विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020
Astrology Services

होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जम्मू-कश्मीरः स्पोर्ट्स काउंसिल ने जिसे हटाया उसी साहिल के नेतृत्व में देश की बेटियों ने रचा इतिहास

जम्मू-कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल जिसे स्वीकार करने को तैयार नहीं है उसी कोच के नेतृत्व में भारतीय महिला कुश्ती टीम ने एशियन महिला चैंपियनशिप में सफलता क...

26 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू

शुक्रवार, 28 फरवरी 2020

बर्फबारी के बाद अब कश्मीर में दस्तक देने वाली है बहार, तस्वीरों में देखें खूबसूरती

जम्मू-कश्मीरः बनिहाल में मिला संदिग्ध बॉक्स, मचा हड़कंप, दो घंटे प्रभावित रहा यातायात

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बनिहाल के निकट चशील इलाके में सेना के गश्ती दल को एक बॉक्स मिला। इसके लेकर क्षेत्र के लोगों में हड़कंप मच गया। सेना ने तत्काल ही दोनों तरफ से वाहनों की आवाजाही रोक दी और बाक्स की जांच के लिए मौके पर बम निरोधक दस्ता बुलाया।

जांच में बाक्स में कुछ बोतलें भरी मिलीं। इनमें किसी प्रकार का लिक्विड भरा है। इसके अलावा जांच के दौरान एक मोबाइल पावर बैंक भी मिला। जिसकी भी गहनता से जांच की गई। पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद हाईवे पर यातायात सुचारु किया गया।

जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह सेना की आरओपी गश्ती कर रही थी। करीब नौ बजे बनिहाल के निकट चशील इलाके में गश्त के दौरान जवानों को एक बाक्स पड़ा दिखाई दिया। वाहनों की आवाजाही रोक दी। और जांच की लिए बम निरोध दस्ता बुलाया।

बाक्स से 6-7 बोतलें बरामद हुईं। इनमें किसी प्रकार का लिक्विड भरा हुआ था। एसएसपी हसीबुर्रहमान ने बताया कि इस क्षेत्र में इस प्रकार की यह दूसरी घटना है। इससे पहले भी एक बाक्स मिला था, जिसमें से ड्राई फ्रूट बरामद हुए थे। इस तरह के बाक्स मिलने से यह आशंका जरूर जताई जा रही है कि क्षेत्र का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है।
... और पढ़ें

वीपीएन से आतंक का कारोबार, पाकिस्तानी हैंडलर से संपर्क में रहा युवक गिरफ्तार

पाकिस्तानी हैंडलर के साथ वीपीएन का दुरुपयोग कर संपर्क में रह रहे जम्मू-कश्मीर में गांदरबल के एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसके फेसबुक अकाउंट पर जिला पुलिस निगरानी रख रही थी। इससे उसकी गतिविधियों के साथ ही हैंडलर की ओर से आतंकवाद में शामिल होने के लिए उकसाए जाने की जानकारी हासिल की गई। इस आधार पर खीरभवानी थाने में मुकदमा दर्ज कर किशोर को शल्लाबुग से गिरफ्तार कर लिया गया।
 
उससे पूछताछ में यह पता चला कि किशोर ने कट्टरता से प्रेरित होकर फेसबुक पर कई आपत्तिजनक पोस्ट किए हैं। इसमें आईएसआईएस विचारधारा का प्रचार प्रसार भी शामिल है। वह कई व्हाट्सएप ग्रुप से भी जुड़ा हुआ था जो अफवाह फैलाने में शामिल रहे हैं। साथ ही युवाओं में कट्टरता की भावना व देश के खिलाफ भड़काने में भी इन व्हाट्सएप ग्रुप का इस्तेमाल किया जाता रहा है।

 यह सभी सोशल मीडिया का संचालन युवक की ओर से 15 विभिन्न वीपीएन का इस्तेमाल कर किया जा रहा था। पुलिस ने बताया कि पाकिस्तानी हैंडलर ने उसका संपर्क आतंकी समूहों से शोपियां में कराया था जिससे वह आतंकी संगठन में शामिल होने को राजी हो गया था।
... और पढ़ें

सीआईएसएफ ने संभाला श्रीनगर हवाई अड्डे का सुरक्षा जिम्मा

आतंकियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के छह सप्ताह बाद बुधवार को श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की सुरक्षा व्यवस्था केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने संभाल ली जबकि जम्मू एयरपोर्ट पर यह फेरबदल मार्च के पहले सप्ताह में होगा। इस संदर्भ में पुलिस मुख्यालय ने एयरपोर्ट पर तैनात/अटैच एग्जीक्यूटिव और आर्म्ड पुलिस के अफसरों और कर्मियों को हटने का आदेश दिया है।

अधिकारियों के अनुसार, पुलिस उपाधीक्षक दविंदर सिंह की 11 जनवरी को हुई गिरफ्तारी के बाद हवाईअड्डे की सुरक्षा सीआईएसएफ को सौंपे जाने की प्रक्रिया तेज कर दी गई थी। सिंह को तब पकड़ा गया था जब वह हिज्बुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादियों को घाटी से निकालकर चंडीगढ़ भेजने की कोशिश कर रहा था। सीआईएसएफ ने हवाईअड्डे की सुरक्षा के लिए अपने 500 कर्मियों को तैनात किया है। 

इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सभी हवाई अड्डों और सरकारी प्रतिष्ठानों का सुरक्षा दायित्व संभालने वाली सीआईएसएफ  श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे को समग्र आतंकवाद रोधी सुरक्षा उपलब्ध कराएगी। श्रीनगर हवाई अड्डा सीआईएसएफ के सुरक्षा घेरे में रहने वाला 62वां हवाईअड्डा होगा। हवाई अड्डा निदेशक संतोष ढोके ने हवाई अड्डे की रस्मी चाबी सीआईएसएफ के विशेष महानिदेशक (हवाईअड्डा) एमए गणपति को सौंपी जिसकी रखवाली अब तक सीआरपीएफद्ध और जम्मू -कश्मीर पुलिस के हाथ में थी।

सभी पुलिसकर्मी डिटैच
इसबीच पुलिस मुख्यालय के एडीजीपी कोआर्डिनेशन एसजेएम जिलानी की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि आर्म्ड और एक्जीक्यूटिव पुलिस के सभी कर्मी अपने संबंधित जोन में रिपोर्ट करें। जो कर्मी दोनों एयरपोर्ट पर अटैच किए गए हैं, उन्हें भी डिटैच किया जाता है। वे भी अपने जोन और बटालियन में रिपोर्ट करें। वहीं गजटेड अफसरों को कहा गया है कि वह पुलिस मुख्यालय में रिपोर्ट करें, ताकि उन्हें अन्य स्थानों पर समायोजित किया जा सके। 

कटड़ा और सांझी छत हेलिपैड पर तैनात पुलिसकर्मी अभी नहीं हटेंगे
कटड़ा और सांझी छत हेलिपैड पर तैनात पुलिस कर्मी अभी वहीं पर बने रहेंगे। ये पुलिसकर्मी एसएसपी सिक्योरिटी जम्मू के अधीन रहेंगे।
... और पढ़ें
Srinagar Airport Srinagar Airport

पुलवामा में आतंकियों और रिश्तेदारों के सात ठिकानों पर एनआईए का छापा, एक हिरासत में 

जम्मू के बन टोल प्लाजा पर हुए आतंकी हमले की जांच सौंपे जाने के एक पखवाड़े के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर जाहिद अहमद वानी और मुठभेड़ में पकड़े गए समीर अहमद डार के घर समेत सात ठिकानों पर दबिश दी। 

इस दौरान जांच एजेंसी ने कुछ कागजात और अन्य सामग्री को जब्त किया है। ये सभी ठिकाने आतंकियों व उनके रिश्तेदारों के हैं। इस बीच एनआईए ने द्रबगाम पुलवामा से एक युवक जुबेर अहमद भट को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

 जानकारी के अनुसार, जांच एजेंसी ने सबसे पहले करीमाबाद में जाहिद अहमद वानी का घर खंगाला। बाद में टीम गुंडीबाग पुलवामा में समीर अहमद डार के घर पहुंची। 

समीर पेशे से ड्राइवर है और पुलवामा में 14 फरवरी, 2019 को सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर पर हमले को अंजाम देने वाले आदिल अहमद का रिश्तेदार है। समीर को नगरोटा में 31 जनवरी को हुई मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया गया था। इस मुठभेड़ में तीन विदेशी आतंकी मार गिराए गए थे।

सूत्रों का कहना है कि एनआईए की अलग-अलगी टीमों ने बडगाम जिले के खान साहेब इलाके में भी छापा मारा। हालांकि इसकी पुष्टि किसी अधिकारी ने नहीं की है।
... और पढ़ें

महबूबा मुफ्ती की बेटी का विवादित ट्वीट, दिल्ली हिंसा को बताया बहुसंख्यकों में उपजी कट्टरता

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी इस्तिजा ने एक बार फिर विवादित ट्वीट किया है। इस बार उन्होंने दिल्ली में हो रही हिंसा को निशाना बनाते हुए लिखा है कि बहुसंख्यकों में उपजी कट्टरता ने देश की विविधता पूर्ण छवि को कमजोर किया है। वह पिछले सात माह से अपनी मां के ट्विटर अकाउंट को हैंडल कर रही हैं और समय-समय पर अपने विचार ट्वीट करती रहती हैं।



उन्होंने ट्वीट किया है कि पिछले सात माह के दौरान जिस प्रकार बहुसंख्यक समुदाय की उग्रता बढ़ी है उससे मैं आश्चर्य चकित हूं कि क्या मुस्लिमों के साथ हो रहा बर्ताव उचित है।

सोशल मीडिया पर दिल्ली हिंसा में फायरिंग करने वाले व्यक्ति की गिरफ्तारी न होने पर इल्तिजा ने लिखा कि वह कश्मीरी या मुसलमान नहीं था, इसलिए अब तक कार्रवाई नहीं हुई।

मालूम हो कि पूर्वोत्तर दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाके में सोमवार को हुई हिंसक झड़प के दौरान प्रदर्शनकारियों ने घरों, दुकानों और वाहनों में आग लगा दी और जमकर पथराव किया। इस दौरान एक हेड कांस्टेबल की मौत हो गई थी।
... और पढ़ें

बालाकोट स्ट्राइक का एक साल, पर पाकिस्तान का वही हाल, मदरसों को बनाया आतंकी पाठशाला

महबूबा मुफ्ती की बेटी का विवादित ट्वीट

बालाकोट एयर स्ट्राइक का एक सालः मात खाने के बाद भी न सुधरा पाक, सेना के कैंपों को बनाया आतंकी अड्डा

जम्मू-कश्मीरः स्पोर्ट्स काउंसिल ने जिसे हटाया उसी साहिल के नेतृत्व में देश की बेटियों ने रचा इतिहास

जम्मू-कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल जिसे स्वीकार करने को तैयार नहीं है उसी कोच के नेतृत्व में भारतीय महिला कुश्ती टीम ने एशियन महिला चैंपियनशिप में सफलता के झंडे गाड़ दिए हैं। प्रदेश में एक मात्र कुश्ती कोच साहिल शर्मा के मार्गदर्शन में भारतीय महिला टीम ने चैंपियनशिप में तीन स्वर्ण समेत आठ पदक जीतकर इतिहास रचा है।

इस वर्ष जनवरी में जम्मू-कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल ने साहिल शर्मा को अपना कर्मचारी मानने से इनकार करते हुए उन्हें सेवा से हटा दिया था। जबकि वर्ष 2014 से साहिल जम्मू-कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल में अस्थाई कुश्ती कोच के रूप में जुड़े हुए थे। इसके बाद जब भारतीय टीम के लिए कोच की तलाश शुरू हुई तो राष्ट्रीय फेडरेशन की नजर फिर साहिल पर टिकी।

उन्होंने स्पोर्ट्स काउंसिल से संपर्क किया तो उन्होंने टका सा जवाब दे दिया। अंतत: फेडरेशन ने सीधा संपर्क साधा और नतीजा सामने था। 18 से 23 फरवरी तक नई दिल्ली में हुई चैंपियनशिप में साहिल के नेतृत्व में टीम ने तीन स्वर्ण, दो सिल्वर और तीन कांस्य पदक हासिल किए।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर फर्जी हथियार लाइसेंस मामलाः एक शस्त्र निर्माता गिरफ्तार, सीबीआई कर रही पूछताछ

बहुचर्चित फर्जी शस्त्र लाइसेंस मामले में सीबीआई ने शस्त्र निर्माता राहुल ग्रोवर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद उसे अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए 10 दिन की रिमांड पर लिया गया है। सीबीआई प्रवक्ता के अनुसार, ग्रोवर कथित तौर पर हथियार डीलरों और अफसरों के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर से पूरे देश में मान्य शस्त्र लाइसेंस खरीदने का काम करता था। ग्रोवर को राजस्थान पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते ने इसी आरोप में 2017 में गिरफ्तार किया था। एक साल बाद उसे जमानत मिली थी। ग्रोवर पर उपभोक्ताओं को हथियार लाइसेंस के नवीनीकरण या नए लाइसेंस देने की सुविधा देने का आरोप है।

राजस्थान एटीएस की ओर से पेश तत्कालीन अतिरिक्त महाधिवक्ता ने राजस्थान उच्च न्यायालय में दलील दी थी कि ग्रोवर से बरामद किए गए 565 लाइसेंस में से 93 लाइसेंस ऐसे व्यक्तियों को दिए गए हैं, जो उस समय जम्मू-कश्मीर में तैनात ही नहीं थे, उनमें से कई ने सशस्त्र बलों में कभी सेवा भी नहीं दी।

सीबीआई ने जम्मू-कश्मीर सरकार की सहमति के बाद एक मामला दर्ज किया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि 2012 से 2016 की अवधि के दौरान तत्कालीन राज्य के विभिन्न जिलों के उपायुक्तों ने फर्जी तरीके से भारी मात्रा में लाइसेंस जारी किए थे।
... और पढ़ें

रुबिया सईद मामलाः टाडा कोर्ट में दोनों तरफ के वकीलों ने रखा पक्ष, अगली तारीख पर पेश होगा यासीन मलिक

कई बार टलने के बाद आखिर मंगलवार को बहुचर्चित रुबिया सईद मामले की सुनवाई पर बहस हुई। आंशिक रूप से हुई बहस में दोनों तरफ के वकीलों ने अपना अपना पक्ष रखा। 2 मार्च को फिर से मामले पर सुनवाई होगी।

बता दें कि यह मामला 1999 का है। पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी रुबिया सईद का अपहरण और एयरफोर्स के पांच कर्मियों की हत्या को लेकर केस दर्ज हुआ था।

इसमें अलगाववादी नेता यासीन मलिक का नाम भी शामिल है। टाडा कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही है। अगली तारीख पर कोर्ट ने यासीन मलिक और शौकत अहमद बक्शी को कोर्ट में निजी तौर पर पेश होने के आदेश दिए हैं। यदि सुरक्षा कारणों को चलते ऐसा नहीं होता, तो जेल प्रशासन इन्हें वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश करेगा। यह दोनों तिहाड़ जेल में बंद हैं।
... और पढ़ें

सात साल पूरे हुए, फिर भी नहीं किया स्थायी

बाड़ी ब्राह्मणा। अखिल भारतीय सफाई कर्मचारी मजदूर संघ ने बुधवार को म्यूनिसिपल कमेटी कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर संघ के प्रदेश अध्यक्ष लकी चिड़ा ने कहा कि हमने 14 दिन पहले प्रशासन को नोटिस दिया, जिसमें कहा कि जिन सफाई कर्मचारियों के काम करते हुए सात साल पूरे हो गए हैं उनको पक्का कर देना चाहिए। साथ में एसआरओ-520 इंप्लीमेंट नहीं होना चाहिए और एसआरो-264 के तहत ही सफाई कर्मचारियों को पक्का करना चाहिए और एसआरओ-43 को भी तत्काल लागू किया जाना चाहिए।
इसके अलावा सफाई कर्मचारी जो कि गजटेड हॉली-डे पर भी काम करते हैं उनको माह का ढाई दिन का वेतन अधिक मिलना चाहिए। पे-कमीशन के तहत भी मुलाजिमों को पूरा लाभ मिलना चाहिए। हर म्यूनिसिपल कमेटी में अलग से कमरा होना चाहिए और यूनिफार्म भी समय पर दी जानी चाहिए। इन सब समस्याओं से हमने प्रशासन को रूबरू कराया, लेकिन इसके ऊपर अभी तक कोई उचित कार्रवाई नहीं हो पाई है। इसलिए आज धरना प्रदर्शन किया गया। प्रशासन हमारी समस्याओं को गंभीरता से ले और इन पर अमल करे, नहीं तो यह आंदोलन और भी उग्र हो जाएगा और हम संभाग के हर क्षेत्र में धरना प्रदर्शन करेंगे।
---------------
प्रदर्शन में प्रदेश महासचिव अमर मूमन, उपाध्यक्ष बिट्टू और यूनियन के अन्य सदस्य शामिल रहे।
सफाई कर्मियों को स्थायी करने का फैसला जल्द लिया जाए
ज्यौडिृयां। सफाई कर्मचारी यूनियन खौड़ की तरफ से बुधवार को अखिल भारतीय मजदूर संघ के बैनर तले मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन किया गया। इसका नेतृत्व यूनियन के प्रधान विजय ने किया। उन्होंने बताया कि सरकार हम लोगों को स्थायी करने के लिए पहल नहीं कर रही है। सरकार एसआरओ 64 को लागू कर हमें स्थायी करे। सफाई कर्मचारियों ने कहा कि अगर सरकार स्थायी करने पर जल्द फैसला नहीं लेती है तो हम लोग 28 फरवरी से काम छोड़ हड़ताल पर चले जाएंगे। संवाद
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us