विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

रोहतकः एसटीएफ ने भारी मात्रा में चरस की बरामद, एक आरोपी गिरफ्तार, दो फरार

एसटीएफ द्वारा नशा तस्करों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत कार्य करते हुए प्राप्त मुखबरी के आधार पर यह कार्रवाई की गई।

27 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महेंद्रगढ़/नारनौल

सोमवार, 27 जनवरी 2020

अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी, दुकानदार से मांगी रंगदारी

शहर के एक दुकानदार से एक लाख रुपये की रंगदारी मांगने का मामला आया है। शिकायत पर पुलिस ने एक नामजद महिला समेत अन्य तीन पर केस दर्ज कर लिया है। महिला अश्लील सीडी वायरल करने की धमकी देकर दुकानदार से एक लाख रुपये मांग रही थी।
जानकारी के अनुसार पुरानी सराय निवासी दुलीचंद ने का शहर में कपड़े की दुकान है। सिटी थाना पुलिस में दी शिकायत में दुकानदार ने बताया कि एक महिला कुछ दिन पहले दुकान पर कपड़े खरीदने आई थी। महिला 1800 रुपये के कपड़े खरीद कर ले गई, लेकिन पैसे नहीं दिए। पीड़ित का कहना है कि दो दिन बाद महिला का फोन आया कि घर से आकर पैसे ले जाओ। जब पीड़ित घर पर गया तो महिला ने चाय पिलाई। इसके बाद वह बेहोश हो गया। पीड़ित का कहना है कि होश आने पर वापस घर आ गया। एक दिन बाद दोबारा महिला का फोन आया कि एक लाख रुपये दे दो नहीं तो तुम्हारी अश्लील वीडियो वायरल कर देंगे। आरोपियों ने उसे दुष्कर्म केस में फंसाने की धमकी दी। पीड़ित का कहना है कि उनकी धमकियों से तंग आकर पुलिस में शिकायत दी। पुलिस ने एक नामजद सहित दो-तीन अज्ञात पर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने आरोपी महिला से इस मामले में पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

जजपा-इनेलो विवाद में आया नया मोड़, चाचा का बड़ा आरोप और भतीजे का करारा जवाब, बोले...

हरियाणा में जजपा और इनेलो में चल रहे विवाद में नया मोड़ आ गया है। चाचा ने तंज कसते हुए जो बात कही, उसका भतीजे ने करारा जवाब दिया। इनेलो नेता अभय चौटाला ने हरियाणा के उपमुख्यमंत्री और भतीजे दुष्यंत चौटाला की पार्टी पर एक बड़ा आरोप मढ़ दिया है।

अभय चौटाला ने कहा कि जजपा कभी भी भाजपा में विलय कर सकती है। भाजपा ने जजपा का समर्थन नहीं मांगा था। यह लोग खुद हिमाचल से मंत्री अनुराग ठाकुर को लेकर भाजपा के खेमे में समझौता करने गए थे।

दुष्यंत जवाब दें कि वे जेपी नडडा को बधाई देने क्यों पहुंचे? क्या उनकी पार्टी का व्यक्ति राष्ट्रीय अध्यक्ष बना था या फिर उनकी पार्टी का कोई लेना देना था। कभी वे राजनाथ सिंह से मिलने जाते हैं कभी सीतारमण से तो कभी अमित शाह से। जाना है तो अपने विभाग से संबंधित किसी मंत्री के पास जाएं और बताएं हरियाणा के लिए क्या ले कर आएं हैं।

पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला के जजपा में शामिल होने की अटकलों को लेकर उन्होंने कहा कि वे पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि वे किसी गद्दार से समझौता नहीं करेंगे। मैं उन्हें जानता हूं। जीवन में कभी उन्होंने अपने आप से समझौता नहीं किया।
... और पढ़ें

नागरिक अस्पताल में सर्जन नहीं होने से परेशानी

एक सामाजिक संगठन ने शहर के नागरिक अस्पताल में सर्जन डॉक्टर की नियुक्ति को लेकर मंगलवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम नायब तहसीलदार प्रदीप कुमार को ज्ञापन सौंपा।
सामाजिक कार्यकर्ता रामनिवास पाटोदा ने बताया कि हरियाणा सरकार ने पिछले वर्ष महेंद्रगढ़ शहर के अस्पताल का दर्जा बढ़ा कर नागरिक अस्पताल किया था। बावजूद इसके लोगों को यहां पूरी सुविधा नहीं मिल पा रही है। अस्पताल में चिकित्सकों की कमी है। मरीजों और गंभीर रुप से घायलों को रेफर कर दिया जाता है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में काफी वर्षों से डॉक्टरों की कमी रही है। नारनौल सरकारी अस्पताल में 2 सर्जन चिकित्सक काम कर रहे हैं, लेकिन महेंद्रगढ़ में एक भी सर्जन नहीं है। महेंद्रगढ़ अस्पताल में एक सर्जन डॉक्टर की नियुक्ति तुरंत प्रभाव से की जाए, ताकि घायल लोगों की समय रहते जान बच सके। इस अवसर पर छाजूराम नंबरदार, अधिवक्ता जयप्रकाश, अधिवक्ता हरिप्रकाश, अधिवक्ता सुखदेव, शंकर, सुरेश, कर्ण सिंह, भूपेंद्र व बलदेव कुमार सहित सामाजिक संगठन के लोग उपस्थित रहे।
महेंद्रगढ़ अस्पताल के लिए जल्द ही हम सर्जन उपलब्ध करवा देंगे। इसके लिए हमने प्रक्रिया शुरू कर रखी है।
- संतलाल वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी महेंद्रगढ़।
... और पढ़ें

फुटबाल में बलंभा ने उन्हाणी को हराया, बना चैंपियन

नेताजी मेमोरियल क्लब कनीना में आयोजित पांच दिवसीय फुटबाल व लड़कियों की दौड़ प्रतियोगिता का समापन हुआ। फुटबाल में बलंभा की टीम ने उन्हणी की टीम को हराकर ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया। इस मौके पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं ने सभी खेलों में हिस्सा लेकर देश का मान विश्व स्तर पर बढ़ाया है। इसमें चाहे कुश्ती हो या कबड्डी या फिर क्रिकेट प्रदेश के खिलाड़ी हमेशा से विश्व में छाए रहे हैं। इस प्रतियोगिता में बलंभा की टीम ने बाजी मारी। जिसको 71 हजार रुपये का इनाम दिया गया। वहीं उन्हाणी की टीम दूसरे स्थान पर रही। जिसको 51 हजार रुपये का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने लड़कियों की 100, 200 और 400 मीटर में विजेता खिलाड़ियों को भी पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इससे पूर्व नेताजी मेमोरियल क्लब कनीना में क्षेत्र के शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर अटेली के विधायक सीताराम यादव ने कहा कि खेलों से युवा हष्टपुष्ट बनता है। इसलिए प्रत्येक बच्चों को खेलकूद की ओर ध्यान देना चाहिए। इस मौके पर क्लब द्वारा व कस्बावासियों की मांग पर मंत्री ओमप्रकाश यादव ने कहा कि इस खेल मैदान को स्टेडियम बनाने के लिए सरकार द्वारा आधुनिक स्टेडियम बनाया जाएगा। इस दौरान सुबेदार सतपाल, चेयरमैन ओपी यादव, पूर्व प्रधान राजेंद्र लोढ़ा, मास्टर दलीप, मनोज कनीना, धर्मपाल छितरोली, उमेश कनीना व बलवंत आदि उपस्थित थे।
... और पढ़ें
नेताजी मेमोरियल क्लब कनीना में विजेताओं को पुरस्कृत करते मंत्री ओमप्रकाश यादव व अटेली के विधायक नेताजी मेमोरियल क्लब कनीना में विजेताओं को पुरस्कृत करते मंत्री ओमप्रकाश यादव व अटेली के विधायक

कागजात और रुपये छीनने के आरोप में एक गिरफ्तार

गांव हसनपुर निवासी गौरव की शिकायत पर बौचड़िया निवासी ओमप्रकाश व अन्य चार पर कागजात व रुपये छीनने के मामले में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें ओमप्रकाश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ओमप्रकाश की हालत खराब होने से चिकित्सकों ने अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां से उसे रोहतक के लिए रेफर कर दिया गया।
जानकारी के अनुसार हसनपुर निवासी गौरव ने पुलिस में दी शिकायत में बताया कि वह कांट्रेक्टर संदीप के पास सुपरवाइजर का काम करता है। 3 जनवरी को सरपंच ग्राम पंचायत बौचड़िया ने गांव में जोहड़ खुदाई के लिए हमारी फर्म के डम्फर व जेसीबी मशीन बुलवाई थी। फर्म का सुपरवाइजर होने के नाते मशीन व गाड़ियां लेकर काम करने वाली जगह पर गया था। जब मैं जोहड़ में डम्फर भरकर सरपंच के दिखाये स्थान पर डाल रहा था तब ओमप्रकाश, इंद्रजीत, नरदेव व दो अन्य लोगों ने वहां मिट्टी डालने से मना कर दिया। इसकी जानकारी सरपंच को दी। थोड़ी देर में पुलिस आ गई तथा कहा कि सरपंच को बुलाओ। सरपंच व पुलिस की फोन पर बात हुई। पुलिस वालों ने सरपंच को प्रस्ताव की कापी दिखाने की बात कही तथा तब तक काम रोकने की बात कही गई। मैंने अपने मालिक संदीप से बात की तो उन्होंने कहा कि काम बंद हो गया आप गाड़ियां लेकर नारनौल आ जाओ। जब हम नारनौल जा रहे थे तब उपरोक्त व्यक्तियों ने रास्ता रोक लिया तथा ड्राइवर को नीचे उतार लिया जब मैं पास पहुंचा तो उपरोक्त लोगों ने मेरे साथ भी हाथा पाई की। इस दौरान इन युवकों ने कागजात व तीन हजार रुपये निकाल लिए। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने ओमप्रकाश को गिरफ्तार कर लिया। लेकिन उनकी हालत बिगड़ते देख चिकित्सकों को िखाया। गंभीर हालत के चलते हाई सेंटर रोहतक के लिए रेफर कर दिया।
... और पढ़ें

चार एकड़ में विकसित की जा रही अवैध कालोनी को ध्वस्त किया

जिला नगर योजनाकार की टीम ने शुक्रवार को अटेली रोड पर जाटवास में लगभग 4 एकड़ क्षेत्र में विकसित की जा रही अवैध कॉलोनी में जेसीबी चलाई। जेसीबी ने अवैध कॉलोनी में बनाई गई दस डीपीसी तथा रोड को उखाड़ दिया। डयूटी मजिस्ट्रेट, नायब तहसीलदार प्रदीप कुमार, महेंद्रगढ़ डीटीपी प्रवीण कुमार चौहान की देखरेख में पुलिस बल के साथ यह अभियान चलाया गया।
महेंद्रगढ़ में अटेली रोड पर गांव जाटवास में लगभग 4 एकड़ में अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी। कॉलोनी के अंदर रोड भी बनाए जा रहे थे। कॉलोनी विकसित करने वाले डीलर को पहले ही नोटिस जारी कर दिया था। इसके बाद भी डीलर ने काम बंद नहीं किया। जिला नगर योजनाकार की टीम ने शुक्रवार की शाम को पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गई। इस दौरान जेसीबी से लगभग 10 डीपीसी को तोड़ा। सभी रोड नेटवर्क को उखाड़ दिया। इसके अलावा वहां पर अवैध कॉलोनी का बोर्ड भी लगा दिया गया। जिला नगर योजनाकार प्रवीण कुमार चौहान ने लोगों से अपील की वे नियंत्ररित क्षेत्र/शहरी क्षेत्र में कोई भी निर्माण विभागीय अनुमति के न करें। उन्होंने कहा कि अवैध कॉलोनी में कोई प्लाट प्रापर्टी डीलर्स के बहकावे में आकर न खरीदें। उपभोक्ता को प्लॉट खरीदने से पहले कॉलोनी की वैधता के बारे में जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से भविष्य में अवैध कालोनियों पर भी कार्रवाई जारी रहेगी।
... और पढ़ें

उपायुक्त, शहरी निकाय के प्रधान सचिव के खिलाफ नपा चेयरपर्सन ने डाला अवमानना का केस

नगर पालिका चेयरपर्सन रीना गर्ग ने डीसी जगदीश शर्मा तथा शहरी स्थानीय निकाय के प्रधान सचिव के खिलाफ अदालत की अवमानना की याचिका दायर की है। शुक्रवार को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में इस मामले की सुनवाई नहीं हो सकी। अदालत अब 31 जनवरी को मामले की सुनवाई करेगी।
नगर पालिका चेयरपर्सन रीना गर्ग ने अगस्त 2019 में नपा की लगातार चार मीटिंग में पार्षदों के शामिल नहीं होने का हवाला देकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। याचिका में नपा के उप प्रधान रमेश बोहरा, पार्षद डॉ. तरुण, कृष्ण शर्मा, देवेंद्र सैनी, बबीता सैनी, विष्णु वाल्मीकि की सदस्यता रद्द करने की मांग थी। चेयरपर्सन ने अपनी याचिका में बताया कि 13 जुलाई 2017, 16 फरवरी 2018, 4 जनवरी 2019, 9 जनवरी 2019 की बैठक में उन्होंने हिस्सा नहीं लिया। लगातार चार बैठकों में नहीं आने के कारण पार्षदों की सदस्यता को रद्द किया जाए। उच्च न्यायालय ने 4 सितंबर को इस याचिका को कोर्ट में निपटारा कर मामला संबंधित अधिकारी को भेज दिया। पार्षदों के निलंबन, सदस्यता रद्द करने के बारे में शहरी स्थानीय निकाय के निदेशक के पास शक्तियां हैं। हाईकोर्ट ने 12 सप्ताह में इस पर फैसला लेने के आदेश दिए थे। निदेशक ने इस मामले में उपायुक्त से जांच रिपोर्ट मांगी है। डीसी ने इस मामले में 24 नवंबर, दो दिसंबर, 9 दिसंबर व 13 जनवरी को सुुनवाई की है। इस मामले में डीसी कोर्ट में अगली तारीख 27 जनवरी 2020 है।
रीना गर्ग ने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में शुक्रवार को याचिका दायर की। उसमें कहा कि 12 सप्ताह के तय समय में शहरी स्थानीय निकाय के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण, उपायुक्त जगदीश शर्मा ने फैसला न लेकर अदालत की अवमानना की है। हाईकोर्ट में सीओसीपी 243 के तहत सुनवाई हुई। अदालत ने इस मामले में अगली तारीख 31 जनवरी तय कर दी है।
... और पढ़ें

युवती का अपहरण कर महेंद्रगढ़ में दुष्कर्म, दो पर केस दर्ज

सतनाली रोड पर गांव खातोदड़ा के पास से दो युवकों ने पैदल जा रही युवती का अपहरण कर लिया। उन्होंने नहर के पास बने कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने एक आरोपी को मौके पर ही दबोच लिया और दूसरा फरार हो गया। पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई आरंभ कर दी है।
पीड़ित युवती ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि वह गुरुग्राम जिले के फर्रुखनगर क्षेत्र की रहने वाली है। अपनी सहेली से मिलने के लिए वह 23 जनवरी को नारनौल आई थी। वह नारनौल से गुरुग्राम ट्रेन से जाना चाहती थी। उस वक्त ट्रेन नहीं होने पर वह बस में बैठकर महेंद्रगढ़ आ गई। यहां से वह उसे गुरुग्राम जाना था। वीरवार की शाम महेंद्रगढ़ से वह सतनाली रोड पर पैदल जा रही थी। एक निजी स्कूल के पास शाम 7.30 बजे दो लड़कों ने उसको अकेली देखकर उसे जबरदस्ती बाइक पर बैठा लिया। आरोपियों ने इसके बाद उसे नहर के पास एक कमरे में बंद कर दिया। एक लड़का कमरे के अंदर उसके साथ था। दूसरा लड़का कमरे को बाहर से बंद करके चला गया। कमरे के अंदर गांव खातोद निवासी विक्रम था। विक्रम ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और युवक को दबोच लिया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। थाना प्रभारी महाबीर प्रसाद ने बताया कि युवती की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ अपहरण और दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

महिला अपराध 20 फीसदी और चोरी के मामले 10 प्रतिशत बढ़े

महेंद्रगढ़ जिले में पिछले साल 40 हत्या, दुष्कर्म के 43, डकैती के छह, लूट के 11 और वाहन चोरी के 369 मामले दर्ज हुए। जबकि साल 2018 में हत्या के 40, दुष्कर्म के 38, डकैती के छह, लूट के पांच और वाहन चोरी के 324 मामले दर्ज हुए थे। साल 2018 में 3425 एफआईआर दर्ज हुई थी जबकि 2019 में 3345 एफआईआर हुई थी। साल 2018 के मुकाबले 2019 में महिला अपराधों में 20 फीसदी जबकि चोरी के 10 फीसदी मामलों में बढ़ोत्तरी हुई।
पुलिस कर्मचारियों की कमी से जूझ रहे महेंद्रगढ़ जिले में चोरी का ग्राफ बढ़ रहा है। पुुलिस के प्रयास के बावजूद वाहन चोरी, घरों में चोरी व पशु चोरी जैसे मामलों में कमी नहीं आ रही है। चोर मौका पाते ही वारदात को अंजाम देने में नहीं चूकते हैं। ऐसे लोगों के बीच असुरक्षा की भावना रहती है। महेंद्रगढ़ जिला तीन ओर से राजस्थान से जुड़ा हुआ है। ऐसे में इंटर स्टेट क्राइम भी एक गंभीर समस्या है। नारनौल, नांगल चौधरी और अटेली क्षेत्र में चोर चोरी की वारदातों को अंजाम देकर आसानी से राजस्थान में प्रवेश कर जाते हैं। ऐसे में इन क्षेत्र में चोरी एक प्रमुख समस्या है।
वहीं जिले में भी महिलाओं सुरक्षा भी एक गंभीर विषय है। जिले में महिला अपराधों की त्वरित सुनवाई के लिए जिला स्तर पर एक महिला थाना नारनौल में स्थापित है। अभी ब्लॉक स्तर पर महिला थाने नहीं खोले जा सके हैं। ऐसे में पूरे जिले का महिला अपराध का जिम्मा महिला थाने पर है। ऐसे में कनीना व नांगल चौधरी जैसे क्षेत्रों में महिला पुलिस को पहुंचने में देरी लगती है। इसके साथ ही महिला पुलिस कर्मचारियों पर भी काम का दबाव होता है। पुलिस विभाग से मिली जानकारी के अनुसार साल 2018 में दुष्कर्म के 38, दुष्कर्म के प्रयास के एक व पॉक्सो एक्ट के 42 मामले दर्ज हुए थे। वहीं साल 2019 में दुष्कर्म के 43, दुष्कर्म के प्रयास के नौ व पॉक्सो एक्ट के 64, दहेज उत्पीड़न के 70 व छेड़छाड़ के 97 मामले दर्ज हुए थे। महिलाओं से संबंधित अपराधों को देखे तो करीब 384 मामले पिछले साल दर्ज हुए। इसमें दुष्कर्म, दुष्कर्म का प्रयास, दहेज उत्पीड़न, दहेज हत्या, छेड़छाड़ पॉक्सो समेत अन्य मामले शामिल हैं। साल 2018 में महिलाओं से संबंधित करीब 319 केस दर्ज हुए थे। महिला अपराधों में 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।
15 फीसदी ही मामलों का खुलासा
पिछले साल चोरी के कुल 539 मामले आए थे। इसमें से करीब 82 मामलों को पुलिस सुलझा पाई। करीब 15 फीसदी मामलों का पुलिस ने खुलासा हुआ। साल 2018 में 493 मामलों से 90 मामलों का खुलासा हुआ था। साल 2018 के मुकाबले साल 2019 में करीब दस फीसदी चोरी के मामले बढ़े। चोरी के मामलों में घरों की चोरी के 148 में 37, वाहन चोरी 369 में से 48, पशु चोरी के 31 में 10 व सामान्य चोरी के 138 में 22 मामलों का खुलासा हुआ। वहीं साल 2018 में घरों में चोरी के 156 में 30, सामान्य चोरी के 120 में 29, वाहन चोरी के 324 में 50, पशु चोरी के 37 में से 10 मामलों का खुलासा हुआ था।
स्नेचिंग के मामलों में 40 फीसदी की बढ़ोत्तरी
पिछले साल स्नेचिंग के 42 मामलों में 23 मामलों को पुलिस ने सुलझाया था। जबकि बल पूर्वक स्नेचिंग के 29 में 26 मामलों को सुलझाया। साल 2018 में स्नेचिंग के 29 में 16 सुलझे थे। जबकि बल पूर्वक स्नेचिंग 32 में 24 मामले सुलझे थे। हालांकि साल 2018 से अपेक्षा 2019 में 40 फीसदी स्नेचिंग के मामले बढ़े। पिछले साल डकैती के छह मामलों में से दो मामले ही सुलझे। जबकि, लूट के 11 में से आठ मामलों को पुलिस सुलझा पाई।
नशीले पदार्थ के 18 मामले दर्ज हुए
पिछले साल नशीलेे पदार्थ के 18 जबकि साल 2018 में 21 दर्ज हुए थे। इसमें पुलिस ने गांजा, चरस व सुल्फा काफी मात्रा में बरामद किया था। आर्म्स एक्ट में 56 केस दर्ज हुए थे। इसमें सबसे अधिक 57 देसी पिस्टल बरामद हुई। साल 2018 में आर्म्स एक्ट के 38 मामले दर्ज हुए थे। पिछले साल एक्साइज एक्ट के तहत 269 केस दर्ज हुए थे।
जिले में संगीन अपराधों में कमी आई है। काफी हद तक महिला अपराधों पर भी अंकुश लगाया गया। महिला सुरक्षा को लेकर और कदम उठाए जाएंगे। सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए गए थे कि लोगों की शिकायतों पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच करें। इसके बाद भी साल 2018 के अपेक्षा 2019 में करीब 100 एफआईआर कम दर्ज हुई हैं। चोरी के मामले में अधिक ध्यान दिया जा रहा है। विभाग से 25 पुलिस कर्मी मिलने वाले हैं। सभी थानों में दो-दो पुलिस कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी।
- दीपक सहारण, एसपी नारनौल
जिले में हुए अपराध
अपराध 2018 2019
मर्डर 41 40
मर्डर का प्रयास 18 28
डकैती 6 6
लूट 5 11
चोरी 493 539
स्नेचिंग 29 42
दुष्कर्म 38 43
दुष्कर्म का प्रयास 1 9
पॉक्सो 42 64
दहेज उत्पीड़न 75 70
छेड़छाड़ 52 97
... और पढ़ें

समय पर बसों के संचालन की मांग कर छात्राओं ने किया हाईवे जाम

पिछले तीन महीनों से रोडवेज बसों का टाइम पर संचालन नहीं होने से परेशान गांव नांगल नूनियां की छात्राओं ने वीरवार सुबह आठ बजे नांगल नूनियां बस स्टैंड पर हिसार-जयपुर राजमार्ग पर जाम लगा दिया।
जाम की सूचना पाकर एसआई कृष्णा मौके पर पहुंची और छात्राओं को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया। लेकिन, छात्राएं रोडवेज जीएम को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ी रही। उन्होंने थाना प्रभारी व उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया। करीब 10 बजे थाना प्रभारी संतोष कुमार दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और जाम लगा रही स्कूली छात्राओं को जल्द ही रोडवेज बसों का टाइम पर संचालन करने का आश्वासन दिया।
इसके बाद छात्राओं ने जाम को खोल दिया। जिसके बाद यातायात को सुचारु रूप से शुरू हुआ। करीब दो घंटे लगे इस जाम से सड़क के दोनों और वाहनों की लंबी-लंबी लाईनें लग गई। जिसके कारण यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
छात्राओं ने बताया कि स्कूल में टाइम पर पहुंचने के लिए सुबह बस के इंतजार में बस स्टैंड पर पहुंच जाती हैं, लेकिन बसें कभी दो घंटे लेट तो कभी चार घंटे लेट आती है, तो कभी बसें स्टैंड पर भी रुकती नहीं है। जिस कारण समय पर स्कूल नहीं पहुंच पाती है। जब स्कूल से वापस घर आते है तो भी बसों के इंतजार में बस अड्डे पर खड़ी रहती हैं, जिससे घर पहुंचने में देरी हो जाती है। इससे पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। जब निजी वाहन से जाते हैं तो रोडवेज बस का पास होने के बावजूद वो किराया वसूल करते है। इस बारे में रोडवेज जीएम को दो बार मिल कर समस्या का समाधान करने की गुहार लगाई थी। जिस पर उन्होंने सुबह और शाम को लोकल बस चलाने के लिए आदेश दिए थे। लेकिन उसके बावजूद भी बसों का संचालन टाइम पर नहीं हो रहा है। जिस कारण से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने जीएम से सुबह 9 बजे रायमलिकपुर से नांगल चौधरी और शाम को 3.30 बजे नांगल चौधरी से रायमलिकपुर लोकल बस चलाने की मांग की है।
कैसे पढ़ेगी बेटियां
ग्रामीणों ने बताया कि गांव के लड़के और लड़कियां नांगल चौधरी की सीनियर सेकेंडरी स्कूल व गर्ल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ने के लिए जाते हैं। स्कूल का समय साढे़ नौ बजे से लेकर शाम 3:30 बजे तक का है। लेकिन, इस रूट पर सुबह साढ़े सात बजे के बाद 10 बजे तक रायमलिकपुर से लेकर नांगल चौधरी तक सरकारी बस सेवा नहीं है। दोपहर दो बजकर 20 बजे से लेकर शाम छह बजे तक लोकल बस सेवा नहीं है। जिस कारण से छात्राओं का अधिकतर समय बस स्टैंड पर बसों के इंतजार में निकल जाता है। इस बारे में छह दिसंबर व 17 दिसंबर को रायमलिकपुर से नांगल चौधरी के लिए रोडवेज बसों के संचालन के लिए जीएम से अनुरोध भी कर चुके है। उन्होंने बताया कि भले ही सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का अभियान चलाया हुआ है। लेकिन, बसों के अभाव में परेशान हो रही है।
... और पढ़ें

महेंद्रगढ़ की बेटी बनीं नागरिक अस्पताल की पहली गायनोलॉजिस्ट

नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ में सीजेरियन की शुरुआत हो गई है। बुधवार को गायनोलॉजिस्ट डॉ. अनुभूति ने गांव बलायचा निवासी सुमन का ऑपरेशन किया। इस महिला ने लड़के को जन्म दिया है। अस्पताल में जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। इस सफल ऑपरेशन में चिकित्सक (ऐनेथीसिया) डॉ. अनूप यादव ने भी सहयोग किया।
नागरिक अस्पताल में दस वर्ष से सीजेरियन की सुविधा नहीं थी। इस कारण ऑपरेशन से होने वाले बच्चों की डिलीवरी के लिए गर्भवती महिलाओं को निजी अस्पताल में जाना पड़ता था। निजी अस्पताल संचालक परिजनों से लगभग 20 से 25 हजार रुपये ऑपरेशन के चार्ज करते थे। इससे परिजनों को आर्थिक नुकसान होता था। गरीब लोगों को नारनौल जाकर ऑपरेशन कराना पड़ता था। ऐसे में गरीब गर्भवती महिला को परेशानी होती थी। करीब एक दशक बाद नागरिक अस्पताल में सीजेरियन की सुविधा हो गई है। बुधवार को डॉ. अनुभूति ने पहला सफल ऑपरेशन भी किया। महिला सुमन ने लड़के को जन्म दिया। अस्पताल में यह सुविधा शुरू होने से परिजन काफी खुश हुए हैं। नवजात बच्चे के दादा प्रताप सिंह, दादी शारदा देवी, पिता मामराज ने बताया कि पहले उन्होंने निजी अस्पताल में सीजेरियन करवाने का फैसला लिया था। बाद में जब उन्हें पता चला कि सरकारी अस्पताल में सीजेरियन की सुविधा हो गई है तो उन्होंने सरकारी अस्पताल में ही ऑपरेशन करवाने का फैसला लिया। डॉ. अनुभूति ने बुधवार को सफल ऑपरेशन किया। जच्चा और बच्चा दोनों ही ठीक हैं। अगर वो निजी अस्पताल में ऑपरेशन करवाते तो निश्चित रूप से 20 से 25 हजार रुपये का नुकसान होता।
दस साल बाद सरकारी अस्पताल में सीजेरियन
महेंद्रगढ़ अस्पताल 1976 में बनाया गया था। अस्पताल बनने के बाद एक भी गायनोलॉजिस्ट की स्थायी नियुक्ति नहीं हुई थी। पहले नारनौल से लेडी चिकित्सक सप्ताह में एक दिन सीजेरियन के लिए आती थी। वर्ष 2010 में डॉ. ईश्वर सिंह यहां सर्जन के रूप में कार्य करते थे। उसके बाद से अस्पताल में न तो सर्जन था और न ही गायनोलॉजिस्ट की सुविधा थी। एक महीने पहले गायनोलॉजिस्ट डॉ. अनुभूति ने महेंद्रगढ़ अस्पताल में ज्वाइन किया है।
पहली गायनोलॉजिस्ट बनी डॉ. अनुभूति
डॉ. अनुभूति ने बताया कि महेंद्रगढ़ में उनका जन्म स्थान है। शहर के अस्पताल में ही पहली गायनोलॉजिस्ट बनने का सौभाग्य मिला। अपने क्षेत्र की महिलाओं की समस्या को अच्छी तरह से जानती हूं। अपने शहर में लोगों की सेवा करना चाहती हूं। मेरा फर्ज बनता है कि अपनी जन्म स्थली के लोगों की सेवा करूं। अस्पताल में उपलब्ध सेवा के अनुसार मरीजों को सुविधाएं उपलब्ध करा रहे हैं। जरूरत पड़ेगी तो आला अधिकारियों से डिमांड रखी जाएंगी।
मेरे पास बुधवार को एक बजे गर्भवती महिला जांच कराने के लिए आई थी। महिला की अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट चेक की तो पता लगा तक गर्भ में बच्चा उल्टा था। गर्भवती को ब्लीडिंग भी हो रही थी। ऑपरेशन करना जरूरी था। इसलिए परिजनों की सहमति पर तुरंत ऑपरेशन करने फैसला लिया। ऑपरेशन पूरी तरह से सफल रहा। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। दो से तीन दिन में उनको छुट्टी दे दी जाएगी।
- डॉ. अनुभूति, गायनोलॉजिस्ट, नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़।
अस्पताल में बुधवार को एक सीजेरियन किया गया है। ऑपरेशन सफल रहा है। आगे भी यह सुविधा जारी रहेगी। गर्भवती महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। अब तक गर्भवती महिला को सीजेरियन के लिए नारनौल रेफर करना हमारी मजबूरी थी।
- डॉ. मोनू यादव, कार्यकारी प्रवर चिकित्सा अधिकारी, महेंद्रगढ़।
  नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ में नवजात बच्चे को गोद में लिए हुए दादी शारदा
नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ में नवजात बच्चे को गोद में लिए हुए दादी शारदा- फोटो : Narnol
... और पढ़ें

21 कॉलोनियों को नियमित करने के लिए नप दोबारा भेजेगा प्रस्ताव

नगर परिषद अवैध 21 कॉलोनियों को सर्वे कराकर दोबारा से वैध करने करने के लिए शहरी निकाय विभाग को भेजेगा। जिससे इन कॉलोनियों में लोगों सड़क, सीवर और पानी जैसी सुविधाएं उपलब्ध हो सके। दूसरी ओर पहले वैध हुई चार कॉलोनियों में विकास कार्यों के लिए टेंडर लगाए जा रहे हैं।
बता दें कि नगर परिषद ने 25 अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए दो साल सरकार के पास भेजा था। जिससे अवैध कॉलोनियों में लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराई जा सके। इसके लिए नप ने 25 कॉलोनियों की सूची शहरी निकाय विभाग को भेजी थी। इसमें से सरकार ने राम करण दास एक्सटेंशन, महात्मा ज्योतिबा फुले नगर, आर्दश नगर एक्सटेंशन व अग्रसेन कॉलोनी एक्सटेंशन को नियमित किया था। अन्य कॉलोनियों में कमी होने के कारण वैध नहीं किया गया है।
नप के अनुसार अन्य 21 कॉलोनियों में काफी काम हो चुके है। लेकिन, विभाग ने साल 2015 के गुगल मैप के आधार पर इनके नियमित करने का फैसला लिया था। ऐसे में कई कॉलोनियों वैध करने की लिस्ट से बाहर हो गई थी। नप के अनुसार शहर के विकास के लिए सभी कॉलोनियों का वैध होना जरुरी है। वर्तमान में सभी में 60-70 फीसदी तक बसावट है। साल 2015 के गुगल इमेज के अनुसार फौजदार कॉलोनी में 50 फीसदी से कम बसावट है। राम सिंह कॉलोनी में भी 20 फीसदी, फौजदार कॉलोनी एक्सटेंशन में 40 फीसदी व केशव नगर एक्सटेंशन पार्ट-2 में बिल्टअप एरिया 50 फीसदी से कम व अन्य कॉलोनियों में इसी प्रकार की कमी होने से वैध नहीं किया गया।
ये कॉलोनियों है अवैध
अवैध कॉलोनियों में केशव नगर एक्सटेंशन, दयानगर एक्सटेंशन, अपोजिट फौजदार कॉलोनी, काका रामसिंह कॉलोनी, फौजदार एक्सटेंशन, रामकरण दास एक्सटेंशन, हीरा नगर, अपोजिट एनबीसीसी, पटेल नगर, नियर कैनाल रेस्ट हाऊस कॉलोनी, केशव नगर एक्सटेंशन पार्ट-2, सुभाष नगर, सुभाष नगर एक्सटेंशन, न्यू आदर्श नगर, खेतानाथ कॉलोनी, एंपलाइज कॉलोनी एक्सटेंशन, माली टिब्बा एक्सटेंशन, दयाल नगर, मंदिर मोडावाला एक्सटेंशन, केटी कॉलोनी छाजू पुरम, रघुनाथ नगर व रेलवे कॉलोनी के पीछे की कॉलोनी शामिल है।
नप 21 कॉलोनियों का दोबारा से सर्वे कराकर व हाउस से पासकर अप्रूवल के लिए भेजेगा। वर्तमान में सभी कॉलोनियों को नियमित करने की जरूरत है। जिससे पूरे शहर का एक सामान विकास हो सके।
- भारती सैनी, चेयपर्सन, नप नारनौल
... और पढ़ें

प्रॉपर्टी सील करने का अधिकार न होने से टैक्स वसूली में नप बेबस

आर्थिक संकट से जूूझ रहा नगर परिषद प्रॉपर्टी टैक्स वसूली में फिसड्डी साबित हो रहा है। नप की नोटिस को भी बकायेदार भी गंभीरता से नहीं लेते। ऐसे लोगों पर नप भी कार्रवाई करने में असमर्थ है क्यों कि उसे प्रॉपर्टी सील करने का अधिकार नहीं है। नप के अनुसार डीसी के आदेश पर ही ऐसे लोगों पर कार्रवाई हो सकती है। हाउस टैक्स की वसूली कम होने से नप को कर्मचारियों के वेतन समेत अन्य कार्यों में दिक्कतें आ रही हैं। नप का करीब 12 करोड़ रुपये टैक्स का स्कूलों, होटलों व सरकारी भवनों में डीसी कार्यालय समेत अन्य शामिल है।
बता दें कि नगर परिषद को मुख्य आय हाउस टैक्स से होती है। लेकिन, लोग टैक्स देने में रुचि नहीं दिखाते। ऐसे में नप को कर्मचारियों के वेतन समेत अन्य कार्यों में परेशानी होती है। नप का कॉमर्शियल और रिहायशी भवनों पर करीब 12 करोड़ रुपये बकाया है।
नप ने बड़े बकायेदारों को अंतिम नोटिस भेज चुका है। इसके बाद भी ऐसे लोगों ने टैक्स जमा नहीं कराया है। बकायेदारों में स्कूल, होटल, मैरिज हॉल, मंदिर में बनी दुकाने, कॉमर्शियल व सरकारी भवन शामिल है। इसमें कुछ ऐसे संस्थान भी जो लंबे समय से टैक्स जमा नहीं कराया हुआ है और लाखों रुपये बकाया है। नप के अनुसार हाल में कुछ सरकारी विभागों ने टैक्स जमा कराया है। छोटे लोग टैक्स जमा करा रहे हैं लेकिन बड़े बकाएदार इसे लेकर गंभीर नहीं है। इससे नप को अपने कर्मचारियों को वेतन देने मेें भी परेशानी हो रही है। नप का हर माह करीब एक करोड़ रुपये का खर्च है।
विकास कार्य होते हैं प्रभावित
नप विकास कार्यो को लेकर पूरी तरह से सरकार पर निर्भर है। टैक्स कलेक्शन होने से नप को छोटे कार्य स्थानीय स्तर पर कराने में मदद मिलती है। हाउस टैक्स वसूली की गति कमजोर होने से नप को कार्य कराने में परेशानी हो रही है। नप को स्ट्रीट लाइटें व वाहनों की रिपेयर जैसे छोटे-छोटे कार्यों के लिए परेशानी होती है। इसका असर साफ-सफाई जैसे कार्यों पर भी पड़ता है।
बड़े बकायेदारों की फाइनल नोटिस भेजी जा चुकी है। प्रॉपर्टी सील करने का अधिकार नप के पास नहीं है। इन पर पर कार्रवाई के लिए डीसी से अनुमति मांगी गई है। इसके बाद ही ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जा सकती है। नगर परिषद टैक्स वसूली पर ध्यान दे रहा है। नोटिस के बाद कुछ लोगों से टैक्स जमा कराया है।
- अभय सिंह, ईओ नप नारनौल
मेरे पास भी सीधे अधिकार नहीं : डीसी
मीडिया सेंटर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में अमर उजाला ने डीसी जगदीश शर्मा से नप के बकायेदारों के बारे में सवाल किया कि ऐसे लोगों पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। बकायेदारों में सरकारी विभाग भी शामिल हैं। इस पर डीसी ने कहा कि सरकारी संस्थानों पर बकाये पैसे को लेकर संबंधित विभागों से जमा कराने को कहा गया है। इसके लिए सभी ने अपने विभागों से पैसे मांगे हैं। डीसी कार्यालय पर भी पैसे बकाये हैं। इसके लिए भी पैसे सरकार से मांगे गए हैं। जहां तक प्रॉपर्टी सीलिंग की बात है, वास्तव में यह अधिकार मेरे पास भी सीधे नहीं है। नगर निगमों के पास यह निजी प्रॉपर्टी सील करने अधिकार होता है। बकायेदारों पर क्या कार्रवाई हो सकती है, इसके बारे में विचार हो रहा है। जिससे निजी संस्थानों से पैसे वसूले जा सके।
प्रमुख बकायेदार
बिजली निगम सिंघाना रोड 1852499 रुपये
डीडीपीओ आफिस पंचायत भवन 5768168 रुपये
डीसी कार्यालय नारनौल 5681848 रुपये
डीआरडी कार्यालय 4464824 रुपये
पुलिस लाइन 3567560 रुपये
टीवी टावर 607672 रुपये
सीएल स्कूल हुडा 6360954 रुपये
अपार होटल रेवाड़ी रोड 531768 रुपये
एसडी एजुकेशन पुल बाजार 690479 रुपये
भारती स्कूल 2252000 रुपये
सिटी मैरिज प्लेस 8641184 रुपये
शहर में प्रॉपर्टीज
व्यावसायिक - 08 हजार
आवासीय - 23 हजार
खाली प्लॉट - 07 हजार
कुल- 38 हजार प्रॉपर्टी
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us