विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कोरोना वायरसः आइसोलेशन वार्ड में तब्दील हुई 24 कोच की ट्रेन, रेलमंत्री ने ट्वीट की तस्वीरें देखिए

कोरोना महामारी से लड़ने को भारतीय रेलवे ने एक सराहनीय कार्य किया है। विभाग की ओर से 24 कोच की ट्रेन को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया गया है, देखिए तस्वीरें।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

झज्जर/बहादुरगढ़

रविवार, 29 मार्च 2020

लॉकडाउन के मध्येनजर लगाए गए विशेष नाके, नाकों पर की जा रही वाहनों की छानबीन

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने एवं आमजन की सुरक्षा के मद्देनजर झज्जर पुलिस कि कई टीमों को जिले के चप्पे-चप्पे पर निगरानी के लिए सतर्कता के साथ तैनात किया गया है। हरियाणा सरकार द्वारा जारी किए गए आदेशों की पालना एवं लॉकडाउन के मद्देनजर झज्जर पुलिस द्वारा शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए विभिन्न स्थानों पर नाकाबंदी सहित गश्त पार्टियों को तैनात किया गया है।
हरियाणा सरकार द्वारा जारी किए गए लॉकडाउन के आदेशों को सफल बनाने के लिए झज्जर जिले की अन्य जिलों तथा दिल्ली के साथ लगती सीमाओं पर भी विशेष नाकेबंदी करके बारीकी से प्रत्येक गतिविधि पर कड़ी नजर रखी जा रही है। डीआईजी अशोक कुमार के दिशा निर्देशानुसार झज्जर पुलिस की अनेक टीमों को जिला के विभिन्न स्थानों पर आवश्यक साजो सामान के साथ तैनात किया गया है। पुलिस की विभिन्न टीमों द्वारा आमजन को कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के प्रति लगातार जागरूक किया जा रहा है।
जिले में लगाए 24 नाके
डीआईजी अशोक कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए दिल्ली सीमा सहित जिला के विभिन्न स्थानों पर विशेष नाकाबंदी की गई है। लॉक डाउन के मद्देनजर दिल्ली सीमा के साथ लगते एरिया में विभिन्न स्थानों पर 10 नाके तथा अन्य जिला की सीमाओं के साथ लगते 14 नाके लगाए गए हैं। दिल्ली सीमा के साथ जो नाके लगाए गए हैं।
इन स्थानों पर लगाए गए हैं नाके
जिला में पुलिस की तरफ से कानोन्दा टी पाइंट पंजाब खोड़ रोड दिल्ली, कानोदा से जोंती रोड, जगरतपुर चौक से मुंडेला, बादली से ढांसा बॉर्डर, बहादुरगढ़ से टिकरी बॉर्डर, बालोर मोड से झाडोदा कैर मुंडेला दिल्ली, बहादुरगढ़ से नजफगढ़ रोड झाडोदा बॉर्डर, परनाला से निजामपुर दिल्ली, गुभाना से बाकरगढ़ दिल्ली तथा देवरखाना लोहट से गालिबपुर दिल्ली शामिल हैं। इसके अतिरिक्त अन्य जिलों के साथ लगती सीमाओं पर विभिन्न नाके लगाए गए हैं। जिनमें निलोठी नहर पुल, मुंडाखेड़ा, याकूबपुर, कुलाना चौक, टी पाइंट ढाकला, नहरपुल साल्हावास, खोरड़ा मोड़, सेहलंगा टी पाइंट, रोहद टोल प्लाजा, ढराना मोड, आसंडा, डीघल टोल प्लाजा, छुछकवास दादरी रोड मातानहेल टी पाइंट तथा नहर पुल बेरी रोहतक रोड शामिल हैं।
24 घंटे पुलिस के जवान रहेंगे तैनात
उन्होंने बताया कि उपरोक्त सभी नाके लगातार 24 घंटे तैनात रहेंगे। आवश्यक उपकरणों सहित उपरोक्त उपरोक्त नाकों पर तैनात सभी पुलिस जवानों को सुरक्षा के मद्देनजर मास्क, दस्ताने व सैनिटाइजर भी उपलब्ध करवाए गए हैं। इसके अतिरिक्त जवानों के लिए रहने व खाने की व्यवस्था भी की गई है। उपरोक्त विशेष नाकों पर किसी भी कमर्शियल वाहन को किसी भी हालत में जिला झज्जर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। निजी वाहनों जिनमें केवल चार सवारी होंगी उन्हें ही प्रवेश करने दिया जाएगा। उपरोक्त नाकों पर खाने के सामान वाला कोई भी वाहन, दूध, सब्जी वाला वाहन, पेट्रोल, डीजल, गैस वाला वाहन तथा एंबुलेंस इत्यादि को आने जाने की छूट रहेगी।
... और पढ़ें

विदेश से आए 97 लोगों पर रखी जा रही निगरानी

झज्जर। कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से विदेश यात्रा से लौटने वाले व्यक्तियों पर निगरानी रखी जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के पास विदेश यात्रा से लौटने वाले लोगों लिस्ट हर रोज लंबी होती जा रही है। जिले में अब तक 110 लोगों की विदेश यात्रा की हिस्ट्री है। जिन में से फिलहाल 97 लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। बाकी 13 लोग ऐसे हैं जो 28 दिन की अवधि पूरी कर चुके हैं या फिर वे विदेश लौट चुके हैं। विभाग की तरफ से जिले में विदेश यात्रा से लौटने वाले लोगों के घरों पर पोस्टर भी चस्पा किए जा रहे हैं कि इस घर में कोई न आए, न जाए। जिले को पूरी तरह से लॉकडाउन किया जा चुका है।
घर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध
स्वास्थ्य विभाग की तरफ से विदेश यात्रा से लौटने वाले हर व्यक्ति को घर से बाहर न जाने के निर्देश दिए गए हैं। विभाग की टीमें उनके घर पर जाकर उन्हें सैनिटाइज भी कर रही हैं। विभाग की तरफ से टीमों को पूरी तरह से सतर्क किया गया है। एयरपोर्ट से सूचना आते ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें उनके घर पहुंचती हैं और पूरी हिस्ट्री की जानकारी प्राप्त करती हैं।
आपातकालीन विभाग में आए करीब 200 मरीज
सामान्य अस्पताल में ओपीडी बंद होने के बाद मरीजों की संख्या भी घटने लगी है। लॉकडाउन के दौरान जिले के करीब 200 लोग विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए आए हैं। जबकि सामान्य दिनों में ओपीडी चालू रहते समय हर रोज एक हजार से 12 तक मरीज इलाज के लिए आते थे। लेकिन अब केवल आपातकालीन सेवाएं ही चल रही हैं।
स्वास्थ्य विभाग की टीमें पूरी तरह से सतर्क हैं। विभाग की तरफ से हर स्थिति पर नजर रखी जा रही है। फिलहाल तक जिला में कोरोना का पीड़ित या संदिग्ध मरीज सामने नहीं आया है।
- आरएस पूनिया, एसएमओ, झज्जर।
... और पढ़ें

दिल्ली की सीमाएं सील, जिले में लगाए 24 नाके

झज्जर। कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन की घोषणा के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के साथ लगती जिला की सीमाएं सील कर दी गई हैं। दिल्ली से लगती सीमाओं पर पुलिस प्रशासन ने 12 नाके लगाए हैं। इसके अलावा 12 अन्य स्थानों पर जिले से दूसरे जिलों की लगती सीमा पर नाके लगाए गए हैं।
डीआईजी एवं झज्जर के एसपी अशोक कुमार ने जिले के सभी पुलिस थाना प्रभारियों व चौकी प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने क्षेत्र में गश्त करते रहें और कानून व्यवस्था को किसी भी स्थिति में न बिगड़ने दें। जिले में 14 पुलिस थाना प्रभारी व 11 चौकी प्रभारी जो अपने-अपने क्षेत्र में नजर बनाए हुए हैं। पुलिस की तरफ से लगाए नाकों पर पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। पुलिस के जवान सड़कों पर निकलने वाले लोगों को कोरोना वायरस से बचाव को लेकर घरों में रहने की हिदायत दे रहें हैं।
जिले में घोषित किए गए लॉकडाउन का गंभीरता से पालन करवाया जा रहा है। दिल्ली से लगती जिला की सीमाओं को सील कर दिया गया है।
-अशोक कुमार, एसीपी/डीआईजी, झज्जर।
... और पढ़ें

लॉकडाउन : बहादुरगढ़ से मजदूरों का पैदल पलायन लगातार जारी

शनिवार को संपूर्ण लॉकडाउन का चौथा दिन रहा। बहादुरगढ़ से मजदूरों का पैदल पलायन लगातार जारी है। लोग सैकड़ों किलोमीटर पैदल मार्च करने को मजबूर हैं। वह भी सड़क के जरिये नहीं बल्कि रेलवे ट्रैक के साथ। शनिवार को रेलवे रोड से काफी संख्या में मजदूर अपने घरों की तरफ जाते नजर आए। गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी करके मजदूरों की मदद करने का निर्देश दिया है।
कोरोना से जंग के लिए जब से सरकार ने लॉकडाउन का ऐलान क्या किया, तभी से पलायन का दौर शुरू हो गया। बहादुरगढ़ से दिन-रात मजदूर लोग अपने घरों की ओर कूच कर रहे हैं। किसी के कंधे पर बैग का बोझ है तो कोई अपने बच्चों को कंधे पर बिठाए हुए हैं। महिलाएं भी पीछे नहीं हैं वो भी उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं।
कब पहुंच पाएंगे इन्हें भी नहीं मालूम
बहादुरगढ़ में काम करने वाले अधिकतर मजदूर निकल पड़े हैं, ऐसे लंबे सफर पर जहां कब पहुंच पाएंगे ये इन्हें भी नहीं मालूम। इनमें कई ऐसे भी हैं जिनके पेट में अन्न का एक भी दाना नहीं है। घर जाने में एक फैक्टरी वर्कर गणेश भी है। पांच साल की बेटी को कंधे पर बिठाकर अपने गांव इटावा पैदल ही निकल पड़ा है। बहादुरगढ़ के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र की जिस फैक्टरी में गणेश काम करता था वह लॉकडाउन के कारण बंद है। इसी तरह एक वर्कर संतोष है जो बहादुरगढ़ से रेलवे ट्रैक के साथ-साथ अपने घर झांसी जा रहा है। बहादुरगढ़ से झांसी लगभग 500 किलोमीटर दूर है ऐसे में संतोष पैदल कब तक पहुंचेगा। उसे भी इस बारे में नहीं पता। संतोष के साथ उसकी पत्नी और बच्चे भी हैं।
सबकी अपनी-अपनी समस्याएं
शहर के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र में वर्कर रजनीश ऑटोमोबाइल की कंपनी में काम करता था, लेकिन अब उसके ऊपर संकट खड़ा हो गया है कि अब ऐसी स्थिति में वो करे तो क्या करे। सड़क पर जितने लोग गुजर रहे हैं उनकी उतनी ही दर्द भरी कहानियां हैं। खास बात यह है कि इन मजदूरों के साथ न केवल उनकी पत्नियां बल्कि छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल हैं। वह कब तक पैदल चलेंगे। इसका भी उन्हें कोई ख्याल नहीं है। सरकार की ओर से मजदूरों की मदद करने के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए गए हैं।
बहादुरगढ़ में मजदूरों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। जो लोग अपने प्रदेश जा रहे हैं उनसे शेल्टर होम में रहने के लिए कहा जा रहा है। अलग-अलग स्थानों पर शेल्टर होम बनाए गए हैं। साथ ही सरकार की ओर से दिए गए आदेशों की पालना की जा रही है। मजदूरों के खाने और पीने की व्यवस्था के साथ-साथ रात को रुकने के भी इंतजाम किए जा रहे हैं।
- तरुण पावरिया, एसडीएम, बहादुरगढ़।
बहादुरगढ़ रेलवे रोड से स्टेशन की तरफ जाते मजदूर।
बहादुरगढ़ रेलवे रोड से स्टेशन की तरफ जाते मजदूर।- फोटो : Bahadurgarh
... और पढ़ें
बहादुरगढ़ से रेलवे ट्रैक के जरिये अपने घरों की ओर पलायन करते मजदूर] महिलाएं व अन्य। बहादुरगढ़ से रेलवे ट्रैक के जरिये अपने घरों की ओर पलायन करते मजदूर] महिलाएं व अन्य।

सब्जी मंडी में मार्केट कमेटी ने कोरोना से बचने को बनाए गोल निशान

कोरोना वायरस से बचाव के लिए सब्जी मंडी में दुकानों के बाहर मार्केट कमेटी द्वारा कुछ-कुछ दूरी पर चूने से गोल निशान बनाए गए हैं। इन निशानों के बीच करीब चार फुट की दूरी रखी गई है। ऐसे में सामान लेने के दौरान लोगों के बीच कम से कम चार फीट की दूरी रखने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे कोई भी कोरोना वायरस की चपेट में नहंी आए। इस मौके पर गोल निशान में खड़े लोगों ने कहा कि लोगों में संक्रमण को बचाने की दृष्टि से यह बेहतर प्रयास है। इससे लोग अपनी जगह पर खड़े होकर इंतजार कर सकते हैं और संक्रमण की चपेट में आने की संभावना भी कम रहेगी।
मेडिकल स्टोर पर स्वयं एक मीटर की दूरी बनाकर खड़े हुए लोग
क्षेत्र के विभिन्न मेडिकल स्टोर पर लोग मास्क व सैनिटाइजर व अन्य दवाईयां लेने के लिए पहुंचे। जहां लोग खुद ही एक मीटर की दूरी पर लाइन में खड़े रहे। अगर इसी तरह से लोग अपनी सुरक्षा खुद करें तो किसी भी बीमारी से बच सकते हैं। वहीं मेडिकल स्टोरों के बाहर पुलिस भी लोगों को समझाने में लगी हुई है। पुलिस ने कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक भी किया।
मार्केट कमेटी सचिव उमेश दांगी ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए हर तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। मार्केट कमेटी की तरफ से सब्जी मंडी में दुकानों के आगे गोल निशान बनाए गए हैं ताकि वहां मौजूद लोगों के बीच आपस में दूरी रहे। सामान भी आसानी से खरीदा जा सके।
... और पढ़ें

पत्नी की हत्या कर सात घंटे बैठा रहा शव के पास, सुबह बहन और ससुराल को दी सूचना

शहर के त्रिमूर्ति मंदिर के पास मामूली सी कहासुनी के एक युवक ने अपनी पत्नी की चारपाई के पाए से वार कर हत्या कर दी। हत्या के बाद वह करीब सात घंटे शव के पास बैठा रहा। सुबह उसने अपनी बहन व ससुराल में फोन कर खुद घटना की सूचना दी। बहन ने उसके बड़े भाई को घटना की जानकारी दी तो उसने आस-पड़ोस के लोगों से मिलकर उन्हें वहां बुलाया। वारदात की सूचना शहर पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को घटना स्थल से काबू कर लिया। पुलिस ने एफएसएल टीम को भी बुलाया और घटना स्थल से सबूत जुटाए।
जानकारी अनुसार झज्जर के त्रिमूर्ति मंदिर के पास रहने वाला प्रदीप मिट्टी के बर्तन बनाने का काम करता है। वीरवार की रात को उसकी पत्नी के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। रात के समय उसने अपनी पत्नी सुषमा की गर्दन पर चारपाई के पाए से वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद वह सुबह करीब सात बजे तक वहीं शव के पास बैठा रहा। इसके बाद सुबह उसने मामले की जानकारी अपनी बहन व ससुराल में फोन करके दी। सूचना मिलने के बाद उसकी ससुराल पक्ष के लोग भी वहां पर पहुंच गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को घटना स्थल से काबू कर लिया। घटना स्थल का मुआयना करने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में भेजा। जहां से पोस्टमार्टम के बाद शव मृतका के परिजनों के हवाले कर दिया।
तीन साल का बेटा था मां के पास
मृतका सुषमा के तीन बच्चे हैं। जिनमें से बड़ा लड़का मयंत वे बेटी चारू उसके मामा के घर गए हुए थे। उस समय सुषमा के पास तीन साल का बेटा डेनी था, जो सोया हुआ था। बताया जा रहा है कि प्रदीप अपने घर में ही मिट्टी के बर्तन तैयार कर उन्हें बेच कर अपने परिवार का पालन-पोषण करता था।
15 लोगों ने किया अंतिम संस्कार
कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के दौरान महिला के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। लेकिन पुलिस प्रशासन की हिदायतों के अनुसार करीब 15 लोगों ने ही महिला का अंतिम संस्कार किया है।
झज्जर शहर थाना प्रभारी रोशनलाल ने बताया कि पुलिस ने मृतका के परिजनों की शिकायत पर उसके पति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।
... और पढ़ें

सैंकड़ों किलोमीटर दूर झांसी और महोबा अपने घरों के लिए पैदल निकले कई परिवार

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने से रोकने के लिए पूरे भारत को लॉकडाउन किया गया है। इसके कारण जिले में उपस्थित दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा चालक और गरीबों की जिंदगी मुश्किलों से घिर गई है। ये लोग अपने लिए हर रोज कमाते थे और रोज खाते थे। जिला प्रशासन की तरफ से मुश्किलों का हल खोजने की हर कोशिश की जा रही है। बावजूद इसके कुछ लोग परेशानियों का हल ढूंढ़ने में नाकामयाब होने के बाद अपने घरों की तरफ चल पड़े हैं। देश में लॉकडाउन होने की वजह से परिवहन व्यवस्था पूरी तरह से बंद है। ऐसे में कुछ लोग पैदल ही अपने घरों की तरफ निकल पड़े हैं। कुछ लोग पैदल, कुछ अपने रिक्शा व साइकिल पर सवार होकर अपने गंतव्यों की तरफ बढ़ रहे हैं। हालांकि इनके साथ बच्चे व महिलाएं भी हैं। रात से हो रही बूंदाबांदी शुक्रवार दोपहर बाद तक जारी रही। इस बूंदाबांदी के बीच इनके कदम अपनी मंजिल की ओर बढ़ रहे थे।
दो दिन से चल रहे हैं पैदल
वीरवार को झज्जर व रोहतक से यूपी के झांसी व महोबा जिलों में जाने के लिए निकल पड़े। वहीं वो उनके रास्ते में पड़ने वाली रेललाइन पर ट्रेन के बारे में जानकारी प्राप्त करते नजर आए। लेकिन उन्हें वहां पर निराशा ही हाथ लगी और वो अपने पैदल ही अपने गंतव्यों की तरफ बढ़ने लगे। उनका कहना है कि जहां पर वो काम कर रहे थे, वहां पर उन्हें काम नहीं मिल रहा है। उनके पास खाना खाने केे लिए पैसे भी नहीं बचे हैं। जिसकी वजह से वो यूपी स्थित अपने घरों की तरफ जा रहे हैं। जब वो झज्जर के बाईपास के पास पहुंचे तो उस दौरान बूंदाबांदी का दौर जारी था और वो अपने बच्चों को बचाने के लिए प्रयास कर रहे थे।
साइकिल पर फरीदाबाद से फतेहाबाद के लिए रवाना हुआ युवक
फतेहाबाद निवासी मुन्नाराम ने बताया कि वह फरीदाबाद से पांच बजे घर से निकला था और उसे फतेहाबाद जाना है। फरीदाबाद में वह मजदूरी काम करता है। वह जिसके पास काम करता था, उस व्यक्ति ने भी उसे रुपये भी नहीं दिए। वह सुबह पांच बजे फरीदाबाद से साइकिल पर सवार होकर चला था। रास्ते में एक चाय वाले की दुकान पर किसी व्यक्ति ने चाय व मट्ठी खिलाई थी। उसके बाद जब झज्जर पहुंचा तो पुलिस ने उससे पूछताछ की और उनके अपने बारे सारी बातें बताई। जिसके बाद यादव धर्मशाला के पास तैनात पुलिसकर्मी और एसआई गौतम ने उसे एक हजार रुपये देकर कहा कि वह कुछ खा लेना और घर में बच्चों के लिए भी कुछ खाने के लिए ले जाना।
अपने परिवार के साथ यूपी के लिए पैदल जाते लोग।
अपने परिवार के साथ यूपी के लिए पैदल जाते लोग।- फोटो : Jhjhar
... और पढ़ें

सरोजिनी और सुनील ने 14 परिवारों का किराया किया माफ

अपने परिवार के साथ यूपी के लिए पैदल जाते लोग।
मानवता की कोरोना के साथ जंग में लोग अपने-अपने ढंग से सेवा कर रहे हैं। चिकित्सा कर्मियों का तो जवाब ही नहीं, पुलिस भी पीछे नहीं है। काफी लोगों ने मुख्यमंत्री द्वारा स्थापित कोरोना राहत कोष में दान दिया है। उधर, सांखोल के दो नागरिक कोरोना की वजह से बेरोजगार हो गए अपने किराएदारों की मदद के लिए आगे आए हैं। इन दोनों ने अपने सभी किराएदारों का एक महीने का किराया माफ कर दिया है।
सांखोल के मकानों में सैकड़ों श्रमिक अपने परिवारों के साथ रहते हैं। ये सभी मेहनत मजदूरी करके गुजारा करते हैं। आजकल लॉकडाउन की वजह से किसी को दिहाड़ी पर काम नहीं मिल रहा। इसलिए सभी को गुजारा करना मुश्किल हो गया है।
सांखोल के मनीष चाहर और उनके साथी युवा गांव में संघर्षशील जनकल्याण सेवा समिति चलाते हैं। इन युवाओं ने किराएदारों की समस्या को समझा और जरूरतमंद किराएदारों की मदद के लिए मुहिम चलाई। कई मकान मालिकों से मिलकर अपने किरायेदारों का किराया माफ करने की अपील की। राजकीय विद्यालय बीर बरकताबाद में ड्राइंग टीचर से रिटायर हुई सरोजनी देवी को युवाओं की बात ने झकझोर दिया और उन्होंने तुरंत ही अपने पांच किराएदारों का एक महीने का किराया माफ कर दिया। जिन परिवारों का किराया माफ किया है उनमें नेपाल मूल के सुरेश कुमार, बेतुलाल व सात्विक, मध्य प्रदेश की नंदिनी और हरियाणा के बलराम शामिल हैं।
सांखोल के ही निवासी माई चंद के पुत्र सुनील अहलावत के कुल 9 कमरे हैं। इन सभी में एक-एक परिवार रहता है। सेवा समिति कार्यकर्ताओं की अपील पर सुनील ने भी सभी का एक महीने का किराया माफ कर दिया है। उनके जिन किराएदारों को लाभ मिला है उनमें रोहतक जिले की राखी, मीनू, ज्योति व नसीब, उत्तर प्रदेश के आगरा के रोहित व गुड़िया, मथुरा के शिवम रानी और हिमाचल प्रदेश के बलदेव सिंह शामिल हैं।
सरोजिनी देवी।
सरोजिनी देवी।- फोटो : Bahadurgarh
... और पढ़ें

सामूहिक हुक्का न पीने और ताश न खेलने को लेकर किया जागरूक

देश में फैले कोरोना वायरस की संकट की घड़ी में बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी भी अपना योगदान दे रहे हैं। इसी कड़ी में वीरवार को उपस्वास्थ्य केंद्र याकूबपुर पर पोस्टेड बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी राकेश कुमार, राजबाला और सुनीता देवी ने गांव गांव घूमकर लोगों को इकट्ठे हुक्का न पीने और ताश न खेलने के बारे में जागरूक किया।
राकेश कुमार ने उपस्वास्थ्य केंद्र में आने वाले सभी गांव याकूबपुर, दादरी तोये, नंगला, कुतानी, कुकड़ोला, मुनिमपुर और ढाणी में सरपंचों के साथ मिलकर गांव में कोरोना आपदा कमेटी का गठन करवाया। यह गांव में कोरोना के बचाव के बारे मे लोगों को जागरूक करेगी और इससे बचाव की सावधानी बताएगी। राकेश कुमार ने लोगों को बताया कि गांव में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी है। एक जगह बैठकर हुक्का नहीं पीना और न ताश खेलना है। उन्होंने लोगों को समझाया कि प्रधानमंत्री के आदेश के बाद हमें 21 दिन घरों में ही रहना है और बहुत ही जरूरी काम से यदि बाहर जाना भी पड़े तो हमें मास्क का प्रयोग करना है। पास बैठते समय कम से कम डेढ़ से दो मीटर की दूरी बनाए रखनी है। उन्होंने आगे भी ग्रामीणों को बताया कि हमें खांसते या छींकते समय मुंह पर कपड़ा रखना है और भीड़ में नहीं जाना है। राकेश कुमार ने बताया कि इस बारे में घबराने या हड़बड़ाहट की जरूरत नहीं है। बस सावधानी रखकर अपना बचाव कर सकते हैं। इस दौरान कोई भी अफवाह फैलाने से बचें। इस मोके पर राजबाला, सुनीता देवी के अलावा सुनीता, प्रेम और कौशल्या भी मौजूद रहीं।
... और पढ़ें

एयरगन और एन्टी स्मॉग गन के जरिये दिन में दो बार एचएल सिटी को किया सैनिटाइज

कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन किया गया है। शहर की गली नुक्कड़ को जनता कर्फ्यू एक दिन सैनिटाइज करने का काम भी किया गया। शहर की एचएल सिटी में सुबह शाम पूरी सोसायटी को सैनिटाइज किया जा रहा है। प्रदूषण नियंत्रण में इस्तेमाल होनेे वाली एयर गन-एंटी स्मॉग गन का इस्तेमाल कर सोसायटी में क्लोरीन और ब्लीचिंग पाउडर के मिक्सचर का स्प्रे किया जा रहा है। एक बार में 200 लीटर पानी के साथ सैनिटाइज के लिए मिक्सचर तैयार कर एयर गन-एंटी स्मॉग गन के सहारे सैनिटाइज करने का काम किया जाता है। एचएल सिटी के निदेशक राकेश जून ने बताया कि सोसायटी में प्रदूषण नियंत्रण के लिए दो एयर गन लगाई गई हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए ही एयर गन-एंटी स्मॉग गन के सहारे सैनिटाइज करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वो प्रशासन को भी शहर सैनिटाइज करने के लिए सहयोग देने को तैयार हैं। ... और पढ़ें

लॉकडाउन की अवहेलना पर पुलिस ने छह लोगों को किया गिरफ्तार

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरे राज्य में लॉकडाउन किया जा चुका है। लॉकडाउन व धारा 144 के आदेश की अवहेलना करने पर झज्जर पुलिस ने दो अलग-अलग मामलों में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने अनावश्यक रूप से घूमने एवं धारा 144 का उल्लंघन करने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए थाना दुजाना में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं।
थाना प्रबंधक दुजाना दिनकर ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर थाने में अलग-अलग दो मुकदमे दर्ज किए गए हैं। इनमें एक ढाबा संचालक सहित छह आरोपियों को काबू किया गया है। उन्होंने बताया कि थाना दुजाना की एक टीम ने वीरवार को दुजाना चौक दुजाना के पास एक होंडा मोबिलियो गाड़ी को चेक किया तो उसमें पांच व्यक्ति बैठे मिले। पूछताछ में उनकी पहचान विशाल निवासी नई बस्ती गुरुग्राम, संजय निवासी रायबरेली यूपी, तुषार निवासी मदनपुरी गुरुग्राम, विकास निवासी मदनपुरी गुरुग्राम तथा राहुल विश्वास निवासी वेस्ट बंगाल के तौर पर की गई। इसी प्रकार से थाना दुजाना के अंतर्गत पुलिस चौकी डीघल की टीम ने गांव लकड़िया बाईपास पर स्थित एक ढाबा खुला पाए जाने पर ढाबा संचालक वजीर निवासी डीघल को काबू किया। पकड़े गए उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई गई। लॉकडाउन के तहत नियमों का उल्लंघन करते पाए जाने पर झज्जर पुलिस की अलग-अलग टीमों द्वारा 79 वाहनों के चालान कर 19 वाहनों को इंपाउंड किया गया। डीआईजी अशोक कुमार ने आमजन से लॉकडाउन के आदेशों का पालन करने व अपने घरों में रहने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन का फैसला हरियाणा सरकार द्वारा आपकी सुरक्षा व स्वास्थ्य के लिए किया गया है।
... और पढ़ें

डीआईजी अशोक कुमार उतरे सड़कों पर, सब्जी मंडी और शहर का किया दौरा

कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश को लॉकडाउन किया गया है। बुधवार को डीआईजी अशोक कुमार ने शहर की सब्जी मंडी के साथ-साथ अन्य कई इलाकों का दौरा कर अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए।
डीआईजी अशोक कुमार ने जहां अधिकारियों को सड़कों पर बेवजह घूमने वाले लोगों से सख्ती से पेश आने के दिशा निर्देश दिए। वहीं शहर की सब्जी मंडी व किराना स्टोर की दुकानों पर पहुंचकर उन्होंने दुकानदारों से सामान लेने के लिए पहुंचने वाले ग्राहकों के हाथ सैनिटाइजर से धुलवाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि दुकानदार सामान से देने पहले ग्राहक के हाथ अच्छी तरह से साफ करवाएं। उन्होंने सब्जी मंडी में आमजन से भी बातचीत की और उन्हें बेवजह घरों से बाहर न निकलने के लिए कहा। यदि कोई आमजन सरकारी आदेशों के अनुपालन नहीं करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी अमल में लाई जाएगी। डीआईजी ने झज्जर रोड पर स्थित सब्जी मंडी के अलावा शहर में दिल्ली-रोहतक रोड पर, सेक्टर-6 मोड़ पर भी पुलिस कर्मचारियों और अधिकारियों से इस बारे में बातचीत की। उन्होंने कहा कि यदि कोई सरकार के आदेशों की पालना नही करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।
... और पढ़ें

आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने आपात स्थिति से निपटने के लिए गठित कीं कोर कमेटियां

लॉकडाउन की स्थिति में झज्जर जिला प्रशासन की ओर से लोगों को मूलभूत सेवाएं प्रदान करने के लिए सकारात्मक कदम उठाए जा रहे हैं। आवश्यक वस्तुओं की ही दुकानें खोलने के आदेश दिए गए हैं। दुकान पर लोग एक दूसरे से दूर खड़े हों इसके लिए संबंधित दुकानदार को लाइनें लगाकर सामान की बिक्री करना सुनिश्चित करें। आदेशों की अवहेलना करने वालों पर गठित निगरानी टीमों द्वारा कार्रवाई अमल में लाई जाए। यह जानकारी उपायुक्त जितेंद्र कुमार ने दी। वे बुधवार को कांफ्रेंस हाल में मुख्य सचिव हरियाणा केशनी आंनद अरोड़ा द्वारा ली गई वीडियो कांफ्रेंस उपरांत संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। उपायुक्त ने मुख्य सचिव को झज्जर जिले में चल रहे लॉकडाउन की स्थिति से अवगत कराया।
लॉकडाउन में कोर कमेटी का किया गठन
जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन एवं उपायुक्त जितेंद्र कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन व कोरोना वायरस से बचाव को लेकर किए गए प्रबंधों को लागू करने के लिए आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से प्रशासनिक स्तर पर 11 कोर कमेटी व 3 सब कमेटी का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि उक्त कमेटी नियमित तौर पर कोरोना वायरस से बचाव को लेकर किए जा रहे कार्यों को अपने स्तर पर क्रियांवित करने में सक्रिय भूमिका अदा करेगी।
कोविड-19 हेल्पलाइन कोर कमेटी :
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
अमित बंसल डीआईओ 9355805581
हेल्प लाइन नंबर :
जिला प्रशासन कंट्रोल रूम : 01251-253118
पुलिस कंट्रोल रूम ऱ् 01251-254212
स्वास्थ्य विभाग : 01251-297221, 7027813976
क्वारंटाइन व आइसोलेशन कोर कमेटी :
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
डॉ. रणदीप पूनिया सिविल सर्जन 9812294050
डॉ. संदीप गुलिया डीएमओ बहादुरगढ़ 9868597790
डॉ. सुरेंद्र दहिया डीएमओ बहादुरगढ़ 8295962323
सर्विलेंस कमेटी :
मेडिकल टीम
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
डॉ. निहारिका उप सिविल सर्जन 9416796464
नितिन गुप्ता एपॎिमाईलोजिस्ट 8295262600
पुलिस टीम
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
शमशेर सिंह डीएसपी शहर झज्जर 8930500604
राहुल देव डीएसपी झज्जर 8930500601
अजायब सिंह डीएसपी बहादुरगढ़ 8930500602
अशोक कुमार डीएसपी बादली 8930500605
नरेश कुमार डीएसपी बेरी 8930500702
मीडिया मैनेजमैंट एण्ड एवेयरनेस कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
दिनेश कुमार डीआईपीआरओ 9416088676
डॉ. आंचल त्रिपाठी उप सिविल सर्जन 7015285802
क्रिटिकल इनफ्रास्ट्रक्चर कमेटी:
चेयरमैन पद मोबाइल नंबर
डॉ. सुभिता ढ़ाका सीटीएम 9996788814
नरेंद्र सारवान डीडीपीओ 9813488223
यातायात कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
उत्तम सिंह अतिरिक्त उपायुक्त 9460123210
एनके गर्ग जीएम हरियाणा रोडवेज 9671106947
परक्योरमैंट कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
डॉ. सुभिता ढ़ाका सीटीएम 9996788814
विजय कुमार डीआरओ 9999333093
सप्लाई ऑफ फूड आर्टिकल एण्ड अदर कंजुमेबल कमेटी गुडस कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
विजेंद्र हुड्डा सीईओ जिला परिषद 9896321757
कुशाल पाल बोरा डीएफएससी 9416353611
मेटिरियल की सप्लाई कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
उत्तम सिंह अतिरिक्त उपायुक्त 9460123210
नीना खत्री डीपीओ 9560190404
मालवाहक वाहनों के लिए कमेटी:
नोडल अधिकारी पद मोबाइल नंबर
संजीत कौर, ज्वाइंट डारेक्टर डीआईसी 9650902522
राजीव सीनियर मैनेजर एचएसआईडीसी 9999600289
रिपोर्टिंग कमेटी :
सुनीता रूहिल डीईओ
कमल मित्तल डीएसओ
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us