विज्ञापन
विज्ञापन

Cyclone Nisarga Live Updates: महाराष्ट्र में भारी बारिश की संभावना, पुणे में दो लोगों की मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 04 Jun 2020 02:47 AM IST
Cyclone Nisarga Tracker, Weather Forecast Today Live Updates News in Hindi Nisarga Cyclone hit Mumbai after 129 years
Nisarga cyclone

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

खास बातें

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि 120 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार वाली हवाओं के साथ बुधवार की दोपहर महाराष्ट्र के तट पर पहुंचा भीषण चक्रवात निसर्ग अब कमजोर पड़ने लगा है और इसकी तीव्रता घट जाएगी।
तूफान निसर्ग दोपहर करीब एक बजे महाराष्ट्र तट से टकराया और अगले तीन घंटे तक लैंडफॉल प्रक्रिया चली। इसी के साथ रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, अलीबाग सहित कई इलाकों में तेज बारिश और हवाओं का दौर शुरू हो गया। मुंबई-पुणे में तूफान के कारण कई पेड़ गिर गए वहीं अलीबाग में भी तूफान ने कहर मचाया। राज्य में एनडीआरएफ की 21 टीमें तैनात हैं और करीब एक लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया है। इसके अलावा कोस्ट गार्ड की टीमों को भी प्रभावित इलाकों में तैनात किया गया है। हालांकि गुजरात में किसी बड़े नुकसान की खबर नहीं है। यहां 67 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया था। 
यहां पढ़े तूफान से जुड़े सभी अपडेट्स-
विज्ञापन

लाइव अपडेट

02:46 AM, 04-Jun-2020
निसर्ग तूफान: पुणे में दो लोगों की मौत

निसर्ग चक्रवाती तूफान में पुणे जिले में दो लोगों की जान चली गई, जबकि तीन लोग घायल हो गए। पुणे डिप्टी जिला कलेक्टर जयश्री कटारे ने बताया कि निसर्ग तूफान से 
3 जून को पुणे जिले में दो मौतें हुईं, जबकि 3 लोग घायल हुए हैं। मुलशी तहसील में बिजली के झटके के कारण दो जानवरों की भी मौत हो गई।
विज्ञापन
09:32 PM, 04-Jun-2020

रत्नागिरी और श्रीवर्धन में बिजली आपूर्ति की बहाली का काम शुरू

रत्नागिरी और श्रीवर्धन में बिजली आपूर्ति की बहाली का काम शुरू हो गया है। मुरुड, मडगांव, गोरेगांव, अलीबाग, म्हसाला, गुहागर, दापोली तालुकाओं में जहां ईएचवी स्टेशनों से बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई थी। वहां जैसे ही हवा और बारिश धीमी होगी, बिजली की आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी: महाराष्ट्र सरकार
09:16 PM, 04-Jun-2020

छह उड़ानों को डायवर्ट और एक को रद्द कर दिया गया

महाराष्ट्रः पुणे एयरपोर्ट में आज मौसम की स्थिति के कारण छह उड़ानों को डायवर्ट और एक को रद्द कर दिया गया: एयरपोर्ट निदेशक 
08:12 PM, 04-Jun-2020

दीवार गिरने की घटना में 65 वर्षीय महिला की मौत, परिवार के पांच सदस्य घायल

महाराष्ट्र के पुणे की खेड़ तहसील में आज शाम करीब पांच बजे दीवार गिरने की घटना में एक 65 वर्षीय महिला की मौत हो गई और उसके परिवार के पांच सदस्य घायल हुए: पुणे जिला परिषद के सीईओ आयुष प्रसाद
08:04 PM, 04-Jun-2020

चक्रवात अब उत्तर-पूर्व महाराष्ट्र की ओर बढ़ रहा है- मौसम विभाग

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवात अब उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ रहा है। महाराष्ट्र में नासिक, धुले और नंदुरबार में इस तूफान के प्रभाव की आशंका है। अधिकारी ने कहा, 'पुणे जिले का उत्तर-पश्चिम हिस्सा भी तूफान की वजह से प्रभावित होगा। पुणे में बारिश देखने को मिलेगी, जबकि घाट क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना है।'

उन्होंने कहा कि घाट क्षेत्रों में जलभराव, भूस्खलन और पेड़ गिरने की भी संभावना है। तूफान का असर पुणे में रात 8.30 बजे तक रहने की संभावना है और रात 11.30 बजे तक यह थम जाएगा।' पुणे जिले के कई हिस्सों से पेड़ गिरने, बिजली के खंभे उखड़ने और टिन शेड उड़ने की घटनाएं सामने आईं।
07:42 PM, 04-Jun-2020
चक्रवाती तूफान निसर्ग के मद्देनजर विभाग ने आज शाम तक पेड़ उखड़ने से संबंधित 60 कॉल और जलभराव से संबंधित नौ कॉल्स का जवाब दिया: फायर ब्रिगेड विभाग, पुणे नगर निगम 
07:38 PM, 03-Jun-2020

रायगढ़ के अलीबाग में एक की मौत

महाराष्ट्र के रायगढ़ के अलीबाग इलाके में आज बिजली का खंभा गिरने से एक 58 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई: जिला कलेक्टर निधि चौधरी   
07:05 PM, 03-Jun-2020

निसर्ग अगले तीन घंटे में और कमजोर पड़ जाएगा

आईएमडी के डीजी मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि चक्रवाती तूफान निसर्ग अगले तीन घंटे में और कमजोर पड़ जाएगा। अगले छह घंटे में यह कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो जाएगा। फिलहाल यह पुणे के ऊपर है। 

 
06:36 PM, 03-Jun-2020

गुजरात में कोई अप्रिय घटना नहीं

गुजरात के राहत आयुक्त हर्षद पटेल ने कहा, अरब सागर के पास स्थित वलसाड और नवसारी जिलों में हवा की गति सामान्य रही। अभी तक किसी अप्रिय घटना या किसी मनुष्य को चोट लगने की सूचना नहीं है। वलसाड और नवसारी में सुबह से क्रमश: दो मिलीमीटर और सात मिलीमीटर वर्षा हुई है। स्थिति नियंत्रण में है। एहतियाती कदम के तौर पर अभी तक आठ जिलों में तट के पास रहने वाले 63,700 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

उन्होंने कहा कि इनमें से 33,680 लोगों को वलसाड जिले से निकाला गया है, वहीं 14,400 लोगों को नवसारी में, सूरत में 8,727 लोगों को, भावनगर में 3,066 लोगों को, अमरेली में 2,086 लोगों को, भरूच में 12,020 लोगों को, आणंद में 761 लोगों को और गिर-सोमनाथ में 228 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। 

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 18 टीमों और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की छह टीमों को विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया है।
06:53 AM, 03-Jun-2020
मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात निसर्ग 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ उत्तरी महाराष्ट्र तट की ओर आ रहा है। यह अलीबाग से लगभग 200 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और मुंबई से 250 किमी दक्षिण-पश्चिम में है।
04:19 AM, 03-Jun-2020

महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना, पुणे में दो लोगों की मौत

चक्रवाती तूफान निसर्ग ने अपना रुख मुंबई की तरफ कर लिया है और अब यह तेजी से बढ़ा चला आ रहा है। ऐसे में अब इसका असर महाराष्ट्र के कई जिलों में दिखना शुरू हो गया है। यहां मुंबई, पालघर, अलीबाग और ठाणे में देर रात से बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग के अनुसार, तूफान ‘निसर्ग’ सुबह मुंबई से 94 किलोमीटर दूर अलीबाग के तट से आज टकराएगा। बड़े पैमाने पर तबाही की आशंका को देखते हुए सरकार और प्रशासन की तरफ से तैयारियों को बढ़ा दिया गया है। महाराष्ट्र, गुजरात, केंद्र शासित दमन-दीयू, दादरा और नगर हवेली में लोगों की सुरक्षा के लिए तगड़े इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र के रायगढ़ और पालघर में पड़ने वाले न्यूक्लियर और केमिकल संयंत्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सभी जरूरी तैयारियां की गई हैं। बता दें कि इसे रास्ते से यह तूफान आगे बढ़ेगा।

कोरोना महामारी से लड़ रहा देश 15 दिन में दूसरी बार भयावह तूफान का सामना कर रहा है। इसकी गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया है। उन्होंने ट्वीट कर लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है। दूसरी ओर, महाराष्ट्र और गुजरात में एनडीआरएफ की 33 टीमें तैनात की गई हैं।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार को कहा, अरब सागर से उठे निसर्ग की रफ्तार आखिरी 12 घंटों में 110 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। बुधवार को यह मुंबई से करीब 110 किलोमीटर दूर तट से टकराएगा। इस दौरान मुंबई में मूसलधार बारिश के साथ समुद्र में दो मीटर ऊंची लहरें उठने की चेतावनी दी गई है। इससे निचले इलाके में बाढ़ की आशंका है। इसे देखते हुए एनडीआरएफ के साथ ही नौसेना, तटरक्षक बल समेत तमाम एजेंसियों को मुस्तैद किया गया है।

मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में रेड अलर्ट जारी किया गया है। गौरतलब है कि बंगाल की खाड़ी से उठे अम्फान ने पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश में तबाही मचाई थी। हालंकि, निसर्ग को अम्फान से कम खतरनाक बताया जा रहा है।

129 साल बाद मुंबई तट पर चक्रवात

129 साल बाद मुंबई के समुद्री तट पर चक्रवात आ रहा है। मौसम विभाग के साइक्लोन ई-एटलस के अनुसार 1891 में समुद्री तूफान आया था। उसके बाद पहली बार अरब सागर में महाराष्ट्र के तटीय इलाके के आसपास समुद्री तूफान की स्थिति बनी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us