कोरोना: तब्लीगी जमात के करीब 1500 लोग इन राज्यों में वापस गए, कई संक्रमित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 02 Apr 2020 03:29 PM IST
विज्ञापन
देशभर से दिल्ली पहुंचे तब्लीगी जमात के लोग
देशभर से दिल्ली पहुंचे तब्लीगी जमात के लोग - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें
दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के मरकज में कोरोना संक्रमितों के मिलने से पूरे देश में सनसनी मची हुई है। मरकज में शामिल छह लोगों की तो तेलंगाना में मौत भी हो चुकी है। यहां से निकाले गए 24 लोग संक्रमित पाए गए हैं। 441 संदिग्धों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। चिंता कि बात ये है कि मरकज में शामिल लोग उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल सहित देश के कई राज्यों में पहुंच चुके हैं। अब प्रशासन इनकी तलाश में जुटा है, ताकि इन्हें तुरंत क्वारंटीन किया जा सके। इतनी बड़ी संख्या में मरकज से संक्रमितों के पाए जाने के बाद ये जानना जरूरी है कि तब्लीगी जमात में शामिल लोग कहां-कहां से दिल्ली पहुंचे थे। इसका क्या इतिहास है और ये कैसे काम करता है।
विज्ञापन

लॉकडाउन की उड़ीं धज्जियां 
भारत में तब्लीगी जमात का मुख्य ऑफिस दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन दरगाह के पास मरकज के नाम से है। यहां पर कुछ समय से तब्लीगी जमात के लोग जुटते रहे और धार्मिक कार्यक्रम (जलसा) भी हुआ। कोरोना वायरस संकट के बीच अब जमात चर्चा में है और सवाल उठ रहे हैं कि कानून की धज्जियां उड़ाते हुए इसने जलसे का आयोजन आखिर किया कैसे? लॉकडाउन और धारा 144 के बीच कैसे यहां भीड़ जुटती रही? 
मरकज में करीब 1746 लोग रहे थे
आज गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि 21 मार्च तक हजरत निजामुद्दीन मरकज में लगभग 1746 लोग रहे थे। इनमें से 216 विदेशी और करीब 1530 भारतीय थे। इसके अतिरिक्त लगभग 824 विदेशी 21 मार्च को देश के विभिन्न हिस्सों में तबलीग गतिविधियां कर रहे थे। इन लोगों को ढूढ़ना भी एक चुनौती बन गया है। वहीं, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब तक 1548 लोगों को मरकज से बाहर लाया गया है, उनमें से 441 में कोरोना के लक्षण दिखे थे। उन्हें अस्पतालों में शिफ्ट किया गया है और उनके टेस्ट किए जा रहे हैं। जिन 1107 में लक्षण नहीं दिखे उन्हें क्वारंटाइन में भेजा गया है। 

अलग-अलग राज्यों से 1530 से ज्यादा लोग 
गृह मंत्रालय के मुताबिक, 21 मार्च तक मरकज में करीब 1530 भारतीय नागरिक मौजूद थे। इनमें से तमिलनाडु के करीब 500, असम के करीब 216, यूपी के करीब 156, महाराष्ट्र के करीब 108, मध्यप्रदेश के करीब 107, बिहार के करीब 86, पश्चिम बंगाल के करीब 73, तेलंगाना के करीब 55, झारखंड के करीब 40, कर्नाटक के करीब 40, उत्तराखंड के करीब 30, हरियाणा के करीब 20, अंडमान निकोबार के करीब 21, राजस्थान के करीब 19, हिमाचल प्रदेश, केरल और ओडिशा के करीब 15-15, पंजाब के करीब नौ, जम्मू और कश्मीर दोनों जगहों से करीब सात और मेघालय के पांच लोग हैं। तेलंगाना में जहां मरकज में आए पांच लोगों की मौत हुई वहीं, कश्मीर में एक की जान गई। इस शख्स के चलते  राज्य में 855 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। ये आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। अब केंद्र, राज्य सरकारों और इंटेलीजेंस के लिए इन्हें ढूंढ निकालना बड़ी चुनौती है। अगर एक-एक की स्वास्थ्य जांच नहीं हुई तो ये कितना घातक साबित होगा बताने की जरूरत नहीं है। 
 
राज्य कितने लोग  (लगभग)
तमिलनाडु  500
असम 216
यूपी 156
महाराष्ट्र 108
मध्यप्रदेश 107
बिहार 86
पश्चिम बंगाल 73
तेलंगाना 55
झारखंड 40
कर्नाटक 40
उत्तराखंड 30
हरियाणा 20
अंडमान निकोबार 21
राजस्थान 19
हिमाचल प्रदेश 15
केरल 15
ओडिशा 15
पंजाब 9
मेघालय 5
जम्मू और कश्मीर   7 से ज्यादा 

भोपाल में 36 लोगों की पहचान
हालांकि, इस बीच खबर आई कि भोपाल से मरकज में शामिल होने आए 36 लोगों की पहचान हो गई है। इन्हें क्वारंटीन कर दिया गया है। परीक्षण के लिए सभी के सैंपल ले लिए गए हैं। यह जानकारी भोपाल के कलेक्टर तरुण पिथोडे ने दी। 

वहीं, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इसे लेकर पूरी तरह सावधान हैं। शिवराज कहा कि मैंने उन सभी 107 लोगों की पहचान के आदेश दिए हैं जो मरकज में शामिल हुए थे। पुलिस ने इनमें से कुछ की पहचान कर ली है और इन्हें क्वारंटीन केंद्र भेजा जा रहा है। बाकी लोगों की तलाश जारी है।    



तमिलनाडु में 45 संक्रमितों की पुष्टि 
वहीं, तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव नीला राजेश ने जानकार दी है कि तमिलनाडु के 45 लोग जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे, उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

किस-किस देश से आए लोग?

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us