विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

बजट : शिवालिक क्षेत्र की सिंचाई योजनाओं को मिले स्वीकृति, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

हरियाणा के आगामी बजट से शिवालिक क्षेत्र को भी बड़ी उम्मीदें हैं। 2020-21 के बजट में शिवालिक क्षेत्र के लोग प्रस्तावित सिंचाई योजनाओं के लिए स्वीकृति चाह रहे हैं।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सोनीपत

सोमवार, 17 फरवरी 2020

चालान से बचने के लिए नाबालिगों ने गर्दन से पकड़कर 500 मीटर तक घसीटा था होमगार्ड, आरोपी छात्र गिरफ्तार

सोनीपत। शहर के महाराणा प्रताप चौक पर वाहनों की जांच कर रही टीम में शामिल होमगार्ड के जवान को गर्दन से पकड़कर 500 मीटर तक घसीटने के मामले में पुलिस ने नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मूलरूप से बिहार के गोपाल गंज का रहने वाला है और फिलहाल आर्य नगर में परिवार संग रहता है। आरोपी के दूसरे साथी की भी पहचान हो गई है। वह भी नाबालिग है और विशाल नगर में रह रहा है। पुलिस उनके तीसरे साथी का पता लगा रही है। गिरफ्तार नाबालिग आरोपी ने पूछताछ में बताया है कि चालान से बचने व हुड़दंगबाजी में वह होमगार्ड जवान को घसीटकर ले गए थे। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया।
महाराणा प्रताप चौक के पास सोमवार को सुबह करीब साढ़े दस बजे वाहनों की चेकिंग के दौरान होमगार्ड जवान जयदीप खोखर वाहनों को रुकवाने के लिए इशारा कर रहा था इसी बीच अपाचे बाइक पर सवार तीन युवक वहां से गुजरे, होमगार्ड जवान ने उन्हें रुकने का इशारा किया था। जिस पर युवकों ने बाइक की गति को कम कर दिया था और जयदीप के पास पहुंचते ही उसका हाथ व गर्दन पकड़ ली थी और फिल्मी स्टाइल में बाइक को सेक्टर-14-15 के डिवाइडर रोड पर भगा लिया था। इससे वह बाइक के साथ घसीटता चला गया था। इसी बीच पीछे से आ रहे एक कार सवार ने इसकी वीडियो बना ली थी। बाद मेें सिविल लाइन थाना चौक के पास युवकों ने उन्हें फेंक दिया था। जिसमें जयदीप घायल हो गया था। सिक्का कॉलोनी चौकी पुलिस ने पता होते हुए भी कार्रवाई नहीं की थी। एसएसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने वीडियो वायरल होने पर मामले की जांच कराकर चौकी प्रभारी रमेश व मुंशी राजेश को सस्पेंड कर दिया था।
वीरवार को पुलिस ने आरोपियों के चेहरे व बाइक का नंबर सीसीटीवी में दिखाई देने पर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी आर्यनगर में रहने वाला नाबालिग है। वह एक निजी स्कूल में दसवीं कक्षा का छात्र है। पुलिस ने उसके साथी की भी पहचान कर ली है। विशाल नगर के दूसरे आरोपी की गिरफ्तारी के बाद ही तीसरे साथी का पता लग सकेगा। पुलिस उसकी तलाश को दबिश दे रही है। पुलिस ने गिरफ्तार नाबालिग को अदालत में पेश किया, जहां उसे बाल सुधार गृह करनाल भेज दिया गया।
--
चालान से बचने के लिए होमगार्ड जवान को घसीटा
नाबालिग आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि वह अपने तीन साथी बाइक पर आ रहे थे। वह स्कूल से लौटे थे कि रास्ते में उसे उसके साथी का दोस्त उन्हें मिल गया। तीनों बाइक पर आ रहे थे पुलिस ने महाराणा प्रताप चौक के पास उन्हें रुकने का इशारा कर दिया। जिससे वह चालान कटने के डर से घबरा गए। इसी बीच होमगार्ड जवान उनके पास आया तो उन्हें यह शरारत सूझी और वह उसे गर्दन व हाथ के पास से पकड़कर घसीटते हुए ले गए। बाद में वह भाग निकले।
नाबालिग ने अपने नाम खरीद रखी है बाइक
पुलिस जांच में सामने आया है कि गिरफ्तार नाबालिग के दूसरे नाबालिग साथी के नाम पर बाइक है। उसने बाइक को दादा गगन साध मोटर्स से इसी माह खरीदा था। बाइक गिरफ्तार नाबालिग के साथी के नाम है और पकड़ा गया नाबालिग इसमें गवाह बना था। शपथ पत्र पर बाइक को बेचा गया था। अब पुलिस बाइक बेचने वाले का पता लगाएगी कि उसने नाबालिग को बाइक किस तरह से बेच दी। पुलिस का कहना है कि इसमें बाइक बेचने वाले की लापरवाही भी सामने आई है। उसे भी बुलाकर पूछताछ की जाएगी और लापरवाही साबित होने पर कार्रवाई की जाएगी। जिस बाइक को घटना में प्रयोग किया गया है वह कुछ समय में ही छह बार बेची जा चुकी है। सातवीं बार नाबालिग को बेच दी गई। पुलिस बाइक को खरीदने वालों का पता लगा रही है। साथ ही पता लगाएगी कि कहीं बाइक का प्रयोग किसी अन्य अपराध में तो नहीं हो चुका है।
7400 की बाइक खरीद ली परिजनों को पता नहीं
नाबालिग ने पुलिस को बताया कि उन्होंने बाइक को 7 फरवरी को ही खरीदा है। इसके लिए उन्होंने 7400 रुपये दिए थे। उसने बताया कि उसके साथी के पास पैसे नहीं थे। जिसके चलते उसने ही पैसे दिए थे। जिसके बाद बाइक को खरीदकर शपथ पत्र में उसके साथी के नाम कराया गया था। पुलिस ने जब फरार नाबालिग के परिजनों से पूछताछ की तो उन्होंने बेटे के पास बाइक होने से ही मना कर दिया। जिस पर पकड़े गए नाबालिग ने बताया कि वह बाइक को घर लेकर नहीं जाते थे। वह बाइक को स्कूल आने जाने व घूमने में प्रयोग करते थे। बाद में किसी साथी के घर खड़ी कर अपने घर चले जाते थे।
आठवीं तक साथ पढ़े हैं दोनों नाबालिग
पकड़े गए नाबालिग ने बताया है कि वह मामले में फरार चल रहे अपने साथी के साथ आठवीं कक्षा तक कान्वेंट स्कूल में एक साथ पढ़े हैं। उसके बाद दोनों साथी अलग-अलग स्कूलों में चले गए। दोनों नाबालिगों के पिता फैक्टरी में नौकरी करते हैं।
--
होमगार्ड के जवान को बाइक सवार युवकों द्वारा घसीटने के मामले में एक नाबालिग को पकड़ा गया है। उसके एक अन्य नाबालिग साथी की पहचान हो गई है। उसे भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। तीसरे आरोपी की पहचान नाबालिग की गिरफ्तारी के बाद हो सकेगी। आरोपियों ने चालान से बचने के लिए होमगार्ड को घसीटा था।
-डॉ.रवींद्र कुमार डीएसपी सोनीपत।
... और पढ़ें

होमगार्ड को गर्दन पकड़कर 500 मी. घसीटने वाला एक छात्र गिरफ्तार, दो की अभी तलाश

सोनीपत के महाराणा प्रताप चौक पर वाहनों की जांच कर रही टीम में शामिल होमगार्ड के जवान को गर्दन से पकड़कर 500 मीटर तक घसीटने के मामले में पुलिस ने नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मूलरूप से बिहार के गोपाल गंज का रहने वाला है और फिलहाल आर्य नगर में परिवार संग रहता है। 

आरोपी के दूसरे साथी की भी पहचान हो गई है। वह भी नाबालिग है और विशाल नगर में रह रहा है। पुलिस उनके तीसरे साथी का पता लगा रही है। गिरफ्तार नाबालिग आरोपी ने पूछताछ में बताया है कि चालान से बचने व हुड़दंगबाजी में वह होमगार्ड जवान को घसीटकर ले गए थे। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया।

महाराणा प्रताप चौक के पास सोमवार को सुबह करीब साढ़े दस बजे वाहनों की चेकिंग के दौरान होमगार्ड जवान जयदीप खोखर वाहनों को रुकवाने के लिए इशारा कर रहा था इसी बीच अपाचे बाइक पर सवार तीन युवक वहां से गुजरे, होमगार्ड जवान ने उन्हें रुकने का इशारा किया था। जिस पर युवकों ने बाइक की गति को कम कर दिया था और जयदीप के पास पहुंचते ही उसका हाथ व गर्दन पकड़ ली थी और फिल्मी स्टाइल में बाइक को सेक्टर-14-15 के डिवाइडर रोड पर भगा लिया था। 
... और पढ़ें

फैसलाः योगेश्वर, बजरंग, विनेश समेत 200 से ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को पेंशन देगी सरकार

अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को अभी तक केवल खेलते रहने तक ही सरकार से सुविधाएं मिलती थीं, लेकिन अब खेल छोड़ने के बाद भी अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों के लिए पेंशन योजना शुरू की है। इसके साथ ही योगेश्वर दत्त, बजरंग पूनिया, विनेश फौगाट, साक्षी मलिक, अंकुर मित्तल, नेहा गोयल, मनु भाकर समेत प्रदेश के 200 से ज्यादा खिलाड़ी पेंशन के हकदार हो गए हैं।

इस तरह हरियाणा के खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा फायदा मिलता दिख रहा है, क्योंकि पेंशन के लिए जिस तरह की पॉलिसी बनाई गई है। उसमें अधिकतर अंतर्राष्ट्रीय हरियाणवी खिलाड़ी शामिल हो सकते हैं। जिनको 12 से 20 हजार रुपये महीने पेंशन मिल जाएगी। यह पेंशन पैरा ओलंपियन खिलाड़ियों के लिए भी होगी और उनको भी इसका लाभ दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने ओलंपिक गेम्स, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स, वर्ल्ड कप व वर्ल्ड चैंपियनशिप के पदक विजेता खिलाड़ियों के अलावा पैरा ओलंपिक के पदक विजेताओं को पेंशन देने की योजना बनाई है।

जिसके लिए खिलाड़ी 30 साल की उम्र व खेल को पूरी तरह से छोड़ने के बाद आवेदन कर सकता है और उनके आवेदन करने के बाद 12 से 20 हजार रुपये महीना पेंशन शुरू की जाएगी। इस तरह पेंशन योजना का सबसे ज्यादा फायदा हरियाणा के खिलाड़ियों को होता दिख रहा है। क्योंकि जिन प्रतियोगिता में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को पेंशन की योजना में शामिल किया गया है, उनमें सबसे ज्यादा मेडल हरियाणा के खिलाड़ियों ने जीते हुए हैं।
... और पढ़ें

दुर्घटना में घायल की मदद करने गए युवक और तीन अन्य को कार चालक ने मारी टक्कर, युवक की मौत

शहर के कैलाना मोड़ पर हादसे में घायल हुए व्यक्ति की मदद को गए युवक व तीन अन्य को कार चालक ने टक्कर मार दी। कार की टक्कर से मदद करने गए युवक की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने कार चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
गांव खुबडू निवासी राजेश ने बताया कि उसकी गन्नौर में केनरा बैंक के सामने कंप्यूटर की दुकान है। शनिवार को उसका भतीजा रवि राजपुर गांव में एक शादी समारोह में गया था। शादी समारोह से वह सीधा उसकी दुकान पर आ गया। यहां से वह तथा रवि अलग-अलग बाइक पर सवार होकर गांव खुबडू के लिए चल पड़े। जब वह कैलाना मोड़ के निकट पहुंचे तो वहां लोगों की भीड़ देखकर उन्होंने भी बाइक को रोक दिया। उन्होंने देखा कि ट्राली के साथ टक्कर होने से एक व्यक्ति घायल अवस्था में वहां पड़ा हुआ है। जब उन्होंने उस घायल व्यक्ति को देखा तो वह उनके गांव का ही रहने सुरेश था। इस पर वह तथा रवि वहां मौजूद लोगों की मदद से घायल सुरेश को उठाने लगे तो इसी दौरान एक तेज रफ्तार कार ने उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर मारकर कार चालक मौके से फरार हो गया। टक्कर लगने से रवि व अन्य लोग घायल हो गए।
राहगीरों ने सभी घायलों को इलाज के लिए गन्नौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाया। जहां डाक्टर ने रवि को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने रवि को शव को कब्जे में लेकर सोनीपत के सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसे परिजनों के हवाले कर दिया। पुलिस ने रवि के चाचा राजेश की शिकायत पर कार चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।
हरियाणा रोडवेज में परिचालक था रवि
कार की टक्कर से काल का ग्रास बना रवि हरियाणा रोडवेज में परिचालक के पद पर कार्यरत था। उसकी एक साल पहले ही शादी हुई थी। सड़क हादसे में घायल की मदद करना उसके लिए जानलेवा बन गया। रवि की मौत से उसके परिजनों का रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें
रवि का फाइल फोटो। रवि का फाइल फोटो।

एसटीएफ ने तस्करों की निशानदेही पर यूपी के लखीमपुर खीरी में पकड़ी एक हजार किलो चूरापोस्त

एसटीएफ की सोनीपत इकाई ने चूरापोस्त तस्करी के दो आरोपियों की निशानदेही पर यूपी के लखीमपुर खीरी से मादक पदार्थ की बड़ी खेप पकड़ी है। एसटीएफ ने लखीमपुर खीरी के कांट थाना क्षेत्र स्थित गोदाम से एक हजार किलो चूरापोस्त बरामद किया है। हालांकि गोदाम संचालक वहां नहीं मिला। टीम ने मादक पदार्थ को कांट थाना पुलिस को सौंप दिया है।
एसटीएफ ने चार दिन पहले जीटी रोड पर देवीलाल पार्क के पास से यूपी के जिला बाराबांकी के गांव जैतपुर के रामलखन, यूपी के जिला बाराबांकी के गांव पलड़ी के मोहम्मद आतिक, यूपी के जिला सहारनपुर के सारून व अली हसन को काबू कर उनके कब्जे से 1325 किलो चूरापोस्त बरामद की थी। आरोपी ट्रक के अंदर बोरियां भरकर उन पर प्लास्टिक कैरेट रखकर लाए थे। पूछताछ में पता लगा था कि वह मादक पदार्थ यूपी के लखीमपुर खीरी के शाहजहांपुर से लेकर आए थे। पुलिस ने अली हसन व एक अन्य को रिमांड पर लेने के बाद जब उनके बताए गए स्थान कांट थाना क्षेत्र के ददरौल रोड स्थित बंद फैक्टरी में बनाए गोदाम में दबिश दी तो एक हजार किलो चूरापोस्त मिली। एसटीएफ ने कांट थाना प्रभारी वीरेंद्र प्रसाद व डीएसपी स्तर के अधिकारी को साथ लेकर दबिश दी थी, जिस पर वहां से बरामद माल को कांट पुलिस को सौंप दिया था। फैक्टरी किसी प्रमोद अग्रवाल की थी, जिसके बेटे अनुराग ने पुलिस को बताया था कि उन्होंने गोदाम को कुंडरिया गांव के पप्पू को किराए पर दे रखा था। पप्पू ने गोदाम धनिया व हल्दी का काम करने के लिए किराए पर लिया था। कांट पुलिस ने पप्पू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
मादक पदार्थ तस्करी के आरोप में गिरफ्तार दो आरोपियों की निशानदेही पर कांट थाना क्षेत्र के गोदाम से एक हजार किलो चूरापोस्त बरामद किया है। जिसकी कीमत करीब 45 लाख रुपये है। मामले को लेकर कांट थाना में ही मुकदमा दर्ज कराया गया है। साथ ही बरामद माल को कांट पुलिस को सौंप दिया गया। मादक पदार्थ तस्करी के खिलाफ सख्ती से अभियान चलाया जाएगा। - सतीश देशवाल, एसटीएफ प्रभारी, सोनीपत।
... और पढ़ें

राजू बसौदी थाईलैंड से चला रहा था गैंग, गुर्गों से करानी थी कई रसूखदारों की हत्या

कुख्यात राजू बसौदी अपने गैंग के जरिये दहशत फैलाने में लगा था। राजू बसौदी को अपने गैंग से कई रसूखदारों की हत्या करानी थी। एसटीएफ के रिमांड के दौरान यह सामने आया है कि वह दहशत फैलाना उगाही करना ही गैंग का मकसद था। अब एसटीएफ उन लोगों की लिस्ट तैयार कर रही है जिन पर राजू बसौदी को हमला कराना था। सामने आया है कि राजू बसौदी गैंग को चलाने के लिए करोड़ों रुपये उगाही करता था। सोनीपत से भी 20 से ज्यादा लोगों से राजे बसौदी गैंग उगाही कर रहा था।
एसटीएफ ने 4.80 लाख के इनामी कुख्यात राजू बसौदी को थाईलैंड से आते ही दिल्ली एयरपोर्ट से काबू कर लिया था। उस पर 13 हत्या व चार हत्या के प्रयास समेत 30 मामले दर्ज हैं। राजू बसौदी फिलहाल लारेंस बिश्नोई, संपत नेहरा व काला जठेड़ी के गैंग को थाईलैंड में रहकर चला रहा था। गैंग हरियाणा, पंजाब व दिल्ली में दहशत फैलाकर उगाही करता था। बसौदी को एसटीएफ ने राई थाना के फिरौती मांगने के मामले अदालत में पेश कर दस दिन के रिमांड पर ले रखा है।
एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि राजू बसौदी गैंग कई रसूखदारों की हत्या का षड्यंत्र रच रहा था। यह लिस्ट काफी बड़ी बताई जा रही है, जिसके चलते पुलिस दहशत बढ़ने से रोकने के लिए इस लिस्ट के बारे में कोई जानकारी नहीं दे रही है। राजू बसौदी अपने गुर्गों से थाईलैंड में रहने के बावजूद बड़ी वारदात करा देता था। यहीं कारण है कि गैंग के सदस्य ताबड़तोड़ फायरिंग कर वारदात को अंजाम देते हैं, जिससे लोगों में गैंग को लेकर भय बने और वह उनसे आसानी से वसूली कर सके।
जिले में 20 से ज्यादा लोगों से की जा रही थी वसूली
राजू बसौदी गैंग अपना खर्च चलाने के लिए लोगों को डराकर उनसे वसूली करता था। गैंग सै से ज्यादा लोगों से वसूली करता था। एसटीएफ की पूछताछ में जिले से भी करीब 20 लोगों से वसूली किए जाने का पता लगा है। इनमें रेत खनन, शराब कारोबारी, बुकी और कई बड़े रसूखदार लोग शामिल है। विरोध करने पर गैंग के सदस्य उसकी हत्या कर देते थे। एसटीएफ ऐसे लोगों के नाम की लिस्ट भी तैयार कर रही है। जिनसे वसूली की जाती थी।
हाई प्रोफाइल जिंदगी का सपना दिखाकर नाबालिगों को करते है शामिल
बताया गया है कि गैंग में 16 से 18 साल के नाबालिगों को शामिल किया जाता था। इसके पीछे मकसद बताया जा रहा है कि एक तो उन्हें अपराध करने के दौरान सजा कम मिलती है दूसरा उनका अपने साथ शामिल करना गैंग के लिए आसान होता है। गैंग के सदस्य किशोरों को अपनी हाई प्रोफाइल जीवन शैली दिखाकर उन्हें भी गैंग में शामिल कर देते थे। जिसके बाद उनसे ही अपराध कराते थे।
राजू बसौदी से लगातार पूछताछ की जा रही है। उससे बारीकी से पूछताछ की जाएगी। गैंग का मुख्य धंधा वसूली का रहा है। इसके लिए वह हत्या करने से भी पीछे नहीं हटते। जिले में भी कई लोगों से वसूली किए जाने का पता लगा है।
- सतीश देशवाल, एसटीएफ प्रभारी सोनीपत।
... और पढ़ें

दिल्ली से कटड़ा जा रही हरियाणा रोडवेज की बस हादसाग्रस्त, चालक-परिचालक की मौत, सात गंभीर घायल

रविवार (16 फरवरी) सुबह करीब चार बजे जालंधर-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर मुकेरियां के कस्बा भंगाला के जंडवाल मोड़ पर हरियाणा रोडवेज की बस संतुलन बिगड़ने से सफेदे के पेड़ से जा टकराई। हादसे में बस चालक व कंडक्टर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि बस में सवार कुल 8 यात्री बुरी तरह से घायल हो गए जिन्हे सिविल अस्पताल मुकेरियां में भर्ती करवाया गया।

जानकारी के अनुसार हरियाणा रोडवेज की बस (एचआर-67 बी 9586) दिल्ली से कटड़ा जा रही थी। बस होशियारपुर के जंडवाल मोड़ पर पहुंची तो उसका संतुलन बिगड़ गया और सड़क किनारे सफेदे के पेड़ से जा टकराई। हादसे में बस चालक सलीमदीन (45) निवासी सोनीपत व कंडक्टर कृष्ण कुमार (42) पुत्र सुखवीर निवासी गांव मनाना, पानीपत की मौके पर ही मौत हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि बस बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। वही काफी मुश्किल से शवों को बाहर निकाला गया | 

घायलों में सन्नी (25) पुत्र ओमप्रकाश निवासी रानी तला जम्मू , डैनजन (21) पुत्री डिने निवासी लद्दाख , शामलाल (20) पुत्र अमरनाथ निवासी मनूल कटड़ा ,नोवजन (27) पुत्र टैसी निवासी लद्दाख ,सहवाग (21) पुत्र दोरेन निवासी लश्कर जिला कारगिल ,चारु राम (27) पुत्र व्यास देव निवासी रैली चम्बा हिमाचल, शिवशंकर (30) पुत्र जग्गू निवासी गया बिहार गंभीर रूप से घायल हैं। जिन्हें मुकेरियां के अस्पताल में भर्ती करवाया गया। हादसे की खबर मिलते ही एसडीएम अशोक शर्मा ,तहसीलदार जगतार सिंह ,डीएसपी रविन्द्र सिंह थाना प्रभारी सतिन्द्र सिंह धारीवाल मौके पर पहुंचे। पुलिस घटनास्थल कर पहुंच मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

4.80 लाख का इनामी राजू बसौदी थाईलैंड से लाया गया, एसटीएफ ने दिल्ली एयरपोर्ट से किया काबू

हरियाणा रोडवेज की बस हुई हादसाग्रस्त
एसटीएफ ने 4.80 लाख के इनामी कुख्यात राजू बसौदी को थाईलैंड से आते ही दिल्ली एयरपोर्ट से काबू कर लिया है। कुख्यात राजू बसौदी 13 हत्या व चार हत्या के प्रयास समेत 30 मामलों में नामजद था। राजू बसौदी फिलहाल लारेंस बिश्नोई, संपत नेहरा व काला जठेड़ी के गैंग को थाईलैंड में रहकर चला रहा था। गैंग हरियाणा, पंजाब व दिल्ली में दहशत फैलाकर उगाही जुटाने में लगा है।

गैंग के सदस्य आतंकवादियों की तरह वारदात को अंजाम देने के बाद उसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर इसकी जिम्मेदारी लेते हैं और दहशत फैलाने में लगे हैं। राजू बसौदी को एसटीएफ ने राई थाने के फिरौती मांगने के मामले में काबू कर सोनीपत अदालत में पेश किया। आरोपी को अदालत ने दस दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

एसटीएफ सोनीपत इकाई के प्रभारी सतीश देशवाल ने बताया कि गांव छोटी बसौदी का रहने वाला राजकुमार उर्फ राजू बसौदी लगातार वारदात कर रहा था। वह अपने साथी अक्षय पलड़ा के साथ मिलकर कई वारदातों को अंजाम दे चुका था। कुछ साल से वह राजस्थान के शातिर बदमाश लारेंस बिश्नोई व संपत नेहरा गैंग से जुड़कर लगातार अपराध कर रहा था।

आरोपी की गिरफ्तारी पर हरियाणा व दिल्ली पुलिस ने 4.80 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। आरोपी एसटीएफ की हिट लिस्ट में शामिल था। एसटीएफ ने आरोपी को लेकर लुकआउट नोटिस जारी कर रखा था। सतीश देशवाल ने बताया कि शनिवार को दिल्ली एयरपोर्ट से मिली जानकारी के बाद उसे वहां से गिरफ्तार कर लिया गया।
... और पढ़ें

सड़क हादसे में जीआरपी के एसआई की मौत, तीन अन्य घायल

राई। जीटी रोड पर बहालगढ़ फ्लाईओवर के पास अज्ञात वाहन की टक्कर से आटो पलटने के कारण जीआरपी के एसआई की मौत हो गई। हादसे में तीन अन्य घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना के बाद पहुुंची बहालगढ़ चौकी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। एसआई बिहार के पूर्णिया से लौट रहे थे।
मूलरूप से गोपालपुर फिलहाल बारोटा की ट्यूलिप सिटी में रहने वाले रोहताश सिंह (54) जीआरपी में एसआई के पद पर नियुक्त थे। वह शनिवार सुबह सोनीपत रेलवे स्टेशन के पास से ऑटो में सवार होकर बीसवां मील की तरफ जाने के लिए निकले थे। वह बिहार के पूर्णिया में एक भगौड़े आरोपी के समन चस्पाकर लौटे थे। जब ऑटो बहालगढ़ से दिल्ली रोड पर फ्लाईओवर के पास पहुंचे तो ऑटो को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। जिससे आटो सड़क पर पलट गया। हादसे में रोहताश सिंह की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। घायलों की पहचान यूपी के एटा निवासी जितेंद्र, रवि व हीरालाल के रूप में हुई। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना के बाद पहुंची बहालगढ़ चौकी पुलिस ने एसआई रोहताश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
--
बहालगढ़ फ्लाईओवर के पास अज्ञात वाहन की टक्कर से आटो सवार एसआई की मौत हो गई। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
-अनिल कुमार, चौकी प्रभारी बहालगढ़।
 एसआई रोहताश सिंह। फाइल फोटो।
एसआई रोहताश सिंह। फाइल फोटो।- फोटो : Sonipat
... और पढ़ें

उम्रकैद की सजा काट रहे शख्स ने गोली मारकर की आत्महत्या, पैरोल खत्म होने के बाद आज जाना था वापस

हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे इंडियन कॉलोनी निवासी युवक ने पैरोल पर आकर वापस जाने से चंद घंटे पहले घर के अंदर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। युवक को दिल्ली पुलिस के जवान के बेटे की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी। युवक ने देशी पिस्तौल कनपटी से सटाकर गोली मारी है। जिससे गोली उसके सिर से आर-पार होकर दीवार पर जा लगी। 

परिजन दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे तो युवक की मौत हो चुकी थी। मामले की सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर खानपुर में पोस्टमार्टम कराया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि युवक पैरोल खत्म होने के बाद जेल नहीं जाना चाहता था। इसके चलते ही उसने आत्महत्या की है। पुलिस ने युवक के खिलाफ उसके पिता के बयान पर ही अवैध शस्त्र अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

शहर की इंडियन कॉलोनी के रहने वाले पंकज (22) ने शुक्रवार सुबह करीब पौने आठ बजे अपने कमरे में देशी पिस्तौल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पंकज हत्या के मामले में उम्रकैद का सजायाफ्ता है और वह 21 दिन पहले पैरोल पर घर आया था। शुक्रवार को ही उसे वापस जेल जाना था। उसने जेल जाने से चंद घंटे पहले ही आत्महत्या कर ली। 

घटना से पहले पंकज ने अपने परिजनों से जेल वापस जाने से मना किया था। परिजनों ने उसे समझाने का प्रयास किया तो वह कमरे में घुस गया और अंदर से दरवाजा बंद कर आत्महत्या कर ली। उसने अपनी कनपटी के दाहिने तरफ पिस्तौल सटाकर गोली चला दी। जिससे गोली उसके सिर के आर-पार होकर बाईं तरफ से निकलकर दीवार में जा लगी। 
... और पढ़ें

बाइक सवार से बदमाशों ने 17000 रुपये व सोने की अंगूठी लूटी

मुरथल। गांव रेवली के पास सुनसान रास्ते पर दिनदहाड़े बाइक सवार चार बदमाश एक बाइक सवार को डरा धमकाकर उससे नकदी व सोने की अंगूठी और कागजात लूट लिए। पीड़ित ने मामले की शिकायत मुरथल थाना पुलिस को दी है। पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
सोनीपत के ओमनगर का रहने वाला देवेंद्र सिंह खेतीबाड़ी का काम करता है। देवेंद्र ने पुलिस को बताया कि वह शुक्रवार को अपनी बाइक पर सवार होकर गांव रेवली की तरफ जा रहा था। जब वह गांव रेवली के पास रजवाहा के निकट से गुजर रहा था तो इसी दौरान दो बाइक पर सवार होकर आए चार युवकों ने उसे रोक लिया। युवकों ने उसे डरा धमकाकर उससे 17000 रुपये, सोने की अंगूठी, आधार कार्ड, पेन कार्ड, आरसी व अन्य कागजात छीनकर फरार हो गए। देवेंद्र सिंह ने मामले से पुलिस को अवगत कराया। पुलिस ने जांच के बाद देवेंद्र सिंह के बयान पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीड़ित दोनों बाइकों के नंबर तक नहीं देख सका। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
--
व्यक्ति ने बाइक सवार चार युवकों पर उसे रोककर उसकी अंगूठी, नकदी व अन्य कागजात छीनने का आरोप लगाया है। मुकदमा दर्ज कर लिया है। युवकों का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है।
युद्धवीर सिंह, जांच अधिकारी, थाना मुरथल।
... और पढ़ें

सीआरपीएफ भर्ती फर्जीवाड़ा : परीक्षार्थी से चार लाख रुपये लेकर दूसरे से दिलवाई थी परीक्षा, गिरफ्तार

सोनीपत। सीआरपीएफ भर्ती में हुए फर्जीवाड़े में लिखित परीक्षा पास कराने के लिए चार लाख रुपये लेकर दूसरे से दिलवाने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी गांव बरोदा का रहने वाला सुमित है। पुलिस ने आरोपी को एक दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपी ने बनवासा के रहने वाले अजय के स्थान पर परीक्षा दिलाने के लिए दूसरे को बैठाया था। पुलिस अब उसके बारे में पता लगा रही है।
27 अगस्त, 2019 को भर्ती बोर्ड के चेयरमैन व सीआरपीएफ चंडीगढ़ के द्वितीय कमांडेंट संजय कुमार ने राई थाना में शिकायत दी थी कि ग्रुप केंद्र खेवड़ा में सीआरपीएफ सिपाही भर्ती के लिए लिखित परीक्षा में कई अभ्यर्थियों ने दूसरे से परीक्षा दिलवाई थी। बाद में वह फिजिकल देने खुद आ गए थे। जिस पर डीआईजी (भर्ती), नई दिल्ली की तरफ से पत्र मिला था कि जिन अभ्यर्थियों की बायोमीट्रिक हाजिरी मिलान नहीं कर रही है उन्हें परीक्षा से हटा दिया जाए और उनके खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया जाए। जिस पर राई पुलिस ने अंगूठे का मिलान नहीं होने पर चरखी दादरी के गांव पंडवान के अनिल कुमार, गांव रानीला के योगेश कुमार, पानीपत के गांव जलमाना के सच्चेंद्र तथा भिवानी के गांव खरक खुर्द निवासी सुरेश पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस मामले में गांव गंगाना के प्रदीप, चिढ़ाना के सोनू, गांव भावड़ निवासी मोनू व आजाद, गांव बिधलान के नितिन, झज्जर के गांव लडरावण के धीरज व दुबलधन के देवेंद्र, चरखी दादरी के गांव अचीना टाल के रहने वाले दीपक, विनित, गांव भागेश्वरी का रहने वाले जगबीर, गांव सिसाना का रहने वाले अमित, रोहतक के गांव गिजी के रहने वाले संदीप, बोहर के हिमांशु, गांव बनवासा के अजय व झज्जर के सिलानी गांव के रहने वाले सोनू व पाई गांव के अनिल, पुगथला गांव के सुनील कुमार उर्फ छोटू को पहले काबू कर लिया था।
मामले में अब एसआई रणबीर सिंह की टीम ने गांव बरोदा के रहने वाले सुमित को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी पर आरोप है कि उसने बनवासा गांव के अजय को परीक्षा पास कराने के लिए उससे चार लाख रुपये लिए थे। आरोपी ने बाद में किसी अन्य को अजय के स्थान पर परीक्षा देने के लिए बैठा दिया था। पुलिस ने सुमित को अदालत में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस अब परीक्षा देने वाले का पता लगा रही है।
--
सीआरपीएफ ग्रुप केंद्र में भर्ती परीक्षा पास कराने के लिए धोखाधड़ी करने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। उस पर परीक्षार्थी से चार लाख रुपये लेकर दूसरे से परीक्षा दिलवाने का आरोप है। उसे एक दिन के रिमांड पर लिया है। परीक्षा देने वाले का भी पता लगाकर काबू किया जाएगा।
-रणबीर सिंह, एसआई, थाना राई।
... और पढ़ें

हत्या में उम्रकैद की सजा काट रहे युवक ने पैरोल पर आकर वापस जाने से चंद घंटे पहले गोली मारकर की आत्महत्या

सोनीपत। हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे इंडियन कॉलोनी के रहने युवक ने पैरोल पर आकर वापस जाने से चंद घंटे पहले घर के अंदर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। युवक को दिल्ली पुलिस के जवान के बेटे की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी। युवक ने देशी पिस्तौल कनपटी से सटाकर गोली मारी है। जिससे गोली उसके सिर से आर-पार होकर दीवार पर जा लगी। परिजन दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे तो युवक की मौत हो चुकी थी। मामले की सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर खानपुर में पोस्टमार्टम कराया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि युवक पैरोल खत्म होने के बाद जेल नहीं जाना चाहता था। इसके चलते ही उसने आत्महत्या की है। पुलिस ने युवक के खिलाफ उसके पिता के बयान पर ही अवैध शस्त्र अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
शहर की इंडियन कॉलोनी के रहने वाले पंकज (22) ने शुक्रवार सुबह करीब पौने आठ बजे अपने कमरे में देशी पिस्तौल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पंकज हत्या के मामले में उम्रकैद का सजायाफ्ता है और वह 21 दिन पहले पैरोल लेकर घर आया था। शुक्रवार को ही उसे वापस जेल जाना था। उसने जेल जाने से चंद घंटे पहले ही आत्महत्या कर ली। घटना से पहले पंकज ने अपने परिजनों से जेल वापस जाने से मना किया था। परिजनों ने उसे समझाने का प्रयास किया तो वह कमरे में घुस गया और अंदर से दरवाजा बंद कर आत्महत्या कर ली। उसने अपनी कनपटी के दाहिने तरफ पिस्तौल सटाकर गोली चला दी। जिससे गोली उसके सिर के आर-पार होकर बाईं तरफ से निकलकर दीवार में जा लगी। गोली की आवाज सुनकर परिजनों ने दरवाजा तोड़ा और अंदर गए तो वह मृत पड़ा था। उन्होंने मामले से पुलिस को अवगत कराया। सूचना के बाद पहुंची सिटी थाना पुलिस ने मामले की जांच की। पुलिस ने एफएसएल की टीम को मौके पर बुलवाया। बाद में शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल में भिजवाया। बाद में खानपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने युवक के पिता के बयान पर ही उसके खिलाफ अवैध शस्त्र अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
दिल्ली पुलिस के जवान के बेटे की हत्या में हुई थी उम्रकैद
आत्महत्या करने वाले पंकज को मालवीय नगर गली नंबर 1 निवासी दिल्ली पुलिस के जवान जोगिंद्र सिंह के इकलौते बेटे मोहित (22) की हत्या का आरोप था। उसने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर 29 अक्तूबर 2016 को द्वितीय वर्ष के छात्र मोहित की हत्या की थी। पंकज व उसके तीन साथी पंकज कुमार निवासी गढ़ी ब्राह्मणान, नवीन व अनिल निवासी मयूर विहार पर आरोप था कि वह घटना के दिन किसी अंगद नाम के युवक को पीट रहे थे। मोहित उसे बचाने लगा तो उन्होंने उसकी हत्या कर दी थी। चारों को अदालत ने 16 फरवरी, 2018 को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। जिसके बाद से पंकज भौंडसी जेल में सजा काट रहा था।
पैरोल आज खत्म हुआ था
पंकज के परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह 21 दिन पहले पैरोल लेकर भौंडसी जेल से वापस आया था। उसे शुक्रवार को वापस जाना था। उसने सुबह परिजनों से कहा था कि वह जेल में नहीं जाना चाहता। जिस पर परिजनों ने उसे समझाया था। उसके बावजूद वह परिजनों को मना कर कमरे में घुस गया था। उसने अंदर जाकर आत्महत्या कर ली थी।
दो बहनों का इकलौता भाई था पंकज
कमरे के अंदर घुसकर आत्महत्या करने वाला पंकज भी दो बहनों का इकलौता भाई था। उसकी बड़ी बहन की शादी हो चुकी है और छोटी बहन उसके माता-पिता के पास रहती है। पंकज के पिता कुलदीप सिंह निजी एंबुलेंस चलाते हैं। घटना के बाद परिवार में मातम का माहौल है।
चार-पांच दिन बाहर रहकर कल आया था घर
पुलिस के अनुसार पंकज पैरोल पर आने के बाद कुछ दिन तक अपने घर रहा था। वहीं चार-चार दिन पहले वह बाहर चला गया था। उसके बाद वह वीरवार को ही घर आया था। वह इसी दौरान कहीं से पिस्तौल अपने साथ ले आया और सुबह आत्महत्या कर ली।
--
जेल से पैरोल लेकर इंडियन कॉलोनी में अपने घर आए युवक ने देशी पिस्तौल से आत्महत्या कर ली है। उसके शव का खानपुर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया है। युवक के खिलाफ अवैध शस्त्र का मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।
-सत्यवान, थाना प्रभारी सिटी सोनीपत।
 इंडियन कालोनी में सजायाफ्ता कैदी के आत्महत्या करने के मामले में युवक के पिता से बातचीत करते थाना
इंडियन कालोनी में सजायाफ्ता कैदी के आत्महत्या करने के मामले में युवक के पिता से बातचीत करते थाना- फोटो : Sonipat
पंकज का फाइल फोटो।
पंकज का फाइल फोटो।- फोटो : Sonipat
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us