विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

रोहतकः एसटीएफ ने भारी मात्रा में चरस की बरामद, एक आरोपी गिरफ्तार, दो फरार

एसटीएफ द्वारा नशा तस्करों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत कार्य करते हुए प्राप्त मुखबरी के आधार पर यह कार्रवाई की गई।

27 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रेवाड़ी

सोमवार, 27 जनवरी 2020

इयरफोन लगाकर रेलवे ट्रैक पार कर रहे युवक की ट्रेन की चपेट में आने से मौत

रेवाड़ी-जयपुर रेलमार्ग पर रूध गांव के पास एक युवक की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। युवक कानों में इयरफोन लगाकर पैदल ट्रैक पार कर रहा था। सूचना के बाद मौके पर पहुंची जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखा दिया है।
जीआरपी में तैनात एसआई नरेश कुमार ने बताया कि 24 वर्षीय वेस्ट बंगाल के पश्चिम मदिना जिले के गांव कुलिया निवासी अनघुसमान बावल स्थित एक कंपनी में काम करता था। बुधवार को वह जयपुर-दिल्ली रेलवे ट्रैक पर कानों में इयरफोन लगाकर गाना सुनते हुए जा रहा था। इसी दौरान वह ट्रेन की चपेट में आ गया। हादसे की सूचना के बाद जीआरपी मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

छात्र की उपचार के दौरान मौत, परिजनों ने चिकित्सक पर लगाया लापरवाही का आरोप

सड़क दुर्घटना के बाद शहर के निजी अस्पताल में उपचार के दौरान एक जेबीटी छात्र करीब 21 वर्षीय संजीत की मौत के बाद परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया और शव लेने से इनकार कर दिया। परिजन चिकित्सकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने पर अड़े रहे, सूूचना के बाद मौके पर भारी पुलिस बल के अलावा प्रशासनिक अमला भी पहुंच गया। पुलिस के तमाम प्रयासों के बावजूद परिजन अपनी मांग से पीछे नहीं हटे, देर रात तक अस्पताल परिसर में हंगामा चलता रहा। बता दें कि संजीत की 27 फरवरी को शादी होनी थी।
जानकारी के अनुसार राजस्थान के अलवर जिले के गांव मसवासी निवासी 21 वर्षीय संजीत बावल के एक कॉलेज में जेबीटी का छात्र था। मंगलवार सुबह करीब 10 बजे अपने साथी के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर कॉलेज जा रहा था। गांव भगाना के निकट सामने से आ रही एक स्कूल बस के चालक ने उनकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी, जिससे दोनों युवक घायल हो गए थे। परिजनों ने संजीत को उपचार के लिए शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उपचार के दौरान शाम के समय उसकी मौत हो गई।
परिजनों का आरोप है कि भर्ती कराने के बाद काफी देर तक संजीत को देखने के लिए डाक्टर नहीं पहुंचा। उन्होंने डाक्टर से रेफर करने के लिए भी कहा, लेकिन डाक्टर ने न संजीत को रेफर किया और न सही उपचार किया। डाक्टर की लापरवाही के कारण उसकी मौत हो गई। उन्होंने डाक्टर के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की। अस्पताल में पुलिस बल की तैनाती की गई है।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व डीएसपी सहित पुलिस बल रहा तैनात
युवक की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू किया तो अस्पताल प्रबंधन की ओर से पुलिस को सूचना दी गई। हंगामा करने व शव न लेने की सूचना के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पूजा वशिष्ठ, डीएसपी जय सिंह, मॉडल टाउन थाना एसएचओ बिजेंद्र, तहसीलदार मनमोहन सिंह, नायब तहसीलदार कृष्ण कुमार, नागरिक अस्पताल से डॉ. टीसी तंवर व डॉ. लाल सिंह भी अस्पताल पहुंच गए।
खुशियों से पहले घर में पसरा मातम
परिजनों ने बताया कि संजीत चार भाई-बहनों में सबसे बड़ा था। आगामी 27 फरवरी को संजीत की शादी होनी थी। इसके अतिरिक्त उनकी दो बहनों की शादी 25 फरवरी को होनी तय है। संजीत की मौत से शादी की खुशियां मातम में बदल गई।
मामले की कर रहे जाच : डीएसपी
डीएसपी जयसिंह ने बताया कि शिकायत ले ली गई है, मामले की जांच की जा रही है। परिजनों ने शव लेने से मना कर दिया है, ऐसे में शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में रखवा दिया गया है। बुधवार को बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने के बाद रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोपी गिरफ्तार

धारूहेड़ा के सेक्टर-6 थाना पुलिस ने नई दिल्ली निवासी एक महिला को शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान पानीपत के इसराना निवासी अमित कुमार के रूप में हुई है। सेक्टर-6 थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि नई दिल्ली निवासी एक महिला ने पुलिस को दी शिकायत में अमित पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। पुलिस को दी शिकायत में महिला ने कहा था कि उसकी मुलाकात अमित से फेसबुक के जरिए हुई थी। जुलाई 2019 में उसने उसे शादी का झांसा दिया और वह उससे बातें करने लग गई। अगस्त 2019 में आरोपी ने उसे फोन करके गुरुग्राम बुला लिया और फिर वह धारूहेड़ा के सेक्टर-6 स्थित एक घर में ले गया। इस घर में अमित किराए पर रहता था। वहां उसे नाश्ते में नशीला पदार्थ खिला दिया और उसके साथ दुष्कर्म किया।
पीड़िता ने आरोप लगाया था कि अमित ने उसकी अश्लील वीडियो भी बनाई ली और उसे ब्लैकमेल करने लगा। बाद में उसने शादी करने से भी मना कर दिया। साथ ही किसी को बताने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी। परेशान होकर पीड़िता ने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई। सेक्टर-6 थाना पुलिस ने दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर सोमवार देर शाम आरोपी अमित को गिरफ्तार कर लिया।
... और पढ़ें

उपायुक्त यशेंद्र सिंह स्टेट बेस्ट इलैक्ट्रोरल प्रैक्टिस अवार्ड 2020 से सम्मानित

भारत निर्वाचन आयोग की नियमावली के अनुसार जिला रेवाड़ी में गत वर्ष हुए हरियाणा विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से सफलतापूर्वक समपन्न करवाने के लिए शनिवार को पंचकूला में हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी यशेन्द्र सिंह को स्टेट बेस्ट इलैक्ट्रोरल प्रैक्टिस अवार्ड 2020 से सम्मानित किया है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर 25 जनवरी को पंचकूला में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह में उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी यशेन्द्र सिंह को यह अवार्ड दिया गया। जबकि रिटर्निंग अधिकारी की श्रेणी में एसडीएम रेवाड़ी रविंद्र यादव को रेवाड़ी विधानसभा क्षेत्र -74 के लिए बतौर रिटर्निंग अधिकारी स्टेट बेस्ट इलैक्ट्रोरल प्रैक्टिस अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया गया।
- डीसी बोले मेरा नहीं जिला को मिला ये सम्मान
पंचकूला में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित होने के बाद डीसी यशेंद्र सिंह ने कहा कि ये सम्मान व्यक्ति विशेष की बजाय जिला के लिए सम्मान है। सभी के सहयोग के चलते ही प्रदेश में जिला को पहला स्थान मिला है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष हुए हरियाणा विधानसभा चुनाव की सम्पूर्ण चुनावी प्रक्रिया को स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण व सुव्यवस्थित ढंग से कराने के लिए हर संभव प्रयास किए गए थे, उसमें सफलता मिली।
... और पढ़ें
dc dc

रेवाड़ी के 17 लापरवाह अधिकारियों पर डीसी ने की कार्रवाई

सीएम विंडो की समीक्षा बैठक में देरी से पहुंचने तथा गैर हाजिर रहने पर उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने 17 अधिकारियों पर र्कारवाई करते हुए एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा इन सभी अधिकारियों से पांच दिन में जवाब मांगा है। जवाब संतोषजनक नहीं पाया गया तो सभी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
डीसी यशेंद्र सिंह ने शुक्रवार को सीएम विंडो कार्यक्रम की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई थी। इस बैठक में कई अधिकारी तय समय पर नहीं पहुंच सके। जबकि कई अधिकारी बैठक में पहुंचे नहीं। जिससे नाराज होकर डीसी ने इन अधिकारियों पर कार्रवाई के आदेश दिए।
बैठक में एआरसीएस , बीडीपीओ खोल , सीएससी डीएम, डीएसडब्लूओ, एलडीएम , जिला खनन अधिकारी, नायब तहसीलदार डहीना , न्यू इंडिया इंशोरेंस मैनेजर, नायब तहसीलदार नाहड़, रेडक्रास सचिव, तहसीलदार बावल , बिजली विभाग कोसली के कार्यकारी अभियंता, मार्केटिंग बोर्ड के कार्यकारी अभियंता , बीएंडआर के कार्यकारी अभियंता , धारूहेड़ा नगर परिषद के सचिव, धारूहेड़ा बिजली विभाग के कार्यकारी अभियंता, पब्लिक हेल्थ के कार्यकारी अभियंता का एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। इसके अलावा स्पष्टीकरण जारी करते हुए 29 जनवरी तक स्पष्टीकरण मांगा हैं।
डीसी ने कहाकि संतोषजनक जवाब न मिलने पर इन अधिकारियों के विरूद्घ अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए राज्य सरकार को लिखा जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि प्रशासन का दायित्व है कि शासन द्वारा तय की गई नीतियों की अनुपालना तय समय पर हो। जिला में कार्यरत सरकारी विभागों में इस तरह की ढ़िलाई व कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।
... और पढ़ें

लायंस भवन में रक्तदान शिविर आज

अमर उजाला फाउंडेशन व लायंस क्लब द्वारा बार एसोसिएशन रेवाड़ी के सहयोग से शनिवार सुबह 10 बजे मॉडल टाउन स्थित लायंस भवन में रक्तदान शिविर लगेगा। लायंस क्लब के प्रधान आलोक सिंघल ने बताया कि शिविर का शुभारंभ सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल व विधायक लक्ष्मण यादव करेंगे। इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार बतौर विशिष्ट अतिथि व बार एसोसिएशन के प्रधान सुधीर यादव मौजूद रहेंगे।
डॉ. नीतू सिंह के अनुसार एक सामान्य व्यक्ति के शरीर में 10 यूनिट (5-6 लीटर) रक्त होता है। जबकि रक्तदान में महज एक यूनिट रक्त ही लिया जाता है। एक बार रक्तदान करने से चार लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है। चिकित्सकों के अनुसार 18 से 60 वर्ष की आयु तक का कोई भी व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। रक्तदाता का वजन, रक्तचाप, शरीर का तापमान आदि सामान्य पाए जाने पर ही रक्तदान किया जा सकता है। पुरुष 3 महीने और महिलाएं 4 महीने के अंतराल में नियमित रक्तदान कर सकती हैं। रक्तदान से हार्ट अटैक, मधुमेह, कैंसर जैसी बीमारियाें की आशंका कम होती है।
... और पढ़ें

आम लोगों के हित में काम कर रही सरकार- मूलचंद्र शर्मा

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार आमलोगों के हित में पूरी क्षमता के साथ काम कर रही है। रोडवेज विभाग जल्द ही एक हजार नई बसें खरीदेगा। हरियाणा में सभी मार्गों पर बस चलाने के लिए लगभग 12 हजार बसों की जरूरत है। एक अप्रैल से यूरो-6 बसें आवश्यक हो जाएंगी। उसके बाद ही बसों की खरीद के लिए राज्य परिवहन ऑर्डर जारी करेगा।
रेवाड़ी शहर के सेक्टर-12 स्थित रामगढ़-भगवानपुर रोड पर प्रस्तावित नए बस स्टैंड का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोर्ट का मामला खत्म हो चुका है, ऐसे में लोगों की सुविधाओं को देखते हुए जल्द ही कार्य शुरू कराया जाएगा।
बता दें कि 9 जनवरी को ही भूमि मालिकों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में डाली गई याचिका को खारिज कर दिया गया था। ऐसे में अब शहर को जल्द ही नया बस स्टैंड मिलने की उम्मीद बढ़ गई है। इससे पहले शुक्रवार को परिवहन मंत्री ने विधायक लक्ष्मण सिंह यादव के कार्यालय में तीनों मंडल के कार्यकर्ताओं की बैठक भी ली। मंत्री ने भाजपा प्रदेश प्रवक्ता वीर कुमार यादव के आवास पर भी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस दौरान विधायक लक्ष्मण सिंह यादव ने कहा किकार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र पालीवाल ने की।
... और पढ़ें

अवैध प्लॉटिंग रोकना पड़ा भारी, डीटीपी निलंबित

भाजपा की बैठक में परिवहन मंत्री मूलचंद्र शर्मा व अन्य।
जिला नगर योजनाकार (डीटीपी) मनीष यादव को कंट्री एवं टाउन प्लानिंग विभाग ने निलंबित कर दिया है। बताया जा रहा है कि जिले में अवैध रूप से प्लॉटिंग करने वाले कॉलोनाइजर पर शिकंजा कसने के बाद एक लॉबी उनके खिलाफ काम कर रही थी। जानकारों ने बताया कि डीटीपी की ओर से बीते दिनों में धारूहेड़ा, बावल व शहर में कई कॉलोनाइजर के खिलाफ मुकदमे दर्ज कराए गए। उनमें कुछ लोग रसूकदार बताए जा रहे हैं।
बता दें कि कुछ दिनों पहले शहर में अवैध रूप से टुकड़ों में जमीन पंजीकरण का मुद्दा भी उठा था। इसके बाद डीटीपी की ओर से जिले में कई स्थानों पर चल रही अवैध प्लॉटिंग वाले स्थलों पर चेतावनी बोर्ड भी लगवा दिए गए थे। बता दें कि जिले में दिल्ली रोड, गढ़ी बोलनी रोड, नारनौल रोड, बावल रोड, बावल, धारूहेड़ा में अवैध रूप से प्लॉटिंग की जा रही है। बीते दिनों कष्ट निवारण समिति की बैठक में राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव के सामने अवैध प्लॉटिंग का मुद्दा उठाया गया था। करीब एक साल पहले भी कोसली के पूर्व विधायक की ओर से मुद्दा उठाया गया था।
... और पढ़ें

प्राणपुर-झाबुआ मार्ग पर रोडवेज बस चलाने के लिए आज से होगा सर्वे

राजस्थान सीमा से लगते प्राणपुरा व झाबुआ मार्ग पर रोडवेज बस सेवा न होने से यहां के विद्यार्थियों को ऑटो पर लटकर स्कूल पहुंचना पड़ता है। पिछले दस वर्षों से समस्या जस की तस बनी हुई है। इस समस्या को अमर उजाला के प्रकाशित करने के बाद गुरुवार को इन गांवों के ग्रामीणों व सामाजिक संगठनों ने रोडवेज जीएम को ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व बुधवार को छात्र संगठनों ने भी इस समस्या की बाबत रोडवेज जीएम को ज्ञापन सौंपा था।
ग्राम पंचायत झाबुआ के ग्रामीणों ने बताया कि गांव से सैकड़ों की संख्या में शिक्षा ग्रहण करने के लिए छात्राएं एवं विद्यार्थी बावल आते हैं। गांव से बावल के लिए राज्य परिवहन की बस सुविधा नहीं होने से छात्राओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बसों के अभाव के कारण छात्राओं को शिक्षण में परेशानी आ रही हैं। झाबुआ से बावल तक बस सेवा शुरू होने से इस रूट पर पड़ने वाले 8 गांवों की छात्राओं एवं विद्यार्थियों को इसका लाभ मिलेगा। ज्ञापन के माध्यम से झाबुआ से वाया दुल्हेड़ा कलां, दुल्हेड़ा खुर्द, नंगली परसापुर चौक से बावल रूट पर सुबह 8 बजे, दोपहर 2 बजे व शाम को 5 बजे आवागमन सुविधा की सुविधा के लिए बस संचालन की मांग की गई। वहीं गांव बाधोज से खिजूरी, बीदावास, नंगली परसापुर होते हुए बावल के लिए राज्य परिवहन बस सेवा शुरू करने की मांग की गई। ज्ञापन सौंपने वालों में सुबेदार रामचंद्र टीकला, जीतरामलौर, सरजीत सिंह, मनफूल, रणधीर, सतेंद्र खिजूरी, मीरसिंह, धर्मपाल, सरदारा, भरत, झम्मनलाल सतबीर, हुकम सिंह नंबरदार, रणसिंह, बिजेंद्र व अन्य ग्रामीण शामिल रहे।
आज और कल सर्वे कराएगा रोडवेज
राज्य परिवहन रेवाड़ी डिपो के महा प्रबंधक नवीन कुमार भारद्वाज ने बताया कि संबंधित मार्ग द्वारा सर्वे शुरू करवा दिया गया है। शुक्रवार व शनिवार को सर्वे पूरा कर लिया जाएगा । इसके बाद बस सेवा शुरू होने की पूरी संभावना है। जीएम ने बताया कि सर्वे में कहां से कहां तक बस सेवा शुरू करनी है इसके लिए रूट पर पड़ने वाले बस स्टैंड व गांवों आदि का निरीक्षण किया जाएगा। इसके बाद रूट मैप तैयार कर बस सेवा शुरू की जाएगी।
... और पढ़ें

कल डीसी को मिलेगा बेस्ट निर्वाचन अधिकारी का अवार्ड

विधान सभा चुनावों में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी यशेंद्र सिंह व एसडीएम रविंद्र यादव को बतौर रिटर्निंग अधिकारी को बेस्ट स्टेट इलेक्ट्रोरल प्रैक्टिस अवार्ड के लिए चयनित किया गया है। पंचकूला में राष्ट्रीय मतदाता दिवस के मौके पर 25 जनवरी को राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य इनको सम्मानित करेंगे।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव के दौरान इस बार निर्वाचन आयोग ने पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं को पत्र भेजकर मतदान के लिए प्रेरित किया था। मॉडल बूथ व आल वूमेन मैनेज्ड बूथ स्थापित किए गए । यह नया प्रयोग सफल रहा और बड़ी संख्या में युवाओं ने बढ़-चढ़ कर मतदान में हिस्सा लिया। स्वीप कार्यक्रम के तहत सोशल मीडिया व सूचना प्रौद्योगिकी का मतदाता जागरूकता अभियान में बेहतरीन तरीके से उपयोग करने , मतदान केंद्र व्यवस्था, सुचारु संचार व्यवस्था, सुरक्षा के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यो के लिए स्टेट बेस्ट जिला निर्वाचन अधिकारी के रूप में चयनित किया गया है।
... और पढ़ें

अवैध प्लाटिंग साइटों के पास डीटीपी ने लगाया चेतावनी बोर्ड

जिला नगर योजनाकार विभाग की ओर से शहर के अलावा धारूहेड़ा, कोसली व बावल सहित 20 से अधिक स्थानों पर चेतावनी बोर्ड लगवाए गए हैं। आम लोगों को कॉलोनाइजर के चंगुल से बचाने के लिए नगर योजनाकार विभाग की ओर से शहर के रेवाड़ी-रामगढ़ रोड, महेंद्रगढ़ रोड, बेरली रोड, बावल, धारूहेड़ा 75 मीटर चौड़ा रोड, महेश्वरी, जोनियावास, अलावलपुर, प्राणपुरा रोड, नैचाना रोड, बनीपुर चौक, असाई चौक सहित 20 से अधिक स्थानों पर अवैध रूप से प्लॉटिंग की सूचना के बाद चेेतावनी बोड लगवाए गए हैं। विभाग का कहना है कि नियंत्रित क्षेत्र में प्लाटिंग कर लोगों को फंसाया जा रहा है, एक प्लाट कई लोगों को बेच दिया जाता है। बाद में लोग कोर्ट के चक्कर काटते रहते हैं, ऐसे में खरीद-फरोख्त करने से पहले पूरी जानकारी जरूर जुटाएं।
बेचने व खरीदने वाले दोनों पर होगा मुकदमा दर्ज : डीटीपी
डीटीपी मनीष यादव ने बताया कि नियंत्रित क्षेत्र में प्लॉटिंग करने से पहले नगर योजनाकार विभाग से अनुमति लेना जरूरी है। जिला में 10 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं, अब बेचने वालों के साथ खरीदने वाले पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा। डीटीपी ने बताया कि हरियाणा शहरी अधिनियम के तहत तीन साल तक सजा का प्रावधान है। ऐस में लोग इस तरह की अवैध कॉलोनियों में प्लॉट खरीदने से बचें। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को चिन्हित किया जा रहा है, जल्द ही बड़ी संख्या में मुकदमे दर्ज कराए जाएंगे।
... और पढ़ें

फब्तियों के आरोपों के बाद जागा शिक्षा विभाग, गांव में पहुंचकर डीईओ छात्राओं को बस में बैठाकर लाए साथ,

गांव राजावास से मस्तापुर तक दो किमी. की दूरी के दौरान छात्राओं की ओर से छींटाकशी के आरोप के बाद वीरवार सुबह के समय जिला शिक्षा अधिकारी मुकेश यादव गांव राजावास में एक बस लेकर पहुंचे और वहां से छात्राओं को सुरक्षा की गांरटी देते छात्राओं के साथ बस में सवार मस्तापुर सीनयिर सेकेंडरी स्कूूल पहुंचे। इतना नहीं मस्तापुर, राजावास, टहना शादीपुर, नया टहना सहित करीब पांच गांव की पंयातय में बेटियों की सुरक्षा देने का जिम्मा लिया। वीरवार सुबह मस्तापुर के सीनियर सेकेंडरी स्कूल के खेल मैदान में पंचायत कर सभी विवाद निपटाए गए। इस दौरान शिक्षा विभाग से लेकर भारी पुलिस बल तैनात रहा। बता दें कि बुधवार को गांव राजवास के ग्रामीणों ने गांव की छात्राओं को मस्तापुर स्थित स्कूल में भेजने से मना कर दिया था और मस्तापुर के सामाजिक बहिष्कार की भी चेतावनी दी थी। डीईओ का कहना है कि छात्राओं के लिए बस लगा दी गई है, अब हर रोज छात्राएं बस से आवाजाही करेंगी।
राजावास से हर रोज दो किमी. की पैदल यात्रा कर पहुंचती थी 31 छात्राएं
गांव मस्तापुर स्थित शहीद के नाम से बनाया गया सीनियर सेकेंडरी स्कूल में करीब 200 विद्यार्थी हैं। यहां पर कक्षा 6 से लेकर 12 वीं तक साइंस, कामर्स व आर्ट्स की पढ़ाई के लिए सुविधा मौजूद है। 200 विद्यार्थियों में करीब 40 को छोड़ दिया जाए तो 160 विद्यार्थी आसपास के पांच गांव से पढ़ने आते हैं, इनमें छात्राओं की संख्या सर्वाधिक है। इसी कड़ी में गांव राजवास से भी करीब 31 छात्राएं हर रोज दो किमी. पैदल यात्रा कर गांव मस्तापुर स्कूल पहुंचती थी। छात्राओं के आरोप हैं कि रास्ते में बैठे मनचले उन फब्तियां कसते थे। इसके चलते उनको परेशानी का सामना करना पड़ता था। छात्राओं ने वीरवार को कहा कि स्कूूल में अच्छी पढ़ाई होती है, लेकिन रास्ते से परेशानी होती है, लेकिन वीरवार को प्रशासन व पंचायत के आश्वासन के बाद शायद अब इस तरह से नहीं होगा।
स्कूल में तीन प्रवक्ता की कमेटी की गई गठित
मस्तापुर स्कूल के प्रिंसिपल विक्रम सिंह ने बताया कि छात्राओं में असुरक्षा की भावना को दूर करने के लिए दो सीनियर महिला अध्यापकों के साथ तीन टीचर की एक कमेटी गठित की गई। कमेटी के सदस्य बस में सुबह के समय बस में छात्राओं के साथ आएंगे और छुट्टी के समय उनके साथ जाएंगे। वीरवार को स्कूूल में बाल संरक्षण समिति के सदस्य भी पहुंचे थे, उनकी ओर से भी छात्राओं की काउंसलिंग की गई।
मस्तापुर को बदनाम करने की कोशिश, बच्चियों की सुरक्षा का जिम्मा हमारा: सरपंच
गांव मस्तापुर के सरपंच सतबीर ने बताया कि कुछ लोगों की ओर से गांव मस्तापुर को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। बच्चियों की सुरक्षा का जिम्मा पहले भी था और आगे भी रहेगा। पांच गांव की पंचायत में वीरवार को सुरक्षा का जिम्मा लिया गया। मस्तापुर की पंचायत हमेशा सहयोग के लिए तैयार है।
छात्राओं के लिए प्रतिदिन चलेगी बस: डीईओ
डीईओ मुकेश यादव ने बताया कि बुधवार को राजवास की पंचायत की शिकायत लेकर पहुंची थी। वीरवार को सुबह के समय गांव में बस उपलब्ध कराई गई थी, अब प्रतिदिन छात्राओं को बस स्कूल से गांव तक लेकर व छोड़कर आएगी।
... और पढ़ें

शहर की आबादी छह गुना बढ़ी पर सीवर लाइन नहीं बदली

तीन साल पहले अमृत योजना के तहत 28 करोड़ रुपये खर्च कर शहर के सीवरेज सिस्टम के कायाकल्प का दावा ढेर हो गया। इतने कम समय में ही शहर का सीवर सिस्टम अलग-अलग स्थानों पर ओवरफ्लो हो रहा है। मॉडल टाउन, कंपनी बाग और सरकुलर रोड जैसे शहर के प्रमुख मोहल्लों समेत अधिकांश स्थानों पर सीवर लाइन ओवर फ्लो होने की समस्या से लोग परेशान हैं। ऐसे में नगर में बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाले विभागों के अधिकारियों की कारगुजारी का अंदाजा लगाया जा सकता है।
मालूम हो कि वर्ष 2016 में शहर को सीवर ओवरफ्लो की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए अमृत योजना के तहत 28 करोड़ खर्च किए गए। जबकि बीते छह माह से शहर में सीवर ओवरफ्लो की समस्या फिर पैदा हो गई। मॉडल टाऊन से लेकर कंपनी बाग हो या फिर सरकुलर रोड के अंदर का शहर सभी जगह सीवर ओवरफ्लो की की समस्या एक जैसी है। कर्मचारी शिकायत के बाद लाइन को चलाते हैं, लेकिन एक दिन छोड़कर दूसरे दिन फिर पहले जैसे हालात हो जाते हैं।
क्यों होता है सीवर ओवर फ्लो
शहर में 40 साल पहले नगरीय क्षेत्र की आबादी 30 हजार थी। उस दौरान सीवरेज सिस्टम की योजना बनाते समय 6 इंच की ईंट से बनी सीवर लाइन डाली गई थी। इसके मुकाबले अब नगरीय क्षेत्र की आबादी बढ़कर दो लाख को पार कर चुकी है जबकि सीवर लाइन आज भी 6 इंच ही है। वहीं, दूसरी ओर लाइन पुरानी होने के सीवर लाइन की ईंटें गिर रही है। जिससे सीवर लाइन अक्सर कई स्थानों पर चोक हो जाती हैं। जिसके चलते सीवर ओवरफ्लो की समस्या रहती है। जानकारों का कहना है कि कम से कम 12 इंच की लाइन डाली जाए तो इस समस्या से राहत मिल सकती है।
सीवर लाइन के रखरखाव में खर्च होते हैं चार करोड़ खर्च
नए व पुराने शहर में कुल 524 किमी. लंबी सीवर लाइन है। वर्ष 2018 से लेकर 2019 तक इसके रख रखाव के नाम पर ही चार करोड़ रुपये खर्च हो गए है। पब्लिक हेल्थ विभाग की माने तो अमृत योजना के तहत 28 करोड़ रुपये केवल बाहरी कॉलोनियों में खर्च किए जा रहे हैं। इसके अलावा शहर के अंदर की करीब 10 किमी. सीवर लाइन को बदल दिया जाए तो हालात सुधर सकते हैं।
नगर परिषद व जन स्वास्थ्य विभाग में समन्वय ही नहीं
जन स्वास्थ्य विभाग की माने तो शहर में नगर परिषद की ओर से गली आदि बनाने के काम के दौरान सीवर लाइन को तोड़ दिया जाता है, इसके चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा गैस पाइल लाइन हो या फिर अन्य काम पेयजल व सीवर लाइन को नुकसान जरूर पहुंचता है। यदि नगर परिषद अधिकारी इस दौरान जनस्वास्थ्य विभाग को जानकारी देकर काम करे तो परेशानी से बचा जा सकता है।
इन इलाकों में सबसे ज्यादा परेशानी
शहर के सबसे पॉश व्यवसायिक व रिहायशी क्षेत्र में मॉडल टाउन व ब्रॉस मार्केट शामिल हैं। यहां सीवर की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। मॉडल टाउन में नागपाल साउंड व सेल्सटैक्स दफ्तर वाली गली से लेकर महाराणा प्रताप चौक के पास वाली रोड पर हर दूसरे दिन लोगों को सीवर ओवरफ्लो की समस्या झेलनी पड़ती है। ब्रॉस मार्केट में तो स्थाई रूप से सीवर ओवरफ्लो की समस्या रहती है। कंपनी बाग में भी सीवर ओवरफ्लो की समस्या है। यहां के लोगों की ओर से कई बार इसके लिए जन स्वास्थ्य विभाग से लेकर डीसी व विधायक तक को शिकायत दी जा चुकी है, लेकिन समाधान नहीं हो पाया है। जन स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि मंडी प्रशासन की ओर से मोटर चलाकर पानी कंपनी बाग वाली लाइन में डाल दिया जाता है, इससे परेशानी रहती है। मंडी को मुख्य लाइन में अपना पानी डालना चाहिए।
अमृत योजना के तहत काम चल रहा है। पुरानी सीवर लाइनें भी बदली जाएंगी। सीवर ओवरफ्लो की समस्या क्यों बढ़ रही हैं, इसकी जांच कराई जाएगी। किसी की लापरवाही पाई गई तो कार्रवाई की जाएगी।
- बीएस भंकर, एसई, पब्लिक हेल्थ रेवाड़ी सर्किल
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us