विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

तब्लीगी जमात से हिमाचल लौटे तीन लोग कोरोना पॉजिटिव, रिपोर्ट में खुलासा

नई दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के जलसे से हिमाचल के ऊना में लौटे तीन लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे प्रदेश में हड़कंप मच गया है।

2 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सोलन

शुक्रवार, 3 अप्रैल 2020

बाहरी राज्य के रिश्तेदारों को घर बुलाने पर चंबाघाट के दो व्यक्तियों पर केस

सोलन। चंबाघाट में दो लोगों पर कोरोना वायरस के तहत जारी आदेश न मानने पर मामला दर्ज हुआ है। इन लोगों ने बाहरी राज्यों से अपने रिश्तेदारों को सोलन बुलाकर उन्हें वहां ठहराया था। इसकी शिकायत पुलिस को स्थानीय लोगों ने थाने की ई-मेल पर दी।
पुलिस ने शिकायत के आधार पर कार्रवाई कर दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार, थाना सोलन की मेल आईडी पर एक व्यक्ति ने शिकायत की है कि चंबाघाट के राकेश कुमार और मिंटू ने अपने साथ बाहरी राज्य से आए लोगों को ठहराया हुआ है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर इसकी जांच की। इन लोगों के यहां बाहरी राज्य के लोग ठहरे थे।
इसके बाद पुलिस ने जिला प्रशासन के निर्देशों की पालना न करने पर इनके खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उधर, थाना प्रभारी सोलन धर्मसेन नेगी ने मामले की पुष्टि कर बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

नशेड़ी अधेड़ ने की पत्नी और बेटे की हत्या, मौके से फरार आरोपी गिरफ्तार

नशेड़ी अधेड़ ने तेजधार हथियार से पत्नी और 19 साल के बेटे की निर्मम हत्या कर दी। वारदात नालागढ़ उपमंडल के जगतपुर पंचायत के टमकवाला गांव की है। दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के आरोपी मौके से फरार हो गया, जिसे पुलिस ने खेतों से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार रणजीत सिंह (46) पुत्र गुरुदेव निवासी गांव टमकवाला ने अपनी पत्नी समती देवी (45) और पुत्र गगनदीप (19) की निर्मम हत्या कर डाली है।

इस घटना का पता तब चला, जब समीप के खेत से गांव की एक महिला गुजरी। महिला ने देखा कि गगनदीप खून से लथपथ पड़ा है। महिला ने तुरंत इसकी सूचना पंचायत प्रधान को दी। पंचायत प्रधान ने पुलिस को सूचना दी।

डीएसपी नालागढ़ चमन लाल सहित पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे। लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस ने हत्यारोपी को तलाश किया और गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आरोपी रणजीत नशे का आदी है और नशा मुक्ति केंद्र में रह चुका था। वह अक्सर अपने परिवार वालों के साथ मारपीट करता था। 

डीएसपी नालागढ़ चमन लाल ने बताया की मृतकों के सिर के ऊपर किसी तेजधार हथियार से वार किए गए हैं। पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर शवों को कब्जे में ले लिया है। प्रथम दृष्टया यह मामला घरेलू कलह का प्रतीत होता है, लेकिन पुलिस हर पहलू की गंभीरता से जांच कर रही है।
... और पढ़ें

प्रशासन की पहल : डिपुओं में 25 रुपये में दो किलो आलू, 30 में मिलेगा प्याज

उचित मूल्यों की दुकानों पर लोगों को अब सस्ती दरों पर आलू और प्याज मिलेगा। नालागढ़ उपमंडल प्रशासन ने यह व्यवस्था की है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के माध्यम से आलू-प्याज उपलब्ध करवाया गया है। रोजाना सुबह 8 से 11 बजे तक लोग इनकी खरीद कर सकते हैं। बाजार में आलू और प्याज की भारी कीमतें वसूलने की शिकायतों पर उपमंडल प्रशासन ने इस व्यवस्था की है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का कहना है कि कोई पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर सस्ती दरों पर आलू-प्याज खरीद सकते हैं। दो किलोग्राम आलू 25, एक किलो प्याज 30 रुपये की दर से मिलेगा। आलू व प्याज सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से उचित मूल्यों की दुकानों पर मुहैया करवाया जाएगा। नालागढ़ शहर की उचित मूल्यों की वार्ड-2, 5 व 7 में स्थित दुकानों पर उपलब्ध होंगे।

खाद्य एवं आपूर्ति निरीक्षक नालागढ़ कमलकांत शर्मा ने बताया कि पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर शहर में स्थित उचित मूल्यों की दुकानों पर प्रशासन आलू-प्याज कम दरों पर उपलब्ध करवाएगा। लोग राशन डिपुओं में सुबह 8 से 11 बजे तक आलू व प्याज खरीद सकते हैं। एसडीएम प्रशांत देष्टा ने बताया कि आलू व प्याज के अधिक दाम लेने की शिकायतों पर प्रशासन ने यह व्यवस्था करवाई है।
... और पढ़ें

प्रशासन पहुंचा जरूरतमंदों के घर, खाद्य सामग्री बांटी

सोलन। शहर भर में प्रशासन ने जरूरतमंद प्रवासी मजदूरों के घरों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने की मुहिम तेज कर दी है। प्रशासन की टीम हर उस घर में दस्तक दे रही है जहां से खाद्य सामग्री खत्म होने की शिकायत मिल रही है। टीम ने शहर के अलग-अलग वार्डों में जाकर जरूरतमंद प्रवासियों के लिए खाने-पीने का प्रबंध किया है। हालांकि इस दौरान टीम को आधा दर्जन के करीब ऐसे मामले भी मिले जिन्होंने पर्याप्त राशन होने के बावजूद खाद्य सामग्री खत्म होने की बात कही। ऐसे लोगों के घरों तक पहुंची प्रशासन की टीम ने बाकायदा इनके वीडियो बनाए हैं। कुछ लोगों पर प्राथमिकी भी दर्ज करवाई है जबकि कुछ को हिदायत देकर छोड़ दिया गया।
अमर उजाला ने शहर में जरूरतमंद प्रवासियों तक खाद्य सामग्री न पहुंचने का मामला प्रमुखता से उठाया है। इसे देखते हुए न सिर्फ प्रशासन बल्कि समाजसेवी व राजनीतिक दलों के लोग भी आगे बढ़कर लोगों की सहायता में जुट गए हैं। क्लीन वार्ड से मुकेश कुमार ने बताया कि समाचार प्रकाशित होने के बाद उन्हें फोन आया था और उन्होंने दोहरी दीवाल जाकर राशन हासिल किया है। उनके साथ करीब एक दर्जन लोग और थे जिन्हें इस मौके पर राशन मिला है। वीरवार को प्रशासन की टीम के अलावा कई लोग जरूरतमंदों को राशन पहुंचाने में जुटे रहे। अतिरिक्त उपायुक्त विवेक चंदेल ने बताया कि विशेष टीम को शिकायत वाली जगहों पर भेजा जा रहा है। ऐसे लोग जिनके पास खाद्य सामग्री बिल्कुल खत्म हो चुकी है, उन्हें राशन मुहैया करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रशासनिक टीम सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला भी प्रवासी कामगारों को समझा रही है।
वार्ड नंबर पांच में जरूरतमंदों को बांटी खाद्य सामग्री
भाजपा नेता व बघाट बैंक के अध्यक्ष पवन गुप्ता ने वीरवार को वार्ड नंबर-5 में जरूरतमंद लोगों को राशन बांटा। इस मौके पर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर मौके पर पहुंचे और उन्होंने राशन हासिल किया। पवन गुप्ता ने कहा कि सभी लोगों का दायित्व बनता है कि वे जरूरतमंदों की मदद करें। इस मौके पर व्यापार मंडल के अध्यक्ष मुकेश गुप्ता व भरत साहनी भी मौजूद थे।
... और पढ़ें

बीबीएन में मुस्लिम समुदाय के क्वारंटीन लोगों की संख्या पहुंची 76

नालागढ़ (सोलन)। निजामुदीन के बाद प्रदेश में और अधिक सावधानियां बरतने पर मुस्लिम समुदाय के लोगों को क्वारंटीन किया जा रहा है। नालागढ़ उपमंडल में इनकी संख्या अब 76 पहुंच गई है। 17 नए लोगों की पहचान कर इन्हें भी नालागढ़-रामशहर मार्ग पर श्रमिक छात्रावास क्वारंटीन केंद्र में रखा गया है।
हालांकि स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, ये सभी स्वस्थ है ंऔर स्वास्थ्य संबंधी परेशानी पर आला अधिकारियों को अगले आदेशों के बाद ही इनके सैंपल लिए जाएंगे। प्रशासन के बनाए क्वारंटीन सेंटर में इनकी प्रतिदिन स्वास्थ्य विभाग ने अपडेट ली जा रही है।
स्वास्थ्य विभाग की टीमों के अलावा प्रशासन और पुलिस के जवान पूरी तरह से नजर रखे हुए हैं। इससे पहले बुधवार को 16 और मंगलवार को 43 लोगों की पहचान कर क्वारंटीन किया था। बताया जाता है कि इनमें से कुछ लोग जमात के है और कुछ स्थानीय लोग शामिल हैं। अन्य क्वारंटीन केंद्रों में भी रखे गए हैं।
377 लोग क्वारंटीन केंद्रों में भेजे
कोविड-19 को लेकर बरती जा रही सावधानियों के तहत नालागढ़ उपमंडल में तैयार क्वारंटीन केंद्रों में 376 अन्य लोगों को रखा गया है। इनमें से कई बाहर से आने और यहां से बाहर जाने वाले लोग शामिल हैं या फिर सड़कों पर अनावश्यक रूप से घूमने वाले हैं। प्रशासन के बनाए इन सेंटरों के तहत राधास्वामी सत्संग भवन नालागढ़ में 43, विश्व मानव रूहानी केंद्र चौंकीवाला में 45, बीएम जैन स्कूल नालागढ़ में 10, एमसी हॉल बद्दी में 25, राधा स्वामी सत्संग भवन बददी कडु़आना में 69, शिवालिक सीसे स्कूल पंजैहरा में 31, सीसे स्कूल रामशहर रिवाल्सर में 93, राधा स्वामी सत्संग भवन रामशहर में 51, सीसे स्कूल राजपुरा में एक, बाबा जग्गों जोघों में एक व्यक्ति को रखा है।
इसके अलावा अंबडेकर भवन रामशहर, सीसे स्कूल बद्दी, आईपीएच रेस्ट हाउस, गुरुद्वारा दभोटा, राधा स्वामी सत्संग भवन कड़ुआना को क्वारंटीन सेंटर बनाया है। यहां अभी तक किसी को नहीं ठहराया गया है। क्वारंटीन टीम के खंड समन्वयक चेतराम नेगी ने कहा कि सभी क्वारंटीन लोगों के स्वास्थ्य की प्रतिदिन अपडेट ली जा रही है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे बाहरी प्रदेशों में आवागमन करने की हिस्ट्री की सूचना विभाग को दें।
बीएमओ नालागढ़ डॉ. केडी जस्सल ने कहा कि क्वारंटीन सेंटरों में रखे लोगों की प्रतिदिन स्वास्थ्य अपडेट ली जा रही है और विभाग की टीमें यहां कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि ये लोग दुरुस्त हैं। यदि किसी को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत होती है तो उच्चाधिकारियों को सूचित किया जाएगा। यहां से आगामी निर्देश मिलने के बाद इनके सैंपल लिए जाएंगे।
पुलिस अधीक्षक रोहित मालपानी ने कहा कि पुलिस की टीमें न केवल जागरूकता ला रही है लेकिन लोगों के रहने ठहरने और खाने-पीने के प्रबंधन में भी जुटी है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे अनावश्यक रूप से घरों से नहीं निकले और मुस्लिम समुदाय के 76 लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटीन केंद्र में रखा है।
एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने कहा कि क्वारंटीन सेंटरों में रखे लोगों के रहने ठहरने और खाने-पीने का उचित प्रबंधन किया है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे कोरोना को लेकर किए जा रहे बचावों और सरकार और प्रशासन की हिदायतों का अनुपालन करें।
... और पढ़ें

सोलन में शुरू हुई होम डिलीवरी, घर बैठे जरूरी सामान मंगवा रहे लोग

सोलन। कर्फ्यू के बीच बुधवार से जिला भर के लोगों के लिए होम डिलीवरी शुरू हो गई। लोगों को अब जरूरी सामान लेने के लिए बाजार आने की जरूरत नहीं है। घर से फोन पर हर जरूरी वस्तु मंगवाई जा सकती है। सोलन प्रशासन ने मंगलवार से ये आदेश पारित कर दिए थे। इन पर बुधवार को दुकानदारों ने अमल शुरू कर दिया। दुकानों के शटर दोपहर तीन बजे तक आधे खुले रहे।
यहां से कुली की मदद से लोगों को सामान पहुंचाया जाता रहा। सोलन शहर में करीब आधा दर्जन दुकानें इस दौरान खुली रहीं। प्रशासन ने आगामी आदेशों तक यह सिलसिला ऐसे ही बरकरार रखने का निर्णय लिया है। बाजारों में भीड़ की वजह से लोग जरूरी सामान नहीं खरीद पा रहे थे। आपाधापी और समय कम होने की वजह से कई बार भीड़ की स्थिति भी कुछ जगहों में देखने को मिल रही थी। इसके मद्देनजर प्रशासन ने होम डिलीवरी शुरू करने का निर्णय लिया। इसका असर बुधवार को कई जगह देखने को भी मिला है। प्रशासन के इस निर्णय के बाद खरीद करने के लिए कम ही लोग बाहर निकले जबकि ऑर्डर पर घर बैठे सामान मंगवाने वालों की तादाद बढ़ने लगी है।
उपायुक्त केसी चमन ने बताया कि प्रशासन ने लोगों को सहूलियत देने के उद्देश्य से यह कदम उठाया है। अब हर जरूरत के सामान के लिए बाजार आना जरूरी नहीं रहेगा। उन्होंने बताया कि दोपहर तीन बजे तक आधे शटर खुले रहेंगे। इनके माध्यम से लोगों के घरों तक सामान पहुंचाया जाता रहेगा। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने नेशनल हाईवे पर आवश्यक वस्तुएं लेकर चलने वाले चालकों के लिए ढाबे खुलवा दिए हैं। ब्रूरी स्थित तरनतारन ढाबा, शमलेच में तपन हुंडई के समीप स्थित प्रदीप भोजनालय, सनवारा स्थित अमृत ढाबा और जाबली स्थित शेखर ढाबा आगामी आदेशों तक रोज खुले रहेंगे।
... और पढ़ें

कोरोना का असर: हिमाचल दवा उद्योग पर भी संकट, उत्पादन गिरा

जरूरी वस्तुओं की श्रेणी में शामिल होने के बावजूद कोरोना वायरस का असर हिमाचल के दवा उद्योग पर भी पड़ता जा रहा है। सोलन जिले के बद्दी-बरोटीवाला और नालागढ़ में स्थापित दवा उद्योगों में 80 फीसदी उत्पादन कम हो गया है, जबकि हिमाचल के दूसरे फार्मा हब ऊना जिले में भी 90 प्रतिशत उत्पादन ठप पड़ गया है। परिवहन सेवा बंद होने से दवाएं रिटेलरों तक न पहुंच पाना भी इसका बड़ा कारण माना जा रहा है। 

 प्रदेश में स्थापित करीब 750 फार्मा उद्योगों में से सिर्फ  60 से 70 फीसदी उद्योग ही काम कर पा रहे हैं। वे भी 10 से 15 फीसदी तक ही उत्पादन कर पा रहे हैं। उद्योगों से थोक विक्रेता तो दवा ले जाते हैं, लेकिन परिवहन सेवा बंद होने से रिटेलरों तक दवाएं नहीं पहुंच पा रही हैं। यदि यह स्थिति ऐसी ही चलती रही तो आने वाले समय में भारी परेशानी होगी। सबसे बड़ी समस्या तो यह है कि उद्योगपति और स्टाफ  सहित कामगार ट्राइसिटी में फंसे हैं, जिसकी वजह से उनकी आवाजाही पर रोक है, जिससे वे उद्योगों में उत्पादन नहीं कर पा रहे हैं।

स्थानीय कामगार घर चले गए हैं। ऊना जिले के मैहतपुर और टाहलीवाल में दवा उद्योग हैं, जिनमें 90 फीसदी काम ठप पड़ा है। मैहतपुर के एक बड़े दवा उद्योग स्विस गार्नियर में जहां तीन शिफ्टों में काम होता था, अब एक शिफ्ट चल रही है। उद्योग में कुल छह सौ कर्मचारी हैं, जिनमें से अब दो सौ कर्मचारी रह गए हैं। हिमाचल, पंजाब समेत दक्षिण भारत तक दवा की सप्लाई करने वाले इस उद्योग में तकरीबन 1500 प्रकार की दवाइयों का उत्पादन होता है। स्विस गार्नियर में एचआर प्रबंधक प्रवीण कुमार ने बताया कि लोगों को घरों में रहकर इस महामारी से लड़ना होगा, यही समय की मांग है। 

 फार्मा उद्योग 10 से 15 फीसदी उत्पादन कर पा रहे हैं। कामगारों के अभाव और कच्चा माल न मिलने से कई उद्यमी उत्पादन ही शुरू नहीं कर पा रहे हैं।-डॉ. राजेश गुप्ता, अध्यक्ष हिमाचल दवा निर्माता संघ
... और पढ़ें

प्रशासन ने जिला भर में स्थापित किए 2745 बिस्तरों वाले 14 क्वारंटीन सेंटर

प्रतीकात्मक तस्वीर
सोलन। लॉकडाउन पर सख्त सोलन प्रशासन ने सीमावर्ती इलाकों को पार करने वालों के लिए क्वारंटीन सेंटर शुरू कर दिए हैं। जिला में सात स्थानों पर 14 क्वारंटीन सेंटर बनाए गए हैं। जहां दो हजार 745 बिस्तरों का प्रबंध किया गया है। इन क्वारंटीन सेंटर में स्वच्छता व खान-पीने की तमाम सुविधाएं मुहैैया करवाई गई हैं। जिला की सीमाओं को पूरी तरह सील करने के बाद से अब तक प्रशासन इन सेंटरों में 760 लोगों को भेज चुका है। इनमें से ज्यादातर पंजाब और हरियाणा के सीमावर्ती इलाकों से पकड़े गए हैं। दूरदराज से हिमाचल में घुसने की कोशिश कर रहे इन लोगों को प्रशासन ने क्वारंटीन कर दिया है। कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लॉकडाउन के बाद प्रदेश को छोड़कर अपने घरों को जाना चाहते थे। बाहरी राज्यों को जाने वालों में उत्तर प्रदेश और बिहार के सबसे ज्यादा लोग हैं। जिन्हें प्रशासन ने क्वारंटीन सेंटर भेज दिया है। इस सेंटर में इन लोगों के लिए 14 दिन तक रखा जाएगा। प्रशासन ने जिला का सबसे बड़ा क्वांरटीन सेंटर सोलन में स्थापित किया है। यहां राधा स्वामी सत्संग भवन में एक हजार लोगों को रखने का प्रबंध किया गया है। हिमुडा हाल परवाणू में 200, राधा स्वामी सत्संग हाल बद्दी में 200, रेन बसेरा बद्दी 100, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बद्दी 70, बरोटीवाला विद्यालय 170, नालागढ़ बीएम जैन पब्लिक स्कूल 160, शिवालिक वैली स्कूल 100, राधा स्वामी सत्संग कृपालपुर 200, ट्रक यूनियन रूहानी सत्संग 100, रामशहर सत्संग भवन 50, आंबेडकर भवन 35, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रामशहर 130, सराय भवन कंडाघाट 60, राधा स्वामी सत्संग भवन कुनिहार 100, राधा स्वामी सत्संग भवन अर्की 50 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है।
क्वारंटीन सेंटर में 760 लोग दाखिल
प्रशासन अब तक 760 लोगों को इन क्वारंटीन सेंटर में दाखिल कर चुका है। जिनमें सबसे ज्यादा नालागढ़ में दाखिल हुए हैं। यहां 200 बिस्तरों की क्षमता वाले रानधा स्वामी सत्संग कृपालपुर में 190 लोगों को रखा गया है। जबकि राधा स्वामी सत्संग हाल बद्दी में 115, राधा स्वामी सत्संग सोलन में 49, रेन बसेरा बद्दी में 23, ट्रक यूनियन नालागढ़ 88, सत्संग भवन रामशहर 40, आंबेडकर भवन में 14, रामशहर स्कूल में 90, सराय भवन कंडाघाट में 30, राधा स्वामी सत्संग भवन कुनिहार में आठ लोगों को रखा गया है।
लॉकडाउन का पालन करें लोग : उपायुक्त
उपायुक्त केसी चमन ने बताया कि सोलन जिला में मजदूरी व अन्य कामधंधे कर रहे लोगों को बाहर न जाने की हिदायत दी गई है। इसके साथ ही जो लोग बाहर से आ रहे हैं उन्हें भी 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के पास पर्याप्त जगह है और इन जगहों पर तमाम सुख सुविधा के प्रबंध किए गए हैं। स्वच्छता का खास ख्याल रखा गया है।
... और पढ़ें

बीबीएन में प्रदेश की सीमा पर पकड़े गए 6

नालागढ़ (सोलन)। औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में बाहर से आने वाले लोगों की पहचान करके उन्हें होम क्वारंटीन कर दिया गया है। बाहरी राज्यों से नालागढ़ उपमंडल पहुंचे 682 लोगों की पहचान करके उन्हें होम क्वारंटीन कर दिया गया है। तीसरी जारी सूची में 161 नए लोगों की पहचान की गई है। इससे पहले 521 लोगों की पहचान करते हुए उनका क्वारंटीन पीरियड पहले ही शुरू हो चुका है। विदेशों से लौटने वाले ऐसे 54 लोगों की पहचान होने के बाद होम क्वारंटीन का पीरियड 15 लोगों ने पूर्ण कर लिया है, जबकि शेष बचे अधिकांश लोगों का 14 दिन का होम क्वारंटीन पूर्ण हो चुका है। विभाग के मुताबिक विदेशों से लौटकर यहां पहुंचे होम क्वारंटीन अवधि पूर्ण करने वाले लोगों का स्वास्थ्य सही है। स्वास्थ्य विभाग के क्वारंटीन टीम के ब्लॉक को-आर्डिनेटर चेतराम नेगी ने कहा कि विदेश के बाद विभिन्न प्रदेशों से आवागमन करने वाले लोगों की मॉनीटरिंग करके उन्हें होम क्वारंटीन कर दिया गया है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वह अपनी देश व विदेश की यात्राओं की जानकारी न छिपाएं, अपितु विभाग को बताएं।
682 लोगों को किया क्वारंटीन : बीएमओ
बीएमओ नालागढ़ डॉ. केडी जस्सल ने कहा कि विभिन्न प्रदेशों की यात्राओं से लौटे ऐसे 682 लोगों की पहचान होने के बाद उन्हें होम क्वारंटीन कर दिया गया है। विदेश से लौटे 54 लोगों में से 15 की होम क्वारंटीन अवधि पूर्ण हो चुकी है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वह घरों में ही रहें और सरकार व विभाग सहित प्रशासन के आदेशों का अनुसरण करें।
... और पढ़ें

अर्की में कोरोना संदिग्ध आईसोलेशन वार्ड में भर्ती

सोलन। जिला स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के संबंध में एक ओर व्यक्ति को अर्की के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। उक्त व्यक्ति दो सप्ताह पहले विदेश से यात्रा कर यहां पहुंचा था। जिसके बाद से यह विभाग की 28 दिन की निगरानी में था। वहीं मंगलवार को उक्त व्यक्ति को जुकाम और बुखार की शिकायत होने पर अर्की नागरिक अस्पताल पहुुंचाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उक्त व्यक्ति को आईसोलेशन में भर्ती कर दिया है। इसमें अब उक्त व्यक्ति के कोरोना के संबंध में सैंपल लिए जा रहे हैं। जिसे जांच के लिए आईजीएमसी शिमला भेजा जा रहा है। जिला सोलन में आईसोलेेशन वार्ड में भर्ती लोगों की संख्या करीब 12 पहुंच गई है। इससे पहले भर्ती सभी लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। नोडल अधिकारी डॉ. कमल अटवाल ने बताया कि अर्की से एक संदिग्ध आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। जिसके सैंपल लिए जा रहे हैं। वहीं सैंपल की रिपोर्ट के बाद कोरोना के संबंध में खुलासा हो सकेगा। ... और पढ़ें

तय मूल्य से अधिक कीमत पर सब्जी बेचते चार धरे,

सोलन। कोरोना वायरस के चलते आवश्यक रूप से खुली दुकानों पर लोगों से हो रही लूट को रोकने के लिए खाद्य सुरक्षा विभाग ने कार्रवाई तेज कर दी है। जिसके तहत विभाग की टीम ने सोलन शहर में कर्फ्यू के दौरान खुली दुकानों का औचक निरीक्षण किया है। जिससे कारोबारियों में हड़कंप मच गया। कार्रवाई के दौरान विभाग की टीम ने दवाइयों, राशन व सब्जी की दुकानों का निरीक्षण किया। कंडाघाट में निरीक्षक गिरीश नेष्टा की अगुवाई में दुकानों का औचक निरीक्षण किया गया। जिसमें विभाग की टीम ने 8 दुकानों का निरीक्षण किया। जिसमें विभाग ने 4 दुकानों से 81 किलोग्राम सब्जी को जब्त किया। जानकारी के अनुसार उक्त दुकानदार लोगों को मूल्य से अधिक कीमत पर सब्जी बेच रहे थे। जिसमें आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्रवाई अमल में लाई गई है। इस मौके पर नायब तहसीलदार विनोद कुमार भी मौजूद रहे।
जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक मिलाप शांडिल ने बताया कि विभाग की टीम ने सोलन व कंडाघाट में औचक निरीक्षण किया। जिसमें कंडाघाट में 4 दुकानदारों से मूल्य से अधिक कीमत पर सब्जी बेचने पर 81 किलोग्रम सब्जी को जब्त किया गया है। उन्होंने बताया कि लोगों से हो रही लूट को रोकने के लिए कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

उत्तर प्रदेश लौट रहे 20 लोगों को क्वारंटीन सेंटर भेजा

कंडाघाट (सोलन)। राज्य से बाहर लोगों के पलायन और उनके दाखिल होने पर पाबंदी का असर दिखने लगा है। रविवार को कंडाघाट पुलिस ने उत्तर प्रदेश लौट रहे 20 लोगों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन सेंटर भेज दिया। यहां इन सभी के स्वास्थ्य की जांच होगी और उनके भोजन का प्रबंध किया जाएगा।
क्वारंटीन में भोजन का प्रबंध फोरलेन निर्माता कंपनी ऐरिफ ने किया है जो सभी को खाना मुहैया करवाएगी। प्रशासन के अनुसार 20 में से 12 लोग रिक्शे में सवार होकर बरेली के लिए शिमला से कंडाघाट की तरफ आ रहे थे। इनमें सात साल और दो महीने के बच्चे शामिल हैं।
इन लोगों को क्वारंटीन में भेजा गया है। दूसरी ओर कंडाघाट मार्ग पर रात को 12 बजे वाया साधुपुल से आ रहे आठ लोगों को रोका गया है जो पैदल ही मुजफ्फरनगर के लिए जा रहे थे। इंटर स्टेट पर रोक लगने के बाद उक्त सभी को भी क्वारंटीन सेंटर में भेजा है। इसके बाद प्रशासन ने सभी लोगों की सूची तैयार करने का कार्य शुरू कर दिया है। इसके बाद जिन लोगों के कंडाघाट और आसपास के क्षेत्रों में घर होंगे तो उन्हें घर भेज दिया जाएगा।
उधर, एसडीएम डॉ. संजीव धीमान ने बताया कि 20 लोगों को क्वारंटीन भवन में रखा है। उन्होंने बताया कि सभी लोगों में से कुछ रिक्शे और पैदल घरों को जा रहे थे। इसके बाद उन्हें रोककर क्वारंटीन सेंटर में रखा है। उन्होंने बताया कि जिनके कंडाघाट में घर होंगे, उन्हें भेज दिया जाएगा।
... और पढ़ें

बाहरी राज्यों से आने-जाने वालों पर पूर्ण रोक, 550 लोग पकड़े

नालागढ़ (सोलन)। औद्योगिक हब बीबीएन में आने और यहां से जाने वाले लोगों को प्रशासन और पुलिस की टीमें शेल्टर होम में भेज ही रही हैं। वहीं अब कर्फ्यू में छूट के अलावा अनावश्यक घूमने वाले ऐसे लोगों को भी पुलिस और प्रशासन की टीमें 14 दिन के लिए शेल्टर होम भेजेगी। प्रदेश और जिले की सीमाएं सील होने के बाद आवागमन करने वाले लोगों को बॉर्डर पर रोककर 550 लोगों को शेल्टर होम भेजा जा चुका है।
प्रशासन ने ऐसे लोगों के लिए शेल्टर होम बनाए हैं जहां उनके रहने, ठहरने और खाने-पीने का प्रबंध किया है। यहां की स्थिति का जायजा लेने के लिए डीसी सोलन केसी चमन ने दौरा किया। पुलिस अधीक्षक और एसडीएम सहित अधिकारियों को कड़े आदेश जारी किए हैं। चिकित्सीय टीमें शेल्टर होम में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य की जांच में जुटी है।
बीबीएन में कामकाज करने आए लोग और बाहरी प्रदेशों में काम करने वाले लोग अपने अपने गंतव्यों के लिए पैदल ही सफर कर रहे हैं। ऐसे में सीमाओं पर निगरानी और मजबूत की गई है। ऐसे लोगों को सीमाओं पर से सीधे शेल्टर होम भेजा जा रहा है।
उपमंडल प्रशासन ने राधा स्वामी सत्संग भवन, ट्रक यूनियन, रूहानी सत्संग भवन, एमसी बद्दी, बरोटीवाला और रामशहर सत्संग, आंबेडकर और पंचायत भवन को शेल्टर होम बनाया हुआ है। इनमें राधा स्वामी सत्संग भवन नालागढ़ में 338, ट्रक यूनियन व रूहानी सत्संग केंद्र में 45, एमसी बद्दी में 23, सत्संग, आंबेडकर और पंचायत भवन 144 लोगों को शेल्टर होम में ठहराया है। यहां पर उनके रहने, ठहरने और खाने-पीने का उचित प्रबंध किया है। इन लोगों को होम शेल्टर में क्वारंटीन किया गया है।
प्रदेश से बाहर जाने पर पूर्ण रोक : एसपी
एसपी रोहित मालपानी ने कहा कि सीमाओं पर आने वाले लोगों को करीब 550 लोगों को शेल्टर होम में भेजा गया है। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले और यहां से बाहर जाने वालों पर पूर्ण रूप से रोक लगी हुई है। इसलिए लोग ऐसे आवागमन करने वाले व्यक्तियों को प्रेरित करें और जो जहां है, वहीं रहें वरना आवागमन करने वालों को शेल्टर होम भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि अनावश्यक रूप से घूमने व विचरण करने वाले लोगों पर भी कड़ी कार्रवाई होगी और उन्हें शेल्टर होम में भेजा जाएगा।
बाहर से आने वालों को बनाए शेल्टर होम : एसडीएम
एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने कहा कि प्रशासन बाहर से आने और जाने वालों के लिए शेल्टर होम बनाए हैं। यहां पर पूर्ण प्रबंध किए हैं। उन्होंने कहा कि लोग सरकार और प्रशासन के आदेशों का अनुसरण करें और इधर-उधर न जाएं। यदि किसी को कोई आवश्यकता है तो वह प्रशासन व गठित मॉनीटरिंग टीमों को इसकी सूचना दें। डीसी सोलन केसी चमन ने कहा कि कोई भी बाहर से और यहां से बाहर नहीं जा सकता है। इसके लिए प्रशासन मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवा रहा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us