विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू और कश्मीर

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

महबूबा मुफ्ती को जेल से उनके आवास स्थानांतरित किया गया, हिरासत जारी

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी की मुखिया महबूबा मुफ्ती को उनके घर शिफ्ट करने का आदेश जारी किया गया है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद उनको नजरबंद कर दिया गया था। इसके बाद उन्हें जनसुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत हिरासत में ले लिया गया था। अब तक वह ट्रांसपोर्ट यार्ड के सरकारी बंगले में थीं। जहां से आज वो अपने घर फेयर व्यू पहुंचेंगी। इस दौरान उनका घर फेयर व्यू उप जेल में तब्दील रहेगा।

इससे पहले जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को रिहा कर दिया गया था। उन पर लगा जनसुरक्षा कानून (पीएसए) हटाकर रिहाई का आदेश जारी किया गया था। वहीं 13 मार्च को पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को रिहा कर दिया गया था।

वहीं एक अप्रैल को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने महबूबा मुफ्ती की रिहाई की मांग की थी। हालांकि उन्होंने नए अधिवास अधिनियम को लेकर सरकार पर तंज कसते हुए यह बता कही थी। उन्होंने कहा कि यदि भारत सरकार के पास कोरोना वायरस जैसी महामारी के बीच अधिवास कानून जारी करने का समय है तो उन्हें महबूबा मुफ्ती को रिहा करने का समय क्यों नहीं मिल सकता है।

बता दें कि महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने पूर्व में सरकार को पत्र लिखकर पीडीपी मुखिया को रिहा किए जाने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में कोरोना वायरस फैला हुआ है। साथ ही इससे निजात पाने के लिए कोई टीका या दवाई भी अभी तक नहीं बनी है। इन सभी पहलुओं को देखते हुए मेरी मां व जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा सहित अन्य लोगों को रिहा किया जाए।

इल्तिजा ने उपराज्यपाल से कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए एकांतवास ही सबसे बेहतर विकल्प है। भीड़भाड़ वाली जेल और स्वास्थ्य सेवा की कमी के कारण देश व प्रदेश की जेलों में अनुच्छेद-370 हटाए जाने के बाद से बंद कैदियों को यह वायरस अपनी चपेट में ले सकता है। इतना ही नहीं इल्तिजा ने कहा कि अतिशयोक्ति नहीं होगी कि पूरे भारत में जेलें इस महामारी का नया केंद्र बन सकती हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों ने हंदवाड़ा में शुरू किया तलाशी अभियान, आतंकियों के छिपे होने की आशंका

सुरक्षाबलों ने आज यानी कि मंगलवार सुबह उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा में तलाशी अभियान शुरू किया है। इस अभियान को सेना की 30 आरआर, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम अंजाम दे रही है। इलाके में आतंकियों के छिपे होने की आशंका के मद्देनजर यह अभियान चलाया जा रहा है। है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों तलाश में इस अभियान को शुरू किया गया है।

इससे पहले रविवार और सोमवार को कुपवाड़ा जिले में खराब मौसम के बावजूद आतंकियों की तलाश में बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन जारी रखा गया। इसमें सेना की इलीट फोर्स 4 पैरा भी शामिल हुई। इस दौरान बारिश, घने कोहरे के चलते सेना का हेलिकॉप्टर वहां उतर नहीं पाया था, जिससे जवानों को सर्च ऑपरेशन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

आतंकी कुपवाड़ा जिले के केरन में 12 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित दावर नाले में छिपे हुए थे। इधर, तलाश में जुटी सेना की एक टीम आतंकियों के पैरों के निशान ट्रेस करते हुए ऊपर की पहाड़ी पर जा पहुंची। जैसे ही टीम पहाड़ी पर पहुंची वहां खराब मौसम के चलते बर्फ खिसकने से टीम सीधे नाले में जा पहुंची।

जहां उनका सामना आतंकियों से हुआ। इस दौरान हुई मुठभेड़ में ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। शुरूआत में जवानों ने तीन आतंकियों को मार गिराया लेकिन इस दौरान पांच जवान भी गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें से तीन ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

इस बीच दोबारा शुरू हुई मुठभेड़ में भी दो आतंकियों को मार गिराया गया। इसके बाद बाकी के आतंकियों की तलाश जारी रही। प्राथमिक उपचार के दौरान घायल दो जवानों ने भी दम तोड़ दिया। सूत्रों के मुताबिक सात आतंकियों के वापस पीओके भागने की खबर है।
... और पढ़ें

पाकिस्तान की नापाक हरकत, मनकोट सेक्टर में किया संघर्षविराम का उल्लंघन, सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब

पाकिस्तान की नापाक हरकतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। आज यानी कि सोमवार को शाम करीब पांच बजे पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के मनकोट सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए गोलाबारी की। वहीं पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का भारतीय सेना माकूल जवाब दे रही है।

इससे पहले रविवार सुबह भी पाकिस्तानी सेना ने मनकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर घंटों गोलाबारी की। पाकिस्तानी सेना ने मनकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर सेना की चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी की। इससे पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गई। वहीं भारतीय सेना ने इस गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी सेना की तरफ से कई महीने से नियंत्रण रेखा पर लगातार गोलाबारी की जा रही है, जिसका भारतीय सेना माकूल जवाब दे रही है। इससे पहले शुक्रवार को पुंछ के बालाकोट और राजोरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया। इस दौरान सीमा पार से भारी गोलाबारी की गई। जिसमें पांच जवान घायल हो गए। सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को भारी नुकसान हुआ। उसकी कई चौकियां तबाह हुईं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: बारामुला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों ने सुबह से जारी आतंकियों से मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया है। यहां दो से तीन आतंकी छिपे थे। अभी ऑपरेशन जारी है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर रखा है।

खुफिया एजेंसियों को बारामुला जिले के सोपोर के गुलबद इलाके में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया। ऑपरेशन को 22 राष्ट्रीय राइफल्स, सोपोर पुलिस और 179 केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल अंजाम दे रहे हैं। 

इससे पहले मंगलवार को दक्षिणी कश्मीर में आतंकियों ने सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया था। इसमें एक जवान शहीद हो गया था। घटना के बाद पूरे इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

हालांकि, आतंकियों का कोई सुराग नहीं लगा। बिजबिहाड़ा में आतंकियों ने सीआरपीएफ पार्टी को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेंकने के साथ ही फायरिंग भी की। इस दौरान हेड कांस्टेबल शिवलाल नीतम गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तत्काल साथियों ने पास के अस्पताल में पहुंचाया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया।

हमला करने के बाद आतंकी मौके से भाग निकले। घटना के बाद सेना तथा सीआरपीएफ ने पूरे इलाके को घेर लिया। साथ ही तलाशी अभियान शुरू कर दिया ताकि आतंकियों का पता लगाया जा सके। लेकिन आतंकियों का कोई सुराग नहीं लगा। 
... और पढ़ें
सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

रेल में बने आइसोलेशन वार्ड में कुल नौ केबिन, एक मेडिकल स्टाफ और आठ मरीजों के लिए

रेलवे स्टेशन पर छह रैक का कोरोना आइसोलेशन वार्ड तैयार हो गया है। छह कोच के रैक में कुल 48 संक्रमित मरीजों के लिए आइसोलेशन की व्यवस्था है। इसमें कुल नौ केबिन हैं जिसमें से आठ मरीजों के लिए है। 

फिलहाल रेलवे की तरफ से जम्मू में आइसोलेशन कोच बनाए गए है। भविष्य में कठुआ, उधमपुर और कटड़ा में भी ऐसे वार्ड बनाए जा सकते हैं। 

जम्मू रेलवे स्टेशन निदेशक चेतन तनेजा ने कहा कि हमने छह कोच तैयार किए हैं। इसमें मरीज और मेडिकल स्टाफ के रहने की व्यवस्था की गई है। आइसोलेशन कोच को पार्सल ऑफिस के साथ रखा गया है, ताकि मरीज को कोच तक पहुंचाने में आसानी हो। 

शहर के रेलवे स्टेशन पर आइसोलेशन कोच को मंगलवार को पूरी तरह तैयार कर लिया था। अभी तक कोई भी मरीज नहीं रखा गया है। आइसोलेशन कोच को पहले अच्छी तरह सैनिटाइज किया गया है। मरीजों की सुविधा के लिए शौचालय में भी बदलाव किया गया है।
 
... और पढ़ें

कोरोनाः जम्मू-कश्मीर में अगले सप्ताह शुरू हो सकता है रैपिड टेस्ट, आधे घंटे में पता चल जाएगा संक्रमण का

जम्मू-कश्मीर में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अप्रैल के मध्य तक रैपिड टेस्ट शुरू किए जा सकते हैं। टेस्ट से हॉटस्पाट के तौर पर चिह्नित स्थानों पर कोरोना से संक्रमितों की स्क्रीनिंग होगी। टेस्ट की खासियत होगी कि इसमें आधे घंटे में ही साफ हो जाएगा कि सैंपल देने वाला व्यक्ति कोरोना संक्रमित है या नहीं। 

हालांकि इसकी पूरी पुष्टि के लिए संक्रमित मामलों का आरटीपीसीआर टेस्ट भी होगा। जीएमसी की माइक्रोबायोलॉजी लैब में कोरोना के मौजूदा मरीजों का आरटीपीसीआर टेस्ट किया जा रहा है। अमूमन इस टेस्ट की रिपोर्ट चार घंटे में आ रही है, जिसमें पॉजिटिव मामलों की पुष्टि होती है। इसमें एक प्लेट में एक समय 90 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लगाए जा सकते हैं। 

डॉक्टरों ने बताया कि देशव्यापी स्तर पर दूसरे चरण में रैपिड टेस्ट के लिए केंद्र सरकार की ओर से 15 लाख किट मंगवाई जा रही हैं, जो अप्रैल के मध्य तक दिल्ली पहुंच जाएंगी। इनमें से काफी मात्रा में किट जम्मू-कश्मीर को मिलेंगी। रैपिड टेस्ट प्रेगनेंसी टेस्ट की तरह होता है, जिसमें स्ट्रिप में ब्लड का सैंपल डाला जाता है और उसके रंग बदलने पर पीड़ित के कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो जाती है।
... और पढ़ें

Coronavirus in Jammu Kashmir: कश्मीर में कोरोना से तीसरी मौत, 15 नए मामले, कुल मरीजों की संख्या हुई 125

जम्मू कश्मीर में तेजी से कोरोना संक्रमण पांव पसार रहा है। मंगलवार को कश्मीर में कोरोना से तीसरी मौत हुई। प्रदेश में 15 और नए मामले सामने आए। इनमें छह जम्मू संभाग और नौ कश्मीर संभाग से कोरोना वायरस के संक्रमित मामले शामिल हैं। इसके साथ जम्मू कश्मीर में पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा 125 पहुंच गया है। 118 मामले सक्रिय हैं, जिसमें 24 जम्मू संभाग और 94 कश्मीर संभाग से हैं। अधिकतर नए मामले जमाती या उनके रिश्तेदारों के संपर्क में रहने वालों के हैं। 

कश्मीर के नोडल अफसर शहनवाज बुखारी ने बताया कि मरने वाला उत्तरी कश्मीर के सुंबल का था। मरने वाले की न तो कोई यात्रा इतिहास था ओर न ही किसी पॉजिटिव के संपर्क में था। वह सोमवार को अस्पताल गया। उसे हृदय संबंधी दिक्कतों के साथ ही डायबिटीज की भी शिकायत थी। उसमें न्यूमोनिया जैसे लक्षण पाए गए थे। बाद में उसकी अस्पताल में मौत हो गई। मरने के बाद उसके सैंपल जांच के लिए भेजे गए जो पॉजिटिव आए। इसके साथ ही कश्मीर में तीन बच्चे भी मंगलवार को संक्रमित मिले। इनमें दो सगी बहनें व एक चचेरी बहन है जो लालनजर श्रीनगर की हैं। 17 मार्च को कोलकाता से लौटे एक बुजुर्ग की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इन सभी के परिवार के सदस्यों को क्वारंटीन कर दिया गया है। 

कश्मीर में विभिन्न हिस्सों में नए पॉजिटिव मामले आने के बाद सख्ती बढ़ाई गई है। जिला मजिस्ट्रेट श्रीनगर डॉ. शाहिद इकबाल चौधरी ने ईदगाह, लाल बाजार को रेड जोन घोषित कर दिया है। इन क्षेत्रों से नए पॉजिटिव मामले आए हैं। श्रीनगर के छत्ताबल क्षेत्र को भी सील किया गया है। श्रीनगर में शब-ए-बारात के दौरान धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। धारा 144  के तहत प्रभावित क्षेत्रों में सख्ती बढ़ाई गई है। यह आदेश आठ और नौ अप्रैल की रात्रि में भी लागू रहेगा।

इस आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आईपीसी की 188 और 51 के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बीच लखनपुर से लेकर लद्दाख तक लॉकडाउन रहा। आवश्यक वस्तुओं के अलावा अन्य सभी प्रतिष्ठान बंद रखे गए। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से लोगों में दशत बढ़ी है।

रेड और बफर जोन 
बांदीपोरा जिले के दो और गांवों रेड जोन और उनके आस-पास के गांवों को बफर जोन घोषित किया गया है ताकि कोरोना संक्रमण न फैले। दो लोगों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद जम्म-कश्मीर सरकार ने यह फैसला किया है। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः सोपोर में दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की आशंका, सेना से शुरू किया तलाशी अभियान

कोरोना वायरस

जम्मू-कश्मीरः अनंतनाग में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला, जवान शहीद

दक्षिणी कश्मीर में आतंकियों ने मंगलवार को सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया। इसमें एक जवान शहीद हो गया। घटना के बाद पूरे इलाके को घेरकर सर्च आपरेशन चलाया गया। हालांकि, आतंकियों का कोई सुराग हाथ नहीं लगा। 

बिजबिहाड़ा में आतंकियों ने सीआरपीएफ पार्टी को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेंकने के साथ ही फायरिंग भी की। इस दौरान हेड कांस्टेबल शिवलाल नीतम गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तत्काल साथियों ने पास के अस्पताल में पहुंचाया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया।

हमला करने के बाद आतंकी मौके से भाग निकले। घटना के बाद सेना तथा सीआरपीएफ ने पूरे इलाके को घेर लिया। साथ ही तलाशी अभियान शुरू कर दिया ताकि आतंकियों का पता लगाया जा सके। हालांकि, देर शाम तक आतंकियों का कोई सुराग हाथ नहीं लग सका था। अस्पताल में डाक्टरों ने बताया कि जवान को सीने में गोली लगी थी जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। 

बताते हैं कि दक्षिणी कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सेना की ओर से चलाए गए मुहिम से उनमें बौखलाहट है। उन्हें सुरक्षा बलों पर ज्यादा से ज्यादा हमले करने के सुरक्षा बलों ने निर्देश दिए हैं। हाल ही में सेना ने अनंतनाग और कुलगाम में कई आतंकियों को मार गिराया है।
... और पढ़ें

इंसान हो या श्वान, सबका ध्यान रख रहे हैं जवान, काफी प्रेरणादायक हैं ये तस्वीरें

जम्मूः घरों में जबरन घुसने लगा एक व्यक्ति, गेट को छूकर कोरोना फैलाने की बात कर रहा था

जम्मू शहर के जानीपुर इलाके में उस समय दहशत फैल गई, जब एक व्यक्ति लोगों के घरों में जबरन घुसने लगा। साथ ही घरों के गेट को छूने लगा। सहमे लोगों ने पहले पुलिस को सूचित किया। साथ ही उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने उस व्यक्ति को क्वारंटीन सेंटर भेज दिया है।

पुलिस के अनुसार, सोमवार को कुछ लोगों ने हमें सूचित किया कि एक व्यक्ति जानबूझ कर घरों में घुसने का प्रयास कर रहा है। वह लोगों में कोरोना फैलाने की बात कर रहा है। पुलिस की एक टीम को पूरी सुरक्षा के साथ मौके पर भेजा गया। जहां लोगों ने पहले ही उसे पकड़ रखा था। उसे क्वारंटीन सेंटर ले जाया गया। जहां पुलिस उसकी जांच करवा रही है।

जानकारी के अनुसार जम्मू संभाग के ही आरएस पुरा में इस तरह के मामला होने की अफवाह है। रविवार देर रात 7 और 8 नंबर वार्ड में शोर मच गया। बताया गया कि एक व्यक्ति लोगों के गेट पर थूक रहा है। इसके बाद लोग जमा हो गए और उन्होंने पुलिस को सूचित किया। थाना प्रभारी जे पी शर्मा का कहना है कि उनके पास भी सूचना आई थी और पुलिस टीम को मौके पर भेजा गया। लेकिन कोई भी व्यक्ति वहां पर नहीं मिला।

कठुआ में कोरोना से मौत की अफवाह फैलाने के आरोप में एक हिरासत में
पुलिस ने कोरोना से एक व्यक्ति की मौत होने की अफवाह फैलाने के आरोप में सोमवार को एक युवक को हिरासत में लिया। उससे पूछताछ की जा रही है। इस संबंध में एसएसपी कठुआ डॉ. शैलेंद्र मिश्रा ने बताया कि इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है। उन्होंने लोगों से अपील की कि अफवहों पर ध्यान न दें।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः जमीन धंसने का सिलसिला दूसरे दिन भी जारी रहा, चार मकान दबे

जम्मू संभाग में राजोरी जिले की कोटरंका सब डिवीजन के अपर कंडी पंचायत के खड़यौन गांव में जमीन धंसने का सिलसिला दूसरे दिन सोमवार को भी जारी रहा। गांव में घरों पर पस्सियां गिर रही हैं। करीब चार मकान मलबे के नीचे दबने से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। हालांकि रविवार सुबह जैसे ही पहाड़ दरकने का पता चला तो प्रशासन ने खतरे में आए पास के 25 घरों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया था। सभी को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। प्राकृतिक आपदा से बेघर हए 25 परिवारों को फिर से बसने की चिंता सता रही है। उन्होंने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।
 
करीब पांच घर और ऐसे बताए जा रहे हैं जो कभी भी मलबे के नीचे दब सकते हैं। जिला प्रशासन ने क्षेत्र में करीब 25 परिवारों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर टेंट व अन्य सामान मुहैया करा दिया है। जिला प्रशासन की ओर से उनकी हर संभव मदद की जा रही है।

मुख्यालय को जोड़ने वाली एकमात्र सड़क भी बंद
इसके अलाव गांव को कोटरंका मुख्यालय से जोड़ने वाली एकमात्र सड़क भी पस्सियां गिरने से क्षतिग्रस्त हो गई है। वहां किसी प्रकार के भी वाहन चलने की संभावना नहीं है। सड़क पर यातायात ठप होने के कारण अन्य लोगों को भी कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि गांव में खाद्य पदार्थों की भी भारी कमी है। लोग काफी परेशानी में हैं।

प्रभावितों को पीएम आवास योजना के तहत घर मिलेंगे
राजोरी के उपायुक्त मोहम्मद नजीर शेख ने सोमवार को मौके का मुआयना किया। लोगों को आश्वासन दिया कि जिनके घर क्षतिग्रस्त हुए हैं, उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अलावा तहसीलदार को निर्देश दिया कि नुकसान का आंकलन किया जाए ताकि मुआवजे की प्रक्रिया शुरू की जा सके। इस दौरान प्रभावित परिवारों को राशन भी बांटा गया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन