विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कोरोना वायरसः आइसोलेशन वार्ड में तब्दील हुई 24 कोच की ट्रेन, रेलमंत्री ने ट्वीट की तस्वीरें देखिए

कोरोना महामारी से लड़ने को भारतीय रेलवे ने एक सराहनीय कार्य किया है। विभाग की ओर से 24 कोच की ट्रेन को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया गया है, देखिए तस्वीरें।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

भिवानी

रविवार, 29 मार्च 2020

डॉक्टर्स के सम्मान में गूंजी ताली

कोरोना को हराने की मुहिम में जुटे डॉक्टर्स और उसकी टीम को आभार जताने के लिए पीएम मोदी के आह्वान पर लोग जनता कर्फ्यू के बाद शाम पांच बजे के बाद घरों की बालकानी, छत और दरवाजे पर खड़े होकर ताली और थाली से अभिवादन करते हुए दिखाई दिए। शहर की कॉलोनियों में दिनभर पसरा सन्नाटा शाम पांच बजे उस समय टूटा जब अचानक ही लोग तालियां बजाने के साथ साथ थाली बजाने लगे। पुलिस की टीमों ने भी शहर के अंदर हूटर बजाया। सभी ने अपने परिजनों के साथ जनता कर्फ्यू के बाद ताली उत्सव को एक त्यौहार की तरह एकत्रित होकर मनाया। विधायक घनश्याम सर्राफ स्वयं परिवार के साथ शंख, ताली और थाली बजाते नजर आए। पुलिस पीसीआर भी सायरन बजाती नजर आए।
तालियों और थालियों से गूंजा तोशाम
तोशाम। तोशाम में कर्फ्यू के बीच शाम को पांच बजते ही कस्बे सहित ग्रामीण इलाका भी तालियों और थालियों की आवाज से गूंज उठा। जो जहां था वो वहीं ठहर गया। घरों से लेकर सड़क तक लोगों ने कोरोना को हराने के लिए जनता कर्फ्यू को समर्थन किया।
जनता कफ्र्यू के आहवान के साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोनो वायरस के लिए लड़ रहे चिकित्सकों, पुलिस जवानों, प्रशासनिक अधिकारियों, सरकारी कर्मियों का धन्यवाद अर्पित करने का तरीका भी बताया था। प्रधानमंत्री द्वारा बताए तरीके के अनुसार क्षेत्र के लोगों ने ठीक पांच बजे अपने घर के दरवाजे पर, खिड़की के पास या बालकनी में खड़े होकर पांच मिनट तक ताली बजाकर, थाली बजाकर इनके प्रति धन्यवाद अर्पित किया। एसडीएम संदीप कुमार के नेतृत्व में प्रशासनिक अधिकारियों ने भी कस्बे की गलियों में सायरन के साथ धन्यवाद अर्पित किया। इस मौके पर एसएमओ डॉ जितेंद्र सिंह, रीडर धर्मबीर सिंह, कार्यवाहक थाना प्रभारी प्रेम सिंह, स्टेनो अश्वनी कुमार, नवीन कुमार, रमेश कुमार उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

जनता कर्फ्यू : आज यातायात सेवाएं, मार्केट बंद

भिवानी। कोरोना वायरस का खौफ पूरे देश में बना है। प्रधानमंत्री के रविवार को घर में रहकर जनता कर्फ्य के आह्वान के तहत आज यातायात सेवाएं पूरी तरह बंद रहेंगी। वहीं शहर के सभी बाजार भी नहीं खुलेंगे। सरकार के आदेशानुसार सब्जी मंडी और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेंगी, जिससे लोगों को परेशानी न हो। वहीं सामान्य अस्पताल की ओपीडी को आम मरीजों के लिए बंद कर दिया है। सामान्य अस्पताल में रविवार को नई ओपीडी के लिए सिर्फ फ्लू वार्ड खुला रहेगा। यहां सिर्फ खांसी-जुकाम के मरीजों की ही जांच होगी। चिकित्सक डॉ. रघुवीर शांडिल्य ने आमजन से आह्वान किया कि घरों से न निकले। गंभीर बीमारी या इमरजेंसी हो तो ही अस्पताल आएं।
झुंझुनू में पॉजीटिव आने के बाद लोहारू क्षेत्र में मचा रहा हड़कंप
झुंझुनू में तीन पॉजिटीव केस सामने आने के बाद इस मार्ग पर आवागमन बंद कर दिया है। इस कारण मार्ग बिल्कुल खाली है। बसें राजस्थान के पिलानी से ही लौट रही हैं। डीसी ने यहां विशेष नाकेबंदी कर श्रद्धालुओं को झुंझुनू जाने से रोकने आदेश दिए है। वहीं झुंझुनू से आए तीन लोगों के स्वास्थ्य की जांच चिकित्सकों ने की। उन्हें प्राथमिक तौर पर स्वस्थ करार दिया गया है। वे विभाग की निगरानी में रहेंगे।
सभी रोडवेज कर्मचारियों को घर में रहने के निर्देश
भिवानी रोडवेज डिपो में ऐसा पहली बार होगा कि सभी कर्मचारियों को सुबह सात से रात नौ बजे तक अपने घरों में रहने की हिदायत दी गई है। रविवार को रोडवेज की कोई बस नहीं जाएगी। राजस्थान और दिल्ली जाने वाली बसों को भी रोक दिया है। अब सिर्फ लोकल रूटों पर ही बसें चल रही हैं।
व्यापार मंडल ने लिया बाजार बंद का निर्णय
भिवानी। भारतीय उद्योग व्यापार मंडल की बैठक बीटीएम चौक स्थित कार्यालय में हुई, जिसकी अध्यक्षता करते हुए प्रधान भानूप्रकाश ने कहा नगर व्यापार मंडल जनता कर्फ्य का समर्थन करता है। देश इस समय कठिन परिस्थितियों से जूझ रहा है, ऐसे समय में देश के व्यापारियों की जिम्मेदारी है कि हम अपना सहयोग करें। इसी के चलते रविवार को पूर्ण बंद का निर्णय लिया है। मेडिकल एसोसिएशन के प्रधान देवराज महता ने कहा कि प्रशासन बंद के दौरान फॉगिंग करवाएगा।
जनता कर्फ्यू के दौरान रेलसेवाएं रद्द
भिवानी। जनता कर्फ्य के तहत 21 मार्च की मध्य रात्रि से 22 मार्च की मध्य रात्रि तक सभी पैसेंजर रेल सेवाएं बंद रहेंगी। इस दौरान मेल एक्सप्रेस व इंटरसिटी एक्सप्रेस रेलसवाएं 22 मार्च को सुबह चार बजे से रात्रि 10 बजे तक रद्द रहेंगी। लंबी दूरी की जो रेलगाड़ियां इस तारीख से पूर्व रवाना हो चुकी होंगी वे यथावत चलेंगी। ट्रेनों के संचालन पर जनता कर्फ्यू के दौरान बंद रखे जाने का असर शनिवार को भी देखने को मिला। भिवानी रेलवे जंक्शन पर सन्नाटा पसरा रहा वहीं ट्रेनों को भी दिन में कई बार सेनिटाइज किया गया।
शनिवार को यह रहे हालात
शनिवार को नागरिक अस्पताल में नई ओपीडी के लिए सिर्फ फ्लू वार्ड बना दिया, जहां चिकित्सकों ने बुखार के मरीजों की जांच की। पुराने मरीजों को एक-एक माह की दवा देकर घर में ही रहने की सलाह दी गई है। वहीं गंभीर बीमारी या आपात स्थिति में ही मरीजों को अस्पताल आने बात कही है। कोरोना वायरस के खतरे का असर शनिवार को शहर में साफ देखा गया। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर नाममात्र के यात्री नजर आए। शहर के बाजारों जहां हर रोज जाम के हालात रहते है, वहां सड़कें सुनी नजर आईं। लगभग सभी दुकानदार सेनिटाइजर रखे हुए हैं तो पब्लिक डीलिंग वाले लगभग सभी कार्य बंद रहे। बैंकों में भी उपभोक्ताओं की संख्या न के बराबर रही।
नागरिक अस्पताल में लगाए वॉशबेसिन, धुलाए जा रहे हाथ
नागरिक अस्पताल की ओपीडी के दोनों गेट पर हाथ धोने के लिए वॉशबेसिन लगाए गए, जहां साबुन की व्यवस्था की गई है। ओपीडी के गेट बंद रहे और सिर्फ नए मरीजों को ही जांच के लिए अंदर जाने दिया गया। अस्पताल में करीब छह-सात जगह कर्मचारी सैनिटाइजर से मरीजों को सैनिटाइज करते नजर आए। नई ओपीडी में भी एक-एक मरीज को ही एंट्री दी गई।
कोरोना वायरस को लेकर जिले में धारा 144 लागू
भिवानी। कोरोना वायरस को महामारी घोषित किए जाने के चलते प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार उपायुक्त अजय कुमार ने जिले में धारा 144 लागू करने के आदेश दिए गए हैं। आदेशानुसार जिला में किसी भी सार्वजनिक जगह पर एक साथ 20 या इससे अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर पाबंदी रहेगी ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके। पुलिस अधीक्षक भिवानी, सभी एसडीएम और सभी एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेज को इन आदेशों की पालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए हैं। आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
सरल व अंत्योदय भवन केंद्र 31 तक बंद
भिवानी। कोरोना वायरस के प्रति सावधानी को लेकर उपायुक्त अजय कुमार ने जिले में सरल केंद्र व अंत्योदय भवन 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी गए हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लोगों की भीड़ पर प्रतिबंध लगाना आवश्यक है। इसी के मद्देनजर जिले में सभी सरल केंद्र, अंत्योदय भवन 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं। केवल अति आवश्यक व समयबद्ध कार्य ही निपटाए जाएंगे। उपायुक्त ने सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी, जिला कल्याण अधिकारी, सचिव नगर परिषद, नगर पालिका को निर्देश दिए हैं कि वे इन आदेशों की पालना सुनिश्चित करवाएं।
मूलभूत आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने के लिए टोल फ्री नंबर जारी
भिवानी। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार एवं जिला प्रशासन ने हर संभव कदम उठाए हैं। इसी के चलते नागरिकों के लिए जरूरी सभी मूलभूत सुविधाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए उपायुक्त अजय कुमार के निर्देश पर खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक ने टोल फ्री नंबर 8295232147 जारी किया है, जहां पर नागरिक किसी सूचना दे सकते हैं। जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालरा ने बताया कि नागरिकों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता जरूरी है। कोई भी दुकानदार उपलब्ध वस्तु देने से मना नहीं कर सकता है और न ही निर्धारित रेट से अधिक से दाम वसूल किए जा सकते। यदि कोई दुकानदार ऐसा करता है तो उसके खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने बताया कि नागरिकों की सुविधा के लिए उनके कार्यालय के कमरा नंबर 141 को कंट्रोल रूम बनाया गया है और इसके लिए बाकायदा 8295232147 टोल फ्री नंबर जारी किया गया है, जहां पर नागरिक आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता से संबंधित शिकायत कर सकते हैं। इस नंबर पर एसएमएस,वाट्सएप और कॉल की जा सकती है।
सामान्य अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की जांच करते हुए चिकित्सक।
सामान्य अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की जांच करते हुए चिकित्सक। - फोटो : Bhiwani
... और पढ़ें

संशोधित: भिवानी कपड़ा उद्योग पर कोरोना वायरस की मार, बंद हुआ निर्यात, नहीं आ रहा कच्चा माल

भिवानी। देश में कोरोना वायरस महामारी घोषित होने के बाद इसकी मार भिवानी के औद्योगिक सेक्टर पर भी पड़ी है। तैयार माल का निर्यात बंद होने से भिवानी का कपड़ा उद्योग भी लगभग ठप हो गया है। होली पर अपने घर छुट्टी गए मजदूर भी कोरोना वायरस के फेर में नहीं लौटे। भिवानी औद्योगिक सेक्टर 21 व 26 में करीब 26 कपड़ा औद्योगिक इकाइयां हैं। इसके अलावा भी भिवानी से पुराना कपड़ा उद्योग विदेशों तक माल का निर्यात करता रहा है। भिवानी के कपड़ा उद्योग का केंद्र दिल्ली हैं। कोरोना वायरस की वजह से दिल्ली से भिवानी का संपर्क लगातार टूटता जा रहा है। यहीं वजह है कि भिवानी का कपड़ा उद्योग भी संकट में आ गया है। भिवानी से तैयार नॉन फैब्रिक समेत कई रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली वस्तुएं तैयार होती हैं, जिनका निर्यात चीन सहित कई अन्य देशों में भी होता था। वहीं कच्चा माल भी दिल्ली से भिवानी आता है। कच्चे माल की तो कोई दिक्कत नहीं लेकिन तैयार माल को कोई खरीदने को तैयार नहीं है।
पैसा भी फंसा, तैयार माल पर भी मंडरा रहा संकट
भिवानी कपड़ा उद्योग कारोबार से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि देश में बने बुरे हालातों से उनका पैसा भी फंस गया है। क्योंकि आगे माल निर्यात नहीं होने से पार्टियां उनका भुगतान भी रोके हुए हैं। जबकि तैयार पड़े माल पर भी संकट मंडरा रहा है। यही वजह है कि अब भिवानी में कपड़ा उद्योग माल तैयार भी नहीं कर अपने उद्योग बंद करने में ही बेहतरी समझ रहे हैं।
कपड़ा उद्योग लगभग ठप है। चाइना से माल निर्यात व आयात नहीं हो रहा है। भिवानी की सेंट्रल मंडी दिल्ली में भी डिमांड नहीं है। कपड़ा उद्योग चलाने के लिए मशीनें भी बाहर से नहीं आ रही हैं। जबकि लेबर भी छुट्टी पर गई हुई है। ऐसे हालात में उनके लिए कपड़ा उद्योग चला पाना भी मुश्किल हो गया है।
- शैलेंद्र जैन, अध्यक्ष जिला भिवानी उद्योग संघ।
पूरे देश में महामारी को लेकर हालात बिगड़ते जा रहे हैं। ऐसे में भिवानी के सभी कारोबारियों पर इसका बुरा असर पड़ा है। कई उद्योगों में तो श्रमिक भी छुट्टी पर गए हुए हैं। होम कर्फ्यू का भी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन पीएम मोदी का पूरा समर्थन करती है। जब कि हालात सामान्य नहीं होते तब तक व्यापारियों को राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है।
-धर्मबीर नेहरा, प्रधान, भिवानी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन।
... और पढ़ें

दिहाड़ीदार/असंगठित मजदूरों के सामने भोजन की न रहे समस्या : महावीर सिंह

भिवानी। कोरोना की रोकथाम एवं नियंत्रण को लेकर प्रदेश सरकार जिला भिवानी में नियुक्त हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव महावीर सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आमजन के साथ-साथ दिहाड़ीदार/ असंगठित मजदूरों के समक्ष भोजन की कोई समस्या नहीं रहनी चाहिए। इसके लिए ट्रेड यूनियन के प्रतिनिधियों के सहयोग से इनकी पहचान की जाए और उनको समुचित खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई जाए। प्रधान सचिव लघु सचिवालय स्थित डीआरडीए सभागार में शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए नियुक्त किए विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे।
उन्होंने खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक को राशन वितरण की कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। ईंट-भट्ठों पर कार्य करने वाले मजदूरों को भी भोजन की कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जीएमडीआईसी को निर्देश दिए कि औद्योगिक इकाइयों में काम करने वाले मजदूरों की पहचान की जाए और उनकी स्थिति के बारे में मालूम किया जाए। इसके लिए औद्योगिक इकाइयों के संचालकों व उनके संगठनों का सहयोग के लिया। मजदूरों के समक्ष भोजन के अभाव में पलायन की स्थिति नहीं बननी चाहिए। उन्होंने मार्केट कमेटी के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि रोजमर्रा में प्रयोग होने वाली खाद्य सामग्री जैसे प्याज, टमाटर गोभी, आलू, केला, पपीता आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। इस दौरान एसपी संगीता कालिया, एडीसी डॉ. मनोज कुमार, एसडीएम भिवानी महेश कुमार, नगराधीश सुरजीत सिंह, तोशाम के एसडीएम संदीप कुमार, लोहारू के एसडीएम जगदीश चंद्र, डीएसपी वीरेंद्र सिंह, सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र कादयान, जिला राजस्व अधिकारी प्रमोद चहल, सचिव रेडक्रास श्याम सुंदर शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह श्योराण, सचिव मार्केट कमेटी ज्योति धनखड़, पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ. जय सिंह, कृषि विभाग के उप निदेशक डॉ. प्रताप सिंह संभ्रवाल और नगर परिषद सचिव राजेश महता आदि विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
असंगठित मजदूरों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत
प्रधान सचिव महावीर सिंह ने कहा कि आमजन के साथ-साथ दिहाड़ीदार और असंगठित मजदूरों की स्थिति पर गौर करने की जरूरत है, जिनकी आजीविका केवल प्रतिदिन के कार्य पर ही निर्भर थी। उन्होंने कहा कि सरकार ने ऐसे परिवारों को एक हजार रुपये प्रति सप्ताह सहायता राशि की घोषणा की है लेकिन वह व्यक्ति कोई अन्य योजना का आर्थिक लाभ न लेता हो। उन्होंने कहा कि इनमें फड़ वाले, रेहड़ी वाले, रिक्शा चालक, दुकानों पर काम करने वाले, पल्लेदार आदि शामिल हैं, इनकी पहचान की जाए। प्रधान सचिव ने नगर परिषद सचिव को निर्देश दिए सरकार की हिदायतों के अनुरूप जरूरतमंद गरीब परिवारों के लिए एक सप्ताह तक भोजन के पैकेट तैयार करवाएं जाएं और सही ढंग से वितरण करवाया जाए।
वृद्धा आश्रम और बाल सेवा आश्रम में न रहे खाने की कमी
प्रधान सचिव ने बैठक में श्रम विभाग के अधिकारियों से शहर में वृद्धाश्रम, बाल सेवा आश्रम और नारी निकेतन की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए इनमें रह रहे लोगों की संख्या के बारे में मालूम किया जाए और उनके लिए भोजन की उचित व्यवस्था हो। वहीं उपायुक्त अजय कुमार ने बताया कि प्रशासन का सहयोग देने के लिए अनेक सामाजिक व स्वयंसेवी संस्थाएं आगे आ रहीं और उनकी मदद से सूखा व तैयार भोजन वितरित किया जा रहा है। प्रशासन, पुलिस और स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से करीब 1400 जरूरतमंद परिवारों को भोजन/खाद्य सामग्री दी जा चुकी है।
... और पढ़ें

भिवानी सरकारी अस्पताल को मिले 13 नए डॉक्टर, छह सीएचसी पर भी नए डॉक्टरों की नियुक्ति

भिवानी। लंबे अर्से से लड़खड़ा रही स्वास्थ्य सेवाओं को कोरोना वायरस जैसी आपात घड़ी में निपटने के लिए अब चिकित्सकों का सहारा मिलेगा। स्वास्थ्य महानिदेशालय ने भिवानी जिला मुख्यालय के सामान्य अस्पताल में 13 नए चिकित्सकों की नियुक्ति के आदेश जारी किए हैं। वहीं जिले की सीएचसी के लिए छह नए मेडिकल ऑफिसर दिए गए हैं। अब तक जिले की छह सीएचसी में कोई भी मेडिकल आफिसर यानी एमओ तैनात नहीं किया हुआ था। सीएचसी से लेकर जिला सामान्य अस्पताल में 19 नए चिकित्सकों के आने से भिवानी के नागरिकों को अब बेहतर चिकित्सा सेवाएं मुहैया होने की उम्मीद हैं।
भिवानी जिला मुख्यालय के चौ बंसीलाल नागरिक अस्पताल में सामान्य दिनों में 1200 से 1500 लोगों की ओपीडी हो जाती है। अब नए चिकित्सकों के मिलने से ओपीडी की सेवाएं बेहतर होंगी वहीं आपात कालीन सेवाओं को भी बेहतर बनाना संभव हो पाएगा।
1. डॉ. गरीमा भारद्वाज
2. डॉ. विनिता
3. डॉ. रीना
4. डॉ. प्रीति
5. डॉ. नीरज
6. डॉ. साहिल
7. डॉ. शिल्पी रानी
8. डॉ. संदीप
9. डॉ. कीर्तिका
10. डॉ. सुजाता (सीएचसी धनाना)
11. डॉ. विकास कुमार (सीएचसी सिवानी)
12. डॉ. प्रिया तंवर
13. डॉ. दीपक प्रकाश रंगा (लोहारू जीएच)
14. डॉ. ईशिका
15. डॉ. जोनी (सीएचसी सिवानी)
16. डॉ. संदीप कुमार(कैरू सीएचसी)
17. डॉ. पूजा (बवानीखेड़ा)
18. डॉ. राहुल
19. डॉ. संजीव कुमार
... और पढ़ें

संदिग्ध मरीज आने से मचा हड़कंप, निजी अस्पताल संचालक ने भर्ती करने किया इनकार, दूसरे में दाखिल कराया

भिवानी। सामान्य अस्पताल की इमरजेंसी में कोरोनो वायरस संदिग्ध मरीज आने से हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग की कोविड-19 टीम ने उसकी जांच की और कोरोना संबंधी लक्षण पाए। इसके बाद आनन-फानन में वेंटिलेटर की सुविधा के लिए शहर के चिड़ियाघर मोड़ स्थित एक निजी अस्पताल में भेज दिया। वहां निजी अस्पताल संचालक ने मरीज को भर्ती करने के से इनकार कर दिया। इसके बाद मरीज को पुराना बस स्टैंड के नजदीक एक अन्य निजी अस्पताल में दो घंटे वेंटिलेटर पर रखा गया। यहां भी मरीज की हालत में सुधार नहीं होने पर उसे पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। मरीज का सैंपल भी लिया गया है, जिसे जांच के लिए पीजीआई रोहतक भेजा गया है। रिपोर्ट 24 घंटे में आएगी।
मामला सुबह करीब साढ़े 10 बजे का है। जिले के गांव सांगा से 32 वर्षीय एक ट्रक चालक को इमरजेंसी में लाया गया। परिजनों ने बताया कि वह ट्रक चलाता है और गुरुग्राम, चंडीगढ़ व अन्य जिलों में जाता रहता है। मरीज को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी। सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र कादियान ने बताया कि ट्रक चालक नौ मार्च को भिवानी आया था और 11 मार्च को उसको बुखार व खांसी हुई तो उसे एक निजी अस्पताल दवाई ली। उसे आराम भी हुआ, लेकिन बाद में तबीयत बिगड़ गई थी। वहीं मरीज को वेंटिलेटर सुविधा से इनकार करने के मामले को स्वास्थ्य विभाग ने गंभीरता से लिया है। स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि निजी अस्पताल में 25 प्रतिशत बेड कोरोना को लेकर रिजर्व हैं। इनकार करने वाले अस्पताल पर भी कार्रवाई की जाएगी।
बड़ेसरा में आठ लोग किए होम क्वारंटीन
केरल के लीलबड़ी से हाल ही में तीर्थयात्रा से लौटे गांव बडेसरा निवासी आठ लोगों को जिला प्रशासन ने एकांतवास में रखा है। प्रशासन को सूचना मिली थी कि गांव बडेसरा में 25 मार्च को कुछ लोग केरल से वापस आए हैं। क्वारंटीन टीम के नोडल ऑफिसर डॉ. राजेश व सुरक्षा इंचार्ज इंस्पेक्टर श्रीभगवान यादव की टीम शनिवार को गांव बडेसरा पहुंची और जांच के आधार पर आठ लोगों को 14 दिन के लिए घर में क्वारंटीन किया। इंस्पेक्टर श्रीभगवान यादव ने बताया कि तीर्थयात्रा में अन्य जिलों के लोग भी शामिल थे। उनके साथ गांव बडेसरा के भी आठ लोग गए हुए थे। 25 मार्च को उनके गांव में लौटने की सूचना मिली। इसके बाद उन्हें क्वारंटीन किया है। इनके घरों के आगे पोस्टर भी चस्पाया है।
कोरोना का संदिग्ध मरीज आया है। उसे निजी अस्पताल में दो घंटे तक वेंटिलेटर रखा गया। उसकी स्थिति में सुधार नहीं होने पर पीजीआई रोहतक रेफर किया है। एक निजी अस्पताल ने वेंटिलेटर सुविधा से इंकार किया है, जिसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। सभी निजी अस्पतालों में 25 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व किए हैं ताकि वेंटिलेटर की सुविधा की कमी न रहे। - डॉ. राजेश कुमार, जिला को-ऑर्डिनेटर स्वास्थ्य विभाग
379 नए यात्रियों की मिली लिस्ट
स्वास्थ्य विभाग को राज्य मुख्यालय से 379 नए यात्रियों की सूची मिली है। इनमें 128 ऐसे मिले, जो पहले की सूची में शामिल थे। बाकी सूची का आंकलन कर यात्रियों की तलाश में स्वास्थ्य विभाग की टीम जुट गई है। 103 यात्रियों की तलाश हो गई और बाकी 148 यात्रियों की जारी है। सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र कादियान ने बताया कि भिवानी में अब तक कोई भी पॉजिटिव मरीज नहीं आया है। हमें अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।
... और पढ़ें

कोरोना पड़ा भारी, काम तो दूर खाना तक नहीं मिला, सैकड़ों प्रवासी मजदूरों ने किया पलायन

करीब दस दिन पहले यूपी के झांसी से भिवानी में काम के सिलसिले में आए थे। यहां मजदूरों की मांग रहती है। यहां आने के बाद कोरोना बीमारी के खतरे में ऐसे फंसे की काम तो दूर घर से भी नहीं निकल सकते। तीन दिन से परिवार के अधिकतर सदस्यों ने खाना नहीं खाया। वापस जाने का साधन नहीं मिल रहा। इस कारण पैदल ही लौट रहे हैं।
यह कहना है परिवार के साथ भिवानी-दिल्ली मार्ग पर पैदल ही सिर पर सामान लेकर लौट रहे झांसी वासी मजदूर बुहन का। बुहन के परिवार की तरह ही सैकड़ों प्रवासी मजदूर परिवार पलायन कर गए। शनिवार सुबह 10 बजे से ही प्रवासी मजदूरों की टोलियां भिवानी-दिल्ली मार्ग से अपने गांव लौटने लगी थी। दिनभर में सैकड़ों मजदूर अपने परिवार समेत लौटते नजर आए। ज्यादातर मजदूर यूपी और बिहार से थे। मजदूरों ने बताया कि कोरोना बीमारी के चलते लॉकडाउन है। लोग घरों से नहीं निकल रहे। वे दस दिन से काम के लिए चौक पर जा रहे हैं, मगर उन्हें काम ही नहीं मिल रहा है। पिछले तीन दिन से खाने के लिए खाना तक नहीं है।
यहां कोई साधन नहीं चल रहा है। इस कारण पैदल ही जाने को मजबूर है। खाना भी नहीं मिला। कुछ समाजसेवी लोगों ने खाना दिया था, मगर वह अपर्याप्त था। अगर जिला प्रशासन उन्हें दिल्ली तक भी पहुंचाने की व्यवस्था कर दे तो वे अपने घर पहुंच जाए। -राम सिंह, मजदूर।
यहां दस दिन पहले झांसी से काम के लिए आए थे, मगर यहां दूसरी ही समस्या हो गई। अब तो यहां खाने के भी लाले पड़े हैं। इस कारण वापस लौट रहे है। यहां साधन भी नहीं चल रहे, इस कारण पैदल ही जा रहे है। - सोहन लाल, मजदूर।
यहां परिवार का पेट पालने के लिए आए थे, मगर यहां हालात ही विपरीत हैं। यहां तो बच्चे खाली पेट सोने को मजबूर हैं। यहां भूखे पेट मरने से तो अच्छा है अपने गांव लौट जाए। यहां प्रवासी मजदूर परिवारों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। - राजेश, मजदूर
यहां बच्चे पालने और काम के लिए आए थे, मगर बंद के कारण अब कोई काम नहीं दे रहा है। यहां काम के लिए घर से बाहर भी नहीं निकल सकते। इसी कारण अब यहां रहेंगे तो खाने की भी दिक्कत होगी। इसलिए पैदल ही अपने गांव लौट रहे हैं। मगर साधन नहीं चल रहे, इस कारण भी समस्या बन गई है। - रामदिया, मजदूर
रास्ते में समाजसेवी लोगों ने दिए खाने के पैकेट
काम और खाना नहीं मिलने के कारण भले प्रवासी मजदूर पलायन कर रहे हो मगर पैदल जाते समय उन्हें विभिन्न सामाजिक संगठनों के सदस्यों ने खाने के पैकेट दिए ताकि वे भूखे न रहें।
... और पढ़ें

घर में ही बनाए मास्क

फुटपाथ पर सफर के दौरान आराम करते हुए प्रवासी मजदूर परिवार।
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सरकार ने 21 दिन यानी 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया है। चार दिनों से घर में बैठे लोग बोर होने की तरह-तरह की विडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे है। कोई दाल के दाने गिन रहा है तो कोई पंखा स्विच बंद किए जाने के बाद कितनी बार घूमकर रुकता है, कितनी देर में घूमता है आदि। इन सबके बीच कुछ लोग ऐसे भी है जो लॉकडाउन के दौरान घर में बिताए अपने समय को बेहतर प्रयोग कर लोगों के लिए मदद कर रहे है। इनमें कोई घर में बैठकर कपड़े के मास्क बना रहा है तो कोई आंगन की खाली जगह को ही बेहतर बना सब्जियां उगाने में जुट गए है। ग्रामीण क्षेत्र के काफी लोग जो सरसों और गेहूं की कटाई के लिए मजदूरों पर निर्भर रहते थे, वे स्वयं ही दरात उठा खेतों में कटाई करने में जुटे है। ऐसे ही कुछ लोगों में हम आपको रूबरू करा रहे है।
मास्क की कमी हुई तो स्वास्थ्य कर्मी की पत्नी और बेटी ने बनाए कपड़े के मास्क
कोरोना वायरस का खतरा लोगों के सिर मंडरा रहा है। मास्क की कमी के कारण काला बाजारी हो रही है। ऐसे में स्वास्थ्य कर्मी जगदीश जांगड़ा ने मास्क की कमी की बात अपनी पत्नी शिक्षिका मधुबाला के समक्ष रखी तो उन्होंने घर में रहने के दौरान कपड़े के मास्क बनाने का निर्णय लिया। उनकी बेटी एमएससी जूलॉजी की छात्रा श्रुति भी अपनी मम्मी के साथ सहयोग में आई। दोनों ने कपड़े के मास्क बनाने शुरू किए। सहयोग में बेटा बैडमिंटन खिलाड़ी हर्षित भी आ गया। तीनों मिलकर अब करीब 250 मास्क बनाकर स्वास्थ्य कर्मचारियों को नि:शुल्क दे चुके है। हिंदी शिक्षिका मधुबाला ने बताया कि मास्क की कमी का पता लगने के बाद खाली समय का बेहतर प्रयोग करने के लिए उन्होंने कपड़े के मास्क बनाने का निर्णय लिया। स्वास्थ्य कर्मी जगदीश ने बताया कि ये कपड़े के मास्क स्वास्थ्य कर्मचारियों, पुलिस कर्मचारियों को निशुल्क दिए जा रहे है ताकि वे कोरोना वायरस जैसे खतरे से सुरक्षित रह सके।
दो और शिक्षिकाएं आगे आई
गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल में हिंदी शिक्षिका मधुबाला ने ज्यादा मास्क की मांग को देखते हुए स्कूल की ही अपनी दो साथी शिक्षिकाओं बबीता, बबीता से संपर्क किया तो वे भी मास्क बनाने के लिए आगे आई। अब ये दोनों शिक्षिकाएं भी कपड़े के मास्क बनाने में जुटी है।
घर में शुरू की कीचन गार्डनिंग
बीएसएफ के जवान रहे ईश्रवाल वासी जगदीश महला ने लॉक डाउन के दौरान घर में रहते समय अपने इस समय का सदुपयोग करने के लिए कीचन गार्डनिंग शुरू की है। उन्होंने अपने घर के आंगन-बगीचे की सफाई कर वहां विभिन्न सब्जियां मटर, मेथी, धनिया, ककड़ी, खीरा, टमाटर, तोरी, मिर्च, टिंडा की सब्जियां लगाई है। जगदीश महला ने बताया कि खाली समय का सदुपयोग करने के लिए किचन गार्डनिंग शुरू की। पत्नी भी इस कार्य में सहयोग कर रही है।
... और पढ़ें

हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन ने कोविड रिलीफ फंड में दिए 11 लाख रुपये

कोरोना वायरस को हराने की जंग में जिला प्रशासन और सरकार के साथ अब लोगों की मदद के लिए हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन भी आगे आई है। हरियाणा नंबरदार एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने डीसी अजय कुमार से भेंट कर उन्हें मुख्यमंत्री कोविड रिलीफ फंड में 11 लाख रुपये का योगदान देने का पत्र सौंपा।
भिवानी तहसील नंबरदार एसोसिएशन प्रधान इंद्रपाल सिंह कालू नंबरदार ने बताया कि भिवानी जिला में 1100 नंबरदार हैं। इसमें अकेले भिवानी तहसील में 305 नंबरदार हैं। जिले भर के सभी नंबरदारों ने कोरोना वायरस की इस आपदा की घड़ी में मार्च 2020 माह के वेतन में से एक एक हजार रुपये का योगदान देने का फैसला लिया है। नंबरदार एसोसिएशन के इस निर्णय अनुसार शुक्रवार को प्रतिनिधि मंडल ने डीसी अजय कुमार को मुख्यमंत्री कोविड रिलीफ फंड में नंबरदारों की तरफ से 11 लाख रुपये का योगदान देने का पत्र सौंपा। इंद्रपाल सिंह कालू नंबरदार ने बताया कि मार्च माह के वेतन से प्रत्येक नंबरदार के एक-एक हजार रुपये काटकर इस राहत कोष में जमा कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में भी नंबरदार लॉक डाउन की स्थिति में प्रशासन का हर संभव योगदान देने के लिए तैयार हैं। इस मौके पर भिवानी तहसील प्रधान इंद्रपाल सिंह कालू, धर्मबीर कुंगड नंबरदार, सचिव सतीश कुमार नंबरदार, निर्मल नंबरदार, विजय गोठड़ा नंबरदार मौजूद रहे।
... और पढ़ें

अस्पताल में दो युवकों ने की दुर्व्यवहार

जिला सामान्य अस्पताल की केजुअल्टी में दो युवक पहुंचे और एक युवक चिकित्सक के सामने बैठने के बाद बोला कि मुझे कोरोना है इसका टेस्ट कराओ। इस पर चिकित्सक ने उस युवक से उसकी ट्रेवलिंग की हिस्ट्री पूछी तो उसने कुछ नहीं बताया और दूसरा युवक डॉक्टर के कार्य की ही विडियो बनाने लगा। इस पर डॉक्टर ने उन्हें ऐसा करने से मना किया तो दोनों युवक ही बदतमीजी पर उतर आए। इसके बाद केजुअल्टी में ही हंगामा खड़ा हो गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। लेकिन जब तक पुलिस वहां पहुंचती इससे पहले ही दोनों युवक रफूचक्कर हो गए। केजुअल्टी में तैनात डॉक्टर की शिकायत पर सिटी पुलिस ने इस संबंध में दो अज्ञात युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है।
सिटी पुलिस को दी शिकायत में डॉ. प्रवीन कुमार ने बताया कि उसकी केजुअल्टी में ड्यूटी लगी हुई थी। जब वह मरीजों का चेकअप कर रहा था तो इसी दौरान दो युवक केजुअल्टी में पहुंचे। इसमें से एक युवक ने उसे कोरोना होने की बात कही। इस पर उसने युवक से उसकी यात्रा के इतिहास की रिपोर्ट मांगी मगर आरोपी कुछ नहीं बता पाया। इसके बाद उसने उन्हें इस टेस्ट की जरूरत नहीं होने की सलाह दी थी। इसी बात पर आरोपी युवक बिफर गए और उसके साथ अभद्रता करते हुए उसके कार्य की विडियो बनाने लगे। इस संबंध में शिकायत सिटी पुलिस को दी गई। सिटी पुलिस ने डॉ. प्रवीन कुमार की शिकायत पर दो अज्ञात युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है।
... और पढ़ें

हरियाणा में किराना, दवाओं की दुकानें खुलने का समय नहीं होगा निर्धारित, सरकार ने बताई वजह

हरियाणा सरकार ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश भर में किराना, दवाओं और अन्य जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय निर्धारित न किया जाए। समय निर्धारित होगा, तो इन दुकानों पर एकदम भीड़ उमड़ेगी, जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ेगा। लिहाजा जिला प्रशासन इन दुकानों को अधिक देर तक खुला रहने दें। हो सके तो रात तक भी जरूरी वस्तुओं की दुकानों को खुला रखा जाए।

उधर, सरकार ने पुलिस प्रशासन को भी आदेश दिया है कि जरूरी वस्तुओं की खरीद के लिए जा रहे किसी भी व्यक्ति को अनावश्यक तंग न किया जाए, जिससे पुलिस और पब्लिक के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो। इस संदर्भ में मुख्य सचिव ने यह निर्देश सभी मंडल आयुक्तों, जिला उपायुक्तों के साथ कांफ्रेंसिंग से बैठक करके दिए। 

हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आंनद अरोड़ा ने सभी मंडलायुक्तों, जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि 21 दिनों तक राज्य में पूरी तरह से लॉकडाउन होने की स्थिति में आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही में किसी प्रकार की कोई समस्या न आए और घर-घर तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था तैयार की जाए। इसके अलावा, सभी पुलिसकर्मी जो मौके पर मौजूद हैं, वे सोशल डिस्टेसिंग का पालन अवश्य करें। परंतु आवश्यक वस्तुओं की खरीद करने जा रहे आम लोगों को न रोकें और उन्हें पूरी चेकिंग के साथ आने-जाने दिया जाए।
... और पढ़ें

40 रिटेलर होम डिलिवरी के लिए तैयार

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर लगाए लॉकडाउन के दौरान नागरिकों को मूलभूत आवश्यकताओं की निर्बाध रूप से आपूर्ति को 40 रिटेलर ने सप्लाई के लिए अपने नाम खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को दिए है। इसे लेकर डीसी अजय कुमार ने अधिकारियों की अपने कैंप कार्यालय में बैठक भी की और जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग अधिकारियों को निर्देश दिए कि नागरिकों की समक्ष मूलभूत आवश्यकताओं की आपूर्ति में बाधा न आए।
बैठक के दौरान खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा ने डीसी को बताया कि शहर में 40 रिटेलर आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी करने के लिए तैयार हैं।
ये रिटेलर करेंगे सप्लाई
नाम मोबाइल नंबर
सब्जी मंडी के पीछे द मंडी स्टोर 9996544459
छाजू राम रमेश चंद्र बासिया पतराम गेट 9255189807
जय ट्रेडिंग कंपनी पतराम गेट 9255283519
बा यिा ट्रेडिंग कंपनी पुरानी अनाज मंडी 9255282311
हिमांशु किरयाणा स्टोर पतराम गेट 7404232344
श्याम ट्रेडिंग कंपनी घोसियान चौक 9034552616
लेखराज रमेश कुमार जैन चौक 9416058679
गर्ग ट्रेडिंग कंपनी पुरानी अनाज मंडी 9416526160
सेढमल हरिराम ट्रेडिंग कंपनी पुरानी अनाज मंडी 9466528447
आसाम बंसल टी कंपनी पुरानी अनाज मंडी 9215830040
विनोद ट्रेडिंग कंपनी पुरानी अनाज मंडी 8950731011
बंसल टे्रडिंग कंपनी पुरानी अनाज मंडी 9254345733
मालवी ट्रेडिंग कंपनी 9215558162
श्रीराम भोग आटा पतरामगेट 9215558162
गुरुकृपा ट्रेडिंग कंपनी लोहड़बाजार 9812970071
सिटी बाजार हांसी गेट 9728701234
करमदीप चिडिय़ाघर रोड 9215544885
बेरलिया इंटरप्राइजिज धिराना मोड़ देवसर 8708563861
हीरालाल महेश कुमार नई अनाज मंडी 9992827111
बेरलिया ट्रेडिंग कंपनी नई अनाज मंडी 9416057051
महक ट्रेडिंग कंपनी नई अनाज मंडी 7404175833
बेरलिया कपूर मार्केट नई अनाज मंडी 8607208218
चंद्रप्रकाश मिल्क डेयरी जैन चौक 9215590417
राम कुमार मिल्क डेयरी जैन चौक 9215561900
कथूरघिया डेयरी मिल्क कृष्णा कालोनी 9215358245
चौधरी डेयरी बीटीएम रोड 9466716377
होम बाजार 9215956400,
4 फोर हेल्प दीपक गुलाटी 9896036548
इजी डे स्टोर हांसी गेट 9812241381
दलबीर प्रजापति किरयाणा स्टोर बैंक कालोनी 8529546533
राजेंद्र कंफेक्शनरी बैंक कालोनी 9812122059
जनता किरयाणा स्टोर बीटीएम चौक 9518858039
भाटिया दी हट्टी कृष्णा कालोनी 9416163830
इनसे भी किया जा सकता है संपर्क
विष्णु हेतमपुरिया पुरानी अनाज मंडी, राम कुमार अग्रवाल सर्राफा बाजार, रघुनंदन पंसारी पतराम गेट, महेंद्र पतराम गेट, रामचंद्र कुम्हारी वाला पतराम गेट, बनवारीलाल चेतराम पतराम गेट और भाटिया किराना स्टोर कृष्णा स्टोर पर आवश्यक वस्तुओं के लिए संपर्क कर सकते हैं। दि मंडी एसोसिएशन से संदीप कुमार और वीरपाल सिंह ने भी सामान की होम डिलीवरी करने की पहल की है। नागरिक उनके पास 9996544459 पर सामान की सूची का वाट्सअप कर सकते हैं, जो कि 4 से 24 घंटे के अंदर सब्जी, किराना आदि सामान की आपूर्ति कर दी जाएगी। नागरिक उनके पास 8307950338 और 8398007007 पर संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें

निगरानी में रखे दो लोग गए भिवानी से बाहर

विदेश से आए यात्रियों की ओर से घोर लापरवाही का मामला सामने आया है। निगरानी में होने के बावजूद दो लोग शहर छोडक़र नोएडा चले गए तो एक युवक बाजार में घूम रहा है। दो ने स्वास्थ्य विभाग की ओर से घरों के बाहर लगाए सूचना स्टीकर फाड़ दिए है। ये लापरवाही महंगी साबित हो सकती है। स्वास्थ्य विभाग ने इसे गंभीरता से लिया है और इन छह के खिलाफ एसपी को शिकायत कर केस दर्ज करने की सिफारिश की है।
भिवानी में अब तक करीब 150 से अधिक लोग विदेशों से आए है। इनमें से अधिकतर को स्वास्थ्य विभाग ने खोजकर घर में ही निगरानी में रखा है। इनके हाथों पर स्टांप लगाई गई और इनके घरों के बाहर भी नोटिस बोर्ड लगाया है ताकि वहां रहने वाले और उनसे मिलने आने वाले भी सावधानी बरतें। इन्हीं में से छह यात्रियों ने बड़ी लापरवाही की है। सिविल लाइन थाना क्षेत्र की एक कॉलोनी से निगरानी में रखी गई एक महिला और व्यक्ति बिना स्वास्थ्य विभाग को सूचना दिए ही नोएडा चले गए। इंडस्ट्रीज एरिया थाना क्षेत्र की अलग-अलग दो कॉलोनियों के तीन लोग ऐसे है जिन्होंने घरों के बाहर लगाए गए पोस्टर फाड़ दिए। वहीं एक यात्री ऐसा मिला है, जो निगरानी में रखे जाने के बावजूद बाजार में घूमते देखा गया। किसी ने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। इसलिए विभाग ने इन छह यात्रियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई। सिविल सर्जन ने यह भी बताया कि अब भिवानी में बचे चार यात्री जिनको क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा।
स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में है 136 यात्री : सिविल सर्जन ने बताया कि अब तक भिवानी में कुल 145 यात्री विदेश से आए हैं, जिनमें से पहले ही नौ यात्री बाहर चले गए थे बाकि बचे 136 यात्री विभाग की निगरानी में हैं। अभी तक 40 ऐसे यात्री हैं, जिनका 28 दिन का समय पूरा हो चुका है बाकि 96 यात्री ऐसे है जिनको विभाग की निगरानी में 28 दिन तक रखा जाएगा। वहीं सिविल सर्जन ने सभी अधिकारियों को आदेश दिये कि वे प्रत्येक यात्री को यह आवश्यक सूचना अवश्य दें कि वे न तो घर से बाहर निकलेे और ना ही विभाग द्वारा लगाए सूचना स्टीकर, पोस्टर को फाड़े, अन्यथा विभाग उन यात्रियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज करवाएगा।
अफवाहों का बाजार भी गर्म : शहर में इन दिनों अफवाहों का बाजार भी गर्म है। विदेशों से आए यात्रियों को स्वास्थ्य विभाग अपनी निगरानी में रख रहा है। उनके हाथों पर मोहर लगाने के अलावा उनके घरों के बाहर सूचना स्टीकर लगाए जा रहे है। मगर कुछ लोग इन सूचना स्टीकरों के फोटो खिंच सोशल मीडिया पर गलत अफवाहें फैला रहे है। सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र कादियान ने स्पष्ट निर्देश दिए है कि अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी और आमजन किसी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें। भिवानी में अभी तक कोई भी पॉजिटिव केस नहीं आया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us