विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, और जानें कुंडली पर सूर्य का प्रभाव
Kundali

आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, और जानें कुंडली पर सूर्य का प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अनुच्छेद 370 और 35ए की बहाली के लिए आखिरी दम तक लड़ूंगा : फारूक अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सांसद डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि 370 और 35ए की बहाली के लिए मरते दम तक लड़ाई लड़ूंगा। भविष्य में भी किसी भी पूछताछ में पूरा सहयोग दूंगा। डॉ. फारूक ने कहा कि केवल एक बात का दुख है कि मैं पूछताछ के दौरान खाना नहीं खा सका।   

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा करीब सात घंटे तक पूछताछ के बाद कार्यालय के बाहर आए डॉ. फारूक अब्दुल्ला के तीखे तेवर पत्रकारों के सवालों के जवाब में साफ झलके। पत्रकारों से बातचीत में डॉ. फारूक ने कहा कि वह आगे भी किसी भी तरह की पूछताछ का सामना करने के लिए तैयार हैं। मैं बिल्कुल भी इसको लेकर चिंतित नहीं हूं और न ही कोई घबराहट है। एक बात का अफसोस है कि मैं पूछताछ के दौरान भूखा रहा, खाना नहीं खा सका। 

उन्होंने आगे कहा कि हमारे पास एक लंबी सियासी लड़ाई है, जिसे आगे भी लड़ना है। चाहे फारूक अब्दुल्ला जिंदा रहें या न रहें। अनुच्छेद 370 और 35ए की बहाली के लिए आखिरी दम तक लड़ते रहेंगे। हमारा संकल्प न बदला था और ना बदलेगा, चाहे मुझे फांसी ही क्यों न चढ़ा दिया जाए। यह जम्मू-कश्मीर के लोगों की समस्या है, यह केवल डॉ. फारूक अब्दुल्ला की लड़ाई नहीं है। 

फैसला करना अदालत का काम
ईडी ने क्या पूछताछ की, इस सवाल के जवाब में डॉ. फारूक ने कहा कि वह इस पर कुछ नहीं कहेंगे और मैं किसी चीज पर अपना फैसला नहीं सुना सकता। अदालत खुद फैसला करेगी कि इस मामले में आगे क्या करना है।
... और पढ़ें
फारूख अब्दुल्ला फारूख अब्दुल्ला

ट्विटर की बड़ी गलती: जम्मू-कश्मीर को दिखा दिया चीन का हिस्सा, सोशल मीडिया पर भड़के भारतीय

भारत के अभिन्न अंग जम्मू-कश्मीर के मामले में ट्विटर ने बड़ी भूल कर डाली। दरअसल, ट्विटर एक लाइव प्रसारण के दौरान जम्मू-कश्मीर को चीन का हिस्सा दर्शा रहा था। यह गलती सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर ट्विटर के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। इसके बाद ट्विटर ने कहा है कि उसकी टीम इस मसले की जांच के लिए तेजी से काम कर रही है और जियोटैग (लोकेशन) का मसला फौरन ठीक कर लिया गया।

दरअसल, यह मामला उस वक्त गरमाया, जब एक राष्ट्रीय सुरक्षा विशेषज्ञ नितिन गोखले ने इस बारे में यह तथ्य सोशल मीडिया पर लोगों के सामने रखा। रविवार को लेह में मौजूद गोखले ने वहां के चर्चित वॉर मेमोरियल हॉल ऑफ फेम से दोपहर करीब 12 बजे ट्विटर लाइव किया तो वह चौंक गए। गोखले ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा, मैंने अभी हॉल ऑफ फेम से लाइव किया है। हॉल ऑफ फेम को लोकेशन बनाया तो ट्विटर बता रहा है कि जम्मू-कश्मीर पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का हिस्सा है। क्या तुम लोग पगला गए हो? उन्होंने इसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर साझा की।   

इसके बाद तो भारतीयों ने ट्विटर की जमकर खिंचाई की और उससे माफी मांगने और फौरन ठीक करने की बातें करने लगे। हजारों यूजर ने ट्विटर इंडिया को इस मामले को लेकर टैग किया, जिसके बाद कंपनी ने कार्रवाई की। हाल ही में चीनी मोबाइल कंपनी शियोमी ने भी इसी तरह की गलती की थी। शियोगी के वेदर एप में अरुणाचल प्रदेश दिख ही नहीं रहा था। कई यूजरों ने कहा कि शियोगी के स्मार्टफोन में अरुणाचल प्रदेश के इलाकों की जानकारी नहीं आ रही है। स्क्रीनशॉट साझा करते हुए उन्होंने कहा कि अरुणाचल की राजधानी ईटानगर खोजने पर कोई नतीजा नहीं आता है।

ट्विटर ने कहा, हम समझते हैं मसले की संवेदनशीलता
ट्विटर इंडिया की नीति संचार की पल्लवी वालिया ने एक बयान जारी कर कहा, हमें इस तकनीकी खामी की जानकारी रविवार को मिली। हम इसकी संवेदनशीलता को समझते हैं और उनका सम्मान करते हैं। जियोटैग (लोकेशन) की खामी को हमारी टीम ने तुरंत दूर कर दिया है। इसकी जांच भी की जा रही है।
... और पढ़ें

स्थानीय निकाय क्षेत्रों में लोगों पर सरकार नहीं थोपेगी प्रॉपर्टी टैक्स : एलजी मनोज सिन्हा

उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा है कि स्थानीय निकाय क्षेत्रों में लोगों पर प्रापर्टी टैक्स थोपने का सरकार का न तो कोई इरादा है और ना ही तैयारी। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकाय संस्थाएं जनता से परामर्श कर विकास के लिए संपत्ति कर लगाने में सक्षम हैं, लेकिन यह जनता से राय लिए बिना नहीं किया जाना चाहिए। कश्मीर घाटी के बारामुला जिले में सोमवार को मेरा शहर-मेरी शान कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए उप-राज्यपाल ने यह बात कही।

उन्होंने कहा संपत्ति कर मामले में कुछ लोग गलत तरीके से प्रदेश सरकार को बेवजह बीच में ला रहे हैं। एलजी ने एक अन्य मामले का जिक्र करते हुए कहा कि स्थानीय निकायों और पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों के मानदेय को बंद करने की भी कोई योजना नहीं है। इस तरह की अफवाहें निजी स्वार्थ के लिए उड़ाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकायों और पंचायती प्रतिनिधियों को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। एलजी ने कहा कि बैक टू विलेज और मेरा शहर मेरी शान जनता को सुविधा व विकास यात्रा में हिस्सेदारी देने के कार्यक्रम हैं। विशेष फंड जारी कर स्थानीय निकायों और पंचायतों को सशक्त किया जा रहा है।

गंभीरता से जनता को सुनें अफसर
एलजी ने कहा कि ग्रामीण और शहरी इलाकों के लिए विशेष आयोजन असल में सरकारी मशीनरी को जनता के द्वार पहुंचाने का प्रयास है। कर्मचारियों और अफसरों को गंभीरता से जन सुनवाई करनी होगी। जनता की समस्याओं को प्राथमिकता से हल करना होगा। सरकार पर्याप्त राशि उपलब्ध करवा रही है। जनता ही अपने विकास की राह तय करे।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

दक्षिण कश्मीर के शोपियां के मेलहुरा इलाके में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया है। मुठभेड़ अभी जारी है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अब तक मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया है। हालांकि मारे गए आतंकवादी की अभी पहचान नहीं हुई है। दरअसल, खुफिया एजेंसी को मेलहुरा इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। 
जिसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना की 55 आरआर की एक संयुक्त टीम ने मौके पर पहुंचकर इलाके को खाली करा कर तलाशी अभियान शुरू किया है। 



जैसे ही सुरक्षा बलों की संयुक्त टीम संदिग्ध स्थान की ओर बढ़ी, तभी छिपे हुए आतंकवादियों ने ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। जिसके बाद कार्रवाई में अब तक एक आतंवादी मारा गया है।

आपको बता दें कि घाटी में इस साल अब तक कुल 184 आतंकवादी मारे जा चुके हैं।

पुलवामा में सुरक्षाबलों पर फायरिंग, जवान घायल
पुलवामा जिले के गंगू इलाके के पास सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम पर सोमवार सुबह आतंकियों ने फायरिंग कर हमला बोल दिया। हमले में सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। इस दौरान अन्य जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की, लेकिन आतंकी वहां से भाग निकले। आतंकियों को पकड़ने के लिए इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया। इससे पहले रविवार को आवंतीपोरा में भी आतंकियों के हमले में सीआरपीएफ का एक एसआई और एक नागरिक जख्मी हो गया था। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में नमाज पढ़ कर लौट रहे पुलिस इंस्पेक्टर की आतंकियों ने गोलीमार कर की हत्या 

सांकेतिक तस्वीर
आतंकवादियों ने सोमवार की शाम जम्मू-कश्मीर पुलिस के इंस्पेक्टर मोहम्मद अशरफ भट्ट की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी जब वह नमाज पढ़ने के बाद पिता से मिलने जा रहे थे। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है तथा हमलावरों की तलाश तेज कर दी है।

घटना को किस आतंकी गुट ने अंजाम दिया इसका अभी पता नहीं चल पाया है। जिला पुलिस लाइन में देर रात इंस्पेक्टर को श्रद्धांजलि के बाद उनका पार्थिव शरीर परिवार को सौंप दिया गया।

पुलिस के अनुसार, पुलवामा जिले के लेथपोरा में तैनात इंस्पेक्टर मोहम्मद अशरफ भट्ट अनंतनाग के बिजबिहाड़ा के चांदपोरा में परिवार के साथ रहते थे। उनके पिता दूसरे घर में रहते हैं। सोमवार की शाम लगभग साढ़े 6.30 बजे वह नमाज पढ़ने के लिए पास की मस्जिद में गए और वहां से लौटते समय पिता की खैरियत पूछने के लिए जा रहे थे।

घर के बाहर ही अज्ञात आतंकियों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां दाग दीं अशरफ वहीं लहूलुहान होकर गिर पड़े, और हमलावर वहां से भाग निकले। गोलियां चलने की आवाज सुनते ही आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और उन्हें तत्काल स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।  घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और हमलावरों की तलाश तेज कर दी है। अभी तक किसी भी संगठन ने घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है।

हमलावरों को ढूंढ निकालेंगे
जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने कहा, अशरफ की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। जिसने भी घटना को अंजाम दिया है हम उन्हें जल्द ढूंढ निकालेंगे। जम्मू-कश्मीर पुलिस पीड़ित परिवार के साथ है। परिवार की हर संभव मदद की जाएगी। अशरफ के परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां व एक बेटा है। जबकि उनके मां-पिता दूसरे घर में रहते हैं।

इस वर्ष अब तक पुलिस के 20 जवान शहीद
इस वर्ष जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमलों मे अब तक पुलिस के 20, सीआरपीएफ़ के 21 और सेना के सेना 15 जवान शहीद हुए हैं। सेना के अधिकतर जवान एलओसी पर शहीद हुए हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः मेरा शहर मेरी शान कार्यक्रम आज से, परेड ग्राउंड में लगेगा मेला 

बैक टू विलेज की तर्ज पर सोमवार को प्रदेश के स्थानीय निकाय क्षेत्रों में दो दिवसीय मेरा शहर मेरी शान कार्यक्रम का आगाज होगा। स्थानीय समस्याओं को सुनने, फौरी समाधान से लेकर सरकारी योजनाओं और सेवाओं के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। सूत्रों के अनुसार, उपराज्यपाल मनोज सिन्हा श्रीनगर के डाउनटाउन इलाके में कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। जम्मू में नगर निगम क्षेत्र के लोगों के लिए परेड ग्राउंड में मेला लगेगा। जम्मू जिले में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के वित्त आयुक्त अटल डुल्लू दौरा करेंगे। 

प्रदेश स्तर आईएएस व केएएस कैडर के 84 अधिकारी इन कार्यक्रमों में तैनात किए गए हैं। खास बात है कि कार्यक्रम के दौरान डोमिसाइल सर्टिफिकेट और हेल्थ योजना के त्वरित पंजीकरण की व्यवस्था भी रहेगी। गृह विभाग के प्रधान सचिव शालीन काबरा श्रीनगर नगर निगम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। 

उधमपुर में पवन कोतवाल और कठुआ में नवीन चौधरी रहेंगे
कठुआ जिले में पशु एवं भेड़ पालन विभाग के प्रधान सचिव नवीन कुमार चौधरी, उधमपुर जिले में राजस्व विभाग के प्रधान सचिव डॉ. पवन कोतवाल, डोडा में श्रम विभाग के सचिव सौरभ भगत रहेंगे।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सीआरपीएफ दल पर आतंकियों ने किया हमला, एक जवान घायल

बदल रही फिजा: सरहद की रक्षा के लिए उमड़े जम्मू-कश्मीर के हजारों युवा

जम्मू-कश्मीर की फिजा बदल रही है। खासकर कश्मीर घाटी की बयार में बड़ी तब्दीली दिखाई दे रही है। अमूमन कश्मीरी युवाओं के नाम पत्थरबाजी के साथ नाम जोड़कर चर्चाएं होती हैं। रविवार को कश्मीर के युवाओं का हुजूम सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की भर्ती में उमड़ा। 1356 पदों के लिए आयोजित लिखित परीक्षा में बडगाम जिले के हुमहामा में बने परीक्षा केंद्र में 5151 पुरुष और 438 महिलाएं शामिल हुईं। यहां पहली बार भर्ती के लिए इतनी बड़ी संख्या में युवा उमड़े।

भर्ती के लिए युवाओं का ऐसा ही जोश जम्मू से लेकर कश्मीर और लद्दाख तक नजर आया। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सभी 22 जिलों में यह भर्ती जनरल ड्यूटी (जीडी) कांस्टेबल श्रेणी के लिए हुई। कोरोना महामारी के बीच आयोजित भर्ती परीक्षा में 30,593 युवा शामिल हुए। पलौड़ा कैंप, बीएसएफ जम्मू, पैंठी सांबा, उधमपुर और एसएचक्यू बीएसएफ राजोरी में फ्रंटियर हेडक्वॉर्टर बीएसएफ जम्मू, एसटीसी बीएसएफ श्रीनगर, सब डिवीजन नुब्रा घाटी में अभ्यर्थी युवाओं का सैलाब उमड़ा।

युवाओं में काफी जोश
कश्मीर घाटी में लगभग 11000 उम्मीदवारों ने शुरू में शारीरिक परीक्षण के लिए आवेदन किया था। इसमें से 5151 पुरुष और 438 महिलाओं का लिखित परीक्षा के लिए चयन किया गया। भर्ती प्रक्रिया नवंबर के अंत तक पूरी होगी। हमें युवाओं के अंदर देश के प्रति प्यार और काफी जोश देखने को मिला। परीक्षा में शामिल युवाओं ने बताया कि वह देश की सेवा करना चाहते हैं और इसके लिए अपनी जान भी दे सकते हैं।
-राजेश मिश्रा, महानिरीक्षक, बीएसएफ  (कश्मीर रेंज)
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X