं। किसानों के लिए विशेष राहत पैकेज तैयार हो रहा है, 28 मार्च से पहले घोषणा की जाएगी। मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना में पंजीकृत 12.38 लाख लोगों को 31 मार्च तक 2 हजार रुपये खातों में पहुंच जाएंगे। 4000 पहले मिल चुके हैं। 

आपदा के दौरान घर चलाने के लिए पंजीकृत निर्माण मजदूरों को हर महीने साढ़े चार हजार रुपये मिलेंगे। बीपीएल परिवारों को भी हर महीने 4500 रुपये सरकार देगी। इन्हें अप्रैल महीने का राशन फ्री मिलेगा। दिहाड़ी मजदूरों, रिक्शा चालकों, स्ट्रीट वेंडर्स को जिलों में डीसी के पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। उन्हें भी 4500 रुपये हर महीने मिलेंगे। सीएम मनोहर लाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस में ये घोषणाएं की।

उन्होंने कहा कि कोरोना से जंग लड़ने वालों में से कोई संक्रमित होता है तो इलाज खर्च सरकार वहन करेगी, मरीज का इलाज करने के दौरान कर्मचारियों की मृत्यु होने पर एक्सग्रेसिया के तहत 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड स्थापित कर दिया गया है। बतौर सीएम अपने निजी खाते से उन्होंने 5 लाख रुपये दिए हैं। विधायक एक महीने का वेतन देंगे। आईएएस ने एक महीने के वेतन का 20 प्रतिशत देने की बात कही है।
... और पढ़ें

कोरोना का खौफ : डीजे और न ही बजी शहनाई, 20 लोगों की मौजूदगी में हुई दुल्हन की हुई विदाई

अंबाला। कोरोना वायरस के खौफ के बीच अंबाला शहर के जसमीत नगर में हुई एक लड़की की शादी चर्चा का विषय रही। शादी का माहौल तो था, लेकिन रौनक नहीं थी। कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने के लिए सामाजिक दूरी की आवश्यकता को समझते हुए परिवार ने यह कदम उठाया। लड़का-लड़की समेत महज 20 मेहमानों की मौजूदगी में शादी की सभी रस्में अदा की गई। खास बात यह थी कि शादी समारोह में कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए सैनिटाइजर सहित मास्क भी उचित प्रबंध थे। शाहाबाद से आई बारात में महज 10 लोग शामिल थे, जिनका स्वागत भी पहले सैनिटाइजर से हाथ धुलवाने व उन्हें मास्क देने के बाद हुआ। बता दें कि कोरोना वायरस को देखते हुए प्रशासन की ओर से एडवाइजरी जारी हुई थी कि महज 20 लोग ही शादी में शामिल हो सकेंगे।
गुरुद्वारे में नंदकार में पहुंचे कुल 8 लोग
शादी की रस्म निभाते के बाद लड़का-लड़की के नंदकार पास के ही गुरुद्वारे में हुए। यहां भी परिवार ने पूरी ऐतिहात बरतते हुए कुल 8 लोग ही शामिल हुए। जिन्होंने पूरी सावधानी बरती। करीब चार घंटे के बीच ही शादी समारोह के बाद लड़की की विदाई हुई। यहीं नहीं, शादी समारोह के बाद रिश्तेदारों व सगे संबंधियों ने मोबाइल के जरिए ही शादी की बधाई दी।
डेढ़ माह पहले पैलेस सहित हलवाइयों की हो चुकी थी बुकिंग
लड़की के भाई दौलत राम ने बताया कि बड़ी बहन के बाद छोटी बहन की शादी धूमधाम से करने का चाह था। शादी की डेट फाइनल होने के बाद डेढ़ माह पहले ही पैलेस सहित हलवाइयों आदि की बुकिंग हो गई थी। करीब एक हजार लोगों के शामिल होने की व्यवस्था के प्रबंध किए गए थे। कोरोना वायरस के खौफ के चलते उन्हें आखिरी समय में बदलाव करना पड़ा। पैलेस की बुकिंग रद्द होने के कारण उन्होंने घर में ही टैंट लगाकर शादी की।
... और पढ़ें

विदेशों से आए 9 लोगों की पासपोर्ट के आधार पर जांच हुई तो पते निकले फर्जी

अंबाला। जिला प्रशासन की ओर से की गयी जांच में पिछले दिनों विदेश से लौटे नौ लोगों के पासपोर्ट में दिखाए गए पते गलत पाए गए हैं। जब जिला प्रशासन की टीमें इन घरों में पहुंची तो वह नहीं मिले। अब इन लोगों पर जिला प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। साथ ही दो दिन में स्थिति स्पष्ट करने को कहा है। अन्यथा उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई करते हुए पासपोर्ट अथारिटी को लिख दिया जाएगा। ऐसे में उनका पासपोर्ट निरस्त हो सकता है।
संपदा अधिकारी द्वारा करवाई गई जांच
उपायुक्त के आदेशों के बाद यह जांच इस्टेट ऑफिसर सत्येन्द्र सिवाच द्वारा करवाई गई है। यह लोग अपनी वास्तविक स्थिति स्वास्थ्य विभाग के एसएमओ डा. राजेन्द्र राय के मोबाइल नंबर 9416394750, डीएमओ कार्यालय मलेरिया के दूरभाष नंबर 0171-2556157, कोरोना डिस्ट्रिक शिकायत मोबाइल नंबर 8929087040 व सीएमओ कार्यालय के स्टेनो के दूरभाष नंबर 0171-2557473 पर दे सकते हैं।
इन लोगों के गलत पाए गए पते
तनवर अभिषेक, मकान नंबर 1341 सेक्टर 9 अंबाला शहर। मुल्तानी मनजीत कौर, एस पर पीपी, अंबाला शहर। अंटल नवजोत सिंह, एस पर पीपी, अंबाला शहर। सतेन्द्र सिंह, 15बी, दयाल बाग, महेशनगर। यादव रोहन, मकान नंबर 28 बी, शास्त्री कालोनी नजदीकी जीटी रोड पड़ाव ब्रिज अंबाला छावनी। चौधरी जय शंकर मकान नंबर 115/2, न्यू कालोनी महेशनगर औद्योगिक क्षेत्र अंबाला। जयसवाल आदित्य, 16 विष्णु गार्डन अंबाला। हंसराज क्वार्टर नंबर 8, एचटी लाईन अंबाला कैंट। दुर्गेश गांव रतनगढ़ अंबाला शहर।
जांच में नौ लोगों के पते गलत पाए गए हैं जोकि उन्होंने अपने पासपोर्ट में दिखाए थे। ऐसे लोगों को 48 घंटे का समय दिया गया है। यदि वह अपनी स्थिति खुद स्पष्ट नहीं करेंगे तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
- सत्येंद्र सिवाच, संपदा अधिकारी।
... और पढ़ें

नर्स ने रिजाइन भेजकर कोरोना की जंग में खड़े किए हाथ, सीएमओ ने लाइसेंस रद्द करने का भेजा प्रस्ताव

अंबाला सिटी। कोरोना महामारी में एक ओर जहां डाक्टर और अन्य मेडिकल स्टाफ जी-जान से जुटा हैं, वहीं पंजोखरा साहिब पीएचसी में कार्यरत एक नर्स ने कार्य करने में असमर्थता जताते हुए इस्तीफा भेज दिया है। मामले में सीएमओ ने सख्त रुख अपनाते हुए संबंधित नर्स का लाइसेंस रद करने का प्रस्ताव भेज दिया है।
जानकारी के अनुसार सोमवार को पंजोखरा साहिब पीएचसी में कार्यरत नर्स बबीता ने कोरोना महामारी के बीच काम करने से मना कर दिया। न केवल मना किया बल्कि अपना इस्तीफा विभाग को भेज दिया। जब इस बात का पता सीएमओ कुलदीप कुमार को चला तो उन्होंने महिला नर्स का इस्तीफा मंजूर करते हुए नर्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। महामारी एक्ट के तहत उन्होंने एफआईआर करवाने के स्थान पर महिला नर्स का लाइसेंस रद करने का प्रस्ताव काउंसिल को भेजने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि पंजोखरा साहिब पीएचसी में कार्यरत नर्स ने इस्तीफा भेजा है, जिसे स्वीकार कर लिया है, लेकिन इस आपदा के समय इस्तीफा भेजना शर्मनाक है। नर्स के खिलाफ एफआईआर तो नहीं करवा रहे, लेकिन नर्स का लाइसेंस रद करने का प्रस्ताव भेजा जाएगा।
पहले भी दो डाक्टरों ने किया था इंकार
तीन दिन पूर्व भी दो डाक्टरों ने काम करने से इंकार कर दिया था, लेकिन जब सीएमओ ने सख्ती दिखाई तो दोनों काम पर लौट गए। अब दोनों निष्ठा से अपनी सेवाएं भी दे रहे हैं।
... और पढ़ें

जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिए अंबाला मंडल चलाएगा 'कोविड-19' विशेष पार्सल ट्रेन, शेड्यूल जारी

देश में चल 14 अप्रैल तक चले रहे लॉक डाउन को लेकर आमजन से जुड़ी कुछ आवश्यक वस्तुओं की कमी होने लगी है। इस कमी को पूरा करने के लिए अंबाला मंडल ने कोविड-19 विशेष पार्सल ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है। पहली ट्रेन बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच, चलेगी और दूसरी पार्सल ट्रेन कंकरिया -लुधियाना-कंकरिया के बीच चलेगी।

अंबाला मंडल वरिष्ठ वाणिज्य अधिकारी हरि मोहन ने बताया कि कुछ आवश्यक वस्तुओं के कम मात्रा में परिवहन की आवश्यकता महसूस की जा रही थी जोकि फ्रेट ट्रैफिक में संभव नही हो पा रही थी। इसे देखते हुए रेलवे ने निर्धारित समय पर चलने वाली पार्सल ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया है। इन ट्रेनों को कोविड-19 विशेष पार्सल ट्रेन का नाम दिया गया है, इसमें 20 पार्सल वाहन कोच और एक एसएलआर कोच होगा।

बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच पहली पार्सल ट्रेन
पहली पार्सल ट्रेन  बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच दोनों दिशाओं में चलेगी। मार्ग में यह पार्सल ट्रेन वापी,  सूरत, वड़ोदरा, रतलाम, नागदा, कोटा, सवाईमाधोपुर, मथुरा, हजरत निजामुद्दीन ,मेरठ, सहारनपुर और अंबाला छावनी रेलवे पर आवश्यक वस्तुओं का लदान/उतरान सुनिश्चित करेगी। बांद्रा से यह पार्सल ट्रेन 31 मार्च, 3 अप्रैल, 6 अप्रैल और 9 अप्रैल को रात लगभग 9.25 बजे चलेगी और लुधियाना से दिनांक 2,5,8  और 11 अप्रैल को रात 11.30 बजे चलेगी।
... और पढ़ें

अंबाला में कई दिनों तक भटकता रहा कोरोना पीड़ित युवक का दोस्त अमन

अंबाला। कोरोना पॉजिटिव पंजाब के गुरप्रीत के साथ अंबाला का अमन सैनी भी आया था। ये दोनों काठमांडू नेपाल में डिप्लोमा इन्वोकेशनल स्कूल इन इलेक्ट्रिकल का कोर्स कर रहे थे। दोनों ही इंडिगो प्लेन से 19 मार्च को दिल्ली पहुंचे थे। इसी दिन दोनों बस में सवार होकर दिल्ली से अंबाला-पंजाब पहुंचे थे। इसके बाद गुरप्रीत खुद इलाज के लिए जिला नागरिक अस्पताल में आया और 26 मार्च को उसे आइसोलेट किया गया। जबकि अमन कई दिनों से इलाज के लिए इधर-उधर भटकता रहा। नजदीक के एक क्लीनिक में दवा लेने गया। जहां डाक्टर ने उसे जिला नागरिक अस्पताल में इलाज के लिए बोला क्योंकि उसे कोरोना के लक्षण नजर आ रहे थे। लेकिन इसके बाद भी अमन ने अनसुना कर दिया। वह इधर-उधर केमिस्ट शॉप व क्लीनिक से दवा लेता रहा। इस तरह कई लोग उसके संपर्क में भी आए। अमन का सैंपल लेकर पीजीआई भेज दिया गया है।
सभी पर मंडराए संकट के बादल
गुरप्रीत के पॉजिटिव आने के बाद अब अमन सैनी और उसके परिजनों पर भी खतरा मंडरा गया है। इसीलिए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पूरे परिवार को होम क्वारंटीन कर दिया है। वहीं जिस क्लीनिक में अमन दवा लेने गया था उसे भी आगामी आदेशों तक बंद कर दिया गया है। वहीं न्यू दुर्गा नगर एरिया में अमन के आसपास के लोगों को भी अलर्ट कर दिया गया है क्योंकि खतरा अब इनपर भी मंडरा गया है।
स्वास्थ्य विभाग की टीम ही लेकर आई अस्पताल
सब कुछ साफ होने के बावजूद अमन अपने आप अस्पताल में नहीं गया। जब स्वास्थ्य विभाग की टीम को मीडिया के माध्यम से अमन की सूचना दी गई तो विभाग की टीम उसके घर पहुंची और उसे जिला नागरिक अस्पताल में आइसोलेट किया गया।
कुरुक्षेत्र पीपली बस स्टैंड पर खाया खाना
दोनों दोस्तों अमन और कोरोना से पीड़ित गुरुप्रीत ने कुरुक्षेत्र में प्लाईओवर के नीचे रात 9 बजे खाना खाया। इसी बस के जरिए यह 10 बजे अंबाला कैंट पहुंचे। इसके बाद गुरुप्रीत अपनी बुआ के घर शाहपुर मछौंडा नजदीक सैनी धर्मशाला के पास रुका। इस दौरान वह अपने रिश्तेदार भाई विनोद के साथ सोया। अगले दिन गुरुप्रीत पंजाब में अपने घर रामनगर पहुंचा। उसके पिता मजदूर हैं। बड़ी बहन शादीशुदा है। इनके घर में सामान्य बाथरूम है जिसमें सभी नहाते हैं। गुरूप्रीत को बुखार के साथ दस्त की शिकायत हुई है।
corona virious
corona virious- फोटो : Ambala
... और पढ़ें

आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए अंबाला मंडल चलाएगा कोविड-19 विशेष पार्सल ट्रेन

corona virious
अंबाला। देश में चल 14 अप्रैल तक चले रहे लॉक डाउन को लेकर आमजन से जुड़ी कुछ आवश्यक वस्तुओं की कमी होने लगी है। इस कमी को पूरा करने के लिए अंबाला मंडल ने कोविड-19 विशेष पार्सल ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है। पहली ट्रेन बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच, चलेगी और दूसरी पार्सल ट्रेन कंकरिया -लुधियाना-कंकरिया के बीच चलेगी।
अंबाला मंडल वरिष्ठ वाणिज्य अधिकारी हरि मोहन ने बताया कि कुछ आवश्यक वस्तुओं के कम मात्रा में परिवहन की आवश्यकता महसूस की जा रही थी जोकि फ्रेट ट्रैफिक में संभव नही हो पा रही थी। इसे देखते हुए रेलवे ने निर्धारित समय पर चलने वाली पार्सल ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया है। इन ट्रेनों को कोविड-19 विशेष पार्सल ट्रेन का नाम दिया गया है, इसमें 20 पार्सल वाहन कोच और एक एसएलआर कोच होगा।
बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच पहली पार्सल ट्रेन
पहली पार्सल ट्रेन बांद्रा टर्मिनस -लुधियाना -बांद्रा टर्मिनस के बीच दोनों दिशाओं में चलेगी। मार्ग में यह पार्सल ट्रेन वापी, सूरत, वड़ोदरा, रतलाम, नागदा, कोटा, सवाईमाधोपुर, मथुरा, हजरत निजामुद्दीन ,मेरठ, सहारनपुर और अंबाला छावनी रेलवे पर आवश्यक वस्तुओं का लदान/उतरान सुनिश्चित करेगी। बांद्रा से यह पार्सल ट्रेन 31 मार्च, 3 अप्रैल, 6 अप्रैल और 9 अप्रैल को रात लगभग 9.25 बजे चलेगी और लुधियाना से दिनांक 2,5,8 और 11 अप्रैल को रात 11.30 बजे चलेगी।
कंकरिया-लुधियाना-कंकरिया के बीच चलेगी दूसरी पार्सल ट्रेन
दूसरी पार्सल ट्रेन कंकरिया -लुधियाना-कंकरिया के बीच चलेगी जो मार्ग में पालनपुर, अजमेर, जयपुर, रेवारी, दिल्ली, अंबाला छावनी और चंडीगढ़ स्टेशनों पर सामान का लदान /उतरान करेगी। यह विशेष पार्सल ट्रेन कंकरिया से 1, 5 और 9 अप्रैल को रात 8.00 बजे चलेगी और लुधियाना से 3,7 और 11 अप्रैल को भी रात 8.00 बजे चलेगी
समय बद्धता का रखा जाएगा विशेष ध्यान
इन विशेष पार्सल ट्रेनों में मार्ग में निर्धारित समय के अंदर ही लदान/उतरान किया जाएगा और स्थानीय प्रशासन से आवश्यक अनुमति इत्यादि और कोविद-19 के आवश्यक प्रोटोकॉल जैसे स्वच्छता और सोशल दूरी इत्यादि को बनाए रखते हुए इस ट्रेन में लदान/उतराने को सुनिश्चित किया जाएगा।
जरूरी वस्तुओं की उपलब्धता होगी सुनिश्चित
आवश्यक उपयोग की वस्तुओं एवं चिकित्सा सामग्री इत्यादि की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु निरंतर मालगाड़ियों का परिचालन कर रहा है। समय की मांग को देखते हुए उपलब्ध संसाधनों यथा पार्सल वैन, स्टाफ और पथ की उपलब्धता विशेष पार्सल ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है।
-गुरिंदर मोहन सिंह, मंडल रेल प्रबंधक।
... और पढ़ें

हरियाणा: अंबाला पहुंचा पटियाला का युवक निकला कोरोना पॉजिटिव, नेपाल की यात्रा कर लौटा था गांव

पंजाब से अंबाला पहुंचा 21 वर्षीय गुरप्रीत कोरोना पीड़ित निकला। गुरप्रीत को शुक्रवार दोपहर को जिला नागरिक अस्पताल अंबाला शहर में भर्ती किया गया था। जैसे ही शनिवार शाम करीब साढ़े 7 बजे उसकी रिपोर्ट अंबाला पहुंची वैसे ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। क्योंकि यह अंबाला का पहला कोरोना पीड़ित मरीज निकला है।

गुरप्रीत पंजाब के पटियाला के बनूड के गांव रामनगर का रहने वाला है। वह 19 मार्च को नेपाल से पंजाब स्थित अपने गांव रामनगर पहुंचा था। जिस बस में वह आया था उसमें कौन-कौन थे अब इस बात की जांच भी शुरू हो गई है। लेकिन इस सब के बीच बड़ी लापरवाही उजागर हुई है।

आखिर लॉकडाउन में भी पंजाब बोर्डर पार कर गुरप्रीत इलाज के लिए अंबाला जिला नागरिक अस्पताल तक कैसे पहुंचा? बता दें कि अंबाला में अब 29 केस नेगेटिव पाए गए हैं जबकि 3 की रिपोर्ट आनी बाकी है। हालात यह हैं कि धड़ल्ले से पंजाब बार्डर पार कर लोग अंबाला में प्रवेश कर रहे हैं। यदि ऐसे ही हाल रहे तो अंबाला में स्थिति संभलाना असंभव हो जाएगा।
... और पढ़ें

क्वारंटीन के पोस्टर फाड़ने और खुले में घूमने वालों पर पुलिस ने कसा शिकंजा, 19 पर केस दर्ज

अंबाला। कोरोना के संदिग्ध होने के बावजूद खुले में घूमकर दूसरों की जान आफत में डालने वाले 19 लोगों पर पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। वहीं लोगों की जान की हिफाजत और मंडियों में उमड़ रही भीड़ को देखते हुए शहर में सभी छोटी मंडियों को बंद कर 226 रेहड़ी वालों को डोर टू डोर जाकर राशन वितरण करने के आदेश दिए गए हैं। वहीं शुक्रवार को जिन 7 नए लोगों पर केस दर्ज किए गए हैं।
इनमें से सेक्टर 9 के पवन कुमार भी शामिल हैं। पवन कुमार ने न केवल तीन बार पोस्टर फाड़े बल्कि जब तीसरी बार स्वास्थ्य विभाग की टीम घर के बाहर पोस्टर लगाने पहुंची तो उसके साथ दुर्व्यवहार भी किया था। स्वास्थ्य विभाग की सिफारिश पर पुलिस ने इनके खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया है। वहीं दूसरी ओर अभी तक जिलेवासियों के लिए सुकून भरी खबर यह है कि जिले में जिन 28 संदिग्धों के सैंपल लिए गए थे वह सभी नेगेटिव पाए गए हैं। शुक्रवार को दो नए संदिग्धों के सैंपल लिए गए इनकी रिपोर्ट शनिवार को आएगी। पिछले तीन दिनों में 19 लोगों पर जिले में कोरोना के तहत बनाए गए नियमों की धज्जियां उड़ाने के केस दर्ज किए गए हैं।
सात पर शुक्रवार को दर्ज हुए केस
सेक्टर 10 अंबाला सिटी की सर्वजीत कौर, श्रेयंक जैन मॉडल टाउन अंबाला शहर, मयंक गुप्ता सेक्टर 10 , रिषभ कक्कड़ नदी मोहल्ला अंबाला शहर, पवन कुमार सेक्टर 9 अंबाला शहर। इसके अलावा वीरवार को लक्ष्मी नगर की किरनप्रीत, नीरोला सलोनी अंबाला शहर, सौरभ अरोड़ा बब्याल, विरेंद्र मॉडल टाउन और विपिन भाटिया पर केस दर्ज किया गया था। इसके अलावा एक छावनी के एक होटल संचालक, नारायगढ़ के जसविंद्र, कलरहेड़ी के व्यक्ति सहित दो अन्य पर 188 धारा के तहत केस दर्ज किया गया है।
शहर में राशन लेकर दौड़ी 2 पिंक बसें
दूसरी और जरूरतमंदों तक घर-घर जाकर राशन पहुंचाने के लिए अंबाला शहर हलके में दो पिंक बसों ने अपनी सेवाएं दी। खुद डीएफएससी निशांत राठी ने जरूरतमंदों तक राशन पहुंचाने का काम किया। इन दो बसों के माध्यम से 66 गांव को कवर किया गया और लोगों को गांव में जाकर राशन की जरूरी वस्तुएं वाजिब दाम में उपलब्ध करवाई गई।
18 दिन का इम्तिहान बाकी
21 दिन के लॉक डाउन के तीन दिन बीत चुके हैं अब 18 दिन ही शेष हैं। अलबत्ता इन 18 दिनों पर ही निर्भर करेगा कि आने वाले समय में जिले और राज्य की क्या स्थिति रहेगी। जनता ने सब्र रखा तो इस अवधि में कोरोना की चेन को तोड़ दिया जाएगा।
... और पढ़ें

तफरी से ड्राइवर को रोका तो कोठी से पहुंचे नेताजी और जड़ दिए एसपीओ को थप्पड़

अंबाला। समय रात के करीब आठ बजे। स्थान शहर मंजी साहिब गुरूद्वारा नाका। चार पुलिस कर्मी नाके पर तैनात हैं। इसी बीच एक गाड़ी चालक बार-बार इस एरिया में चक्कर काट रहा है। पहली बार पुलिस ने अनदेखा कर दिया। इसके बाद दूसरी और तीसरी बार भी लेकिन जब अति हो गई तो एक पुलिस कर्मी ने उसे रोका। लेकिन गाड़ी चालक ने अपनी पहुंच बताते हुए कहा कि एक-एक को देख लेगा। साथ ही नेताजी का नाम भी लिया। इस पर दूसरे पुलिस कर्मी ने उसे गाड़ी से उतारा और चपाक से दो डंडे ठोक दिए ताकि वह दोबारा से इस तरह की हरकत न करे। लेकिन इसके बाद जो हुआ उसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। ड्राइवर ने तुरंत फोन नेताजी को मिलाया। नेताजी कोठी से पहुंचे और मौके पर तैनात एक स्पेशल पुलिस आफिसर को तपाक से एक नहीं बल्कि दो थप्पड़ जड़ दिए। गाली-गलौज किया। कहा कि ज्यादा हीरो मत बनो। जैसा चल रहा है वैसा चलने दो। अंबाला शहर में यह घटना तीन दिन पहले 25 मार्च को घटी। हालांकि पुलिस कप्तान ऐसी किसी भी जानकारी होने से इंकार कर रहे हैं।
डंडे रखने की भी नहीं अब पावर, असहाय हुई पुलिस
इस घटना के बाद सहमे पुलिस कर्मियों से डंडे तक रखने की पावर छीन ली गई। ऐसे में कैसे जिले में लॉक डाउन सफल होने की कामना की जा सकती है। अमर उजाला की टीम ने जब नाकों पर तैनात पुलिस कर्मियों के हाथ देखे तो ज्यादातर पुलिस कर्मियों के हाथ में भी डंडे नहीं थे। अलबत्ता सहजता से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब नाकों पर तैनात कर्मियों के हाथ ही खाली हैं तो दूसरों के क्या हाल होंगे। हालांकि कुछ जगह पुलिस के हाथों में डंडे दिखाई भी दिए।
नशे का आदी है नेताजी का ड्राइवर
पुलिस सूत्रों की माने तो जिस नेताजी के ड्राइवर को पुलिस कर्मियों ने रोका था वह स्मैक का आदी है। इससे पहले भी उसे पुलिस कर्मी अलग-अलग मामलों में पकड़ चुकी है लेकिन नेताजी का हाथ होने के कारण आज तक उस पर केस दर्ज नहीं हुआ। जिस दिन यह घटना घटी उस दिन भी वह बार-बार इसीलिए तफरी कर रहा था। उसे पुड़िया की तलब थी और पुड़िया उसे मिल नहीं रही थी।
जान जोखिम में डालने वाले पुलिस कर्मियों का टूटा हौसला
इस घटना के बाद जिले में लॉक डाउन को सफल बनाने के लिए अपनी जान तक जोखिम में डालकर ड्यूटी दे रहे पुलिस कर्मियों का हौसला पूरी तरह से टूट गया है। उन्हें डर इस बात का है कि यदि वह सख्ती करेंगे तो फिर से उनके साथ वही दुर्व्यवहार न हो जाए जो एसपीओ के साथ हुआ।
किसी एसपीओ को थप्पड़ मारा है इस तरह की मेरे पास अभी कोई शिकायत नहीं आई है। ऐसा मामला संज्ञान में नहीं है।
-अभिषेक जोरवाल, एसपी अंबाला।
... और पढ़ें

थाईलैंड से आए व्यक्ति के घर बाहर पोस्टर लगाने पर हंगामा

अंबाला सिटी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से विदेशों से आए लोगों के घरों के बाहर उनसे न मिलने के पोस्टर लगाए जा रहे हैं ताकि कोई भी व्यक्ति 14 दिन तक उनसे न मिले और न ही उनके घर जाए। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा ऐसा करना एक व्यक्ति को रास नहीं आया। उन्होंने टीम सदस्यों के बदसलूकी शुरू कर दी। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बताया यह व्यक्ति 4 मार्च को थाईलैंड से आया था। इसके लिए इन्हें घर पर रहने के निर्देश दिए गए थे। साथ ही कोई उनके घर न जाए इसके लिए उनके घर के बाहर पोस्टर लगा दिया गया था। लेकिन जब इस बात का पता व्यक्ति को लगा तो उन्होंने मौका देखते ही उस पोस्टर को फाड़ दिया।
टीम को सूचना मिलते ही सदस्यों ने दोबारा से पोस्टर लगा दिया। लेकिन मौका देखते ही उन्होंने दोबारा उस पोस्टर को फाड़ दिया। जब स्वास्थ्य विभाग की टीम तीसरी बार ऐसा करने गई तो पहले तो व्यक्ति ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को मना किया। लेकिन जब स्वास्थ्य विभाग की टीम उन्हें उसके बारे समझाने प्रयास किया तो वह टीम सदस्यों के साथ ही बदसलूकी करने लगा। यहां तक गाली गलौज तक करने लगा। गाली गलौज करते समय ही व्यक्ति ने टीम के सामने ही पोस्टर उतार कर फेंक दिया। जब टीम उनके इस व्यवहार को देखा तो टीम की ओर से पुलिस को लिखित में शिकायत देते हुए व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।
व्यक्ति के घर के बाहर दो तीन बार पोस्टर लगाया गया। लेकिन उन्होंने फाड़ दिया। जब तीसरी बार टीम पहुंची तो उसके बाद बदसलूकी की। पुलिस को लिखित में शिकायत दी गई अब पुलिस कार्रवाई करेगी।
-डा. कुलदीप कुमार, सीएमओ, अंबाला।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस का खौफ : पोल्ट्री इंडस्ट्री तबाह, 4.50 करोड़ मुर्गियों की जिंदगी पर आफत

अंबाला। कोरोना वायरस के खौफ से तबाह हो रही पोल्ट्री इंडस्ट्री पर अब नई मुसीबत आ रही है। राज्य के पोल्ट्री फार्मों में 4.50 करोड़ मुर्गियां भुखमरी के कगार पर हैं। फीड़ की कमी से इन्हें भूखा रखा जा रहा है। अगर स्थिति ऐसी ही रहती तो पोल्ट्री फार्म मुर्गियों के लिए श्मशान बन जाएंगे। इससे फार्मों में ही नई बीमारी फैलने की संभावना जताई जा रही है। तबाह हो रही इंडस्ट्री को बचाने के लिए कारोबारी लगातार राज्य सरकार से गुहार लगा रहे हैं। उधर कोरोना वायरस के खौफ से लोग फ्री में भी अंडे नहीं खरीद रहे। कच्चे मीट के लिए इस्तेमाल होने वाले ब्रॉयलर की भी ऐसी ही स्थिति है।
मुर्गियों को फीड की तुरंत जरूरत
कोरोना वायरस की वजह की देश में आई आफत के बाद से ही पोल्ट्री इंडस्ट्री के बुरे दिन शुरू हो गए थे। दरअसल इन मुर्गियों को पिछले काफी दिन से परोपर फीड नहीं मिल पा रही है। फार्मों में बाजरे, गेहूं व चावलों की सप्लाई रुक गई है। मुर्गियों को जिंदा रखने के लिए फार्मर पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। स्टाक में पड़ी फीड़ से ही उन्हें जिंदा रखने की कोशिश हो रही है। हालांकि स्टाक खत्म होने के बाद साढ़े चार करोड़ मुर्गियों की जिंदगी पर आफत आना तय माना जा रहा है।
अंडों की खरीदारी के लिए नहीं मिल रहे खरीदार
कोरोना वायरस की वजह से ज्यादातर लोग अंडा खाना छोड़ गए। इसी वजह से अंडे पोल्ट्री फार्मों में ही खराब हो रहे हैं। सर्दी में छह रुपये तक बिकने वाला अंडे को अब कोई डेढ़ रुपये में भी नहीं खरीद रहा है। पोल्ट्री मालिकों की मानें तो अब तो लोग फ्री में भी अंडे नहीं खरीद रहे हैं। ऐसे ही स्थिति कच्चे चिकन की भी है। यह भी सब्जियों से बेहद कम दामों पर बिक रहा है। 25 से 30 रुपये किलोग्राम में भी ग्राहक चिकन को नहीं खरीद रहे हैं।
बाजारा व चावल उपलब्ध करवाए सरकार : हन्नी
पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन से जुड़े सरदार गुरप्रीत सिंह हन्नी ने राज्य सरकार से
पोल्ट्री इंडस्ट्री को बचाने की गुहार लगाई है। उन्होंने बताया कि अभी हर मुर्गी को हर रोज 70 ग्राम फीड की जरूरत होती है। पर स्टॉक कम होने के कारण हम हर मुर्गी को मुश्किल से 30 ग्राम फीड भी नहीं दे पा रहे हैं। भुखमरी के कारण मुर्गियां मरनी शुरू हो गई हैं। उन्होंने सरकार से हर मुर्गी की डाइट के हिसाब से बाजरा, चावला व गेहूं निशुल्क उपलब्ध करवाने की मांग की है।
सेहत पर पड़ रहा बुरा असर : जगजीत
मुर्गियों से जुड़ी बीमारियों पर नजर रखने वाले डॉक्टर जगजीत सिंह ने भी यह बात स्वीकार की है कि कोरोना वायरस की वजह से पोल्ट्री इंडस्ट्री के साथ मुर्गियों की सेहत भी लगातार गिर रही है। परोपर डाइट न मिलने के कारण मुर्गियों की सेहत पर बरा असर पड़ रहा है। आने वाले दिनों में फीड न मिलने से ये मर भी सकती हैं।
हम बर्बादी के कगार पर हैं। न तो हमारा माल बिक रहा है न ही मुर्गियों के लिए फीड का बंदोबस्त हो रहा है। भुखमरी से अब मुर्गियां भी मरने लगी हैं। अगर सरकार की ओर से हम मदद न मिली तो पूरी इंडस्ट्री खत्म हो जाएगी।
-शिवम मित्तल, प्रधान, पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन, अंबाला
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us