विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्य से वीडियो कॉल पर करियर की सारी समस्या का समाधान स्या
Astrology

प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्य से वीडियो कॉल पर करियर की सारी समस्या का समाधान स्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

HP Statehood Day: हिमाचल के शानदार 50 साल, नड्डा बोले- जब 11 साल का था, तब 18वां राज्य बना था

50 साल में अभूतपूर्व विकास हुआ: दत्तात्रेय
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हिमाचल ने खूब तरक्की की है। उन्होंने कहा कि कठिन भौगोलिक स्थिति के बावजूद यहां आज सड़कों का जाल बिछ गया है। शिक्षा, स्वास्थ्य आदि तमाम क्षेत्रों में हिमाचल ने तरक्की की है। 50 साल में अभूतपूर्व विकास हुआ है।

सादगी हमारी ताकत: जेपी नड्डा
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हिमाचल की देश में अपनी छवि है। पहाड़ी, पक्का, ईमानदार, टिका हुआ। यह हिमाचलियों की पहचान है। हिमाचल की सादगी हमारी ताकत है। हम भी चालू होते तो हमें देवभूमि के, देवतुल्य क्यों कहा जाता है। मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं। हिमाचली होने के नाते इस कार्यक्रम में शामिल हुआ हूं।

जब 11 साल का था, तब 18वां राज्य बना था: जेपी नड्डा
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जयराम को बहुत ही लोकप्रिय मुख्यमंत्री कहकर संबोधित किया। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री को कहा कि पत्रकारिता में उनके साथ संवाद का मौका रहा। नड्डा ने कहा- जब 11 साल का छोटा बालक था, अवकाश मनाने आया था। मुझे अखबार में पढ़ने का मौका मिला था कि हिमाचल 18वां पूर्ण राज्य बन गया। यह देवी-देवताओं, वीरों की भूमि है। पहले छोटी-छोटी पगडंडियां थीं।

मरीजों को चारपाई पर ले जाते थे। आज हिमाचल विकसित है। डॉ. परमार को याद करना जरूरी है। किस तरीके से उन्होंने काम किया, यह याद करना चाहिए। पूर्व सीएम वीरभद्र के समय आधारभूत ढांचा का अवार्ड मिला था। पूर्व सीएम शांता ने लोगों के सिर से पानी के घड़े उतारकर पानी लाया। वे पानी वाले मुख्यमंत्री थे।

धूमल अटल के आशीर्वाद से गांव-गांव सड़क पहुंची। हिमाचल प्रदेश में बहुत विकास हुआ, सबने विकास में योगदान दिया। हर दृष्टि से विकास हुआ है। जेपी नड्डा ने कहा कि विकास की कहानी की बात करें तो मैं भावुक हो जाता है। नड्डा ने बहुत सी योजनाएं गिनाईं। स्वास्थ्य, शिक्षा में हिमाचल बहुत आगे पहुंचा है।

सीएम जयराम ठाकुर ने गिनाईं उपलब्धियां
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि यह दिन बहुत महत्वपूर्ण है। लंबे संघर्ष के बाद प्रदेश को पूर्ण राज्यत्व मिला। हिमचालवासियों को इसके लिए शुभकामनाएं देता हूं। सीएम ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बहुत महत्वपूर्ण कार्यक्रम में व्यस्त होने के कारण कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यक्रम में आने के लिए धन्यवाद किया। 

सीएम ने कहा कि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने यहां आकर पूर्ण राज्यत्व की घोषणा की थी, वह इंदिरा गांधी को याद करते हैं। डॉ. यशवंत सिंह परमार को याद करते हैं। डॉ परमार ने प्लानिंग की बैठक में विकास के लिए तीन शब्दों में बात कही थी- सड़क, सड़क, सड़क। डॉ. परमार ने हिमाचल को एक विजन और एक दिशा दी।

डॉ. परमार के बाद हिमाचल में जिन नेताओं ने इस प्रदेश को आगे बढ़ाया, उन्हें वह नमन करते हैं। शांता कुमार ने हिमाचल को पेयजल से जोड़ा, अंत्योदय योजना लेकर आए। वीरभद्र सबसे लंबे समय तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। हर व्यक्ति तक पहुंचने के प्रयास किए। उनका भी हिमाचल के विकास में योगदान रहा। प्रेमकुमार धूमल का हिमाचल के लिए बहुत योगदान रहा। अटल बिहारी वाजपेयी के योगदान को नहीं भूला जा सकता। 

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में लगभग 50 पंचायतें ही ऐसी हैं जहां सड़क पहुंचनी शेष हैं। अटल ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना शुरू की। पीएम नरेंद्र मोदी विश्व नेता की भूमिका में हैं, उनका हिमाचल के लिए योगदान अविस्मरणीय है।

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि इस प्रकार का अवसर हमें एक साल बाद मिला है। कोविड के चलते कार्यक्रम नहीं हो पा रहे थे। बहुत बड़ा संकट था। इस संकट से पार निकलने में सहयोग मिला। बहुत तेजी से कोविड पर नियंत्रण होगा। 400 ही एक्टिव केस रह गए हैं।

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना देश के लिए नड्डा की देन है। एम्स नड्डा की देन है। तीन मेडिकल कॉलेज समेत कई प्रोजेक्ट नड्डा की देन है। सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल की नई पीढ़ी को राज्य के इतिहास से अवगत करवाया जाएगा। हिमाचल तब और अब पर साल भर विभिन्न 51 कार्यक्रम होंगे। विधायकों, सांसदों के लिए भी कार्यक्रम किए जाएंगे। आने वाले 50 साल कैसे हों, इसके लिए लोगों से सुझाव लेंगे। 

सीएम जयराम की तारीफ की
अनुराग ठाकुर ने कहा कि जयराम सरकार ने कोरोना को नियंत्रित करने के लिए बेहतरीन काम किया। अगले 25 साल में हिमाचल को नंबर वन बनाने की विधानसभा के हर सत्र में चर्चा होनी चाहिए। इसमें पार्टी लाइन से ऊपर उठकर काम हो। भाजपा, कांग्रेस करने के बजाय हिमाचल को आगे ले जाने पर काम हो। अनुराग ठाकुर ने कहा कि बल्क ड्रग पार्क भी हिमाचल के हिस्से में जरूर आएगा। सीएम जयराम ऐसा कर पाएंगे। धूमल के समय में प्रदेश में उद्योग आए। करीब चार लाख लोगों का इनसे रोजगार मिला।

इंदिरा गांधी को श्रद्धांजलि दी
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंच से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को श्रद्धांजलि दी। बोले- विरोध करने के बावजूद इंदिरा गांधी ने हिमाचल को पूर्ण राज्यत्व का दर्जा दिया। अनुराग ठाकुर ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के कार्यकाल की बहुत सी योजनाएं गिनाईं। प्रदेश के शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने डॉ. वाईएस परमार को याद करते हुए कहा कि उनके अनथक प्रयासों से हिमाचल को पूर्ण राज्यत्व मिला। भारद्वाज ने कहा कि तब वे कॉलेज में पढ़ते थे। कहा कि डॉ. वाईएस परमार के स्वागत को अपार जनसमूह उमड़ा था।


जेपी नड्डा समारोह में पहुंचे
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर समारोह में पहुंच गए हैं। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने ध्वजारोहण किया और खुली जीप में रिज मैदान पर परेड का निरीक्षण कर सलामी ली। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने अटल बिहारी वाजपेयी को पुष्पांजलि अर्पित की।



हिमाचल प्रदेश पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के 50 वर्ष आज पूरे कर रहा है। इस अवसर पर हिमाचल दिवस का राज्यस्तरीय स्वर्ण जयंती समारोह शिमला के रिज मैदान पर मनाया जा रहा है। समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शामिल नहीं होंगे। उनका शिमला का दौरा टल गया है। वह कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होंगे, जबकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समारोह में बतौर विशेष अतिथि शिरकत करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों को पूर्ण राज्यत्व दिवस के 50 वर्ष पूरे होने पर बधाई दी है। 
... और पढ़ें
शिमला के रिज मैदान पर स्वर्ण जयंती समारोह में संबोधन करते जेपी नड्डा। शिमला के रिज मैदान पर स्वर्ण जयंती समारोह में संबोधन करते जेपी नड्डा।

हिमाचल में 27 जनवरी से स्कूलों में आएंगे शिक्षक

हिमाचल प्रदेश के ग्रीष्मकालीन छुट्टियों वाले सरकारी स्कूलों में बुधवार से शिक्षकों का आना शुरू हो जाएगा। 27 से 31 जनवरी तक स्कूलों में सैनिटाइजेशन अभियान चलाया जाएगा। विद्यार्थी एक फरवरी से स्कूलों में आना शुरू होंगे। पांचवीं और आठवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों की एक फरवरी से ग्रीष्मकालीन स्कूलों में कक्षाएं लगना शुरू होंगी। इस दौरान हाजिरी की अनिवार्यता नहीं रहेगी। पहले की तरह ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी।

शीतकालीन स्कूलों में 15 फरवरी से सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को बुलाया गया है। विद्यार्थियों के आने से पहले सैनिटाइजेशन का काम पूरा किया जाएगा। सभी स्कूलों से शिक्षा निदेशालय ने 30 जनवरी तक शिक्षण कार्य शुरू करने को लेकर माइक्रो प्लान देने को भी कहा है। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने बताया कि सभी प्रिंसिपलों को सैनिटाइजेशन अभियान चलाने के निर्देश दे दिए गए हैं।
... और पढ़ें

HP Statehood Day: हिमपात के बीच इंदिरा गांधी ने की थी पूर्ण राज्यत्व दिवस की घोषणा

जगह शिमला और दिन था 25 जनवरी 1971। बर्फ गिर रही थी। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी बड़ी मुश्किल से अनाडेल से रिज मैदान तक पहुंची थीं। उन्होंने रिज मैदान से हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व की घोषणा की थी। उस वक्त कई संस्थाएं हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व के खिलाफ भी थीं। बावजूद इसके लंबे संघर्ष के बाद हिमाचल को पूरे राज्य का स्टेटस दिया गया। तब डॉ. यशवंत सिंह परमार हिमाचल के पहले मुख्यमंत्री बने थे। 

हिमाचल प्रदेश देश की आजादी के पूरे आठ महीने बाद 15 अप्रैल 1948 को 30 छोटी-बड़ी पहाड़ी रियासतों के विलय के परिणामस्वरूप चीफ कमिशनर प्रोविंस के रूप में अस्तित्व में आया। महासू, मंडी, चंबा और सिरमौर को अलग-अलग जिलों का दर्जा दिया गया। उस समय हिमाचल प्रदेश का क्षेत्रफल 10,451 वर्ग मील और जनसंख्या 9,83,367 थी। वर्ष 1950 को हिमाचल को ‘सी’ स्टेट का राज्य का दर्जा देकर विधानसभा के गठन का प्रावधान कर दिया गया।
... और पढ़ें

सिरमौर में इकलौती निर्दलीय बनीं किंग मेकर, भाजपा-कांग्रेस के पास 8-8 सीटें

जिला परिषद सिरमौर में सियासी संकट गहरा गया है। पांवटा साहिब में छह जिला परिषद वार्डों के परिणाम घोषित होते ही जिला परिषद की सियासी तस्वीर साफ हो गई है। इस बार के चुनाव में कांग्रेस और भाजपा का प्रदर्शन बराबरी पर छूटा। सियासत के इस खेल में दोनों ही राजनीतिक दल 8-8 सीटें जीतने में कामयाब हुए। हालांकि, बहुमत के लिए जरूरी 9 का आंकड़ा दोनों दल नहीं छू पाए। लिहाजा, पच्छाद क्षेत्र के बाग पशोग से बतौर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव में उतरीं नीलम शर्मा की भूमिका अब अहम हो गई है। 

अपने दम पर चुनाव जीतने वाली नीलम के हाथ सत्ता की चाबी आ गई है। नीलम का फैसला तय करेगा कि जिला परिषद की सत्ता में कांग्रेस काबिज होगी या भाजपा। वर्ष 2015 में हुए पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव को लें तो इस बार भाजपा का प्रदर्शन बेहतर रहा है। पिछले चुनाव में कांग्रेस का पलड़ा भारी था। चुनाव में कांग्रेस ने सबसे अधिक 12 सीटें जीतकर सत्ता पर कब्जा जमाया था। चार सीटें भाजपा और एक सीट पर सीपीआईएम के उम्मीदवार विजय हुए थे।

इस बार भाजपा ने चार सीटों की बढ़ोतरी कर आठ पर जीत दर्ज की है। वहीं, कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले शिल्हा और कमरऊ वार्ड भी उनके हाथ से फिसल गए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप के गृह क्षेत्र से बतौर निर्दलीय उम्मीदवार जीतने वाली नीलम शर्मा के हाथ सत्ता की चाबी होने से दोनों दल अब उसे अपनी ओर करने के लिए सियासी दांवपेंच भिड़ा रहे हैं।

अध्यक्ष पद अन्य पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित होने से सियासी पारा और चढ़ने की संभावना है। बताया जा रहा है कि निर्दलीय प्रत्याशी इसी वर्ग से संबंधित है। ऐसे में दोनों ही दल उन्हें अध्यक्ष पद सौंपकर अपनी ओर करने का प्रयास कर सकते हैं। 

जिला परिषद के शेष रहे छह वार्डों का परिणाम
वार्ड            जीते                 हारे             दल             जीत अंतर

शिल्ला         मामराज            रतिराम        भाजपा           173
कमरऊ      सुमिता चौहान       मीरा           भाजपा           764 
भगानी         अंजना शर्मा          ओमलता     कांग्रेस          3048
बद्रीपुर        सरवन सिंह          गुरदीप        भाजपा          2216
रामपुर भारापुर ओम प्रकाश      मनीष         कांग्रेस           174
माजरा         अमृत कौर         पुष्पा चौधरी    कांग्रेस          2466
... और पढ़ें

अपने ही गृह क्षेत्र में मात खा गए सिरमौर के दिग्गज नेता

पशोग से बतौर निर्दलीय प्रत्याशी नीलम शर्मा।
जनपद सिरमौर में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव परिणाम चौंकाने वाले रहे हैं। सत्तारुढ़ दल हो या विपक्षी दल के नेता। सब अपने घर में ही मात खा गए। कांग्रेस-भाजपा के नेता अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के गृह वार्डों में सेंधमारी लगाने में तो कामयाब हो गए, लेकिन अपने वार्ड हाथ से फिसल गए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप हों या ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी या फिर सत्तारुढ़ दल और विपक्षी दल के विधायक सबके वार्डों में उनका दल फिसड्डी साबित हुआ।

17 वार्डों वाली जिला परिषद में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही राजनीतिक दलों ने पार्टी के समर्थित उम्मीदवार मैदान में उतारे थे। इसका बाकायदा पहले ही एलान कर दिया गया था। इस बार के चुनाव परिणामों को लें तो प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप के गृह वार्ड में भाजपा हार गई। कांग्रेस नेता एवं पूर्व विस अध्यक्ष जीआर मुसाफिर भी इसी वार्ड से हैं। वह भी कांग्रेस को यहां से जीत नहीं दिला पाए। इस वार्ड में निर्दलीय प्रत्याशी ने बाजी मारी। वहीं, ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी और नाहन के विधायक डॉ. राजीव बिंदल के संयुक्त वार्ड माजरा में कांग्रेस जीत दर्ज करने में कामयाब हुई। यह वार्ड ऊर्जा मंत्री का गृह वार्ड है। हालांकि, नाहन हलके के तहत आने वाली कालाअंब और बनकला दोनों ही सीटों पर भाजपा ने परचम लहराया। 

शिलाई में विधायक हर्षवर्धन चौहान और पूर्व विधायक एवं खाद्य आपूर्ति निगम के अध्यक्ष बलदेव तोमर अपने अपने जिला परिषद वार्डों में मात खा गए। इतना ही नहीं श्री रेणुका जी में विधायक विनय कुमार के गृह क्षेत्र संगड़ाह की जिला परिषद सीट भी भाजपा की झोली में गई। यहां विधानसभा चुनाव में भाजपा की ओर से प्रत्याशी रहे बलवीर के गृह वार्ड नौहराधार में भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। राजगढ़ क्षेत्र में भी विधायक रीना कश्यप के देवठी मझगांव वार्ड में भाजपा हार गई है। पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता किरनेश जंग के गृह क्षेत्र बद्रीपुर जिला परिषद वार्ड में भाजपा ने परचम लहराया है। 

बीडीसी में भाजपा को बढ़त की उम्मीद
पंचायत समिति के लिए हुए चुनाव के बाद भाजपा को बढ़त मिलने की उम्मीद है। छह पंचायत समितियों में से भाजपा का अंक आगे रहने की चर्चाएं चल रही हैं। लेकिन, पंचायत समिति के चुनाव में किसी भी दल ने अपनी पार्टी से संबंधित उम्मीदवार का एलान नहीं किया था। लिहाजा, अब दोनों ही राजनीतिक दल जोड़तोड़ में जुटे हैं।
... और पढ़ें

शिमला आने वाली ट्रेन और वोल्वो 26 तक एडवांस बुक, होटल भी पैक

गणतंत्र दिवस मनाने हिमाचल प्रदेश में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी है। दिल्ली से शिमला आने वाली एचआरटीसी की वोल्वो बसें और कालका से शिमला आने वाली टॉय ट्रेनों की एडवांस बुक हो चुकी हैं। शिमला, मनाली के होटल 26 जनवरी तक पैक हो गए हैं। शनिवार से मंगलवार तक छुट्टियों के चलते पर्यटकों ने पहाड़ों का रुख कर लिया है। हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों कुल्लू-मनाली, लाहौल-स्पीति, चंबा, धर्मशाला की धौलाधार पर्वत शृंखला में बर्फबारी हो रही है।

पर्यटन स्थल मनाली में होटलों में 90 से 100 फीसदी तक ऑक्यूपेंसी चल रही है। यहां छोटे और मझोले होटल भी 70 फीसदी तक पैक चल रहे हैं। मणिकर्ण, जिभी और तीर्थन घाटी में भी सैलानियों की चहलकदमी बढ़ गई है। सोलंगनाला, कोठी, गुलाबा और अटल टनल के साउथ पोर्टल व धुंधी में शनिवार रात ताजा बर्फबारी से पर्यटन को गति मिलेगी। विंटर सीजन में पर्यटकों को लुभाने के लिए होटलियरों की ओर से आकर्षक पैकेज दिए जा रहे हैं। पर्यटन निगम के होटलों में कमरों की बुकिंग पर 40 प्रतिशत तक छूट दी जा रही है। सोलंगनाला व नेहरूकुंड में सैलानियों ने स्कीइंग, स्नो स्कूटर, घुड़सवारी, पैराग्लाइडिंग का जमकर लुत्फ उठाया।

उधर, राजधानी शिमला के रिज मैदान, माल रोड के अलावा कुफरी, नारकंडा, मशोबरा और नालदेहरा में भी रविवार को सैलानियों की भारी भीड़ उमड़ी। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन शिमला के अध्यक्ष संजय सूद ने बताया कि वीकेंड पर बड़ी संख्या में सैलानी शिमला पहुंचे हैं। रविवार को कार्ट रोड पर स्थित शहर की सबसे बड़ी लिफ्ट पार्किगिं रविवार दोपहर 1:00 बजे पैक हो गई। देर शाम तक करीब दस हजार लोगों ने मालरोड और रिज जाने के लिए पर्यटन निगम की लिफ्ट का इस्तेमाल किया।
... और पढ़ें

सीएम जयराम के प्रमुख सचिव पर आय से अधिक संपत्ति का आरोप, विशेष अदालत ने मांगी रिपोर्ट

तस्वीरें: हिमाचल में ताजा बर्फबारी, पर्यटकों से गुलजार हुए पर्यटन स्थल

पर्यटन नगरी मनाली एक बार फिर सैलानियों से गुलजार हो गई है। बड़े और पर्यटन निगम के होटलों में सैलानी भरे पड़े हैं। छोटे व मझोले होटलों के कमरे भी 70 फीसदी तक बुक हुए पड़े हैं। मनाली के साथ मणिकर्ण घाटी, जिभी व तीर्थन घाटी में भी सैलानियों की चहलकदमी बढ़ गई है। सोलंगनाला, कोठी, गुलाबा तथा अटल टनल के साउथ पोर्टल तथा धुंधी में शनिवार रात को हुई ताजा बर्फबारी से पर्यटन को ओर गति मिलेगी। इस सप्ताह के वीकेंड से लेकर इस माह के अंत तक कुल्लू-मनाली की वादियों में सैलानियों का आवाजाही रहने की उम्मीद है। विंटर सीजन में पर्यटकों को लुभाने के लिए होटलियरों की ओर से आकर्षक पैकेज दिए जा रहे हैं। पर्यटन निगम के होटलों में कमरों की बुकिंग पर 40 प्रतिशत तक छूट दी जा रही है। सोलंगनाला व नेहरूकुंड में रविवार को भारी संख्या में पर्यटक पहुंचे और बर्फ के बीच जमकर मस्ती की है। सैलानियों ने स्कीइंग, स्नो स्कूटर, घुड़सवारी, पैराग्लाइडिंग का जमकर लुत्फ उठाया। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X