विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कोरोना वायरसः आइसोलेशन वार्ड में तब्दील हुई 24 कोच की ट्रेन, रेलमंत्री ने ट्वीट की तस्वीरें देखिए

कोरोना महामारी से लड़ने को भारतीय रेलवे ने एक सराहनीय कार्य किया है। विभाग की ओर से 24 कोच की ट्रेन को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया गया है, देखिए तस्वीरें।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महेंद्रगढ़/नारनौल

रविवार, 29 मार्च 2020

विदेश से लौटे 70 नागरिकों के घर पर लगवाया क्वारंटीन होम का नोटिस

विदेश से लौटे करीब 70 नागरिकों पर स्वास्थ्य पर विभाग नजर रखे है। सभी स्वस्थ हैं। अभी तक जिले में कोरोना वायरस से आशंकित मरीज कोई नहीं हैं। दूसरी ओर जिला स्वास्थ्य विभाग ऐेसे लोग के घर के बाहर होम क्वारंटीन का बोर्ड लगवा दिया है। जिससे आम लोग भी सतर्क रहें। हालांकि इसका कुछ लोगों ने विरोध किया है। लेकिन अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस को देखते हुए यह किया गया है।
बता दें कि देश व प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस के प्रभाव को लेकर सरकार हर स्तर पर कदम उठा रही है। इसके तहत पूरे जिले को 31 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है। सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जिले में अभी तक 70 ऐसे लोग हैं जो विदेश से लौटे हैं। उन्होंने बताया कि सभी के घरों के बाहर होम क्वांटरीन का बोर्ड लगवाया गया है। इसके साथ ही ऐसे लोगों के विभाग की टीमें नजर रख रही है। सभी के हाथ में कोरोना को लेकर मुहर भी लगवाई गई है। इसके साथ ही विशेष हिदायत रखने को लेकर नोटिस भी दिया गया है। उन्होंने बताया कि सभी के स्वस्थ है। जिला अस्पताल में इससे लेकर सभी इंतजाम है। दूसरी ओर इसे लेकर डॉक्टरों को लगातार प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि हर स्थिति से निपटा जा सके। जीएच के अलावा निजी अस्पतालों से भी संबंध किया गया है। जरूरत पड़ने पर निजी अस्पतालों के आईसीयू को प्रयोग कर सकेंगे। सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि अफवाहों पर ध्यान न दें। विभाग की हेल्पलाइन नंबर 01282-250391 या 108 पर फोन कर सकते हैं। विभाग ने कोरोना को लेकर शव पेटी का भी इंतजाम कराया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: हरियाणा में गरीबों की मदद के लिए हर माह 1200 करोड़, अप्रैल का राशन मुफ्त

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य में कोरोना वायरस से लड़ने व निम्न आय वर्ग लोगों के लिए लगभग 1200 करोड़ रुपये प्रति माह की वित्तीय पैकेज की घोषणाएं की हैं। जिसके तहत मजदूरों, रिक्शा चालकों, रेहड़ी वालों, स्ट्रीट वेंडर दैनिक वेतन भोगी सहित निर्माण कार्य में लगे मजदूरों, बीपीएल परिवारों को वित्तीय सहायता सीधी जाएगी। ताकि इस प्रकार के वर्ग के लोगों को लॉकडाउन के दौरान दिन-प्रतिदिन की आवश्यकता की चीजों के लिए किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो।

घोषित किए गए पैकेज के तहत सभी बीपीएल परिवारों को अप्रैल महीने के लिए उनके मासिक राशन को निशुल्क प्रदान किया जाएगा। जिस पर कुल 15 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसमें चावल या गेहूं उनकी पात्रता के अनुसार, सरसों का तेल और 1 किलो चीनी शामिल होगी।

इसी प्रकार, स्कूलों और आंगनबाड़ियों को बंद करने की अवधि के दौरान सरकारी स्कूलों में नामांकित सभी बच्चों के लिए सूखा राशन प्रदान किया जाएगा। पैकेज के तहत जिन सभी बीपीएल परिवारों ने एमएमपीएसवाई के तहत पंजीकरण नहीं कराया है, उन्हें 30 मार्च से शुरू होने वाले साप्ताहिक आधार पर 4500 रुपये प्रति माह की राशि प्रदान की जाएगी।

इस राशि का भुगतान उनके बैंक खाते में किया जाएगा और इस पर 135 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी। इसी प्रकार जो दैनिक आधार पर कमाई कर रहे थे जैसे कि मजदूर, स्ट्रीट वेंडर आदि संबंधित जिले के डीसी के साथ एक पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं, जो 27 मार्च तक स्थापित किया जाएगा। ऐसे सभी व्यक्ति जो पात्र पाए जाते हैं और जिनका बैंक खाता है, उन्हें सीधे 1000 रुपये प्रति सप्ताह की सहायता प्रदान की जाएगी और इस पर 45 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा। इस पैकेज में कर्मियों के वेतन सहयोग का भी प्रावधान किया गया है।
... और पढ़ें

कोरोना से रुके हाईवे, सब डिपो और किला के पुनरोद्धार के प्रोजेक्ट, सतर्कता के चलते रोके काम

कोरोना की चपेट में महेंद्रगढ़ के सभी बड़े प्रोजेक्ट आ गए हैं। जिन प्रोजेक्टों पर काम चल रहा था वो सभी कुछ दिनों के लिए रुक गए हैं। कोई भी मजदूरी ऐसी स्थिति में काम करने पर राजी नहीं है। क्षेत्र में माधोगढ़ किला, महेंद्रगढ़ किला और सब डिपो जीर्णोद्धार और निर्माण कार्य चल रहा था। पिछले तीन चार दिनों से इन पर काम रुक गया है। वैसे भी सरकार ने धारा 144 लगाई है कहीं भी 20 से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते हैं। इनके रुकने के असली कारणों का पता नहीं लग पाया है लेकिन कहीं न कहीं ये कोरोना बीमारी फैलने की वजह से रुके हैं। अब इन प्रोजेक्टों को पूरा होने में समय लग सकता है। अभी तक यह भी नहीं पता कि ये दोबारा कब शुरू होंगे।
महेंद्रगढ़ किले के जीर्णोद्धार का काम लगभग एक वर्ष से चल रहा है। करीब 15 करोड़ रुपये से इस पूरे किले का जीर्णोद्धार किया जाएगा। सरकार ने इसका ठेका जयपुर की कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया है। कुछ दिन पहले तक इस किले पर लगभग 40 से 50 मजदूर और मिस्त्री काम कर रहे थे लेकिन अब इसका काम रुका है। कोई मजदूर मिस्त्री काम पर नहीं आ रहे है। माधोगढ़ किले पर भी पिछले डेढ़ वर्ष से अधिक समय से काम चल रहा था। लगभग 2.79 करोड़ रुपये से रानी महल का काम चल रहा है। लगभग एक करोड़ रुपये से बावड़ी का काम चल रहा था। हालांकि बावड़ी का काम लगभग पूरा हो चुका है जबकि रानी महल का कार्य भी 80 प्रतिशत हो चुका है। इन प्रोजेक्ट पर भी काम रुका हुआ है। रानी महल के बगल में रानी महल 1 का काम भी शुरू होना था लेकिन वो बजट के कारण अटका हुआ है।
सब डिपो पर भी रुका काम
कोरोना का असर सब डिपो पर दिखाई दिया। लगभग पौने सात करोड़ रुपये से बनने वाले इस प्रोजेक्ट पर चार पांच महीने से तेजी से काम चल रहा था। लगभग 30 से 40 आदमी इस पर काम कर रहे थे। अचानक यह प्रोजेक्ट भी रुक गया है। पिछले तीन चार दिन से इस पर मजदूर और मिस्त्री काम पर नहीं आ रहे हैं।
हाईवे के रुके काम
क्षेत्र में ग्रीन कॉरिडोर पर जोरशोर से काम चल रहा था। यह ग्रीन कॉरिडोर नारनौल से कुरुक्षेत्र के इस्माइलाबाद तक बनाया जा रहा है। इसको अलग-अलग टुकड़ों में बनाया जा रहा है। इसके अलावा नारनौल और नांगल चौधरी के बीच नेशनल हाईवे 148बी बनाया जा रहा है। दोनों ही रोडों को एनएचएआई द्वारा बनाया जा रहा है। सरकार के आगामी आदेश तक काम रुका है। दोनों ही प्रोजेक्टों को कोरोना का ग्रहण लग गया है।
हमारे पर नेशनल हाईवे 148बी का प्रोजेक्ट है। इस प्रोजेक्ट को सरकार के अग्रिम आदेशों तक रोक दिया है।
-विकास शर्मा, एसडीओ, एनएएचआई, भिवानी।
हमारे पास किसी प्रोजेक्ट के रुकने के संबंध में तो संबंधित अधिकारी ही कुछ बता सकते हैं। इस समय एहतियात के तौर पर भीड़ एकत्र न होने देने के निर्देश हैं। श्रमिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए अगर ऐसा फैसला लिया गया है तो इसमें कुछ गलत नहीं।
- जगदीश शर्मा, उपायुक्त, महेंद्रगढ़।
माधोगढ़ किले पर तो पहले से काम रुका है। इस पर कोरोना का कोई चक्कर नहीं है। बजट के ऊपर मामला लटका है।
- हरविंद्र सिंह, एक्सईएन, पर्यटन विभाग, हरियाणा।
... और पढ़ें

सब्जी मंडी में नहीं होगी भीड़, रेहड़ी चालकों को जारी किए जाएंगे पास

सब्जी मंडी की भीड़ को कम करने के लिए मार्केट कमेटी की ओर से रेहड़ी चालकों को पास दिए जाएंगे। पास के अनुसार उन्हें रेहड़ी लगानी होगी। पास में लिखा रहेगा कि कब और कहां रेहड़ी लगानी है। उसके बाद भी रेहड़ी चालक कोई गलती करता है तो उसको मार्केट कमेटी की ओर से नोटिस जारी किया जाएगा। सब्जी की कालाबाजारी रोकने के लिए प्रतिदिन रेहड़ी चालक को अपनी रेहड़ी पर रेट लिस्ट लगानी होगी।
शनिवार को पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज ने लॉकडाउन के हालात जानने के लिए महेंद्रगढ़ शहर का मुआयना किया। उन्होंने सब्जी मंडी, नाके, बाजार आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने सब्जी मंडी एसोसिएशन के प्रधान सूरत सिंह को भी मौके पर बुलाया। मंडी में व्यवस्था बनाए रखने के लिए आदेश दिए। एसपी ने निर्देश दिए कि मंडी में केवल आढ़ती दुकान खोल सकेंगे। रेहड़ी चालक निर्धारित जगहों पर ही सब्जी बेचेंगे। अगर रेहड़ी चालक तय स्थान पर रेहड़ी नहीं लगाते मिले तो इसके लिए मंडी प्रधान को जिम्मेवार माना जाएगा। उनको नोटिस जारी कर जवाब मांगा जाएगा। एक सिस्टम बनाकर काम किया जाए ताकि लोगों को परेशानी न आए। एसपी सुलोचना गजराज ने कहा मेरे पास सब्जी में कालाबाजारी होने की शिकायत आ रही हैं।
रविवार से सभी रेहड़ी चालक अपनी रेट लिस्ट अपडेट कर रेहड़ी के आगे चस्पा करेंगे। उसी कीमत पर सब्जी बेचेंगे। कोई भी सब्जी विक्रेता, दुकानदार कालाबाजारी करता मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने देवीलाल पार्क की सफाई करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने एसडीएम विश्राम कुमार मीणा और डीएसपी को निर्देश दिए कि रेहड़ी तय स्थान पर ही लगनी चाहिए। सामान खरीदने वाले ग्राहक रेहड़ी के आगे एक मीटर का फासला बनाकर लाइन में खड़े हों।
नाकों की संख्या बढ़ाई जाए
पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज ने डीएसपी को निर्देश दिए कि सब्जी मंडी के दोनों गेट पर पुलिस की ड्यूटी लगाई जाए ताकि थोक व्यापारी के अलावा कोई अन्य नहीं घुस सके। शहर, बाजार में नाकों की संख्या बढ़ाई जाए। रविवार को राव तुलाराम चौक, माजरा चुंगी, बालाजी चौक पर भी नाके होंगे। बिना हेलमेट, बिना नंबर प्लेट की गाड़ी को तुरंत जब्त करें। नियम तोड़ने वालों के चालान भी करें। बिना ठोस कारण सड़क पर घूमते मिलने वालों पर मामला दर्ज किया जाए।
तीन स्थानों पर बिकेंगी सब्जी
तीन दिन पहले प्रशासन की ओर से फल और सब्जी की रेहड़ी लगाने के लिए आंबेडकर चौक, देवीलाल पार्क और पुलिस परेड ग्राउंड स्थान निर्धारित किए थे। सभी रेहड़ी चालक देवीलाल पार्क में ही सब्जी बेच रहे हैं । जिससे वहां भीड़ लग जाती है। देवीलाल पार्क का दौरा करने के बाद पुलिस अधीक्षक ने 30-30 रेहड़ियां निर्धारित स्थानों पर लगाने के निर्देश दिए। अगर नहीं मानते हैं तो उनको नोटिस जारी किया जाए।
... और पढ़ें
लॉकडाउन के दौरान सब्जी मंडी में लगी भीड़। लॉकडाउन के दौरान सब्जी मंडी में लगी भीड़।

कोरोना को हराने के लिए चौराहों पर मुस्तैद नारी शक्ति

कोरोना वायरस को लेकर जिले में लॉकडाउन है। शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। लेकिन खाकी वर्दी पहने नारी शक्ति परिवार की चिंता न करते हुए अपनी ड्यूटी पर लोगों की सेवा कर रही हैं। उनका कहना है कि परिवार के साथ समाज सेवा में भी पीछे नहीं है। कोरोना को हराने के लिए हम सभी को मिलकर लड़ना होगा। सभी लोगों से अपील है कि घर में रहे और बेवजह बाहर न आए। पुलिस व प्रशासन की ओर से जारी हिदायतों का पालन करें। जिससे इस महामारी को काबू किया जा सके।
लोगों को लॉकडाउन में घर सें नहीं निकलना चाहिए। कई बार लोग बिना कारण घर से बाहर मिलते हैं। ऐसा न हो कि दिन भर घर में तो सुरक्षित रहें और शाम को भीड़ में शामिल होकर अंजाने में संक्रमण साथ लेकर घर पहुंच जाए। ऐसे में सभी को अपने घर में रहना चाहिए। बाजार में सामाने लेने जाए तो एक मीटर की दूरी बनाकर रखें।
शारदा देवी, एसआई
कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को सलाह दी जा रही कि घर से न निकले। कई बार लोग इसे मानते भी नहीं है और सड़क पर आ जाते हैं। बेहतर होगा की लॉकडाउन का पालन कर घर में ही रहे। विभाग से जो जिम्मेदारी मिली है, इसे पूरी ईमानदारी से किया जा रहा है। करोना वायरस को पूरे जज्बे के साथ हराना है।
-शकुंतला देवी, एएसआई
हम सभी मिलकर करोना वायरस को हरा सकते हैं। अगर हम डर गए तो इसको हराएगा कौन लेकिन लोगों को जागरूकता में रहकर इसका मुकाबला करना चाहिए। सभी लोग अपने घरों में रहे और पुलिस का सहयोग करें। परिवार के साथ अपनी ड्यूटी को भी निभा रही हूं।
कविता, पुलिस कर्मी
कोरोना वायरस में ड्यूटी होने के कारण लोगों में जागरूकता लाने का भी काम कर रही हूं। इस कार्य में नारी शक्ति भी अपनी पूरी जिम्मेदारी निभा रही है। इसलिए घर के कार्य के साथ इस संकट के घड़ी में सड़क पर रहकर ड्यूटी हो रही है। लोगों से अपील हैं कि इस संकट की घड़ी में लॉकडाउन को सफल बनाने में सहयोग दें।
नीलम, पुलिस कर्मी
... और पढ़ें

पचास किलो के कट्टे में दे रहा था 45 किलो आटा, केस दर्ज

लॉकडाउन के चलते शहर में खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी करने का पहला मामला सामने आया है। शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने आरोपी पर धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।
मिली जानकारी के अनुसार वीरवार की शाम करीब छह बजे खाद्य एवं आपूर्ति को सूचना मिली कि फर्म हरिराम गौरव कुमार द्वारा आटे की कालाबाजारी की जा रही है। आरोपी 50 किलोग्राम आटा बैग में 45 किलोग्राम ही आटा लोगों को दे रहा है। जबकि पैसे 50 किलोग्राम का ले रहा है। सूचना मिलने पर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के उपनिरीक्षक सतबीर सिंह गोदाम पर पहुंचे। जहां ग्राहक को बेचे गए 50 किलोग्राम वजन वाले आटा बैग का वजन किया गया तो उसमें 45 किलोग्राम वजन मिला। इसकी सूचना सिटी थाना पुलिस को दी। सूचना मिलने पर पुलिस ने गोदाम पर पहुंच उपनिरीक्षक की मौजूदगी में शिकायतकर्ता के बयान दर्ज किए।
पीड़ित छतरपुर (मध्यप्रदेश) निवासी श्यामलाल जो की अभी हुडा सेक्टर में रहता है। पीड़ित ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि हरिराम गौरव कुमार के गोदाम से 50 किलोग्राम का आटे का बैग खरीदा है। जब वह बैग को घर पर लेजाकर तौला तो 45 किलो का मिला। इस प्रकार आरोपी ने उससे 50 किलोग्राम आटे के पैसे लेकर 45 किलोग्राम आटा दिया है। पुलिस ने श्यामलाल की शिकायत पर हरिराम गौरव कुमार फर्म के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम-1955 का उल्लंघन करने व आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी है। थाना प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि आरोपी पूरे पैसे लेकर कम आटा दे रहा था। केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। पीड़ित परिवार उसी दुकान से पहले भी सामान लेता रहा है। लॉकडाउन के दौरान आरोपी ने अधिक पैसे लिए।
... और पढ़ें

ये हैं अपराजिता: बिना डरे रख रहीं लोगों की सेहत का ख्याल

कोरोना वायरस से लड़ाई में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए नारी शक्ति अहम रोल अदा कर रही है। बिना अपनी जान की परवाह किए स्वास्थ्य सेवाओं में जुटी महिलाएं मरीजों के स्वास्थ्य का पूरी तरह से ख्याल रखने में जुटी हैं।
कोरोना की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री के आदेश पर पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। इसके चलते लोग घरों में बंद हैं। हर किसी की अपनी जान की परवाह है। लेकिन, स्वास्थ्यकर्मी अपनी सेहत की परवाह न करते हुए दिन-रात ड्यूटी कर रहे हैं। हालांकि उनकी समस्याओं को देखते हुए जीएच प्रबंधन ने प्रशासन से पास जारी करने को कहा है, ताकि लॉकडाउन में कोई बीच में न रोके।
हम ही डरेंगे तो संभालेगा कौन
नागरिक अस्पताल में ड्यूटी है। अगर कोरोना वायरस से ही हम डर जाएंगे तो लोगों की सेहत का कौन ख्याल रखेगा। हम पूरी सतर्कता के साथ हम नियमित सेवाएं दे रहे हैं। कोरोना संक्रमण से डरने की बजाय डॉक्टरों द्वारा दिशा-निर्देशों का पालन करें। खांसी व बुखार की शिकायत पर तुरंत डाक्टर की सलाह लें। बेवजह घर से न निकलें और घर में ही रहें।
- राजबाला, नर्सिंग सिस्टर।
कोरोना से लड़ाई में हम देंगे साथ
कोरोना से लड़ाई में पूरा देश लड़ रहा है। आखिर हम क्यों पीछे रहें। हम पूरी जिम्मेदारी से अस्पताल आ रहे हैं। इमरजेंसी मरीजों को इलाज सुविधा मुहैया करा रहे हैं। करोना किसी को भी हो सकता है। हम पूरी निष्ठा के साथ ड्यूटी करने को आ रहे है। गायनी वार्ड को भी बखूबी संचालित किया जा रहा है। बेहतर होगा कि लोग घर में रहे और लॉकडाउन का पालन करें।
- कृष्णा, मैट्रन।
ड्यूटी करना मेरा कर्तव्य
स्वास्थ्य सेवाएं महत्वपूर्ण हैं और यही मेरी ड्यूटी है। किसी भी महिला को दिक्कत न हो इसलिए प्रतिदिन आती हूं। लॉकडाउन है, वाहन नहीं मिलते। अपने कर्तव्य को निभाने के लिए बगैर किसी छुट्टी के प्रतिदिन ड्यूटी कर रही हूं। लोग सरकार का सहयोग करें और घर में रहे। जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकलें। जीएच प्रबंधन लोगों के हेल्थ को लेकर गंभीर है। यहां जरूरी होने पर ही आएं।
- सुरेश, नर्सिंग सिस्टर।
हम अस्पताल में करते हैं सेवा
सैनिक बार्डर पर हमारी रक्षा करते हैं। हम अस्पताल में रहकर लोगों की जान बचाने में लगे रहते हैं। अस्पताल में आने वाले व्यक्ति स्वस्थ्य होकर जाए हम पूरा योगदान करते हैं। हम नियमित स्वास्थ्य सेवाओं में अपना योगदान देते रहेंगे। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए बचाव करना चाहिए। भीड़भाड़ वाली जगहों से जाने से बचे। जीएच लोगों की सेवा के लिए पूरी तैयारी किए हुए हैं।
-कुसुम, इंफेक्शन कंट्रोल नर्स।
... और पढ़ें

विदेश से लौटे 86 लोगों में से पांच को होम क्वारंटीन से मिली छूट

जिले में विदेश से लौटे नागरिकों की संख्या अब 86 पहुंच गई है। ऐसे लोगों पर स्वास्थ्य विभाग नजर रखे हुए हैं और सभी स्वस्थ है। पांच लोगों को होम क्वारंटीन से छूट मिल गई है। इसके बाद अब विभाग की नजर में 81 लोगों पर है। दूसरी ओर विभाग 100 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाने की तैयारी में जुट गया है।
सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जिले में अभी तक 86 ऐसे लोग थे जो विदेश से लौटे हैं। उन्होंने बताया कि सभी के घरों के बाहर होम क्वांटरीन का बोर्ड लगवाया गया है। इसमें पांच लोगों ने 14 दिन का होम क्वांटरीन पूरा कर लिया है। अब उन्हें इससे छूट दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि अब 81 पर नजर रखी जा रही है। जिले में 23 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाए जाने की तैयारी है। इसके लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।
74 की हुई स्क्रीनिंग
जिला नागरिक अस्पताल के डिप्टी एमएस डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि शुक्रवार को 74 मरीजों की फ्लू कार्नर में स्क्रीनिंग की गई। अस्पताल में गायनी व बच्चों की ही ओपीडी चल रही है। दूसरी ओर लगातार अब फ्लू वार्ड में आने वालों की संख्या कम हो रही है। पहले ओपीडी 200 रहती थी।
... और पढ़ें

पिकअप में मिली 570 बोतल शराब

कनीना थाना पुलिस ने गश्त के दौरान एक पिकअप को शराब ले जाते काबू किया है। जिसमें 570 बोतल शराब बरामद हुई। पुलिस ने आबकारी विभाग ने कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया। बाद में उसे रिहा कर दिया गया।
प्रदेश सरकार ने वीरवार रात 12 बजे से शराब ठेके बंद करने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने रात से ही शराब ठेकों को निर्देश दे दिए थे। पुलिस ने कोरोना के चलते अलग अलग एरिया में नाके लगाए हैं। आधी रात पुलिस ने कनीना-अटेली सड़क मार्ग पर नांगल मोड़ के पास इसराना की ओर से आ रही पिकअप को रुकवाया। पुलिस कर्मियों ने रुकवाया तो उसमें शराब भरी थी। पिकअप चालक गांव ककराला निवासी बच्चन सिंह को वाहन सहित कब्जे में लिया। पुलिस ने इस बारे में नारनौल स्थित आबकारी निरीक्षक दलीप सिंह को सूचना दी। जिस पर उन्होंने मौके पर पहुंचकर शराब की बोतल की गिनती तो कुल मिलकार 570 बोतल, 47 पेटी शराब मिली। जिसमें 1300 पव्वा सहित देसी, अंग्रेजी, बीयर शामिल थी। थाने में कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद आबकारी निरीक्षक दलीप सिंह पिकअप डाले सहित शराब को अपने कस्टडी में ले गए। आरोपी के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। जिसे बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया।
... और पढ़ें

अखबारों से नहीं फैलता कोरोना वायरस, अफवाहों से बचें

कोरोना वायरस को लेकर पिछले कुछ दिनों से अफवाहों का दौर सा चल पड़ा है। इसके कारण लोग बेवजह परेशान भी हो रहे हैं। ऐसी एक अफवाह है कि अखबारों से कोरोना संक्रमण फैलता है। इस तरह के मैसेज व्हाट्सएप पर भी फारवर्ड हो रहे हैं। जबकि इसमें सच्चाई नहीं है। शहर के प्रमुख लोगों ने अमर उजाला के पाठकों से अपील की हैं कि ऐसी अफवाहों से दूर रहें। उनका कहना है कि अभी ऐसा कोई मामला नहीं आया है, जिससे यह कहा जाए कि अखबार से भी यह संक्रमण होता है।
केविड-19 संक्रमण श्वसन तंत्र से जुड़ा हुआ है। अखबार से किसी के संक्रमित होने की अब तक पुष्टि नहीं हुई है। ये संक्रमण इंसान से इंसान में फैल रहा है। इसलिए लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। अखबार पूरी तरह सैनिटाइज के बाद ही बांटा जा रहा है। प्रकाशन होने के बाद हॉकर भी सैनिटाइज होकर पाठकों के घर-द्वार तक इसे पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। ऐसी अफवाहों से बचें।
- जगदीश शर्मा, डीसी
अखबारों में भी सैनिटाइज का प्रयोग हो रहा है। अखबार में ऐसा कोई कोरोना संक्रमण नहीं है, जिससे कोरोना फैलता हो। अगर अखबार में संक्रमण होता तो सरकार इस पर पाबंदी लगा देती। लोगों को अखबार पढ़ना चाहिए। लोग सोचते हैं कि अखबार में एक दूसरे व्यक्ति के हाथों से होकर गुजर रहा है। यह बिल्कुल गलत है। अखबार मशीन से प्रकाशन होने के बाद सैनिटाइज होकर सीधे गाड़ी से हॉकर के पास पहुंचता है। इसलिए अखबार से कोई डर नहीं है। कोरोना की रोकथाम के लिए दिशा -निर्देशों का पालन करें। सरकार के दिशा- निर्देशों में कही पर भी अखबार से कोरोना वायरस से संक्रमण फैलने का जिक्र नहीं किया गया है।
-जेपी सैनी, चेयरमैन, नारनौल मार्केट कमेटी
अखबार पूरी तरह सुरक्षित हैं। इसके छापने की प्रक्रिया ऑटोमैटिक होती है और इसे जिस वातावरण में प्रकाशित किया जाता है, पूरी तरह सैनिटाइज है। अखबार छूने से कोरोना नहीं होता है। यह महज अफवाह है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को हाथ अच्छे से साफ करने हैं। घर हो या बाहर, हर किसी व्यक्ति से एक मीटर की दूरी बनाए रखना है। अफवाहों पर ध्यान न दें। लोगों को सरकार द्वारा दी गई गाइडलाइन के अनुसार अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना है। अखबार से संक्रमण नहीं फैलता है।
- भारती सैनी, चेयरपर्सन, नगर परिषद नारनौल
अभी तक अखबार, मैग्जीन या किसी कागज के छूने से अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है। लोगों में एक अफवाह फैल रही है कि किसी को छूने से संक्रमण हो सकता है। अखबारों से संक्रमण फैलता तो सब्जी, दूध की थैली व अन्य पैकिंग के सामान से भी संक्रमण फैल सकता है। यह केवल लोगों में अफवाह फैलाई जा रही है। लोगों को इस पर कतई विश्वास नहीं करना चाहिए। इसलिए लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है।
- डॉ. अशोक कुमार, सीएमओ
अखबारों से संक्रमण फैलने का कोई मामला सामने नहीं आया है। कोरोना संक्रमण एक-दूसरे इंसान के संपर्क में आने से फैलता है। बाहरी व्यक्ति से दूरी बनाकर मुंह पर मॉस्क लगाकर बातचीत करें। जरूरी काम के लिए ही घर से बाहर निकलें। खांसी, जुकाम व बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।
- सुलोचना गजराज, एसपी
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करें। लोगों द्वारा फैलाई जा रही अफवाहों से बचें। कुछ लोगों द्वारा सोशन मीडिया में अखबारों से संक्रमण फैलने की अफवाह फैलाई जा रही है। जो बिल्कुल गलत है। सभी अस्पतालों में मरीज व स्वास्थ्य कर्मी तथा जिला प्रशासन के लोग अखबार पढ़ रहे हैं। अगर अखबार से वायरस फैलता तो सरकार इस पर पाबंदी लगा देती। अखबार से संक्रमण नहीं फैलता है।
- राजेश देवी, जिला प्रमुख
... और पढ़ें

10 नाके लगाकर लोगों को रोक रही पुलिस

लॉकडाउन को लागू कराने के लिए पुलिस की सख्ती बढ़ती जा रही है। नारनौल में पुलिस ने शहर में 10 नाके लगाए हैं। जिससे घर से बाहर निकलने वालों को रोका जा सके। एससी सुचालना गजराज ने बताया कि लॉकडाउन में बिना वजह घूमने वालों पर पूरी तरह अंकुश लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक नारनौल शहर के अलग-अलग स्थानों पर 10 नाके लगाए जाएंगे ताकि बिना वजह घूमने वालों पर पूर्ण तय अंकुश लगाया जा सके।
पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बहादुर सिंह तालाब, बहरोड़ रोड, गंदानाला, कोर्ट रोड, नांगतिहाडी रोड, सिंचाई विभाग, सिंघाणा रोड, पुल बाजार, राजीव चौक, सैनी धर्म कांटा व मेहता चौक पर नाके लगाए जाएगे। दूसरी ओर ट्रैफिक पुलिस ने शहर में बेवजह मोटरसाइकलों पर घूमने वालों पर पूरी तरह सख्ती की जा रही है। पुलिस ने 50 चालान किएं व 10 बाइकों को इंपाउंड भी किया है। दूसरी ओर लॉकडाउन के तीसरे दिन भी बाजार पूरी तरह बंद रहे।
युवक को मुर्गा बनाने पर दो पुलिस कर्मी लाइन हाजिर
नारनौल। दौंगड़ा अहीर चौक पर तैनात किए गए दो पुलिस कर्मचारियों सतपाल व बिल्लु को ड्यूटी में कोताही बरतने के चलते पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज ने लाइन हाजिर करने के निर्देश दिए हैं। दौगड़ा चौकी प्रभारी सुमन ने बताया कि लाइन हाजिर किए गए दोनों एसपीओ हैं। जिन्होंने ड्यूटी में अनियमितता बरती थी। बता दें कि चौक पर तैनात दो पुलिस कर्मचारियों ने एक युवक को मुर्गा बनाकर कुछ दूर चलाया था। यह इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। मामला एसपी के संज्ञान में आने पर दोनों को पुलिस लाइन भेज दिया गया है। एसपी की इस कार्रवाई से पुलिस कर्मी भी लोगों के साथ नरमी से पेश आ रहे हैं।
... और पढ़ें

विदेश यात्रा कर लौटा युवक बाहर घूमता मिला

कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन को लेकर पुलिस एवं प्रशासन पूरी सख्ती बरत रहा है । वहीं विदेश यात्रा करके घर लौटे व्यक्ति जिन्हें घर पर क्वारंटीन किया गया है उसके बाहर घूमने पर चिकित्सक की शिकायत पर पुलिस ने कनीना थाने में एक युवक के खिलाफ केस दर्ज किया है।
डॉ. राजीव की ओर से पुलिस को दी गई शिकायत में कहा गया कि वार्ड 12 निवासी दीपक जो विदेश यात्रा करके घर आया था। जिसे चिकित्सक स्टाफ की ओर से घर पर क्वारंटाइन किया गया था। उसके घर के बाहर नोटिस चस्पा किया गया था। बावजूद इसके दीपक शर्मा घर से बाहर घूमता रहा, उनके घर के बाहर लगे नोटिस को भी उखाड़ दिया गया। ऐसा करने से महामारी को आमंत्रण देने का अंदेशा रहता है।
नगर पालिका प्रशासन की ओर से पालिका परिधि में सैनिटाइजेशन स्प्रे की गई। इस कार्य में नपा के सचिव राजाराम, चेयरमैन सतीश जेलदार, पूर्व चेयरमैन राजेंद्र सिंह लोढा, लेखाकार शिवचरण जोशी, ओमप्रकाश, केशव, विक्की सहित अन्य कर्मचारियों का सहयोग रहा। जिन्होंने पूरे नगर पालिका क्षेत्र में दवा की स्पेे की।
उप नागरिक अस्पताल कनीना के चिकित्सक डॉ. दीपांशु शर्मा ने बताया कि कोराना के चलते अस्पताल में ओपीडी कम हुई हैं। अस्पताल में आने वाले मरीजों को दवा देकर छुट्टी दी जा रही है। खांसी-बुखार, जुकाम बीमारी से पीड़ित मरीजों को 10 दिन की दवा देकर घर रहने की सलाह दी जा रही है। इसके अलावा कोरोना फ्लू कॉर्नर से कुछ मरीजों डिस्चार्ज किया गया है। वहीं एसडीएम रणबीर सिंह ने नारनौल से आने के बाद बाजार का निरीक्षण कर दुकानदारों को खाद्य वस्तुओं की कालाबाजारी से बचने की हिदायत दी।
उन्हाणी गांव के सरपंच रविंद्र महलावत ने कहा कि कोरोना की माहामारी से बचने के लिये एतिहात बरतना जरूरी है। उन्होंने घर-घर जाकर 200 ग्रामीणों को मास्क वितरित किये। इसराना गांव में जरूरतमंद लोगों को युवाओं की ओर से खाद्य सामग्री वितरित की गई।
... और पढ़ें

जिला जेल से 113 कैदियों व बंदियों को मिलेगी पैरोल

कोरोना वायरस को देखते हुए जिला जेल नसीबपुर के 113 कैदियों/ बंदियों को पैरोल पर छोड़ा जाएगा। इसको लेकर जेल प्रबंधन तैयारियों में जुटा हुआ है। इसके लिए जरूरी औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं।
जिला जेल के एसपी देवीदयाल तंवर ने बताया कि अंडरट्रायल के 34 रेवाड़ी व 29 नारनौल के बंदी हैं। जिन्हें पेरोल पर छोड़ने की तैयारी चल रही है।
उन्होंने बताया कि रेवाड़ी जिले के बंदियों की लिस्ट रेवाड़ी के संबंधित अधिकारियों को भेजी जा चुकी है। वीसी के जरिए सुनवाई की जा रही है। दूसरी ओर 50 ऐसे कैदी हैं, जिन्हें पेरोल पर छोड़ा जाना है। इसके लिए संबंधित कोर्ट व अधिकारी अंतिम निर्णय लेंगे। एसपी जेल ने बताया कि इसकी पूरी सूची संबंधित अधिकारियों को भेजी जा चुकी है। सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद ही उन्हें पेरोल पर छोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि जेल में सभी की नियमित मेेडिकल जांच के साथ सैनिटाइज किया जा रहा है। साथ ही नए बंदियों को मेडिकल जांच के बाद 14 दिन तक अलग रखा जा रहा है। तंवर ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर पूूरी सावधानी बरती जा रहा है। इसे लेकर किसी स्तर कोताही नहीं बरती जा रही। जेल के कर्मचारियों को मास्क व सैनिटाइजर उपलब्ध कराया गया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us