विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हिमाचल सरकार का लॉकडाउन में अभी ढील देने का कोई विचार नहीं: मुख्य सचिव

हिमाचल प्रदेश सरकार लॉकडाउन में अभी कोई ढील नहीं देगी। राज्य में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों के लगातार बढ़ने पर सरकार का रवैया सख्त ही रहेगा।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

कांगड़ा

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

गिरफ्तार मौलवी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

कांगड़ा उपमंडल फतेहपुर की कस्बा रे मस्जिद में रह रहे मौलवी को रविवार को सिविल कोर्ट ज्वाली में पेश किया गया। जहां से न्यायालय ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। मस्जिद में रह रहे चंबा निवासी मौलवी रमजान बट्ट ने सोशल मीडिया पर एक समाज की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली पोस्ट डाली थी। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस थाना फतेहपुर और पुलिस चौकी रे की टीम ने संयुक्त रूप से थाना प्रभारी सुरेश शर्मा के नेतृत्व में अभियान चलाते हुए मौलवी को रे क्षेत्र से गिरफ्तार किया।

जिसे रविवार को न्यायालय में पेश किया गया।  जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। उधर, रे बाजार में रविवार को पूरा दिन सन्नाटा रहा। पुलिस चौकी रे में स्टाफ कम था, जिसके लिए पुलिस ने बाहर से अतिरिक्त स्टाफ वहां भेजा। एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने कहा कि पुलिस लॉकडाउन में पुरी मुस्तैदी से काम कर रही है।
... और पढ़ें

नूरपुर क्षेत्र की मस्जिदों की प्रशासन ने की जांच

जसूर (कांगड़ा)। तबलीगी जमात में शामिल होने के बाद दिल्ली से नूरपुर क्षेत्र में स्थित मस्जिद में कोई आया है या नहीं, इसका पता लगाने के लिए नूरपूर प्रशासन ने क्षेत्र की सभी 11 मस्जिदों को चेक किया। पाया कि क्षेत्र की सभी मस्जिदें पूरी तरह से बंद हैं और वहां पर कोई भी नमाज अदा नहीं हो रही।
एसडीएम नूरपुर सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि क्षेत्र की सभी 11 मस्जिदों की जांच कई गई। सभी मस्जिदों पर ताले लगे हैं और कोई भी नमाज अदा नहीं हो रही। डीएसपी साहिल अरोड़ा ने बताया कि नूरपुर व इंदौरा क्षेत्र के 6 लोगों के तबलीगी जमात के शामिल होने की पुष्टि हुई है। इसमें एक व्यक्ति द्वारा जानकारी छुपाए जाने पर उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इसके अतिरिक्त नूरपुर के मलकवाल क्षेत्र के व्यक्ति को शक के आधार पर उसकी जांच करवाई गई है, जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। डीएसपी साहिल अरोड़ा ने कहा कि लोग अफवाहों से बचें। कहा कि तबलीगी जमात दिल्ली में भाग लेने के बाद कोई भी व्यक्ति अगर नूरपुर क्षेत्र में आया हो या ऐसे व्यक्ति के संपर्क में रह रहा हो तो उसे निर्देशित किया जाता है कि हेल्पलाइन नंबर 104 या 1078 पर सूचित करें।
... और पढ़ें

पुलिस ने गोलवां में चलती भट्ठी और लाहन की नष्ट

राजा का तालाब(कांगड़ा)। नूरपुर पुलिस की टीम ने एसएचओ मोहन लाल भाटिया के नेतृत्व में हेड कांस्टेबल दलजीत कटोच व अन्य टीम ने शनिवार शाम को गोलवां पंचायत की बंगाली समुदाय की बस्ती में दबिश दी।
इस दौरान पुलिस की टीम ने बंगाली समुदाय के घरों व आसपास के क्षेत्र की गहनता से जांच-पड़ताल की। बस्ती से लगभग सौ मीटर की दूरी पर जंगल में पुलिस ने चलती भट्ठी पर चढ़े कच्ची लाहन से भरे ड्रम को बरामद करके उसे नष्ट किया। थाना प्रभारी मोहन लाल भाटिया ने बंगाली समुदाय के लोगों को हिदायत दी कि एक तरफ देश कोरोना वायरस की गंभीर समस्या से जूझ रहा है। जबकि वे लोग इस तरह के अवैध धंधों को अंजाम देकर समाज को खोखला करने पर तुले हुए हैं। उन्होंने समुदाय के लोगों को इस तरह के अवैध धंधों की जगह मेहनत मजदूरी करने की हिदायत दी।
... और पढ़ें

हिमाचल: शिक्षकों के घर पर चेक होंगे 10वीं और 12वीं के पेपर

सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड अब एसओएस (स्टेट ओपन स्कूल), 10वीं और 12वीं कक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं को मूल्यांकन के लिए शिक्षकों के घर पर ही भेजेगा। बोर्ड ने इसकी पूरी व्यवस्था कर ली है। इसके अलावा 12वीं और एसओएस के तहत बची शेष विषयों की परीक्षाएं लॉकडाउन खत्म होने के बाद होंगी।

स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि मंगलवार को बोर्ड ने इस संबंध में कुछ अहम फैसले लिए, जिन्हें अब प्रदेश सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। जिन शेष विषयों की बोर्ड परीक्षाएं बची हैं, उनमें छात्रों की संख्या बहुत कम है। इनमें से हर परीक्षा केंद्र पर छात्रों की संख्या भी सात से आठ के करीब है।
... और पढ़ें
स्कूल शिक्षा बोर्ड स्कूल शिक्षा बोर्ड

कर्फ्यू की धज्जियां उड़ा रहे चार वाहन किए जब्त

पालमपुर (कांगड़ा)। कोरोना वायरस को लेकर लगे कर्फ्यू में नियमों की धज्जियां उड़ाने व बिना काम के घर से निकलने पर पुलिस ने वाहन चालकों पर शिकंजा कस दिया है। कई लोग बिना काम के वाहनों को सड़कों पर दौड़ा रहे हैं। जबकि वह घर के नजदीक भी छोटे काम को लेकर कर्फ्यू दी गई ढील में अपने वाहनों पर आ रहे हैं। लिहाजा, पुलिस ने मंगलवार को चार दोपहिया वाहनों को जब्त कर लिया। पुलिस ने मंगलवार को पालमपुर व आसपास के इलाकों में ड्रोन कैमरे से पूरा जायजा लिया।
ढील पर तो लोग बाहर निकले थे। लेकिन बाद में यह सब ठीक पाया। बावजूद, चार लोग अपनी स्कूटी व वाइक लेकर घूम रहे थे, जिस पर पुलिस ने इनको अपने कब्जे में ले लिया। उधर, डीएसपी अमित शर्मा ने कहा कि कई लोग अभी भी अपने वाहनों को बिना काम के दौड़ा रहे हैं, जिन्हें अब बख्शा नहीं जाएगा।
... और पढ़ें

कांगड़ा जिला में बाहर से आए 100 संदिग्ध लोगों की पहचान

धर्मशाला। कांगड़ा जिला में बाहर से आए 100लोगों की पहचान हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने इन संदिग्ध लोगों को स्वास्थ्य विभाग के स्थापित आईसोलेशन संस्थान में भर्ती करने की योजना बनाई है। इसके अलावा वर्तमान में 980 लोगों को होम आईलोसेशन में रहने की हिदायत दी है।
स्वास्थ्य विभाग की 1776 टीमों ने कांगड़ा जिला में पिछले चार दिन में साढे़ छह लाख लोगों से घर-घर जाकर संपर्क किया। यह अभियान आगामी नौ अप्रैल तक प्रस्तावित है, लेकिन जिला की जनसंख्या अधिक होने के चलते अभियान को पूरा करने में एक हफ्ता लग सकता है। सीएमओ डॉ. गुरदर्शन गुप्ता ने कहा कि तीन अप्रैल के बाद से स्वास्थ्य विभाग जिला की पूरी आबादी के लिए गतिविधियों का पता लगाने के लिए सक्रिय मामले का संचालन कर रहा है, जिसमें 1776 टीमें जिला के प्रत्येक घर में जा रही हैं। उन्होंने लोगों से स्वास्थ्य टीमों के साथ सहयोग करने और अपनी सुरक्षा के लिए उनके निर्देशों का पालन करने की अपील की।
... और पढ़ें

एसडीएम ने दंबग अंदाज में बिगड़ैल वाहन चालकों पर कसा शिकंजा

नूरपुर (कांगड़ा)। कोरोना के बढ़ते खतरे को लेकर सरकार व प्रशासन की लोगों से सतर्कता बरतने और बेवजह घरों से बाहर निकलने की अपील को लगातार अनसुना करने वालों पर एसडीएम डॉ. सुरिंद्र ठाकुर ने मंगलवार को काफी सख्त दिखे।
दरअसल मंगलवार सुबह कर्फ्यू के दौरान राउंड पर निकले एसडीएम की सरकारी गाड़ी अचानक चौगान बाजार में रुकी। थोड़ी देर गाड़ी में ही बैठे कर्फ्यू के दौरान हालात का जायजा लेते रहे। इससे पहले कि लोग कुछ समझ पाते, एसडीएम गाड़ी से नीचे उतरे और सड़क पर दबंग अंदाज में बेवजह चल रही एक के बाद एक बाइकों व गाड़ी वालों की बीच सड़क पर रोककर क्लास लगानी शुरू कर दी। इस दौरान एसडीएम ने कर्फ्यू में नियमों की उल्लंघना करने वाले नौ वाहनों के कागजात जब्त किए। इस दौरान एसडीएम के साथ सड़क पर वाहनों के निरीक्षण में कोई पुलिस का कर्मी नहीं था, उनके साथ केवल पटवारी मौजूद था। एसडीएम ने बताया कि चौगान में कुछ समय तक खुद नाका लगाकर कर्फ्यू के दौरान आवाजाही कर रहे वाहनों की चेकिंग की तथा नौ गाड़ियों के कागज जब्त किए। उन्होंने बताया कि कुछ वाहन चालक कर्फ्यू के नियमों का उल्लंघन कर रहे थे तो कुछ प्रशासन के जारी किए कर्फ्यू पास का दुरुपयोग कर रहे थे।
उधर, मंगलवार को नूरपुर शहर व आसपास के क्षेत्रों में जिला प्रशासन के सख्त आदेशों के बाद नूरपुर पुलिस ने नाका लगाकर सुबह 8 से 11 बजे तक ढील में लोगों के वाहनों का प्रयोग करने पर सख्ती वाहन जब्त भी किए गए। कुछ लोगों को चेतावनी भी दी गई कि यदि बाजार में ढील के दौरान वाहनों का प्रयोग किया गया तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

ढ़ील में बिना काम से बाहर निकलने वालों पर कसेगा शिकंजा : एसडीएम

नूरपुर (कांगड़ा)। कर्फ्यू में ढील के दौरान निजी वाहनों का प्रयोग करने वालों और कर्फ्यू ढील का अनावश्यक फायदा उठाने वालों के साथ अब पुलिस और प्रशासन सख्ती से पेश आएगा। साथ ही मेडिकल इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं के लिए वाहनों में पेट्रोल-डीजल डालने के अलावा निजी वाहनों में तेल डालने वाले पेट्रोल पंप संचालकों को भी सख्त चेतावनी दी गई है। एसडीएम नूरपुर डॉ. सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि लोगों की भलाई के लिए उन्हें घरों में रहने का आग्रह किया गया है। लेकिन इसके बावजूद कुछ लोग विशेषकर युवा कर्फ्यू में ढील के दौरान अपनी-अपनी गाड़ियों को सड़कों और गलियों में दौड़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति इस ढील का अनावश्यक फायदा न उठाए। घर का एक सदस्य ही पैदल चल कर बाजार से सामान लेने के लिए बाहर निकले। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने बीमारी और आवश्यक सेवाओं के लिए वाहनों में पेट्रोल-डीजल भरने के निर्देश जारी किए गए हैं। इसके बावजूद स्कूटर-बाइकों में तेल भरा जा रहा है। उन्होंने पेट्रोल-पंप संचालकों को चेतावनी दी है कि ऐसा करने पर प्रशासन उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने से परहेज नहीं करेगा। वहीं, एसडीएम ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन की ओर से एक मीटर की दूरी को अनिवार्य बनाया गया था। उन्होंने बताया कि कुछ लोग इसकी अनिवार्यता को दरकिनार करते हुए नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठानों के साथ जरूरी सेवाओं सहित बैंक प्रबंधकों को भी अपने-अपने संस्थानों में एक मीटर की निर्धारित दूरी को सुनिश्चित करवाने की जिम्मेदारी होगी। उन्होंने बताया कि एक मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालन न करने पर संबंधित व्यक्ति और संस्थान के विरुद्ध अब मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
एसडीएम और डीएसपी ने खुद संभाला मोर्चा
नूरपुर शहर में कर्फ्यू में ढील के दौरान गाड़ियों की अनावश्यक आवाजाही को रोकने के लिए एसडीएम और डीएसपी डॉ. साहिल अरोड़ा ने खुद मोर्चा संभाला। उन्होंने वाहनों को अपने कब्जे में लिया। डीएसपी ने ग्रामीण और शहर के सभी लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें और कर्फ्यू का पूरा पालन करें। उन्होंने कहा कि पुलिस शहरों के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में भी नजर रख रही है। उन्होंने सभी लोगों से सहयोग की अपील की है।
... और पढ़ें

होम आईसोलेट से बाहर निकले पर 24 के खिलाफ केस: डीसी

धर्मशाला। कोरोना लॉकडाउन में कांगड़ा जिला में होम आईसोलेशन का उल्लंघन करने पर 24 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में होम क्वारंटीन की उल्लंघना करने पर स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस प्रशासन को सूचित किया।
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए नागरिकों को नियमित तौर पर आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। इन आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, उन्होंने कहा कि आम लोगों को भी अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए इन आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित करनी चाहिए।
दुकानों, बैंकों में दूरी नहीं बनाने पर होगी सख्त कार्रवाई
उपायुक्त ने कहा कि मंगलवार को कर्फ्यू में ढील के दौरान दुकानों तथा बैंकों के बाहर तथा एटीम के बाहर सामाजिक दूरी की अनुपालना के लिए चेकिंग भी की गई है। अधिकांश बैंकों तथा दुकानों में लोगों के उचित दूरी पर खड़े होने के निशान लगा दिए हैं। पिछले सप्ताह से नियमित तौर पर दुकानों तथा बैंकों के बाहर सामाजिक दूरी के आदेशों को लेकर उठाए गए कदमों का निरीक्षण किया जाएगा तथा इन आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
16 हजार जरूरतमंद लोगों को बांटा राशन
जिले में 21 हजार प्रवासी परिवार चिह्न्ति किए गए हैं तथा इनमें से 16 हजार परिवारों ने राशन की मांग की थी, जिन्हें एसडीएम के माध्यम से सात से दस दिन का राशन उपलब्ध करवा दिया गया है। उपमंडल स्तर पर नियमित तौर पर गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाएं अपने स्तर पर राशन इत्यादि वितरण का कार्य नहीं करें। इससे सामाजिक दूरी का नियम टूट सकता है। इसलिए सभी से अनुरोध है कि घरों में रहें और बाहर नहीं निकलें।
जिला में आवश्यक खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति
मंगलवार को कांगड़ा जिला में 90 गाड़ियां दूध, 226 सब्जियों के वाहन, सात वाहन ब्रेड, अनाज की 290 गाड़ियां, मेडिसन की 43 वाहनों से आपूर्ति की गई है। रसोई गैस के 33 वाहन, पेट्रोल डीजल के दो वाहनों के माध्यम से आपूर्ति सुनिश्चित की गई है। खाद्य निगम के गोदामों में दो महीने के राशन के भंडारण किया गया है।
डायलिसिस के रोगियों के लिए परविहन सुविधा
जिला में डायलिसिस के 64 रोगी चिह्न्ति किए गए हैं तथा इन रोगियों को यातायात की सुविधा प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी। उक्त रोगी धर्मशाला के डायलिसिस सेंटर या डॉ. विक्रम कटोच मोबाइल नंबर 98165-99899 पर संपर्क कर सकते हैं।
दवाइयों की होम डिलीवरी की व्यवस्था
जिला के विभिन्न क्षेत्रों के 25 दवाई विक्रेताओं का व्हॉटसऐप ग्रुप बनाया गया है। यह दवाई विक्रेता विशेष परिस्थितियों में आवश्यक दवाइयों की होम डिलीवरी भी सुनिश्चित कर रहे हैं। इनके नंबर भी जिला प्रशासन की वेबसाइट तथा फेसबुक पर सार्वजनिक किए गए हैं। जिला प्रशासन के उत्तर भारत से दवाइयां लाने के लिए इन विक्रेताओं को वाहन ले जाने की अनुमति भी प्रदान की जा रही है।
... और पढ़ें

ढलियारा में क्वारंटीन में रखे व्यक्ति की तबीयत बिगड़ी, हड़कंप

देहरागोपीपुर (कांगड़ा)। उपमंडल देहरा के तहत ढलियारा में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में रखे एक व्यक्ति की तबीयत बिगड़ने से हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार बाहरी प्रदेश का एक बुजुर्ग व्यक्ति देहरा के ढालियारा में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में पिछले छह दिन से क्वारंटीन है। सोमवार को उसकी तबीयत बिगड़ जाने पर उसे सिविल अस्पताल देहरा लाया गया, जहां से उसे टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर किया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक व्यक्ति को शनिवार देर रात पेट संबंधी बीमारी के चलते देहरा अस्पताल पहुंचाया गया था। उसे उपचार के बाद वापिस क्वारंटीन सेंटर भेज दिया गया था। रविवार को संबंधित बुजुर्ग की तबीयत में सुधार नहीं होने पर उसे दोबारा अस्पताल लाया गया। डॉक्टरों ने उसे दवाई देकर वापस भेज दिया, लेकिन सोमवार को फिर व्यक्ति की तबीयत बिगड़ने पर उसे रेडक्रॉस की एंबुलेंस से सिविल अस्पताल देहरा पहुंचाया गया। एसएमओ देहरा डॉ. गुरमीत सिंह ने बताया कि क्वारंटीन में रखे व्यक्ति को अस्पताल लाया गया है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को उल्टी और दस्त की समस्या है। फिलहाल उसमें कोविड-19 का कोई लक्षण नहीं है। उन्होंने बताया कि मरीज को टांडा रेफर किया जा रहा है। उधर, एसडीएम देहरा धनवीर सिंह ने बताया कि डॉक्टरों के अनुसार क्वारंटीन में रखे व्यक्ति को उल्टी और दस्त की समस्या है। डॉक्टर इलाज कर रहे हैं।
उपमंडल देहरा के तहत प्रशासन ने तीन क्वारंटीन सेंटर बनाए हैं। इनमें पहला ढलियारा, कलोहा और संसारपुर टैरेस में स्थित हैं। जानकारी के मुताबिक ढलियारा क्वारंटीन सेंटर में 19, संसारपुर टैरेस में 11 और कलोहा में 34 व्यक्तियों को क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। केंद्र में प्रशासन ने क्वारंटीन व्यक्तियों के लिए हरसंभव सुविधा दे रखी है। यहां पर एक-एक डॉक्टर भी तैनात है। इसके अलावा इन लोगों को तीन समय भोजन की सुविधा भी है। एसडीएम देहरा धनवीर ठाकुर ने यह जानकारी दी है।
... और पढ़ें

तीन स्वास्थ्य कर्मियों सहित छह परिवारों के 39 लोग होम आईसोलेट

जसूर/नूरपुर (कांगड़ा)। इंदौरा उपमंडल के तहत पुराने गंगथ क्षेत्र में एक कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने से इलाके में दहशत फैल गई है। इसके चलते पॉजिटिव मरीज मोहल्ले को एहतियातन पूरी तरह सील कर दिया गया है, जबकि इस मामले की पुष्टि होने के बाद ही स्वास्थ्य विभाग की टीम भी हरकत में आ गई है। पीड़ित व्यक्ति के परिवार सहित आसपास के परिवारों को भी होम क्वारंटीन करने के साथ ही पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले लोगों की लिस्ट बनाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम को सोमवार को खासी माथापच्ची करनी पड़ी। उधर, बीएमओ गंगथ डॉ. नीरजा गुप्ता ने बताया कि कुल 39 लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। इनमें 36 लोग छह परिवारों के प्राइमरी सस्पेक्ट और तीन लोग स्वास्थ्य विभाग से संबंधित हैं। जबकि, कोरोना पॉजिटिव को टांडा शिफ्ट कर दिया गया है। इन सभी लोगों के टेस्ट किए जाएंगे। इसके लिए टीमें पहुंच गई हैं। उधर, एसडीएम इंदौरा गौरव महाजन ने बताया कि पीड़ित व्यक्ति के आस पड़ोस के परिवारों को होम क्वारंटीन करने के अलावा उक्त मोहल्ले को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। सील किए क्षेत्र में किसी को भी आने जाने नहीं दिया जा रहा है। जबकि, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पीड़ित के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची तैयार कर ली है, जिनके टेस्ट किए जाएंगे। ... और पढ़ें

गहरी खाई में लुढ़की कार, एक की मौत

गहरी खाई में लुढ़की कार, एक की मौत
मुल्थान (कांगड़ा)। मुल्थान तहसील के तहत लोहारड़ी-छेरना सड़क पर एक कार संख्या एचपी-53ए-6198 सड़क से करीब सौ मीटर नीचे लुढ़क गई। दुर्घटना में कार सवार एक व्यक्ति घायल हो गया, जबकि दूसरे की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार जटू राम (35) पुत्र गुलाब छेरना और सुखराम पुत्र गंगा राम कार में सवार थे। इन दोनों को लोगों ने रात को बरोट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। बरोट अस्पताल की प्रभारी डॉ. अक्षिता ने कहा कि प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें मंडी जोनल अस्पताल रेफर कर दिया, जबकि जटु राम की मंडी में मौत हो गई। बैजनाथ के डीएसपी पूर्णचंद ने कहा कि शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया है। वहीं, मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई धज्जियां, बुलानी पड़ी पुलिस

जसूर (कांगड़ा)। नूरपुर उपमंडल के जसूर की एसबीआई शाखा में पेंशन लेने पहुंचे खाताधारकों ने सोमवार को सोशल डिस्टेंसिंग की खूब धज्जियां उड़ाईं। दो दिन बैंक बंद रहने के कारण सोमवार को बैंक में खाताधारकों की खासी भीड़ जुटी थी, जिसका बैंक प्रबंधक को पूर्वानुमान था। इसके चलते तीन अप्रैल को बैंक के मुख्य प्रबंधक ने थाना प्रभारी नूरपुर को बैंक में सुचारु व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस कर्मियों की मांग भी की थी। महाप्रबंधक बलदेव ने बताया कि बैंक के बाहर गोले भी लगाए गए थे। बैंक कर्मी और बैंक के सिक्योरिटी गार्ड भी पेंशनरों और अन्य ग्राहकों से बार-बार सोशल डिस्टेंसिंग की अपील कर रहे थे और बैंक गतिविधियों को सुचारु रूप से चलाए रखने के लिए सहयोग मांगा, लेकिन वहां मौजूद लोगों ने बैंक कर्मियों की अपील को अनसुना कर दिया और बैंक के अंदर जाने की मांग करने लगे। बैंक प्रबंधक ने तुरंत थाना प्रभारी नूरपुर से इस मामले को लेकर बात की। पुलिस कर्मचारियों के आने के बाद बैंक के बाहर लगी गेट के पास भीड़ को उचित स्थानों पर खड़ा किया। महाप्रबंधक ने बताया कि यहां पहुंचे सभी पेंशनरों को पेंशन मुहैया करवाई गई। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विभाग से आए पेंशनरों के खाते में निर्धारित पेंशन ही इस माह आई है। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us