विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कोरोना वायरसः आइसोलेशन वार्ड में तब्दील हुई 24 कोच की ट्रेन, रेलमंत्री ने ट्वीट की तस्वीरें देखिए

कोरोना महामारी से लड़ने को भारतीय रेलवे ने एक सराहनीय कार्य किया है। विभाग की ओर से 24 कोच की ट्रेन को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया गया है, देखिए तस्वीरें।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

करनाल

रविवार, 29 मार्च 2020

कोरोना अलर्ट- करनाल भी लॉक डाउन.. अब सभी घर ही रहें, बिना वाजिब कारण घर से बाहर निकले तो होगी कार्रवाई

प्रदेश में सात जिलों के बाद अब हरियाणा सरकार ने करनाल जिले को भी लॉक डाउन कर दिया है। 31 मार्च तक लोगों को अपने घर में ही रहना होगा। बिना वाजिब कारण के यदि कोई घर से बाहर निकला तो उसके खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन के तक सख्त कार्यवाही होगी। जरूरत की चीजों जैसे करियाना स्टोर व उनके सप्लायर, सब्जी मंडी, मीट शॉप, शराब के ठेके, पेट्रोल पंप, मेडिकल स्टोर, अस्पताल और सभी गैस एजेंसी खुली रहेगी। इसके साथ ही बैंक की ब्रांच खुलेंगी, लेकिन वहां पर ज्यादा कर्मचारी तैनात नहीं हो सकेंगे, केवल एटीएम मशीनें चलाई जा सकें, वे ही स्टाफ तैनात होगा। इसके अतिरिक्त, कोई भी प्राईवेट वाहन, सरकारी वाहन, आटो और ई-रिक्शा चलाने की अनुमति नहीं है। जो भी जरूरत का सामान लाने वाला वाहन होगा, सिर्फ उसको अनुमति रहेगी और जिले में कहीं पर भी कोई रेहड़ी-फड़ी नहीं लग पाएगी। सरकार के आदेशों के बाद सोमवार देर शाम डीसी निशांत कुमार यादव और एसपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने लघु सचिवालय में प्रैसवार्ता कर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकारी योजनाओं से जरूरतमंदों को इस बंदी के दिनों में आर्थिक मदद भी मिलेगी। डीसी ने बताया कि 31 मार्च के दौरान दोबारा से जिले की समीक्षा की जाएगी और इसके बाद ही फैसला लिया जाएगा कि लाक डाउन को बढ़ाया जाएगा या हटाया जाएगा।
सीमाएं सील, एक व्यक्ति एक बार ही घर से बाहर जाएगा
डीसी ने बताया कि सभी जरूरत की चीजों की बिक्री खुली रहेगी, परंतु अन्य सभी चीजों पर पहले की तरह प्रतिबंध रहेगा। जिले की अन्य प्रदेश से लगने वाली सीमाओं को सील कर दिया गया है। ये दोनों मेरठ रोड और शेरगढ़ टापू हैं। लोगों को घरों में रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, यदि कोई अनुपालना नहीं करेगा तो कानून के अनुसार उन पर कार्यवाही की जाएगी। जरूरी चीज के लिए एक व्यक्ति एक बार ही घर से बाहर जा सकता है।
जानिए... योजनाओं से कैसे मिलेगी आर्थिक मदद-
1. बीपीएल परिवार के लोगों को अप्रैल मास का राशन डिपो पर मुफ्त मिलेगा और प्रति माह 4500 रुपये दिए जाएंगे।
2. ऐसे परिवार, जो मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना में रजिस्टर्ड है, उन्हें 31 मार्च तक 2000 रुपये उनके खाते में भेजने की सीएम की घोषणा है। योजना के तहत 6 हजार रुपये वार्षिक दिए जाते हैं, 4 हजार रुपये पहले ही उनके खाते में दिए जा चुके हैं।
3. हरियाणा श्रम निर्माण बोर्ड के पंजीकृत को भी सरकार की ओर से 4500 रुपये प्रतिमाह दिया जाएगा और यह राशि एक हजार रुपये सप्ताह दी जाएगी। पहले सप्ताह की राशि 30 मार्च होगी।
4. ऐसे डेली वेजिज यानी प्रतिदिन दिहाड़ी, रेहड़ी व फड़ी लगाने वालों को भी सरकार की ओर से आर्थिक सहायता दी जाएगी।
जिनका कहीं नाम पंजीकृत नहीं, उनका डीसी कराएंगे
डीसी के अनुसार, जिनका नाम किसी भी योजना में रजिस्टर्ड नहीं है, उनके लिए जिला उपायुक्त को अधिकृत किया गया है कि वह अपने स्तर पर उनका नाम रजिस्टर्ड करवाकर, उन्हें लाभ देंगे। ताकि गरीब व्यक्ति को इस लॉक डाउन में आर्थिक दिक्कत ना आए।
चिंता खत्म... 30 अप्रैल तक भर सकेंगे बिल
डीसी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बिजली के बिल, पानी के बिल, सीवरेज के बिल, जिनकी तारीख नजदीक थी, उसे बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया गया है। हरियाणा मोटर व्हीकल एक्ट के तहत जो वहां रजिस्ट्रेशन होने है, उनकी भी तारीख बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दी गई है।
जांच : प्राइवेट लैब को मिलेगी अनुमति, सरकारी लैब में अभी लगेगा समय
डीसी ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए जिले में 2-3 प्राइवेट लैब को अनुमति दी जाएगी, जो सरकार के नियम पूरे करती है, इसके लिए 1500 रुपये प्रथम टेस्ट और पॉजिटिव आने पर 3 हजार रुपये टेस्ट के निर्धारित किए गए हैं। 1500 रुपये निजी लैब से टेस्ट के होंगे, जबकि 3 हजार रुपये पुणे स्थित लैब से रिपोर्ट कंफर्म करने के होंगे। इसके लिए एडीसी अनीश यादव को नोडल आफिसर लगाया गया है, वे लैब संचालकों से बात करेंगे। डीसी ने बताया कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में स्थापित होने वाली वीआरडीएल लैब में समय लग रहा है। अनुमान है कि आगामी एक सप्ताह में यह लैब शुरू हो पाएगी। अभी तक जिले में 17 लोगों के कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की गई थी, जांच के बाद सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।
गांव में पंचायत करेगी निगरानी कि कोई बाहर ना निकले
डीसी ने बताया कि शहर में ही नहीं बल्कि गांवों में भी कानून के नियमों की पालना की जाएगी। मुनियादी करवाई जाएगी और पंचायत को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे अपने गांव में इसका ध्यान रखें कि कोई भी व्यक्ति घर से बाहर ना निकलें। उन्होंने यह भी बताया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में मास्क, सैनिटाइजर व मेडिकल सुविधा है। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है।
मेडिकल स्टोरों पर एक मीटर फासले पर हो लाइनें
पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र सिंह भौरिया ने बताया कि सोमवार सायं 6 बजे से सीमाओं पर नाके लगा दिए गए हैं। जिन दुकानों व प्रतिष्ठानों पर प्रतिबंध है, उन्हें पुलिस द्वारा बंद करवाया जा रहा है। मेडिकल स्टोरों पर एक मीटर फासले पर लोगों की लाइन लगाने के लिए मालिकों को निर्देश दिए गए है। कोई भी दुकानदार व व्यक्ति जरूरत का सामान इकट्ठा ना करें, इसके लिए छापामारी चलाई जा रही है। जरूरत का सामान लॉक डाउन के समय भी मिलता रहेगा। पुलिस 24 घंटे चप्पे-चप्पे पर नजर रखेगी। नियमों का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
बिना कारण प्राइवेट व्हीकल चलाने पर भी कार्रवाई : एसपी
एसपी ने बताया कि जिलेभर में पुलिस द्वारा जगह जगह नाके लगाए जाएंगे। लॉक डाउन के कारण यदि कोई व्यक्ति कार, मोटर साइकिल या अन्य साधनों से बाहर निकलता है तो उससे बाहर निकलने का कारण पूछा जाएगा, यदि कारण सही नहीं पाया गया तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। घरों से बाहर निकलना ऐसी स्थिति में ठीक नहीं है। जनहित में भी लोगों को यह निर्णय करना चाहिए किसी के दबाव में नहीं।
आज से 31 तक थानों में नहीं होगी पब्लिक डीलिंग
एसपी ने बताया कि 31 मार्च तक थानों में पब्लिक डीलिंग नहीं होगी। अगर कोई बड़ा केस नहीं है तो लोग पुलिस की वेबसाइट पर आनलाइन शिकायत करें, उसके आधार पर ही एफआईआर दर्ज की जाएगी। एसपी ने बताया कि ज्यादातर पुलिस को थानों से बाहर फिल्ड में तैनात किया जाएगा, ताकि वे सरकार के नियमों का पालन करा सकें। थानों में केवल जरूरी स्टाफ ही होगा।
जिला प्रशासन खुद तैयार करा रहा सैनिटाइजर
डीसी ने बताया कि जिले में मास्क और सेनेटाइजर की कालाबाजारी खत्म करने को लेकर लघु सचिवालय में ही निर्धारित रेटों में ये बेचे जा रहे हैं। यहां पर रोजाना 7 से 8 हजार मास्क और सैनिटाइजर बेचे जा रहे हैं। इसके अलावा, जिला प्रसाशन ने ये फैसला लिया है कि जिले में चार ऐसी फर्म हैं, उनसे प्रशासन ने अनुबंध किया है और निर्देश दिए हैं कि सैनिटाइजर का उत्पादन करके प्रशासन को दें। वे बाहर किसी अन्य को यह नहीं बेच पाएंगे।
राइस मिल चलेंगे, लेकिन नियम पूरे करने होंगे
डीसी ने बताया कि सरकार ने फैसला लिया है कि राइस मिल चलेंगे, लेकिन उनको सभी नियम पूरे करने होंगे। एक तो सभी कर्मचारियों को पूरी तरह से सैनिटाइजर्स का प्रयोग करना होगा और मास्क आदि पहनना होगा। डीसी ने ये भी बताया कि फार्मा, दुधारू पशुओं की खल की दुकान, फुड पैकेजिंग, एग्रो बेस्ट, ग्रेन, सूजी, आटा, नमकीन, मिल्क प्रोसेसिंग, पोल्ट्री, डेयरियां, मीट खुलेंगी। इसके अलावा, सेवाओं की बात करें तो पीने के पानी, सीवरेज, बेकिंग, बिजली, गैस, आईटी, मेडिकल सेवाएं जारी रहेंगी। लघु सचिवालय स्थित ऐसे दस विभागों में रूटीन के कार्य बंद रहेंगे, केवल 50 प्रतिशत कर्मचारियों को आने के लिए कहा गया है।
... और पढ़ें

ट्रेस हुई विदेशी महिला पोलिनीला, जांच में स्वस्थ पाई गई महिला, विदेश से लौटे व्यक्ति का सुराग नहीं, स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ी

स्वास्थ्य विभाग ने विदेशी महिला पोलिनीला को मलिकपुर गांव से ट्रैस कर लिया है। महिला फिलीपीन्स की रहने वाली है, जो भारत घूमने के लिए आई थी, लेकिन कोरोना वायरस के कारण सभी उड़ाने बंद होने से वापस नहीं लौट सकी। फिलहाल महिला मलिकपुर गांव में अपने दोस्त के घर पर रह रही है। स्वास्थ्य विभाग की जांच में महिला पूरी तरह से स्वस्थ पाई गई है, जिसकी रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग घरौंडा ने उच्चाधिकारियों को भेज दी है।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारियों को 29 लोगों की लिस्ट मिली थी जो जनवरी, फरवरी व मार्च माह के दौरान बैंकॉक, जर्मनी, यूके, इटली, ऑस्ट्रेलिया, चीन, मलेशिया, सिंगापुर, टर्की, फिलिपींस व यूएसए से लोग वापस लौटे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बीती 21 मार्च तक 27 लोगों को ट्रैस कर लिया था। लेकिन फिलीपीन्स देश से 13 मार्च को आई 35 वर्षीय महिला पोलीनिला ट्रैस आउट नहीं हुई। इस महिला ने जो एड्रेस दिया था वह मलिकपुर गांव का था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पूरे गांव में इस महिला की खोजबीन की लेकिन कोई सुराग नहीं मिल पाया है। इसके अतिरिक्त जो मोबाइल नंबर महिला ने लिस्ट में दिया हुआ है वह भी नौ अंकों का था। स्वास्थ्य विभाग ने महिला को बहुत ढूंढा लेकिन नहीं मिली। विदेशी महिला के ट्रेसआउट ना होने का मामला अखबारों की सुर्खियों में आया, जिसके बाद मलिकपुर गांव के परमजीत सिंह मान ने घरौंडा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से संपर्क साधा और पोलिनीला के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंची और पोलिनीला के स्वास्थ्य की जांच की। जांच में पोलिनीला पूरी तरह से स्वस्थ पाई गई।
इस तरह से मलिकपुर पहुंची पोलिनीला
परमजीत सिंह मान ने बताया कि उसका बेटा सिमरन जीत सिंह हांगकांग में पायलेट है। फिलिपींस की रहने वाली पोलिनीला भी हांगकांग में काम करती थी, जिससे इन दोनों की आपस में अच्छी जान पहचान थी। पोलिनीला ने अपनी समस्या सिमरनजीत सिंह को बताई। सिमरनजीत ने पोलिनीला की समस्या को देखते हुए अपने पिता परमजीत सिंह से बातचीत की। विदेशी मेहमान की समस्या को देखते हुए परमजीत सिंह ने पोलिनीला को अपने घर पर ठहरने की अनुमति दे दी, जिसके बाद पोलिनीला मलिकपुर गांव में पहुंची और फिलहाल गांव में ही रह रही है।
नहीं मिला दूसरा व्यक्ति
स्वास्थ्य विभाग ने महिला को तो ट्रेस कर लिया है, लेकिन अभी तक हरप्रीत सिंह को ट्रेस नहीं कर सकी है। जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग गंभीर है। स्वास्थ्य विभाग व्यक्ति को ट्रेस करने के लिए पुलिस प्रशासन की मदद लेगा।
विदेशी नाम होने की वजह से ट्रैस नहीं हुई थी पोलिनीला
सीएचसी के एसएमओ डॉ. मुनेश गोयल ने बताया कि पोलिनीला फिलिपींस की रहने वाली है। जब टीम गांव में पहुंची थी तो नाम नया होने की वजह से कोई भी पोलिनीला को नहीं जानता था, जिस वजह से वह ट्रेस नहीं हो पाई। पोलिनीला को ट्रेस कर लिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर महिला का सेल्फ रिपोर्टिंग कार्ड व फॉर्मेट-ए भरवाया है और रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी है। दूसरे व्यक्ति की भी खोजबीन जारी है।
... और पढ़ें

फर्जी एग्रीमेंट करा 11.34 लाख ठगे

प्रेम नगर निवासी एक व्यक्ति के साथ जाली इकरारनामा तैयार कर प्लाट के नाम पर 11.34 लाख रुपये की धोखाधड़ी कर दी। पुलिस ने आरोपी अशोक कुमार नीलोखेड़ी प्रॉपर्टी डीलर, विमल निवासी करनाल, रणजीत सिंह, जस्सो आदि के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दी शिकायत में सुलतान सिंह निवासी प्रेम सिंह ने बताया कि रणजीत सिंह उसका जानकार है। 2014 में उसने रणजीत सिंह को कहा था कि उसे प्लाट चाहिये। उसने प्रॉपर्टी डीलर अशोक व विमल से उसकी मुलाकात कराई। उन्होंने फुसगढ़ में एक बना हुआ मकान उसे दिखाया। उस मकान का इकरारनामा दस लाख में हो गया। इसके बाद उन्होंने कहा कि उस मकान को उसका भाई बेचने नहीं दे रहा तो आपको फुसगढ़ में दूसरा प्लाटा दिला दूंगा। आरोपियों ने एक प्लॉट दिखाया-कहा कि पहले वाले दस लाख रुपये वह प्लाट धारक को दे दें। इससे अलग 1.34 लाख रुपये आरोपियों ने ले लिये। लेकिन जब वह प्लॉट पर गया तो वहां मौजूद व्यक्ति ने बताया कि यह प्लॉट उसका है। आरोपियों ने 11.34 लाख रुपये ठग लिये। ... और पढ़ें

वाहन इम्पाउंड होने से बचाना है तो करें ई-पास के लिए आवेदन

देशभर में 21 दिन के लिए यानी 14 अप्रैल तक लॉकडाउन के बावजूद लोग घरों से बाहर निकलने से नहीं मान रहे हैं। पुलिस की सख्ती में कहीं निर्दोष लोगों को भी रोका जा रहा है। ऐसे में सरकार के आदेश पर प्रशासन ने अस्थाई ई-पास बनाने का फैसला लिया है। जो एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए मद्दगार साबित होगा। जिसे दिखाने के बाद शहर में उस काम के लिए जाने की अनुमति मिल सकेगी। पास बनाने का जिम्मा डीसी के पास रहेगा। जबकि लोगों तक पास की जानकारी मुहैया करवाने की जिम्मेदारी पुलिस विभाग को दी गई है। अब तक पुलिस ने 176 वाहनों को इम्पाउंड किया है। मजिस्ट्रेट के आदेशों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ 13 मामले दर्ज कर 22 लोगों को गिरफ्तार किया है। आगे यदि आपको अपने वाहन इम्पाउंड होने से बचाने हैं तो ई-पास के लिए आवेदन करें।
हरियाणा सरकार द्वारा जिला उपायुक्त के माध्यम से वेबसाईट से ई-पास जारी किये जायेंगे। ई-पास बनवाने के लिये सबसे पहले दी गई वेबसाइट के लिंक को ओपन करना होगा। फिर एक फारमेट खुलेगा। जिसमें मांगी गई सभी जरूरी सूचनाएं भरनी होंगाी। जरूरी कारण भरना होगा। इसके बाद डीसी विचार करेगा। आपका ई-पास जारी करके आपके पास एसएमएस द्वारा या ई-मेल के माध्यम से भेज दिया जायेगा।
पास बनवाने की हेल्प के लिए
अगर किसी को ई-पास एप्लाई करने संबंधी समस्या आती है या जानकारी लेनी है तो वह हेल्प लाइन नंबर 0184-2208222, 0184-2208223 पर संपर्क कर सकता है।
पास की स्थिति की जानकारी
अगर ई-पास जारी होने या कैंसिल होने संबंधित जानकारी चाहिए तो वह हेल्प लाइन नम्बर 0184-2272201, 9817701572 पर संपर्क कर सकता है।
पास बनवाने के लिए ये जानकारी देनी होगी
ई-पास बनवाने के लिए वैद्यता का समय,
कैटेगिरी यानी सरकारी कर्मचारी या आम नागरिक
उद्देश्य
कहां से कहां जाना है
पास बनवाने वाले का नाम
आयु
मोबाइल नंबर
आई-कार्ड यानी डीएल, आधार, पैन, पासपोर्ट, वोटर कार्ड आदि
घर का पता
पिन नंबर
गाड़ी की जानकारी यानी आरसी नंबर, नंबर, गाड़ी टाइप, रंग,
किसे पास जारी नहीं होंगे
अगर को कोई अपने परिचित से मिलने के लिए जा रहा है अथवा किसी को अन्य स्थान से अपने घर लाना चाहता है। ऐसे व्यक्तियों को पास जारी नहीं होगा।
लॉक डाउन में इन्हें छूट
दवाई और चिकित्सा उपकरण, खाद्य पदार्थ, किराना दुकानें, दूध, ब्रेड, फल, सब्जियों, विक्रेता, अस्पताल, फार्मेसी, पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस, तेल एजेंसियां, बैंक, एटीएम, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, आईटी और दूरसंचार, डाक, इंटरनेट और डाटा सेवाएं को पास मुक्त रखा गया है। इन्हें पास लेने की जरूरत नहीं है। वे अपने विभाग का आईडी कार्ड दिखाकर आ-जा सकता है। इन्हें पुलिस नहीं रोकेगी। छोटे दुकानदार इसमें शामिल नहीं है।
ई-पास को लेकर सभी पुलिस कर्मचारियों को हिदायतें दी हैं कि यदि कोई भी व्यक्ति अपना ई-पास दिखाता है तो उसको रोका न जाये। साथ ही लोगों को ई-पास से संबंधित जानकारी दी जाए। - सुरेंद्र भौरिया, एसपी करनाल।
ई-पास को लेकर जिला प्रशासन ने काम शुरू कर दिया है। जिसकी समस्या जायज होगी उसको ई-पास की अनुमति दी जाएगी। यदि कोई गलत सूचना देता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। -निशांत कुमार यादव, डीसी करनाल
... और पढ़ें

विदेशों से तरावड़ी पहुंचे 19 लोगों के घरों पर चस्पाए नोटिस

तरावड़ी समेत आसपास के गांव में उन लोगों के घरों पर नोटिस चस्पाए गए जो विदेशों से तरावड़ी अपने घर व गांव में पहुंचे थे। जैसे ही स्वास्थ्य विभाग की टीम विदेशों से आए लोगों के घरों पर नोटिस चस्पाने पहुंची आसपास रहने वाले घरों में दहशत फैल गई। हर कोई उन्हें कोरोना संक्रमित समझने लगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तरावड़ी के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डा. कृष्णकांत एवं मेडिकल ऑफिसर डा. राजीव ने बताया कि जो लोग विदेशों से तरावड़ी अपने घर पहुंचे थे, उनके घर के सामने नोटिस लगाया है। उन्हें घर से बाहर आने और कहीं घूमने की अनुमति नहीं है। आसपास के लोग भी दूरी बनाए रखें और उनके घर पर भी आने-जाने से परहेज करें। तरावड़ के अलावा गांवों में 19 ऐसे लोग हैं जो अभी कुछ दिन पहले ही विदेशों से पहुंचे हैं। इन सभी को स्वास्थय विभाग की निगरानी में रखा जाएगा। ... और पढ़ें

32 की सैंपल रिपोर्ट आई नेगेटिव, 9 की रिपोर्ट का इंतजार

राहत की खबर ये है कि कोरोना वायरस को लेकर जिले में एक भी केस पॉजीटिव नहीं है। अभी तक कुल 32 लोगों को संदिग्ध मरीज मानते हुए उनके सैंपल भेजे गए थे, सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वहीं, 9 अन्य लोगों को कल्पना चावला व सामान्य अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में दाखिल कर उनके सैंपल बीपीएस मेडिकल कालेज खानपुर की लैब में भेजे गए हैं। संभावना है कि शनिवार तक इनकी रिपोर्ट आ जाएगी।
गौरतलब है कि फ्लू से इफेक्टिड लोगों के लिए कल्पना चावला मेडिकल कालेज और सामान्य अस्पताल में अलग से आईसोलेशन वार्ड बनाए हैं। यहां पर दाखिल संदिग्ध लोगों के सैंपल खानपुर मेडिकल कालेज में भेजे जा रहे हैं। शुक्रवार 28 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव थी, रात को ही चार अन्य लोगों की रिपोर्ट आ गई, जो कि नेगेटिव है। इसके अलावा, बुखार और खांसी के चलते 9 अन्य लोगों को भी दाखिल कराया गया है। सभी को अलग-अलग रूम में रखा गया है और उनका इलाज चालू कर दिया गया है। सीएमओ डा. अश्वनी कुमार ने बताया कि जिले से भेजे गए सभी सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। नौ अन्य लोगों की सैंपल रिपोर्ट भेजी है, शनिवार तक इनकी रिपोर्ट आ जाएगी।
... और पढ़ें

टोल पर निकलना हुआ निशुल्क, वाहनों की संख्या रह गई केवल पांच फीसदी

घरौंडा। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-44 पर स्थित बसताड़ा टोल प्लाजा आगामी 14 अप्रैल तक फ्री हो चुका है। टोल फ्री किये जाने के आदेश बुधवार सुबह से लागू कर दिए गए। ट्रैफिक के आंकड़ों को देखते हुए टोल पर छह लेन खुली रखी गई हैं, जबकि शेष बूथों को अस्थाई रूप से बंद कर दिया है। टोल कंपनी ने सुरक्षा के मद्देनजर निर्धारित संख्या में सिक्योरिटी गार्ड तैनात कर रखे हैं। बीती एक मार्च के बाद टोल से क्रास होने वाले वाहनों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। लॉकडाउन के बाद बसताड़ा टोल से क्रास होने वाले वाहनों की संख्या मात्र पांच फीसदी रह गई है। सामान्य दिन में इस टोल से चालीस हजार से अधिक वाहनों की क्रासिंग होती रही है, जबकि लॉकडाउन के बाद यह आंकड़ा घट कर दिनभर में ढाई हजार वाहनों का रह गया है। टोल प्रबंधक मनीष कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह उन्हें टोल फ्री किये जाने के आदेश प्राप्त हुए थे। ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू कर दिए गए हैं और आगामी 14 अप्रैल आधी रात तक टोल फ्री रहेगा। मनीष कुमार ने कहा की टोल पर नियुक्त कर्मचारियों की छुट्टी कर दी है, एतिहात के तौर पर सिर्फ सिक्योरिटी गार्ड तैनात रहेंगे। टोल पर दोनों तरफ तीन-तीन लेन खुली रखी हैं। बाकी सभी लेन लॉक कर दी है। ... और पढ़ें

12 नये संदिग्ध सैनिक स्कूल के आईसोलेशन वार्ड में रखे

कुंजपुरा सैनिक स्कूल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रखे गए संदिग्ध लोगों की बुधवार के बाद गुरुवार को संख्या ढाई गुना बढ़ गई। मात्र एक दिन के भीतर 12 नए संदिग्ध आइसोलेशन वार्ड में आने से जिला प्रशासन ने इस वार्ड की मेन पावर बढ़ दी है। बता दें कि बुधवार को कुंजपरा सैनिक स्कूल के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए संदिग्ध लोगों की संख्या 9 थी जो गुरुवार को बढ़ कर 21 हो गई। संदिग्धों की बढ़ती संख्या जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के अलावा आम नागरिक के लिए चिंता का विषय बन रही है। इस वार्ड में रखे गए कोरोना के संदिग्ध लोगों की निरंतर स्वास्थ्य जांच की जा रही है। वार्ड की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने मौके पर आए डीएसपी जगदीप दून ने कहा कि जरूरत के मुताबिक कुंजपरा सैनिक स्कूल के आइसोलेशन वार्ड की मेन पावर बढ़ा दी है ताकि किसी तरह की कमी अथवा कोई चूक न रह जाए। ... और पढ़ें

चारों की सैंपल रिपोर्ट, नेगेटिव, चार और संदिग्ध दाखिल

कल्पना चावला मेडिकल कालेज और सिविल अस्पताल में दाखिल संदिग्ध मरीजों की सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव आई है। उन्हें छुट्टी देकर घर भेज दिया गया है। वहीं, चार अन्य संदिग्ध मरीज मेडिकल कालेज में दाखिल किए गए हैं। उनके सैंपल लेकर बीपीएस खानपुर मेडिकल कालेज भेज दिए हैं। संभावना है कि शुक्रवार तक उनकी रिपोर्ट आ जाएगी। हालांकि 24 घंटे डाक्टर उनकी निगरानी कर रहे हैं। अब तक जिले से 28 लोगों के सैंपल भेजे जा चुके हैं, राहत की बात यह है कि एक भी केस पॉजीटिव नहीं आया है। बुधवार को चार लोगों को दाखिल किया गया था, उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आ गई है। इसके अलावा गुरुवार को मेडिकल कालेज में चार और संदिग्ध मरीज दाखिल किये गए हैं। सभी को अलग-अलग रूम में रखा गया है। हालांकि इनमें से किसी की भी विदेश की हिस्ट्री नहीं है। सीएमओ डा. अश्वनी आहूजा ने बताया कि अभी तक जिले में एक भी केस पॉजीटिव नहीं है। सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई हैं। चार और लोगों के सैंपल भेजे गए हैं। ... और पढ़ें

कोरोना की छुट्टियों में टाइम पास करने की बजाय ऑनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे स्कूली छात्र

करनाल। कोरोना वायरस के कारण हुई स्कूलों की छुट्टियों को विद्यार्थी इधर उधर टाइम पास करने के बजाय पढ़ाई में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए शिक्षा निदेशालय ने ऑनलाइन एजुकेशन को लेकर वेबसाइट और लिंक जारी किए हैं। जिसके तहत छात्र घर बैठे पढ़ाई पर पूरा फोकस कर सकेंगे। विभाग की ओर से सभी जिलों के डीईओ, डीईईओ और जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान को शिक्षा निदेशालय की ओर से नोटिफकेशन जारी हुआ है। इसमें उन्हें सूचित किया गया है कि वह सभी छात्रों तक इन महत्वपूर्ण वेबसाइट और लिंक की जानकारी पहुंचाएं ताकि छुट्टियों में छात्रों की पढ़ाई बाधित न हो। निदेशालय की ओर से कई एजुकेशन पोर्टल और वेबसाइट तैयार किए गए हैं, जिनमें एप भी शामिल हैं। इसमें संबंधित पाठ्यक्रम के साथ-साथ एजुकेशनल वीडियो भी शामिल किए गए हैं, ताकि विद्यार्थी बिना टीचर के भी आसानी से सिलेबस को समझ सकें।
व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भी कराई जा रही पढ़ाई
अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपलों और शिक्षकों के अनुसार, विद्यार्थियों के अभिभावकों के मोबाइल नंबर लेकर एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया हुआ है। इस ग्रुप में रोजाना विद्यार्थियों की परीक्षा को लेकर अपनी तैयारी जारी रखने के लिए प्रेरित किया जाता है।
इन वेबसाइट के माध्यम से पढ़ाई कर सकते हैं विद्यार्थी
-कक्षा पहली से 5वीं : डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.एससीईआरटीपीएलएएनईटी.इन/एमईआरआईईपीयूएसटीएके/ के माध्यम से के विद्यार्थी चेप्टर्स वाइज सब्जेक्ट पढ़ सकते हैं।
-कक्षा 6वीं से 8वीं : एनसीईआरटी.एनआईसी.इन के माध्यम से के विद्यार्थी चेप्टर्स वाइज सब्जेक्ट पढ़ सकते हैं।
-कक्षा 9वीं से 12वीं : बीएसईएच.ओआरजी.इन के माध्यम से के विद्यार्थी चेप्टर्स वाइज सब्जेक्ट पढ़ सकते हैं।
-इसके अलावा उत्कर्ष सोसाइटी के यू ट्यूब चैनल में भी एजुकेशनल वीडियो मौजूद हैं। छात्र सीयूवीएचक्यू6आईजीएजेडएचकेआरसीओ2यूजेएमपीएलएनडब्ल्यू में जाकर इन वीडियो को देख सकते हैं।
-मैथ की पढ़ाई के लिए जीएएनआईजीवाईएन.आईआईटीडी.एसी.इन में जाकर पढ़ सकते हैं। इनमें भी तीनों लेवल के वीडियो शामिल हैं।
-दीक्षा एप में भी कई एजुकेशनल और मोरल एजुकेशन वीडियो बच्चों के लिए मौजूद हैं, जिसे अभिभावक भी आसानी से अपने स्मार्टफोन के माध्यम से खोल सकते हैं। गूगल में जाकर डीआईकेएसएचए.जीओवी.इन/एचआर टाइप करना होगा, जिसके बाद पूरी जानकारी आ जाएगी।
इस संबंध में जानकारी अब शिक्षकों को दी जा रही है। ताकि वह सभी छात्रों तक इन्हें पहुंचा सके। वहीं छात्रों को बताएं कि वह किस तरीके से छुट्टियों में अपनी पढ़ाई को भी जारी रख सही इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें ई-बुक्स के तहत पहली से पांचवीं, छठी से आठवीं और नौवीं से 12वीं तक का सिलेबस अलग-अलग स्लॉट में मौजूद है। -रोहताश वर्मा, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी करनाल।
... और पढ़ें

बेवजह सड़कों पर निकले तो पुलिस ने की डंडा परेड

लॉकडाउन के बावजूद ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो बिना वजह घरों से निकल कर सड़कों पर आ रहे हैं। हालांकि, जिलेभर में नाकों पर अलर्ट पुलिस ऐसे लोगों की जमकर खिंचाई कर रही है। लोगों की लापरवाही को देखते हुए पुलिस को भी सख्ती दिखानी पड़ी। आंकड़ों के अनुसार दिनभर में 68 वाहनों के चालान किए, 49 वाहन इम्पाउंड किए और अलग-अलग स्थानों पर खुली छह दुकानों के संचालकों के खिलाफ आदेशों की उल्लंघन करने पर केस दर्ज किए।
बेवजह शोर करने वाले दो गिरफ्तार
हेडकांस्टेबल संदीप ने बताया कि मंगलवार को उन्हें सूचना मिली कि झंझाडी गांव में मैन सड़क पर काफी लोग बेवजह इकट्ठे होकर शोर मचा रहे हैं। जैसे ही पुलिस पहुंची वे भाग निकले। इसमें से दो काबू किए गए। पुलिस को दोनों ने अपना नाम जसबीर सिंह व बलबीर सिंह बताया। दोनों ने कोरोना वायरस के दौरान हरियाणा लोक डाउन के समय बिना वजह नियमों की उल्लंघना करके अपराध भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 का अपराध किया है।
सड़क पर निकले, नहीं बता सके कारण, काबू
एचसी रणधीर सिह ने बताया कि इंद्री रोड नजदीक नया बस अड्डा करनाल के सामने पुलिस ने इंद्री की तरफ से आई बाइक चालक व एक गाड़ी को रुकवाकर सड़क पर आने का कारण पूछा। कोई घूमने का ठोस कारण नहीं दे सका। चालक व उसके साथी को गाड़ी के कागजात दिखाने के लिये कहा तो एकदम तैश में आ गया। आरोपी ने अपना नाम चालक गांव ढाकवाला गुजरान राजेश उर्फ राकेश व दूसरा गांव घोगड़ीपुर निवासी रवि बताया।
दुकान खोलने पर इनके खिलाफ किये केस
एएसआई भारत भूषण ने बताया कि जब उन्हें गली नंबर 2/9 शिव कालोनी करनाल सिमरन जरनल स्टोर खुली मिली तो दुकान के अंदर चूड़िया रखी थी। दुकानदार कृष्ण के खिलाफ केस दर्ज किया गया। वहीं, गली नंबर 9 शिव कालोनी करनाल में पूजा जनरल स्टोर को खोल दुकानदार के बाहर बैठा था। उसके खिलाफ केस दर्ज किया। तीसरे मामले में दुर्गा कालोनी मंदिर वाली गली में एक हलवाई की दुकान खुली मिली। दुकानदार सुभाष पर केस दर्ज किया गया। फुसगढ़ रोड पर अरोड़ा करियाना की दुकान पर काफी लोग इकट्ठे मिले। दुकान मालिक रमेश कुमार पर केस दर्ज किया गया। राजीव पुरम गली नंबर 1 के सामने सांईं जूस कार्नर की दुकान खुली मिली। दुकानदार विकास नगर निवासी लालजी के खिलाफ केस दर्ज किया गया। दुर्गा कालोनी गली नंबर 8 के सामने सब्जी की दुकान खोलने वाले राजपाल को आदेश नहीं दिखा सका। जो आदेशों की अवहेलना करता पाया गया।
पुलिस लगातार जनता को समझा रही है कि वे घरों के अंदर बैठकर अपना ध्यान रखें। वावजूद इसके कई लोग बेवजह मान नहीं रहे हैं, ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस सख्त रवैया अपनाएगी। जिलेभर के लोगों से मेरा निवेदन है कि लोग अपने घरों पर रहें और जो भी राशन आदि की जरूरत है उसमें प्रशासन की मदद लें। -सुरेेंद्र सिंह भौरिया, एसपी, करनाल।
... और पढ़ें

सभी छह लोगों की रिपोर्ट आई नेगेटिव, चार और संदिग्ध दाखिल

जिलावासियों के लिए राहत की खबर है। कल्पना चावला मेडिकल कालेज में दाखिल सभी संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। ऐसे में सभी को छुट्टी देकर घर भेज दिया गया है। उधर दूसरी ओर बुधवार को चार और संदिग्ध लोगों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। इनमें से तीन सिविल अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में दाखिल हैं, जबकि एक मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया है। प्रशासन की ओर से सभी के सैंपल लेकर बीपीएस मेडिकल कालेज खानपुर स्थित लैब में भेज दिए हैं।
गौरतलब है कि अभी तक जिले मेें 23 संदिग्ध मरीज अस्पताल व मेडिकल कालेज में दाखिल किए जा चुके हैं और सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मंगलवार को छह संदिग्ध मरीजों को कल्पना चावला मेडिकल कालेज में दाखिल कराया गया था। इनमें से दो की विदेश हिस्ट्री थी, जबकि दो उनके संपर्क में रहे थे। बुधवार देर शाम सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सभी को सामान्य वायरल बुखार था। ऐसे में उनको छुट्टी देकर घर भेज दिया गया। साथ ही उनको हिदायत दी गई है कि वे घर पर रहकर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।
कुंजपुरा सैनिक स्कूल में 9 हुई लोगों की संख्या
इधर, जिन लोगों की विदेश हिस्ट्री है और बार-बार समझाने के बाद भी वे अपने घरों में अलग से नहीं रह रहे हैं, तो उनको स्वास्थ्य विभाग की ओर से अलग से सैनिक स्कूल के छात्रावास में क्वारंटीन किया गया है। बुधवार को तीन और लोगों को यहां पर भेजा गया। बता दें कि यहां पर सफाई कर्मचारियों समेत पुलिस कर्मचारियों का पहरा है। यहां रह रहे लोगों को न तो किसी से मिलने दिया जा रहा है न उनको बाहर जाने दिया जा रहा है।
एक भी केस पाजीटिव नहीं, सावधानी जरूरी : सीएमओ
सीएमओ डा. अश्वनी आहूजा ने बताया कि बुधवार को चार और लोगों के सैंपल भेजे गए हैं। इनमें से तीन लोग सिविल अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में दाखिल हैं, जबकि एक कल्पना चावला मेडिकल कालेज में। सीएमओ ने बताया कि राहत की बात है कि जिले में अभी तक एक भी कोरोना वायरस का पाजीटिव केस नहीं आया है, लेकिन फिर भी हमें पूरी सावधानी बरतनी है। इस बीमारी से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि अपने घरों में रहें और बार-बार हाथ धोते रहें।
... और पढ़ें

सड़क हादसे में मौत

इंद्री रोड पर नए बस अड्डे से आगे हुए हादसे में ट्रैक्टर चालक की मौत हो गई। मृतक के पिता की ओर से पुलिस को दी गयी तहरीर में आरोप लगाया गया है कि हादसा टैंपो चालक की लापरवाही से हुआ। उन्होंने बताया कि टैंपो चालक ने अचानक ब्रेक लगाया, जिससे ट्रैक्टर टक्कर खाकर पलट गया और चालक की मौत हो गयी।
गांव भाऊपुर जिला पानीपत निवासी रामफल ने बताया कि उसका लड़का 35 वर्षीय जितेंद्र गन्ने की छुलाई करवाकर भादसों मिल में डालने के लिए ट्रैक्टर-ट्राली से जा रहा था। जितेंद्र ट्रैक्टर चला रहा था और वह साथ बैठा था। जब वे रात करीब 11 बजे करनाल इंद्री रोड पर नए बस अड्डा से थोड़ा आगे पहुंचे तो एक मालवाहक टैंपों चालक वाहन को लापरवाही व तेज से चलाता हुआ आया और उनके ट्रैक्टर के आगे एक दम से ब्रेक लगा दिया। इससे ट्रैक्टर की लोडिंग वाले टैंपों से टक्कर हो गयी। दुर्घटना में ट्रैक्टर पलट गया। हादसे के बेटे जितेंद्र की मौत हो गयी, जबकि वे जख्मी हो गये। लोगों की मदद से उन्हें एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया। इस दौरान आरोपी चालक भीड़ का फायदा उठाते हुए वाहन को लेकर भाग गया। जितेंद्र अपने पीछे तीन छोटे बच्चों को छोड़ गया। हेडकांस्टेबल विजय कुमार ने बताया कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us