विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

इग्नू दीक्षांत समारोहः दीक्षांत समारोह में छाईं हरदीप, 113 को मिली डिग्री

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी रीजनल सेंटर जम्मू ने अपना 33वां दीक्षांत समारोह का आयोजन किया। इसमें जम्मू यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. मनोज धर मुख्य...

18 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू

बुधवार, 19 फरवरी 2020

जम्मू-कश्मीरः चीन से लौटने वाले छात्र 14 दिन रहेंगे अकेले, घर पर ही होगी निगरानी

कोरोना वायरस से जूझ रहे चीन के वुहान इलाके से लौट रहे जम्मू-कश्मीर के विद्यार्थियों की मुश्किलें कम नहीं होंगी। उन्हें एयरपोर्ट से सीधे उनके घर ले जाकर आइसोलेट किया जाएगा। विद्यार्थियों को घर पर भी परिवार के अन्य सदस्यों से अलग रहना पड़ेगा। इसके बाद 14 दिन तक स्वास्थ्य निदेशालय की रैपिड रिस्पॉंस की सर्विलांस टीमें दिन में दो बार उनके स्वास्थ्य की जांच करेंगी।

दिल्ली एयरपोर्ट से आज यानी कि मंगलवार को वुहान से जम्मू-कश्मीर में छात्रों का पहुंचना शुरू हो जाएगा। वुहान से लौटने वालों में कश्मीर संभाग के श्रीनगर जिले से 9, अनंतनाग से 2, कुलगाम से 2, बारामुला से 8, कुपवाड़ा से 4, बड़गाम से 3 और पुलवामा से 2 छात्र मिलाकर 30 छात्र शामिल हैं।

वुहान से लौट रहे विद्यार्थियों को आइसोलेशन के लिए स्वास्थ्य निदेशालय ने सभी प्रबंध हैं। एयरपोर्ट से विद्यार्थियों को लाने के लिए एंबुलेंस के साथ प्रशिक्षित स्टाफ उपकरणों समेत भेजा जाएगा।

बताया जा रहा है कि वुहान से लौटने वाले सभी विद्यार्थी कोरोना वायरस से नेगेटिव हैं लेकिन उनकी सेहत को ध्यान में रखते हुए कोई जोखिम नहीं लिया जा रहा है। किसी भी विद्यार्थी की यहां पहुंचने के बाद सेहत बिगड़ने पर उनके खून व अन्य सैंपल लिए जाएंगे। स्वास्थ्य निदेशक, कश्मीर डॉ. समीर मट्टू का कहना है कि वुहान से लौटने वाले विद्यार्थियों की उचित चिकित्सा के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं। उन्हें दो हफ्ते घर पर ही रखा जाएगा।
... और पढ़ें

जम्मूः पूर्व अधिशाषी अभियंता पर 479 लाख रुपये गबन करने का आरोप, भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

पीएचई की बिजबिहाड़ा अनंतनाग डिविजन के पूर्व अधिशाषी अभियंता बशीर अहमद शाह पर भ्रष्टाचार का केस दर्ज किया गया है। शाह के खिलाफ 479 लाख के गबन की शिकायत मिली थी। शिकायत में आरोप लगाया गया कि पूर्व अधिशाषी अभियंता ने कमीशन लेकर अपने चहेते ठेकेदारों को कई कार्य दिए। किश्तवाड़ सिमथन रोड प्रोजेक्ट को कैंसिल करने के बाद भी इसे चार बार बदला गया। जिसकी कीमतों में बढ़ोतरी की गई।

खेरीबल में पानी की सप्लाई योजना और कोकरनाग प्रोजेक्ट को कमीशन लेकर अपनी पहचान के ठेकेदार को काम दिया गया। हसनपोरा में पंप ऑपरेटर क्वॉर्टरों की फेंसिंग के लिए प्रोजेक्ट मंजूर कराया गया।

दो साल पहले कहा गया कि इसकी बहुत ही जरूरत है, जबकि दो साल के बाद भी इसका काम शुरू नहीं हुआ। बाढ़ नियंत्रण के कई प्रोजेक्ट पर पैसा लिया गया, लेकिन जमीनी सतह पर कोई प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ। ऐसा कोई प्रोजेक्ट रिकॉर्ड में नहीं है।

शाह ने 479 लाख रुपये बिना किसी कार्य को पूरा किए ही निकलवा लिए। केस दर्ज करने के बाद एंटी करप्शन ब्यूरो कश्मीर ने शाह के कई ठिकानों पर छापेमारी की और कई तरह के दस्तावेज बरामद कर लिए। मामले में आगे की जांच की जा रही है। कुछ और लोगों के भी इस मामले में शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः क्षेत्रीय दलों की बहानेबाजी इनकी आदत, भाजपा पूरी ताकत से लड़ेगी उपचुनावः कौल

भाजपा की कश्मीर इकाई ने आगामी पंचायत उपचुनाव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। पार्टी के महासचिव अशोक कौल ने श्रीनगर में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा आगामी चुनाव में शिद्दत से लड़ेगी। कौल ने क्षेत्रीय दलों की बहानेबाजी को उनकी आदत बताया।

अशोक कौल ने कहा कि इससे पहले हुए पंचायत और लोकल बॉडीज के चुनावों में भी इन क्षेत्रीय दलों ने चुनाव बहिष्कार किया था। लेकिन जैसे ही लोकसभा के चुनाव आए तो वह मैदान में उतर गए, उस समय उन्होंने कोई बहिष्कार नहीं किया। जहां-जहां इनको फायदा दिखता है वहां यह चुनाव लड़ते हैं जहां नहीं वहां बहिष्कार करते हैं। इस दौरान बड़ी संख्या में पार्टी नेता मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः मारे गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, डीजीपी ने दी जानकारी

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों द्वारा तीन आतंकियों के मारे जाने के बाद बुधवार को डीजीपी दिलबाग सिंह ने सर्च ऑपरेशनों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस साल अबतक कुल 10 सफल सर्च ऑपरेशनों को अंजाम दिया गया है। इनमें से दो ऑपरेशन जम्मू और आठ ऑपरेशन कश्मीर में किए गए।

इस दौरान कश्मीर में 19 और जम्मू में चार आतंकियों का खात्मा किया गया। मुठभेड़ को लेकर उन्होंने बताया कि त्राल इलाके में मारे गए तीनों आतंकवादियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किए गए। मारे गए तीन आतंकियों में से एक जयवीर हिजबुल मुजाहिदीन का एक कमांडर था और 8 बड़ी आतंकी गतिविधियों में शामिल था। 

इस वजह से पूरे इलाके में दहशत फैली रहती थी। बता दें कि मंगलवार देर रात पुलवामा के त्राल इलाके में देर रात शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 'अंसार गजवा उल हिंद' के तीन आतंकियों को मार गिराया था। मारे गए आतंकियों की पहचान जंजीर रफीक वानी, राजा उमर मकबूल भट और उजैर अमीन भट के तौर पर की गई है। 

मुठभेड़ देर रात शुरू हुई थी। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच काफी देर तक फायरिंग चलती रही। आतंकियों के पास भारी मात्रा में हथियार थे जिससे कि वो लगातार फायरिंग कर रहे थे।
... और पढ़ें
डीजीपी दिलबाग सिंह डीजीपी दिलबाग सिंह

जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में 'अंसार गजवा उल हिंद' के तीन आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलो ंको बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया है। फिलहाल इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। मारे गए तीनों आतंकी आतंकवादी संगठन 'अंसार गजवा उल हिंद' के हैं।


 
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में यह मुठभेड़ हुई है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुठभेड़ में मारे गए तीनों आतंकवादियों की पहचान हो गई है। जिनमें जंजीर रफीक वानी, राजा उमर मकबूल भट और उजैर अमीन भट शामिल हैं। तीनों आतंकी आतंकवादी संगठन 'अंसार गज़वा उल हिंद' के हैं।

आपको बता दें कि यह मुठभेड़ देर रात शुरू हुई थी। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच काफी देर तक फायरिंग चलती रही। आतंकियों के पास भारी मात्रा में हथियार थे जिससे कि वो लगातार फायरिंग कर रहे थे।
 


 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः पुलिस ने गिलानी के घर से दो को किया गिरफ्तार, एक नौकर

हरियाणा के शख्स ने जम्मू का बाशिंदा बनकर 5.5 लाख का मुआवजा लिया

फर्जी स्टेट सब्जेक्ट के सहारे जम्मू-कश्मीर का बाशिंदा बनकर सरकारी लाभ लेने के मामले भी सामने आने लगे हैं। क्राइम ब्रांच ने मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपी ने न केवल फर्जी स्टेट सब्जेक्ट बनवाया, बल्कि इसी आधार पर सरकार ने 5.5 लाख रुपये का मुआवजा भी ले लिया। क्राइम ब्रांच आगे की जांच कर रही है।

 ‘अमर उजाला’ ने ही सबसे पहले खुलासा किया था कि कई बाहरी राज्यों के लोगों ने मिलीभगत कर जम्मू-कश्मीर का स्थायी नागरिकता प्रमाणपत्र हासिल कर लिया है। ऐसे लोग यहां जमीन खरीदने के साथ-साथ अन्य लाभ भी ले रहे हैं। क्राइम ब्रांच ने हरियाणा के यमुनानगर जिले की जगाधरी तहसील के गांव मगरपुर के रहने वाले मोहिंदर पाल सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया है।

मोहिंदर ने राजस्व विभाग के कर्मियों की मदद से फर्जी स्टेट सब्जेक्ट बनवाया। इसमें सरकारी खाते से लाखों रुपये लेने और सरकार से धोखाधड़ी की गई है। क्राइम ब्रांच ने शुरूआती जांच के बाद आरोप सही पाए हैं। अब मामले में आगे की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

पर्यटकों के लिए तैयार किया जा रहा एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन, देखें तस्वीरें

सांकेतिक तस्वीर

18 फरवरी 2019: छुट्टी रद्द कराकर इस ब्रिगेडियर ने संभाला मोर्चा, मेजर सहित शहीद हुए थे चार जवान

नगरोटा हमलाः पाकिस्तान के खिलाफ एक और मजबूत केस बनाने की तैयारी, छह आरोपियों से एनआईए ने की पूछताछ

जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की तैयारी, बदलेगा कई विधानसभा क्षेत्रों का भूगोल

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रस्तावित परिसीमन आयोग में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने अपने प्रतिनिधि के रूप में सुशील चंद्रा को नामित किया है। आयोग के अध्यक्ष सेवानिवृत्त न्यायाधीश होंगे। चंद्रा फिलहाल चुनाव आयोग में चुनाव आयुक्त हैं।

माना जा रहा है कि केंद्र सरकार की ओर से परिसीमन आयोग की घोषणा जल्द की जा सकती है। कहा जा रहा है कि परिसीमन होने के बाद कई विधानसभा क्षेत्रों का भूगोल बदल जाएगा। कुछ आरक्षित सीटें अनारक्षित श्रेणी में चली जाएंगी, जबकि कई आरक्षित श्रेणी में आ जाएंगी। अनुसूचित जनजाति के लिए भी सीटें आरक्षित होंगी। पहली बार एसटी को सीटें आरक्षित होने का लाभ मिलेगा।

केंद्र सरकार की ओर से सदस्य का नाम मांगे जाने के बाद आयोग ने सुशील चंद्रा को नामित किया। प्रस्तावित परिसीमन आयोग अधिसूचना के बाद अपना काम शुरू कर सकेगा। इसका प्रमुख काम नए बने केंद्र शासित प्रदेश की लोकसभा और विधानसभा क्षेत्रों की सीमाओं का रेखांकन करना है। इसके अलावा जनसंख्या के आधार पर अनुसूचित जाति और जनजातियों के हिसाब से सीटों का बंटवारा भी इसमें शामिल है। 
... और पढ़ें

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकियों से भरे पड़े हैं लांच पैड : जनरल ढिल्लों

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में लांच पैड आतंकियों से भरे पड़े हैं। परंतु पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं को भारतीय सेना द्वारा सख्ती से जवाब दिए जाने के कारण घुसपैठ की कोशिशें सफल नहीं हो पा रही हैं। 

कश्मीर की 15वीं कोर की कमान संभाल रहे लेफ्टिनेंट जनरल कंवल जीत सिंह ढिल्लों का विश्वास है कि संघर्ष विराम उल्लंघन की आड़ में पाकिस्तान घुसपैठ कराने के अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगा। उन्होंने कहा कि कश्मीर में जो शांति है उसे सुरक्षा बलों ने समाज के विभिन्न वर्गों के समर्थ प्रतिनिधियों के साथ समन्वय करके स्थापित किया है। 

लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लों, शीघ्र ही दिल्ली स्थित सेना मुख्यालय में नई जिम्मेदारी संभालेंगे। उनहेंने फरवरी 2019 में कश्मीर में 15वीं  कोर की जिम्मेदारी संभाली थी। उनके जिम्मेदारी संभालने के कुछ दिन बाद ही पुलवामा में आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

 एक प्रश्न के लिखित उत्तर में ले. जनरल ढिल्लों ने कहा कि पिछले तीस वर्षों से पाकिस्तान लगातार छद्म युद्ध लड़ कहा है।आतंकियों की मदद कर वह यहां लगातार अशांति फैलाने की कोशिशों में लगा हुआ है।  पीओके में सभी आतंकवादी शिविर और लॉन्च पैड भरे हुए हैं। ये आतंकवादी पाकिस्तान की सेना की मदद से घुसपैठ करने के लिए बेताब हैं, पाकिस्तानी सेना हमारी चौकियों पर लगातार गोलाबारी में लिप्त है। उन्होंने कहा कि स्थानीय व्यापार, पर्यटन और शिक्षा क्षेत्रों में सफलता, सुरक्षा की स्थिति में सुधार और विभिन्न सरकारी पहलुओं से अत्यधिक लाभ होने की संभावना है।

हम संख्या नहीं अवधारणा पर काम करते हैं

घाटी में सक्रिय आतंकवादियों की संख्या पर ले.जनरल ने कहा कि हम अवधारणाओं पर काम करते हैं न कि संख्याओं पर, और यह अवधारणा यह है कि पाकिस्तान लगातार आतंकवादियों  घटनाओं को अंजाम देने में दहशतगर्दों की मददकर अलगाववादी घटनाओं को बढ़ावा देने में संलग्न रहता है।
 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us