विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

इग्नू दीक्षांत समारोहः दीक्षांत समारोह में छाईं हरदीप, 113 को मिली डिग्री

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी रीजनल सेंटर जम्मू ने अपना 33वां दीक्षांत समारोह का आयोजन किया। इसमें जम्मू यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. मनोज धर मुख्य...

18 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू

शनिवार, 22 फरवरी 2020

सड़क दुर्घटना में दो घायल

राजोरी। शहर के पास ऐती गांव इलाके में एक मिनीबस से कुचल कर दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। वह दरहाल थानमांग इलाके के रहने वाले हैं। दोनों घायलों को राजोरी जीएमसी एसोसिएटेड अस्पताल में भर्ती कराया गया। चिकित्सकों के अनुसार उनके एक पैर में गंभीर चोटें आई हैं।
पुलिस ने कहा कि शुक्रवार शाम लगभग छह बजे एक मोटरसाइकिल से दो युवक राजोरी से दरहाल की जा रहे थे। ऐती के पास थन्नामंडी से राजोरी आ रही एक मिनी बस ने मोटरसाइकिल को कुचल दिया, जिससे दोनों युवक घायल हो गए। पुलिस ने कहा कि दोनों वाहनों को जब्त कर लिया गया है और राजोरी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। घायलों की पहचान मोहम्मद सुहैल (24) तथा मोहम्मद सादिक निवासी थानमंग दरहल के रूप में हुई है। संवाद
... और पढ़ें

शोभायात्रा से किया शिव की महिमा का बखान

अखनूर। शिवरात्रि पर्व पर प्रजापति ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की तरफ से शोभायात्रा निकाली गई। इसमें सर्वधर्म की प्रस्तुति की गई। विश्वविद्यालय से आशा कुमारी की अगुवाई में शोभायात्रा निकली जो बस अड्डा, मुख्य चौक, निर्दोष चौक से हो कर निकली। शोभायात्रा के आगे श्रद्धालु भोलेनाथ का गुणगान कर रहे थे। इसके पीछे महिला श्रद्धालु भजन कीर्तन कर रही थीं। शोभायात्रा कामेश्वर मंदिर के पास आकर खत्म हो गई। जहां चित्र प्रदर्शनी लगा कर श्रद्धालुओं को भागवान शिव की महिमा के बारे में और स्वर्ग नर्क के बारे में जानकारी दी। संवाद
-----------------
विजयपुर। ब्रहमकुमारी आश्रम विजयपुर की संचालक नीरू बहन की देख रेख मे शुक्त्रस्वार को महा शिवरात्रि पर्व पर कार्यक्त्रस्म का आयोजन किया गया।इस दौरान भगवान शिव का ध्वज फहराया गया उसके बाद विजयपुर बाजार में शोभायात्रा निकाली गई जिसमें आश्रम के सदस्यों ओर क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने बड चड के भाग लिया।इस मौके पर आश्रम के सदस्यों ने लोगों को महा शिवरात्रि पर्व के प्रति जागरूक किया गया ओर भाईचारे का संदेश दिया।इस मौके पर साधू भाई,प्रीथवी भाई,सोनू चौधरी,कृष्ण चौधरी,तरसेम लाल आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

मंदिरों में धूमधाम से मनाया गया शिवरात्रि पर्व

सांबा। जिला भर के शिव मंदिरों में महाशिवरात्रि पर्व धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। श्रद्धालुओं की ओर से मंदिरों व शिवालयों में माथा टेकने के लिए तड़के ही भक्तों का पहुंचना शुरू हो गया। बुधवानी स्थित जगन नाथ मंदिर, ठलोरा के नरसिंह मंदिर, शिवदुवाला मंदिर, आराजी स्थित शिव मंदिर व महेश्वर स्थित महेश्वर शिवालय में हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। श्रद्धालुओं का सुबह चार बजे से ही मदिरों में पहुंचना शुरू हो गया।
मंदिर में महिला व पुरुष श्रद्धालु लाइन में लगकर शिव का जलाभिषेक करने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। महेश्वर मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए स्थानीय लोगों ने विभिन्न प्रकार के खाने के स्टाल लगा रखे थे, जिनमें हलवा पूरी, आलू, चना पूरी व मंदिर की ओर से लंगर लगाया गया। सीमावर्ती गांव पलूरा के शिव मंदिर में रौनक बनी रही। युवा शिव शक्ति क्लब के सदस्यों की ओर से लंगर लगाया गया। राजपुरा की बस्ती न. एक में श्रद्धालुओं की भीड़ बनी रही। कुल मिला कर जिले भर में महाशिवरात्रि की रौनक बनी रही।
सैनिक क्षेत्र स्थित महेश्वर मंदिर के महंत परशुराम गिरी ने बताया कि उक्त शिव मंदिर काफी प्राचीन है। पहले सांबा शहर नंदनी में बसा था। मंदिर के स्थान पर उस समय मात्र जंगल था। एक बार एक चरवाहा गायों को लेकर मंदिर के स्थान पर आ गया, लेकिन उसकी एक गाय घर में दूध नहीं देती तो उसने गाय का पीछा किया तो देखा कि वो गाय एक पत्थर पर दूध दे रही है। उसने सारी घटना गांव वालों को बताई, तो लोगों ने पत्थर को लाठियों से मारना शुरू कर दिया। जैसे ही पत्थर थोड़ा सा टूटा तो उससे खून की धारा निकलने लगी। लोगों ने पंडितों को बताया तो पंडितों ने कहा कि यह तो आप शंभू है। तब से वहां पूजा हो रही है। शिवरात्रि पर मेले का आयोजन किया जाता है।
फोटो
मंदिरों में उमड़ी रही भीड़
बाड़ी ब्राह्मणा। लोअर जल्लोचक स्थित शिव मंदिर में भक्तों का तांता लगा रहा। लोग सुबह से ही माथा टेकने पहुंच गए। लोगों ने माथा टेक कर परिवार की बेहतरी के लिए कामना की। लोगों ने बाबा केदारनाथ का आशीर्वाद भी लिया और प्रसाद ग्रहण किया। मंदिर की तरफ से भक्तों के लिए भोले बाबा का प्रसाद बनाया गया। जिसे इच्छा अनुसार लोगों ने ग्रहण किया। शिवरात्रि तीन दिन मनाई जाती है, पहले दिन साधु परमंडल मोड़ से बाड़ी ब्राह्मणा तक झांकी निकालते हैं। दूसरे दिन भोले बाबा का प्रसाद बनाया जाता है, और तीसरे दिन सुबह हवन और दोपहर लंगर चालू हो जाता है। दूसरी तरफ वार्ड-5 राजीव कॉलोनी स्थित शिव मंदिर में शिवरात्रि धूमधाम से मनाई गई। मौके पर विशेषकर शिव मंदिर कमेटी के सदस्य रूप लाल शर्मा शक्ति सिंह रामजी शर्मा विजय गुप्ता और विजय सिंह मुख्य तौर पर मौजूद रहे। संवाद
शिव मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़
विजयपुर। महा शिवरात्रि का पर्व शुक्रवार को धूमधाम से मनाया गया। शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। श्रद्धालुओं ने ढोल नगाड़ों के साथ पूजा अर्चना कर सुख शांति की कामनाएं कीं। लोगों की तरफ से जगह-जगह भंडारे लगाए गए। वहीं फलफूल बेचने वालों की भी चांदी रही।
उधर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस ने पुख्ता बंदोबस्त किए। क्षेत्र के विजयपुर, गुड़ा सलाथिया, बदवाल, उत्तरबहनी, जख, तमोर, राया, सुचानी, वगुना, स्वांखा मोड़, गडवाल, गगौर, गुडा मोड, थलोथी, रांजडी, नथवाल आदि मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया गया। महाशिवरात्रि पर्व को लेकर क्षेत्र के शिवभक्तों, बच्चों में काफी उत्साह देखा गया। शिवभक्त आतम सिंह, सोना, राजू, पुष्पिंदर सिंह, रवि कुमार, उत्तम चंद, रोहित कुमार, तनु गुप्ता, अमन कुमार, लक्की सिंह आदि ने बताया कि महाशिवरात्रि पर मंदिरों में पूजा अर्चना, सत्संग, भंडारा और जंगम द्वारा शिव विवाह भी किया गया। संवाद
शिव के भक्तों ने चढ़ाया जल और दूध
रामगढ़। सीमावर्ती गांव नंदपुर, रणजीत पुर, कोटली मटकालीया, खौड़ सलारिया, दग छनी फतवाल, स्वांखा कला, जंग में शिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया गया। नंदपुर शिवमंदिर में भक्तों ने जल और दूध चढ़ाया वहीं सीमावर्ती क्षेत्र के गांव के मंदिरों में पूरे दिन रौनक रही। इस मौके पर सीमावर्ती क्षेत्र के गांव के लोगों ने लंगर लगाए। इसमें गांव के युवाओं और लोगों ने भाग लिया। खौड़ सलालिया में भी लंगर लगाया गया। इस मौके पर मंदिर के पुजारी बहादुर सिंह, पूर्व नायब सरपंच टिंकू चौधरी, अवतार सिंह, सोनू, गारा चौधरी, सन्नी चौधरी, चितन चौधरी, लक्की रंधाबा सहित काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। संवाद
फोटो
सिडको चौक में लगाया लंगर
बड़ी ब्राह्मणा। सिडको चौक पर हेल्पिंग हैंड ट्रस्ट ने खीर और ब्रेड न्यूट्री का स्टाल लगाया। इस मौके चेयरमैन चिंकल थापा, प्रधान चिंकल थापा, तेजराम डोगरा, मोहम्मद फारूख, खुशवीर सिंह, राज आर्यन, राजेश कुमार, राजेश गुप्ता, भारत भूषण, रिकी कुमार, अनीता अग्राल, सर्वदर पांडे आदि मौजूद रहे। संवाद
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः कठुआ में एक हजार मीटर गहरी खाई में गिरी कार, नौ लोगों की मौत

कठुआ के बिलावर में कटली-मल्हार सड़क मार्ग पर शनिवार शाम साढे़ पांच बजे लड़ोतू कीर्थन के पास एक अनियंत्रित टाटा सूमो गहरी खाई में गिर जाने से नौ लोगों की मौत हो गई। पांच लोग गंभीर रूप से घायल हैं। उपजिला अस्पताल बिलावर में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें जीएमसी, जम्मू रेफर किया गया है। हादसे में सात लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अन्य दो ने उपजिला अस्पताल बिलावर में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जान गंवाने वालों में नलेऊ और लाखड़ी गांव के तीन-तीन लोग शामिल हैं।   

जानकारी के मुताबिक कटली-मल्हार सड़क पर लड़ोतू कीर्थन से सटे ललोटी पुल को पार करने के बाद चढ़ाई पर टाटा सूमो अनियंत्रित होकर एक हजार मीटर नीचे खाई में भिनी दरिया की ओर जा गिरी। हादसा शाम साढ़े पांच बजे के करीब हुआ, जब टाटा सूमो (एचपी 028-7030) बिलावर से मल्हार जा रही थी। हादसे बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची रेस्क्यू टीम की मदद से स्थानीय लोगों ने घायलों को खाई से निकाल कर सड़क तक पहुंचाया। अंधेरे के कारण रेस्क्यू आपरेशन में काफी दिक्कतें आईं। एक निजी वाहन से सात घायलों को उपजिला अस्पताल बिलावर पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया। इस बीच पांच घायलों को जीएमसी, जम्मू रेफर कर दिया गया है। 

सुनील बलोरिया को मौत बुला ले गई मल्हार
कृषि विभाग में एग्रीकल्चर एक्सटेंशन अधिकारी सुनील सिंह बलोरिया वर्तमान में कालीबड़ी (कठुआ) में रहते थे। किसान क्रेडिट कार्ड योजना को लेकर ग्रामीणों का डाटा एकत्रित करने के लिए उन्होंने शनिवार को ही मल्हार जाने का फैसला लिया था, जहां मौत उनका इंतजार कर रही थी। मुख्य कृषि अधिकारी विजय उपाध्याय ने बताया कि सुनील बेहद मेहनती थे। किसान क्रेडिट कार्ड के संबंध में मंगलवार को बैठक रखी गई थी, लिहाजा छुट्टियों के बावजूद काम पूरा करने के लिए वह मल्हार जा रहे थे। उनकी पोस्टिंग वहीं थी। 

ये हुए हादसे के शिकार 
हादसे में मृतकों की पहचान नेक राम (35), वीणा देवी (25) और विशाल सिंह (10) (सभी नलेऊ निवासी), कुलदीप सिंह (45), नीशा देवी (09) और दीक्षा (07), (सभी निवासी लाखड़ी), मंजूर अहमद (45) निवासी धमान और मीमो देवी (45) निवासी ढग्गर,  सुनील सिंह बलोरिया (43) निवासी कालीबड़ी कठुआ के रूप में हुई है। घायलों की पहचान लोहार मल्हाई निवासी कुलदीप कुमार, रेवा देवी, करतार चंद, प्रीतो देवी और पांच वर्षीय मुनीष के रूप में हुई है।
 
... और पढ़ें
सांकेतिक चित्र सांकेतिक चित्र

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, हिजबुल आतंकी जुनैद फारूक गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर में सेना और बारामुला पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने यहां एक आतंकी को गिरफ्तार किया है। आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन संगठन का है। पकड़े गए आतंकी से पुलिस पूछताछ कर रही है। इस आतंकी के पकड़े जाने के बाद कई अहम खुलासे होने की भी उम्मीद जताई जा रही है।
 

बारामुला पुलिस को सूचना मिली कि हिजबुल आतंकी जुनैद फारूक इलाके में ही छिपा हुआ है। सीआरपीएफ की 176वीं बटालियन, 29-आरआर और बारामुला पुलिस की संयुक्त टीम ने आतंकी को पकड़ने का अभियान शुरू किया। जिसके लिए इलाके में कई जगह नाकेबंदी की गई थी।

इसी दौरान एक नाके के पास उसे गिरफ्तार करने में सुरक्षाबलों को सफलता मिली। आतंकी जुनैद फारूक के पास से हथियार व गोलाबारूद बरामद किया गया है। संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने के साथ ही पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

हिजबुल आतंकी जुनैद का पकड़ा जाना पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। ज्ञात हो कि घाटी में हिजबुल की कमर लगातार टूटती जा रही है। सुरक्षाबलों की मुस्तैदी की चलते आतंकी किसी भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं।

वहीं जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि सुरक्षाबलों ने कल रात एक अभियान में लश्कर के आतंकी नावेद अहमद भट उर्फ फुरकान और आकिब यासीन भट को मार गिराया। ये दोनों कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल थे। उन्होंने बताया कि बारामुला पुलिस ने एक हिजबुल आतंकवादी जुनैद फारूक को भी गिरफ्तार किया है।

सिंह ने कहा कि 2020 में अब तक 12 सफल ऑपरेशन हो चुके हैं, जिसमें 25 आतंकवादी मारे गए हैं। कश्मीर में 9 आतंकवादी और जम्मू क्षेत्र में 3-4 आतंकवादी गुर्गों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही 40 से अधिक आतंकवादियों के मददगारों को भी गिरफ्तार किया गया है।
... और पढ़ें

आतंकी जुनैद के पकड़े जाने के बाद डीआईजी बोले- उत्तरी कश्मीर में हैं 19 स्थानीय आतंकवादी

हिजबुल आतंकी जुनैद फारूक गिरफ्तार
हिजबुल आतंकी जुनैद फारूक के पकड़ने जाने के बाद पुलिस उप महानिरीक्षक उत्तर रेंज सुलेमान चौधरी ने कहा कि कश्मीर के उत्तरी क्षेत्र में अभी 19 स्थानीय आतंकवादी सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर के उत्तरी क्षेत्र में स्थानीय आतंकी बढ़ने की वजह से आतंकवादियों की संख्या में इजाफा हुआ है। इस इलाके में अधिक संख्या में स्थानीय शामिल हो रहे हैं और यह संख्या 19 तक पहुंच गई है।

डीआईजी ने कहा कि सुरक्षाबल सतर्क हैं और किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं। डीआईजी बारामुला ने ये बातें जुनैद फारूक की गिरफ्तारी के बाद कही। उन्होंने बताया कि मुखबिर की सूचना पर जवानों ने टापर क्षेत्र में एक नाका लगाया गया था। जहां से आतंकी जुनैद को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। आतंकी के कब्जे से एक पिस्तौल(चीन निर्मित), 30 जिंदा कारतूस और अन्य गोला-बारूद बरामद किया गया है।

बता दें कि बारामुला पुलिस को सूचना मिली कि हिजबुल आतंकी जुनैद फारूक इलाके में ही छिपा हुआ है। सीआरपीएफ की 176वीं बटालियन, 29-आरआर और बारामुला पुलिस की संयुक्त टीम ने आतंकी को पकड़ने का अभियान शुरू किया। जिसके लिए इलाके में कई जगह नाकेबंदी की गई थी।

इसी दौरान टापर क्षेत्र में एक नाके के पास उसे गिरफ्तार करने में सुरक्षाबलों को सफलता मिली। वहीं हिजबुल आतंकी जुनैद के पकड़ा पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। ज्ञात हो कि घाटी में हिजबुल की कमर लगातार टूटती जा रही है। सुरक्षाबलों की मुस्तैदी की चलते आतंकी किसी भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में मौसम साफ, फरवरी में हुई सामान्य से कम बारिश, तापमान बढ़ा

जम्मू-कश्मीरः अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने मार गिराए लश्कर के दो आतंकी, तलाशी अभियान जारी

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में सुरक्षाबलों ने दो आतंकी ढेर कर दिए। सुरक्षाबलों को सूचना मिली कि अनंतनाग जिले के बिजबेहरा इलाके में दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं। 3-आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने आतंकियों की धर-पकड़ के लिए अभियान शुरू किया। इलाके की घेराबंदी होते देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाना शुरू कर दिया। जवानों की ओर से आतंकियों से समर्पण करने की अपील की गई।

बावजूद इसके आतंकियों की ओर से लगातार फायरिंग होती रही। परिणामस्वरूप जवानों ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई शुरू की। इस दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। वहीं इलाके में तलाशी अभियान जारी है।

मारे गए आतंकियों की पहचान नवीद भट पुत्र फुरकान के रूप में हुई है। उसने साल 2018 में आतंक की ओर रुख किया था। बताया जा रहा है कि लश्कर ने उसे बतौर कमांडर कुलगाम में आतंकवादी वारदातों को अंजाम देने व युवाओं को आतंकवाद की ओर मोड़ने की जिम्मेदारी दी थी। नवीद का मारा जाना सुरक्षाबलों के बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

वहीं इस मुठभेड़ में मारे गए दूसरे आतंकी की पहचान आकिब यासीन भट के रूप में हुई है। इसने भी साल 2018 में आतंकवाद की रुख किया था। मारे गए दोनों आतंकियों के पास से एक एके-47, एक पिस्टल, कई मैग्जीन बरामद हुई हैं।

साथ ही कई अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं व सामग्री भी बरामद हुई है। इस ऑपरेशन को 3-आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने अंजाम दिया और आतंकियों को मार गिराने में सफलता पाई है।
... और पढ़ें

लेहः कोरोना के संदिग्ध मरीज की आइसोलेशन वार्ड में निगरानी, एसएनएम अस्पताल में है भर्ती

एसएनएम अस्पताल लेह के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती नुब्रा निवासी 36 वर्षीय मरीज की सेहत पर नजर रखी जा रही है। वह निमोनिया और एक्यूट रेसपिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम से पीड़ित है। उसके पीड़ित होने के लक्षण कोरोना वायरस के लक्षणों से मिलते हैं। मरीज के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। अस्पताल में एक अन्य 55 वर्षीय पुरुष मरीज को शुक्रवार को लेह अस्पताल से दिल्ली रेफर किया गया। उसे भी एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम की शिकायत थी।

स्वास्थ्य निदेशक लद्दाख डॉ. फुनसुग अंगचुक के अनुसार एसएनएम अस्पताल लेह में फ्यांग गांव निवासी 52 वर्षीय नागरिक की मौत हुई है। वह पलमोनरी ट्यूबरक्लोसिस से पीड़ित था। उसे खांसी, सांस लेने में तकलीफ और बुखार की शिकायत होने पर गत 27 जनवरी को अस्पताल में भर्ती किया गया था, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मरीज व उसके परिवार के सदस्यों का हाल ही में लद्दाख से किसी अन्य जगह जाने का कोई इतिहास नहीं था।

एक अन्य चाइनाथांग गांव निवासी 55 वर्षीय पुरुष मरीज को 11 फरवरी को एसएनएम अस्पताल में भर्ती किया गया था। वह एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम से पीड़ित था। उसे ऑक्सीजन में समस्या होने के कारण शुक्रवार को दिल्ली रेफर किया गया। स्वास्थ्य निदेशालय के अनुसार तीन पीड़ितों की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। एक रिपोर्ट आना शेष है। वहीं, जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बढ़ाई गई है। इसमें संदिग्ध मरीजों पर खास ध्यान केंद्रित किया गया है।
... और पढ़ें

पाकिस्तान ने कीरनी और कस्बा सेक्टर में फिर बरसाए गोले, सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब

पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर कीरनी और कस्बा सेक्टर में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में सेना की चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बना कर गोलाबारी की है। सीमा पार से मोर्टार शेलिंग भी की जा रही है। भारतीय सेना पाकिस्तान की हरकत का माकूल जवाब दे रही है।

इससे पहले शुक्रवार को भी सीमा पार से इसी इलाके पर गोले दागे गए थे। देर शाम गांव कस्बा में एक मकान में आग लग गई और वह राख हो गया। जबकि गांव डोकरी में छह मकान क्षतिग्रस्त हो गए। गोलाबारी में कोई ग्रामीण घायल नहीं हुआ।

बताया जाता है कि शुक्रवार सुबह करीब 11.50 बजे तीनों सेक्टरों में पाकिस्तानी सेना की 24 सिंध रेजीमेंट ने अग्रिम चौकियों से गोलाबारी शुरू की। पहले यूनिवर्सल मशीनगनों से गोलाबारी की और फिर मोर्टार दागे जाने लगे। सेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया।

देर शाम करीब साढ़े पांच बजे पाकिस्तानी सेना की तरफ से गोलाबारी का क्रम तेज हो गया। इस दौरान गांव कस्बा निवासी विधवा शरीफा बी का लकड़ी और मिट्टी से बना मकान जल गया। इसके कुछ ही देर बाद किरनी सेक्टर के गांव डोकरी में भी गोले गिरने लगे, जिसमें तीन भाइयों के पास-पास बने मकानों सहित छह मकानों को क्षति पहुंची।
... और पढ़ें

जम्मू-घगवाल हत्या मामलाः मृतका के पति का आरोप- मामले को कमजोर कर रही पुलिस

जम्मू संभाग के बाड़ी ब्राह्मणा में रहने वाली महिला की घगवाल में हत्या के मामले में मृतका के पति ने पुलिस पर केस को कमजोर करने का आरोप लगाया है। कहा कि पुलिस ने आरोपी के बयानों के आधार पर ही उसकी पत्नी पर कई आरोप लगा दिए। पुलिस ने इन्हीं आरोपों को सार्वजनिक भी कर दिया।

इस मामले में आत्माराम नामक शख्स ने घगवाल में महिला की हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस में हत्याकांड को लेकर कई तरह के दावे किए थे, जिस पर मृतका के पति ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है।

महिला के पति निर्मल चंद्र ने कहा कि पुलिस ने सिर्फ आरोपी के ही बयान रिकॉर्ड किए। उसकी बताई गई बातों को ही सार्वजनिक कर दिया गया। निर्मल ने कहा कि गुनहगार ने जो कहा पुलिस ने उसी को निष्कर्ष का आधार बना लिया। पीड़ित पक्ष के बयान तक नहीं लिए गए। निर्मल चंद्र ने कहा कि केस को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है। आरोपी को गिरफ्तार किया गया जबकि पुलिस ने उसका सरेंडर दर्शाया है।

लॉकर को सील करे पुलिस

मृतक महिला के पति ने कहा कि उसकी पत्नी एक निजी कंपनी में काम करती थी। यहां उसे एक लॉकर भी मिला हुआ था। उन्हें शक है कि इस लॉकर का गलत इस्तेमाल हो सकता है। इसमें कोई सामान रखा जा सकता है या फिर इससे सामान लिया जा सकता है। पुलिस इस लॉकर को फौरन सील करे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us