विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हिमाचल प्रदेश

शनिवार, 7 दिसंबर 2019

देव आस्था के नाम पर वृद्धा से बदसलूकी करने वालों को मिली जमानत

देव आस्था के नाम पर मंडी जिले की गाहर पंचायत में वृद्ध महिला को डायन बताकर मुंह पर कालिख पोतकर गांव में घुमाने के मामले में नामित आठ आरोपियों को हाईकोर्ट ने सशर्त जमानत दे दी। न्यायाधीश अनूप चिटकारा ने सभी याचिकाकर्ता की जमानत याचिका को स्वीकार करते हुए शर्त लगाई है कि याचिकाकर्ता पीड़ित के घर से पांच किलोमीटर की दूरी पर ही रहेंगे और जांच में सहयोग देंगे।

बता दें, प्रदेश हाईकोर्ट ने दैनिक समाचार पत्रों में छपी खबरों पर पहले ही संज्ञान लिया है और राज्य सरकार से ताजा स्टेटस रिपोर्ट तलब की है। दैनिक समाचार पत्रों में छपी खबरों के अनुसार मंडी जिले के सरकाघाट की गाहर पंचायत में वृद्ध महिला को डायन बताकर मुंह पर कालिख पोतकर गांव में घुमाने के मामले में पुलिस ने अब तक 21 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों पर अभी तक धारा 147, 149,  452, 435, 355 और 427 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 
... और पढ़ें

रोहतांग बहाली में बर्फीली हवाएं बनीं रोड़ा, लाहौल में जम गए नदी-नाले, देखें तस्वीरें

हिमाचल में फिर बिगड़ने वाला है मौसम, दो दिन बारिश और बर्फबारी

हिमाचल के मौसम में दोबारा बदलाव आने जा रहा है। 11 और 12 दिसंबर को प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी होने का पूर्वानुमान है। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में बदलाव आ रहा है।

10 दिसंबर तक प्रदेश में मौसम साफ रहने के आसार हैं। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में शुक्रवार को मौसम साफ रहा। बावजूद इसके धूप खिलने से अधिकतम तापमान में एक डिग्री की कमी दर्ज हुई।

शुक्रवार को ऊना में अधिकतम तापमान 24.3, बिलासपुर में 24.0, कांगड़ा में 23.9, हमीरपुर में 23.4, सुंदरनगर में 23.2, सोलन-भुंतर में 21.8,  नाहन में 21.3, चंबा में 18.7, शिमला में 16.8, धर्मशाला में 15.4, डलहौजी में 12.7, कल्पा में 7.4 और केलांग में 3.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

उधर, सुबह और शाम के समय प्रदेश में ठंड का प्रकोप जारी है। गुरुवार रात को केलांग में न्यूनतम तापमान माइनस 9.0, मनाली में माइनस 1.0, कल्पा में माइनस 0.6, भुंतर में 1.3, सुंदरनगर में 2.3, शिमला में 5.2 और धर्मशाला में 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। 
... और पढ़ें

नाके पर कार से जब्त किए नौ लाख रुपये, बाबा समेत छह गिरफ्तार

प्रदेश पुलिस ने नाके के दौरान एक कार से करीब नौ लाख रुपये जब्त किए हैं। मामला हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले का है। मिली जानकारी के मुताबिक यशवंत नगर पुलिस ने गिरीपुल के पास नाका लगाया हुआ था। दस दौरान गुजरात नंबर की एक कार (जीजे 12 डीएस 2314) सोलन के चायल से आ रही थी। कार में छह लोग सवार थे। पुलिस द्वारा कार को तलाशी के लिए रोका गया।

तलाशी के दौरान पुलिस को कार से 8,99,991 रुपये मिले। पूछताछ के बाद पुलिस ने पाया कि कैश को भारती सन्यास आश्रम ले जाया जा रहा था। कार में सवार लोग रुपयों से संबंधित कोई भी कागजात नहीं दिखा पाए। पुलिस ने कार में सवार शंकर भारती नाम के बाबा और उसके अन्य पांच सेवकों को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ की जा रही है। वहीं पुलिस ने आयकर विभाग को भी इसकी सूचना दे दी है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

एनकाउंटर से न्याय तो मिला, पर दरिंदों को गोली मारने का बने कानून: जबना

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में ढेर हो चुके हैं। खुशी है कि इससे किसी को न्याय मिला है, लेकिन असली खुशी तब होगी, जब आरोप साबित होने के बाद तुरंत दरिंदों को फांसी पर लटकाने या सार्वजनिक तौर पर गोली मारने का कानून बने। देश की युवा प्रधान एवं ओरिएंटल फाउंडेशन की संस्थापक जबना चौहान ने दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने पर बैठकर सरकार से यह मांग उठाई।

उन्होंने कहा कि अब निर्भया और उन्नाव पीड़ित के दरिंदों को ऐसी ही मौत की मांग नारी शक्ति कर रही है। निर्भय के आरोपियों को उसी प्रताड़ना के साथ और उन्नाव पीड़ित को आग लगाने वालों को सरेआम पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया जाए। दुष्कर्म या दुष्कर्म के बाद हत्या जैसे जघन्य अपराध तभी रुकेंगे, जब सख्त कानूनों का सख्ती से क्रियान्वयन किया जाएगा।

उन्होंने अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर प्रधानमंत्री को एक पत्र भेजकर संविधान में संशोधन कर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सख्त कानून बनाने की अपील की। साथ ही दुष्कर्म की घटनाओं में शामिल महिलाओं के हत्यारों को सार्वजनिक स्थान पर फांसी या गोली मारने की सजा का सख्त कानून बनाने की गुहार लगाई। 
... और पढ़ें

संवेदनशील स्थानों पर अब रात को असुरक्षित महसूस नहीं करेंगी महिलाएं, पुलिस ने लिया ये फैसला

सुरक्षा के लिहाज से प्रदेश के संवेदनशील स्थानों पर रात को अब महिलाएं अकेला महसूस नहीं करेंगी। इन स्थानों पर पुलिस का पहरा बैठाने की तैयारी है। टैक्सी और बस स्टैंड सहित अन्य स्थानों को चिन्हित किया जाएगा। ताकि, रात के समय महिलाओं में असुरक्षा की भावना न बने।  तेलंगाना और उन्नाव कांड के बाद हिमाचल पुलिस महिलाओं की सुरक्षा के लिए नई पहल करने की तैयारी में है।

पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर डीआईजी टीटीआर को सभी जिलों में ऐसे स्पॉट तलाशने के लिए कहा गया है, जहां पर महिलाओं की मौजूदगी तो रहती है लेकिन पुलिस बल नहीं होता। उन स्थानों को प्राथमिकता दी जाएगी, जो रात के समय अपराध के लिहाज से संवेदनशील हो सकते हैं। इनमें खासतौर पर टैक्सी और बस स्टैंड या ऐसे स्थान शामिल हैं। जहां महिलाओं को बस आदि का इंतजार करना होता है। पुलिस की तैयारी यह है कि ऐसी जगहों का चयन किया जाए और रात के समय पुलिस का बंदोबस्त किया जा सके।
... और पढ़ें

हिमाचल में सरकार की मंजूरी के बिना नहीं हो सकेंगी जल क्रीड़ाएं

हिमाचल में अब बिना सरकारी मंजूरी के कोई भी जल क्रीड़ाएं नहीं होंगी। पर्यटन विभाग ने जलक्रीड़ा और संबद्ध क्रियाकलाप के नियमों को अधिसूचित कर दिया है। विभिन्न गतिविधियों के लिए बांध क्षेत्र, नदियों और प्राकृतिक झीलों का भी चयन कर लिया गया है। इन नियमों को लेकर एक माह के भीतर आम जनता अपने सुझाव और आपत्तियां दर्ज करवा सकती है। राज्य पर्यटन विकास और रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 2002 (2002 का अधिनियम संख्या 15) की धारा 64 की ओर से प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जलक्रीड़ा और संबद्ध क्रियाकलाप को कार्यान्वित करने के लिए शुक्रवार को राजपत्र में नियम अधिसूचित किए गए हैं।

जल क्रीड़ाएं करवाने के लिए बांध क्षेत्रों में महाराणा प्रताप सागर (पौंग डैम), गोविंद सागर झील, लारजी परियोजना जलाशय, कोल बांध परियोजना जलाशय, पंडोह बांध जलाशय, चमेरा परियोजना एक, दो और तीन बांध जलाशय और नाथपा बांध जलाशय को चुना गया है। नदियों में सतलुज, ब्यास, रावी, यमुना, गिरी, पब्बर, बास्पा, स्पीति, चंद्रभागा और प्राकृतिक झील में रेणुका झील को चुना गया है। जल क्रीड़ा में वेक बोर्डिंग, वाटर स्कीइंग, जैट स्कीइंग, स्काई बोर्डिंग, वाटर स्कूटर, फनराइड जैसे ट्यूब राइड, बनाना राइड, रिंगो राइड, डॉनट राइड, रोइंग, क्याकिंग और कनोइंग को शामिल किया गया है।

संबद्ध क्रियाकलापों में देसी नौका पर नौका विहार, चप्पू नौका विहार, विद्युत/गति/इंजन चलित नौकायन नौका विहार, शिकारा (हाउस बोट) पर नौका विहार, पोत पर अवकाश पर्यटन को शामिल किया गया है। जलक्रीड़ा और संबद्ध क्रियाकलाप के लिए तीन साल की अवधि का रजिस्ट्रीकरण प्रमाणपत्र जारी किया जाएगा। विदेशी नागरिक को प्रमाणपत्र नहीं मिलेगा। राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले व्यक्ति को ही जल क्रीड़ाएं करवाने की अनुमति दी जाएगी।

हृदय की कमजोर स्थिति, मिर्गी, फेफड़ों के विकार, दमा से पीड़ित सहभागियों और गर्भवती महिलाओं का जल क्रीड़ा में भाग लेना वर्जित होगा। नशे का सेवन किए हुए व्यक्ति को भी अनुमति नहीं दी जाएगी। निर्धारित कपड़े पहनकर ही जल क्रीड़ा में शामिल हो सकेंगे। जल क्रीड़ा और संबद्ध क्रियाकलाप करने वाले लोगों को इसमें शामिल होने से पहले गतिविधि के दौरान किसी भी प्रकार की दुघर्टना होने की स्थिति में खुद की जिम्मेवारी तय करने का लिखित में अंडरटेकिंग भी देनी होगी।
... और पढ़ें

हैदराबाद कांड: धरने पर बैठीं देश की सबसे युवा प्रधान जबना, पीएम को पत्र भेजकर उठाई ये मांग

फाइल फोटो

शिमला नगर निगम को इस दिन मिलेगा महापौर और उपमहापौर, चुनाव की अधिसूचना जारी

सूबे के ग्रामीण क्षेत्रों में वित्तीय जागरूकता शिविर लगाने वाले बैंक जांच के घेरे में

प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों की ओर से लगाए जाने वाले वित्तीय जागरूकता शिविर जांच के घेरे में आ गए हैं। इन शिविरों से बैंकों को हुए लाभ की जांच की जाएगी। इसका जिम्मा किसी तीसरी एजेंसी को दिया जाएगा। फर्जी रिपोर्ट मिली तो संबंधित बैंक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को शिमला में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की 154वीं बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अनिल खाची ने यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन शिविरों से बैंकों को हुए लाभ की जांच करवाई जाएगी। 

सूबे की 1700 ग्रामीण बैंक शाखाओं को हर तीन महीनों को एक वित्तीय जागरूकता शिविर लगाना अनिवार्य है। इसके लिए नाबार्ड हर शाखा को एक शिविर लगाने के लिए छह हजार रुपये का भुगतान करता है। इन शिविरों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को बैंकों सहित केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं से अवगत कराया जाता है। डिजिटल लेनदेन भी बताया जाता है। साल 2016-17 से केंद्र सरकार ने इन शिविरों का आयोजन करने का फैसला लिया है। 

शुक्रवार को बैंकर्स समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अनिल खाची ने कहा कि इन शिविरों से कितना लाभ हो रहा है। इसकी जांच करना जरूरी है। ऐसे में सरकार और बैंक को छोड़कर किसी तीसरी एजेंसी से इसका सर्वे करवाया जाएगा। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के लंबित मामलों को जल्द निपटाने और एनपीए को भी कम करने का आह्वान किया।

उन्होंने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में प्रदेश के बैंकों ने 11133 करोड़ रुपये के लक्ष्य के मुकाबले 12103 करोड़ के नए ऋण वितरित किए हैं, जो लक्ष्य का 108 फीसदी रहा। बैंकों का सीडी अनुपात 44.33 फीसदी है। बैठक में यूको बैंक के प्रबंध निदेशक एके गोयल, संयोजक बैंकर्स समिति जेएन कश्यप, महाप्रबंधक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया केसी आनंद और महाप्रबंधक नाबार्ड निलय डी. कपूर मौजूद रहे।

हमीरपुर बनेगा सौ फीसदी डिजिटाइज्ड पेमेंट जिला
शिमला। हमीरपुर जिले में बैंकिंग सेवाओं को 100 फीसदी डिजिटाइज्ड किया जाएगा। आरबीआई ने देश के सभी जिलों के लिए यह अभियान शुरू  किया है। अभी पायलट प्रोजेक्ट में हर राज्य से एक जिले का चयन किया जाना है। बैठक में हमीरपुर जिले से यह अभियान शुरू करने का फैसला लिया गया। जिले के हर व्यक्ति को सुरक्षित, सस्ती और सुविधाजनक तरीके से बैंकिंग सेवाओं की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।
... और पढ़ें

भाजपा की अंदरूनी नब्ज टटोल कर कर लौटे भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारी

बाहर से सब ठीक दिखने और दिखाने वाली भाजपा के अंदर चल रही खींचतान अब खाई में बदलती जा रही है। पच्छाद और धर्मशाला उप चुनावों के दौरान हुए सियासी ड्रामे के बीच पत्र बम पर हो रही कार्रवाई इसे और गहरा कर रही है। गहरी हो रही इस खाई ने अब केंद्रीय नेतृत्व की चिंता बढ़ा दी है। इसी बीच राष्ट्रीय स्तर के दो भाजपा नेताओं ने अचानक हिमाचल का दौरा किया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सरकारी हेलीकॉप्टर से शिमला पहुंचकर सिरमौर और कांगड़ा के स्थानीय नेताओं से मुलाकात की। मुख्यमंत्री और संगठन महामंत्री पवन राणा के साथ कुछ मुद्दों पर चर्चा की और अगली सुबह दिल्ली रवाना हो गए। खास बात यह है कि दोनों नेताओं के आने का न कोई पूर्व में तय कार्यक्रम था और न ही मुख्यमंत्री का दिल्ली रुकने का विचार था। 
लेकिन केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर अचानक बने राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय और राष्ट्रीय सचिव वाई सत्य कुमार के इस दौरे ने हिमाचल में सियासी भूचाल ला दिया है। दोनों नेताओं ने कांगड़ा व शिमला संसदीय क्षेत्र के कई नेताओं से मुलाकात की। सूत्रों का कहना है कि सरकार की शिकायत के बाद संगठन ने हिमाचल की थाह लेने के लिए दोनों नेताओं को भेजा था।
 
दोनों पदाधिकारियों ने स्थानीय नेताओं से पच्छाद और धर्मशाला उप चुनाव के दौरान कथित तौर पर पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल होने वालों पर फीडबैक लिया गया। खास बात यह है कि आधिकारिक तौर पर तो मुख्यमंत्री और भाजपा कार्यालय ने इस पर कुछ नहीं कहा, लेकिन सूत्रों ने बताया कि इस औचक निरीक्षण के बाद दोनों नेता केंद्रीय नेतृत्व को अपनी रिपोर्ट देंगे और भविष्य में मंत्रिमंडल में होने वाले विस्तार में यह रिपोर्ट अहम साबित हो सकती है।
... और पढ़ें

पाटिल, राठौर और अग्निहोत्री से एकसाथ मुलाकात करेंगी सोनिया गांधी, जानिए वजह

राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अब प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल, प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री से एकसाथ मुलाकात करेंगी। इन नेताओं को पार्टी के मसलों पर चर्चा को अलग से समय नहीं मिलेगा। सोनिया विधानसभा उपचुनाव में पार्टी की हार से लेकर पार्टी की मौजूदा स्थिति पर चर्चा करेंगी। प्रदेश, जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी भंग करने के बाद नई कार्यकारिणी को लेकर भी इन नेताओं से विचार-विमर्श किया जाना है। 

पार्टी सूत्रों के अनुसार प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल के दफ्तर को सूचित किया जा चुका है कि हिमाचल कांग्रेस से जुड़े सभी मसलों पर सोनिया गांधी प्रदेश कांग्रेस के नेताओं से अलग-अलग मुलाकात नहीं करेंगी। तीनों नेताओं को एकसाथ मिलने को कहा गया है। तीनों नेताओं को एकसाथ मिलने का समय फिलहाल सोनिया गांधी के कार्यालय से नहीं मिला है, क्योंकि अभी हाईकमान दिल्ली में 14 दिसंबर की महारैली की तैयारियों में जुटा है।

रैली के बाद ही तीनों नेताओं को सोनिया से मिलने का समय मिल पाएगा।  हाईकमान पार्टी की मौजूदा स्थिति को लेकर भी तीनों नेताओं से विचार-विमर्श करने का मन बना चुका है। लोकसभा चुनाव के बाद हुए विधानसभा उप चुनाव में पार्टी की हार के कारणों पर भी पूछा जाना तय है। इसके अलावा हाईकमान के पास पहुंची शिकायतों को लेकर भी तीनों नेताओं से आमने सामने बात होगी और वस्तुस्थिति जानी जाएगी। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
विज्ञापन