विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हिमाचल में 1500 शिक्षकों को बड़ी राहत, पुरानी पेंशन योजना में होंगे शामिल

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में नियुक्त करीब 1500 शिक्षकों को प्रदेश सरकार ने बड़ी राहत देते हुए पुरानी पेंशन योजना में शामिल करने का फैसला ले लिया है।

13 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

बिलासपुर

शुक्रवार, 13 दिसंबर 2019

गुस्साई ठेकेदार यूनियन ने रोका फोरलेन निर्माण का कार्य

स्वारघाट(बिलासपुर)। कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन निर्माण के दौरान कार्य में लगी कंपनी की ओर से लीज होल्डर, ट्रांसपोर्टर तथा ठेकेदारों के करोड़ों रुपये अदा न करने पर गुस्साएं लोगों ने मंगलवार को गरामोड़ा के पास लगे फोरलेन कार्य को रुकवा दिया। हालांकि सूचना मिलते ही स्वारघाट पुलिस भी मौके पर पहुंची लेकिन गुस्साएं लोगों ने मौके पर से जेसीबी मशीनों, ट्रकों सहित अन्य मशीनों और कर्मचारियों को वापस पंजाब भेज दिया। वहीं मौके पर एनएचएआई और तत्कालीन कंपनी के खिलाफ जम कर नारेबाजी है।
उल्लेखनीय है कि उक्त लोगों ने सोमवार को बिलासपुर में सरकार और प्रशासन के खिलाफ जम कर हल्ला बोला। हालांकि पहले पैसों की अदायगी के लिए उपायुक्त की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक एडीएम, डीआरओ, आईटीएनएल कंपनी अधिकारी और एनएचएआई के पीड़ी भी मौजूद रहे लेकिन तमाम दावों के बाद भी सोमवार को भी उक्त लोगों के पैसे कैसे अदा होंगे और कौन अदा करेगा पर कोई बात नहीं बन पाई। इसके बाद उक्त लोगों ने पहले उपायुक्त कार्यालय में जम कर हल्ला बोला। वहीं बैठक में उपस्थित सभी लोगों ने उपायुक्त के कार्यालय का घेराव कर लिया था। इसके बाद बस अड्डे पर चक्का भी जाम किया था।
इसी कड़ी में कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन ठेकेदार यूनियन के द्वारा कैंची मोड़ में फोरलेन के चले हुए काम को रुकवाया है और कहा जब तक देनदारी अदा नहीं की गई तब तक हिमाचल प्रदेश में जहां-जहां एनएचआई के काम चले हुए हैं वहां पर ठेकेदार यूनियन ऐसे ही काम बंद करवाएगी।
इसी कड़ी में बुधवार को मंडी जिला में जाकर जड़ोल में जहां पर कार्य चला हुआ है वहां पर भी कार्य को बंद करवाया जाएगा। एनएचएआई के जो अधिकारी हैं उनके दफ्तरों का घेराव किया जाएगा। यूनियन ने कहा है कि अब लड़ाई आर-पार की लड़ी जाएगी चाहे चक्का जाम करने की स्थिति हो यह एनएचएआई के अधिकारियों का घेराव की बात हो यूनियन अब किसी भी स्थिति में पीछे हटने वाली नहीं है।
इस अवसर पर फोरलेन ठेकेदार यूनियन के जिला प्रधान विवेक कुमार, जिला मंडी के अध्यक्ष दिनेश सैनी, प्रदेश के महासचिव नितिन महाजन तरुण कोड़ा, रवि कपूर अभिषेक भारद्वाज, सुमित चंदेल, प्रेम राव, मान सिंह धीमान, सुमित चंदेल आदि उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

चिट्टे के साथ युवक गिरफ्तार, मामला दर्ज

घुमारवीं(बिलासपुर)। सुरक्षा शाखा बिलासपुर टीम थाना घुमारवीं के अंतर्गत घुमारवीं से कुठेड़ा सड़क मुकाम पन्याला में मौजूद थे तो एक लड़का नीचे की तरफ से मुख्य सड़क की ओर आ रहा था। लड़का पुलिस को अपनी तरफ आता देखकर घबरा गया जिसका नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम रोबिन मेहता पुत्र रविंद्र सिंह मेहता गांव व डाकघर मसौर तहसील घुमारवीं जिला बिलासपुर हिमाचल प्रदेश उम्र 22 बताया। उसने शाल के अंदर से अपना दाहिना बाजू निकालकर सड़क किनारे कुछ सामान डिबिया व लाइटर गिरा दिया तथा जंगल की तरफ भागने का प्रयास करने लगा जिसे पुलिस टीम ने पकड़ लिया तथा डिबिया को चेक किया तो उसमें 3.54 ग्राम चिट्टा तथा फोइल पेपर आदि बरामद किया गया। इस पर रोबिन मेहता के खिलाफ धारा 21 एनडीपीएस एक्ट में पंजीकृत किया गया। घुमारवीं थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही हैं। डीएसपी राजेंद्र कुमार जसवाल ने मामले की पुष्टि की है। ... और पढ़ें

एनएचएआई ने माना भूमि अधिग्रहण प्लान में हुआ बदलाव

बिलासपुर। कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन निर्माण के दौरान भूमि-अधिग्रहण प्लान में बदलाव किया गया है यह बात अब एनएचएआई के अधिकारियों ने भी स्वीकार कर ली है। हालांकि पूर्व में वन विभाग के अधिकारियों ने इस संबंध में एनएचएआई को नोटिस जारी किए थे लेकिन उस दौरान एनएचएआई अपनी गलती मानने को तैयार नहीं था। हाल ही में उपायुक्त के हस्तक्षेप के बाद एनएचएआई ने अपनी गलती मान ली है। अब उपायुक्त बिलासपुर राजेश्वर गोयल ने दोनों संबंधित विभागों को आपस में बातचीत कर कमियों का नियम अनुसार सुधार जल्द करने को कहा है।
उल्लेखनीय है कि कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन निर्माण के दौरान कई किलोमीटर तक भूमि अधिग्रहण प्लान बदला गया था। इसके लिए किसी भी प्रकार की मंजूरी नहीं ली गई थी। वहीं शिकायत के बाद वन विभाग ने भी जांच में पाया था कि भूमि अधिग्रहण प्लान बदला गया है। इसके बाद कई बार इस मामले को लेकर एनएचएआई को नोटिस जारी किए गए थे लेकिन एनएचएआई ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया था। अब उपायुक्त के साथ हुई बैठक में उक्त मामला उठा। इसके बाद उपायुक्त के हस्तक्षेप के बाद एनएचएआई ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया है।
गौर रहे कि भूमि अधिग्रहण प्लान बदल जाने के कारण कई लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। फोरलेन विस्थापित एवं प्रभावित समिति के महासचिव मदन लाल शर्मा ने बताया कि इस कारण लोगों को आज तक अपनी शेष बची भूमि तक की जानकारी नहीं मिल पा रही है। समिति ने उपायुक्त से मांग की है कि इस मामले की जल्द से जल्द जांच करवा कर लोगों को राहत प्रदान करें।
... और पढ़ें

एटीएम बदल ठगी करने वाले गिरोह के सदस्य गिरफ्तार

घुमारवीं (बिलासपुर)। एटीएम बदल कर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने उत्तराखंड से गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने घुमारवीं में भी एक महिला के खाते से एटीएम बदल कर 80 हजार रुपये उड़ाने के मामले में पुलिस ने उत्तराखंड के आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने एटीएम में महिला की सहायता करने के नाम पर एटीएम कार्ड ही बदल दिया। इसके बाद महिला के खाते से आरोपियों ने 80 हजार रुपये निकाल लिए, जिसके बाद महिला की शिकायत पर घुमारवीं थाना में मामला दर्ज किया गया था। पुलिस को अंदेशा है कि आरोपी अन्य कई मामलों में भी संलिप्त है।
जानकारी के अनुसार घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र की एक महिला ने घुमारवीं थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी कि दिनांक 29 अप्रैल 2019 को वह अपने खाते से एटीएम के माध्यम से पैसे निकाल रही थी। इसी दौरान वहां मौजूद अन्य लड़कों ने उसकी सहायता करने के लिए कहा और उनका एटीएम कार्ड बदल दिया गया। इसका पता उसे तब चला जब मोबाइल पर संदेश आने शुरू हुए थे।
जब संदेश आने शुरू हुए तो तुरंत प्रभाव से थाना घुमारवीं में बबीता गर्ग निवासी भपराल तहसील घुमारवीं की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। जिस पर घुमारवीं थाना पुलिस ने भादंसं की धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया था।
शिकायत के बाद पुलिस की टीम गठित की गई। इसमें सहायक उप निरीक्षक हंसराज, मुख्य आरक्षी दौलत राम,आरक्षी राकेश कुमार, संजय कुमार तथा आरक्षी अभिषेक मौजूद थे। उन्होंने मुकदमे में वांछित आरोपी संजीव कुमार पुत्र ब्रह्मपाल, विजेंद्र कुमार पुत्र दिलीप सिंह निवासी धनपुरा हरिद्वार, मोनू कुमार पुत्र सुरेश कुमार कृष्णा नगर रुड़की उत्तराखंड को गिरफ्तार कर लिया है। जिन्हें अदालत में पेश करने की प्रक्रिया घुमारवीं पुलिस की ओर से शुरू कर दी गई है। डीएसपी राजेंद्र कुमार जसवाल ने बताया की पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

अब आनन फानन में खोले गए वार्ड लगाए 9 बिस्तर

घुमारवीं(बिलासपुर)। घुमारवीं अस्पताल को 100 बिस्तर का दर्जा देकर उद्घाटन करने के बाद 50 बिस्तर उठाने के बाद अब प्रशासन ने एक बार फिर से अस्पताल में आनन-फानन में नौ बिस्तर लगा कर वार्ड खोल दिए हैं। हालांकि उद्घाटन के बाद से जहां 50 बिस्तरों को उठाने के बाद जिला अस्पताल भेज दिया गया था, वहीं वार्ड भी बंद कर दिए थे। इस संबंध में अमर उजाला में खबर छपने के बाद विभाग ने हरकत में आते हुए जहां बंद वार्ड खोल दिए हैं। वहीं, आनन-फानन में इन वार्डों में 9 बिस्तर भी लगा दिए हैं।
उल्लेखनीय है कि जिस दिन स्वास्थ्य मंत्री ने घुमारवीं अस्पताल को 50 बिस्तर से 100 बिस्तर कर उद्घाटन किया गया है। उस दिन महिला और पुरुष वार्ड में बिस्तर लगाए गए थे। इस दौरान जिला मुख्यालय के अस्पताल से 50 अतिरिक्त लाए गए थे तथा उद्घाटन के बाद ही 50 बिस्तरों में से 45 वापस लौटा दिए गए हैं। इस खबर को अमर उजाला ने प्रमुखता के साथ उठाया था।
उद्घाटन के समय मंत्री की ओर से जिन महिला और पुरुष वार्डों का उद्घाटन के समय निरीक्षण किया गया था। उसके बाद उन वार्डों में ताले जड़ दिए गए हैं तथा घुमारवीं अस्पताल को 50 से सौ बेड का कर दिया गया है।
हर किसी के जहन में सवाल यह उत्पन्न होता है कि मंत्री को सिर्फ खुश करने के लिए और दिखाने के लिए जो बिस्तर जिला अस्पताल से लाए गए हैं, उन्हें वापस क्यों किया गया है और वार्डों में मिलने वाली सुविधा से भी लोग वंचित रह रहे हैं तो दिखावा मात्र किस लिए किया गया है।
जब अस्पताल में संबंधित विभाग के अधिकारी बिस्तर तक मुहैया नहीं करवा पा रहे हैं तो 50 बिस्तर से 100 बिस्तरों का किसे फायदा हो रहा है। संबंधित विभाग के आला अधिकारियों ने मंत्री को खुश करने और दिखाने के लिए जो बिस्तर जिला अस्पताल से लाए गए हैं और बाद में उन्हें वापस किया गया है, उनके लाने और लौटाने के लिए सरकारी खजाने का दुरुपयोग किया गया है। उसकी भी जवाबदेही आला अधिकारियों की बनती है। संबंधित विभाग ने वार्डों को तो खोल दिया है और उन वार्डों में चार बिस्तर महिला वार्ड में तथा पांच बिस्तर पुरुष वार्ड में लगाए गए है, लेकिन वे भी पुराने ही है। इतना सब दिखावा करने की क्या जरूरत पड़ गई कि सिर्फ बिस्तर तक भी पूरे न होने पर भी उद्घाटन के लिए क्यों जल्दबाजी दिखाई गई है।
... और पढ़ें

नारी पहले से अधिक सक्षम हुई है उसे और अधिक सक्षम बनना होगा

अमर उजाला ब्यूरो
बिलासपुर। अमर उजाला और बिटिया फाउंडेशन संस्था ने गुंजन संस्था के सहयोग से एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की राष्ट्रीय योजना के तहत राजकीय महाविद्यालय जुखाला में अपराजिता 100 मिलियन स्माइल कार्यक्रम का आयोजन किया। इस मौके पर बच्चों को नशा निषेध के और महिला सशक्तीकरण के बारे में जागरूकता किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज प्राचार्य प्रो. अंजुबाला शर्मा ने की, जबकि कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में बिटिया फाउंडेशन की राष्ट्रीय अध्यक्षा सीमा सांख्यान और एनटीपीसी कोलडैम संगीनी संघ की अध्यक्षा मधुमिता चौधरी विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित रही। वक्ताओं ने कहा कि अभी भी महिलाओं को और सशक्त बनाने की जरूरत है।
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में अपने संबोधन देते हुए स्रोत व्यक्ति विशाल सिंह ठाकुर ने जहां विद्यार्थियों से नशे से जैसी बुराई से दूर रहने का आह्वान किया। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि यदि वे कॉलेज परिसर, स्कूल परिसर या गांव में किसी व्यक्ति को अवैध रूप से नशे की सामग्री बेचते पाएं तो उसकी जानकारी कम से कम अपने घर के किसी बड़े सदस्य को अवश्य दें।
वहीं, बिटिया फाउंडेशन की राष्ट्रीय अध्यक्ष सीमा सांख्यान ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम जैसे बिंदुओं पर विद्यार्थियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि आज की नारी पहले से अधिक सक्षम हुई है उसे और अधिक सक्षम बनना होगा। उसे कन्या भ्रूण हत्या तथा नशे जैसी बुराई की रोकथाम के लिए नारी शक्ति को संगठित होकर अपनी आवाज बुलंद करनी होगी तभी इन बुराइयों को रोका जा सकता है।
वहीं, एनटीपीसी कोलडैम संगीनी संघ की अध्यक्षा मधुमिता चौधरी ने भी नशे के खिलाफ एकजुट होकर संघर्ष करने आह्वान किया। इस शिविर में विद्यार्थियों से समसामयिक विषयों पर उनकी जानकारी के संबंध में प्रश्न भी पूछे गए तथा सही उत्तर देने वाले विद्यार्थियों को बिटिया फाउंडेशन ने उपहार भी प्रदान किए। कार्यक्रम में कॉलेज के 200 विद्यार्थियों ने भाग लिया।
... और पढ़ें

नाइजीरिया के व्यक्ति को दोषी करार देते हुए सजा और जुर्माना

बिलासपुर। न्यायिक दंडाधिकारी निकिता ताहिम की अदालत ने मुक्त कारागार में विचाराधीन कैदी से मारपीट के आरोपी को दोषी करार देते हुए कैद और जुर्माने का सजा सुनाई है। जुर्माना अदा न करने की सुरत में एक साल का अतिरिक्त कारावास दोषी को भुगतान होगा।
जानकारी देते हुए सहायक जिला न्यायवादी बिलासपुर नितेश गौतम ने बताया कि दोषी बेन ऑफर निवासी नाइजीरिया को एफआईआर नंबर 9.19 में धारा 323, 325 भारतीय दंड संहिता के तहत दोषी पाया है। न्यायिक दंडाधिकारी निकिता ताहिम ने अभियुक्त को धारा 323 के तहत 6 महीने की कैद और एक हजार रुपये का जुर्माना अदा करने का आदेश दिया और जुर्माना अदा न करने की सूरत में 15 दिन के अतिरिक्त कारावास की सजा सुनाई है।
जबकि धारा 325 आईपीसी के तहत 2 वर्ष का कारावास और 3 हजार रुपये का जुर्माना अदा करने का आदेश दिया है। वहीं जुर्माना न अदा करने की सूरत में 1 महीने की अतिरिक्त कारावास का आदेश दिया। मौजूदा केस की एफआईआर जेल अधीक्षक बैंसू राम ठाकुर की शिकायत पर दिनांक 3 जनवरी 2019 को दर्ज हुई थी। उनके अनुसार दोषी ने मुक्त कारागार बिलासपुर में विचाराधीन कैदी विद्यासागर से लड़ाई झगड़ा किया । विद्यासागर को इस झगड़े में काफी चोटें आईं थी। जिसकी चार्जशीट पुलिस ने अप्रैल 2019 में माननीय अदालत में पेश की थी।
बेन ऑफर वर्ष 2018 से मादक पदार्थ अधिनियम के तहत कुल्लू में दर्ज एक मुकदमे में विचाराधीन केस के लिए मुक्त कारागार बिलासपुर में बंद था। मौजूदा केस की तफ्तीश मुख्य आरक्षी सुशील कुमार ने की व अभियोजन पक्ष ने दस गवाहों के बयान माननीय अदालत में उपरोक्त के संदर्भ में दर्ज कराए।
... और पढ़ें

मजारी में पकड़ी 900 नशीली दवा की गोलियां

श्री नयना देवी जी(बिलासपुर)। जिला के मजारी क्षेत्र में पुलिस ने नशे की दवाइयों की एक बड़ी खेप पकड़ी है। पुलिस ने नशे की दवा के कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 14 दिसंबर तक के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। डीएसपी श्री नयना देवी संजय शर्मा ने बताया कि पुलिस आरोपी से कड़ी पूछताछ कर रही है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए विचित्र सिंह पुत्र फंगा सिंह निवासी मजारी को रंगे हाथ प्रतिबंधित दवाइयों के साथ पकड़ा है। छानबीन में आरोपी के पास से पुलिस को 900 गोलियां मिली हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी उक्त नशे की दवाइयों की खेप पंजाब राज्य से लेकर आता था। ये दवाइयां युवाओं को महंगे दाम पर बेची जाती थीं। हालांकि आरोपी काफी समय से पुलिस के रडार पर था। पुलिस को वीरवार को सूचना मिली कि आरोपी पंजाब से नशे की दवाइयों की बड़ी खेप लेकर पहुंच रहा है। इसके बाद जैसे ही आरोपी मजारी पहुंचा, पुलिस पहले से ही आरोपी के इंतजार में थी। पुलिस ने मौके पर आरोपी को गिरफ्तार किया। जिसके पास से 900 गोलियां नशे की दवा की बरामद हुई। डीएसपी श्री नयना देवी संजय शर्मा ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसे पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट ने आरोपी को 14 दिसंबर तक के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपी से कड़ी पूछताछ कर रही है। पुलिस पता लगाने में लगी है कि दवा को पंजाब में कहां से लाया गया और आगे किस किस को सप्लाई की जानी थी।
... और पढ़ें

हिमाचल कैबिनेट के फैसले: इतने पदों को भरने की मंजूरी, बेघर लोगों को मिलेगी जमीन

जिले में प्री-प्राइमरी पर खर्च होंगे 2 करोड़ खर्च : पाठक

बिलासपुर। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बिलासपुर स्थित जुखाला में मासिक पुनरीक्षण बैठक का आयोजन प्रधानाचार्य एवं जिला परियोजना अधिकारी राकेश पाठक की अध्यक्षता में किया गया जिसमें डाइट फैकल्टी, खंड आरंभिक शिक्षा अधिकारियों एवं खंड स्रोत केंद्र समन्वयकों सहित सर्व शिक्षा अभियान के कर्मचारियों ने भाग लिया।
इस मासिक पुनरीक्षण बैठक में डाइट की 22 इंटरवेंसन की मदवार चर्चा की गई। लेखा एवं वित्त की खंड स्तर पर चर्चा की गई। बैठक में निष्ठा पोर्टल पर भी चर्चा की गई। इसके साथ यूडाइज डाटा 2018-19 पर भी चर्चा की गई। बैठक में देश राज ने कहा कि दिव्यांग बच्चों के लिए राज्य स्तरीय विज्ञान केंद्र में एक्सपोजर विजिट जनवरी माह में करवाई जाएगी जिसकी तिथि मेल के माध्यम से बता दी जाएगी। राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के तहत पहले 5 स्कूलों की एक्सपोजर विजिट हो चुकी है। अन्य स्कूलों की एक्सपोजर विजिट चरणबद्ध तरीके से ही होगी। उन्होंने कहा कि वोकेशनल वर्कशॉप जनवरी 2020 में आयोजित की जाएगी जिसे जिले के 5 शिक्षा खंडों में करवाया जाएगा।
बैठक में संजय कुमार सामा ने कहा कि प्री-प्राइमरी एक नवाचार कार्यक्रम है। इस पर सरकार द्वारा जिले में एक करोड़ आठ लाख रुपये खर्च किए जा रहे हैं। प्रशिक्षण का कार्य गतिविधियों पर ज्यादा रहेगा। सामा ने कहा कि प्री-प्राइमरी की 2 करोड़ 10 लाख रुपये की किस्त प्राप्त हो चुकी है जिसे खंड स्रोत केंद्र समन्वयकों के माध्यम से संबंधित प्री-प्राइमरी स्कूलों तक भेज दिया जाएगा। बैठक में कुलदीप चंद ने कहा कि राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के तहत 18 स्कूल चयनित हैं और 90 स्कूलों के लिए पैसा हमारे पास आ चुका है। वहीं योजना के तहत 1500 रुपये प्रति स्कूल दिया जाएगा।
... और पढ़ें

लेनदारों ने की तलाई सहकारी सभा सीमित की आम सभा करवाने की मांग

बरठीं(बिलासपुर)। करोड़ों रुपये के घोटाले वाली तलाई सहकारी सभा सीमित की आमसभा करवाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। आमसभा में वर्ष भर का लेखा जोखा अमानतदारों को बताया जाता है। आमसभा वर्ष में एक बार होती है लेकिन वर्तमान में सहकारी सभा की आमसभा को लगभग डेढ़ वर्ष हो चुका है।
उल्लेखनीय है कि करोड़ों रुपये का गोलमाल करने के बाद सहकारी सभा अपना लेखा जोखा आमसभा में लाभ में दिखाती आई है। इस कारण अमानतदार शांत बैठे रहे और सभा में अपना पैसा जमा करवाते रहे। गत वर्ष के ऑडिट में जब सहकारी सभा के लेखे जोखे में करोड़ों रुपये के घोटाले का पर्दाफास हुआ तो जमाकर्ता आग बबूले हो गए। गत कई वर्षों से सभा के पैसे को गोल करने का धंधा चल रहा था लेकिन गत वर्ष के ऑडिट में यह घोटाला 33 करोड़ रुपये के करीब पहुंचा था लेकिन चालू वर्ष में यह 38 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है।
संघर्ष समिति अमानतदार तलाई सहकारी सभा सीमित के प्रधान प्रकाश चंद बन्याल की अगुवाई में आज हुई बैठक में सहायक पंजीयक व सरकार से तलाई सभा की आमसभा करवाने का प्रस्ताव पारित किया गया। उन्होंने बताया कि यह आमसभा जुलाई माह में होनी थी लेकिन पांच माह बीत जाने के बाद भी आमसभा करवाने के बारे में कोई भी पहल सरकार या विभाग की ओर से नहीं की जा रही है। जबकि पूर्व समिति को निलंबित कर दिया गया है और समिति के पदाधिकारी करोड़ों के घोटालेबाज सचिव का सहयोग करने के आरोप में जेल में रह चुके हैं।
बैठक में यह भी निर्णय हुआ कि जो संघर्ष समिति व सहायक पंजीयक बिलासपुर की ओर से जो समिति अस्थायी तौर पर बनाई थी उसके द्वारा बनाए गए नियमों की अवहेलना न की जाए क्योंकि वह लोगों के हितों की रक्षा के लिए बनाए गए थे। उन्होंने बताया कि विभाग की ओर से सभा का कार्यभार देखने के लिए जो प्रशासक की नियुक्ति की है उनकी कार्यालय में निरंतर उपस्थिति दर्ज हो ताकि कार्यालय का कार्य प्रभावित न हो। बैठक में संघर्ष समिति और अस्थायी तौर पर जो समिति बनाई गई थी उसके सदस्यों सहित अमानतदार उपस्थित थे।
... और पढ़ें

झंडूता पुलिस ने दवाइयों की दुकानों पर की छापामारी

झंडूता(बिलासपुर)। नशा निवारण अभियान के तहत पुलिस ने क्षेत्र के झंडूता बाजार, समोह, गेहड़वीं, सेर बरोहा में केमिस्ट, ड्रगिस्ट, क्लिनिक लैब, डेंटल क्लिनिक पर छापामारी की।
थाना प्रभारी झंडूता प्रीतम शर्मा ने बताया कि उन्होंने अपनी टीम सहित सभी दुकानों में एक महीने के अंतराल में दूसरी बार चेकिंग की गई तथा इनको चलाने वाले दुकानदारों व चिकित्सकों को हिदायत दी गई कि वह किसी भी तरह की नशीली दवाई न रखें और न ही बेचें। इसके अलावा उन्होंने बताया कि बिना चिकित्सक की पर्ची के बिना किसी को भी डिस्पोजल सिरिंज न दें। उन्होंने सख्त हिदायत दी कि ऐसा करता हुआ कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। प्रीतम चंद शर्मा ने बताया कि थाना क्षेत्र के तहत आने वाले सभी दवाइयों की दुकानों की चेकिंग की गई है लेकिन अभी तक कोई भी नशीली व अवैध दवाई नहीं पाई गई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election