वे क्यों भागे जाते हैं जिनके घर है: केदारनाथ सिंह 

केदारनाथ सिंह
                
                                                             
                            बिजली चमकी, पानी गिरने का डर है
                                                                     
                            
वे क्यों भागे जाते हैं जिनके घर है

वे क्यों चुप हैं जिनको आती है भाषा
वह क्या है जो दिखता है धुँआ-धुआँ-सा

वह क्या है हरा-हरा-सा जिसके आगे
हैं उलझ गए जीने के सारे धागे

आगे पढ़ें

11 months ago
Comments
X