विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अंग्रेजों के वफादार थे सावरकर, हर महीने दलाली के बदले लेते थे 60 रुपये : देसाई

कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई ने वीर सावरकर को अंग्रेजों का वफादार बताया।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चम्बा

सोमवार, 17 फरवरी 2020

तेज रफ्तार वाहन चालकों की रफ्तार पर यातायात पुलिस लगा रही लगाम

स्वास्थ्य टीम ने तीन खाद्य तेल तो एक प्रोटीन पाउडर का भरा सैंपल

चंबा। साहो में वीरवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दबिश देकर चार खाद्य पदार्थों के सैंपल भरे हैं। इन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजा जाएगा। इसके साथ ही टीम ने होटलों और ढाबों में सफाई व्यवस्था को भी जांचा।
जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक आनंद की अगुवाई में वीरवार को स्वास्थ्य टीम ने साहो में दबिश दी। इस दौरान मेडिकल स्टोर से स्वास्थ्य टीम ने प्रोटीन पाउडर का सैंपल भरा। साथ ही किराना स्टोर से तीन सैंपल खाद्य तेल के भरे। सैंपल भरने के बाद स्वास्थ्य टीम ने ढाबों, होटलों और हलवाई की दुकानों में दबिश दी।
इस दौरान उन्होंने हलवाइयों और ढाबा संचालकों को सफाई व्यवस्था सुधारने के दिशा निर्देश दिए। जिससे लोगों को स्वच्छ और गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो सकें।
मिठाइयों के निर्माण में रंगों का इस्तेमाल न करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि मिठाई में डाले जाने वाला रंग लोगों की सेहत पर बुरा असर डाल सकता है। स्वास्थ्य विभाग के पास साहो में बिकने वाले खाद्य पदार्थों को लेकर लंबे समय से शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद विभागीय टीम ने वीरवार को कार्रवाई को अंजाम दिया है।
जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक आनंद ने बताया कि साहो में चार खाद्य पदार्थों के सैंपल भरे गए हैं। इनकी जांच कंडाघाट स्थित प्रयोगशाला में होगी। रिपोर्ट आने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

20वें जनमंच कार्यक्रम में उद्योग मंत्री ने लगाई विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों की क्लास

चंबा। भलेई में 20वें जनमंच कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने जनहित के मुद्दों को लटकाने और सरकारी योजनाओं का लाभ लाभार्थियों तक न पहुंचाने पर विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों की जमकर क्लास लगाई। जनमंच कार्यक्रम में उद्योग मंत्री के समक्ष महिलाओं ने बताया कि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत निशुल्क गैस कनेक्शनों के साथ उन्हें चूल्हे नहीं मिले हैं। इस पर उद्योग मंत्री ने सरकारी योजनाओं का लोगों को उचित लाभ प्रदान करवाने की अधिकारियों-कर्मचारियों को नसीहत दी। उन्होने कहा कि जनमंच कार्यक्रम लोगों की समस्याओं के निदान करवाने के लिए ही आरंभ करवाया गया है। ऐसे में सभी अधिकारी/कर्मचारी अपने-अपने विभागों संबंधी सभी आंकड़े अपडेट रखें।
ग्राम पंचायत ब्रंगाल के बाशिंदों ने समस्या उठाते हुए कहा कि किसानों की सहूलियत के लिए वर्ष 1998 में कूलह का निर्माण किया गया था। मगर एक वर्ष तक कूहल में पानी नहीं आया है। लोगों ने बताया कि कूहल के बंद होने से किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। उद्योग मंत्री ने आईपीएच विभाग के एसडीओ, एक्सईएन को मामले की तफ्तीश करने और कूहल को सुचारु करवाने संबंधी निर्देश दिए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने उद्योग मंत्री को बताया कि राजकीय महाविद्यालय भलेई 2015 में खोला गया है।
बावजूद इसके महाविद्यालय भलेई के पास अपना का भवन नहीं है। इस कारण खस्ताहाल भवन में ही कक्षाएं चल रही हैं। कहा कि महाविद्यालय में हिंदी, राजनीति शास्त्र सहित कई अहम पद रिक्त पड़े हैं। उद्योग मंत्री ने विद्यार्थियों की समस्याओं को देखते हुए शिक्षा विभाग के सचिव से बात कर डेपुटेशन पर महाविद्यालय भलेई में प्रवक्ताओं को भेजने का आश्वासन दिया। ग्राम पंचायत भुनाड़ के बाशिंदों ने बताया कि गांव में 52 परिवार रहते हैं।
इन गांवों के लोगों को अपना पटवार वृत्त न होने से ग्रामीण 48 किलोमीटर का सफर तयकर अपने कार्य करवाने के लिए चंडी पटवार वृत्त का रुख करना पड़ रहा है। जनमंच के दौरान उद्योग मंत्री के समक्ष भडेला निवासी कुलदीप ने बताया कि भूस्खलन से उसके मकान में दरारें आ गईं थी। साथ ही गोशाला भी क्षतिग्रस्त हो चुकी है। इस बारे में पंचायत प्रधान, पटवारी ने उनके घर का दौरा कर रिपोर्ट तैयार की थी। बावजूद इसके अभी तक उन्हें सहायता राशि नहीं मिल पाई है। उन्होंने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर पर भी शिकायत की थी। उद्योग मंत्री ने राजस्व विभाग के कानूनगो और पटवारी को प्रभावित को हर संभव सहायता प्रदान करवाने के निर्देश दिए। सेरी पंचायत के हाकम सिंह ने बताया कि पीएमजीएसवाई के तहत डंडी गांव से लेकर भडेई सर्वे हुआ था। सड़क निर्माण के बाद उनकी सौ मीटर जमीन भूस्खलन से नष्ट हो गई है।
इसके साथ ही आने वाले समय में भी भूस्खलन संबंधी खतरा उन्हें सताता रहता है। मंत्री ने प्रभावित ग्रामीणों की समस्या का समाधान करने के निर्देश लोनिवि अधिकारियों को जारी किए हैं। उद्योग मंत्री ने कृषि, बागवानी विभाग, श्रम विभाग सहित सभी विभागों के अधिकारियों को गांवों में शिविरों का आयोजन कर लोगों को सरकारी योजनाओं के बारे में जागरूक करने के निर्देश जारी किए। जनमंच में भटियात विधायक विक्रम सिंह जरयाल, भाजपा जिलाध्यक्ष योगराज शर्मा, जिला मार्केट कमेटी अध्यक्ष डीएस ठाकुर, जिलाधीश चंबा विवेक भाटिया, पुलिस अधीक्षक डॉ. मोनिका सहित विभिन्न विभिन्न अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।
90 दिन मनरेगा में काम करने वालों को मिलें कामगार बोर्ड के लाभ
मनरेगा में 90 दिनों का रोजगार पूरा करने वाले कामगारों को कामगार बोर्ड का लाभ अवश्य मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनमंच के लिए चुनी आठ पंचायतों ब्रंगाल, भनाड, कन्गेड़, नडल, ओहरा, सिमणी, वांगल और भलेई के 433 मनरेगा कामगारों ने 90 दिनों का रोजगार पूरा किया है, उनको कामगार बोर्ड की तरफ से मिलने वाले लाभ को लेकर प्रभावी कदम उठाए जाएं।
जनमंच कार्यक्रम में लोगों को विभिन्न तरह के 45 प्रमाणपत्र प्रदान करने के अलावा 37 व्यक्तियों की आधार रजिस्ट्रेशन का कार्य भी पूरा किया गया। मेडिकल बोर्ड ने 13 दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाए गए। स्वास्थ्य विभाग ने स्थापित शिविर में 145 जबकि आयुर्वेद विभाग के शिविर के माध्यम से 80 लोगों के स्वास्थ्य जांच हुई।
जनमंच के बीच में उद्योग मंत्री के भाषण के बाद लोग उठकर चलना शुरू हुए तो उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने लोगों को बताया कि बैठे-बैठे थकने के कारण ही उन्होंने अपना संबोधन दिया। जब तक लोगों की शिकायतों का समाधान नहीं होगा जनमंच चलता रहेगा।
... और पढ़ें

कोड से विद्यार्थियों के खातों में पहुंचेगी छात्रवृत्ति की राशि

हिमाचल में 250 करोड़ के बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले के बाद अब नई व्यवस्था के अनुसार विद्यार्थियों को विभिन्न योजनाओं में स्कॉलरशिप मिलेगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। स्कूली विद्यार्थियों तक छात्रवृत्ति का पैसा पहुंचाने को पेई कोड जेनरेट करना होगा। यह हिमकोष पर जाकर होगा।

पेई कोड स्कूल और ब्लॉक जेनरेट करेंगे। अकाउंट नंबर के साथ पेई कोड होने पर ही छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिलेगी। विभाग ने सख्त आदेश दिए हैं कि 25 फरवरी तक पेई कोड जेनरेट करने के साथ स्कूल, विद्यार्थी का नाम, बैंक नंबर, आईएफएससी कोड और मोबाइल नंबर की जानकारी स्कूल मुखिया को देनी होगी। 

विभिन्न स्कॉलरशिप योजनाओं के तहत बजट का प्रावधान कर दिया गया है। इससे स्कूलों से डिमांड ली गई थी। लिहाजा, स्कूलों की मांग के मुताबिक बजट उपलब्ध हुआ है, लेकिन वित्त विभाग ने आपत्ति लगाई है कि स्वीकृत बजट संबंधित लाभार्थी छात्र-छात्राओं के खाते में ही जमा किया जाएगा।

इसके तहत स्कूलों को अब पेई कोड के साथ बैंक खाता सहित अन्य जानकारी उपलब्ध करवानी होगी। विभाग ने यह भी हिदायत दी है कि अगर देरी के कारण बजट लैप्स होता है तो स्कूल मुखिया जिम्मेेदार होंगे। प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक फौजा सिंह ने बताया कि अब छात्रवृत्ति बच्चों के खाते में आएगी। इसके लिए पेई कोड स्कूल और ब्लॉक जेनरेट करेंगे। 

185 स्कूलों के लिए जारी हुआ है बजट
चंबा के नॉन ट्राइबल क्षेत्र के लिए पहली से पांचवीं कक्षा तक 24 लाख 93 हजार 475 व छठी से आठवीं तक विद्यार्थियों के लिए 37 लाख 43 हजार पचास रुपये का बजट जारी हुआ है। इससे लगभग 185 स्कूल कवर होंगे।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

तीसरे दिन भी नहीं लगा चांजू नाले में बहे बाइक सवार का सुराग

चांजू (चंबा)। चांजू नाले में बहे बाइक सवार का तीसरे दिन भी कोई सुराग नहीं लग पाया। परिजन व रिश्तेदार नाले में ढूंढते रहे। ठंड की परवाह किए बगैर परिजन नाले के तेज बहाव में खुद को रस्सी से बांधकर तलाश करते रहे। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। रविवार को नाले का पानी मटमैला था। इस कारण भी युवक की तलाश करने में काफी दिक्कत हुई।
तीन दिन पहले चांजू नाले के पास दुर्घटना हुई थी। तीन लोग बाइक पर सवार थे। एक सवार सड़क पर ही गिर गया। जबकि दो सवार बाइक के साथ नाले में गिर गए। एक का शव घटनास्थल से ढाई किमी दूर नाले में बरामद हुआ। जबकि एक युवक अभी भी लापता है। तलाश को पुलिस व ग्रामीण सर्च अभियान चला रहे हैं। लेकिन अभी तक उन्हें कामयाबी नहीं मिली है। डीएसपी रामकरण राणा ने बताया कि चांजू नाले में बहे बाइक सवार का अभी तक पता नहीं लगा है। सर्च अभियान जारी है। रविवार को दिनभर सर्च अभियान चलाया गया। सोमवार को भी तलाश जारी रहेगी।
... और पढ़ें

बैली के पास पुलिस ने राहगीर से पकड़ी 24 बोतल अवैध शराब

अस्पताल के बाहर सड़क पर खड़ी दो कारें और खोखा जला

टीबी अस्पताल के बाहर सड़क पर खड़ी दो गाड़ियां और एक खोखा जलकर राख हो गए। घटना में करीब आठ लाख का नुकसान का अनुमान है। वाहनों में आग लगने के कारण दो अन्य कारों के शीशे भी टूट गए। रविवार दोपहर करीब दो बजे टीबी अस्पताल के बाहर सड़क पर खड़ी सेंट्रो कार से धुआं निकलने लगा।

देखते ही देखते गाड़ी में आग लग गई। आसपास के लोगों ने दमकल विभाग को सूचना दी। दमकल विभाग की टीम पहुंचने से पहले आग दो गाड़ियों और एक खोखे में फैल चुकी थी। टीम ने थोड़ी ही देर में आग को बुझा दिया। साथ खड़ी अन्य गाड़ियों को बचा लिया गया।

आग लगने के कारणों का पता नहीं चला है। आसपास के घरों में भी आग से खतरा पैदा हो सकता था। उधर, फायर अधिकारी राजेंद्र चौधरी ने बताया कि टीबी अस्पताल के बाहर दो वाहनों में लगी आग को दमकल विभाग की टीम ने बुझाया। एक खोखा भी जल गया है। घटना के समय वाहनों में कोई सवार नहीं था।
... और पढ़ें

खुदकुशी से पहले लिखा- ‘एक मैं चला जाऊंगा तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा'

मोहित नगर में रहने वाले सिविल इंजीनियर अपूर्व सूद ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सुसाइड नोट में इंजीनियर ने अपनी मौत को लेकर किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। हालांकि, सुसाइड नोट में उल्लेखित ‘दुनिया भरी पड़ी है, एक मैं चला जाऊंगा तो कोई फर्क नहीं पडे़गा’ उसके अंदर के दर्द को बयां करने को काफी है। आईआईटी रुड़की से एमटेक करने के बाद वह उत्तराखंड स्टेट एप्लीकेशन सेंटर में रिसर्च कर रहा था। 

पंडितवाडी निवासी अनिरुद्ध गुजराल ने शनिवार को वसंत विहार थाने में सूचना दी कि उसके बहनोई के मोहित नगर स्थित आवास में किराएदार अपूर्व सूद निवासी चोतरा चंबा (हिमाचल प्रदेश) ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। अपूर्व सूद साफे का फंदा बनाकर पंखे पर लटका हुआ था। वीडियोग्राफी कराकर शव को नीचे उतारा गया। 

एसओ नत्थीलाल उनियाल ने बताया कि अपूर्व सूद (27) आईआईटी रुड़की से एमटेक करने के बाद वर्तमान में उत्तराखंड स्टेट एप्लीकेशन सेंटर में रिसर्च कर रहा था। कमरे से मिले सुसाइड नोट में खुदकुशी के लिए किसी का कोई दोष नहीं होना लिखा है। परिजनों के आने पर उसका पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
... और पढ़ें

डलहौजी घूमने आए पर्यटक की हृदय गति रुकने से मौत

डलहौजी (चंबा)। पर्यटन नगरी डलहौजी घूमने आए गुजरात के एक पर्यटक की हृदय गति रुकने से मौत हो गई। यह मामला शुक्रवार देर रात पेश आया। सूचना मिलते ही पुलिस टीम ने शव को कब्जे में लिया और शनिवार को पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। पर्यटक की पहचान गिरीश पटेल पुत्र माधव लाल निवासी 17 सुरेल बंगला समीप जजास बंगला बोडक देव सिटी अहमदाबाद गुजरात के रूप में हुई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गिरीश अपनी पत्नी व अन्य दोस्तों के साथ 12 फरवरी को डलहौजी घूमने आया था। शुक्रवार देर रात गिरीश के सीने में अचानक दर्द उठा। पत्नी ने दोस्तों को बुलाया और गिरीश को उपचार के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सक ने गिरीश को मृत घोषित कर दिया। इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई। डलहौजी थाना से पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और पत्नी के बयान दर्ज किए। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सौंपा। सिविल अस्पताल डलहौली के बीएमओ डॉ. विपिन ने इसकी पुष्टि की है।
एसएचओ आशीष पठानिया ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस टीम सिविल अस्पताल डलहौजी पहुंची और शव को कब्जे में लिया। शनिवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया गया।
... और पढ़ें

निजी स्कूलों को प्रचार सामग्री में दर्शाना होगा आरक्षित सीटों का ब्योरा

चंबा। निजी स्कूलों को अब आरटीई के तहत आरक्षित सीटों का व्यापक प्रचार-प्रसार करना होगा। इस संदर्भ में प्रारंभिक शिक्षा विभाग चंबा ने जिला के समस्त निजी स्कूलों को आदेश जारी कर दिए हैं। आदेशों के मुताबिक विज्ञापन देते वक्त आरटीई के तहत आरक्षित 25 प्रतिशत सीटों का भी ब्योरा देना होगा। ताकि आरटीई के तहत गरीब तबके के विद्यार्थियों को निजी स्कूलों में निशुल्क शिक्षा मिल सके।
उपायुक्त चंबा ने भी इस मामले में शिक्षा विभाग को पैनी नजर बनाए रखने के आदेश दिए हैं।
सूत्रों की मानें तो जिला में सौ से अधिक निजी स्कूल वर्तमान में चल रहे हैं। लेकिन इनमें से कुछ स्कूल ही हैं जो आरटीई के तहत आरक्षित विभिन्न श्रेणियों में बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। जबकि अधिकतर स्कूल इन नियमों की अवहेलना कर रहे हैं। शिक्षा विभाग भी समय-समय पर इस संदर्भ में निजी स्कूलों से ब्योरे की मांग करता है। लेकिन, अधिकतर स्कूल यह ब्योरा विभाग को भेजना जरूरी नहीं समझते। ऐसे में इस मामले को लेकर उपायुक्त के आदेशों के बाद शिक्षा विभाग हरकत में आ गया है। इसके बाद विभाग ने प्रवेश प्रचार सामग्री में आरक्षित सीटों का ब्योरा भी शामिल करने के आदेश दिए हैं।
रिन्यूअल न करवाने पर मान्यता होगी रद्द
वर्ष 2020-2021 में निजी स्कूलों को रिन्यूअल भी करवाना होगा। इस संदर्भ में समस्त औपचारिकताएं पूरी कर निजी स्कूल संचालकों को फाइल 29 फरवरी तक विभाग के कार्यालय भेजनी होगी। अगर निजी स्कूल प्रबंधक यह फाइल जमा नहीं करवाते हैं तो उनकी मान्यता रद्द समझी जाएगी। विभाग ने इस मामले में लापरवाही के लिए स्कूल संचालकों की जिम्मेवारी तय की है।
जिला उप शिक्षा अधिकारी हितेंद्र कुमार ने बताया कि इस संदर्भ में निजी स्कूलों को आदेश जारी कर दिए गए हैं। उपायुक्त के आदेशों अनुसार पत्राचार भी किया जाएगा।
... और पढ़ें

दूसरे दिन भी नहीं लगा चांजू नाला में बहे बाइक सवार का सुराग

चांजू (चंबा)। चांजू नाले में बहे बाइक सवार का दूसरे दिन भी सुराग नहीं लग पाया। हालांकि एक का शव शुक्रवार शाम को घटनास्थल से ढाई किमी दूर बरामद हो गया था। जबकि एक सवार अभी भी लापता है। इसकी तलाश शनिवार को दिन भर जारी रही। लापता के परिजन, रिश्तेदार व पुलिस टीम नाले के किनारे-किनारे तलाश करते रहे। लेकिन देर शाम होने तक उसका कोई भी पता नहीं लगा। शुक्रवार को सुबह साढ़े दस बजे चांजू नाला के पास एक बाइक दुर्घटनाग्रस्त होकर नाले में गिर गई थी। बाइक में तीन लोग सवार थे। एक व्यक्ति सड़क पर ही गिर गया था। इस कारण उसे मामूली चोट लगी। जबकि दो सवार बाइक के साथ नाले में जा गिरे और पानी के तेज बहाव में बह गए।
शनिवार को दोबारा से सर्च अभियान चलाया गया। लेकिन शाम तक कोई कामयाबी नहीं मिली। रविवार को पुलिस व स्थानीय लोग दोबारा से तलाश करेंगे। पुलिस ने बाइक चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। डीएसपी रामकरण राणा ने बताया कि चांजू नाले में बहे बाइक सवार का अभी तक पता नहीं लगा है। उसकी तलाश को सर्च अभियान जारी है। रविवार को दोबारा से तलाश की जाएगी।
... और पढ़ें

खराब रहन सहन की वजह से चंबा जिला के लोगों को हो रहा टीबी रोग

चंबा। खराब रहन-सहन की वजह से चंबा जिला के लोगों को टीबी की बीमारी जकड़ रही है। जिला में अब तक 1200 से अधिक लोगों को टीबी रोग हो चुका है। जबकि 35 लोग एमडीआर टीबी रोग के शिकार हो चुके हैं। यह रोग तब होता है, जब टीबी रोगियों में नॉर्मल दवाइयां असर नहीं करतीं। ऐसे मरीजों को विशेष दवाइयां दी जाती हैं ताकि रोग को खत्म किया जा सके। टीबी रोग होने का मुख्य कारण लोगों का खराब रहन-सहन है। जब एक कमरे में पांच या इससे अधिक लोग एक साथ रहते हैं तो उनमें टीबी जैसे रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। क्योंकि किसी एक को खांसी होगी तो वह अन्य लोगों के साथ रहेगा। जिससे अन्य लोगों को भी खांसी शुरू हो जाएगी। धीरे-धीरे खांसी टीबी में परिवर्तित हो जाती है। इसलिए लोगों को समय रहते अपने रहन सहन को बदलना होगा। इसके अलावा जो लोग भीड़ भाड़ वाली जगह में रहते हैं। उन्हें भी टीबी रोग होने का खतरा रहता है।
स्वास्थ्य विभाग चंबा जिला को टीबी मुक्त बनाने के लिए हरेक व्यापक प्रयास कर रहा है। जिला में शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे लोगों का सर्वे किया जा रहा है। जिनमें टीबी रोग के लक्षण हों। ऐसे लोगों का विभाग पहले जांच करवाएगा। टीबी मरीजों को मुफ्त दवाइयां उपलब्ध करवान के साथ उनको डाईट व अस्पताल आने जाने के लिए प्रतिमाह पांच सौ रुपये भी प्रदान किए जा रहे हैं।
टीबी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर देवेंद्र ने बताया कि लोगों के खराब रहन-सहन की वजह से टीबी रोग होने का खतरा रहता है। लोगों को ज्यादा भीड़ में नहीं रहना चाहिए। सर्दी, जुकाम से संक्रमित लोगों से बचना चाहिए। खांसी होने पर तुरंत डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए। टीबी रोगियों का पूरा इलाज मुफ्त हो रहा है।
यह हैं टीबी रोग के लक्षण
लगातार तीन हफ्तों से खांसी आना और आगे भी जारी रहना, खांसी के साथ खून का आना, छाती में दर्द और सांस का फूलना, वजन का कम होना और ज्यादा थकान महसूस होना, शाम को बुखार का आना और ठंड लगना तथा रात में पसीना आना टीबी रोग के लक्षण हैं। ऐसे लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए।
... और पढ़ें

हाईवे पर अवैध कब्जाधारियों को पहले हिदायत, फिर जारी होंगे नोटिस

चंबा। बालू से बग्गा तक हाईवे पर अवैध कब्जाधारियों पर एनएच प्रबंधन की ओर से शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। एनएच प्रबंधन की टीम चिह्नित क्षेत्रों में जाकर निरीक्षण कर रही है। साथ ही लोगों को अपना कब्जा हटाने की चेतावनी भी दी जा रही है। एनएच प्रबंधन की ओर से स्पष्ट किया गया है कि अगर अवैध कब्जाधारी चेतावनी के आधार पर अपना कब्जा नहीं हटाते हैं तो उनके खिलाफ पहले चरण में कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किए जाएंगे। इसके बाद भी कब्जा न हटाने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। हाल ही में एनएच प्रबंधन ने बालू के समीप अवैध कब्जाधारियों को हटाया है। विभागीय हिदायत के बाद लोगों ने अपने कब्जे छोड़े। जिसके बाद एनएच प्रबंधन की ओर से यहां मार्ग को चौड़ा किया गया। बालू में मार्ग चौड़ा होने के बाद अब सुल्तानपुर, हरदासपुरा, सत्संग भवन मुगला, करियां, रजेरा में विभाग द्वारा अधिकारियों को अवैध कब्जाधारियों को चेतावनी जारी की जा रही है। बीते दिनों एनएच मंडल चंबा के अधिशासी अभियंता ने करियां बाजार में जाकर अवैध कब्जाधारियों को कब्जे हटाने बारे कहा। इसके बाद अवैध कब्जाधारियों में हड़कंप मच गया है। हाईवे पर कई जगह दुकानों का भी निर्माण किया गया है।
गौरतलब है कि भरमौर से पठानकोट तक मार्ग को हाईवे का दर्जा मिला है। जिससे यह मार्ग भरमौर तक चकाचक होगा। संकीर्ण मोड़ों को चौड़ा किया जा रहा है तो वहीं, अब एनएच प्रबंधन ने रफ्तार पकड़ते हुए रिहायशी क्षेत्रों में अवैध कब्जाधारियों पर शिकंजा कसने की तैयारियां शुरू कर दी है। वहीं, एनएच प्रबंधन द्वारा विभिन्न स्थानों पर रिटेनिंग वॉल का कार्य भी शुरू किया गया है।
राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण चंबा के अधिशासी अभियंता राजिंद्र शेखरी ने बताया कि अवैध कब्जाधारियों को खुद ही अपने कब्जे हटाने बारे हिदायत दे दी गई है। जो लोग अवैध कब्जे नहीं हटाएंगे, उन्हें नोटिस जारी किए जाएंगे। साथ ही नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us