विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाणा के मंत्री कंवर पाल बोले- हम भगवाकरण करने आए, जिन्हें आपत्ति वे करते रहे

हरियाणा के मंत्री कंवर पाल ने कहा कि कुछ लोगों के पास भगवाकरण का मुद्दा है।

27 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रोहतक

सोमवार, 27 जनवरी 2020

अवैध कालोनियां काटने वालों के साथ प्लाट खरीदने वालों पर भी होगा मामला दर्ज

मयंक तिवारी
रोहतक। जिला नगर योजनाकार विभाग अवैध कालोनी काटने वालेे भू माफियाओं के अलावा इन जगहों पर प्लाट खरीदने वालों पर भी कार्रवाई करने की तैयारी कर ली है। अधिकारियों का कहना है कि अवैध कालोनी काटने वालों के साथ-साथ अब यहां प्लाट खरीदने वालों पर भी मामला दर्ज करवाकर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न स्थानों पर चेतावनी बोर्ड लगवा दिए गए हैं और तहसीलदार को इन स्थानों की रजिस्ट्री न करने के लिए पत्र लिखा है।
शहर में 47 अवैध कालोनियों को चिह्नित करते हुए जिला नगर योजनाकार विभाग ने पुलिस को एफआईआर दर्ज कराने के लिए पत्र लिखा है। इसमें से 29 मामलों में प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है। विभाग अज्ञान लोगों को भू माफियाओं के चक्कर से बचाने के लिए इन जगहों पर चेतावनी बोर्ड भी लगवा रहा है, ताकि कोई इनके झांसे में न आए। चेतावनी बोर्ड के माध्यम से लोगों को अवैध क्षेत्र में प्लाट न खरीदने की चेतावनी दी जा रही है। विभाग की ओर से पहली बार ऐसा हो रहा है कि प्लाट खरीदने वालों को भी चेतावनी दी जा रही है कि अगर उन्होंने अवैध कालोनी में प्लाट खरीदकर मकान बनाया तो उनके खिलाफ भी मामला दर्ज कराया जाएगा। जिला नगर योजनाकार विभाग के सर्वे के अनुसार शहर और सांपला क्षेत्र में अक्तूबर, नवंबर और दिसंबर माह में 47 अवैध कालोनियां काटी गई हैं। विभाग की ओर से सभी भूमि मालिकों के खसरा नंबर के आधार पर वहां पर होने वाली रजिस्ट्री पर पूरी तरह से रोक लगाने का कहा गया है।
ऐसे पता कर सकते हैं जमीन वैध या अवैध
यदि कोई व्यक्ति किसी स्थान पर प्लाट या मकान खरीदता है तो उसे सबसे पहले जिला नगर योजनाकार विभाग के कार्यालय से संपर्क करना चाहिए, जहां पर उसे जमीन पर कट रही कालोनी के वैध या अवैध होने की जानकारी दी जाएगी। डीटीपी ने लोगों से अपील की है कि किसी भी खरीदारी से पहले वे रोहतक जिला नगर योजनाकार कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।
जगह-जगह लगा दिए हैं बोर्ड
अवैध कालोनी को रोकने के लिए जगह-जगह चेतावनी बोर्ड लगवाए जा रहे हैं। अवैध कालोनी काटने वाले भू माफियाओं के साथ वहां प्लाट खरीदने वालों पर भी मामला दर्ज कराया जाएगा। विभाग ने पुलिस को भी एफआईआर दर्ज करने को कहा है और साथ ही तहसीलदार को इन क्षेत्रों में रजिस्ट्री न करने के लिए कहा गया है।
- मनदीप सिहाग, डीटीपी, रोहतक
... और पढ़ें

एमडीयू फैकल्टी क्लब की अध्यक्ष बनीं डॉ. सुप्रीति

रोहतक। एमडीयू फैकल्टी क्लब को वीरवार शाम डॉ. सुप्रीति के रूप में नई अध्यक्ष मिल गई है। चुनाव में पोल हुए 313 में से 165 वोट लेकर वे विजयी रही। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी डॉ. जितेंद्र को 143 वोट मिले। कुल पांच वोट रद्द हुए। इनमें से एक पर दो टिक, एक पर नोटा व तीन पर क्रॉस के निशान मिले।
चुनाव अधिकारी यूआईईटी निदेशक डॉ. राहुल रिषि ने बताया कि वीरवार को सुबह साढ़े नौ बजे मतदान प्रक्रिया शुरू हुई। शाम चार बजे तक 375 में 313 वोट पोल हुए। इनमें से पांच वोट रद्द हो गए। शेष 308 में डॉ. प्रीति को 165 व डॉ. जितेंद्र को 143 वोट मिले। शाम को मतगणना के बाद विजयी प्रत्याशी की घोषणा कर दी गई। एमडीयू शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. विकास सिवाच ने बताया कि हमारा पैनल फैकल्टी चुनाव में विजयी रहा। डॉ. सुप्रीति को उनके प्रतिद्वंद्वी से 22 वोट अधिक मिली है।
... और पढ़ें

34 लाख की हेरोइन समेत पांच युवक काबू, नशा करने के लिए नौकरी छोड़ तस्कर बन गया बीटेक पास युवक

रोहतक। सीआईए टू ने तीन अलग-अलग जगहों पर नाकाबंदी कर हेरोइन सहित पांच युवकों को काबू किया है। सभी पांचों आरोपियों से 342 ग्राम हेरोइन बरामद हुई, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 34 लाख रुपये से ज्यादा है। गिरफ्तार आरोपियों में से दो को वीरवार को कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया। एक आरोपी को एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया, जबकि दो आरोपियों को पुलिस शुक्रवार को कोर्ट में पेश करेगी।
आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि दोस्तों ने पहली बार उन्हें नशा करने के लिए उकसाया। धीरे धीरे नशे की लत लग गई। नशा बहुत महंगा था। इसकी लत और खर्चा पूरा करने के लिए नौकरी छोड़ कर मादक तस्करी का धंधा अपना लिया।
बीटेक पास युवक नौकरी छोड़ जुड़ा नशा तस्करी से
सीआईए टू प्रभारी आजाद सिंह ने बताया कि 22 जनवरी की शाम को पुलिसकर्मी बिरेंद्र के नेतृत्व में एक टीम हिसार रोड पर ड्रेन नंबर 8 के पास मौजूद थी। नाकाबंदी कर पुलिस संदिग्धों पर नजर बनाए हुए थी। इसी दौरान बहु अकबरपुर की ओर से दो नव युवक शहर की ओर घुसे। शक के आधार पर दोनों को पुलिस टीम ने रोका। पूछताछ में युवकों ने अपनी पहचान करतारपुरा रोहतक निवासी प्रदीप और गांव कंबोपुरा जिला करनाल निवासी गुरुदेव के रूप में बताई। तलाशी लेने पर प्रदीप के पास से 70 ग्राम और गुरुदेव के पास से 52 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। आरोपी युवकों के खिलाफ थाना शहर में एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार किया। आरोपी प्रदीप (22) 12वीं कक्षा पास है और ऑटो चलाक है। वह नशे का आदी है। आरोपी ने बताया कि बरामद हेरोइन पश्चिम विहार दिल्ली के एक युवक से खरीदकर लाया था। आरोपी गुरुदेव (34) बी टेक पास है। वह रोहतक में एक फैक्टरी में नौकरी करता था। नशे का शिकार होने के बाद आरोपी ने नौकरी छोड़ दी और नशे की तस्करी करने लगा। आरोपी पश्चिम विहार दिल्ली से एक नाइजीरियन युवक से हेरोइन खरीदकर लाया था। दोनों आरोपियों को रोहतक शहर में नशा करने वालों को हेरोइन बेचनी थी। आरोपी पहले भी हेरोइन दिल्ली से लाकर रोहतक में सप्लाई कर चुके हैं। आरोपियों को अदालत में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया।
दिल्ली से खरीदकर लाया था हेरोइन
सीआईए टू की ही दूसरी टीम ने पुलिसकर्मी जयबीर के नेतृत्व में गश्त के दौरान सती माता मंदिर करतारपुरा के पास से एक युवक को काबू किया गया। पूछताछ में युवक ने अपनी पहचान करतारपुरा निवासी कृष्ण के रूप में बताई। तलाशी लेने पर युवक के पास से 100 ग्राम हेरोइन बरामद हुई है। युवक के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। आरोपी कृष्ण (28) नशे का आदी है। आरोपी अपने नशे की पूर्ति के लिए नशे का अवैध धंधा करने लगा। आरोपी दिल्ली से हेरोईन खरीदकर रोहतक में नशे करने वाले युवकों को बेचने का काम करता है। आरोपी को कोर्ट में पेश कर एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया।
टैक्सी चालक और कंप्यूटर ऑपरेटर काबू
सीआईए टू की तीसरी टीम ने पुलिसकर्मी भरत सिंह के नेतृत्व में गश्त करते हुए हिसार रोड से दो युवकों को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने अपनी पहचान गांव जसिया हाल जेपी कालोनी निवासी मंजीत उर्फ डॉक्टर और डीघल जिला झज्जर निवासी परमजीत उर्फ बिट्ट के रूप में बताई। तलाशी लेने पर मंजीत उर्फ डॉक्टर के पास से 120 ग्राम हेरोइन बरामद हुई है। युवकों के खिलाफ थाना शहर रोहतक में केस दर्ज किया गया। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि परमजीत (29) टैक्सी चालक है। आरोपी मंजीत उर्फ डॉक्टर (26) रोहतक स्थित एक निजी अस्पताल में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी करता है। आरोपी मंजीत उर्फ डॉक्टर दिल्ली से हेरोइन खरीदकर लाया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। उन्हें शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।
दिल्ली पुलिस ने 54 लाख कीमत की 77 ग्राम हेरोन सहित रोहतक के चार युवकों को पकड़ा
रोहतक/ नजफगढ़। दिल्ली के बाबा हरिदास नगर थाना पुलिस ने झाड़ौदा बॉर्डर पर इंटर स्टेट बॉर्डर चेकिंग के दौरान हरियाणा से दिल्ली की ओर जा रही टाटा सफारी कार में चार आरोपियों को 77 ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया। दिल्ली पुलिस के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस हेरोइन की कीमत 54 लाख रुपये है। गिरफ्तार आरोपी अमित सिक्का उर्फ मनु निवासी शिवाजी कालोनी रोहतक, मोहित निवासी डबल फाटक आजाद नगर रोहतक, लक्ष्य निवासी कमला नगर रोहतक व अमित उर्फ मिट्टा निवासी आजाद नगर रोहतक हैं।
... और पढ़ें

पूर्व कांग्रेस मंत्री ने वापस ली बाबा रामदेव के खिलाफ याचिका, बोले- अब मेरी भावनाएं आहत नहीं

भजनलाल सरकार में गृहमंत्री रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुभाष बतरा ने सोमवार को बाबा रामदेव के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने की याचिका वापस ले ली। बतरा ने अदालत में अर्जी दी कि उनका बाबा रामदेव से समझौता हो चुका है। अब वह आगे केस नहीं चलाना चाहते। एसीजेएम ईशा खत्री की कोर्ट ने पूर्व मंत्री की याचिका को स्वीकार कर लिया। 

याचिकाकर्ता के वकील ओमप्रकाश चुघ ने बताया कि पूर्व मंत्री सुभाष बतरा ने मार्च 2017 में अदालत में याचिका दायर की थी कि फरवरी 2016 में प्रदेश में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा हुई। हिंसा के बाद रोहतक की अनाज मंडी में कुछ संगठनों ने सद्भावना सम्मेलन किया, जिसमें बाबा रामदेव को आमंत्रित किया गया था। 
... और पढ़ें
रामदेव (फाइल फोटो) रामदेव (फाइल फोटो)

रोहतक में जमीन के झगड़े में 65 साल के बुजुर्ग की पीट पीट कर हत्या, आठ घायल

सांपला खंड के गांव चुलियाणा में प्लॉट को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। लाठी डंडों सहित अन्य धारदार हथियारों से हमले में एक 64 वर्षीय बुजुर्ग रामचंद्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। साथ ही हमले में आठ से अधिक लोग घायल हुए हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। घायलों सहित मृतक को पीजीआई लाया गया, जहां घायलों को इलाज के लिए भर्ती कर लिया गया। 

साथ ही मृतक के बेटे सुनील के बयान पर आरोपी पक्ष के 21 लोगों के खिलाफ हत्या सहित 8 धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपी पक्ष में तीन महिलाएं भी शामिल हैं। पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के चलते देर शाम तक शव नहीं लिया। जिसके बाद पुलिस ने करीब 12 से ज्यादा आरोपियों को गिरफ्तार किया व अन्य आरोपियों की भी जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। देर शाम परिजन शव लेकर चले गए।

पुलिस को दी शिकायत में घायल सुनील ने बताया कि करीब 25 साल पहले पंचायत द्वारा गरीब परिवारों को 100 गज के प्लाट दिए गए थे। उस दौरान सुनील के ताऊ सुल्तान और ताऊ के बेटे श्रीभगवान को भी प्लाट मिला था। जिनके सभी दस्तावेज भी है लेकिन हाल में प्लाटों पर विनोद, सोनू, सूरजभान, करतारे, राजेंद्र व संजय ने कब्जा किया हुआ है। 
... और पढ़ें

शुगर मिल मामले को लेकर बतरा पर ग्रोवर का पलटवार, बोले- आधारहीन आरोप लगा लोगों को कर रहे हैं भ्रमित

रोहतक। प्रदेश के अंदर सियासी माहौल में नेता जहां एक-दूसरे पर करोड़ों रुपये के घोटालों के आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। हालांकि इसको लेकर किसी बड़े मंत्री या नेता का कोई बयान नहीं आया है। एक-दूसरे पर आरोप लगाने वाले नेता ही आपस में जवाब दे रहे हैं। पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर पर तीन सप्ताह से आरोपों और घोटालों की झड़ी लगाने वाले महम के विधायक बलराज कुंडू के बाद शनिवार को कांग्रेस के विधायक भारत भूषण बतरा मैदान में आ गए। बतरा ने मीडिया के सामने पानीपत और करनाल में नई शुगर मिलों के निर्माण को लेकर करोड़ों के घोटाले का आरोप लगाया, जवाब में ग्रोवर ने खुद को पाक-साफ बताते हुए कांग्रेस को पुराने दिल याद रखने की सलाह दी।
प्रदेश में हुआ 300 करोड़ का घोटाला, जांच करवाए सरकार : बतरा
रोहतक शहर के विधायक भारत भूषण बतरा ने पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर पर निशाना साधते हुए पानीपत और करनाल शुगर मिल में 300 करोड़ का घोटाला होने का आरोप लगाया है। दावा किया गया है कि इस घोटाले से संबंधित पर्याप्त सबूत मौजूद हैं। सरकार को इस घोटाले की उच्च स्तरीय जांच करवानी चाहिए। यह आरोप विधायक ने शनिवार को अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान पूर्व मंत्री पर लगाए हैं।
विधायक ने कहा है कि 2018-19 में यह घोटाला अंजाम दिया गया। इसकी सीएमओ कार्यालय तक फाइल गई थी। यदि इस मामले में उच्च स्तरीय जांच हो तो पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर और कई प्रशासनिक अधिकारी घोटाले में शामिल मिलेंगे। यह घोटाला दोनों शुगर मिल की क्षमता बढ़ाने को लेकर किया गया था। इस मामले में दो बड़ी कंपनियों के जरिये घोटाला अंजाम में लाया गया। यही नहीं इस काम में कई नामी कंपनियों को दरकिनार जानबूझकर किया गया। ऐसी शर्तें लगाई गईं कि ये दो कंपनियां ही इन्हें पूरा करती थीं और दोनों को एक-एक शुगर मिल का कार्य आवंटित कर दिया गया। यमुनानगर और गाजियाबाद की दो कंपनियों को यह टेंडर जारी किया गया था। विधायक ने तत्कालीन सहकारिता राज्य मंत्री मनीष ग्रोवर पर आरोप जड़ते हुए कहा कि यह सारी गड़बड़ उनकी की शह पर हुई। इस मामले की फाइल सीएम कार्यालय तक गई, लेकिन अधिकारियों की मिली भगत के चलते मामला दब गया। पत्रकारों से चर्चा के दौरान विधायक ने पूर्व सहकारिता मंत्री पर लगाए जा रहे अन्य आरोपों की भी जांच कराने की मांग की। इस मौके पर वरिष्ठ पार्षद गुलशन ईशपुनियानी, पार्षद कदम सिंह अहलावत ने नगर निगम से संबंधित समस्याओं को उठाया। वहीं पत्रकारवार्ता में पूर्व पार्षद नोरातामल भटनागर, गुलशन ईशपुनियानी (प्रधान, शोरी मार्केट), पूर्व डिप्टी मेयर अशोक भाटी, देवेंद्र भारत, मोनू शर्मा, रोमी ग्रेवाल, पंकज सचदेवा, राजीव अत्री, संजय सिंगला आदि मौजूद रहे।
कांग्रेस नेता किसान विरोधी, आधारहीन आरोप लगाकर लोगों को कर रहे भ्रमित : ग्रोवर
प्रदेश के पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने कांग्रेस विधायक भारत भूषण बतरा के आरोपों पर पलट वार किया है। ग्रोवर का कहना है कि कांग्रेस नेता किसान विरोधी हैं, जो 10 साल के शासनकाल में करनाल और पानीपत की नई शुगर मिल स्थापित नहीं करवा पाए। अब बेबुनियाद और आधारहीन आरोप लगाकर लोगों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं। दरअसल जिन्होंने अपने कार्यकाल में जमकर घोटाले किए, उन्हें आज भी घोटाले ही दिखते हैं। ग्रोवर ने बतरा की प्रेसवार्ता के बाद बयान जारी कर यह बात कही।
ग्रोवर का कहना है कि कांग्रेस सरकार के समय शाहाबाद और रोहतक शुगर मिल की नई मशीनरी लगाई गई थी और दोनों मिलें अपनी परफार्मेंस पर खरी नहीं उतरीं। रोहतक शुगर मिल में जो गड़बड़ी हुई थी, वे किसी से छिपी नहीं है। पहले 3 साल रोहतक शुगर मिल में चीनी की जगह खांड का उत्पादन हुआ था और सारी मशीनरी चेंज करनी पड़ी थी। भाजपा की सरकार आने के बाद रोहतक शुगर मिल को सुचारु रूप से चलाने का काम किया। जहां तक पानीपत और करनाल शुगर मिल की बात है तो दोनों प्रोजेक्ट कई साल से लंबित थे, लेकिन कांग्रेस ने किसानों की मांगों पर गौर नहीं किया। भाजपा की सरकार आई तो गन्ना उत्पादक किसानों को राहत देने के लिए दोनों नए शुगर मिल स्थापित करने और उनकी पेराई क्षमता बढ़ाने का निर्णय लिया। दोनों मिलों में अत्याधुनिक मशीनरी लगेगी। सल्फर फ्री रिफाइंड शुगर तैयार होगी और बिजली का उत्पादन किया जाएगा। करनाल शुगर मिल पर करीब 223 करोड़ रुपये और पानीपत शुगर मिल पर करीब 300 करोड़ रुपये खर्च होंगे। दोनों प्रोजेक्ट पर कुल 523 करोड रुपये की लागत ही आएगी, जबकि इनकी क्षमता के बराबर दूसरे राज्यों में जो शुगर मिल स्थापित हुए हैं, उनकी तुलना में कम लागत से मिल तैयार की जाएंगी। इसलिए 300 करोड़ रुपये का घोटाला कैसे हुआ? ग्रोवर ने कहा कि, अगर बतरा को इतनी ही चिंता है तो फिर पानीपत और करनाल की शुगर मिल कांग्रेस अपने 10 साल के शासन में चालू क्यों नहीं करवा सके। तब किसानों ने काफी आंदोलन किए थे और कांग्रेस सरकार को दोनों मिल शुरू करने के लिए किसने रोका था। इसलिए भ्रमित तथ्य पेश करके लोगों को गुमराह न किया जाए।
... और पढ़ें

रामनिवास को नौकरी दिलाने के नाम पर लाए थे आरोप, तीन पर केस दर्ज

रोहतक। दिल्ली के पटेल नगर के 32 वर्षीय रामनिवास की जमीन के विवाद में गोली मारकर हत्या की गई थी। इसके बाद शव को खरावड़ बाईपास के नजदीक सड़क किनारे फेंक दिया गया। रामनिवास ने डेढ़ साल पहले लव मैरिज की थी, जबकि 22 दिन पहले ही वह बेटे का पिता बना था। शनिवार को दिल्ली से रोहतक पहुंचे परिजनों ने यह दास्तां पुलिस के सामने बयां की। पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। इसमें दो सगे भाई भी आरोपी बनाए गए हैं। आरोप है कि दो सगे भाईयों के साथ रामनिवास का जमीन को लेकर पांच साल से विवाद चल रहा था। जो अदालत में विचाराधीन है। इसी की रंजिश रखते हुए आरोपियों ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने फिलहाल शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस को दी शिकायत में राम योगावन सिंह ने बताया कि वह मूल रूप से गांव बसंत जिला शिवहर, बिहार का रहने वाला है। उसने बताया कि वह तीन भाई बहन है। सबसे बड़ा भाई रामनिवास है। रामनिवास पटेल नगर दिल्ली के एक किराये के मकान में परिवार सहित रहता था। उसने कुछ माह पहले ही एक कार किराये पर लेकर उसमें ड्राइवर लगाया हुआ था, लेकिन खर्चा न निकल पाने के कारण उसने कार को वापस लौटा दिया था। 22 जनवरी की दोपहर एक बजे रामनिवास अपनी पत्नी व मां को यह कहकर घर से निकला कि वह अभिजीत निवासी जिला मुजफ्फरपुर बिहार हाल दिल्ली के पास जा रहा हूं। जहां दोनों साथ ही कहा कि अभिजीत अपने कुछ बाहर से आए हुए जानकार लोगों के पास ले जाएगा। जहां काम के सिलसिले में बातचीत होगी। शाम करीब सवा पांच बजे रामनिवास ने अपनी पत्नी को फोन कर कहा कि वह हरियाणा की ओर जा रहे हैं, रात करीब 10 बजे तक लौट आएंगे। इसी फोन पर बातचीत के दौरान पत्नी ने रामनिवास को घरेलू सामान लाने के बारे में भी कहा था। बताए गए समय पर जब पत्नी ने फोन किया तो रामनिवास का फोन स्विच ऑफ मिला। इसके बाद पत्नी ने इस बारे में परिजनों को बताया। जिस पर रामनिवास के बारे में सभी रिश्तेदारियों में पता किया। लेकिन उसका कही कोई भेद नहीं लगा।
कोर्ट में विचाराधीन जमीनी विवाद पर की तीन लोगों ने हत्या
परिजनों ने पुलिस के सामने आरोप लगाया कि शुक्रवार को उन्हें रोहतक की आईएमटी थाना पुलिस से रामनिवास के शव की खरावड़ आउटर बाईपास पर पड़े होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही परिजन देर रात को रोहतक पहुुंचे। यहां पहुंचने के बाद परिजनों ने पीजीआई पहुंच कर रामनिवास के शव की शनाख्त की। पुलिस को दिए बयान में परिजनों ने बताया कि पांच साल पहले गांव बसंत जगजीवन बिहार में जमीनी विवाद होने के कारण गांव के ही दो सगे भाई राजकिशोर सिंह व विजय सिंह से झगड़ा चल रहा था। मामला कोर्ट में विचाराधीन है। परिजनों ने आशंका जताई है कि इस रंजिश के चलते उक्त दोनों आरोपी सगे भाईयों ने अभिजीत के साथ मिलकर रामनिवास की गोलियां मारकर हत्या की। शव को खुर्द बुर्द करने के लिए रोहतक के खरावड़ पुल के पास फेंककर फरार हो गए।
डेढ़ साल पहले की थी लव मैरिज, 22 दिन के बेटे का था पिता
परिजनों ने बताया कि रामनिवास से करीब डेढ़ साल पहले लव मैरिज की थी। शादी के बाद से दिल्ली में रहने लगे। 3 जनवरी को वह बेटे का पिता बना था। काफी दिनों से वह बेरोजगार था। रोजगार की तलाश में ही वह अभिजीत के साथ अभिजीत के परिचितों से मिलने गया था। जहां से उक्त लोग उसे रोजगार की बात कह कर हरियाणा ले गए थे और उसकी गोलियां मार कर हत्या कर दी।
मृतक के भाई के बयान पर राजकिशोर सिंह, विजय सिंह निवासी बसंत जगजीवन बिहार व अभिजीत के खिलाफ हत्या सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। आरोपियों की तलाश जारी है, जल्द उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
-कुलबीर सिंह, आईएमटी थाना प्रभारी
... और पढ़ें

नहरी पानी कम, तीसरे दिन हो रही जलापूर्ति

पीजीआई मोरचूरी में पहुंचे मृतक रामनिवास के परिजन । संवाद न्यूज एजेंसा
सिंचाई विभाग के रोस्टर में बदलाव की वजह से शहरवासियों को अगले एक सप्ताह तक पानी की किल्लत का सामना करना पड़ेगा। पहले से ही पीने के पानी की किल्लत झेल रहे लोगों को अब दो दिन बाद ही जलापूर्ति की जाएगी।
उल्लेखनीय है कि शहर की दो लाख आबादी को पानी की आपूर्ति कालका व लिसाना वाटर टैंक के जरिये जन स्वास्थ्य विभाग करता है। सिंचाई विभाग के पुराने रोस्टर के मुताबिक 16 दिन छोड़कर शहर में नहरी पानी आता था। इस लिहाज से 24 जनवरी को नहरी पानी जा जाना था। लेकिन सिंचाई विभाग ने रोस्टर बदलते हुए 16 दिन की बजाय 24 दिन कर दिया है। ऐसे में अब नहरी पानी शहर में 31 जनवरी तक पहुंच पाएगा। यही कारण है कि लोगों को पेयजल की किल्लत झेलनी पड़ रही है। रोस्टर में बदलाव के कारण जन स्वास्थ्य विभाग ने 19 जनवरी से पानी की राशनिंग शुरू की गई थी। जिसके तहत शहर में एक दिन छोड़कर जलापूर्ति की जा रही है। हालांकि हकीकत में शुक्रवार व शनिवार को कुछ कॉलोनियों में पानी नहीं पहुंचा।
-आबादी बढ़ी लेकिन नहीं बढ़े वाटर टैंक
शहर की आबादी तो लगातार बढ़ रही है तथा पेयजल लाइन का भी विस्तार हो रहा है, लेकिन जिम्मेदारों की ओर से पानी स्टोर करने वाले वाटर टैंक नहीं बढ़ाए जा सके। बीते पांच साल से गांव कालाका में एक अतिरिक्त वाटर टैंक बनाने का दावा किया जा रहा है, लेकिन आज तक काम भी शुरू नहीं हो सका है। बता दें कि कालाका स्थित पांच वाटर टैंक के माध्यम से शहर के 80 फीसदी आबादी को पानी सप्लाई होता है। वहीं लिसाना वाटर टैंक से शहर के कुतुबपुर व फाटक पार की कॉलोनियों में पेयजल सप्लाई की जाती है।
-अमृत योजना के तहत मिले 35 करोड़ नहीं हुआ समाधान
अमृत योजना के तहत शहर में पेयजल सप्लाई दुरस्त करने के लिए करीब 35 करोड़ रुपये का बजट नगर परिषद के पास है। इसमें नई पेयजल पाईप लाइन, नए बुस्टिंग स्टेशन व नए वाटर बनाने भी शामिल थे। शहर की कुछ कॉलोनियों में नई पाईप लाइन डालने के साथ बुस्टिंग स्टेशन पर भी काम श़ुरु हुआ है, लेकिन अभी तक वाटर टैंक निर्माण की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जा सका है। ऐसे में बड़ा सवाल है कि बजट होने के बावजूद भी समस्या का समाधान क्यों नहीं किया गया। ऐसे में समझा जा सकता है कि सर्दियों में ये हाल तो आने वाली गर्मियों में शहरवासियों को बड़े स्तर पर पेयजल की समस्या का सामना करना पड सकता है।
पेयजल बर्बाद न करें शहरवासी: कनिष्ठ अभियंता
जन स्वास्थ्य विभाग में शहर की पेयजल व्यवस्था को देखने वाले कनिष्ठ अभियंता अशोक डागर ने बताया कि नहरी पानी नहीं आने के चलते परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अभी लोगों को एक दिन छोड़कर एक दिन पानी दिया जा रहा है, जिन कॉलोनियों में दो दिन से पानी नहीं पहुंचा वे विभाग को शिकायत दे सकते हैं। यदि परेशानी है तो टैंकर के माध्यम से पानी की सप्लाई की जाएगी। 31 जनवरी तक नहरी पानी आने की उम्मीद है।
... और पढ़ें

हत्या के मामले में गवाह को घूरा तो हो गई तीन-तीन साल की सजा

रोहतक। चुनावी रंजिश के चलते बैंसी गांव में हुए अमरनाथ हत्याकांड के गवाह एवं गांव के सरपंच कृष्णलाल छाबड़ा को अंगुली दिखाकर घूरने पर अदालत ने शुक्रवार को तीन आरोपियों बैंसी निवासी नरेश, अनिल व रामचंद्र को तीन-तीन साल की कैद व 2-2 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।
मामले के अनुसार बैंसी गांव के सरपंच कृष्णलाल छाबड़ा ने फरवरी 2018 को पीजीआईएमएस थाने में शिकायत दी थी कि उसका भाई अमरनाथ बैंसी गांव के सरपंच का चुनाव लड़ना चाहता था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तहत उसका भाई शैक्षणिक योग्यता की शर्त पूरी नहीं कर सका। इस कारण कृष्णलाल छाबड़ा ने खुद चुनाव लड़ा और विजयी रहे। 28 अप्रैल 2016 को उसके भाई की चुनावी रंजिश के चलते घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस संबंध में लाखनमाजरा थाना पुलिस ने अमित, रवि, नरेश, सोनू व पूर्व सरपंच दलीप सहित अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया। इस केस में एक साथी की गवाही हो गई थी, लेकिन कृष्णलाल छाबड़ा की गवाही नहीं हुई थी। आरोप था कि 24 फरवरी 2018 को कृष्णलाल छाबड़ा श्रीनगर कॉलोनी स्थित घर के बाहर खड़ा था। इसी दौरान एक कार आकर रुकी, जिसमें उसकी भाई के हत्या आरोपी नरेश व अनिल सवार थे, जो जमानत पर बाहर आए हुए थे। उनके साथ गांव बैंसी निवासी रामचंद्र भी था। गाड़ी का शीशा उतारकर उसे अंगुली दिखाकर घूरा। तत्काल उसके सुरक्षाकर्मी ने पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। पुलिस ने मामले में गवाही से रोकने का दबाव बनाने का मामला दर्ज कर लिया। बाद में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। दो साल से आरोपियों के खिलाफ एडीजे कोर्ट में केस चल रहा था। शुक्रवार को एडीजे रितु वाईके बहल की अदालत ने तीन आरोपियों को दोषी मानते हुए तीन-तीन साल की कैद व 2-2 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। वहीं हत्या का मामला अदालत में विचाराधीन है।
अंगुली दिखाना और घूरना भी धमकी की श्रेणी में
मामले में सबसे अहम गवाह वह पुलिसकर्मी रहा, जो बैंसी गांव के सरपंच कृष्णलाल छाबड़ा की सुरक्षा में तैनात था। उसकी सबसे पहले केस में गवाही करवाई गई। दूसरा, उसी ने कंट्रोल रूम में फोन किया था। दूसरा, पीड़ित पक्ष अदालत में यह साबित करने में कामयाब रहा कि अंगुली उठाकर या दिखाकर घूरना धमकी देने की श्रेणी में आता है।
- आरसी दलाल, वरिष्ठ वकील पीड़ित पक्ष
... और पढ़ें

बेटियां बोलीं - कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए उठाएंगे बुलंद आवाज

नेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर बेटियों ने कन्या भ्रूण हत्या के विरुद्ध शपथ लेते हुए कहा कि हम स्वयं कदम उठाएंगे तभी बदलाव संभव है। शुक्रवार को अमर उजाला के अपराजिता कार्यक्रम में राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में करीब 200 बेटियों ने कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए एक सार्थक पहल की। यहां शपथ लेते हुए बेटियों ने कहा कि शपथ लेते हैं कि कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए बुलंद आवाज उठाएंगे और महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों के प्रति भी अपनी माताओं-बहनों को जागरूक करेंगे। डॉ. मीनू नैन ने छात्राओं को शपथ दिलाई।
ये बोलीं छात्राएं
बदलाव हम से ही संभव है। हमारी माताएं-बहनें और भाभियां भी भ्रूण हत्या में बराबरी की जिम्मेदार होती हैं। लोग क्या कहेंगे यह सोचकर हम अपनी जिम्मेदारियों से भाग नहीं सकते। यह समाज हमारा है और हम ही यह निर्णय लेंगे कि इस समाज को हम कैसा बनाना चाहते हैं।
भारती शर्मा, छात्रा
समाज में लड़कों की बजाय लड़कियों की संख्या कम है। कहीं न कहीं इसके जिम्मेदार हम ही हैं। दूसरों के सिर दोष देकर हम अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं पाएंगे। कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराध को रोकने के लिए सरकार को ही नहीं, बल्कि हमें भी सख्त कदम उठाने होंगे।
आरती मलिक, छात्रा
लड़कियां आज किसी भी क्षेत्र में लड़कों से कम नहीं हैं। यह हमारी ही गलती है कि हम खुद को कम आंकते हैं, वरना आज ऐसा कौन सा क्षेत्र है, जहां लड़कियां लड़कों से पीछे हैं। बदलाव हमसे ही संभव हैै। इसलिए खुद को अपडेट रखें और दूसरों को जागरूक करें।
अनुषा मलिक, छात्रा
इसरो ने भी अब तो लेडी रोबोट बनाकर यह उदाहरण पेश कर दिया कि लड़की लड़कों से ज्यादा सबल है। फिर हम क्यों आज तक कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराध के भागी बनते हैं? इसका जवाब शायद किसी के पास नहीं, क्योंकि आज भी बेटों को वंश बनाने वाला जो माना जाता है। इसी सोच को बदलना होगा, तभी बदलाव संभव है।
नेहा, छात्रा
आज समय बोलने का नहीं, बल्कि कुछ कर दिखाने का है। क्यों एक या दो बेटियों के बाद भी हम महिलाएं बेटे की चाह रखती हैं, क्या हम किसी की बेटी नहीं हैं? हमारी यही बेटे की चाह ही हमें हैवान बनाती है। बस इस नजरिए में ही बदलाव लाना होगा।
अल्का, छात्रा
शिक्षा ने समाज के एक बड़े तबके को प्रभावित किया है। एक समय था जब बेटे और बेटी में भेद किया जाता था, लेकिन जैसे-जैसे लोग शिक्षित हुए हैं, वैसे ही बदलाव भी आया है। हां, कुछ लोग अब भी दकियानूसी विचारधारा के पीछे पड़े हैं, लेकिन समय के साथ उनमें भी बदलाव जरूर होगा।
प्राची, छात्रा
भ्रूण हत्या सरासर अपराध है। क्या हम किसी की बेटी, किसी की बहन नहीं हैं? जो अपनी होने वाली बेटी को मारने चले हैं। जो भी महिला इस अपराध में भागीदारी निभाती है, वह क्यों नहीं सोचती अगर उसके माता-पिता ने भी ऐसा ही उसके साथ किया होता तो क्या आज वह जिंदा होती?
अंजू, छात्रा
हमें दूसरों को ज्ञान देने से पहले खुद जागरूक होना होगा। सिर्फ बोलने और शपथ लेने से कुछ नहीं होता, जब भी ऐसी स्थिति आए तो बुलंद आवाज उठाते हुए कड़े शब्दों में विरोध करना चाहिए और जरूरी हो तो समाज और इज्जत के भय को त्यागकर कानूनी मदद लेने से भी पीछे नहीं हटना चाहिए।
दक्षिता शर्मा, छात्रा
कन्या भ्रूण हत्या होनी ही नहीं चाहिए। बेटों की भांति बेटियां भी समाज का एक अहम हिस्सा है। अगर सारे ही लोग भ्रूण हत्या कराने लगे तो बेटों के लिए बहू और भाइयों को राखी बांधने के लिए बहन कहां से लाओगे?
पूजा, छात्रा
आज के समय में लड़कियां लड़कों से ज्यादा जागरूक हैं। फिर भी कई बार स्थिति जब विपरीत होती है तो एक मां को कड़ा निर्णय लेते हुए भ्रूण हत्या जैसे पाप का भागी बनना पड़ता है, अब समय है ऐसे नजरिए को बदलने का जो लड़कों को लड़कियों से ज्यादा ऊंचा दर्जा देता है।
पूजा रानी, छात्रा
... और पढ़ें

11 जनवरी को आए मरीज को बगैर उपचार 23 जनवरी को लौटाया घर

पीजीआईएमएस में उपचार के लिए आने वाले आयुष्मान भारत योजना के लाभ पात्रों का हर बार मजाक बन जाता है। संस्थान के ऑर्थो विभाग के चिकित्सकों ने 11 जनवरी को हाथ में फैक्चर होने पर दाखिल मरीज को योजना के तहत इंप्लांट नहीं होने की बात कहकर 12 दिन बाद बिना उपचार के घर भेज दिया। ऑपरेशन का सामान नहीं आता, तब तक वह कुछ नहीं कर सकते हैं। यदि मरीज अस्पताल में रहेगा तो उसे संक्रमण होने की संभावना अधिक रहेगी।
कैथल के मटौर निवासी कुलदीप ने बताया कि उसके 62 साल के पिता भान सिंह छत से गिर गए थे। इसके चलते उनके हाथ में फैक्चर हो गया है। वह कैथल से रोहतक पीजीआईएमएस यह सोच कर आए कि उनका अच्छा उपचार होगा। हाथ में फैक्चर के चलते मरीज के हाथ में पस बन रही है, लेकिन उपचार नहीं किया गया। पीजीआईएमएस में ऑर्थो विभाग के डॉक्टरों ने मरीज को देखते हुए पहले ऑपरेशन जरूरी बताया। जब उन्होंने आयुष्मान के लाभार्थी होने की बात कही तो उन्होंने कहा कि जब भी उनके ऑपरेशन का सामान आ जाएगा, अगले दिन ऑपरेशन कर दिया जाएगा। ऑपरेशन के सामान के लिए उन्होंने पीजीआईएमएस के प्रशासनिक अधिकारियों के बार-बार चक्कर लगाए, लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की। इसके अलावा वार्ड में डॉक्टरों ने यह सलाह और दे दी कि वह संक्रमण से बचने के लिए घर चले जाएं।
पहले भी मरीजों को नहीं मिला उपचार
30 जून को बहादुरगढ़ से आए मरीज को ऑर्थो विभाग ने उपचार देने की बजाए कहा कि उसका उपचार मोदी जी ही करेंगे। मरीज उमेश के दाखिल होने के एक सप्ताह बाद भी उपचार नहीं दिया गया। जब मरीज ने शिकायत की तो उस पर दबाव बनाया गया। जिला नोडल अधिकारी डॉ. दिनेश गर्ग को शिकायत के बावजूद मरीज की समस्या का समाधान नहीं हुआ।
मरीज की शिकायत आई है। पीजीआईएमएस डीएमईआर के अधीन होता है और हम स्वास्थ्य विभाग के। आयुष्मान भारत के लाभार्थियों को आने वाली समस्या की जानकारी हम अपने एसीएस को भेज देते हैं। आगे की कार्रवाई शीर्ष अधिकारी ही करते हैं। पीजीआईएमएस में आयुष्मान भारत को लेकर काफी समस्याएं सामने आती हैं।
- डॉ. अनिल बिरला, सिविल सर्जन
ऑपरेशन का सामान उपलब्ध न होने पर अमृत फार्मेसी से सामान लेने की सरकार से अनुमति मांगी गई है। क्योंकि ऑपरेशन का हर सामान स्टोर में कई बार उपलब्ध नहीं होता। एक भी सामान न होने पर मरीज का उपचार रुक जाता है। इसके अलावा रेट कांट्रेक्ट की लिस्ट तैयार हो रही है। दोनों काम पूरे होने पर किसी आयुष्मान भारत योजना के लाभ पात्र मरीज को समस्या नहीं आएगी।
- डॉ. रोहतास कंवर यादव, निदेशक, पीजीआईएमएसायब सिंह एसएचओ पीजीआईएमएस
... और पढ़ें

दिल्ली निवासी युवक की गोली मारकर हत्या

दिल्ली स्थित पटेल नगर निवासी 32 वर्षीय रामनिवास की किसी ने गोली मारकर हत्या कर दी। देर शाम उसका शव रोहतक में खरावड़ बाईपास के नजदीक सड़क किनारे पड़ा मिला। पर्स में मिले मोबाइल नंबर पर संपर्क करने पर मृतक की शनाख्त हुई। देर रात तक पुलिस केस दर्ज करने के लिए परिजनों के आने का इंतजार कर रही थी। इसके साथ ही पुलिस जांच कर रही है कि हत्या यहीं की गई या किसी और जगह हत्या कर शव यहां फेंका। पुलिस ने शव को पीजीआई में रखवा दिया है।
आईएमटी थाना प्रभारी कुलबीर ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब छह बजे सूचना मिली कि खरावड़ बाईपास के नजदीक सड़क किनारे एक शव पड़ा हुआ है। पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा किया। जांच के दौरान पुलिस को मृतक के कपड़ों में एक पर्स मिला। पर्स में मिले मोबाइल फोन नंबर पर संपर्क करने पर उसकी शनाख्त दिल्ली के पटेल नगर निवासी रामनिवास के रूप में हुई। एफएसएल टीम भी घटना स्थल पर पहुंची। टीम ने घटना स्थल का जायजा लिया। जांच के दौरान पता लगा कि मृतक के एक गोली सिर में व दो गोली कमर में लगी हुई थी। देर रात तक मृतक के परिजन रोहतक नहीं पहुंच सके थे।
... और पढ़ें

महम का विधायक नादान बच्चा, 5 साल यूं ही रखेगा परेशान : खरकड़ा कुंडू बोले-मैं उसका नाम तक नहीं लेना चाहता जिसे जनता 4 बार नकार चुकी

महम की सियासत के कथित मामा-भांजा महम के विधायक बलराज कुंडू व भाजपा नेता शमशेर खरकड़ा के बीच एक बार फिर कंट्रोवर्सी पैदा हो गई है। शुक्रवार को खरकड़ा पूर्व मंत्री ग्रोवर के बचाव में आ गए और कहा कि महम के विधायक नादान बच्चे की तरह हैं। वे पांच साल तक न केवल खुद परेशान रहेंगे, बल्कि दूसरों को भी परेशान रखेंगे। उधर, कुंडू ने खरकड़ा के सवाल पर कहा कि जिस व्यक्ति को तीन बार महम तो एक बार लोकसभा क्षेत्र की जनता नकार चुकी है, मैं उसका नाम तक नहीं लेना चाहता।
विधानसभा चुनाव से पहले सीएम मनोहर लाल की अध्यक्षता में बहुअकबरपुर गांव में महम हलके की जनसभा हुई। मंच से बलराज कुंडू ने शमशेर खरकड़ा को अहलावत गोत्र का होने के नाते मामा बताया था। जवाब में खरकड़ा ने कहा था कि यूं तो कहीं न कहीं गोत्र के चलते मिलान हो जाता है। तभी से महम के सियासी हलकों में दोनों को कथित मामा-भांजा बताया जाता है, जो एक-दूसरे पर टिप्पणी करने से नहीं चूकते। शुक्रवार को भाजपा की तरफ से पार्टी कार्यालय में प्रेसवार्ता आयोजित की गई, जिसमें पूर्व मंत्री ग्रोवर का पक्ष लेते हुए शमशेर खरकड़ा ने कहा कि महम के विधायक नादान बच्चे की तरह हरकत कर रहे हैं। आरोप लगाने से कोई दोषी नहीं हो जाता। 3 जनवरी को कहा था कि वे एक सप्ताह में सुबूत देंगे, लेकिन कहां हैं सुबूत। महम हलके की जनता ने उनको विधायक की जिम्मेदारी दी थी, लेकिन विधायक हलके में विकास कराने की बजाए पूर्व मंत्री ग्रोवर पर आरोप लगाने में व्यस्त हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सीएम मनोहर लाल ने हलके के विकास के लिए पांच करोड़ की ग्रांट भेजी है, जिसे विधायक चहेते सरपंचों को दे रहे हैं। इससे बाकी हलके का विकास कैसे होगा। यह महम हलके का दुर्भाग्य है कि ऐसे लोग विधायक बन गए, जो विधायक के जिम्मेदार पद को खिलौना मानकर बच्चे की तरह खेल रहे हैं। इसके लिए पूरे हलके की तरफ से माफी मांगते हैं। खरकड़ा ने जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा में मारे गए युवाओं के नाम पैसे एकत्रित करने के मामले में भी कुंडू पर सवाल उठाए।
जिस व्यक्ति को चार बार जनता नकार चुकी, उस व्यक्ति के बारे में कुछ नहीं कहना
पूरे मामले में बलराज कुंडू से मीडिया कर्मियों ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को तीन बार महम हलके और एक बार लोकसभा क्षेत्र की जनता नकार चुकी है, उस व्यक्ति का वे नाम तक नहीं लेना चाहते हैं। जहां तक ग्रोवर द्वारा कानूनी नोटिस भेजने का सवाल है। जब नोटिस मिलेगा, तब देखेंगे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us