आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Halchal ›   Kaifi Azmi Birthday Google pays tribute with a doodle
Kaifi Azmi Birthday Google pays tribute with a doodle

हलचल

कैफ़ी आज़मी की 101वीं जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल, पढ़ें उनके कुछ चुनिंदा शेर

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

3035 Views
मशहूर शायर व गीतकार कैफ़ी आज़मी की 101वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। कैफ़ी आज़मी उर्दू अदब की पहली श्रेणी के शायर हैं साथ ही उन्होंने सिनेमा के लिए भी कई गीत लिखे हैं। 

कैफ़ी का जन्म 14 जनवरी 1919 को आजमगढ़ के मिजवां में हुआ था। उ्न्होंने मात्र 11 साल की उम्र में अपनी पहली नज़्म कह दी थी। इसके बाद मुशायरों का दौर शुरु हो गया और वह जल्द ही देश के साथ-साथ विदेश में भी प्रसिद्ध हो गए। कैफ़ी के वालिद ज़मींदार थे, लेकिन कैफ़ी का मिज़ाज अलग था। जब वे सात साल के थे, तब ईद पर नए कपड़े इसलिए नहीं पहनते थे क्योंकि किसानों के बच्चों को नए कपड़े नहीं मिलते थे। वे कम्यूनिस्ट पार्टी के सदस्य हो गए और उन्हीं के मुंबई स्थित रेड फ़्लैग हॉल में रहते थे। जहां उनके साथ 8 परिवार रहा करते थे। उनकी विवाह शौकत से हुआ जिनसे उनके दो बच्चे शबाना और बाबा आज़मी हैं। शबाना आज़मी प्रसिद्ध हिंदी फ़िल्म अदाकारा हैं।  आगे पढ़ें

कैफ़ी आज़मी के लिखे शेर

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!