विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्रि पर कन्या पूजन से होंगी मां प्रसन्न, करेंगी सभी मनोकामनाएं पूरी
Astrology Services

नवरात्रि पर कन्या पूजन से होंगी मां प्रसन्न, करेंगी सभी मनोकामनाएं पूरी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Haryana: रेवाड़ी में छह संदिग्ध मामले आए सामने, अब तक 29 मरीज पॉजिटिव

हरियाणा में लॉकडाउन के आठवें दिन रेवाड़ी जिले में एक साथ छह संदिग्ध मामले सामने आए। इनमें से चार लोग कश्मीरी हैं।

1 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फतेहाबाद

बुधवार, 1 अप्रैल 2020

लोगों को स्वास्थ्य और राशन की चिंता, हेल्पलाइन पर मांग रहे मदद

प्रशासन ने आमजन की मदद के लिए बुधवार को कंट्रोल रूम स्थापित किया है। लोग कंट्रोल रूम में फोन करके किसी भी तरह की मदद मांग सकते हैं और जानकारी ले सकते हैं। लेकिन दो दिन के दौरान जो कॉल आई हैं वह सबसे ज्यादा राशन और शहर से बाहर उपचार लेने के लिए मदद की हैं। कंट्रोल रूम में पूछताछ के लिए बुधवार को पहले दिन 20 और वीरवार शाम तक 15 कॉल आई।
कंट्रोल रूम में तैनात कर्मचारी सुभाष चंद्र ने बताया कि अधिकतर कॉल राशन के लिए आ रही हैं। 22 कॉल राशन के लिए अभी तक आई हैं। लोग फोन कर कह रहे हैं कि उनके घर राशन खत्म हो गया है और खरीदने के लिए रुपये नहीं है। इन 22 कॉल को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के पास भेजा गया है, आगे की कार्रवाई संबंधित विभाग ही करेगा।
इसके अलावा पांच कॉल ऐसी आई, जिन्होंने कहा कि उनका उपचार जिले से बाहर हिसार, रोहतक और दिल्ली में चल रहा है। उन्हें कहा गया है कि फिलहाल सिविल अस्पताल से उपचार करवा लें, अगर ज्यादा इमरजेंसी है तो प्राइवेट अस्पताल में जा सकते हैं, लेकिन जिले बाहर मत जाएं। इसके अलावा चार लोगों ने कॉल करके दूध डेयरी के बारे में पूछा है और राशन के बारे में जानकारी ली है।
... और पढ़ें

दिल्ली से आए युवक की तबीयत बिगड़ी, आइसोलेशन वार्ड में दाखिल

स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली से आए युवक की तबीयत बिगड़ने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। डॉक्टरों ने मरीज को भर्ती करके स्क्रीनिंग की और मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी, लेकिन मुख्यालय ने सैंपल लेकर भेजने से इंकार कर दिया। स्वास्थ्य विभाग मुख्यालय ने कहा कि कोरोना वायरस के इसमें कोई लक्षण नहीं है, हालांकि विभाग ने आइसोलेशन वार्ड में रखकर उपचार शुरू किया है।
मामले के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग के पास स्क्रीनिंग के लिए एक युवक पहुंचा और उसने कहा कि वह दिल्ली की एक कंपनी में काम करता है। उसे सांस लेने दिक्कत हो रही है और दर्द भी है। विभाग ने मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया और मुख्यालय में संबंधित मरीज के बारे में जानकारी दी। मुख्यालय में मौजूद अधिकारियों से सैंपल से इंकार कर दिया और वहीं उपचार देने के निर्देश दिए।
क्वारंटीन होम में तीन लोग दाखिल
स्वास्थ्य विभाग अभी तक 12 सैंपल लेकर पीजीआई रोहतक भेज चुका है। इन 12 की रिपोर्ट भी आ चुकी है जोकि निगेटिव आई है। इसके अलावा विभाग ने तीन लोगों को अरोड़वंश धर्मशाला में बनाए गए होम क्वारंटीन में 14 दिन के लिए रख रखा है। 181 लोग होम क्वारंटीन है।
देश में अब कहीं से आने वाले व्यक्ति की होगी स्क्रीनिंग
देश के किसी भी राज्य से आने वाले व्यक्ति की अब स्क्रीनिंग होगी। अगर उसे कोई दिक्कत लगती है तो विभाग उसकी स्क्रीनिंग करेगा। जरूरत पड़ने पर सैंपल भी लिया जाएगा। लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि अगर वह बाहर से आए हैं या फिर पॉजिटिव के संपर्क में रहे हैं तो इस बारे में सूचना दें।
- डॉ. हनुमान, उप सिविल सर्जन फतेहाबाद।
... और पढ़ें

56 ग्राम हेरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार, महिला समेत तीन पर मामला दर्ज

सीआईए ने रतिया मोड़ बाईपास के पास मोटरसाइकिल सवार एक युवक को 56 ग्राम हेरोइन के साथ पकड़ा है। पकड़ा गया युवक हिसार के पीरांवाली निवासी बंटू उर्फ बंटी गुरुनानकपुरा मोहल्ला में महिला छिंदो को सप्लाई देने के लिए आ रहा था और पीरांवाली के ही मनजीत उर्फ मन्नी से हेरोइन लेकर आया था। मामले में शहर पुलिस ने आरोपी बंटू उर्फ बंटी, महिला छिंदो तथा मनजीत उर्फ मन्नी के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।
मामले के मुताबिक सीआईए स्टाफ इंचार्ज जोगिंद्र सिंह ने बताया कि टीम रतिया रोड पर गश्त कर रही थी। इस दौरान मोटरसाइकिल सवार एक युवक टीम को देखकर भागने लगा। टीम ने शक के आधार पर पीछा कर युवक को पकड़ लिया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में जांच करने पर उसके पास से 56 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। पकड़े गए युवक ने अपनी पहचान हिसार के पीरांवाली निवासी बंटू उर्फ बंटी के रूप में बताई। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह ये हेरोइन गांव के ही मनजीत उर्फ मन्नी से खरीदकर लाया था और इसे गुरुनानकपुरा मोहल्ला निवासी छिन्दो ने मंगवाया था। वहीं पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला छिन्दो हेरोइन तस्करी में पहले भी पकड़ी जा चुकी है। महिला शहर में हेरोइन सप्लाई करने का काम करती है।
... और पढ़ें

टोहाना की मस्जिद से मिले 11 तबलीगियों में से दो में कोरोना के लक्षण

सपड़ा मोहल्ले की एक मस्जिद से पुलिस ने दिल्ली से आए 11 तबलीगियों को तलाश निकाला। इनमें से दो लोगों में कोरोना के लक्षण मिले है। जिनके सैंपल लेकर जांच के लिए रोहतक पीजीआई भेज दिए गए है। हालांकि सतर्कता के तौर पर सभी 11 लोगों को क्वारंटाइन के लिए रामभवन में रखा गया। राहत की बात ये है कि इनका दिल्ली की निजामुद्दीन में हुई मरकज से कोई संबंध नहीं है। 11 में से 10 युवक गाजियाबाद के लोनी के तथा एक युवक दिल्ली का रहने वाला है।
बुधवार को डीएसपी उमेद सिंह के पास सूचना मिली कि सपड़ा मोहल्ले की मस्जिद में बाहर के कुछ लोग टिके हुए हैं। सूचना पर एसएचओ सुरेंद्र सिंह व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पहुंचकर वहां मौजूद सभी 11 लोगों को बाहर निकाला और रामभवन स्थित क्वारंटाइन सेंटर ले गई। यहां स्वास्थ्य विभाग की जांच में दो लोगों को जुकाम की शिकायत मिली। जिसके बाद उनकी जांच कर सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया। पुलिस की पूछताछ में गाजियाबाद के लोनी निवासी 8 लोगों ने बताया कि वो लोग 27 फरवरी को टोहाना में धर्म प्रचार के लिए आए थे। जिसके बाद 3 लोग 13 मार्च को यहां आए। उन्होंने पुलिस को बताया कि गिल्लावाली ढ़ाणी, हिम्मतपुरा, ईदगाह कालोनी व सपड़ा मोहल्ला में गए हैं, जहां उन्होंने धर्म प्रचार किया है।
डीएसपी उमेद सिंह ने बताया कि रामभवन में क्वारंटाइन किए गए मुस्लिम लोगों से गहनता से पूछताछ की गई है। इन लोगों का दिल्ली के निजामुद्दीन से होने का कोई संपर्क नहीं है। उन्होंने बताया कि इनमें से 10 लोग गाजियाबाद के लोनी से है तथा एक दिल्ली का रहने वाला है। डीएसपी ने बताया कि यह लोग गिल्लावाली ढ़ाणी, हिम्मतुपरा, ईदगाह कलोनी व सपड़ा मोहल्ला में गए थे। उनके बताए स्थानों पर जाकर भी छानबीन की जा रही है। उन्होंने बताया कि इन लोगों के आईडी कार्ड लेकर रहने के स्थानों का मिलान किया जा रहा है। वहीं जिला स्वास्थ्य विभाग के आदेशानुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डॉ. रितू के नेतृत्व में दो लोगों के सैंपल लिए । विभाग ने दोनों के सैंपलों को जंाच के लिए रोहतक पीजीआई भेज दिया गया है। विभाग द्वारा इन सभी का मेडीकल चेकअप किया जाएगा।
... और पढ़ें
रामभवन स्थित क्वारंटाइन में मस्जिद से मिले 11 तबलीगियों से पूछताछ करते डीएसपी उमेद सिंह। संवाद रामभवन स्थित क्वारंटाइन में मस्जिद से मिले 11 तबलीगियों से पूछताछ करते डीएसपी उमेद सिंह। संवाद

ट्रक चालक समेत दो युवकों में कोरोना के लक्षण, सैंपल जांच को भेजा

फतेहाबाद में दो कोरोना संदिग्ध मरीज और मिले हैं। दोनों को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल कर उनके सैंपल रोहतक पीजीआई भेज दिए गए। बुधवार देर रात तक या फिर वीरवार सुबह तक सैंपल रिपोर्ट आने की उम्मीद है।
मामले के मुताबिक भूना के एक गांव निवासी ट्रक चालक है। पिछले दिनों वह पंजाब के मोहाली से गांव लौटा है। घर पहुंचने के बाद उसे खांसी, जुकाम और बुखार की शिकायत हुई। पिछले तीन दिन से घर पर उपचार ले रहा था। बुधवार को तबीयत ठीक न होने पर अस्पताल पहुंचा । डॉक्टरों को उसे संदिग्ध मानते हुए सैंपल लेने के बाद आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया। इसी प्रकार टोहाना के एक गांव निवासी युवक मुंबई से दो माह बाद लौटा है। उसे भी पिछले तीन से खांसी, जुकाम और बुखार की शिकायत है। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस संदिग्ध मानते हुए सैंपल लेकर लैब में भेजा है। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि दोनों की सैंपल रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। अभी एहतियात के तहत दोनों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।
... और पढ़ें

पांच कर्मचारियों पर फर्जीवाड़े का आरोप

एसडीएम कार्यालय के पांच कर्मचारियों पर गाड़ियों के नंबरों की अलाटमेंट में गड़बड़ी का आरोप लगा है और एसडीएम नवीन कुमार ने खुद ये गड़बड़झाला पकड़ा है। इसी के साथ उन्होंने सभी आरोपी पांच कर्मचारियों के खिलाफ शहर थाना में एक शिकायत देकर जांच की मांग की है। शहर पुलिस ने एसडीएम नवीन कुमार की शिकायत पर पांचों कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपियों में रजिस्ट्रेशन क्लर्क विनोद कुमार, सहायक अधीक्षक राजेंद्र कुमार, डाटा इंट्री आपरेटर सुनीता, अजय एवं सुनील शामिल हैं। ये सभी आरोपी ई-दिशा केंद्र में कार्यरत थे।
पुलिस को दी शिकायत में एसडीएम नवीन कुमार ने बताया कि सभी आरोपी एक अप्रैल 2017 से 26 सितंबर 2019 तक ई-दिशा केंद्र में कार्यरत थे और वाहनों के रजिस्ट्रेशन से जुड़े कामकाज देखते रहे हैं। एसडीएम ने कहा है कि कुछ गड़बड़ी के संकेत मिलने पर उनके कार्यकाल की स्पेशल आडिट 9 मार्च 2020 को कराई गई तो इसमें अनियमितताएं पाई गई। आडिट के अनुसार आरोपियों ने 48 लाख 23 हजार रुपये की फीस कम बनाई। इसके अलावा अनेक वाहनों के इंजन व चैसीज नंबरों के साथ छेड़छाड़ कर उनका रजिस्ट्रेशन कर दिया। एसडीएम की मानें तो आरोपी कर्मचारियों ने प्रदेश के बाहर के वाहनों की भी बिना एनओसी लिए रजिस्ट्रेशन करके उन्हें टोहाना के नंबर अलॉट कर दिए। ऐसा करके उन्होंने विभाग के नियमों की अवहेलना की है। उन्होंने मामले की लिखित शिकायत शहर पुलिस को देकर सभी के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
एसडीएम नवीन कुमार ने शिकायत देकर रजिस्ट्रेशन क्लर्क विनोद कुमार व उसके अन्य साथियों पर धोखाधड़ी करते हुए सरकार को 48 लाख से अधिक का नुकसान करने की बात कही है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, आरोपियों को शीघ्र काबू कर लिया जाएगा। -उमेद सिंह, डीएसपी।
... और पढ़ें

हैदराबाद से आए युवक की तबीयत बिगड़ी

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस संदिग्ध एक मरीज को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया है। भट्टू क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक की मंगलवार सुबह तबीयत खराब होने पर एंबुलेंस से जिला नागरिक अस्पताल लाया गया। यहां पर डॉक्टरों ने जांच की और सैंपल के लिए प्रोफार्मा भरकर रोहतक पीजीआई भेजा लेकिन रोहतक पीजीआई ने अभी सैंपल भेजने से इन्कार कर दिया। रोहतक पीजीआई के चिकित्सकों का कहना है कि मरीज को अभी फिलहाल निगरानी में रखा जाए। मरीज को नागरिक अस्पताल लाने के बाद एंबुलेंस को सैनिटाइज किया गया।
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक हैदराबाद से आए एक युवक को होम क्वारंटीन किया हुआ था। मंगलवार सुबह उसे बुखार और सांस लेने में दिक्कत होने पर अस्पताल में लाया गया। यहां पर चिकित्सकों ने जांच की और आइसोलेशन वार्ड में रखा है। फिजिशियन डॉ.मनीष टुटेजा का कहना है कि फिलहाल मरीज को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है और निगरानी रखी जा रही है। सैंपल अभी नहीं लिया गया है।
तीन मरीजों को किया होम क्वारंटीन : अरोडवंश धर्मशाला में बनाए क्वारंटीन सेंटर से तीन मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया गया है और इन्हें अब होम क्वारंटीन किया गया है। अभी फिलहाल एक मरीज को अरोडवंश धर्मशाला से नागरिक अस्पताल में रखा गया है। यहां पर सात मरीज क्वारंटीन थे, तीन को विभाग ने सोमवार को डिस्चार्ज कर दिया था।
... और पढ़ें

Coronavirus: हरियाणा में अब कुल मरीज 24, सात ठीक होकर घर पहुंचे, 187 की रिपोर्ट बाकी

संदिग्ध मरीज को लाने के बाद एंबुलेंस को सैनिटाइज करते कर्मचारी।
हरियाणा में शुक्रवार को तीन नए केस मिले। इसके बाद प्रदेश में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 24 हो गई है। इनमें से अभी सात मरीज ही ठीक हो पाए हैं। वहीं लगातार बढ़ते जा रहे मामलों को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह चिंतित और गंभीर है।

प्रदेश में 24 पॉजिटिव केसों में से 10 मरीज गुरुग्राम, 4-4 मरीज फरीदाबाद और पानीपत व एक-एक मरीज पंचकूला, अंबाला, पलवल, सोनीपत, सिरसा और हिसार के हैं। इन पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में 348 लोग अभी तक आ चुके हैं। जिन पर स्वास्थ्य महकमे की लगातार निगरानी बनी हुई।

243 संदिग्ध मरीजों को अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। 13621 लोगों को स्वास्थ्य महकमे ने मेडिकल सर्विलांस में हैं। 666 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 459 सैंपल नेगेटिव आ चुके हैं। 187 सैंपल की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

हरियाणा स्वास्थ्य महकमे के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा के अनुसार, प्रदेश में इस वायरस का प्रभाव ज्यादा न बढ़े, इसे लेकर हरियाणा सरकार बेहद गंभीर है। उनके अनुसार इसी के मद्देनजर लगातार लोगों पर चिकित्सा निगरानी का दायरा बढ़ाया जा रहा है। लोगों से भी आग्रह है कि वे भी स्वास्थ्य विभाग की हिदायतों का पालन करें और स्वास्थ्य कर्मचारियों को पूरा सहयोग करें।
... और पढ़ें

पॉल्ट्री फार्म संचालकों को नहीं मिल रहा फीड, 12 हजार चूजे जिंदा दबाए

कोरोना वायरस के चलते किए गए लॉकडाउन का असर पॉल्ट्री फार्मों पर भी देखने का मिल रहा है। पॉल्ट्री फार्म संचालकों को चूजों के लिए फीड नहीं मिल रहा है। इसके अलावा न ही इनकी सेल हो रही है। इसी परेशानी के चलते संचालकों ने अब जिंदा चूजों को जमीन में दबाना शुरू कर दिया है। सोमवार को बीघड़ रोड स्थित पॉल्ट्री फार्म पर 12 हजार चूजों को दबाया गया। पॉल्ट्री फार्म संचालक शंकर नारंग का कहना है कि करीब 30 लाख रुपये का नुकसान हो चुका है।
जिंदा चूजों को जमीन में दबाते समय पॉल्ट्री फार्म संचालक शंकर नारंग ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल की। उसमें कहा कि सरकार समय रहते सुध ले नहीं तो कोरोना वायरस से क्या पता लोग मरे या न मरे, लेकिन उससे पहले आर्थिक तंगी से मर जाएंगे। शंकर नारंग ने कहा कि उसके गांव बीघड़, दौलतपुर, मानावाली में पॉल्ट्री फार्म हैं। यहां पर सफीदों व पानीपत से चूजों को लाकर तैयार किया जाता है, जिसे बरेलर कहते हैं।
इसके बाद इन्हें पंजाब और उत्तरप्रदेश मं सप्लाई किया जाता है, लेकिन अब कोई सेल प्वाइंट नहीं है। यहां तक कि इनके लिए डॉक्र और मेडिसिन की सुविधा नहीं मिल रही है और फीड भी नहीं मिल रहा है। ट्रांसपोर्ट सुविधा भी नहीं है। इसके चलते मजबूरन जेसीबी से जमीन खोदकर चूजों को जिंदा दबाना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

होम क्वारंटीन परिवारों को संक्रमित समझ दूधिया नहीं दे रहे दूध, नहीं देने आ रहा कोई राशन, नौकर भी छोड़ गए काम पर आना

स्वास्थ्य विभाग की ओर से होम क्वारंटीन किए गए परिवारों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से इनके घरों के बाहर नोटिस लगाए गए हैं कि कोई भी इनसे न मिले और ये होम क्वारंटीन है। इसे नोटिस को देखने के बाद अब इन घरों में दूधिया दूध डालने के लिए नहीं आ रहा है और न ही कोई दुकानदार राशन दे रहा है। यहां तक कि कोई रेहड़ी वाला सब्जी और फल भी नहीं दे रहा है। अब ये लोग व्हाट्स एप ग्रुपों में संस्थाओं से सहायता मांग रहे हैं, क्योंकि प्रशासन की तरफ से इन परिवारों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है।
विदेश से और देश के अलग-अलग राज्यों और जिलों से आए लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने स्क्रीनिंग के बाद होम क्वारंटीन किया है, ताकि अगर कोई दिक्कत हो तो वह अन्य लोगों में न फैलें। इसके चलते विभाग ने इनके घरों के आगे खतरा लिखा नोटिस लगाया है। यहां तक कि ये निर्देश दिए है कि कोई भी इन परिवारों से न मिलें और ये लोग घर से बाहर भी नहीं निकल सकते हैं। अगर घर से बाहर निकलते हैं तो एफआईआर दर्ज हो सकती है। भट्टूकलां में एक एफआईआर भी दर्ज करवाई जा चुकी है।
होम क्वारंटीन लोग बोले ऐसा तो जेल में भी नहीं होता
होम क्वारंटीन परिवारों के लोगों का कहना है कि जब से उनके घर के बाहर नोटिस लगाया गया है तब से दूध वाला नहीं आ रहा है। सब्जी वाले को कहते हैं तो वह नहीं देने के लिए आता है। आसपास के लोगों को राशन देकर जाने के लिए कहा जाता है तो वह राशन भी नहीं दे रहे हैं। यहां तक कि घर पर काम करने के लिए आने वाले नौकरानी भी नहीं आ रही है। शिव नगर निवासी होम क्वारंटीन एक युवक का कहना है कि जेल से भी बदतर हालात हो रहे हैं।
जिले में क्या है स्थिति
- विदेश से आए प्रवासी भारतीय होम क्वारंटीन 261
- अलग-अलग राज्यों से आए होम क्वारंटीन 495
- होम क्वारंटीन का समय पूरा हुआ 74
ऐसे कर सकते हैं मदद
डॉक्टरों के मुताबिक जो परिवार होम क्वारंटीन है वह अपने साथी को फोन करके सामान मंगवा सकते हैं। इसके बाद साथी वह सामान लाकर गेट पर छोड़ सकता है और फिर उसे कॉल करके बता सकता है। अगर कोई बात भी करनी है तो वह दूरी बनाकर बात कर सकता है। जो परिवार क्वारंटीन है वह अछूते नहीं है सिर्फ एहतियात के तौर पर इन्हें होम क्वारंटीन किया गया है।
कोरोना महामारी का रूप ले चुकी है, जो विदेश से या किसी अन्य स्थान से आएं है उनके घर पर कोविड-19 का पोस्टर लगा हुआ है लेकिन लोगों को यहां नहीं पता कि पोस्टर सिर्फ इसलिए है कि वे लोग अन्य लोगों से अलग रहें, ऐसा बिल्कुल नहीं है कि वे सब कोविड-19 के मरीज हैं। लोगों से मेरी अपील है कि आप उन लोगों की शिकायत करने की बजाए उनको जिस भी सामान की आवश्यकता है आप उन्हें सुरक्षा नियमों के साथ लाकर दे सकते हैं।
- डॉ. सुजाता बंसल, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी, भट्टूकलां
जो लोग क्वारंटीन है उनके द्वारा व्हाट्स एप से सूचना आ रही है कि उनके घर दूधिया कोरोना के डर से दूध डालने नहीं आ रहा है और उनके राशन नहीं मिल रहा है। सूचना पर संस्था की तरफ से सामान पहुंचाया गया है। प्रशासन को इनके लिए व्यवस्था करनी चाहिए, क्योंकि प्रशासन के पास इनकी सूची है।
- गोपाल बंसल, सदस्य, खुशी एक उम्मीद फतेहाबाद।
... और पढ़ें

आइसोलेशन के लिए टोहाना में 87 कमरों की व्यवस्था

कोरोना वायरस को लेकर प्रशासन की ओर से रात्रि ठहराव को लेकर 87 कमरों की व्यवस्था कर दी गई है। प्रशासन द्वारा तीन जगहों पर ये व्यवस्था की गई है। यह जानकारी नागरिक अस्पताल के एसएमओ डॉ. हरविंद्र सागु ने दी।
डॉ. सागु ने बताया कि नगर परिषद परिसर मे 2 कमरों के 8 बेड, रेलवे स्टेशन के नजदीक स्थित सरकारी स्कूल में 35 कमरे व दमकोरा रोड स्थित स्कूल में 50 कमरों की व्यवस्था की गई है। अलग राज्यों से आए लोगों के लिए नगर परिषद के एसआई अजैब सिंह के नेतृत्व में रेलवे रोड स्थित स्कूल में 30 बेड व नगर परिषद में 12 कमरों की व्यवस्था की गई है।
एसएमओ ने बताया कि विदेश से आए 34 लोगों की स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच की जा रही है, उन्होंने बताया कि अब दूसरे प्रदेश से आने वाले लोगों को भी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र में अधिक कोरोना मरीज होने के चलते वहां से आने वाले लोगों की लगातार जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

करंट लगने से दंपती की मौत, हादसे से एक दिन पहले बदला था मकान

शहर के बीघड़ रोड पर हरनाम सिंह कॉलोनी में करंट लगने से दंपती की मौत हो गई। सुबह जब दोनों कई देर तक बाहर नहीं आए तो शक होने पर पड़ोसी घर के अंदर गए। इस दौरान दोनों मृत पड़े मिले। सूचना मिलने पर शहर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में भिजवाया। वहीं, घटना में छह माह की बच्ची बाल-बाल बच गई है।
मामले के मुताबिक हरनाम सिंह कॉलोनी निवासी 25 वर्षीय मंगल सिंह मजदूरी का कार्य करता था। बताया जा रहा है कि वह अपनी पत्नी पूनम के साथ घर में कूलर चलाकर सोया हुआ था। रात को पूनम पानी पीने के लिए उठी तो कूलर से छूने के कारण उसे करंट लग गया और कूलर उसके ऊपर आ गिरा। पत्नी को बचाने के लिए मंगल सिंह ने कूलर हटाने का प्रयास किया तो करंट ने उसे भी चपेट में ले लिया और दोनों की मौत हो गई। सुबह काफी देर तक जब कोई बाहर नहीं आया और बच्ची के रोने की आवाज सुनकर पड़ोसी अंदर गए। अंदर दोनों मृत पड़े थे। पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी। पड़ोसियों का कहना है कि मंगल सिंह पहले स्वामी नगर में रह रहा था। उसने एक दिन पहले ही हरनाम सिंह कॉलोनी में किराए पर मकान लेकर सामान शिफ्ट किया था। छत का पंखा न होने के कारण दोनों कूलर चलाकर सोए थे और कूलर के कारण करंट लगने से मौत हो गई।
करंट लगने से पति और पत्नी की मौत हुई है। टीम मौके पर गई थी, अभी तक ये सामने आया है कि कूलर के कारण करंट लगा है। महिला के परिजनों के आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। उन्हें सूचना दे दी गई है।
- जगदीश चंद्र, सहायक शहर थाना प्रभारी।
... और पढ़ें

कोई भी भूखा न सोए ः महानिदेशक

प्रदेश सरकार द्वारा जिला फतेहाबाद के लिए नियुक्त किए नोडल ऑफिसर एवं पर्यटन विभाग के महानिदेशक राजीव रंजन ने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कोविड-19 से बचाव के लिए सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता करें। इस कार्य में कोई भी अधिकारी व कर्मचारी ढिलाई व कोताही न बरतें।
उन्होंने कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति की खाने के लिए कोई कॉल आती है तो उन्हें तुरंत खाना पहुंचाए व कंट्रोल रूम में आने वाली प्रत्येक कॉल को अटैंड करें। उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी को निर्देश दिए कि वे यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी चलता फिरता व बेघर व्यक्ति भूखा न सोए व किसी गांव से भी खाने के लिए कोई कॉल आती है तो वहां पर भी खाना पहुंचाना सुनिश्चित करें।
महानिदेशक ने एसएमओ को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र के दूसरे प्रांतों से लगने वाली सीमाओं पर एक मेडिकल टीम बना कर मेडिकल कैंप लगाएं ताकि घुमंतू व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जांच हो सके। उन्होंने सीएमओ को यह निर्देश दिए कि वे सभी रिटायर्ड आईएमए सदस्य जैसे डॉक्टर, स्टाफ नर्स और लैब टेक्नीशियन को नियुक्त करें। उन्होंने कहा कि एन-95 मास्क व पीपीई किट की लोकल लेवल पर खरीद कर ली जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के लिए एक अलग अस्पताल बनाया जाए, जिसमें किसी और बीमारी का मरीज नही होना चाहिए। महानिदेशक ने सांसद, सभी विधायकों को मास्क सप्लाई करने करने के लिए कहा। इस अवसर पर नगराधीश अनुभव मेहता, डिप्टी सीएमओ डॉ हनुमान सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us